वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > हुआबेई शहर > मूलपाठ

सर्विस टैक्‍स और एक्‍साइज ड्यूटी बकाएदारों के लिए आई माफी योजना, 1 सितंबर से 31 दिसंबर तक का मिलेगा समय

2022-10-01 00:10:37 हुआबेई शहर

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयजुलाई-सितंबर तिमाही के दौरान भारत में बिके रिकॉर्ड 4.66 करोड़ स्‍मार्टफोन, शाओमी रही नंबर वन******India smartphone market ships record 46.6 mn units in Q3 2019 त्योहारी सीजन पर ऑनलाइन बिक्री, नए मॉडलों की पेशकश तथा कुछ ब्रांड द्वारा कीमतों में कमी से देश में जुलाई-सितंबर तिमाही में स्मार्टफोन की बिक्री 9.3 प्रतिशत बढ़कर रिकॉर्ड 4.66 करोड़ इकाई पर पहुंच गई। अनुसंधान कंपनी आईडीसी ने सोमवार को यह जानकारी दी। आईडीसी के अनुसार इससे पिछली तिमाही अप्रैल-जून की तुलना में समीक्षाधीन तिमाही में स्मार्टफोन की बिक्री 26.5 प्रतिशत बढ़ी है। आईडीसी के क्‍वाटरली ट्रैकर के मुताबिक शाओमी ने इस तिमाही में सबसे ज्‍यादा 1.26 करोड़ स्‍मार्टफोन बेचे हैं। कंपनी ने सालाना आधार पर 8.5 प्रतिशत की वृद्धि हासिल की है। ओवरऑल स्‍मार्टफोन मार्केट में रेडमी 7ए और रेडमी नोट 7 प्रो सबसे ज्‍यादा बिकने वाले मॉडल रहे।आईडीसी का अनुमान है कि 2019 में स्मार्टफोन बाजार में एक अंकीय वृद्धि रहेगी। आईडीसी इंडिया के शोध निदेशक (क्लाइंट डिवाइस और आईपीडीएस) नवकेंदर सिंह ने कहा कि इस वृद्धि को इस रूप में लिया जा सकता है कि उपभोक्ता में धारणा काफी मजबूत बनी हुई थी लेकिन वह सहनशील बना हुआ था दूसरी तरफ वर्ष की आखरी तिमाही में कम बिक्री भी इसकी वजह रही है।सिंह ने कहा कि ऑनलाइन खिलाड़ियों का आक्रामक रुख ऑफलाइन माध्यमों के लिए एक बड़ी चुनौती बना हुआ है, जो आज भी देश में स्मार्टफोन का सबसे बड़ा चैनल है। उन्होंने कहा कि इन सब कारणों से संकेत मिलता है कि अगली तिमाही में वृद्धि दर सुस्त रहेगी। कुल मोबाइल फोन बाजार में फीचर फोन का हिस्सा 43.3 प्रतिशत है। सितंबर तिमाही में फीचर फोन की बिक्री सालाना आधार पर 17.5 प्रतिशत घटकर 3.56 करोड़ इकाई रही।तिमाही के दौरान 4जी अनुकूल फीचर फोन की बिक्री 20.3 प्रतिशत घट गई, जबकि 2जी और 2.5जी बाजार में 16.2 प्रतिशत की गिरावट आई। आईडीसी इंडिया की एसोसिएट शोध प्रबंधक (क्लाइंट डिवाइस) उपासना जोशी ने कहा कि ऑनलाइन मंचों द्वारा आकर्षक कैशबैक और बायबैक तथा बिना ब्याज की मासिक किस्त की सुविधा जैसी आक्रामक रणनीति से ऑनलाइन बाजार की हिस्सेदारी बढ़कर 45.4 प्रतिशत के उच्चस्तर पर पहुंच गई। इसमें सालाना आधार पर 28.3 प्रतिशत की वृद्धि हुई। आईडीसी ने कहा कि ऑफलाइन माध्यमों के समक्ष लगातार चुनौती बनी हुई है। तीसरी तिमाही में उनकी बिक्री में 2.6 प्रतिशत की गिरावट आई।

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमय'तमस' सीरियल के लिए नेशनल अवॉर्ड जीतने वाले संगीतकार वनराज भाटिया ने दुनिया को कहा अलविदा****** वनराज भाटिया का शुक्रवार को मुंबई में निधन हो गया। भाटिया के परिवार एक व्यक्ति ने बताया कि वह पिछले कुछ समय से बीमार थे। भाटिया 94 साल के थे। उन्होंने श्याम बेनेगल की फिल्म ‘अंकुर’ और ‘भूमिका’ तथा धारावाहिक ‘यात्रा’ और ‘भारत एक खोज’ का संगीत दिया। वह नेपियन सी रोड पर रूंगटा हाउसिंग कॉलोनी में अपने अपार्टमेंट में अकेले रहते थे। उनके निधन पर फिल्म जगत में शोक की लहर है।मुंबई के एलिफिन्सटन कॉलेज से स्नातक करने के बाद भाटिया ने लंदन और पेरिस में पश्चिमी शास्त्रीय संगीत का प्रशिक्षण लिया। वतन वापसी के बाद भाटिया विज्ञापन जगत से जुड़ गए और 6,000 विज्ञापन जिंगल के लिए काम किया। समानांतर सिनेमा में भाटिया ने काफी नाम कमाया। उन्होंने भारतीय शास्त्रीय संगीत के साथ पश्चिमी शैली का मिश्रण कर अनूठा संगीत दिया।भाटिया ने अपर्णा सेन की ‘36 चौरंगी लेन’ और कुंदन शाह की ‘जाने भी दो यारो’ का भी संगीत दिया। गोविंद निहलानी के धारावाहिक ‘तमस’ के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ संगीत का राष्ट्रीय पुरस्कार और संगीत नाटक अकादमी सम्मान भी मिला। भाटिया को 2012 में भारत का चौथा शीर्ष असैन्य सम्मान पद्म श्री से नवाजा गया।वनराज भाटिया के निधन के बाद स्मृति ईरानी और हंसल मेहता सहित कई हस्तियों ने सोशल मीडिया के जरिए दुख व्यक्त किया है और श्रद्धांजलि अर्पित की है।सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयतारक मेहता... से पहले भी फेमस थी 'दयाबेन' दिशा वकानी, इन पांच फिल्मों से बनी पहचान******टीवी शो 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' को हर उम्र के लोग बड़े ही चाव से देखना पसंद करते हैं। जिसमें दयाबेन और जेठालाल का किरदार सबसे ज्यादा फेमस रहा है। इस बात को हर कोई जानता है कि जेठा लाल का किरदार निभाने वाले दिलीप जोशी कई फिल्मों में नजर आ चुके हैं। लेकिन आपको बता दें कि दयाबेन का किरदारनिभाने वाली भी देवदास, जोधा अकबरजैसी कई बड़ी फिल्मों नजर आ चुकी हैं।बॉलीवुड अभिनेत्री ऐश्वर्या राय और ऋतिक रोशन की फिल्म जोधा अकबर दर्शकों को काफी पसंद आई थी। आपको बता दें कि इस फिल्म में दिशा वकानी भी एक छोटे से रोल में नजर आई थी। वह ऐश्वर्या राय बच्चन की दासी के रूप में नजर आई थी। दिशा वकानी ने जोधा की दासी माधवी की भूमिका निभाई। जो जोधा के बादशाह अकबर के साथ शादी के बंधन में बंधने के बाद उसके साथ मुगलों के राज्य में चली गई थी।शाहरुख खान और ऐश्वर्या राय की बहुचर्चित फिल्म देवदास में ही दिशा वकानी नजर आ चुकी हैं। इस फिल्म में भी दिशा ऐश्वर्या राय की दोस्त के रूप में नजर आईंआमिर खान की फिल्मन मंगल पांडे में भी दिशा वकानी नजर आ चुकी हैं। उन्होंने फिल्म में एक वेश्या यास्मीन की छोटी भूमिका निभाई थी।प्रियंका चोपड़ा और हरमन बावेजा की फिल्म लव स्टोरी 2050 में भी दिशा वकानी नजर आईं। यह फिल्म सिनमों घरों में अपना कमाल नहीं दिखा पाई थी। इस फिल्म में दिशा ने एक नौकरानी का किरदार निभाया था।अनुपम खेर की 'नॉट सो पॉपुलर' फिल्म सी केके कंपनी में भी दिशा वकानी भी नजर आई थी। वह फिल्म में एक विधवा का किरदार में नजर आई थी। आपको बता दें कि इस फिल्म में मिथुन चक्रवर्ती, तुषार कपूर जैसे एक्टर भी शामिल थे।

सर्विस टैक्‍स और एक्‍साइज ड्यूटी बकाएदारों के लिए आई माफी योजना, 1 सितंबर से 31 दिसंबर तक का मिलेगा समय

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयMuslim Voting Percentage For BJP: 2014 के बाद से बीजेपी का मुस्लिम वोट प्रतिशत बढ़ा या घटा, पढ़े रिपोर्ट****** मुस्लिमों की बीजेपी के प्रति क्या सोच में कितना विरोधाभास है, यह दो उदाहरणों से समझ सकते हैं। पहला, यूपी के कुशीनगर में बीजेपी समर्थक बाबर अली की हत्या का मामला है। बाबर ने बीजेपी की जीत पर जश्न मनाया था। इस पर समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान ने कहा कि बाबर अली गलत कर रहा था। मुस्लिम नहीं चाहते कि बीजेपी को सपोर्ट किया जाए। दूसरा उदाहरण, NCP नेता माजिद मेमन का है, जिन्होंने दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता के रूप में हालिया जनादेश और रैंकिंग हासिल करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी की प्रशंसा की। इन उदाहरणों से सवाल उठते हैं कि बीजेपी को मुस्लिम कितना पसंद करते हैं और उन्हें कितने प्रतिशत मुस्लिम वोट देते हैं। जानिए देश और सबसे बड़े राज्य यूपी में 2014 से 2022 के बीच लोकसभा और विधानसभा में बीजेपी के मुस्लिम वोटर में क्या फर्क नजर आया।मुस्लिम वोटर्स को लेकर आम धारणा है कि वे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खिलाफ वोट बिल्कुल नहीं करेंगे, लेकिन उत्तर प्रदेश के हालिया चुनाव में पार्टी को 8 प्रतिशत मुस्लिमों ने वोट दिया। यह 2017 की विधानसभा चुनाव से 1 फीसदी ज्यादा है। इस 1 प्रतिशत वोट मुस्लिम वोटों का भाजपा की ओर खिसकने का मुख्य कारण यह है कि उत्तर प्रदेश में पिछले पांच वर्षों के दौरान विभिन्न योजनाओं से इन लोगों को उतना ही लाभ हुआ है, जितना कि हिंदु या किसी अन्य धर्म के लोगों को।2019 में इतने फीसदी मुस्लिमों ने बीजेपी को वोट दियाअमेरिका स्थित प्यू रिसर्च सेंटर की भारत में धर्म, जाति और राष्ट्रवाद के दृष्टिकोण को लेकर एक सर्वे के अनुसार 2019 के लोकसभा चुनावों में लगभग 20 फीसदी मुसलमानों ने भारतीय जनता पार्टी को वोट दिया। सर्वे के अनुसार 5 में से 1 मुसलमान ने भाजपा को वोट दिया था।2014 के लोकसभा चुनाव में 8 फीसदी मुस्लिमों ने बीजेपी को वोट डालापिछले कुछ चुनावों के वोटिंग के आंकड़े देखें तो पता चलता है कि मुसलमान भी बीजेपी को वोट डालता है। सीएसडीएस यानी सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसायटी के 2014 के चुनावों के बाद के आंकड़ों के मुताबिक 2014 के लोकसभा चुनावों में यूपी के करीब 10 फीसदी मुसलमानों ने बीजेपी को वोट दिया था। वहीं राष्ट्रीय स्तर पर इसी चुनाव में करीब 8.5 फीसदी मुसलमानों ने बीजेपी को वोट दिया था। ये पहला ऐसा चुनाव था जिसमें बीजेपी को मुसलमानों का इतना बड़ा समर्थन हासिल हुआ था।सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयICC U19 Women’s T20 World Cup: ICC ने जारी किया पूरा शेड्यूल, पहले मैच में भारत का सामना इस टीम से******Highlights भारत आईसीसी अंडर-19 महिला टीम टी20 विश्व कप में अपना पहला मैच 14 जनवरी 2023 को बेनोनी के विलोमूर पार्क में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलेगा। भारतीय टीम को ग्रुप डी में दक्षिण अफ्रीका, यूएई और स्कॉटलैंड के साथ रखा गया है। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने शुक्रवार को दक्षिण अफ्रीका में होने वाले आईसीसी अंडर-19 महिला टी20 विश्व कप के पहले सीजन के लिए पूर्ण कार्यक्रम की घोषणा की।विश्व कप 14 जनवरी, 2023 से शुरू होने वाला है, और फाइनल 29 जनवरी, 2023 को खेला जाएगा। साथ ही, 30 जनवरी, 2023 को फाइनल के लिए आरक्षित दिन के रूप में रखा गया है। पिछले महीने बड़े आयोजन की मेजबानी करने वाले बेनोनी और पोचेफस्ट्रूम के साथ स्थानों को नामित किया गया था। दोनों शहरों ने जनवरी 2020 में आईसीसी अंडर-19 पुरुष क्रिकेट विश्व कप की मेजबानी की। इस आयोजन के लिए योग्यता जून 2022 में शुरू हुई, जिसमें चार स्पॉट क्षेत्रीय क्वालीफायर द्वारा तय किए गए थे और अंतिम शेष स्थान संयुक्त राज्य अमेरिका को गया जो एकमात्र सहयोगी राष्ट्र था, जो अमेरिकी क्षेत्र में आईसीसी के इवेंट पाथवे पार्टिसिपेशन क्राइटेरिया के तहत प्रतिस्पर्धा करने के लिए पात्र था।11 पूर्ण आईसीसी सदस्यों और पांच सहयोगी टीमों वाली 16 टीमों को चार समूहों में विभाजित किया गया है। प्रत्येक ग्रुप से शीर्ष तीन टीमें सुपर सिक्स लीग चरण में आगे बढ़ेंगी, जहां ग्रुप ए की टीम ग्रुप डी के खिलाफ खेलेंगी और ग्रुप बी ग्रुप सी के खिलाफ प्रतिस्पर्धा करेंगी। इंडोनेशिया और रवांडा आईसीसी विश्व कप आयोजन में पहली बार दो प्रतिभागी हैं। इंडोनेशिया ने जुलाई में पापुआ न्यू गिनी को हराकर पूर्वी एशिया-प्रशांत समूह का खिताब जीता था, जबकि रवांडा 12 सितंबर को तंजानिया को हराकर प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई करने वाली अंतिम टीम बन गई थी।प्रत्येक दिन चार मैच होंगे, जिसमें ऑस्ट्रेलिया पहले दिन बांग्लादेश से खेलेगा, इसके बाद दक्षिण अफ्रीका भारत के खिलाफ बेनोनी के विलोमूर पार्क में मेन ओवल में भिड़ेगा, जबकि यूएई स्कॉटलैंड के खिलाफ जाएगा, इसके बाद बी ओवल में श्रीलंका बनाम यूएसए होगा। सुपर सिक्स चरण 20 जनवरी से शुरू होगा, जिसमें सेमीफाइनल 27 जनवरी को होगा और फाइनल 29 जनवरी को पोचेफस्ट्रूम में जेबी मार्क्‍स ओवल में खेला जाएगा।सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयMRP से ज्यादा कीमत वसूलने वालों पर लगेगा 5 लाख रुपए का जुर्माना और होगी 2 साल तक की जेल, सरकार कर रही है तैयारी******Selling above MRP may attract fine of Rs 5 lakh से अधिक कीमत पर सामान बेचने वालों पर सरकार सख्‍त रुख अपनाने की तैयारी कर रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ग्राहकों की बढ़ती शिकायतों को देखते हुए हाल ही में एक बैठक हुई थी जिसमें तय किया गया कि ग्राहकों से MRP से अधिक पैसे वसूलने वालों पर 5 लाख तक का जुर्माना और दो साल की कैद की सजा दी जाए। इस प्रस्‍ताव को की हरी झंडी मिलनी अभी बाकी है। वर्तमान में ग्राहकों से MRP से अधिक कीमत वसूलने वालों को अधिकतम 1 लाख रुपए का जुर्माना देना होता है। पहली गलती पर 25 हजार रुपये का जुर्माना है, जिसे बढ़ाकर 1 लाख रुपए किए जाने का प्रस्ताव है। दूसरी गलती पर अभी 50 हजार लिए जाते हैं, जिसे बढ़ाकर 2.5 लाख रुपए किए जाने की बात है। तीसरी गलती पर अभी 1 लाख रुपए का जुर्माना लगता है, जिसे बढ़ाकर 5 लाख रुपए करने का प्रस्‍ताव है।मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उपभोक्‍ता मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि 1 जुलाई 2017 से 22 मार्च 2018 तक 636 से ज्यादा शिकायतें मिली चुकी थीं। ऐसे में मंत्रालय ने नियमों में और सख्ती करने का विचार किया है। तैयार प्रस्ताव को पास करवाने के लिए लीगल मेट्रोलॉजी एक्ट की धारा 36 में संशोधन करना होगा।अगर आपसे भी कोई दुकानदार MRP से अधिक कीमत वसूलता है तो आप उसकी शिकायत 1800114000 पर कर सकते हैं। इसके अलावा आप 8130009809 नंबर पर एसएमएस भी कर सकते हैं। उपभोक्‍ता मामलों के मंत्रालय की वेबसाइट consumerhelpline.gov.in पर जाकर भी आप अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।

सर्विस टैक्‍स और एक्‍साइज ड्यूटी बकाएदारों के लिए आई माफी योजना, 1 सितंबर से 31 दिसंबर तक का मिलेगा समय

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयHijab Controversy: कंगना रनौत की पोस्ट पर आया शबाना आजमी का ये जवाब******Highlights देश में हिजाब पहनने को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। कर्नाटक से उठाये विवाद कईदिनों से जारी है औरअब इस मुद्दे को लेकर बॉलीवुड एक्टर्स भी सोशल मीडिया पर खुलकर अपनी राय लिख रहे हैं। एक्ट्रेस कंगना रनौत ने गुरुवार को हिजाब विवाद पर एक पोस्ट शेयर की। इसके बाद वरिष्ठ एक्ट्रेस शबाना आजमी ने उसको लेकर कंगना को जवाब दिया है।कंगना रनौत विवादित मुद्दों पर अपनी राय खुलकर रखती हैं। कंगना ने हिजाब विवाद पर लिखा है, "अगर हिम्मत दिखाना चाहती हैं तो अफगानिस्तान में बुर्का न पहनें.. आजाद होना सीखें, खुद को पिंजरे में न रखें ..।" कंगना ने आनंद रंगनाथन की एक पोस्ट का स्क्रीनशॉट लेकर इंस्टाग्राम स्टोरी पर शेयर किया था।अब इस बात को लेकर शबाना आजमी ने लिखा- "अगर मैं गलत हूं तो बताएं, अफगानिस्तान एक धार्मिक राज्य है और जब मैंनेपिछली बार चेक किया थातो भारत एक धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक गणराज्य था?"बता दें, शबाना आजमी का हिजाब विवाद पर ये दूसरा पोस्ट था। इससे पहले भी उन्होंने एक पोस्ट शेयर किया था जिसमें लड़कियोंने तिरंगेवाला हिजाब पहनाथी। साथ ही शबाना ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को टैग भी किया था। हालांकि, इसको लेकर शबाना को ट्रोल भी किया गया।सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयTaliban Coal News: कंगाल पाकिस्तान को तालिबान ने दिया करारा झटका, जानिए क्या है मामला?******Highlights भारत ने तालिबान को खाद्य सामग्री दी। साथ ही हाल के समय में भारत का एक प्रतिनिधिमंडल भी अफगानिस्तान में मिलने गया। भारत के इस कदम से चिढ़े पाकिस्तान को अब उसके दोस्त तालिबान ने भी करारा झटका दिया है। दरअसल, महंगी बिजली से परेशान पाकिस्तान सरकार अफगानिस्तान से सस्ता कोयला मंगाना चाहती थी। इसकी भनक लगते ही तालिबान ने कोयले के दाम 30 फीसदी बढ़ा दिए। पाकिस्तान को मजबूरन अपनी जनता को महंगी बिजली देने के लिए मजबूर रहना पड़ेगा।पहले भी पाकिस्तान के इस कदम से चिढ़ चुका है तालिबानतालिबान ने अफगानिस्तान की सत्ता हासिल करने के बाद लंबे समय तक अपने दोस्त रहे पाकिस्तान को कई मौकों पर झटका दिया है। दरअसल, पाकिस्तान से लगती अफगानिस्तान की सीमा में पहले तालिबानी आसानी से आते जाते रहते थे। लेकिन पाकिस्तान ने जब तारबंदी की, तो वे भड़क गए। वहीं दूसरी ओर भारत तालिबान को गेहूं और अन्य सामग्री की मदद कर रहा है। इससे पाकिस्तान बुरी तरह चिढ़ा हुआ है।तालिबान ने पाक से दोस्ती निभाने की बजाय अपना फायदा देखाउधर, पाकिस्तान ने तालिबान से कोयला मंगाना चाहा, तो अपने दोस्ता पाकिस्तान की मदद करने से पहले तालिबान ने अपना फायदा देखा और कोयले के दाम बढ़ा दिए। दरअसल, पाकिस्‍तान में इस भारी बिजली कटौती चल रही है जिससे जनता परेशान है और कई जगहों पर प्रदर्शन हुए हैं। यही वजह है कि पाकिस्‍तान सरकार अफगानिस्‍तान से कोयला लेना चाहती थी।प्रतिबंधों के कारण प्राकृतिक संसाधन बेचता है तालिबानइस पर तालिबान ने तर्क दिया क‍ि देश की अर्थव्‍यवस्‍था इस समय चौपट है और इसकी वजह यह है कि अफगानिस्‍तान को अंतरराष्‍ट्रीय मदद नहीं मिल रही है। महत्‍वपूर्ण बात यह है कि तालिबान की सरकार अपना 30 फीसदी कस्‍टम ड्यूटी कोयला का निर्यात करके हासिल करती है। तालिबान पर कई प्रतिबंध लगे हैं, इस‍ वजह से वह अब प्राकृतिक संसाधनों की मदद से कमाई बढ़ाना चाहता है।कोयले के दाम कर दिए 200 डॉलर प्रति टनतालिबान शासित अफगानिस्‍तान के वित्‍त मंत्रालय ने कोयले के दाम को 90 डॉलर प्रत‍ि टन से बढ़ाकर 200 डॉलर प्रति टन कर दिया है। अफगान मंत्रालय ने कहा कि दुनियाभर में कोयले के दाम में बढ़ने की वजह से उन्‍होंने यह दाम बढ़ाया है। उधर, शहबाज शरीफ उम्‍मीद लगाए बैठे थे कि अफगानिस्‍तान से सस्‍ते कोयले के आयात से 2 अरब डॉलर की बचत होगी।कंगाली पाकिस्तान को नहीं मिल सका तालिबान के कोयले का लाभपाकिस्‍तान की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि अच्छी गुणवत्‍ता वाले इस अफगानी कोयले से न केवल सस्‍ती बिजली मिलेगी बल्कि देश बहुत जरूरी विदेशी मुद्रा भी बचेगी। लेकिन ऐसा हो न सका। दरअसल, पाकिस्तान कंगाली की हालत से गुजर रहा है। ऐसे में पाक सरकार ने डॉलर की बजाय पाकिस्‍तानी रुपये में इस कोयला खरीदने को मंजूरी दी थी, ताकि सस्ती बिजली बना सके।

सर्विस टैक्‍स और एक्‍साइज ड्यूटी बकाएदारों के लिए आई माफी योजना, 1 सितंबर से 31 दिसंबर तक का मिलेगा समय

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयफ्लैशबैक 2017: 6 ऐसी फ़ेक न्यूज़ जिन्हें मान लिया गया सच******साल 2017 में हमने कई ऐसी खबरें पढ़ी जिन्होंने हमें खुश भी किया और बहुत दुखी भी। कुछ खबरे पढ़कर हमें हंसी भी आई और कुछ को पढ़कर बहुत गुस्सा भी। साल 2017 में देशभर से कई फर्जी खबरें हमने पढ़ी जिन्होंने खूब सुर्खियां बटोरी। आइए पढ़ते हैं 2017 की उन फर्जी खबरों के बारे में जिस पर पूरी दुनिया ने यकीन किया। एक तरफ जहां लोगों ने आकाश अंबानी के वेडिंग कार्ड को सच मान लिया वहीं दूसरी तरफ लोगों ने पाकिस्तानी क्रिकेटर उमर अकमल की मौत पर भी यकीन किया। आइए पढ़ते हैं ऐसी ही कुछ फेक खबरों के बारे में। पर मुकेश अंबानी के बेटे आकाश अंबानी के वेडिंग कार्ड खूब वायरल हुआ था। जिसके बाद लोगों ने यह यकीन कर लिया था कि जल्द ही अंबानी परिवार में शादी की शहनाईयां बजने वाली हैं। लेकिन जल्द ही रिलायंस इंडस्ट्रीस ने इस खबर को फ़ेक करार दिया।पिछले दिनों सोशल मीडिया पर एक खबर ने तहलका मचा दिया, जिसमें बताया गया कि एक 19 साल की लड़की ने हॉलीवुड एक्ट्रेस एंजलीना जॉली के जैसे दिखने के लिए 50 सर्जरी कराई है। जब यह फोटो वायरल हुई तो खुद सहर ने इस खबर को फ़ेक बताया। उसने कहा कि उसने खुद अरनी फोटो को फोटोशॉप के जरिए एडिट की थी। पिछले दिनों सोशल मीडिया पर पाकिस्तानी क्रिकेटर उमर अकमल की मौत की खबर खूब वायरल हुई। लोगों ने इस खबर पर यकीन कर लिया, जिसके बाद लोगों ने उन्हें RIP लिखना शुरू कर दिया। एक और फोटो उसी समय खूब वायरल हुई जिसमें उन्हीं के जैसे दिखने वाला एक व्यक्ति अस्पताल में पड़ा हुआ था। जैसे ही उमर अकमल को इस खबर का पता चला उन्होंने इस खबर को फ़ेक साबित किया। उमर ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'अलहमदुल्लाह, मैं लाहौर में पूरी तरह सुरक्षित हूं, सोशल मीडिया पर वायरल खबर गलत है। और इंशाअल्लाह मैं नेशनल टी20 कप के सेमीफाइनल में खेलूंगा।' इस बार दिपावली पर एक फोटो खूब वायरल हुई। इस फोटो में दिखाया गया कि अंतरिक्ष से दिपावली के दिन भारत की तस्वीर ली गई थी। दावा किया जा रहा था कि इस फोटो को नासा ने ली है। इस फोटो में दीपावली के दिन भारतीय भू-भाग रोशनी से नहाया हुआ दिखता है। लेकिन ये खबर पूरी तरह से फ़ेक ही निकली। सोशल मीडिया पर कुछ समय पहले साउथ अफ्रीका के राष्ट्पति जेकब जूमा का एक वीडियो काफी वायरल हुआ था। इस वीडियो में दिखाया गया था कि वो 'beginning' शब्द को ठीक तरह से नहीं बोल पा रहे हैं। इस वीडियो के कारण जूमा की खूब खिल्ली उड़ाई गई थी। लेकिन असल में ऐसा कुछ भी नहीं था। असली वीडियो में वो आसानी से बोलते नजर आए। असलियत तो ये है कि वीडियो में छेड़छाड़ की गई थी और हर जगह सर्कुलेट की गई थी। यह फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी। इस फोटो में दिखाया गया कि बच्चे को बचाने के लिए इम्पाला खुद बलिदान हो गई। इस फोटो के बारे में यह भी कहा जा रहा था कि इस फोटो को खींचते समय फोटोग्राफर डिप्रेशन में चला गया था। लेकिन ये खबर फ़ेक थी।

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमय'Anupamaa' की मालविका को लगा तगड़ा झटका, KKK 12 से हुईं बाहर******Highlightsटीवी शो 'अनुपमा' (Anupamaa) में अनुज कपाड़िया की बहन मालविका का किरदार निभाने वाली टीवी एक्ट्रेस अनेरी वजानी (Aneri Vajani) को बड़ा झटका लगा है। जिस शो के कारण अनेरी से नंबर 1 शो 'अनुपमा' छोड़ा था अब वह उस शो से बाहर हो चुकी हैं। इस बात की जानकारी खुद अनेरी ने सोशल मीडिया पर दी है।जी हां! अनेरी वजानी (Aneri Vajani) हाल ही में स्टंट पर बेस्ड रियलिटी शो 'खतरों के खिलाड़ी 12' (Khatron Ke Khiladi 12) से बाहर हो गई हैं। एरिका पैकर्ड के बाद शो से बाहर होने वाली अनेरी दूसरी कंटेस्टेंट हैं।अनेरी ने शो में होने के अपने अनुभव को शेयर किया और बताया कि कैसे होस्ट रोहित शेट्टी (Rohit Shetty) ने पूरी यात्रा में उनका मार्गदर्शन किया। उन्होंने तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, "यह सफर सभी इमोशन को बाहर निकालने वाली रही है। मेरा इरादा बिना हार के हर स्टंट करना था और मुझे खुशी है कि मैंने ऐसा किया। 'खतरों के खिलाड़ी' ने मुझे सिखाया है कि कैसे अपने सभी डर का सामना करना और दूर करना है और पूरी यात्रा में मेरा मार्गदर्शन करने के लिए रोहित सर की आभारी हूं।"एलिमिनेशन राउंड में अनेरी ने फैजू (फैसल शेख) और शिवांगी जोशी से मुकाबला किया। कंटेस्टेंट्स को खौफनाक-क्रॉलियों से भरे बॉक्स में रहते हुए, बॉक्स में नंबरों को अनलॉक करके मॉनिटर पर कोड बनाना था। कम समय में स्टंट पूरा करने वालों ने राउंड क्लियर किया। अपनी पूरी कोशिश करने के बावजूद, अनेरी अच्छा प्रदर्शन करने और बाकी सभी को हराने में सफल नहीं हो पाईं।उन्होंने आगे कहा, "इस शो ने मुझे जीवन भर का अनुभव दिया है, जहां मैंने अपनी सीमाओं को आगे बढ़ाना और आगे के रास्ते के लिए तैयार रहना सीखा है। मैं अपने साथ कभी ना भूलने वाली यादों का एक बॉक्स वापस ले जा रही हूं। मैं अपने साथी कंटेस्टेंट्स को आगे के स्टंट को जीतने के लिए शुभकामनाएं देती हूं।"इन्हें भी पढ़ें-सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयखुशखबरी: Paytm छोटे शहरों में WFH सुविधा के साथ देगी रोजगार, घाटा 2019-20 में कम होकर रहा 2,942 करोड़ रुपये******Paytm putting efforts to hire staff from smaller towns with WFH, FY20 loss narrows to Rs 2,942.3 crपेटीएम () के संस्थापक विजय शेखर शर्मा ने बुधवार को कहा कि कोविड-19 महामारी के बीच कंपनी ने छोटे शहरों से कर्मचारियों को नियुक्त करने के प्रयास को तेज कर दिया है और उन्हें बड़े शहरों में स्थित उसके दफ्तरों में आने के बजाये घर से ही काम करने की अनुमति दे रही है। क्लीयर टैक्स ई-इनवॉयसिंग लीडरशिप कॉनक्लेव में शर्मा ने कहा कि शुरू में जिन लोगों को नियुक्त किया गया उन्हें स्थिति सामान्य होने पर दफ्तरों में तैनात किए जाने की योजना थी। उन्होंने कहा कि हमने इस बात पर गौर किया कि हम उन शहरों से भी लोगों को नियुक्त कर सकते हैं, जहां पहले हम जाते नहीं थे। और लोग भी वहां से बड़े शहरों में नहीं जाते। शर्मा ने कहा कि हम छोटे शहरों से बढ़ा रहे हैं। लोग चंडीगढ़, जालंधर, ओड़िशा समेत जहां भी हैं, वे वहां से काम कर सकते हैं। हमारी योजना यह है कि हम छोटे शहरों में नियुक्ति करेंगे और उनसे बड़े शहरों में स्थिर दफ्तर आने को नहीं कहेंगे। उन्होंने कहा कि कंपनी ने इस संदर्भ में कोई विशिष्ट मॉडल नहीं अपनाया है लेकिन उसके करीब 20 से 25 प्रतिशत कर्मचारी भविष्य में अपने हिसाब से घर बैठे काम कर सकते हैं। महामारी और उसकी रोकथाम के लिए लगाए गए लॉकडाउन ने विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत कंपनियों को कर्मचारियों को घर से ही काम करने की अनुमति देने को मजबूर किया है।आईटी और आईटी संबद्ध सेवा से जुड़ी कंपनियां अब कुछ कर्मचारियों को अपनी सुविधानुसार घर से ही काम करने की अनुमति दे रही हैं। इस मामले में वे हाइब्रिड मॉडल अपना रही हैं। यानी कुछ कर्मचारियों को घर से, जबकि कुछ को दफ्तर में आकर काम करने की अनुमति दी गई है। पिछले महीने, सरकार ने भी बीपीओ (बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग) और आईटी संबद्ध कंपनियों के लिए सरलीकृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं ताकि उनका अनुपालन बोझ कम हो और वे कर्मचारियों के लिए घर से काम या कहीं से भी काम करने की रूपरेखा को अपना सकें।पेटीएम का परिचालन करने वाली वन 97 कम्युनिकेशंस लि.का घाटा मार्च 2020 को समाप्त वित्त वर्ष में कम होकर 2,942.36 करोड़ रुपये रहा। कंपनी पंजीयक के पास दी गई जानकारी के अनुसार पिछले वित्त वर्ष 2018-19 में कंपनी को 4,217.2 करोड़ रुपये का एकीकृत घाटा हुआ था। कंपनियों के बारे में सूचना देने वाली टोफलर ने यह जानकारी दी।पेटीएम की एकीकृत कुल आय 1.3 प्रतिशत बढ़कर 3,628.85 करोड़ रुपये रही। एक साल पहले मार्च 2019 को समाप्त तिमाही में यह 3,579.67 करोड़ रुपये थी।

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयप्रगति मैदान में 19- 20 जुलाई को पांचवें International Police Expo 2019 का होगा आयोजन******5th International Police Expo 2019 will run pragati maidan from 19 to 20th July 2019आंतरिक सुरक्षा किसी भी सरकार की पहली प्राथमिकता होती है। दुनियाभर में बढ़ते आतंकवाद, साइबर अपराधों तथा समूहों के बीच विवाद की घटनाओं को देखते हुये आंतरिक सुरक्षा को मजबूत बनाने की मांग तेज़ी से बढ़ी है। ऐसी स्थिति के मद्देनजर यहां राजधानी दिल्ली केप्रगति मैदान में 19-20 जुलाई को ‘अंतरराष्ट्रीय पुलिस एक्सपो’ का आयोजन किया जा रहा है।भारत सहित 25 से अधिक देशों की कंपनियां इस ‘इंटरनेशनल पुलिस एक्स्पो’ में अपने आधुनिक उपकरणों को प्रदर्शित करेंगी। ये कंपनियां अपने अत्याधुनिक आग्नेयास्त्रों, गोला-बारूद, ड्रोन, दंगा नियन्त्रण उपकरणों, अत्याधुनिक सुरक्षा उपकरणों एवं बचाव तकनीकों का प्रदर्शन करेंगी।इसमें सिंगापुर, इजरायल, कोरिया, ताइवान, चीन, ब्रिटेन, अमेरिका, मलेशिया, जर्मनी, आस्ट्रेलिया, पौलेण्ड सहित अन्य देशों की कंपनियां भाग लेंगी।पुलिस एक्स्पो का आयोजन एशिया में कारोबारी मेलों, प्रदर्शनी एवं सम्मेलनों के अग्रणी आयोजनकर्ता नेक्सजेन एक्जिबीशन द्वारा किया जाएगा। दुनिया भर से 100 से अधिक राष्ट्रीय एवं अन्तरराष्ट्रीय संगठन और जाने-माने ब्रांड जैसे ग्लोक पिस्टल्स, आईडेमिया, फोस्टर प्लस फ्रीमैन, रोडर एचटीएच होकर जीएमबीएच, सिस्टूल्स, थर्ड आई, सेलेब्राईट, मनित ग्रुप अंसारी प्रेसीज़न, कमल नयन, डेक्कालीप टेक्नोलाजीज एलएलपी के एक्सपो में भाग लेने की उम्मीद है।नेक्सजेन एक्जिबीशन प्रा. लि़ के निदेशक विपिन कुमार बंसल का कहना है, ‘‘आज के दौर में अत्याधुनिक, प्रभावी एवं लागत-प्रभावी सुरक्षा समाधानों की मांग तेजी से बढ़ रही है। 21वीं सदी में आंतरिक सुरक्षा के नये खतरों से देश को सुरक्षित रखने के उपायों को देखते हुये छोटी सी अवधि में इंटरनेशनल पुलिस एक्स्पो ने नए रूझानों एवं आधुनिक खोजों की क्षमता के साथ पुलिस, सीआरपीएफ एवं सुरक्षा उद्योग में अच्छी लोकप्रियता हासिल कर ली है।’’ एक्सपो से जुड़ी और अधिक जानकारी के लिए यहां करें।सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमय5 राज्यों में चुनाव के बीच पेश होगा आम Budget 2022, जानिए चुनाव आयोग ने इस पर क्या कहा?******5 राज्यों में चुनाव के बीच पेश होगा आम Budget 2022, जानिए चुनाव आयोग ने इस पर क्या कहा?Highlights मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने शनिवार को यूपी, पंजाब, गोवा, उत्तराखंड और मणिपुर में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। वहीं चुनावों के दौरान ही केंद्रीय वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण आगामी 1 फरवरी को आम बजट पेश कर सकती हैं। आम बजट का चुनाव पर कितना असर पड़ेगा इसको लेकर आयोग ने शनिवार को स्थिति साफ कर दी है।मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने कहा कि निर्वाचन आयोग केंद्रीय पेश किए जाने में दखल नहीं देना चाहेगा। उन्होंने जोर देकर कहा कि बजट पेश किए जाने की वार्षिक प्रक्रिया से पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में सभी राजनीतिक दलों के लिए समान अवसर की स्थिति प्रभावित नहीं होगी। उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के कार्यक्रम की घोषणा के दौरान चंद्रा ने कहा कि केंद्रीय बजट एक वार्षिक लेखाजोखा होता है जिसे संसद के समक्ष रखा जाता है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘निर्वाचन आयोग केंद्रीय बजट पेश किए जाने में दखल नहीं देना चाहेगा क्योंकि यह पूरे देश के लिए होता है और यह सिर्फ इन पांच राज्यों तक सीमित नहीं होता।’’मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चंद्रा ने शनिवार को कहा कि इलैक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का इस्तेमाल अब कोई मुद्दा नहीं है। उन्होंने कहा कि गर्व की भावना है कि भारत ने एक ऐसी मशीन विकसित की है जो सटीक और तेज परिणाम देती है। उन्होंने उत्तर प्रदेश, पंजाब, गोवा, मणिपुर और उत्तराखंड विधानसभा के चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के लिये बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही। चंद्रा का ध्यान जब इस ओर दिलाया गया कि चुनाव हारने वाले दल ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते रहे हैं, तो इस पर उन्होंने कहा, ''ईवीएम अब कोई मुद्दा नहीं है।'' चंद्रा ने कहा, ''ईवीएम 2004 से अस्तित्व में हैं और 315 करोड़ से अधिक मतदाताओं ने ईवीएम का इस्तेमाल किया है। हम गर्व करते हैं कि इस देश ने एक ऐसी मशीन विकसित की है जो सटीक और तेज परिणाम देती है।''भारत निर्वाचन आयोग ने शनिवार को 5 राज्यों में के कार्यक्रमों की घोषणा कर दी। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिये 10 फरवरी से लेकर 7 मार्च तक 7 चरणों में मतदान होगा। वहीं उत्तराखंड, पंजाब और गोवा में एक ही चरण में 14 फरवरी को वोट डाले जाएंगे। मणिपुर में 2 चरणों में 27 फरवरी और 3 मार्च को मतदान होगा और इन सभी राज्यों के विधानसभा चुनाव की मतगणना 10 मार्च को होगी। ()

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयइस बार दिल्ली में Holi पर सड़क दुर्घटना में नहीं हुई किसी की मौत, पुलिस ने काटे 3 हजार से ज्यादा चालान****** होली पर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सोमवार (29 मार्च) को दिल्ली पुलिस ने जमकर चालान काटे। दिल्ली पुलिस ने होली के मौके पर बिना हेलमेट के 1255, ट्रिपलिंग में 170, ड्रंक एंड ड्राइव में 100, खतरनाक वाहन चलाने को लेकर 121 और 1636 अन्य मामलों में चालान काटे। दिल्ली पुलिस ने होली पर कुल 3282 चालान काटे। राहत की बात ये रही कि होली त्यौहार में दिल्ली मेंकिसी की भी फेटल एक्सीडेंट में मौत नहीं हुई है।बता दें कि, होली के दिन हुड़दंगियों से निपटने के लिए दिल्ली पुलिस ने पहले ही प्लान तैयार कर लिया था और आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए गए थे।बाइक सवारों की सुरक्षा के लिए और दोपहिया वाहनों से होने वाली दुर्घटनाओं पर काबू पाने के लिए दिल्ली पुलिस, स्पेशल चेकिंग टीम तैनात की गई थी।दिल्‍ली में होली समेत अन्‍य त्‍योहारों को लेकर गाइडलाइन जारी की गई थी। दिल्ली में सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक लगाई गई थी, यानी इकट्ठा होकर होली खेलने की इजाजत नहीं थी। लोगों को घरों में ही होली खेलने को कहा गया था। दिल्‍ली डिजास्‍टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने भीड़ इकट्ठा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का फैसला लिया था। वहीं किसी भी सार्वजनिक जगहों पर होली उत्सव की मनाही की गई थी। मुख्य सचिव विजय देव ने अधिकारियों को दिए अपने आदेश में कहा, 'सभी संबंधित अधिकारी सुनिश्चित करेंगे कि होली, शब ए बारात, नवरात्रि आदि आगामी त्योहार के दौरान भीड़ इकट्ठी नहीं हो और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सार्वजनिक रूप से त्योहार नहीं मनाए जाएं।'सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयभारत का रक्षा विनिर्माण में 2025 तक 1.75 लाख करोड़ रुपये के कारोबार का लक्ष्य******नई दिल्ली। सरकार ने देश में रक्षा विनिर्माण से 2025 तक 1.75 लाख करोड़ रुपये के कारोबार का लक्ष्य रखा है। सरकार का मानना है कि इस क्षेत्र में कोविड-19 के चलते कई चुनौतियों से जूझ रही पूरी अर्थव्यवस्था में फिर से जान फूंकने की क्षमता है। रक्षा मंत्रालय ने देश में रक्षा विनिर्माण के लिए ‘रक्षा उत्पादन एवं निर्यात संवर्द्धन नीति 2020’ का मसौदा रखा है। इसमें अगले पांच साल में रक्षा एवं एरोस्पेस क्षेत्र में सामान और सेवाओं के 35,000 करोड़ रुपये के निर्यात का लक्ष्य रखा गया है। यह सरकार के इस क्षेत्र के कुल कारोबार अनुमान 1.75 लाख करोड़ रुपये का एक हिस्सा है। इस नीति की परिकल्पना रक्षा मंत्रालय को एक व्यापक मार्गदर्शन देने वाले दस्तावेज के रूप में की गयी है।यह नीति मंत्रालय को सैन्य हार्डवेयर और मंच के उत्पादन में आत्म-निर्भर बनाने एवं निर्यात के लिए सक्षम बनाने को लेकर लक्षित, ढांचागत तरीके से निर्देशित करेगी। अधिकारियों ने कहा कि नीति का लक्ष्य एक गतिशील, वृद्धिपरक और प्रतिस्पर्धी रक्षा उद्योग को विकसित करना है। इसमें लड़ाकू विमानों के विनिर्माण से लेकर जंगी जहाज बनाना भी शामिल है जो देश के सशस्त्र बलों की जरूरत को पूरा करने में सक्षम हो। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मई में रक्षा क्षेत्र से जुड़े कई सुधारों की घोषणा की थी। इसमें स्वदेश निर्मित सैन्य उत्पादों की खरीद के लिए अलग से बजटीय आवंटन भी शामिल था। साथ ही रक्षा क्षेत्र में स्वत: मंजूरी मार्ग से प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की सीमा को 49 प्रतिशत से बढ़ाकर चौहत्तर प्रतिशत भी किया गया।वित्त मंत्री ने सालाना आधार पर ऐसे हथियारों की प्रतिबंधित सूची बनाने की भी घोषणा की थी जिनके आयात की अनुमति नहीं होगी। भारत वैश्विक रक्षा उत्पाद कंपनियों के लिए पसंदीदा बाजार है, क्योंकि पिछले आठ साल से भारत दुनिया के तीन सबसे बड़े रक्षा उत्पाद आयातकों में बना हुआ है। अगले पांच साल में भारतीय रक्षा बलों के सैन्य उत्पादों पर करीब 130 अरब डॉलर खर्च करने का अनुमान है। रक्षा उत्पादन एवं निर्यात सवंर्द्धन नीति के मसौदे में आयात पर निर्भरता कम करने और ‘मेक इन इंडिया’ पहल को आगे बढ़ाते हुए घरेलू स्तर पर उत्पादों को डिजाइन और विकसित करने की रुपरेखा भी पेश की गयी है।

हाल का ध्यान

लिंक