वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > होहोट > मूलपाठ

Ranji Trophy Final: रजत पाटीदार ने की मध्य प्रदेश की ताजपोशी तय, अंतिम दिन होगी रस्म अदायगी

2022-10-04 16:30:48 होहोट

रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीUP Election 2022: गोंडा सीट पर बीजेपी के प्रतीक भूषण सिंह चल रहे हैं आगे******विधानसभा सीट पर भी वोटों की गिनती चल रही है। अभी तक मिले सबसे ताजा रुझानों के मुताबिक, भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदवार प्रतीक भूषण सिंह, समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार सूरज सिंह से आगे चल रहे हैं।बहुजन समाज पार्टी के मोहम्मद जकी लड़ाई में पिछड़ गए हैं। बता दें कि इस बार समाजवादी पार्टी ने राष्ट्रीय लोक दल के अलावा कई छोटी-छोटी पार्टियों से गठबंधन किया है। यह सीट राज्य के गोंडा जिले में आती है।गोंडा सीट उत्तर प्रदेश की महत्वपूर्ण विधानसभा सीट है, जहां 2017 में भारतीय जनता पार्टी ने जीत दर्ज की थी। भारतीय जनता पार्टी के प्रतीक भूषण सिंह ने पिछला विधानसभा चुनाव जीता था। इस सीट पर बीजेपी के अलावा सपा और बसपा भी चुनाव जीत चुकी हैं। 2012 में सपा और 2007 में बसपा प्रत्याशी ने चुनावी मैदान में जीत दर्ज की थी। 2017 के चुनाव में गोंडा जनपद की सभी 7 विधानसभा सीटों पर भाजपा ने जीत दर्ज की थी।गोंडा सदर विधानसभा में आजादी के बाद शुरुआती दौर में कांग्रेस का ही बोलबाला रहा है। कांग्रेस से रघुराज उपाध्याय ने 1980, 1985 से 1989 में लगातार तीन बार जीत की हैट्रिक लगाई थी। वहीं कांग्रेस के ही टिकट पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ईश्वर शरण सिंह दो बार विजई हुए थे।गोंडा विधानसभा सीट पर 2017 में कुल 30.10 प्रतिशत वोट पड़े। 2017 में भारतीय जनता पार्टी से प्रतीक भूषण सिंह ने बहुजन समाज पार्टी के मोहम्मद जलील खान को 11678 वोटों के मार्जिन से हराया था। बसपा के मोहम्मद जलील खान दूसरे स्थान पर रहे थे। उन्हें 46,576 वोट मिले थे, जो कुल मतदान का 24.06% था।

रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीRussia Online Network: रूस ने अपनी ऑनलाइन गतिविधियों पर नकेल कसी, वैश्विक इंटरनेट को खतरा******Highlights फरवरी 2022 में यूक्रेन पर आक्रमण करने के बाद से रूसी इंटरनेट उपयोगकर्ता डिजिटल नियंत्रण (डिजिटल आयरन कर्टेन) के बढ़ने का अनुभव कर रहे हैं। ‘डिजिटल आयरन कर्टेन’, सोशल मीडिया पर एक राजनीतिक, सैन्य और वैचारिक अवरोधक है जो किसी खास क्षेत्र या वर्ग से अलग कर देता है। रूसी प्राधिकारियों ने सभी प्रमुख विपक्षी समाचार साइट के साथ फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर तक पहुंच अवरुद्ध कर दी। फर्जी खबरों से निपटने के लिए नए कठोर कानूनों के तहत इंटरनेट उपयोगकर्ताओं ने यूक्रेन में रूस की कार्रवाई के बारे में कथित तौर पर ऑनलाइन भ्रामक सूचना फैलाने के लिए प्रशासनिक और आपराधिक आरोपों का सामना किया।रूस में VPN ब्लॉकएअरबीएनबी से लेकर एप्पल तक प्रमुख पश्चिमी प्रौद्योगिकी कंपनियों ने रूस में अपनी गतिविधियों को सीमित कर दिया। कई रूसियों ने युद्ध के पहले सप्ताह में प्रतिबंधित साइट और सेवाओं तक पहुंच बनाने की कोशिश करने के लिए वर्चुअल निजी नेटवर्क सॉफ्टवेयर डाउनलोड किया। अप्रैल के अंत तक 23 प्रतिशत रूसी इंटरनेट उपयोगकर्ताओं ने अलग-अलग नियमितता के साथ वीपीएन का इस्तेमाल करने की सूचना दी थी। सरकारी मीडिया पर निगरानी रखने वाले रोस्कोमनाद्जोर लोगों को सरकार की सेंसरशिप का उल्लंघन करने से रोकने के लिए वीपीएन को ब्लॉक कर रही है और उसने जून 2022 में अपने प्रयास बढ़ा दिए।डिजिटल संप्रभुता के अग्रणीरूस ने 1990 की शुरुआत से सूचना और दूरसंचार पर सरकारी संप्रभुता बरकरार रखने की पैरवी की थी। शीत युद्ध के बाद कमजोर पड़ गया रूस आर्थिक, प्रौद्योगिकी या सैन्य स्तर पर अमेरिका के साथ प्रतिस्पर्धा नहीं कर सका। इसके बजाय रूसी नेताओं ने अमेरिका के बढ़ते वैश्विक प्रभाव को रोकने और रूस की महान शक्ति की स्थिति को बनाए रखने का आह्वान किया। साल 2000 में अपनी शक्तियों के फिर से उभरने को प्रदर्शित करने के लिए चीन की सेना के साथ रूस इंटरनेट संप्रभुत्ता के लिए वैश्विक आंदोलन की अगुवाई में शामिल हो गया। पुतिन के मार्च 2012 में राष्ट्रपति बनने के बाद क्रेमलिन ने रूसी साइबरस्पेस पर नियंत्रण करने पर अपना ध्यान लगाया।संप्रभु इंटरनेट कानूनअप्रैल 2019 में रूसी प्राधिकारियों तथाकथित संप्रभु इंटरनेट कानून के साथ डिजिटल संप्रभुत्ता के लिए अपनी आकांक्षाओं को अन्य स्तर पर ले गयी। इस कानून ने व्यक्तिगत उपयोगकर्ताओं के दुरुपयोग और इंटरनेट समुदाय को अलग-थलग करने का द्वार खोल दिया। इस कानून के पारित होने पर पुतिन ने यह दलील देते हुए राष्ट्रीय डीएनएस पर स्पष्टीकरण दिया कि अगर आईसीएएनएन शत्रुतापूर्ण कार्रवाई करते हुए रूस को वैश्विक इंटरनेट से अलग कर देता है तो यह रूसी इंटरनेट को काम करने देगा। उल्लेखनीय है कि डीएनएस वैश्विक इंटरनेट कोर डेटाबेस है।वैश्विक इंटरनेट को विभाजित करनारूस-यूक्रेन युद्ध ने वैश्विक इंटरनेट की अक्षुण्णता को रूसी कार्रवाई और पश्चिमी देशों में प्रौद्योगिकी कंपनियों के कदमों को कमतर कर दिया है। एक अभूतपूर्व कदम उठाते हुए सोशल मीडिया ने रूस की सरकारी मीडिया तक पहुंच को अवरुद्ध कर दिया। हालांकि, युद्ध क्षेत्र में इस पर लड़ाई नहीं लड़ी जा सकती है लेकिन वैश्विक ‘इंटरकनेक्टिविटी’ एक ऐसी चीज हो गई है जो रूस-यूक्रेन युद्ध में दाव पर लगी गई है।रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीDaroga Viral Audio: देवरिया में एसपी ने की बड़ी कार्रवाई, यौन शोषण का ऑडियो वायरल होने के बाद दरोगा सस्पेंड******Highlights उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में तैनात एक सीनियर सब इंस्पेक्टर का एक महिला फरियादी से बातचीत का ऑडियो सामने आने के बाद हड़कंप मचा हुआ है। वायरल हुए ऑडियो में जिले के कोतवाली थाने में तैनात दरोगा बदरुद्दीन द्वारा काम करन की एवज में यौन शोषण की बात सामने आई है। महिला से बातचीत का यह ऑडियो सामने आने के बाद दरोगा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है और मामले की जांच की जा रही है।देवरिया के पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने शनिवार को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि सीनियर सब इंस्पेक्टर बदरुद्दीन का एक मुस्लिम महिला फरियादी के बीच हुई बातचीत का हो रहा है। उन्होंने कहा कि इस ऑडियो में महिला आरोप लगा रही है कि ‘दरोगा जी आपने मेरी इज्जत भी ले ली, लेकिन आपने मेरा काम नहीं किया।’ बताया जा रहा है कि यह महिला 2 महीने पहले बदरुद्दीन के पास फरियाद लेकर आई थी, और दोनों के बीत फोन पर कई बार बात हुई।पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने ऑडियो के हवाले से बताया कि दरोगा बदरुद्दीन बार-बार उस महिला से अपनी इज्जत और परिवार के लिए गुहार लगाते हुए सुनाई दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह का काम बहुत ही ज्यादा निंदनीय और दंडनीय है। एसपी ने बताया कि इस मामले में ASI को निलंबित कर जांच की जिम्मेदारी क्षेत्राधिकारी (नगर) यश त्रिपाठी को दी गई है और उनसे 2 हफ्ते के भीतर रिपोर्ट देने को कहा गया है।वायरल हुए ऑडियो में दरोगा बार-बार महिला से यह पूछते नजर आ रहे हैं कि कहीं वह ऐसा कुछ तो नहीं करेगी जिससे उनकी नौकरी पर संकट आ जाए। दरोगा अपने बच्चों और अपने परिवार का हवाला देते हुए कहते हैं कि महिला ऐसा कुछ न करे जिससे उनकी नौकरी पर संकट आ जाए। महिला भी उन्हें आश्वासन देती है कि वह किसी की रोजी-रोटी नहीं लेगी। हालांकि महिला के साथ दरोगा की बातचीत का ऑडियो वायरल हो गया और अब वह सस्पेंड भी हो गए हैं।

Ranji Trophy Final: रजत पाटीदार ने की मध्य प्रदेश की ताजपोशी तय, अंतिम दिन होगी रस्म अदायगी

रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीदिल्‍ली-चंडीगढ़ के बीच चलेगी 200 किमी/घंटे की रफ्तार से ट्रेन, 245 किमी की यात्रा डेढ़ घंटे में होगी पूरी****** रेलवे दिल्‍ली-चंडीगढ़ रूट पर 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन चलाने की योजना पर तेजी से काम कर रही है। रेलवे ने फ्रांस की तकनीकी मदद से इस रूट पर सेमी-हाई स्‍पीड ट्रेन चलाने के प्रस्‍ताव पर आगे बढ़ने की मंजूरी दे दी है। इस ट्रेन के चलने से दिल्‍ली और चंडीगढ़ के बीच यात्रा समय में तकरीबन दो घंटे की कमी आएगी।फ्रेंच रेलवे एसएनसीएफ 245 किलोमीटर लंबे दिल्‍ली-चंडीगढ़ रूट के अपग्रेडेशन सहित सेमी-हाई स्‍पीड प्रोजेक्‍ट के लिए विस्‍तृत रिपोर्ट के साथ निष्पादन रणनीति और कार्यान्वयन मॉडल तैयार करेगी। वर्तमान में शताब्‍दी एक्‍सप्रेस अधिकतम 110 किलोमीटर प्रति घंटे की स्‍पीड से 245 किलोमीटर की यह दूरी तकरीबन 3 घंटे 30 मिनट में पूरी करती है।सेमी-हाई स्‍पीड प्रोजेक्‍ट से जुड़े एक वरिष्‍ठ रेलवे अधिकारी ने बताया कि एसएनसीएफ और भारतीय रेलवे की एक उच्‍च स्‍तरीय बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि दिल्‍ली-चंडीगढ़ रूट पर 200 किलोमीटर प्रति घंटे की स्‍पीड से ट्रेन चलाई जाएगी। इसके लिए फ्रेंच रेलवे को ड्राफ्ट डॉक्‍यूमेंट तैयार करने के लिए कहा गया है।रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने गुरुवार को उच्‍च स्‍तरीय फ्रेंच शिष्‍ट मंडल से मुलाकात की और दिल्‍ली-चंडीगढ़ रूट पर सेमी-हाई स्‍पीड ट्रेन को चलाने की संभावना पर चर्चा की। अधिकारी ने बताया कि मंत्री ने चंडीगढ़ रूट पर 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन चलाने के लिए मौजूदा ट्रैक को फ्रांस की मदद से अपग्रेड करने पर अपनी सहमति जताई है।फ्रांस की टीम इस प्रोजेक्‍ट की लागत सहित अंतिम रिपोर्ट अक्‍टूबर तक रेलवे को सौंपेगी। एक अनुमान के मुताबिक 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलाने के लिए प्रति किलोमीटर लागत 46 लाख रुपए आएगी, जिसमें रॉलिंग स्‍टॉक, सिग्‍नल और ट्रैक अपग्रेडेशन भी शामिल है।रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीWomen's Day: महेश बाबू ने शेयर की अपनी वाइफ, बेटी और माँ की तस्वीर******Highlightsटॉलीवुड सुपरस्टार महेश बाबू ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर अपने परिवार की महिलाओं के लिए एक प्यारा सा पोस्ट किया है। महेश ने अपनी पत्नी नम्रता शिरोडकर, बेटी सितारा और मां इंदिरा देवी की एक तस्वीर साझा की, और एक प्यारा सा नोट लिखा।महेश बाबू ने ट्वीट किया, "धैर्य और अनुग्रह के लिए, सुंदरता और प्रतिभा के लिए, दया और लचीलापन के लिए। यहां मेरी और सभी महिलाएं बदलाव के साथ आगे बढ़ रही है! हैशटैग महिला दिवस की शुभकामनाएं।"महेश बाबू इस उद्धरण में दृढ़ता से विश्वास करते है कि हर सफल पुरुष के पीछे एक महिला होती है। महेश बाबू उन तेलुगू सितारों में से हैं, जिन्होंने अक्सर इस बात की पुष्टि की है कि उनकी महिलाओं के बिना उनका जीवन अधूरा है।दूसरी ओर, महेश बाबू वर्तमान में अपने आगामी फिल्म 'सरकारू वारी पाटा' के लिए काम कर रहे हैं, जिसमें महिला प्रधान भूमिका में राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता अभिनेत्री कीर्ति सुरेश हैं।'गीता गोविंदम' फेम परशुराम द्वारा निर्देशित, आगामी फिल्म को 14 रील्स प्लस, मैथरी मूवी मेकर्स और जी महेश बाबू एंटरटेनमेंट द्वारा संयुक्त रूप से समर्थन दिया जा रहा है, और यह 12 मई को रिलीज होने वाली है।महेश अगली बार त्रिविक्रम श्रीनिवास के निर्देशन में बन रही फिल्म में दिखाई देंगे, जिसमें नायिका के रूप में पूजा हेगड़े होंगी। वहीं वह एस.एस. राजामौली के साथ एक और बड़ी फिल्म 'ब्रह्मोत्सवम' में भी काम कर रहे है।रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीपुलिस ने गोकशी से रोका तो कर दी फायरिंग, मुठभेड़ के बाद 7 गिरफ्तार, 2 फरार******उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में पुलिस ने लोनी इलाके में गोकशी को अंजाम दे रहे 7 गो-तस्करों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। यह मुठभेड़ आज सुबह हुई। दरअसल गुरुवार सुबह गाजियाबाद के लोनी बॉर्डर थाना पुलिस को बेहटा गाजीपुर के पास एक गोदाम के गाय काटे जाने की सूचना मिली। जिसके तुरंत बाद पुलिस की एक टीम तुरंत वहां पहुंची और सूचना को सही पाया।घटना स्थल पर पहुंच पुलिस ने गो-तस्करों को चेतावनी दी तो उन्होंने उल्टा ही पुलिस के ऊपर फायरिंग शुरू कर दी। गोकशी को अंजाम दे रहे लोगों ने पुलिस पर करीब 7 राउंड फायर किए जिसके बाद पुलिस को बचाव में फायरिंग करनी पड़ी। पुलिस की फायरिंग में 7 बदमाश घायल हो गए हैं। जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है, जबकि दो बदमाश फरार होने में कामयाब रहे। इनकी तलाश जारी है।गाजियाबाद पुलिस के अनुसार, मौके पर तीन गोवंश कटे हुए पाए गए, जिनके नमूने लेने के बाद उन्हें पशु चिकित्सक डिस्पोज करवाया गया। इसके अलावा पुलिस ने घटना स्थल से सात तमंचे, 12 जिंदा कारतूस, 7 खोखे, दो कुल्हाड़ी, पांच चाकू, दो बंडल प्लास्टिक की रस्सी के बरामद किए हैं।

Ranji Trophy Final: रजत पाटीदार ने की मध्य प्रदेश की ताजपोशी तय, अंतिम दिन होगी रस्म अदायगी

रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीजिनसे दुनिया खाती है खौफ, वो शनिदेव इन चार लोगों से डरते हैं******Highlightsज्योतिष शास्त्र में भगवान शनि को न्याय का देवता कहा जाता है। वह व्यक्ति को उसके कर्म के अनुसार फल देते हैं। कहा जाता है कि शनिदेव की दृष्टि से रंक भी राजा बन जाता है। वहीं कर्मों के हिसाब से शनिदेव जातक को दंड भी देते हैं।आमतौर पर माना जाता है कि भगवान एक ऐसे देवता हैं जिनसे हर कोई डरता है। उनकी कृपा पाने के लिए विधि-विधान से पूजा अर्चना करते हैं। लेकिन आपको बता दें कि शनिदेव भी कुछ देवी-देवता से डरते हैं। इतना ही नहीं जो व्यक्ति इन देवी-देवता की पूजा करते हैं उनके ऊपर कभी भी शनिदेव की वक्रदृष्टि नहीं पड़ती हैं।शास्त्रों में एक पौराण‍िक कथा मौजूद है। जिसके अनुसार माना जाता है कि ऋषि पिप्लाद के माता-पिता की मृत्यु बचपन में ही हो गई थी। जब वह बड़े हुए तो उन्हें पता चला कि शनि की दशा के कारण ही उनके माता-पिता की मृत्यु हो गई थी। इस बात को जानकर पिप्लाद काफी क्रोधित हुए और ब्रह्माजी को प्रसन्न करने के लिए पीपल के वृक्ष के नीचे बैठकर घोर तप किया। इसके साथ ही उन्होंने पीपल के पत्तों का ही सेवन किया। इससे प्रसन्न होकर जब ब्रह्माजी ने उनसे वर मांगने को कहा, तो पिप्लाद ने ब्रह्मदंड मांगा और पीपल के पेड़ में बैठे शनिदेव पर ब्रह्मदंड से प्रहार किया। इससे शनि के पैर टूट गए। तब शनिदेव ने कष्ट के समय भगवान शिव को पुरारा, जिन्होंने आकर पिप्पलाद का क्रोध शांत किया और शनि की रक्षा की। तभी से शनि पिप्पलाद से भय खाने लगे।पौराणिक कथाओं में के अनुसार भगवान हनुमान ने शनि देव को रावण की कैद से मुक्ति दिलाई थी। उस समय शनिदेव ने हनुमान जी को वचन दिया था कि वह कभी भी उनके ऊपर अपनी द्रष्टि नहीं डालेंगे। लेकिन वह आने वाले समय में इस वचन को भूल गए और वह हनुमान जी को ही साढ़े साती का कष्ट देने पहुंच गए। ऐसे में हनुमान जी ने अपना दिमाग लगाकर उन्हें अपने सिर में बैठने की जगह दी। जैसे ही शनिदेव हनुमान जी के सिर पर बैठ गए वैसे ही उन्होंने एक भारी-भरकम पर्वत उठाकर अपने सिर पर रख लिया। शनिदेव पर्वत के भार से दबकर कराहने लगे और हनुमान जी से क्षमा मांगने लगे। जब शनि ने वचन दिया कि वह हनुमान जी के साथ-साथ उनके भक्तों के कभी नहीं सताएंगे तब जाकर हनुमान जी ने शनिदेव को मुक्त किया।पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान शंकर से शनिदेव को कर्म दंडाधिकारी का पद दिया। भगवान सूर्य ने अपने पुत्रों की योग्यतानुसार उन्हें विभिन्न लोकों का अधिपत्य प्रदान किया लेकिन पिता की आज्ञा की अवहेलना करके शनिदेव ने दूसरे लोकों पर भी कब्जा कर लिया। सूर्य के भगवान शंकर ने निवेदन किया कि वह शनि को सही राह दिखाए। इसके बाद भगवान शिव ने अपने गणों को शनिदेव से युद्ध करने के लिए भेजा परंतु शनिदेव ने उन सभी को परास्त कर दिया। तब विवश होकर भगवान शंकर को ही शनिदेव से युद्ध करना पड़ा। इस भयंकर युद्ध में शनिदेव ने भगवान शंकर पर मारक दष्टि डाली तब महादेव ने अपना तीसरा नेत्र खोलकर शनि तथा उनके सभी लोकों को नष्ट कर दिया। इतना ही नहीं भगवान भोलेनाथ ने अपने त्रिशूल के अचूक प्रहार से शनिदेव को संज्ञाशून्य कर दिया। इसके पश्चात शनिदेव को सबक सिखाने के लिए भगवान शंकर ने उन्हें 19 वर्षों के लिए पीपल के वृक्ष से उल्टा लटका दिया। इन वर्षों में शनिदेव भगवान भोलेनाथ की आराधना में लीन रहे। इसीलिए कहा जाता है कि भगवान शिव के भक्तों पर कभी भी शनिदेव अपनी वक्रद्रष्टि नहीं डालते हैं।पौराणिक कथा के अनुसार माना जाता है कि शनिदेव अपनी पत्नी से भी भय लगता है। कथा के अनुसार, भगवान शनि का विवाह चित्ररथ की कन्या के साथ हुआ था। एक दिन चित्ररथ कन्या पुत्र की प्राप्ति की इच्छा लेकर शनिेव के पास पहुंची। लेकिन उस समय वह कृष्ण की भक्ति में मग्न थे। लेकिन काफी समय तक उनकी प्रतिक्षा करने के बाद वह थक गई और अंत में उन्होंने क्रोधित होकर शनिदेव को शाप दे दिया था।रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीHeavy Rain in Gujarat: गुजरात में भारी बारिश ने बढ़ाई लोगों की परेशानी, जगह-जगह फंसे लोग******Highlightsगुजरात के कई हिस्सों में पिछले 24 घंटे से भारी बारिश जारी है और नवसारी के कई इलाकों में घुटनों तक पानी भर गया है। राज्य सरकार की ओर से जारी की गई प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को तड़के तापी और वडोदरा जिलों में फंसे 45 लोगों को निकाला। राज्य के कई हिस्सों में पिछले चार दिन से भारी बारिश जारी है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने राज्य के उत्तरी तथा दक्षिणी हिस्सों और सौराष्ट्र क्षेत्र सहित गुजरात में कई स्थानों पर आज भीषण बारिश होने का अनुमान जताया है। 'स्टेट इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर' (एसईओसी) के अनुसार, बृहस्पतिवार को सुबह आठ बजे तक पिछले 24 घंटे में गुजरात के नवसारी जिले में 394 मिमी बारिश हुई। वलसाड जिले के करपाडा और धरमपुर तालुका में इसी अवधि में क्रमश: 377 मिमी और 340 मिमी बारिश हुई।बेकाबू हुई नदियांअधिकारियों ने बताया कि लगातार बारिश के कारण पूर्णा और अंबिका नदियों में पानी का स्तर बढ़ गया है। नवसारी, बिलीमोरा शहर और जिले के अन्य हिस्सों में कई इलाकों में पानी भर गया है। नवसारी के कलेक्टर अमित यादव ने ट्वीट कर लोगों से अहमदाबाद-मुंबई राजमार्ग के चिखली-वलसाड प्रखंड पर जाने से बचने को कहा, क्योंकि वहां पानी भरा है। सरकारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, तापी जिले के दोल्वन तालुका में गांव में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न होने के कारण फंस गए 10 लोगों को दमकल कर्मियों ने निकाला। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने वडोदरा के कर्जन तालुका के कंदारी गांव में फंसे 18 बच्चों और दो मरीजों सहित कुल 35 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है।राज्य के 251 में से 213 तालुकों में हुई तेज बारिश

Ranji Trophy Final: रजत पाटीदार ने की मध्य प्रदेश की ताजपोशी तय, अंतिम दिन होगी रस्म अदायगी

रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीKL Rahul RECORDS: केएल राहुल की फॉर्म में हुई वापसी, पहले मैच में बनाए तीन रिकॉर्ड, विराट-रोहित के खास क्लब में हुए शामिल******Highlights भारतीय टीम के लिए ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज का आगाज निराशजनक रहा और उसे पहले मैच में चार विकेट से हार का सामना करना पड़ा। मोहाली में खेले गए मुकाबले में टीम इंडिया 208 रन के स्कोर का बचाव नहीं कर पाई और ऑस्ट्रेलिया ने 4 गेंद बाकी रहते हुए लक्ष्य को हासिल कर लिया। हालांकि टीम इंडिया की हार के बावजूद केएल राहुल के लिए यह मैच शानदार रहा।भारतीय सलामी बल्लेबाज ने एक बार फिर से अपने पुरान अंदाज में बल्लेबाजी की और अर्धशतक लगाए। उन्होंने मैच में 35 गेंदों में चार चौके और तीन छक्के की मदद से 55 रन बनाए। राहुल ने इस दौरान कई खास रिकॉर्ड भी अपने नाम किए।राहुल ने अपनी अर्धशतकीय पारी के दौरान टी20I में 2000 रन पूरे किए। वह इस आंकड़े को छूने वाले तीसरे भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। उनसे पहले रोहित शर्मा और विराट कोहली ही इस उपलब्धि को हासिल कर पाए हैं।30 साल के दाएं हाथ के स्टार बल्लेबाज ने एक और उपलब्धि हासिल की। वह टी20I में सबसे तेज 2000 रन बनाने वाले चौथे खिलाड़ी बने। उन्होंने इस आंकड़े को 58वीं पारी में हासिल किया। जबकि सबसे तेज का रिकॉर्ड संयुक्त रूप से पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान के नाम है। रिजवान ने मंगलवार को ही इंग्लैंड के खिलाफ पहले टी20 मैच में बाबर के वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी की। दोनों पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने दो हजार रन तक पहुंचने के लिए महज 52 पारियों का सहारा लिया। जबकि दूसरे नंबर पर मौजूद विराट कोहली ने यह कमाल 56वीं पारी में किया था। राहुल ने एक और कमाल किया। उन्होंने टी20I अपना 20वां अर्धशतक लगाया। वह अब भारत के लिए इस फॉर्मेट में सबसे ज्यादा बार 50 से अधिक का स्कोर बनाने के मामले में तीसरे नंबर पर आ गए हैं। राहुल ने अपने करियर में दो शतक और 18 अर्धशतक लगाए हैं। विराट कोहली इस मामले में टॉप पर हैं। विराट अभी तक 33 बार यह कारनामा कर चुके हैं। जबकि दूसरे नंबर रोहित ने 32 बार यह कमाल किया है।

रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगी'बहू हमारी रजनीकांत' एक्ट्रेस रिद्धिमा पंडित की मां का निधन, कोरोना से थीं संक्रमित******सीरियल 'बहू हमारी रजनीकांत' फेम एक्ट्रेस रिद्धिमा पंडित की मां का निधन हो गया है। वो मुंबई के नानावती अस्तपाल में भर्ती थी। आज उन्होंने अस्पताल में आखिरी सांस ली। कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद उन्हें 2-3 दिन पहले अस्पताल में भर्ती कराया गया था।ईटाइम्स की रिपोर्ट के मुताबित रिद्धिमा की मां 68 साल की थीं और उन्हें कई सालों से किडनी में शिकायत थी लेकिन उन्होंने अपनी जिंदगी को अच्छे तरीके से मेनटेन करके रखा हुआ था। मगर हाल ही में वह कोरोना से संक्रमित हो गई थीं और उनकी परेशानियां बढ़ने लगी थीं। रिद्धिमा की मां के अस्पताल में भर्ती होने की वजह से परिवार वाले उनसे मिल नहीं पा रहे थे। मां के निधन की खबर से पूरा परिवार शॉक्ड है।रिद्धिमा पंडित को साल 2019 में टीवी शो 'बहू हमारी रजनीकांत' से पहचान मिली थी। इस शो में वह एक रोबोट का किरदार निभाती थी। इसके बाद वह खतरों के खिलाड़ी सीजन 9 में भी हिस्सा ले चुकी है, जिसमें वह दूसरी रनरअप रही थीं। रिद्धिमा, कई रिएलिटी शोज भी होस्ट भी कर चुकी हैं। रिद्धिमा की बहन रीमा रवीना टंडन की मैनेजर हैं।देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। कई टीवी सेलेब्स इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं। हाल ही में अनुपमा सीरियल में रुपाली गांगुली कोरोना की चपेट में आ गईं। उनके साथ ही सेट के कई लोग इस वायरस की चपेट में आ गए हैं जिसके बाद शूटिंग को कुछ दिनों के लिए रोक दिया गया है। इतना ही नहीं डांस रिएलिटी शो डांस दीवाने 3 के सेट पर 18 लोग एक साथ कोरोना की चपेट में आए थे। इसके अलावा हाल ही में इंडियन आइडल 12 के होस्ट आदित्य नारायण और उनकी पत्नी श्वेता भी इस वायरस की चपेट में आए हैं।रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीमहाराष्ट्र में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए निशुल्क टीकाकरण होगा, नवाब मलिक ने दी जानकारी******राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता और अल्पसंख्यक कार्य मंत्री नवाब मलिक ने रविवार को कहा कि महाराष्ट्र सरकार 45 वर्ष से कम उम्र के वयस्क नागरिकों को निशुल्क कोविड -19 रोधी टीका लगवाने के लिए वैश्विक टेंडर निकालेगी। पत्रकारों से बातचीत करते हुए, मलिक ने कहा कि टीकाकरण अभियान एक मई से शुरू होगा और इसके लिए राज्य सरकार के कोष का इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने कहा, “किफायती और गुणवत्ता पूर्ण टीका खरीदने के लिए वैश्विक टेंडर निकाला जाएगा।”मलिक ने कहा कि केंद्र सरकार ने एक मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों के की शुरुआत करने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा, “ यह स्पष्ट है कि केंद्र 45 वर्ष से कम आयु के लोगों के लिए टीकाकरण प्रदान नहीं करेगा और यह राज्यों द्वारा किया जाएगा।”मंत्री ने कहा कि टीका केंद्र को 150 रुपये प्रति इंजेक्शन पर उपलब्ध होगा, जबकि राज्य सरकार के लिए निर्धारित दर 400 रुपये प्रति खुराक है और निजी अस्पतालों में यह 600 रुपये प्रति खुराक है। उन्होंने कहा कि कोवैक्सीन की कीमत राज्यों के लिए प्रति खुराक 600 रुपये है और निजी अस्पतालों के लिए 1,200 रुपये प्रति खुराक है।मलिक ने कहा, "पिछली कैबिनेट बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा हुई थी और 45 साल से कम उम्र के लोगों के लिए मुफ्त टीकाकरण पर सहमति बनी थी। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे इसके लिए सहमत हो गए हैं।" में शिवसेना नीत महा विकास आघाडी सरकार में राकांपा भी एक घटक है।बता दें कि, शनिवार को, उप-मुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा था कि महाराष्ट्र सरकार कोविड-19 टीके और रेमडेसिवीर इंजेक्शन के लिए एक वैश्विक टेंडर जारी करेगी। इस बीच मलिक ने महाराष्ट्र को रेमडेसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार को धन्यवाद दिया और कहा कि 26000 इंजेक्शन प्रति दिन से बढ़ाकर 40,000 प्रति दिन करने से अहम दवा की किल्लत कुछ दिनों में दूर हो जाएगी।

रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीPakistan Floods: आपदा को अवसर में बदलने की फिराक में लगे पाकिस्तानी आंतकी, मदद के नाम पर वसूल रहे हैं चंदा******Highlights इस समय पाकिस्तान मुश्किल दौर से गुजर रहा है। देश में मंहगाई ने आम लोगों की कमर को तोड़ दी है। वही देश का एक तिहाई हिस्सा बाढ़ के चपेट में है। आतंकवादीइस आपदा को अवसरमें बदलने की तैयारी कर रहे हैं। मिली जानकारी के मुताबिक बाढ़ पीड़ितों की मदद के नाम पर चंदा इकठ्ठा कर रहे हैं और इसी चंदे से भारत को दहलान की साजिशरच रहे हैं। इस बात की भनक मीडिया चैनलों को लगी तो पाकिस्तानी आवामभी हैरान हो गई। देश में आतंकी संगठन लश्कर-ए-ताइपर किसी और नाम से सक्रिय है और लोगों से चंदा इकट्ठा कर रहा है। पोल खुलने के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने भी आनन-फानन में बयान जारी किया।पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने उन रिपोर्टों को खारिज कर दिया कि बाढ़ राहत कार्यों में एक "प्रतिबंधित संगठन" शामिल था। मंत्रालय ने इसे 'भारत का प्रचार' करार दिया। विदेश मंत्रालय ने बयान में कहा, 'पाकिस्तान इस तरह की खबरों को खारिज करता है। यह पाकिस्तान के प्रति भारत के पूर्वाग्रह का एक हिस्सा है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को गुमराह करने का प्रयास है।पाकिस्तानी अखबार द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक, मंत्रालय ने कहा कि "पाकिस्तान ने गैर सरकारी संगठनों की ओर से बाढ़ राहत कार्यों की निगरानी के लिए मजबूत नियामक स्थापित किए हैं। राहत प्रयासों की आड़ में कोई भी अवैध गतिविधि न हो इसके लिए सभी संबंधित एजेंसियां ​​अलर्ट पर हैं। हाल ही में खबरें आई थीं कि लश्कर-ए-तैयबा एक बार फिर पाकिस्तान में सिर उठा रहा है और इसके लिए वह बाढ़ के कहर का सहारा ले रहा है।पाकिस्तानी सरकार ने लश्कर पर प्रतिबंध लगा दिया था, जिसके बाद वो अपना नाम बदलकरजमात-उद-दावा के नाम से वापस आ गया। लश्कर मुंबई हमले का मास्टर माइंड था जिसके कारणप्रतिबंधितकिया गया।इसके बाद यह फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन के नाम से आया लेकिन अंतरराष्ट्रीय दबाव के कारण इसे प्रतिबंधित भी कर दिया गया। साउथ एशिया प्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक अब यह संगठन अल्लाह ऊ अकबर तहरीक के नाम से सक्रिय है और बाढ़ राहत के नाम पर लोगों से पैसे ले रहा है। ताकि ये भारत में फिर से कोई नई आंतकी साजिशरच सकें।पाकिस्तान ने भले ही भारत से कारोबारी रिश्ते तोड़ लिए हों। लेकिन बाढ़ से बर्बादी के बाद उसे भारत की याद आ रही है। वैसे पाकिस्तान आज भी कुछ जरूरी जीवनरक्षक दवाएं भारत से लेता है। अब फिर पाकिस्तानियों के जीवन बचाने की बात आई, तो पाकिस्तान भारत की ओर उम्मीद से टकटकी लगा रहा है। मॉनसूनी बारिश ने पूरे पाकिस्तान में भीषण तबाही मचाई है जिससे अब तक करीब 1,100 लोगों की मौत हुई और खड़ी फसलें बर्बाद हो गई हैं।रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीDelhi News: 1 अगस्त से हो सकती है दिल्ली में शराब की किल्लत, जानें पूरा मामला******Highlightsदिल्ली में लाइसेंस की अवधि खत्म हो जाने के बाद सोमवार से शराब की निजी दुकानें बंद हो सकती हैं, जिसके कारण राष्ट्रीय राजधानी में शराब की उपलब्धता पर अनिश्चितता बनी हुई है। हालांकि, सूत्रों ने दावा किया कि दिल्ली सरकार रविवार देर रात अधिसूचना ला सकती है, जिससे अगस्त के अंत तक शहर में शराब की दुकानों को खोलने की अनुमति दी जा सकती है।सरकार के एक सूत्र ने कहा, “यह जरूरी है क्योंकि सरकार ने पुरानी आबकारी नीति को लागू करने और अपनी एजेंसियों के माध्यम से दुकानें चलाने का निर्णय लिया। इस प्रक्रिया से शराब की कमी हो सकती है, क्योंकि नई दुकानों को खुलने में कई दिन लगेंगे।” दिल्ली सरकार ने पुरानी आबकारी नीति फिर से लागू करने और 6 महीने तक खुद दुकानें चलाने का निर्णय शनिवार को लिया था। आबकारी नीति 2021-22 (Delhi New Liquor Policy) के तहत शहर में 468 दुकानें संचालित हो रही हैं, जिनका लाइसेंस 31 जुलाई के बाद खत्म हो जाएगा। दिल्ली में कई शराब की दुकानों में, कीमतों में छूट देकर और एक के साथ दो फ्री जैसी नई स्कीम पेशकर पहले का भंडार खत्म किया गया और दुकानें बंद कर दी गईं।सरकार फिर से 4 निगमों के द्वारा शराब बेचने जा रही है। इनमें दिल्ली स्टेट इंडस्ट्रियल और बुनियादी ढांचा विकास निगम (DSIIDC), दिल्ली पर्यटन और परिवहन विकास निगम (DTTDC), दिल्ली उपभोक्ता सहकारी थोक स्टोर (DCCWS) और दिल्ली राज्य नागरिक आपूर्ति निगम (DSCSC) शामिल हैं।दिल्ली सरकार के फाइनेंस डिपार्टमेंट ने इन 4 निगमों के प्रमुखों के साथ उनके द्वारा संचालित शराब की दुकानों के विवरण के लिए समन्वय करने का निर्देश दिया है। इन निगमों ने अभी कोई तैयारी नहीं कर रखी है।लक्ष्मी नगर में शराब की एक दुकान के प्रबंधक ने कहा, “अभी थोड़ी और शराब व बीयर उपलब्ध है और लोग जितना हो सकता है उतना लेने के लिए आ रहे हैं। जो लोग कुछ स्पेशल ब्रांड की मांग कर रहे हैं, उन्हें खाली हाथ लौटना भी पड़ा है।” दिल्ली के शेख सराय में एक बंद शराब की दुकान के बाहर ग्राहक विवेक ने कहा कि शनिवार को भीड़ ज्यादा थी लेकिन दुकानों पर शराब खत्म होने के कारण ग्राहक नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम और फरीदाबाद जा रहे हैं। मयूर विहार एक्सटेंशन के एक बैंककर्मी ने कहा कि उन्हें अपना पसंदीदा ब्रांड पास की दुकानों में मिल जाता था, लेकिन अब भंडार खत्म हो गया है।

रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीUttar Pradesh: योगी सरकार में तबादलों का दौर जारी, फिर हुआ 12 IAS अधिकारियों का ट्रांसफर******Highlights उत्तर प्रदेश सरकार में तबादलों का दौर है कि रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है। योगी आदित्यनाथ सरकार ने अब शासन स्तर पर फिर से 12 आईएएस अधिकारियों का तबादला कर दिया है। ट्रांसफर हुए अधिकारियों में सबसे पहला नाम अमृत त्रिपाठी का है, जिन्हें आजमगढ़ से हटा कर योजना विभाग में स्पेशल सेक्रेटरी पद पर भेजा गया है। अब अमृत त्रिपाठी की जगह सीतापुर के डीएम विशाल भरद्वाज लेंगे। वहीं IAS विवेक को गृह एंव कारागार प्रशासन एंव सुधार विभाग के विशेष सचिव पद पर तैनात कर दिया गया है। जबकि सुरेंद्र प्रसाद सिंह को कानपुर का अपर श्रम आयुक्त बनाया गया है।वहीं गृह एंव कारागार प्रशासन एंव सुधार विभाग के विशेष सचिव अटल कुमार राय कानपुर में उद्योग विभाग के अपर आयुक्‍त बनाए गए। गृह विभाग के विशेष सचिव रविन्‍द्र पाल सिंह माध्‍यमिक शिक्षा विभाग के विशेष सचिव बनाए गए। कृषि उत्‍पादन आयुक्‍त शाखा के विशेष सचिव संदीप कौर महिला कल्‍याण एंव बाल विकास एवं पुष्‍टाहार विभाग के विशेष सचिव होंगे। आवास एवं शहरी नियोजन विभाग के विशेष सचिव डॉ.अरविंद कुमार चौरसिया, कृषि उत्‍पादन आयुक्‍त शाखा के विशेष सचिव होंगे।उत्तर प्रदेश में पिछले दिनों 13 आईएएस और 20 पीसीएस अधिकारियों का तबादला कर दिया गया था। इन तबादलों में विशेष सचिव, मंडलायुक्त, डीएम, नगर मजिस्ट्रेट और मुख्य विकास अधिकारी स्तर के अधिकारी शामिल थे। सरकार की ओर से जारी सूची के अनुसार, वरिष्ठ आईएएस अधिकारी संजय कुमार को सचिव, वित्त विभाग से हटाकर प्रबंध निदेशक, यूपी राज्य सड़क परिवहन निगम बनाया गया था। वहीं, राजेंद्र प्रताप सिंह को प्रबंध निदेशक राज्य सड़क परिवहन निगम से चित्रकूट और बांदा का मंडलायुक्त बनाया गया था। इसके अलावा वाराणसी, कुशीनगर, उन्नाव, फतेहपुर और बलरामपुर के डीएम बदले गए थे। वाराणसी के डीएम कौशल राज शर्मा अब प्रयागराज के मंडलायुक्त बनाए गए थे।वाराणसी में जिलाधिकारी अब एस. राजलिंगम बने। राजलिंगम अभी तक कुशीनगर में डीएम थे। वहीं, उन्नाव के डीएम रवीन्द्र कुमार को कुशीनगर की जिम्मेदारी सौंपी गई। इसके अलावा फतेहपुर की जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे अब उन्नाव की डीएम होंगी। बलरामपुर की डीएम श्रुति को फतेहपुर भेजा गया है। वहीं, कानपुर के मुख्य विकास अधिकारी डॉ. महेंद्र कुमार अब बलरामपुर के डीएम होंगे।रजतपाटीदारनेकीमध्यप्रदेशकीताजपोशीतयअंतिमदिनहोगीरस्मअदायगीSkin Care Tips: गर्मियों में डार्क सर्कल से हैं परेशान तो अपनाएं ये घरेलू उपाय, यूं करें इस्तेमाल******डार्क सर्कल यानी आंखों के नीचे काले घेरे होना एक आम समस्या है जिससे हर दूसरा इंसान परेशान हैं जिसकी मुख्य वजह अधिक थकान, खराब लाइफस्टाइल, कम मात्रा में पानी सेवन करना, लैपटॉप और मोबाइल के सामने घंटो वक्त बिताना,कम सोना आदि शामिल हैं।डार्क सर्कल काफी परेशान कर देने वाली समस्या है क्योंकि यह हमारे पूरे लुक को खराब देता है। ऐसे में आपका चेहरा खूबसूरत न दिखे तो चिंता होना लाजमी है।अगर आप भी इस समस्या से परेशान हैं तो आज हम आपके लिए कुछ घरेलू उपचार लेकर आए हैं जिनकी इस्तेमाल से आप डार्क सर्कल की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। आइए जानते हैं।यूं तो खीरा सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। साथ ही यहस्किन संबंधी समस्याओं के लिए भी उतना ही लाभदायक होता है। इसके इस्तेमाल से आप डार्क सर्कल से छुटकारा पा सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले खीरे को स्लाइस में काट लें। उसके बाद इसे कम से कम 30 मिनट के लिए फ्रिज में रख दें। फिर 30 मिनट बाद इन्हें निकालकर अपने आंखों के ऊपर 10 मिनट के लिए रखकर छोड़ दें और फिर आंखों को पानी से धो लें।टमाटर में लाइकोपीन पाया जाता है जो हमारे त्वचा के साथ-साथ डार्क सर्कल के लिए भी बेहद कारगर है। इसके इस्तेमाल से आप आखों के नीचे होने वाले डार्क सर्कल से छुटकारा पा सकते हैं। इसके लिए पहले टमाटर का रस बना लें। उसके बाद 2 चम्मच टमाटर के रस में थोड़ा सा नींबू का डालकर इसे अच्छी तरह से मिला लें। अब कॉटन बॉल की मदद से डार्क सर्कल वाली जगह पर लगाकर करीब 10 मिनट के लिए छोड़ दें। उसके बाद गुनगुने पानी से धो लें।बालों के साथ-साथ स्किन और आंखों के नीचे होने वाले डार्क सर्कल के लिए बादाम का तेल भी काफी मददगार होता। इसमें विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो डार्क सर्कल से छुटकारा दिलाने का काम करते हैं। इसके लिए थोड़ा सा बादाम का तेल लेकर इसे अपनी आंखों के नीचे लगाएं और हल्के हाथों से मसाज करें और पूरे रात ऐसे ही रहने दें। इसका इस्तेमाल आप रात को सोने से पहले करें।एलोवेरा जेल के इस्तेमाल से डार्क सर्कल के अलावा रिंकल्स की समस्या भी दूर हो जाती है। इसके लिए पहले एलोवेरा को छिलकर उसका पल्प निकालें और फिर आइस क्यूब ट्रे में रखकर करीब 1 घंटे के लिए फ्रिज में रख दें। उसके बाद आइस क्यूब से एलोवेरा निकाल कर आंखों के नीचे लगाकर थोड़ी देर के लिए छोड़ दें और फिर साफ पानी से धो लें। ऐसा आप सप्ताह में 3 से 4 बार कर सकते हैं।

हाल का ध्यान

लिंक