वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > क्विंगयांग > मूलपाठ

कोविड-19 के सात और टीके विकसित कर रहा है भारत: स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन

2022-09-30 22:55:20 क्विंगयांग

कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनKnow Your Customer: अब बार बार KYC के झंझट से मिलेगी मुक्ति, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किया ये ऐलान******बैंकिंग बीमा और अन्य वित्तीय कामकाज के लिए आपने भी कभी न कभी अपना केवाईसी यानि ग्राहक को जानो फॉर्म दाखिल जरूर किया होगा। लेकिन बात सिर्फ एक बार केवाईसी जमा करने की होती तो बात अलग होती। लेकिन हर जहग के लिए अलग अलग केवाईसी आपको उलझन में डाल सकती है। लेकिन अब जल्द ही आपको इससे राहत मिल सकती है।वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि विभिन्न वित्तीय संस्थानों के बीच लेनदेन को आसान बनाने के लिए एकसमान ‘अपने ग्राहक को जानो’ (केवाईसी) को लागू करने की दिशा में काम चल रहा है। सीतारमण ने यहां फिक्की लीड्स सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि एक ही केवाईसी का विभिन्न वित्तीय संस्थानों में लेनदेन के लिए इस्तेमाल किए जाने की व्यवस्था लागू करने की दिशा में प्रयास जारी हैं।वित्त मंत्री ने कहा, ‘‘एक केंद्रीय संग्राहक है जो केंद्रीय केवाईसी का ध्यान रखता है। अब हम इस दिशा में काम कर रहे हैं कि ग्राहक की तरफ से एक बार अपना केवाईसी जमा कर दिए जाने के बाद उसका इस्तेमाल विभिन्न वित्तीय संस्थानों में लेनदेन के लिए कई बार किया जा सके। आपको हर बार अलग संस्थानों में लेनदेन के लिए अपना केवाईसी नहीं देना होगा।’’वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार और वित्तीय क्षेत्र से जुड़े नियामक सभी को एक मंच पर लाने के लिए प्रयास कर रहे हैं जिससे कारोबारी सुगमता बढ़ाने में मदद मिलेगी। बैंकिंग, बीमा एवं पूंजी बाजारों में एकसमान केवाईसी के इस्तेमाल के मुद्दे पर पिछले सप्ताह वित्तीय नियामकों एवं वित्त मंत्री की बैठक में चर्चा हुई थी। साझा केवाईसी होने से आम आदमी के लिए विभिन्न सेवाओं के लिए अलग-अलग कागज जमा करने की बाध्यता खत्म होगी।सीतारमण ने कहा कि UPI के जरिये लेनदेन जुलाई में बढ़कर 10.62 लाख करोड़ रुपये हो गया जबकि 6.28 अरब लेनदेन किए गए। उन्होंने कहा कि अगले पांच साल में रोजाना होने वाले यूपीआई लेनदेन की संख्या को बढ़ाकर एक अरब पर पहुंचाने का इरादा है।

कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनSNOKOR iRocker Gods ईयरबड्स की सेल Flipkart पर गुरुवार रात 12 बजे से होगी शुरू, देखें इसके शानदार फीचर्स******Snokor irocker gods goes live on Flipkart from October 15नई दिल्ली: ग्राहकों का इंतजार अब खत्म हो गया है। SNOKOR के शानदार iRocker Gods ईयरबड्स की सेल फ्लिपकार्ट पर गुरुवार रात 12 बजे से फ्लिपकार्ट पर शुरुहोने जा रही है। कंपनी ने बेहतरीन फीचर्स से लैस इस इयरफोन को मांत्र 1999 रुपए की कीमत में बाजर में उतारा है। यह सिंगल व्हाइट कलर वेरिएंट में आप इसे खरीद सकते है। SNOKOR iRocker Gods में एक शक्तिशाली 13 मिमी डायनेमिक बास बूस्ट ड्राइवर है और यह हाई क्वालिटी पीयू और टाइटेनियम मेगेनेट से लैस है जो आपको शानदार म्यूजिक एक्सपिरियंस देगी। नए TWS iRocker Gods ईयरबड्स एक साल की वारंटी के लाभ के साथ 15 अक्टूबर से ग्राहक फ्लिपकार्ट पर जाकर इसे खरीद पाएंगे।SNOKOR iRocker Gods की एडवांस एटीएस 3015 चिप बैटरी की कम खपत करती है और तेज और स्थिर कनेक्शन सुनिश्चित करती है। SNOKOR iRocker Gods ब्लूटूथ v5.0 से लैस हैं, जो कि भीड़भाड़ वाले वातावरण में भी एक विस्तारित रेंज और स्थिर और मजबूत कनेक्शन प्रदान करता है। यूजर्स ईयरबड्स के जरिए एचडी कॉलिंग का मजा ले सकते हैं और साथ ही इसका सिर्फ केस खोलकर अपने आप कनेक्ट कर सकते हैं।SNOKOR iRocker Gods की दोनों ईयरबड्स अगल-अगल चिप डिजाइन के साथ आती हैं जो सिंगल या डबल ईयरफोन मोड के बीच स्विचिंग को काफी आसान बनाती हैं। इसके साथ ही ईयरबड केस एक बटन के साथ आता है जो यूजर्स को डबल क्लिक में एक नए डिवाइस से कनेक्ट करने और 10 सेकंड के लंबे प्रेस पर उपकरणों की किसी भी पेयर सूची को साफ करने की सुविधा से देता है।इन हल्के ईयरबड्स का वजन केवल 4.2 ग्राम है। यह आपके दोनों कान के साथ फिट हो जाएगा, जो इसे लंबे समय तक उपयोग के लिए आदर्श ईयरबड्स बनाता है, खासकर यदि उपयोगकर्ता अपनी पसंदीदा मूवी देखना चाहते हैं या बिना किसी असुविधा के लंबी रोड़ ट्रिप पर म्यूजिक सुनना चाहते हैं। IPX5 ईयरबड्स का स्वेटप्रूफ और डस्टप्रूफ डिजाइन भी इसे आपका एक परफेक्ट ट्रेनिंग इयरब्डस पार्टनर बना सकता है।iRocker Gods एक इंटेलिजेंट टच कंट्रोल फीचर के साथ आता है जिससे यूजर्स एक बार टैप करने पर प्ले/पॉज और दो बार टैप करने पर नेक्सट गाने पर चले जाएंगे। साथ ही Google और SIRI वॉयस असिस्टेंट सपोर्टिंग ईयरबड्स उन्हें सिम्पल वॉयस कमांड का उपयोग करके अपने फोन को नियंत्रित करने की सुविधा देते हैं। वॉयस असिस्टेंट को सक्रिय करने के लिए बस एक डबल टैप करना होगा।ईयरबड्स में एक गेमिंग मोड भी है जिसे ट्रिपल टैप पर सक्रिय किया जा सकता है। iRocker Gods 500mAh + 35mAh * 2 बैटरी से लैस है जो 24 घंटे तक का प्लेटाइम देता है, केस 2 घंटे में 5x की स्पीड पर फुल चार्ज हो सकता है जबकि सिर्फ एक घंटे में इयरबड की बैटरी फूल चार्ज हो जाती है। एक सिंगल चार्ज में ईयरबड्स 4 घंटे तक का म्यूजिक प्लेटाइम और 4 घंटे तक का टॉकटाइम दे सकते हैं।कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनMadhya Pradesh News: धार में कारम नदी पर लीकेज वाली बांध की दिवार तोड़कर 35 क्यूसेक पानी निकाला, CM बोले- स्थिति अब पूरी तरह से नियंत्रण में******Highlights मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को कहा कि प्रदेश के धार जिले में कारम नदी पर निर्माणाधीन बांध की स्थिति अब पूरी तरह से नियंत्रण में है। इससे कुछ घंटे पहले एक अधिकारी ने कहा कि रविवार तड़के तीन बजे इस बांध से समानांतर चैनल के जरिए पानी निकलना शुरू हो गया है और बांध को सुरक्षित तरीके से खाली किया जा रहा है। धार जिला मुख्यालय से करीब 35 किलोमीटर दूर कारम नदी पर 304 करोड़ रुपए की लागत से बन रहे इस बांध की दीवार से गुरुवार से जारी पानी के रिसाव और मिट्टी गिरने से बांध के टूटने का खतरा पैदा हो गया था। इस आशंका के मद्देनजर यहां शनिवार को आपदा प्रबंधन के लिए सेना और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) की टीम भी पहुंची है। इसके अलावा, वायुसेना के दो हेलीकॉप्टरों को भी तैयार रखा गया है, ताकि जरूरत पड़ने पर उन्हें तुरंत लोगों को बचाने के लिए भेजा जा सके।बांध से 35 क्यूसेक पानी बाहर निकाला गयाघटना की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन ने बांध के निचले क्षेत्र में बसे 18 गांवों को शुक्रवार को एहतियातन खाली कराके लोगों को सुरक्षित स्थानों पर राहत शिविरों में भेज दिया है। धार जिले की धर्मपुरी तहसील में कारम मध्यम सिंचाई परियोजना के तहत निर्माणाधीन इस बांध में लबालब पानी भरा हुआ है। इस पर CM शिवराज सिंह चौहान ने बांध से पानी बाहर निकलने के संबंध में बताया कि शनिवार तक लगभग 10 क्यूसेक बहाव की स्थिति थी, जो आज रविवार को साढ़े तीन गुना बढ़ कर 35 क्यूसेक तक लाने में सफलता मिली है। इसे बढ़ाने के उपायों पर भी विचार किया जा रहा है। संपूर्ण कार्यवाही जान-माल की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुई की जा रही है।चौहान ने कहा कि स्थिति अब पूरी तरह से नियंत्रण में है। एक बार पानी की निकासी प्रारंभ होने के पश्चात मिट्टी की दीवार चौड़ी होने और पानी अधिक मात्रा में निकलने की स्थिति बनने की आशा थी, लेकिन ‘साइड वाल’ के कारण अपेक्षित पानी बाहर नहीं गया था। अब यह प्रयास है कि जल्द से जल्द, अधिक से अधिक पानी बांध से निकाल कर पूरी तरह सुरक्षित माहौल बनाया जाए। जब तक यह कार्य पूरा नहीं होगा, हम चैन से नहीं बैठेंगे। चौहान ने इस बांध से पानी की सुरक्षित और हानिरहित निकासी की जानकारी प्राप्त कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।जनता की जिन्दगी की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता -शिवराज सिंह चौहानमुख्यमंत्री ने कहा कि पानी की निकासी शनिवार शाम से जिस गति से प्रारंभ हुई थी, उसमें तेजी आयी है। बांध को सुरक्षित करने के प्रयासों में सफलता मिल रही है। हमारी प्राथमिकता और प्रतिबद्धता भी जनता की जिन्दगी की सुरक्षा है। मनुष्यों के साथ मवेशियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचे, यह भी सुनिश्चित किया गया है। चौहान ने आज सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह और केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत से फोन पर चर्चा कर उन्हें बांध क्षेत्र के निवासियों के जीवन को सुरक्षित करने और बांध से पृथक मार्ग निर्मित कर नदी तक पानी प्रवाहित करने की योजना और उसके क्रियान्वयन की जानकारी दी।मुख्यमंत्री ने कहा कि धार जिले में निर्माणाधीन बांध से जल रिसाव को देखते हुए यथा समय आवश्यक कदम उठाए गए। यह संकट का समय था, जिससे उबरने के निरंतर प्रयास किए गए। उन्होंने कहा कि यह समय विश्वास का वातावरण निर्मित करने का है, न कि आरोप-प्रत्यारोप का, किसी तरह परिस्थितियों को नियंत्रित कर लोगों को सुरक्षित रखा जाए, यह सबसे बड़ी प्राथमिकता है। चौहान ने प्रशासन की बात मानते हुए ऊंचाई के और सुरक्षित स्थानों पर पहुंचने में दिए गए सहयोग के लिए नागरिकों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि उन्हें विश्वास है कि इस तरह का सहयोग आगे भी प्राप्त होगा।

कोविड-19 के सात और टीके विकसित कर रहा है भारत: स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन

कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनBihar: विजय कुमार सिन्हा ने नीतीश सरकार पर बोला हमला, लगाए भ्रष्टाचार के आरोप******Highlights बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता विजय कुमार सिन्हा ने प्लेसमेंट पोर्टल के बदले केंद्र से अनुदान लेने के लिए नीतीश कुमार सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। सिन्हा के मुताबिक, कोई पोर्टल नहीं बना, हालांकि सरकार से पोर्टल के नाम पर करोड़ों रुपये लिए गए। भाजपा नेता ने कहा कि 2016 में केंद्रीय कौशल विकास मंत्रालय ने बिहार सरकार को अगले तीन साल के लिए करोड़ों रुपये का अनुदान जारी किया था।उन्होंने कहा, "बिहार कुशल युवा कार्यक्रम (केवाईपी) के तहत, राज्य श्रम संसाधन विकास विभाग ने पुणे स्थित एक कंपनी - एसकेसीएल को प्रशिक्षण और ज्ञान भागीदार के रूप में चुना था। यह प्रस्तावित किया गया था कि कंपनी को प्रशिक्षण के बाद युवाओं को रोजगार की जानकारी प्रदान करनी थी, लेकिन तीन साल से प्लेसमेंट पोर्टल की व्यवस्था नहीं की गई। पोर्टल नहीं बना, बल्कि सरकार से करोड़ों रुपये लिए गए।"सिन्हा ने कहा, "कंपनी के पास विभिन्न कौशल पाठ्यक्रमों और पोर्टलों के बारे में जानकारी देने का काम था। श्रम विभाग के अधिकारियों ने केंद्र को लगातार गलत जानकारी दी और अनुदान लिया।" उन्होंने कहा, "श्रम विभाग ने पिछले पांच सालों में सिर्फ 5 से 10 प्रतिशत को प्रशिक्षण दिया था और 2016 में केवाईपी के लिए भुगतान जारी किया गया था।"जबकि केवाईपी सेंटर को प्रशिक्षण पूर्ण करने पर भुगतान किया जाता है। सरकारी आदेश के बावजूद प्लेसमेंट पोर्टल के लिए गलत ढंग से भुगतान की गई। राशि की वसूली एमकेसीएल से नहीं किया गया है। एमकेसीएल के द्वारा गलत तरीके से बिना कार्य किए ही प्राप्त किए गए भुगतान की राशि वसूली करने, उसे काली सूची में डालने और दोषी पदाधिकारियों खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गई थी।विजय सिन्हा ने कहा कि जब यह प्रश्न सदन में आया था तब विधानसभा अध्यक्ष की जिम्मेदारी मैं संभाल रहा था। प्रश्न आने पर जांच के लिए विशेष कमेटी बनाई गई थी। नेता प्रतिपक्ष ने आरोप लगाया कि सरकार ने जानबूझकर उस विशेष कमेटी की रिपोर्ट सदन में पेश नहीं किया।कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनFoods For Platelets: ब्लड प्लेटलेट काउंट बढ़ाने के लिए चुकंदर, अनार सहित इन फलों को डाइट में करें शामिल और फिर देखें कमाल******Highlights ब्लड में प्लेटलेट्स की कमी को थ्रोम्बोसाइटोपेनिया के नाम से जाना जाता है। अगर ब्लडप्लेटलेट की संख्या में कमी हो जाए, तो ब्लड के थक्के नहीं बनते हैं, जो एक गंभीर स्थिति है। ब्लड में प्लेटलेट्स की कमी की वजह से शरीर कमजोर होकर बहुत जल्द थकने लगता है और हल्की चोट लगने पर हैवी ब्लीडिंग होती है साथ ही मसूड़ों से खून आना भी इसके लक्षणोंमें से एक है। कुछ मरीजों की प्लेटलेट्स की कमी से मौत तक हो जाती है, तो इस समस्या को मामूली समझने की गलती कभी भी न करें। ब्लड में प्लेटलेट्स को बढ़ाने के लिए आपको अपने जीवनशैली में मामूली बदलाव करने होंगे। इस बताए गए इन कुछ फलोंको अपनी डाइट में शामिल कर प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ा सकते हैं।एक स्वस्थ व्यक्ति में सामान्य प्लेटलेट काउंट 150 हजार से 450 हजार प्रति माइक्रोलीटर होता है। जब यह काउंट 150 हजार प्रति माइक्रोलीटर से नीचे चला जाता है तो इसे लो प्लेटलेट माना जाता है।शरीर में प्लेटलेट्स कम होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं, जैसे- डेंगू, बैक्टीरियल संक्रमण, आईडियोपैथिक थ्रोम्बोसाइटोपेनिक पुरपुरा, हीमोलिटिक यूरेमिक सिंड्रोम ,हाइपरस्प्लेनिज्म जैसी बीमारी।प्लेटलेट्स कम होने पर डॉक्टर सबसे ज्यादा पपीता खाने की सलाह देते हैं। क्योंकि इसका असर बहुत जल्द देखने को मिलता है। वैसे पपीता का सेवन करने के अलावा आप इसकी पत्तियों का रस भी पिएं तो फायदेमंद रहेगा। पपीता की पत्तियों से निकले रस का इस्तेमाल डेंगू के मरीजों को भी पीने की सलाह दी जाती है।चुकंदर के सेवन से इम्युनिटी तो स्ट्रांग होती ही है, लेकिन उसके साथ ही प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से बढ़ने लगती है। इसके साथ ही चुकंदर आयरन, एंटीऑक्सीडेंट और हेमोस्टेटिक जैसे गुणों से भरपूर होता है। चुकंदर का जूस, सूप या सलाद किसी भी तरह से खाएं ये आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है।खजूर भी ब्लड प्लेटलेट्स काउंट बढ़ाने में बेहद मददगार है। इसमें आयरन के अलावा और भी कई ज़रूरी पोषक तत्व शामिल होते हैं। अगर प्लेटलेट्स कम हो गए हैं, तो सुबह खाली पेट खजूर का सेवन करना शुरू कर दें।जब भी कोई व्यक्ति बीमार होता है तो सबसे पहले उसको अनार का सेवन खाने की सलाह दी जाती है। अनार खाना हमारी बीमारियों को ही दूर नहीं करता है, बल्कि यह सेहत के लिए भी बेहद असरदार होता है। अनार में फाइबर, विटामिन के,सी, और बी, आयरन, पोटेशियम, जिंक और ओमेगा-6 फैटी एसिड होते हैं, साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी के साथ ही इम्यूनिटी बढ़ाने वाले तत्व भी शामिल होते हैं। ऐसे में प्लेटलेट्स की कमी से जूझ रहे मरीजों को अनार खासतौर से अपने खानपान में शामिल करना चाहिए। अनार का जूस पीना भी फायदेमंद होता है।कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनशरद पवार के घर के बाहर MSRTC के कर्मचारियों का प्रदर्शन, नेमप्लेट पर मारी चप्पलें, सुप्रिया सुले ने जोड़ा हाथ******Highlightsमहाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (MSRTC) के 100 से अधिक हड़ताली कर्मचारियों ने शुक्रवार को मुंबई में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रमुख शरद पवार के घर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया और उनके खिलाफ नारेबाजी की। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि पवार ने उनके मुद्दों को सुलझाने के लिये कुछ नहीं किया। दोपहर करीब 3 बजे दक्षिण मुंबई में पेडर रोड स्थित पवार के आवास ‘सिल्वर ओक’ के बाहर प्रदर्शनकारी जमा होने से पुलिस हैरान रह गई। कर्मचारियों ने कहा कि वे राज्य सरकार के साथ निगम के विलय की अपनी मांग पर कायम हैं।MSRTC के हजारों कर्मचारी खुद को राज्य सरकार के कर्मचारियों का दर्जा देने और निगम के विलय की मांग को लेकर नवंबर 2021 से हड़ताल पर हैं। 3 दलों शिवेसना, एनसीपी और कांग्रेस की गठबंधन सरकार में परिवहन मंत्रालय NCP के पास है और अनिल परब परिवहन मंत्री हैं। पवार की बेटी और लोकसभा सदस्य सुप्रिया सुले ने घर के बाहर प्रदर्शनकारियों को हाथ जोड़कर समझाने की कोशिश की और कहा कि वह उनसे बात करने के लिए तैयार हैं, लेकिन उन्हें पहले यह देखना है कि अंदर मौजूद उनके माता-पिता सुरक्षित हैं।पुलिस ने बाद में कई प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया और उन्हें अपने साथ ले गई, जबकि घर के बाहर अतिरिक्त बल तैनात कर दिया गया। बॉम्बे हाई कोर्ट ने गुरुवार को हड़ताली कर्मचारियों को 22 अप्रैल तक काम पर लौटने का निर्देश दिया है। कोर्ट के आदेश के बाद परिवहन मंत्री ने आश्वासन दिया था कि हाई कोर्ट द्वारा निर्धारित समय सीमा के भीतर काम पर लौटने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। हालांकि शुक्रवार दोपहर प्रदर्शनकारी पवार के आ‍वास पहुंचे और उनके खिलाफ नारेबाजी की।कुछ कर्मचारियों ने पवार के आवास पर लगी उनकी नेमप्लेट पर जूते-चप्पल भी मारे। MSRTC के एक हड़ताली कर्मचारी ने कहा, ‘हड़ताल के दौरान MSRTC के लगभग 120 कर्मचारी आत्महत्या कर चुके हैं। हम राज्य सरकार के साथ निगम के विलय की मांग पर कायम हैं। NCP प्रमुख शरद पवार ने हमारे मुद्दों को सुलझाने के लिये कुछ नहीं किया।' एक और प्रदर्शनकारी ने कहा, 'हम बॉम्बे हाई कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं, लेकिन हम राज्य सरकार से इस मुद्दे पर बात कर रहे हैं, जिसे जनता ने चुना है।’प्रदर्शनकारी ने कहा, ‘चुनी हुई सरकार ने हमारे लिये कुछ नहीं किया। इस सरकार के चाणक्य शरद पवार भी हमें हुए नुकसान के लिये जिम्मेदार हैं।’ सुले ने प्रदर्शनकारियों से गुहार लगाते हुए कहा, ‘मैं आपके साथ बातचीत करने के लिए तैयार हूं। कृपया सहयोग करें। मेरे पिता, मां और बेटी घर के अंदर हैं। मैं आपके साथ बातचीत करने के लिए तैयार हूं। मुझे पहले उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने दें।’ जॉइंट पुलिस कमिश्नर (लॉ ऐंड ऑर्डर) विश्वास नांगरे-पाटिल भी मौके पर पहुंचे।एनसीपी नेता व महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वालसे-पाटिल ने कहा कि कर्मचारियों को कानून अपने हाथ में नहीं लेना चाहिए था। उन्होंने ट्वीट किया, ‘विरोध प्रदर्शन ने जो अवांछनीय मोड़ ले लिया है वह ठीक नहीं है। मुंबई में NCP प्रमुख शरद पवार के आवास के बाहर प्रदर्शन अनावश्यक था।’ उन्होंने किसी का नाम लिये बिना कहा कि अच्छी तरह से पता है कि इन प्रदर्शनकारियों को कौन उकसा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिये तैयार है।बीजेपी नेता प्रवीण दारेकर ने कहा कि राज्य में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की 'झांसा देने वाली' सरकार है। उन्होंने कहा, 'MSRTC के 100 से अधिक कर्मचारियों की जान जा चुकी है, लेकिन राज्य सरकार गतिरोध को खत्म करने के लिए कभी गंभीर नहीं दिखी। मंत्री अनिल परब और अजीत पवार ने कई बार कर्मचारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की चेतावनी दी। यह अहंकार कर्मचारी भूल नहीं पाए हैं।' को महाराष्ट्र की सत्तारूढ़ गठबंधन महा विकास आघाड़ी (MVA) का मुख्य शिल्पकार माना जाता है, जिसने 2019 में सरकार बनाई थी।

कोविड-19 के सात और टीके विकसित कर रहा है भारत: स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन

कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनशहनाज गिल पर ऐसा क्या लिख दिया आसिम ने जो लोग कहने लगे 'SHAME ON ASIM RIAZ'******Highlightsसिद्धार्थ शुक्ला की मौत के बाद शहनाज गिल काफी उदास रहने लगी थीं। सभी को उनकी चिंता होने लगी थी। उनकी मौत के बाद जब जब शहनाज गिल को सोशल प्लेसेज पर देखा गया तो उनके चेहरे से वो हंसी गायब थी जो सिद्धार्थ के साथ देखने को मिलती थी, लेकिन धीरे धीरे शहनाज इससे उबरने की कोशिश कर रही हैं। हाल ही में वो अपने दोस्त की सगाई में स्पॉट में की गईं। काफी वक्त बाद शहनाज को दोस्तों के साथ हंसते-मुस्कुराते देख कर उनके फैंस काफी खुश हैं।इतना ही नही पार्टी में शहनाज गिल को डांस करते हुए भी देखा गया, जिसका वीडियो वायरल हो रहा है। इसी बीच आसिम रियाज ने भी इसे लेकर ट्वीट किया है।इस ट्वीट में आसिम ने लिखा कि मैंने कुछ डांसिंग क्लिप्स देखीं...सच में लोग इतनी जल्दी अपने चाहनेवालों से उबर जाते हैं.. क्या बात... क्या बात...#Newworldइस ट्वीट के बाद से ट्विटर पर #SHAMEONASIMRIAZ और #ShehnaazKiMarzi ट्रेंड करने लगा है। लोग आसिम के इस ट्वीट पर उन्हें ट्रोल कर रहे हैं।दरअसल अपने एक दोस्त की इंगेजमेंट पार्टी में पहुंचीं, जहां उन्हें एंजॉय करते देख उनके फैन्स काफी खुश हुए। साथ ही उन्होंने वहां अपने दोस्तों के साथ खूब मस्ती की और 'जिंगाट' गाने पर डांस भी किया।कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनRajasthan News: सेना पर आरोप लगाना कांग्रेस का स्वभाव, अर्धसैनिक बलों के अपमान के लिए माफी मांगे अशोक गहलोत: BJP******Highlights जयपुर ग्रामीण सीट से सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने मंगलवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से स्वतंत्रता दिवस पर अर्धसैनिक बलों का अपमान करने के लिए माफी मांगने को कहा है। उन्होंने कहा कि सेना पर आरोप लगाना कांग्रेस का स्वभाव है और गहलोत इस परंपरा को आगे बढा रहे हैं। यह बयान उनकी विकृत मानसिकता को दर्शाता है। गहलोत ने आरोप लगाया था कि भाजपा अपने कार्यालयों तक धन पहुंचाने के लिए अर्धसैनिक बलों और पुलिस बलों के वाहनों का दुरूपयोग करती है। राठौड़ ने मंगलवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ''स्वतंत्रता दिवस पर अर्धसैनिक बलों के अपमान के लिये मुख्यमंत्री को माफी मांगनी चाहिए। सेना पर आरोप लगाना कांग्रेस का स्वभाव है और गहलोत इस परंपरा को आगे बढा रहे है। बयान उनकी विकृत मानसिकता को दर्शाता है।''गहलोत ने माताओं का भी अपमान किया: राठौड़उन्होंने कहा कि यह न केवल सैनिकों का बल्कि उनकी माताओं का भी अपमान है। उन कांग्रेस कार्यकर्ताओं को शर्म आनी चाहिए जो गहलोत साहब के बयान पर ताली बजा रहे थे। राठौड़ ने कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति खराब हो गई है और महिलाओं और दलितों पर अत्याचार बढ़ रहे हैं।अशोक गहलोत ने क्या कहा?बता दें, राजस्थान के मुख्यमंत्री और कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने भारतीय जनता पार्टी ( BJP) पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा था कि केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी अपने दफ्तरों में 'अवैध धन' लाने के ल‍िए अर्धसैनिक बलों के ट्रकों का दुरुपयोग करती है।पुलिस की गाड़ी से लाए जाते हैं पैसे: गहलोतअशोक गहलोत ने सोमवार को जयपुर में शहीद स्मारक पर स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में कांग्रेस द्वारा आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, “ये (भाजपा वाले) क्या करते हैं, मालूम है आपको? ये अर्धसैनिक बलों या पुलिस वालों को पकड़ते हैं, जहां इनकी सरकारें होती हैं। ट्रक में बक्‍से भरकर पैसा लाते हैं, उसे भाजपा के दफ्तर के पिछले हिस्से में ले जाते हैं और फिर बक्से उतारकर अंदर पहुंचाते हैं। गाड़ी पुलिस की होती है, उसे पकड़े कौन? लोग सोचते हैं इनके रंगरूट आए होंगे मदद करने।''

कोविड-19 के सात और टीके विकसित कर रहा है भारत: स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन

कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनबैंक के कामकाज में मिली गड़बड़ियां, RBI ने लगाया एक करोड़ रुपये का जुर्माना******बैंक के कामकाज में मिली गड़बड़ियां, RBI ने लगाया एक करोड़ रुपये का जुर्मानाने बृहस्पतिवार को बताया कि उसने सहकारी क्षेत्र के कोऑपरेटिव राबोबैंक यू.ए. पर नियामकीय अनुपालन में खामियां बरते जाने को लेकर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। आरबीआई ने एक वक्तव्य में बताया कि बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 के कुछ प्रावधानों और 'आरक्षित निधियों के हस्तांतरण' से संबंधित निर्देशों का उल्लंघन करने पर यह जुर्माना लगाया गया है।पढ़ें- पढ़ें-केंद्रीय बैंक ने कहा कि उसने 31 मार्च, 2020 तक बैंक की वित्तीय स्थिति को लेकर पर्यवेक्षी मूल्यांकन सांविधिक जांच (आईएसई) जांच की थी। जिसमे कंपनी द्वारा बैंकिंग विनियमन अधिनियम के प्रावधानों और आरबीआई द्वारा जारी निर्देशों का उल्लंघन पाया गया। आरबीआई ने इस संबंध में बैंक को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है। वक्तव्य में कहा गया है कि नोटिस पर मिले बैंक के जवाब और व्यक्तिगत सुनवाई में मिले जवाब और उसके बाद बैंक द्वारा दी गई अतिरिक्त जानकारी के बाद रिजर्व बैंक इस नतीजे पर पहुंचा की नियमों का उल्लंघन हुआ है और बेंक पर मौद्रिक जुर्माना लगाना वाजिब है।पढ़ें-पढ़ें-एक अन्य वक्तव्य में रिजर्व बैंक ने कहा कि कोलकाता की विलेज फाइनेंसियल सविर्सिज पर अपने ग्राहक को जानों नियमों के कुछ प्रावधानों का अनुपालन नहीं करने पर पांच लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। केन्द्रीय बैंक ने यह भी बताया कि उसने अहमदनगर मर्चेट को-आपरेटिव बैंक पर 13 लाख, अहमदाबाद के महिला विकास को-अपरेटिव बैंक पर दो लाख रुपये का जुर्माना लगाया है।

कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनGhaziabad Encounters: गाजियाबाद में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, 1.5 लाख रुपए के 2 इनामी ढेर******Highlightsयूपी के गाजियाबाद में पुलिस एनकाउंटर में 2 इनामी बदमाश मारे गए हैं। ये एनकाउंटर शुक्रवार रात हुआ है। मारे गए बदमाशों का नाम राकेश और बिल्लू उर्फ अवनीश है। राकेश पर 50 हजार रुपए का इनाम था, वहीं बिल्लू पर एक लाख रुपए का इनाम था। ये दोनों ही बदमाश गौतमबुद्ध नगर के बादलपुर थाना क्षेत्र के दुजाना गांव के रहने वाले थे।इन दोनों बदमाशों को मार गिराने के लिए दो अलग-अलग जगह पर मुठभेड़ हुई है। पहली मुठभेड़ गाजियाबाद (Ghaziabad) के मधुबन बापूधाम में हुई। यहां पुलिस ने बदमाश राकेश को घेरा तो उसने पुलिस पर फायरिंग कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में राकेश मारा गया। वो कई मामलों में आरोपी था और उसकी खोज चल रही थी।दूसरा मुठभेड़ का मामला इंदिरापुरम थाना क्षेत्र से सामने आया। इस मुठभेड़ में पुलिस ने बिल्लू उर्फ अवनीश को मार गिराया। वह अनिल गैंग का सदस्य बताया जा रहा है।कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनSSC MTS Tier-2: एसएससी एमटीएस टियर-2 एग्जाम के एडमिट कार्ड जारी, ऐसे करें चेक****** कर्मचारी चयन आयोग (SSC) ने एमटीएस (MTS) पदों पर भर्तियों के लिए आयोजित की जानें वाली टियर-2 परीक्षा का एडमिट कार्ड ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी कर दिया है। एसएससी (SSC) एमटीएस (MTS) टियर-2 की परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थी आयोग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर अपना एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं। आयोग की ऑफिशियल वेबसाइट sscnr.net.in पर एडमिट कार्ड डाउनलोड करने का पूरा स्टेप्स दिया गया है।कर्मचारी चयन आयोग की तरफ से एसएससी एमटीएस टियर-2 की परीक्षा विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर 24 नवंबर को आयोजित की जाएगी। टियर-2 की परीक्षा में सफल होने वाले अभ्यर्थियों को डॉक्यूमेंट्स वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाएगा।एसएससी एमटीएस टियर-1 परीक्षा के लिए कुल 38.58 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। जबकि एग्जाम में कुल 19.18 लाख अभ्यर्थी शामिल हुए थे। वही टियर-2 एग्जाम के लिए कुल 1,20,713 अभ्यर्थी सफल हुए हैं।

कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनट्रैफिक चालान: 15 साल से ज्यादा पुरानी कार चलाने पर नही होगा चालान, परिवहन मंत्रालय ने जारी की अधिसूचना******ट्रैफिक चालान: 15 साल से ज्यादा पुरानी कार चलाने पर नही होगा चालान, परिवहन मंत्रालय ने जारी की अधिसूचनानई दिल्ली: आप 15 साल से ज्यादा पुराना वाहन चाल पाएंगे आपका ट्रैफिक चालान नही कटेगा। इसे लेकर आज सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय बड़ी अधिसूचना जारी की है। अधिसूचना के अनुसार अप्रैल 2022 सेवाहन मालिकों को 15 साल से अधिक पुरानी कारों के रजिस्ट्रेशनके रिन्यूव्लके लिए 5,000 रुपये का भुगतान करना होगा, जो कि वर्तमान में भुगतान की तुलना में आठ गुना अधिक है। सड़क परिवहन और राजमार्गमंत्रालय ने पुराने वाहनों के पंजीकरण के प्रमाण पत्र के नवीनीकरण के लिए एक अधिसूचना जारी की है और यह नया नियम राष्ट्रीय ऑटोमोबाइल स्क्रैपेज नीति को लागू करने की सरकार की समग्र योजना का हिस्सा है।अधिसूचना के अनुसार, 15 साल से अधिक पुरानी बस या ट्रक के लिए फिटनेस प्रमाण पत्र के नवीनीकरण के लिए वर्तमान में वाणिज्यिक वाहनों के मालिकों को पहले की तुलना में लगभग आठ गुना अधिक शुल्क देनाहोगा। 15 साल पुरानी कार के रजिस्ट्रेशन रिन्यूअल का चार्ज मौजूदा 600 रुपये के मुकाबले 5,000 रुपये होगा, वहीं पुरानी बाइक्स के रजिस्ट्रेशन रिन्यूअल का चार्ज मौजूदा 300 रुपये की तुलना में 1,000 रुपये होगा। इसीतरह, 15 साल से अधिक की बस या ट्रक के लिए फिटनेस नवीनीकरण प्रमाणपत्र की कीमत 1,500 रुपये के मौजूदा शुल्क से 12,500 रुपये होगी, जबकि मध्यम माल या यात्री मोटर वाहन के मामले में इसकी कीमत10,000 रुपये होगी। आयातित बाइक और कारों के पंजीकरण के नवीनीकरण पर क्रमशः 10,000 रुपये और 40,000 रुपये खर्च होंगे।अधिसूचना के अनुसार, इन नियमों को केंद्रीय मोटर वाहन (23वां संशोधन) नियम, 2021 कहा जा सकता है, और यह 1 अप्रैल, 2022 से लागू होंगे। अधिसूचना में देरी के प्रत्येक दिन के लिए 50 रुपये का अतिरिक्त शुल्कदेना होगा जो फिटनेस प्रमाण पत्र की समाप्ति पर लगाया जाएगा। इसमेंयह भी कहा गया हैकि अगर पंजीकरण प्रमाणपत्र स्मार्ट कार्ड की तरह का मामला है तो 200 रुपये का अतिरिक्त शुल्क लगाया जाएगा।अधिसूचना के अनुसार, पंजीकरण प्रमाण पत्र के नवीनीकरण के लिए आवेदन करने में देरी के मामले में, निजी वाहनों के मामले में हर महीने की देरी के लिए 300 रुपये और वाणिज्यिक वाहनों के मामले में हर महीने की देरीके लिए 500 रुपये का अतिरिक्त शुल्क लगाया जाएगा।इस साल अगस्त में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई राष्ट्रीय ऑटोमोबाइल स्क्रैपेज नीति के तहत, भारी वाणिज्यिक वाहनों के लिए अनिवार्य फिटनेस परीक्षण 1 अप्रैल, 2023 से लागू होने की संभावना है, और इसेचरणबद्ध तरीके से अन्य श्रेणियों के लिए 1 जून, 2024 से लागू किया जाएगा।दिल्ली के मामले में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने 10 साल से अधिक पुराने सभी डीजल वाहनों के सड़कों पर चलने पर प्रतिबंध लगाने का आदेश पारित किया है। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, वाहन स्क्रैपिंग नीति में, वाहन मालिकों को पुराने और प्रदूषणकारी वाहनों को त्यागने के लिए प्रोत्साहन और हतोत्साहन की एक प्रणाली का प्रस्ताव है, जिनके रखरखाव और ईंधन की खपत की लागत अधिक है।इसमें कहा गया है कि एक प्रोत्साहन के रूप में रद्द किए जा रहे वाहन के लिए पंजीकृत वाहन स्क्रैपिंग सुविधा द्वारा जारी जमा प्रमाणपत्र (सीओडी) के अधिकार के खिलाफ खरीदे गए नए वाहन के लिए पंजीकरण प्रमाण पत्र जारी करने के लिए शुल्क में छूट दी जाएगी। वहीं दंडात्मक कार्रवाई के संबंध में कहा गया है कि 15 साल से अधिक पुराने मोटर वाहनों के लिए फिटनेस टेस्ट और फिटनेस सर्टिफिकेट के नवीनीकरण के लिए शुल्क में वृद्धि होगी। इसके अलावा, 15 वर्ष से अधिक पुराने निजी वाहनों (गैर-परिवहन वाहनों) के लिए पंजीकरण शुल्क के नवीनीकरण में भी वृद्धि होगी।कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनHarbhajan on Sreesanth Slapgate: श्रीसंत थप्पड़ कांड, इस गलती को सुधारना चाहते हैं हरभजन******Highlightsलगता है हरभजन सिंह क्रिकेट पिच से दूर होने के बाद अपने ऊपर कोई बोझ नहीं रखना चाहते। तभी तो, वह डेढ़ दशक पहले हुई घटना के लिए श्रीसंत से माफी मांग रहे हैं। आईपीएल के पहले सीजन 2008 में भज्जी ने मैदान पर सरेआम श्रीसंत को थप्पड़ मारा था, जिसके बाद श्रीसंत मैदान पर रोते हुए दिखे थे। पूर्व भारतीय फिरकी गेंदबाज ने अपनी गलती मानते हुए इस घटना पर अफसोस जाहिर किया है। उन्होंने अपने दुख का इजहार करते हुए माना कि उनसे गलती हुई, श्रीसंत को थप्पड़ मारने का उन्हें गहरा मलाल है।हरभजन सिंह मैदान पर हमेशा खुलकर अपनी भावनाओं का इजहार करने के लिए चर्चा में रहे। चाहे मंकीगेट हो या श्रीसंत थप्पड़ कांड, वह सुर्खियों में रहे। लिहाजा वह कहते हैं, “मैदान में हमेशा आप खेल से जुड़ी भावनाओं के साथ जाते हैं, लेकिन यह नियंत्रण में होना चाहिए। उस दिन जो भी हुआ वह मेरी गलती थी।” आईपीएल के 2008 सीजन में हरभजन सिंह मुंबई इंडियंस का हिस्सा थे, वहीं श्रीसंत किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेल रहे थे, जिसकी कप्तानी युवराज सिंह के हाथों में थी।हरभजन पर पूरे सीजन के लिए लगा प्रतिबंधआईपीएल गवर्निंग काउंसिल और बीसीसीआई ने इस मामले का तुरंत संज्ञान लिया था। श्रीसंत को थप्पड़ मारने के बाद में भज्जी को आईपीएल के पहले सीजन में आगे खेले जाने वाले तमाम 11 मैचों के लिए बैन कर दिया गया था। हालांकि हरभजन ने पहले भी इस घटना पर अफसोस जाहिर किया है, लेकिन वह हर मौके पर श्रीसंत को एक नौटंकीबाज खिलाड़ी कहने से भी नहीं चूकते थे। ऐसे में, इस बार भज्जी की गलती का इकरार ज्यादा साफ और खुले दिल वाला नजर आता है।श्रीसंत थप्पड़ कांड को भारतीय टी20 लीग के सबसे विवादित घटना के तौर पर देखा जाता है। हरभजन सिंह को इस घटना का शायद सबसे ज्यादा मलाल है। वह कहते हैं, “मैं अगर अपने जीवन की किसी गलती को सुधारना चाहता हूं, तो वह है श्रीसंत के साथ मेरा खराब व्यवहार। यह नहीं होना चाहिए था। मैं जब इसके बारे में सोचता हूं तो मुझे लगता है कि इसकी जरूरत नहीं थी।”हालांकि, इस घटना के कुछ दिनों के बाद मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने एक डिनर पर भज्जी और श्रीसंत की मुलाकात करवाई थी, जिससे दोनों खिलाड़ियों में सुलह भी हो गई। 2011 वर्ल्ड कप में दोनों ने टीम इंडिया की जीत में एकसाथ अहम योगदान भी दिया, लेकिन भज्जी ने 14 साल बाद फैंस के सामने आकर सीधे दिल से अपनी गलती का इकरार किया है।

कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनक्या अगली फिल्म में सलमान खान के भाई का किरदार निभाएंगे आसिम रियाज? जानें पूरी बात******बिग बॉस 13 के आसिम रियाज इन दिनों सुर्खियों में हैं। बैक-टू-बैक म्यूजिक वीडियो के बाद, उन्होंने कथित तौर पर सलमान खान की अगली फिल्म में एक महत्वपूर्ण भूमिका हासिल करके एक जैकपॉट हासिल किया है। रिपोर्ट्स की माने तो आसिम बॉलीवुड सुपरस्टार के छोटे भाई की भूमिका निभाएंगे। हालांकि, अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।सलमान खान ने हाल ही में घोषणा की थी कि उनकी आने वाली फिल्म कभी ईद कभी दीवाली ईद 2023 पर रिलीज होगी। इस बीच, रिपोर्ट की मानें तो, आसिम एक फिल्म में सलमान के छोटे भाई की भूमिका निभाएंगे। हालांकि, यह निश्चित नहीं है कि यह कौन सी फिल्म है? फिल्म की शूटिंग इस साल नवंबर के मध्य में शुरू होगी।असीम रियाज़ इन दिनों अपने म्यूजिक वीडियो में व्यस्त हैं। आसिम इन दिनों बिग बॉस 13 में अपनी साथी कंटेस्टेंट हिमांशी खुराना को डेट कर रहे हैं। हाल ही में उनके भाई उमर रियाज बिग बॉस 15 में नजर आए थे।वहीं सलमान खान की फिल्म कभी ईद कभी दीवाली की हाल ही में रिलीज का ऐलान किया गया है। यह फिल्म सलमान, वेंकटेश और पूजा हेगड़े के इर्द-गिर्द घूमती एक पारिवारिक कॉमेडी बताई जा रही है।कोविड19केसातऔरटीकेविकसितकररहाहैभारतस्वास्थ्यमंत्रीहर्षवर्धनICC U19 WC: क्वार्टर फाइनल मुकाबले से पहले भारतीय टीम को लगा झटका, टूर्नामेंट से बाहर हुआ यह खिलाड़ी******Highlightsअंडर-19 विश्व कप के क्वार्टर फाइनल मुकाबले से ठीक पहले भारतीय टीम में एक बड़े बदलाव की मंजूरी मिल गई है। आईसीसी की टेक्निकल कमेटी ने शनिवार को भारतीय टीम में वासु वत्स की जगह आराध्य यादव को शामिल करने की मंजूरी दी है।दरअसल वासु हैमस्ट्रिंग चोट के कारण टूर्नामेंट में अब हिस्सा नहीं ले पाएंगे। यही कारण है कि टीम इंडिया को अपने खेमे में बदलाव करना पड़ा है। क्वार्टर फाइनल में भारत का सामना आज डिफेंडिंग चैंपियन बांग्लादेश के साथ है।इस बदलाव को लेकर एक आधिकारिक बयान जारी किया गया है जिसमें वासु की जगह आराध्य यादव के नाम को शामिल किया है।टूर्नामेंट में वासु को सिर्फ एक मैच में खेलने का मौका मिला जिसमें उन्होंने चार ओवर की गेंदबाजी की थी। इस दौरान उन्होंने 18 रन खर्च कर एक विकेट हासिल किया था।आपको बता दें कि भारतीय टीम टूर्नामेंट में अब तक कुल तीन मैच खेल चुकी है और टीम ने तीनों ही मुकाबले में जीत दर्ज की है। भारत का आईसीसी अंडर 19 विश्व कप में पहला मुकाबला साउथ अफ्रीका के साथ था। इस मैच में टीम इंडिया ने 45 रन से जीत दर्ज की थी।वहीं अपने दूसरे मैच में टीम इंडिया ने आयरलैंड को 174 रन से मात दी थी जबकि यूगांडा को उसने 326 रन से हराया था।

हाल का ध्यान

लिंक