Bigg Boss 14: 'बिग बॉस' के घर में हुई 3 वाइल्ड कार्ड कंटेस्टेंट्स की एंट्री

2022-09-30 20:06:20 हुआंगनान तिब्बती स्वायत्त प्रान्त

बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीलंबे-घने बालों के लिए सप्ताह में 2 बार लगाएं ये होममेड तेल, रूसी और बालों के झड़ने से भी मिलेगा छुटकारा******Highlightsखराब लाइफस्टाइल, खानपान, प्रदूषण, तनाव आदि के कारण स्किन के साथ-साथ बालों पर भी बुरा असर पड़ता है। बेजान रूखे बालों के साथ-साथ डैंड्रफ, हेयर फॉल जैसी कई समस्याओं का ,सामना करना पड़ता है। एक बार अगर बाल झड़ना, रूसी की समस्या शुरू हो जाती हैं तो फिर न जाने कितने तरह के केमिकल युक्त प्रोडक्ट्स से लेकर घरेलू नुस्खे अपनाने लगते हैं। ऐसे में आप चाहे तो दादी मां का नुस्खा अपना सकते हैं। बचपन में बालों की देखभाल के लिए दादी-नानी कई तरह के उपाय अपनाकर बालों को हेल्दी रखने की कोशिश करती थीं।अगर आप भी अपने की देखभाल करना चाहते हैं तो आप दादी मां के इस होममेड तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपको न सिर्फ लंबे घने काले और मुलायम बाल मिलेंगे बल्कि रूसी, झड़ते हुए बालों से भी छुटकारा मिलेगा। जानिए घर पर कैसे बनाएं ये बालों का तेल।एक कड़ाही में तेल डालकर गर्म करें। इसके बाद इसमें सभी चीजों को डाल दें और धीमी आंच में 15-20 मिनट के लिए पका लें। इसके बाद गैस बंद कर दें और इस तेल को ठंडा होने दें। इसके बाद इसे एक एक कंटेनर में भरकर रख लें। सप्ताह में कम से कम 2 बार स्कैल्प में लगा लें। करीब 1-2 घंटे या फिर रातभर के लिए छोड़ दें। इसके बाद माइल्ड शैंपू ले बालों को धो लें। सरसों का तेल विटामिन्स और मिनरल्स के साथ बीटा कैरोटीन, फैटी एसिड जैसे तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो बालों को ग्रोथ बढ़ाने के साथ गिरने से रोकता है। इसके साथ ही इसमें एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं जो स्कैल्प में किसी भी तरह के बैक्टीरिया को उत्पन्न होने पर रोकता है। इसके साथ ही यह बालों को काला करता है। वहीं मेथी बालों की अच्‍छी ग्रोथ और खराब बालों को ठीक करने के लिए जरूरी हैं। इसके साथ ही डैंड्रफ से भी छुटकारा मिलता है। इसके अलावा करी पत्ता और सफेद तिल में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स बालों को मजबूत बनाते हैं और गिरने से रोकते हैं।

बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीदिल्ली में पिछले सात दिनों में संक्रमण दर में गिरावट, कंटेनमेंट जोन की संख्या में हुई वृद्धि****** राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 की संक्रमण दर में पिछले एक हफ्ते में गिरावट आयी है। शहर में 26 नवंबर को संक्रमण दर 8.65 प्रतिशत थी जो कि दो दिसंबर को पांच प्रतिशत पर आ गयी लेकिन इसी अवधि में निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या में बढ़ोतरी हुई। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, इस अवधि में हर दिन करीब 100 (कंटेनमेंट) जुड़े और बुधवार को इनकी संख्या 5772 हो गयी। में बुधवार को संक्रमण के 3944 मामले आने से संक्रमितों की संख्या 5.78 लाख से अधिक हो गयी जबकि 82 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की संख्या 9342 हो गयी।दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग के नए बुलेटिन के मुताबिक शहर में मंगलवार को 78,949 नमूनों की जांच की गयी। इनमें से 36,370 जांच आरटी-पीसीआर तरीके से की गयी। संक्रमण दर भी पांच प्रतिशत हो गयी है। आंकड़ों के अनुसार 26 नवंबर के बाद से संक्रमण दर में गिरावट आने लगी। शहर में 26 नवंबर को संक्रमण दर 8.65 प्रतिशत और 5475 नए मामले आए थे। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने बुधवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण दर में लगातार गिरावट आ रही है और अगले कुछ दिनों में इसके पांच प्रतिशत से कम होने की संभावना है।आंकड़ों के मुताबिक 27 नवंबर को 5229 निषिद्ध क्षेत्र थे और एक दिसंबर को इनकी संख्या बढ़कर 5669 हो गयी। निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या में वृद्धि को लेकर पूछे गए सवाल पर जैन ने कहा था कि सरकार की नीति के मुताबिक जिन स्थानों पर तीन या उससे अधिक मामले आते हैं, उन्हें निषिद्ध क्षेत्र बना दिया जाता है। शहर में बुधवार को उपचाराधीन मरीजों की संख्या 30,302 थी और मंगलवार को 31,769 उपचाराधीन मरीज थे। दिल्ली में 11 नवंबर को सबसे ज्यादा 8593 मामले आए थे।बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीEPFO ने 10 लाख रुपए से अधिक की PF निकासी के लिए ऑनलाइन आवेदन किया अनिवार्य****** ने भविष्य निधि (PF) से 10 लाख रुपए से अधिक की के लिए ऑनलाइन दावा करना अनिवार्य कर दिया है। EPFO द्वारा खुद को कागजरहित संगठन बनाने की दिशा में यह एक और कदम है। इसके अलावा EPFO ने कर्मचारी पेंशन योजना (EPS) 1995 से पांच लाख रुपए से अधिक की निकासी के लिए भी ऑनलाइन आवेदन अनिवार्य कर दिया है। पेंशन योजना के तहत, पेंशन की आंशिक राशि की निकासी का प्रावधान है। इसे पेंशन के पैसे का रूपांतरण कहा जाता है। फिलहाल EPFO अंशधारकों को ऑनलाइन के साथ मैनुअल तरीके से भी दावा दाखिल करने की अनुमति है। एक अधिकारी ने बताया कि केंद्रीय भविष्य निधि आयुक्त की अध्यक्षता में 17 जनवरी, 2018 को हुई बैठक में यह फैसला किया गया। अधिकारी ने कहा कि फील्ड कार्यालयों को कहा गया है कि यदि PF से निकासी की राशि 10 लाख रुपए से अधिक है, तो दावा सिर्फ ऑनलाइन स्वीकार किया जाना चाहिए।इसी तरह कर्मचारी पेंशन योजना में निकासी राशि पांच लाख रुपए से अधिक होने पर सिर्फ ऑनलाइन दावा ही स्वीकार किया जाए। ऑनलाइन दावा करने से पहले अंशधारक के बैंक खाते को प्रणाली से जोड़ा और सत्यापित किया जाना चाहिए। EPFO के अंशधारकों की संख्या छह करोड़ से अधिक है। यह 10 लाख करोड़ रुपए से अधिक के फंड का प्रबंधन करता है।

Bigg Boss 14: 'बिग बॉस' के घर में हुई 3 वाइल्ड कार्ड कंटेस्टेंट्स की एंट्री

बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीArticle 15 Reactions: आयुष्मान खुराना की फिल्म पर बोले लोग- कड़वी सच्चाई आएगी सामने****** ने अपनी फिल्मों से अपने टैलेंट को दिखाया है। फिल्मों में अक्सर स्वीट बॉय का रोल निभाने वाले आयुष्मान 'आर्टिकल 15' में पुलिस के रोल में हैं। फिल्म 28 जून को रिलीज़ हुई है।फिल्म को अनुभव सिन्हा ने डायरेक्ट किया है। इसे ऑडियंस का अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है। ट्विटर पर लोग अपना रिएक्शन शेयर कर रहे हैं। फिल्म संविधान के आर्टिकल 15 पर आधारित है, जिसके मुताबिक धर्म, जाति, लिंग के आधार पर भेदभाव वर्जित है।देखें, लोगों ने ट्विटर पर कैसे रिएक्ट किया...आयुष्मान चाहते हैं कि फिल्म को टैक्स फ्री कर दिया जाए। पीटाआई को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा था- ''इसे टैक्स फ्री कर देना चाहिए। ऐसी फिल्मों का ज्यादा लोगों तक पहुंचना ज़रूरी है। ये कोई कॉमडी या एंटरटेनिंग फिल्म नहीं है, ये गंभीर विषय पर आधारित है। ज़रूरी है कि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग देखें।''कुछ दिनों पहले फिल्म की स्क्रीनिंग हुई थी, जिसमें शाहरुख खान, विक्की कौशल, नीना गुप्ता, तब्बू सहित कई सेलेब्स आए थे।शाहरुख स्क्रीनिंग में आए ज़रूर थे, लेकिन उन्होंने फिल्म नहीं देखी है। आयुष्मान ने पीटीआई से कहा था- ''शाहरुख सर हमें आशीर्वाद देने आए थे। उन्होंने अनुभव सर के साथ पहले काम किया है। उन्हें ट्रेलर पसंद आया है।'''कहब तो लाग जाई धक्क से' 'आर्टिकल 15' की शुरुआत इसी लोक गीत से होती है, इस गीत में अमीरी-गरीबी, उच्च वर्ग और निम्न वर्ग के बीच का जो अंतर है वो साफ बता पता चलता है और यह फिल्म इसी बारे में हैं। फिल्म की भाषा में कहें तो ये कहानी उन लोगों की है- जो कभी हरिजन बन जाते हैं, कभी बहुजन बन जाते हैं मगर जन नहीं बन पाते हैं। 'मुल्क' बनाने के बाद निर्देशक अनुभव सिन्हा एक और फिल्म लेकर आए हैं जिसका नाम है 'आर्टिकल 15'। इस फिल्म के जरिए निर्देशक ने आपको वो सच दिखाया है जिसे आप जानते हैं समझते हैं लेकिन फिर भी अपनी आंखें बंद कर लेते हैं।बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीSAIL की 3 इकाइयों के कर्मचारी हड़ताल पर, सुबह 6 बजे से बंद है प्रोडक्‍शन : इंटक****** सार्वजनिक क्षेत्र की स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (SAIL) की 3 इकाइयों के कर्मचारी मंगलवार को एक दिन की हड़ताल पर चले गए हैं। वह सरकार के SAIL का विनिवेश करने के प्रस्ताव का विरोध कर रहे हैं।ट्रेड यूनियन इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष जी संजीव रेड्डी ने कहा कि SAIL की तीन इकाइयों- दुर्गापुर के अलॉय स्टील संयंत्र, कर्नाटक के सलेम स्टील संयंत्र और भद्रावती संयंत्र में मौजूद इंटक और सीटू की सभी यूनियनें मंगलवार को सुबह 6 बजे से हड़ताल पर हैं। उन्होंने कहा कि सुबह छह बजे से कोई उत्पादन नहीं हुआ है।अब एक दिन में मिलेगा PAN और TAN नंबर, बिजनेस को आसान बनाने के लिए CBDT ने उठाया कदमइन तीनों इकाइयों के करीब 10,000 कर्मचारी हड़ताल पर हैं जिनमें अस्थाई या ठेके पर रखे गए कर्मचारी भी शामिल हैं। वह इन तीनों इकाइयों के विनिवेश प्रस्ताव का विरोध कर रहे हैं। रेड्डी ने सोमवार को कहा था कि इन संयंत्रों के कर्मचारियों और अधिकारियों ने सरकार से एक और साल समय देने की मांग की है ताकि वह इनमें लाभ दिखा सकें। अब PAN कार्ड की स्कैन्‍ड कॉपी और OTP के जरिए हुई पैन नंबर को आधार से जोड़ने की व्यवस्थागौरतलब है कि सरकार SAIL के भद्रावती, सलेम और दुर्गापुर संयंत्र के रणनीतिक विनिवेश को सैद्धांतिक मंजूरी दे चुकी है।बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीराहुल, प्रियंका ने वाराणसी पहुंचकर संत रविदास को श्रद्धांजलि दी, अमृत वाणी सुनी******Highlights कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और पार्टी महासचिव वाड्रा ने बुधवार को रविदास जयंती के मौके पर वाराणसी के 'सीर गोवर्धन' पहुंचकर संत रविदास को श्रद्धांजलि देने के बाद अमृत वाणी सुनी एवं प्रसाद ग्रहण किया। राहुल गांधी एवं प्रियंका गांधी के बाबतपुर हवाई अड्डे पर पहुंचने पर कांग्रेस नेता एवं पूर्व मंत्री अजय राय सहित कई कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया। राहुल एवं प्रियंका हवाई अड्डे से सड़क मार्ग के जरिए सीर गोवर्धन स्थित संत रविदास मंदिर पहुंचे। मंदिर पहुंच कर दोनों ने संत रविदास की प्रतिमा को नमन किया और उनका आशीर्वाद लिया। दोनों ने वहां अमृत वाणी सुनी।प्रियंका ने वहां सेवा कर रही महिलाओं से भेंट की, जबकि राहुल गांधी ने लंगर में अपनी सेवा दी और प्रसाद बांटा। इसके बाद प्रियंका और राहुल गांधी ने लंगर में प्रसाद ग्रहण किया। इसके पहले, प्रियंका गांधी ने संत रविदास के एक दोहे का जिक्र करते हुए ट्वीट किया था कि वह हर साल की तरह आज भी गुरु रविदास की जन्मस्थली पर मत्‍था टेकेंगी। वाड्रा ने ट्वीट किया कि उन्हें आज अपने भाई के साथ गुरु रविदास की जन्मस्थली जाने में और भी खुशी हो रही है। इसके बाद, उन्‍होंने एक वीडियो ट्विटर पर साझा किया, जिसमें वह और राहुल गांधी संत रविदास की जन्मस्थली पर एक कार्यक्रम में शामिल होते दिख रहे हैं।राहुल गांधी ने भी संत रविदास की जयंती पर हार्दिक शुभकामनाएं दीं। उन्होंने ट्विटर पर एक वीडियो साझा किया, जिसमें वह और प्रियंका गांधी वाद्रा संत रविदास की समाधि पर फूल चढ़ाते दिखाई दे रहे हैं। उन्‍होंने रविदास का दोहा लिखते हुए ट्वीट किया, ''जाति-जाति में जाति हैं, जो केतन के पात, रैदास मनुष ना जुड़ सके जब तक जाति न जात। संत गुरु रविदास को हमारा नमन।''इसके पहले, उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ और पंजाब के मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस नेता चरणजीत सिंह चन्नी ने भी सीर गोवर्धन पहुंचकर संत शिरोमणि को श्रद्धांजलि अर्पित की।(इनपुट- एजेंसी)

Bigg Boss 14: 'बिग बॉस' के घर में हुई 3 वाइल्ड कार्ड कंटेस्टेंट्स की एंट्री

बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीसरकार ने हस्तशिल्पियों का पारिश्रामिक 36 प्रतिशत बढ़ाने के प्रस्ताव को दी मंजूरी, अब रोज मिलेंगे कम से कम 202 रुपए******wages hike (एमएसएमई) मंत्रालय ने खादी सूत की कताई करने वालों का पारिश्रमिक 5.50 रुपए प्रति लच्छा से 36 प्रतिशत बढ़ाकर 7.50 रुपए प्रति लच्छा करने के खादी ग्रामोद्योग आयोग के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। आयोग ने एक बयान में मंगलवार को कहा कि कताई करने वालों का पारिश्रामिक बढ़ाने तथा संशोधित बाजार विकास मदद (एमएमडीए) योजना के तहत भुगतान से संबंधित उसके प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है। ये 15 अगस्त 2018 से प्रभावी हो चुकी है। आयोग के चेयरमैन वीके सक्सेना ने कहा कि पारिश्रामिक में विस्तार युवाओं को सूत की कताई को पेशा बनाने के लिए प्रोत्साहित करेगा।एमएमडीए कार्यक्रम के तहत खादी संस्थानों को आधारभूत लागत के 30 प्रतिशत के बराबर उत्पादन सब्सिडी दी जाती है। इस भुगतान का 40 प्रतिशत बुनकरों को पारिश्रामिक प्रोत्साहन के तौर पर सीधे उनके बैंक खाते में दिया जाता है। शेष 60 प्रतिशत खादी संस्थानों को मिलता है।आयोग ने कहा कि संशोधित पारिश्रमिक के आधार पर औसतन प्रतिदिन 20 लच्छा धागा कातने वालों को अब रोजाना 202 रुपए की कमाई होगी। कताई का काम करने वाले ज्यादातर लोग रोजाना 20 लच्छे से अधिक कताई करते हैं।बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीनए साल में विदेश घूमना हुआ सस्ता, रुपया 5 महीने के ऊपरी स्तर तक पहुंचा****** नए साल के पहले दिन आज भारतीय करेंसी ने अपना दम दिखाना शुरू कर दिया है, डॉलर के मुकाबले रुपया करीब 5 महीने के ऊपरी स्तर तक पहुंच गया है, डॉलर का भाव घटकर 63.72 रुपए पर आ गया है जो 5 अगस्त के बाद सबसे कम भाव है। फिलहाल रुपए में करीब 15 पैसे की तेजी देखी जा रही है। 2017 के दौरान डॉलर के मुकाबले रुपये में करीब 6 प्रतिशत का उछाल आया है और अब 2018 की शुरुआत भी रुपए की मजबूती के साथ हुई है।दरअसल साल 2017 के दौरान अमेरिकी करेंसी में एकतरफा गिरावट हावी रही है, डॉलर इंडेक्स करीब 10 प्रतिशत घटा है, 2017 की शुरुआत में डॉलर इंडेकेस् 102 के ऊपर होता था और 2017 के अंत में यह घटकर 92 के स्तर पर आ गया। कमजोर डॉलर की वजह से 2017 में रुपए में उछाल देखा गया है।रुपए में तेजी के फायदों की बात करें तो आयातित सामान सस्ता हो जाएगा, विदेशों से कोई भी सामान आयात करने पर डॉलर में उसकी पेमेंट चुकानी पड़ती है, अब रुपए के मुकाबले डॉलर का भाव कुछ कम हुआ है ऐसे में आयातित सामान की पेमेंट चुकाने के लिए कम रुपए खर्च करके ज्यादा डॉलर लिए जा सकते हैं। भारत में सबसे ज्यादा पेट्रोल उत्पाद, इलेक्ट्रोनिक्स का सामान, सोना, इलेक्ट्रिकल मशीनें, ट्रांसपोर्ट का सामान, महंगे रत्न, कैमिकल, कोयला और खाने के तेलों का आयात होता है, ऐसे में रुपये की तेजी की वजह से इस तरह की तमाव वस्तुओं के आयात पर पहले के मुकाबले कम खर्च आएगा।रुपए अगर लंबे समय तक मजबूत रहता है तो इस तरह की वस्तुओं की कीमत कम होने की उम्मीद बढ़ जाएगी। इसके अलावा विदेशों में पढ़ाई करने और नए साल की छुट्टियों को विदेश में बिताने के लिए भी पहले के मुकाबले कम कीमत चुकानी पड़ेगी।दूसरी तरफ अगर रुपए की मजबूती और डॉलर की कमजोरी से होने वाले घाटे की बात करें तो निर्यात आधारित उद्योग और सेवाओं पर मार पड़ेगी। भारत से जो सामान या सेवा निर्यात होती है उसकी पेमेंट भी डॉलर में ही आती है, डॉलर अब क्योंकि सस्ता हो गया है, ऐसे में पहले के मुकाबले डॉलर को रुपए में बदलने पर अब कम रुपए मिलेंगे। भारत से ज्यादतर इंजिनीयरिंग गुड्स, पेट्रोलियम उत्पाद, जेम्स एंड ज्वैलरी, समुद्री उत्पाद, चावल, टैक्सटाइल और कॉटन तथा चमड़ा और मांस का ज्यादा निर्यात होता है। डॉलर कमजोर होने की वजह से इस तरह के निर्यात पर अब पहले के मुकाबले कम कीमत मिलेगी जिस वजह से इस तरह की वस्तुओं पर आधारित उद्योग को घाटे का सामना करना पड़ सकता है।

Bigg Boss 14: 'बिग बॉस' के घर में हुई 3 वाइल्ड कार्ड कंटेस्टेंट्स की एंट्री

बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीRBI Hike Repo Rate: महंगाई के आगे RBI बेबस, रेपो रेट में 40 बेसिस पॉइंट की बढ़ोत्तरी, घर और कार की बढ़ेगी EMI******RBI Hike Repo RateHighlightsभारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने रेपो में 40-बेसिस पॉइंटकी वृद्धि की घोषणा कर दी है। अब यह दर 4.4 फीसदी हो गई है।वहीं सीआरआर में .50 प्रतिशत की वृद्धि की गई है।अब यह 4.5% हो गया है।इससे पहले आरबीआई ने आखिरी बार 22 मई 2020 को प्रमुख ब्याज दरों में बदलाव किया था। RBI गवर्नर की घोषणा के साथ ही सेंसेक्‍स में तेज गिरावट देखी जा रही है। फैसला आते ही सेंसेक्स में 1100 अंकों की गिरावट दर्ज की गई है।बता दें कि आरबीआई का यह आश्चर्यजनक कदम यूएस फेडरल रिजर्व से अपेक्षित दर वृद्धि से पहले आया। बता दें कि यूएस फेडरल रिजर्व रिकॉर्ड मुद्रास्फीति को काबू करने के लिए प्रमुख ब्‍याज दर में 50 आधार अंक की बढ़ोतरी कर सकता है।बता दें कि रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति ने 2 मई और 4 मई को एक ऑफ-साइकिल बैठक की। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज बताया कि केंद्रीय बैंक की मौद्रिक नीति समिति ने सर्वसम्मति से रेपो दर में 40 बीपीएस बढ़ाने के लिए मतदान किया है। इसके जरिए रिजर्व बैंक की कोशिश खुदरा मुद्रास्फीति की दर में कमी लाने की है।आरबीआई गवर्नर ने महंगाई को काबू करने पर फोकस की बात कही है। उनका बयान ऐसे समय आया है जब वैश्विक मुद्रास्फीति भारत की रिकवरी के लिए एक चुनौती पेश कर रही है।इससे पहले आरबीआई ने अप्रैल में हुई मौद्रिक समीक्षा बैठक में लगातार 11वीं बार प्रमुख ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया था। हालांकि तब आरबीआई ने महंगाई के चिंताजनक स्तर को देखते हुए ब्याज दरों में जल्द वृद्धि की बात कही थी।आरबीआई ने रेपो रेट में लंबे समय के बाद बढ़ोतरी कर दी है। इस बढ़ोतरी के बाद होम, कार समेत दूसरे सभी लोन की ईएमआई बढ़ जाएगी। यानी आपको अधिक ईएमआई चुकानी होगी। हालांकि, इसके साथ ही जमा पर बैंक ब्याज दरों में बढ़ोतरी भी करेंगे। यानी जमा पर अधिक रिटर्न मिलेगा। इससे महंगाई को काबू करने में मदद मिलेगी।आरबीआई गवर्नर ने एमपीसी की बैठक के बाद कहा कि मार्च 2022 में खुदरा महंगाई की दर में जोरदार बढ़ोत्तरी हुई और यह बढ़ते बढ़ते 7 फीसदी पर पहुंच गई। खासकर खाने-पीने की चीजों की महंगाई के कारण खुदरा महंगाई तेजी से बढ़ी है। इसके अलावा रूस यूक्रेन युद्ध के कारण भी महंगाई बढ़ी है। इस तनाव से ग्लोबल सप्लाई चेन पर भी बुरा असर पड़ा है। गवर्नर दास इसी जिओपॉलिटिकल टेंशन की बात कर रहे थे।गवर्नर दास ने बताया कि ब्याज दरें बढ़ाने का फैसला मध्यम अवधि में इकोनॉमिक ग्रोथ के प्रोस्पेक्ट को मजबूत बनाने के लिए लिया गया है। उन्होंने कहा कि ग्लोबल इकोनॉमिक रिकवरी अब मोमेंटम खोने लगा है। रिजर्व बैंक एमपीसी ने रेपो रेट बढ़ाने के अलावा एकमोडेटिव मॉनीटरी पॉलिसी स्टान्स बरकरार रखने का भी फैसला किया।

बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीAsia Cup 2022: टीम इंडिया के सेलेक्टर्स से कहीं गलती तो नहीं हुई, अब क्या होगा!******Highlights एशिया कप 2022 के लिए टीम इंडिया का ऐलान कर दिया गया है। पहले ही तय था कि भारत और वेस्टइंडीज के बीच सीरीज खत्म होने के बाद अगले ही दिन यानी आठ अगस्त को भारतीय टीम का ऐलान एशिया कप के लिए कर दिया जाएगा। सोमवार देर शाम सेलेक्टर्स ने भारतीय टीम की घोषणा की। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान विराट कोहली की एक बार फिर से टीम इंडिया में वापसी हुई है, वहीं केएल राहुल करीब नौ महीने बाद भारत के लिए खेलते हुए नजर आएंगे।सेलेक्टर्स ने एशिया कप के लिए जो टीम चुनी है, उसमें ओपनर के तौर पर कप्तान रोहित शर्मा और केएल राहुल टीम में हैं। केएल राहुल की वापसी के कारण ही ईशान किशन और संजू सैमसन को टीम में शामिल नहीं किया गया है। लेकिन ऐसा लगता है कि कहीं कोई गलती हो गई है। टीम के लिए जो तीन बैकअप चुने गए हैं, उसमें श्रेयस अय्यर, दीपक चाहर और अक्षर पटेल हैं, लेकिन इसमें एक भी ओपनर नहीं है। एशिया कप एक बड़ा टूर्नामेंट है, इसमें छह टीमें हिस्सा ले रही हैं। अगर रोहित शर्मा और केएल राहुल कहीं चोटिल हो जाते हैं या फिर कोई और बात होती है तो टीम में कोई भी स्पेशलिस्ट ओपनर नहीं है। वैसे तो रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ ने सूर्य कुमार यादव और ऋषभ पंत से भी ओपनिंग कराई है, लेकिन वे स्पेशलिस्ट ओपनर नहीं हैं।टीम इंडिया के कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान रोहित शर्मा पिछले कुछ समय से अलग अलग ओपनर आजमा रहे थे। ईशान किशन लगातार टीम के साथ रहे, लेकिन उन्हें प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया गया। उन्होंने आयरलैंड के खिलाफ लगातार दो मैच खेले, लेकिन वे इसमें अपनी छाप छोड़ने में कामयाब नहीं हो पाए। इसके बाद श्रेयस अय्यर और सूर्य कुमार यादव ने भी ओपनिंग की। देखना होगा कि एशिया कप 2022 के लिए सेलेक्टर्स ने जो टीम चुनी है, उसका इस्तेमाल कप्तान और कोच कैसे करते हैं। साथ ही अगर कोई खिलाड़ी चोट खा बैठता है तो फिर उससे कैसे निपटा जाएगा।रोहित शर्मा, केएल राहुल, विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, ऋषभ पंत, दीपक हुड्डा, दिनेश कार्तिक, हार्दिक पांड्या, रवींद्र जडेजा, आर अश्विन, युजवेंद्र चहल, रवि बिश्नोई, भुवनेश्वर कुमार, अर्शदीप सिंह, अवेश खानश्रेयस अय्यर, दीपक चाहर, अक्षर पटेलबिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीजहांगीरपुरी में दो हफ्ते नहीं चलेंगे बुलडोजर, सुप्रीम कोर्ट ने एमसीडी को दिया नोटिस,अगले महीने होगी सुनवाई******जहांगीरपुरी में एमसीडी के बुलडोजर अभियान पर सुप्रीम कोर्ट ने यथास्थिति बरकरार रखते हुए एमसीडी को नोटिस जारी कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि फिलहाल वहां अगले आदेश तक यथास्थिति बहाल रखी जाए। अब इस मामले की सुनवाई दो हफ्ते बाद होगी।वहीं सुप्रीम कोर्ट में इस मामले पर सुनवाई के दौरान कोर्ट के आदेश के बावजूद बुलडोजर अभियान जारी रखने का मसला भी उठा। हालांकि कोर्ट ने अभी इसपर कोई आदेश जारी नहीं कियाहै। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि बुलडोजर पर रोक का आदेश सिर्फ दिल्ली के लिए है जबकि बाकी जगह बुलडोजर पर कोई रोक नहीं है।जमीयत उलमा-ए-हिंद का प्रतिनिधित्व कर रहे वरिष्ठ अधिवक्ता दुष्यंत दवे ने कहा कि एनडीएमसी के मेयर ने मीडिया से कहा कि शीर्ष अदालत के आदेश का सुबह 11 बजे पालन किया जाएगा, लेकिन विध्वंस अभियान जारी रहा। सुनवाई के दौरान, जब एक वरिष्ठ वकील ने तर्क दिया कि अदालत को अगले आदेश तक विध्वंस पर रोक लगानी चाहिए तो शीर्ष अदालत ने कहा कि वह पूरे देश में विध्वंस को रोक नहीं सकती।जमीयत उलमा-ए-हिंद का प्रतिनिधित्व करने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा कि अतिक्रमण पूरे भारत में एक गंभीर समस्या है लेकिन मुस्लिम समुदाय को अतिक्रमण से जोड़ना सही नहीं है। उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाएं दूसरे राज्यों में भी हो रही हैं और जब जुलूस निकाले जाते हैं और मारपीट होती है तो एक ही समुदाय के घरों पर बुलडोजर चलाया जाता है।सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि जहांगीरपुरी में फुटपाथ से अतिक्रमण हटाने का अभियान 19 जनवरी से शुरू हुआ था। फरवरी, मार्च में किया गया और 19 अप्रैल को अभियान की पांचवीं तारीख थी। मेहता ने कहा कि अवैध संरचनाओं को लेकर नोटिस दिया गया था। उन्होंने कहा कि लोगों ने पिछले साल दिल्ली उच्च न्यायालय का रुख किया और न्यायालय ने विध्वंस का आदेश दिया था। मेहता ने कहा कि प्रभावित लोगों ने अदालत का रुख नहीं किया, बल्कि एक संगठन ने इसकी जगह अदालत का दरवाजा खटखटाया।मामले में विस्तृत सुनवाई के बाद, शीर्ष अदालत ने कहा कि वह याचिकाकर्ताओं से नोटिस पर हलफनामा चाहता है, और तब तक यथास्थिति का आदेश जारी रहेगा।दरअसल कल उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) के अतिक्रमण विरोधी अभियान के तहत जहांगीरपुरी में बुलडोजर के जरिए एक मस्जिद के पास कई ढांचों को तोड़ दिया गया। तोड़फोड़ के खिलाफ जमीयत उलमा-ए-हिंद द्वारा दायर एक याचिका पर संज्ञान लेने के बाद सुप्रीम कोर्ट को अभियान को रुकवाने के लिए दो बार हस्तक्षेप करना पड़ा। सुप्रीम कोर्ट ने यथास्थिति बहाल करने का आदेश देने के साथ ही आज मामले की सुनवाई की तारीख तय की थी।

बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीस्ट्रॉबेरी सुपरमून और जीरो शैडो डे की दो बड़ी खगोलीय घटनाएं आज, जानिए आप पर प्रभाव******14 जून को वटवृक्ष की तरह विशाल चंद्रमा नजर आने वाला है। 14 जून को वट सावित्री पूर्णिमा है इसलिए इस स्ट्रॉबेरी सुपरमून की खासियत और बढ़ गई है। वहीं आज एक और बड़ी खगोलीय घटना होगा, दोपहर को सूरज ठीक सिर के ऊपर होगा मगर परछाई नहीं दिखेगी। जी हां नेशनल अवॉर्ड पा चुकी विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने दावा किया है कि इस जीरो शैडो डे पर आपकी परछाई कुछ देर के लिए आपका साथ छोड़ देगी और किसी भी चीज की परछाई नजर नहीं आएगी। ना ही पेड़, ना बिल्डिंग और न ही किसी और चीज की।दरअसल आज सूर्य मकर रेखा से कर्क रेखा की ओर गति करता हुआ भोपाल के ठीक और पहुंचेगा और आज आमतौर पर तिरछी पड़ने वाली किरणें भोपाल पर मध्यान्ह में ठीक सीधी पड़ेंगी और ऐसे में किसी भी चीज की परछाई नहीं दिखेगी। प्लस 23.5 एवं माइनस 23.5 अक्षांश रहने वालों के लिए ऐसी घटना साल में दो बार आती है जब सूरज ठीक ऊपर होता है मगर किसी भी चीज की परछाई नहीं दिखती है। इस दिन को जीरो शैडो डे कहते हैं।सारिका घारू ने बताया कि मकर रेखा से कर्क रेखा की ओर गति करता दिखता सूर्य अपने अंतिम पड़ाव के सात दिन पहले मंगलवार को भोपाल के ठीक ऊपर पहुंचेगा। इस कारण आमतौर पर तिरछी पड़ने वाली किरणें भोपाल पर मध्यान्ह में ठीक सीधी पड़ रही होंगी। प्लस 23.5 एवं माइनस 23.5 अक्षांश के बीच रहने वालों के लिए पूरे साल में दो दिन ऐसे आते हैं, जब सूर्य ठीक सिर के ऊपर होता है। इस समय किसी भी वस्तु की परछाई दिखना बंद हो जाती है। इसे जीरो शैडो डे कहते हैं।जहां दोपहर को जीरो शैडो डे होगा वहीं आज रात को चंद्रमा का बड़ा रूप देखने को मिलेगा। चंद्रमा पृथ्वी की परिक्रमा अंडाकार पथ पर करता है और जिस वक्त वो पृथ्वी से 3 लाख 57 हजार 6 सौ 58 किलोमीटर पर होता है उस दिन चंद्रमा रोज के मुकाबले बड़ा दिखता है और उसे सुपरमून कहते हैं। माइक्रमून से तुलना की जाए तो ये 14 फीसदी बड़ा और 30 फीसदी ज्यादा चमकदार दिखेगा।इस सुपरमून को स्ट्रॉबेरी मून, रोजमून और यहां तक की हनीमून भी कहते हैं। यह इस साल का पहला सुपरमून होगा। पृथ्वी और चंद्रमा आज सबसे पास शाम को 5 बजकर 22 मिनट पर रहेंगे।बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीमोदी की सुनामी में जीत दर्ज कर संसद पहुंचे ये चार निर्दलीय ‘सूरमा’****** के परिणाम आ चुके हैं। के नेतृत्व में एनडीए एकबार फिर केंद्र में सरकार बनाने जा रही है। इसबार लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने पिछली बार से भी बेहतर प्रदर्शन करते हुए 303 लोकसभा सीटें जीतीं। यूपी में इसबार भाजपा को रोकने के लिए बना भी न सिर्फ बेअसर साबित हुआ, बल्कि गठबंधन के बावजूद सपा को इस बार अपने मजबूत गढ़ गंवाने पड़े।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुनामी में जहां एक ओर अच्छे-अच्छे दिग्गज ढेर हो गए, लेकिन इस बार संसद में पहुंचने वाले चार सांसद ऐसे भी हैं जिन्होंने निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ा। आइए आपको बताते हैं इस बार कौन हैं वो चार निर्दलीय सांसद, जिन्होंने इस बार दर्ज की जीत।महाराष्ट्र की अमरावती सीट से जीत दर्ज करने वाली नवनीत रवि राणा को कांग्रेस का समर्थन प्राप्त था। उन्होंने इस सीट पर एनडीए गठबंधन की तरफ स चुनाव लड़ रहे शिवसेना प्रत्याशी और मौजूदा सांसद अब्सुल आनंदराव विठोबा को 36 हजार 951 वोटो से हराया। नवनीत को जहां 5 लाख 10 हजार 947 वोट मिले, वहीं दूसरी तरफ अब्सुल आनंदराव विठोबा को 4 लाख 73 हजार 996 वोट ही हासिल कर सके।कर्नाटक में एक तरफ जहां भाजपा ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन को धाराशाई कर दिया, वहीं दूसरी तरफ उसने सूबे की मांड्या सीट पर एक निर्दलीय प्रत्याशी का समर्थन किया। मांड्या जेडीएस ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के बेटे निखिल को उतारा को था, जिनका मुकाबला निर्दलीय महिला उम्मीदवार सुमनलता से था। समुनलता ने इस मुकाबले में जेडीएस प्रत्याशी को 1 लाख 25 हजार 876 वोटों से मात दी। साल 2014 में मांड्या सीट पर जेडीएस ने कब्जा जमाया था।असम की कोकराझार लोकसभा सीट भी देश की उन चार लोकसभा सीटों में से एक है, जहां निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की। कोकराझार में पिछली बार की तरफ इस बार भी निर्दलीय उम्मीदवार नाबा कुमार सरानिया जीते। सरानिया ने एनडीए गठबंधन की तरफ से चुनाव लड़ रहीं बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंड की प्रेमिला रानी ब्रह्मा को 37 हजार 786 वोट से मात दी। इस सीट पर नाबा कुमार को 4 लाख 84 हजार 560 वोट मिले जबकि प्रमिला 4 लाख 46 हजार 774 वोट हासिल कर सकीं।केंद्रशासित दादर और नगर हवेल में निर्दलीय प्रत्याशी देलकर सांजीभाई ने भाजपा प्रत्याशी नत्थूभाई गोमनभाई पटेल को 9001 वोट से मात दी। नत्थूभाई पिछली बार यहां से चुनाव जीते थी, लेकिन इस बार उन्हें 81 हजार 420 वोट मिले जबकि देलकर सांजीभाई 90 हजार 421 वोट पाकर विजेता बने।

बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीसरकार को बड़ी राहत, सोने का आयात फरवरी में 29.5 फीसदी घटकर 1.39 अरब डॉलर रहा******नई दिल्ली। निर्यात के मोर्चे पर भले ही सरकार को नाकामी हाथ लगी हो, लेकिन आयात के आंकड़े राहत देने वाले हैं। फरवरी में सोने का आयात 29.49 फीसदी घटकर 1.39 अरब डॉलर रह गया। इससे पहले जनवरी में इसमें तेज बढ़ोतरी दर्ज की गई थी। सोने का आयात कम होने से देश के चालू खाते के घाटे (कैड) पर अंकुश रहने की उम्मीद है। ग्लोबल और घरेलू बाजार में सोने की कीमतों में आई गिरावट की वजह आयात घटा है।पिछले साल के मुकाबले 30 फीसदी घटा आयातसरकार की कोशिश का असर सोने के आयात पर पड़ता दिखाई दे रहा है। पिछले साल फरवरी में सोने का आयात 1.98 अरब डॉलर का हुआ था, इस साल घटकर 1.39 अरब डॉलर रह गया है। इससे सरकार को बड़ी राहत मिली है। देश में सोने के आयात को कम करने के लिए सरकार ने गोल्ड मोनेटाइजेशन से लेकर गोल्ड बॉन्ड स्कीम तक चला रही है।फरवरी में व्यापार घाटा कम हुआसोने का आयात घटने से फरवरी में व्यापार घाटा कम होकर 6.54 अरब डॉलर रहा जो कि एक साल पहले इसी माह में 6.74 अरब डॉलर रहा था। भारत सोने का सबसे बड़ा आयातक देश है और इस आयात से मुख्य तौर पर ज्वैलरी इंडस्ट्री की मांग पूरी होती है। चालू वित्त वर्ष में जुलाई-सितंबर तिमाही में कैड सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के समक्ष 1.6 फीसदी यानी 8.2 अरब डॉलर रहा जबकि इससे पिछली तिमाही अप्रैल-जून में यह 1.2 फीसदी यानी 6.1 अरब डॉलर रहा था।बिगबॉसकेघरमेंहुई3वाइल्डकार्डकंटेस्टेंट्सकीएंट्रीCovid-19 के कारण मई माह में सेवा गतिविधियों में आई तेज गिरावट, Lockdown के चलते मांग हुई खत्‍म******Services activity contracts sharply in May due to covid-19 कोरोना वायरस महामारी के चलते पूरे भारत में सेवा क्षेत्र की गतिविधियों में मई के दौरान तेजी से गिरावट आई और उपभोक्ताओं की आवाजाही पर रोक के चलते मांग एकदम खत्म हो गई। आईएचएस मार्किट भारत सेवा कारोबार गतिविधि सूचकांक मई में 12.6 पर था। यह मासिक सर्वेक्षण बुधवार को जारी हुआ। सर्वेक्षण के मुताबिक अप्रैल के अप्रत्याशित 5.4 से अधिक है, लेकिन अभी भी कोरोना वायरस महामारी से पहले के स्तर के मुकाबले कम है। सर्वेक्षण में कहा गया है कि सूचकांक का यह स्तर पूरे भारत में सेवा गतिविधि में अत्यधिक गिरावट की ओर संकेत करता है।आईएचएस मार्किट इंडिया सर्विसेज परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (पीएमआई) के अनुसार 50 से अधिक अंक का अर्थ है गतिविधियों में विस्तार, जबकि इससे कम अंक कमी को दर्शाता है। आईएचएस मार्किट के अर्थशास्त्री जो हेयस ने कहा कि भारत में सेवा क्षेत्र की गतिविधियों में अभी भी ठहराव है और नवीनतम पीएमआई आंकड़ों से पता चलता है कि मई में एक बार फिर उत्पादन में भारी गिरावट हुई है। इसबीच कमजोर मांग के चलते रोजगार में तेज गिरावट का सिलसिला भी जारी रहा।

हाल का ध्यान

लिंक