वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > सिंचु सिटी > मूलपाठ

Hariyali Teej 2020: हरियाली तीज के व्रत में गर्भवती महिलाएं बरतें ये सावधानियां, एक चूक भी पड़ सकती है भारी

2022-09-30 04:28:25 सिंचु सिटी

हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीNitish Kumar Oath Ceremony: बिहार में महागठबंधन की नई सरकार का शपथ ग्रहण आज, तेजस्वी यादव बनेंगे डिप्टी CM******Highlightsबिहार में महागठबंधन की नई सरकार का आजबुधवार को दोपहर 2 बजे शपथ ग्रहण होगा। वरिष्ठ जेडीयू नेता नीतीश कुमार मुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। सूत्रों के मुताबिक, राजभवन में दोपहर 2 बजे एक सादे समारोह में दोनों नेता शपथ लेंगे।नीतीश कुमार के जदयू और तेजस्वी के राजद सूत्रों ने कहा कि बाद में दो सदस्यीय मंत्रिमंडल में और मंत्रियों को शामिल किया जाएगा। बीजेपी नीत एनडीए को छोड़ नीतीश कुमार 8वीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। वह सात दलों के गठबंधन का नेतृत्व करेंगे। इस गठबंधन को एक निर्दलीय का समर्थन प्राप्त है। वहीं, तेजस्वी यादव दूसरी बार उपमुख्यमंत्री के पद पर शपथ लेंगे।गौरतलब है कि बिहार में मंगलवार को तेजी से बदलते राजनीतिक घटनाक्रम में नीतीश कुमार ने राज्यपाल फागू चौहान से दो बार मुलाकात की। नीतीश ने पहली बार में एनडीए की सरकार के मुख्यमंत्री के रूप में उन्हें अपना इस्तीफा सौंपा और फिर आरजेडी के नेतृत्व वाले महागठबंधन का नेता चुने जाने के बाद राज्य में एक बार फिर शीर्ष पद के लिए अपना दावा पेश किया। नीतीश ने कहा कि उन्होंने राज्यपाल को 164 विधायकों की सूची सौंपी है। बिहार विधानसभा में विधायकों की वर्तमान संख्या 242 है और बहुमत के लिए 122 विधायकों की जरुरत है।वहीं, बिहार प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल ने नीतीश कुमार पर 2020 के विधानसभा चुनावों के जनादेश के साथ विश्वासघात करने का आरोप लगाया और दावा किया कि नीतीश को इसके लिए बिहार की जनता सजा देगी। नीतीश कुमार का यह कदम 2017 में जो हुआ था उसका उलटा है, तब वह महागठबंधन का साथ छोड़कर एनडीए में फिर से शामिल हो गए थे। नीतीश ने सहयोगी बीजेपी का साथ नौ साल में दूसरी बार छोड़ा है। नरेंद्र मोदी को गठबंधन का प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद उन्होंने 2013 में एनडीए का साथ छोड़ दिया था।जेडीयू की बैठक के बाद नीतीश कुमार अपना इस्तीफा सौंपने के लिए राजभवन गए। बैठक में सहयोगी बीजेपी पर पीठ में छुरा घोंपने का आरोप लगाया गया। नीतीश ने कहा, "पार्टी की बैठक में यह तय किया गया है कि हम एनडीए छोड़ दें, इसलिए मैंने एनडीए सरकार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है।" इसके तुरंत बाद वह पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास गए, जहां आरजेडी, कांग्रेस और वाम दलों सहित महागठबंधन के सभी नेता एकत्र हुए थे।

हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीRavivar Upay: चाहते हैं कर्ज से मुक्ति तो रविवार को करें ये खास उपाय, पारिवारिक समस्या का भी निकलेगा हल******21 अगस्त को भाद्रपद कृष्ण पक्ष की दशमी तिथि और रविवार का दिन है। दशमी तिथि 21 अगस्त का पूरा दिन पार कर के देर रात 3 बजकर 35 मिनट तक रहेगी। आज रात 10 बजकर 39 मिनट तक हर्षण योग रहेगा। हर्ष का अर्थ होता है खुशी, प्रसन्नता। अत: इस योग में किए गए कार्य खुशी ही प्रदान करते और भाग्य का साथ बना रहता है। साथ ही आज का पूरा दिन मृगशिरा नक्षत्र रहेगा। आकाशमंडल में स्थित 27 नक्षत्रों में से मृगशिरा पांचवां नक्षत्र है। मृगशिरा का अर्थ है - हिरण का सिर।शुभ फलों की प्राप्ति के लिए बिजनेस का फ्लो फिर से बढ़ाने के लिए, कोर्ट-केस की उलझनों से मुक्ति पाने के लिए, नौकरी में आमदनी बढ़ाने के लिए, जीवन के हर क्षेत्र में सफलता पाने के लिए, संतान को विदेश भेजने में आ रही परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए, उन्नति के मार्ग में आये दिन मुसीबतों का सामना करने से बचने के लिये, अपने पास पैसों की बचत करने के लिये, मेहनत का उचित फल पाने के लिये, दाम्पत्य जीवन में फिर से खुशियां भरने के लिए, घर की सुख-सम्पदा में स्थायी रूप से बढ़ोत्तरी के लिए और प्रेम-विवाह में आ रही अड़चनों से पीछा छुड़ाने के लिए, आपको क्या उपाय करने चाहिए? ये सब जानिए इंदु प्रकाश से।हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीइराक की राजधानी बगदाद में बम विस्फोट, 30 लोगों की मौत****** इराक की राजधानी बगदाद के उपनगर में सोमवार को सड़क किनारे हुए बम धमाके में कम से कम 30 लोगों की मौत हो गई जबकि दर्जनों अन्य घायल हो गए। इराकी सुरक्षा अधिकारियों ने यह जानकारी दी। इराकी सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि विस्फोट सद्र शहर में एक भीड़भाड़ वाले बाजार में हुआ। यह विस्फोट ईद-उल-अजहा से एक दिन पहले हुआ है जब लोग बाजार में खरीदारी में व्यस्त थे।इराक के दो सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि इस विस्फोट में कम से कम 30 लोगों की मौत हो गयी जबकि दर्जनों अन्य घायल हो गये हैं । किसी भी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन इस्लामिक स्टेट इलाके में पहले इस तरह के हमलों की जिम्मेदारी लेता रहा है बयान के अनुसार, प्रधान मंत्री मुस्तफा अल-कदीमी ने बाजार के क्षेत्र के लिए जिम्मेदार संघीय पुलिस रेजिमेंट के कमांडर को गिरफ्तार करने का आदेश दिया है ।बयान में यह भी कहा गया है कि इसकी जांच की जा रही है। इस साल यह तीसरा मौका है जब बाजार में विस्फोट हुआ है ।इससे पहले जून में सदर शहर के एक बाजार में एक कियोस्क के नीचे रखे बम में विस्फोट होने से 15 लोग घायल हो गए थे। वहीं अप्रैल में सदर शहर में एक कार बम हमले में कम से कम चार लोगों की मौत हो गई थी। यह धमाका बाजार में खड़ी कार में रखे विस्फोटकों के चलते हुआ था।इनपुट-एपी/भाषा

Hariyali Teej 2020: हरियाली तीज के व्रत में गर्भवती महिलाएं बरतें ये सावधानियां, एक चूक भी पड़ सकती है भारी

हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीADR रिपोर्ट में खुलासा, हरियाणा विधानसभा में 16 विधायकों ने एक भी प्रश्न नहीं पूछा****** हरियाणा में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव होने हैं। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स () और हरियाणा इलेक्शन वॉच (एचईडब्ल्यू) ने 13वीं विधानसभा के विधायकों के प्रदर्शन को दर्शाया है। 91 सदस्यों वाले सदन में से केवल 75 विधायकों ने ही प्रश्न पूछे, जबकि 16 विधायकों ने कोई प्रश्न नहीं पूछा।कुल 174 विधेयकों में से 170 पास हुए, जोकि 98 प्रतिशत के साथ प्रभावशाली रहा। यह आकंड़ा सदन में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बहुमत और विपक्ष के बिखरे होने को उजागर करता है।चुनाव वॉचडॉग्स (एडीआर और एचईडब्ल्यू) के मुताबिक, 91 सदस्यों वाले सदन में से केवल 75 विधायकों ने ही प्रश्न पूछे। जबकि 16 विधायकों ने कोई प्रश्न नहीं पूछा। यदि प्रश्न पूछा जाना विधायकों के प्रदर्शन का पैमाना माना जाए तो कांग्रेस की तोशाम निर्वाचन क्षेत्र की विधायक किरण चौधरी 225 प्रश्नों के साथ शीर्ष पर रहीं।उनके बाद डबवाली विधानसभा क्षेत्र से इंडियन नेशनल लोकदल की नैना सिंह चौटाला का स्थान है। प्रश्न पूछे जाने को लेकर शीर्ष दस नेताओं की बात की जाए तो सत्तारूढ़ भाजपा की सिर्फ एक विधायक प्रेम लता का नाम सामने आता है।लेकिन 16 विधायक ऐसे हैं जिन्होंने न ही राज्य के बारे में और न ही अपने निर्वाचन क्षेत्रों से संबंधित मुद्दों के बारे में एक भी सवाल पूछने की जहमत उठाई। इस सूची में कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता और भाजपा प्रवक्ता कैप्टन अभिमन्यु के नाम भी शामिल हैं।एडीआर का नेतृत्व कर रहे सेवानिवृत्त मेजर जनरल अनिल वर्मा ने कहा, "मुझे नहीं पता कि वे सवाल पूछने के लिए उत्सुक क्यों नहीं हैं। कई मामलों को लेकर यह खुशहाल प्रदेश नहीं है।"हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीKK Last Song Sherdil: दिवंगत गायक KK का आखिरी गाना 'धूप पानी बहने दे' इस दिन होगा रिलीज******पंकज त्रिपाठी अभिनीत आगामी फिल्म 'शेरदिल : द पीलीभीत सागा' के गीत 'धूप पानी बहने दे' सोमवार (6 जून) को रिलीज होगा। कई राष्ट्रीय पुरस्कारों के प्राप्तकर्ता श्रीजीत मुखर्जी द्वारा निर्देशित, 'शेरदिल' टी-सीरीज और रिलायंस एंटरटेनमेंट द्वारा प्रस्तुत किया जा रहा है।बता दें कि बीते 31 मई को गायक केके ने दुनिया को अलविदा कह दिया था। कोलकाता में आयोजित हुआ इवेंट उनकी जिंदगी का आखिरी इवेंट साबित हुआ।फिल्म की कहानी जंगल के किनारे बसे एक गांव के लोगों की है, जिन्हें हर दिन कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस फिल्म में शहरीकरण की वजह से कम होते जंगल और उसकी वजह से पैदा हुई समस्याओं के साथ मानव-पशु संघर्ष और गरीबी को दिखाने की कोशिश की गई है।पंकज त्रिपाठी के अलावा, फिल्म में नीरज काबी और सयानी गुप्ता भी महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभा रहे हैं। फिल्म 24 जून को रिलीज होने वाली है।'शेरदिल : द पीलीभीत सागा' गुलशन कुमार, टी-सीरीज फिल्म और रिलायंस एंटरटेनमेंट द्वारा प्रस्तुत किया गया है और मैच कट प्रोडक्शंस के साथ भूषण कुमार और रिलायंस एंटरटेनमेंट द्वारा निर्मित है।हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीTamil Nadu News: अमेरिका में मिली देवी पार्वती की मूर्ति, 50 साल पहले तमिलनाडु के इस मंदिर से हुई थी चोरी******Highlights तमिलनाडु में कुंभकोणम शहर के थंडाथोट्टम स्थित नंदनपुरेश्वर सिवन मंदिर से करीब 50 साल पहले चोरी हुई देवी पार्वती की मूर्ति अमेरिका के न्यूयॉर्क में मिली है। तमिलनाडु के अपराध अन्वेषण विभाग (CID) के प्रतिमा प्रकोष्ठ ने सोमवार को यह जानकारी दी।सीआईडी ने बताया कि मूर्ति न्यूयॉर्क के बोनहम्सो नीलामी घर से मिली है। इसने बताया कि मूर्ति के चोरी होने की शिकायत वर्ष 1971 में स्थानीय पुलिस से की गई थी और प्रतिमा प्रकोष्ठ ने के. वासु नामक व्यक्ति की शिकायत पर फरवरी 2019 में प्राथमिकी दर्ज की और तब से मामला लंबित है।सीआईडी ने बताया कि इस मामले पर ध्यान हाल में तब गया जब प्रतिमा प्रकोष्ठ की निरीक्षक एम. चित्रा ने जांच शुरू की और उन्होंने विदेश के विभिन्न संग्रहालयों और नीलामी घरों में देवी पार्वती की चोल काल की प्रतिमाओं संबंधी जानकारी एकत्र करनी शुरू की। गहन जांच के बाद चित्रा ने बताया कि चोरी गई प्रतिमा बोनहम्सो नीलामी घर में है।प्रतिमा प्रकोष्ठ के मुताबिक, 12वीं सदी में चोल शासन के दौरान तांबा मिश्रित धातु से बनी मूर्तिकी लंबाई 52 सेंटीमीटर है और इसकी कीमत करीब 1,68,26,143 रुपये है। दक्षिण भारत में पार्वती को उमा के नाम से भी पूजा जाता है और उनकीमूर्ति आमतौर पर खड़ी अवस्था में होती है। सीआईडी के प्रतिमा प्रकोष्ठ के पुलिस महानिदेशक जयंत मुरली के मुताबिक, उनकी टीम ने मूर्ति को वापस लाने के लिए कागजात तैयार कर लिए हैं।वहीं, यूपी के महोबा जिले के निसवारा गांव में साईं जी मंदिर से सोने के मुकुट की चोरी का मामला सामने आया है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मुकुट चारी के संबंध में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। महोबा की पुलिस अधीक्षक (एसपी) सुधा सिंह ने बताया कि निसवारा गांव में भगवान साईं जी के मन्दिर से पुजारियों को नशीला पदार्थ खिलाकर साईं की मूर्ति से सोने के मुकुट की चोरी का मामला सामने आया। इस संदर्भ में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।उन्होंने बताया कि प्रथम दृष्टया प्रतीत होता है कि मंदिर के पुजारी और सुरक्षा गार्ड को बदमाशों ने नशीला पदार्थ खिलाया और इसके बाद आरोपी मुकुट चोरी कर ले गए, जिसकी कीमत लाखों रुपये बताई जा रही है। अचेत अवस्था में पुजारियों एवं सुरक्षा गार्ड को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एसपी ने बताया कि निसवारा गांव में आठ साल पहले भव्य श्री साईं मंदिर का निर्माण कराया गया था। जहां प्रतिदिन पूजा-अर्चना के लिए भक्तों की भीड़ जुटती है।

Hariyali Teej 2020: हरियाली तीज के व्रत में गर्भवती महिलाएं बरतें ये सावधानियां, एक चूक भी पड़ सकती है भारी

हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीRavi Shastri- Hardik Pandya : रवि शास्त्री ने बताया, विश्व कप में क्यों हारी टीम इंडिया, आप भी रह जाएंगे हैरान******Highlightsटीम इंडिया साल 2013 के बाद से एक भी बार आईसीसी की ट्रॉफी अपने नाम नहीं कर पाई है। उस साल एमएस धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम ने चैंपियंस ट्रॉफी पर कब्जा किया था, लेकिन उसके बाद से भारतीय टीम एक अदद आईसीसी ट्रॉफी के लिए भी तरस रही है। इस बीच विराट कोहली टीम इंडिया के लंबे अर्से तक कप्तान रहे और रवि शास्त्री जैसा दिग्गज खिलाड़ी कोच रहा, इसके बाद भी भारतीय टीम बड़े मौकों पर चूकती रही है। इस बीच हेड कोच से अब कमेंटेटर बच चुके रवि शास़्त्री ने बड़ी बात कही है, उन्होंने इस बात का खुलासा किया है कि भारतीय टीम विश्व कप जीतने में कामयाब क्यों नहीं हो पाई। इसका क्या कारण रहा।भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेली जा रही वन डे सीरीज के दौरान हेड कोच रहे रवि शास्त्री ने फैनकोड से बात करते हुए कहा है कि वे हमेशा से चाहते रहे हैं कि टीम के टॉप 6 में कुछ ऐसे खिलाड़ी हों, जो मौका पड़ने पर गेंदबाजी करे और विकेट भी निकाले जाएं। उन्होंने बताया कि टी20 विश्व कप 2021 से पहले हार्दिक पांड्या चोटिल हो गए थे और इसके बाद ये समस्य बड़ी हो गई थी। रवि शास्त्री का कहना है हमारे पास हार्दिक पांड्या एक बेहतर विकल्प थे, लेकिन वे चोटिल हो गए और इसके बाद परेशानी बढ़नी शुरू हो गई। हमारे पास टॉप 6 में गेंदबाजी का कोई ऑप्शन ही नहीं था। काफी हद तक यही कारण साल 2019 में खेले गए वन डे विश्व कप में भी रहा। रवि शास्त्री ने ये भी कहा कि सेलेक्टर्स से उन्होंने कहा था कि हार्दिक पांड्या के विकल्प की खोज की जानी चाहिए।आपको याद ही होगा कि टी20 विश्व कप 2021 में हार्दिक पांड्या बतौर ऑलराउंडर शामिल किए गए थे, लेकिन वे एक भी मैच में गेंदबाजी नहीं कर सके। इतना ही नहीं, वे बल्ले से भी उस तरह का योगदान नहीं दे पाए, जिसके लिए वे जाने और पहचाने जाते हैं। टी20 विश्व कप के बाद उन्होंने रेस्ट लिया, अपनी तैयारी की और फिर सीधे आईपीएल में उतरे। इस बार मुंबई इंडियंस ने उन्हें रिलीज कर दिया था, इसलिए वे गुजरात टाइटंस के साथ जुड़े और उन्होंने अपनी कप्तानी में टीम को पहली बार में ही आईपीएल का खिताब दिला दिया। इसके बाद उनकी टीम इंडिया में वापसी हुई। आईपीएल से ही उन्होंने गेंदबाजी शुरू कर दी थी और अभी भी भारतीय टीम के लिए कर रहे हैं। साथ ही विकेट भी निकाल रहे हैं। अब इसल साल फिर से विश्व कप होना है, इसमें भारतीय टीम नए इरादोें के साथ उतरने की तैयारी कर रही है।हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीUttarakhand: उपजिलाधिकारी को BJP विधायक के खिलाफ थाने में शिकायत करना पड़ा भारी, हो गया ट्रांसफर******Highlightsपुरोला से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक दुर्गेश्वर लाल के खिलाफ पुलिस थाने में तहरीर देने वाले उपजिलाधिकारी सोहन सिंह सैनी का राज्य सरकार ने रविवार को तबादला कर दिया। सैनीको तत्काल पौड़ी जिले में गढ़वाल मंडल आयुक्त के कार्यालय से संबद्ध कर दिया। प्रदेश के पर्सवनल और विजिलेंस विभाग की ओर से जारी एक आदेश में सैनी को तत्काल अपने वर्तमान पदभार से कार्यमुक्त होकर अपने नये तैनाती स्थल में कार्यभार ग्रहण करने को कहा गया है।गौरतलब है कि उपजिलाधिकारी सैनी ने विधायक दुर्गेश्वर लाल के खिलाफ पुलिस में तहरीर दी। पुलिस ने बताया कि उपजिलाधिकारी ने जनप्रतिनिधि और उनके समर्थक कृष्णा सिंह के खिलाफ पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराते हुए सोशल मीडिया में उनकी छवि धूमिल करने, उन्हें अनुसूचित जाति एवं जनजाति अधिनियम के तहत फंसाने और जान से मारने की धमकी देने संबंधी आरोप लगाये। पुलिस को दी गई तहरीर में सैनी ने आरोप लगाया है कि विधायक जानबूझकर अपने समर्थक सिंह के माध्यम से सोशल मीडिया में उन्हें बदनाम कर रहे हैं जिससे उनकी और विभाग की छवि धूमिल हो रही है।​पुलिस तहरीर में लगाए गए सैनी के आरोपों के जवाब में विधायक ने दावा किया कि कई महीनों से शिकायतें आ रही थीं कि उनका आम जनता के साथ अच्छा रवैया नहीं है और बिना सुविधा शुल्क के तहसील में कोई भी काम नहीं हो रहा है। विधायक ने कहा कि अतिक्रमण हटाने के नाम पर गरीब लोगों के साथ भेदभावपूर्ण व्यवहार की शिकायत के बारे में उनके द्वारा बताए जाने पर भी उपजिलाधिकारी ने कोई दिलचस्पी नहीं ली। उन्होंने कहा, ‘‘इससे स्पष्ट है कि यदि वह निर्वाचित जनप्रतिनिधि के आदेशों की अवहेलना कर सकते हैं तो आम जनता की बात कैसे सुनते होंगे।’’लाल ने यह भी आरोप लगाया कि उपजिलाधिकारी प्रत्येक शनिवार को भोजनावकाश के बाद कार्यक्षेत्र छोड़कर सरकारी गाड़ी से अपने घर चले जाते हैं जो सरकारी धन का दुरुपयोग है। उन्होंने कहा कि इससे लोगों विशेषकर महिलाओं को अपने कार्य हेतु उनके आवास पर जाने में बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

Hariyali Teej 2020: हरियाली तीज के व्रत में गर्भवती महिलाएं बरतें ये सावधानियां, एक चूक भी पड़ सकती है भारी

हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीStock Market: Sensex 949 प्वाइंट लुढ़का, Nifty में भी देखी गई गिरावट****** कमजोर वैश्विक रूझानों और विदेशी निवेश की निकासी के बीच सोमवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स में करीब 949 अंक टूट गया। इस दौरान सभी प्रमुख सूचकांकों में गिरावट हुई। लगातार चौथे कारोबारी सत्र में गिरावट के साथ 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 949.42 अंक गिरकर 57,149.50 अंक पर आ गया। एनएसई निफ्टी 254.4 अंक टूटकर 17,072.95 अंक पर था।सेंसेक्स में पावर ग्रिड, टाटा स्टील, मारुति, महिंद्रा एंड महिंद्रा, एनटीपीसी, इंडसइंड बैंक, एक्सिस बैंक और टाइटन गिरने वाले प्रमुख शेयरों में शामिल थे। दूसरी ओर नेस्ले और हिंदुस्तान यूनिलीवर बढ़त के साथ कारोबार कर रहे थे। अन्य एशियाई बाजारों में सोल, तोक्यो और शंघाई के बाजार लाल निशान में थे, जबकि हांगकांग में मामूली बढ़त थी। अमेरिकी बाजार शुक्रवार को कमजोरी के साथ बंद हुए थे।शुक्रवार को सेंसेक्स 1,020.80 अंक या 1.73 प्रतिशत की गिरावट के साथ 58,098.92 पर बंद हुआ था। निफ्टी 302.45 अंक या 1.72 प्रतिशत की गिरावट के साथ 17,327.35 पर बंद हुआ था। इस बीच अंतरराष्ट्रीय तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 0.59 फीसदी की गिरावट के साथ 85.64 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर आ गया। शेयर बाजार के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों ने शुक्रवार को शुद्ध रूप से 2,899.68 करोड़ रुपये के शेयर बेचे।जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, "अमेरिका के दस वर्षीय बॉन्ड यील्ड में वृद्धि और मजबूत डॉलर सूचकांक ने विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) को उभरते बाजारों में बिकवाली के लिए मजबूर किया।" उन्होंने कहा, "बैंकिंग प्रणाली में नकदी की कमी, कमजोर घरेलू मुद्रा और मौजूदा प्रीमियम मूल्यांकन ने छोटी अवधि के लिए बाजार परिदृश्य में मंदी की आशंका पैदा कर दी है।" नायर ने कहा, "कई देशों के केंद्रीय बैंकों द्वारा मौद्रिक नीति में आक्रामक रूख अपनाने से वैश्विक आर्थिक वृद्धि मंदी की स्थिति में हैं, जबकि भारत वर्तमान में ऋण वृद्धि में तेजी और कर संग्रह में बढ़ोतरी के साथ बेहतर स्थिति में है। मौजूदा अस्थिरता कुछ समय के लिए बनी रह सकती है। निवेशक तब तक प्रतीक्षा करें, जब तक कि स्थिति कुछ स्पष्ट न हो जाए।" साप्ताहिक आधार पर बीएसई सेंसेक्स में 741.87 अंक या 1.26 प्रतिशत तथा निफ्टी में 203.50 अंक या 1.16 प्रतिशत की गिरावट आई है। एमके वेल्थ मैनेजमेंट के शोध प्रमुख जोसेफ थॉमस ने कहा कि घरेलू इक्विटी बाजारों में मुख्य रूप से विदेशी बाजारों और विशेष रूप से अमेरिका के घटनाक्रम के मद्देनजर कम कारोबार हुआ।

हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीगर्दन के कालेपन से हैं परेशान तो ऐसे करें टमाटर का इस्तेमाल******लड़कियां अक्सर शरीर के कुछ हिस्सों के कालेपन से परेशान रहती हैं। कई बार शरीर के कुछ हिस्सों की अनदेखी करने की वजह से वहां का रंग काला पड़ने लगता है। ऐसे ही कुछ हिस्सों में गर्दन भी शामिल होती है। गोरे चेहरे के साथ काली गर्दन देखने में काफी भद्दी लगती है, लेकिन एक बार अगर कालापन आ जाए तो आसानी से साफ नहीं होता। ऐसी कोई समस्या है तो जानिए ऐसे घरेलू उपाय जो चंद मिनटों में इस समस्या से छुटकारा दिलाने में मददगार साबित हो सकते हैं, तो चलिए जानते वो उपाय-कालेपन की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए आप टमाटर पल्‍प का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। टमाटर का ताजा पल्‍प आप 5 से 10 म‍िनट के ल‍िए गर्दन पर लगाकर रखें फ‍िर साफ पानी से गर्दन को धो लें। इससे कालेपन से कुछ हद तक छुटकारा पाया जा सकता है।टमाटर के रस में हल्‍दी पाउडर म‍िलाएं और इस म‍िश्रण को गर्दन पर लगाएं। इसके बाद हल्के हाथों से मसाज करें। 5 से 8 म‍िनट तक इंतजार करें फ‍िर साफ पानी से धो लें। इसको धोने के बाद आपको स्किन पहले से साफ दिखेगी।बेक‍िंग सोडा में ताजे टमाटर का रस और थोड़ा पानी म‍िलाएं । इसे दो से तीन बार हफ्ते में लगाएं तो काली गर्दन से छुटकारा पा सकते हैं। बेक‍िंग सोडा का इस्‍तेमाल करने से स्‍क‍िन साफ होती है।टमाटर जूस और नींबू का रस बराबर मात्रा में लें। दोनों को अच्‍छी तरह मिला लें। इसे गर्दन पर हल्के हाथों से लगाएं । 5 से 10 मिनट तक इंतजार करें, फ‍िर साफ पानी से धो लें। इसके बाद आपको फर्क देखने को मिलेगा।टमाटर में कच्‍चा दूध मिलाकर एक मिश्रण बना लें। फिर इसे गर्दन पर लगा लें। आप इस म‍िश्रण को आधे घंटे तक लगाकर रूई से पोंछ सकते हैं। इसके बाद आपकी स्किन चमकने लगेगी।हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीMNS चीफ राज ठाकरे की मांग, कहा- महाराष्ट्र के दूरदर्शन चैनल सह्याद्रि पर केवल मराठी भाषा के कार्यक्रम प्रसारित हों******Highlights अपने विवादित बयानों और तीखे तेवरों में दिए जाने वाले भाषणों की वजह से सुर्खियों में रहने वाले महाराष्ट्र नव निर्माण सेना के चीफ राज ठाकरे ने एक और अजीबोगरीब मांग की है। एमएनएस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए कहा गया है कि राज ठाकरे ने एक पत्र के जरिए मांग की है कि दूरदर्शन के महाराष्ट्र चैनल पर केवल मराठी भाषा में ही कार्यक्रम प्रसारित हों। इस पत्र को लेकर एमएनएस के नेता नितिन सरदेसाई और बाल नंदगांवकर ने दूरदर्शन के महासंचालक नीरज अग्रवाल से मुलाकात भी कर ली है।राज ठाकरे बीते कुछ दिनों से महाराष्ट्र में ज्यादा सक्रिय लग रहे हैं। बीते दिनों ही उन्होंने महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात की थी। दरअसल, महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को मुंबई में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के अध्यक्ष राज ठाकरे से मुलाकात की थी। फडणवीस ने मध्य मुंबई के दादर में स्थित राज ठाकरे के आवास ‘शिवतीर्थ’ पर जाकर उनसे मुलाकात की थी। बता दें कि राज ठाकरे की पिछले महीने ही एक सर्जरी हुई थी, जिसके बाद दोनों नेताओं के बीच यह पहली मुलाकात है। ‘शिवतीर्थ’ पहुंचे फडणवीस का जोरदार स्वागत हुआ। राज ठाकरे की पत्नी शर्मिला ठाकरे ने उनकी आरती उतारी और उन्हें महाराष्ट्र का उपमुख्यमंत्री बनने की बधाई दी।बता दें कि इस महीने की शुरुआत में ठाकरे ने फडणवीस को एक ओपन लेटर लिखा था, जिसमें उन्होंने मुख्यमंत्री पद की दौड़ में सबसे आगे होने के बावजूद उपमुख्यमंत्री पद स्वीकार करने के लिए उनकी तारीफ की थी। BMC के आगामी चुनाव और मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में महाराष्ट्र मंत्रिमंडल के होने वाले विस्तार के मद्देनजर दोनों नेताओं के बीच हुई यह बैठक बेहद महत्वपूर्ण मानी जा रही है। हालांकि इस मुलाकात को एक शिष्टाचार भेंट बताया जा रहा है, लेकिन माना जा रहा है कि राज के बेटे अमित ठाकरे को सरकार में शामिल कर बीजेपी उद्धव ठाकरे को एक और बड़ा झटका देना चाहती है।

हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीSutlej Yamuna link Canal Issue: सतलुज-यमुना लिंक पर सुप्रीम कोर्ट की सख्त टिप्पणी, 'पंजाब सरकार खुद आगे आकर सुलझाए विवाद'******सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को मौखिक रूप से कहा कि कभी-कभी समाधान अदालत से परे होता है और दशकों पुराने सतलुज-यमुना लिंक (SYL) नहर विवाद पंजाब और हरियाणा के बीच के समाधान के संबंध में यदि पक्ष सहयोग करने में विफल रहते हैं, तो वह कड़ा रुख अपना सकता है। अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने न्यायमूर्ति संजय किशन कौल की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष कहा कि पंजाब सरकार एसवाईएल नहर विवाद को सुलझाने में सहयोग नहीं कर रही है।वेणुगोपाल ने पंजाब सरकार का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील को यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देश देने की मांग की कि मुख्यमंत्री अपने हरियाणा समकक्ष के साथ चर्चा में भाग लें। पीठ ने कहा कि कभी-कभी समाधान अदालत से थोड़ा परे होता है, लेकिन फिर या तो अदालत कठोर रुख अपनाती है या पक्ष सहयोग करते हैं। पीठ ने कहा कि जल शक्ति मंत्रालय के सचिव की ओर से संबोधित 5 सितंबर को एक पत्र एजी द्वारा रिकॉर्ड में लाया गया था।न्यायमूर्ति कौल ने कहा, "मैं उम्मीद कर रहा हूं कि संबंधित हितधारक यह महसूस करेंगे कि चर्चा से दूर रहना आगे का रास्ता नहीं है।" जैसा कि पंजाब के वकील ने कहा कि सरकार भी इस मुद्दे को सौहार्दपूर्ण ढंग से हल करने की इच्छुक है, पीठ ने जवाब दिया कि उसे कार्रवाई में प्रतिबिंबित करना चाहिए। बेंच में जस्टिस एएस ओका और विक्रम नाथ भी शामिल थे। उन्होंने कहा कि एजी सही है कि मुख्यमंत्रियों को मिलना चाहिए, और कहा कि पानी एक प्राकृतिक संसाधन है और जीवित प्राणियों को इसे साझा करना सीखना चाहिए। इसमें आगे कहा गया है कि पार्टियों के पास 'व्यापक दृष्टिकोण' होना चाहिए और उन्हें एक समझौते पर बातचीत करनी चाहिए।केंद्र का प्रतिनिधित्व करने वाले एजी ने प्रस्तुत किया कि 2017 में, शीर्ष अदालत ने कहा था कि मामले को सौहार्दपूर्ण ढंग से सुलझाया जाना चाहिए और जल संसाधन मंत्रालय पंजाब और हरियाणा के बीच समझौता करने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने बताया कि पंजाब के तत्कालीन मुख्यमंत्री को 2020 और 2021 में पत्र भेजे गए थे, लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई।पीठ को बताया गया कि इस साल अप्रैल में एक पत्र भेजा गया था, लेकिन सीएम ने कोई जवाब नहीं दिया। एजी ने जोर देकर कहा कि पंजाब को चर्चा की मेज पर आना चाहिए। वेणुगोपाल ने राज्यों को चार महीने का सुझाव दिया और इस दौरान पहले महीने के अंत में दोनों मुख्यमंत्रियों की मुलाकात होगी। दलीलें सुनने के बाद, शीर्ष अदालत ने केंद्र को प्रगति रिपोर्ट जमा करने के लिए चार महीने का समय दिया और मामले की सुनवाई अगले साल 19 जनवरी को निर्धारित की।हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीअब Instagram से नहीं भेज पाएंगे इस तरह के फोटो, कंपनी कर रही इस नए फीचर पर काम****** इंस्टाग्राम यूजर्स को उनके डायरेक्ट मैसेजिस (DM) में अनजान लोगों से न्यूड और गलत तरह के कंटेंट प्राप्त करने से बचाने के लिए एक नए फीचर पर काम करना शुरु कर दिया है। इस फीचर्स की मांग यूजर्स के तरफ से काफी पहले से किया जा रहा था। इसके आ जाने से इंस्टा यूज करने वाले ग्राहंको को काफी मदद मिलेगी।एक रिपोर्ट के मुताबिक, "इंस्टाग्राम चैट के लिए न्यूडिटी प्रोटेक्शन पर काम कर रहा है। आपके डिवाइस की टेक्नोलॉजी उन तस्वीरों को कवर करती है जिनमें चैट में नग्नता हो सकती है। इंस्टाग्राम तस्वीरों को एक्सेस नहीं कर सकता।"मेटा ने द वर्ज से पुष्टि की है कि इस तरह के फीचर इंस्टाग्राम यूजर्स की प्राइवेसी की रक्षा के लिए विकसित किए जा रहे हैं। कंपनी के प्रवक्ता के हवाले से कहा गया है, "हम विशेषज्ञों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि ये नए फीचर्स लोगों की गोपनीयता को बनाए रखें, साथ ही उन्हें प्राप्त होने वाले संदेशों पर नियंत्रण दें।"मेटा ने कहा कि तकनीक उसे वास्तविक संदेशों को देखने की अनुमति नहीं देगी और न ही उन्हें तीसरे पक्ष के साथ साझा करने की अनुमति देगी। यह कदम ऐसे समय में उठाया गया है जब यूके स्थित एक गैर-लाभकारी केंद्र फॉर काउंटरिंग डिजिटल हेट ने पाया कि इंस्टाग्राम के टूल 'हाई-प्रोफाइल महिलाओं को भेजे गए' इमेज-आधारित अपमानजनक डायरेक्ट मैसेजिस के 90 प्रतिशत पर कार्रवाई करने में विफल रहे हैं।पिछले साल, युवा उपयोगकर्ताओं को अपने मंच पर एक सुरक्षित, निजी अनुभव देने के लिए, इंस्टाग्राम ने 16 साल से कम उम्र के उपयोगकर्ताओं के खातों को डिफॉल्ट रूप से निजी बनाकर संभावित संदिग्ध खातों के लिए युवाओं को ढूंढना मुश्किल बना दिया था। इसने युवा लोगों तक पहुँचने के लिए विज्ञापनदाताओं के विकल्पों को भी सीमित कर दिया। कंपनी ने नई तकनीक विकसित की है जो संभावित रूप से संदिग्ध व्यवहार दिखाने वाले खातों का पता लगाती है और उन खातों को युवा लोगों के खातों से इंटरैक्ट करने से रोकती है।

हरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीदिल्ली में 1901 के बाद इस साल हुई सर्वाधिक रिकॉर्ड बारिश: IMD******इस वर्ष राजधानी दिल्ली में बारिश ने नया रिकॉर्ड बनाया है।दिल्ली में इस साल अब तक 1,502.8 मिमी बारिश हो चुकी है जोकि एक वर्ष में राष्ट्रीय राजधानी में होने वाली बारिश का एक नया रिकॉर्ड है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में 1933 में 1,420.3 मिमी वर्षा हुई थी, जोकि 1901-2021 की अवधि के दौरान एक साल में हुई सबसे अधिक वर्षा थी। राष्ट्रीय राजधानी में 1933, 1964 और 1975 के बाद 121 वर्षों में यह चौथी बार है जब दिल्ली में 1,200 मिमी से अधिक वर्षा हुई है।सफदरजंग वेधशाला जिसे दिल्ली के मौसम संबंधी आधिकारिक आंकड़े मुहैया कराने वाला माना जाता है, ने सोमवार शाम तक 1,502.8 मिमी बारिश दर्ज की है। एक अधिकारी ने कहा कि 1901 के बाद से राजधानी में यह दूसरी सबसे अधिक बारिश है जब से आईएमडी ने आंकड़े जुटाना शुरू किया था। दिल्ली में पिछले साल 773.2 मिमी बारिश दर्ज की गई थी।निजी पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट वेदर के उपाध्यक्ष महेश पलावत ने कहा, ‘‘यह सिर्फ एक तीव्र पश्चिमी विक्षोभ की बात है। इस बात की बहुत अधिक संभावना है कि दिल्ली में इस साल वार्षिक वर्षा का एक नया रिकॉर्ड देखने को मिलेगा। आम तौर पर सर्दियों के मौसम में हर महीने तीन से चार पश्चिमी विक्षोभ दर्ज किए जाते हैं, जिससे पहाड़ी क्षेत्र में बर्फबारी होती है और उत्तरी मैदानी इलाकों में बारिश होती है।’’आम तौर पर, दिल्ली में मानसून के मौसम में 653.6 मिमी बारिश दर्ज की जाती है। पिछले साल राजधानी में 576.5 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी। दिल्ली में 1975 में 1,155.6 मिमी, 1964 में 1,190.9 मिमी वर्षा दर्ज की थी जबकि 1933 में अब तक की रिकॉर्ड 1,420.3 मिमी वर्षा दर्ज की गयी थी।इनपुट-भाषाहरियालीतीजकेव्रतमेंगर्भवतीमहिलाएंबरतेंयेसावधानियांएकचूकभीपड़सकतीहैभारीदिल्ली सरकार ने 15 अक्टूबर तक धार्मिक स्थल खोलने की अनुमति दी****** नवरात्रि उत्सव से ठीक एक सप्ताह पहले ने कोविड-19 दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन करते हुए धार्मिक स्थलों को शुक्रवार से 15 अक्टूबर तक फिर से खोलने की अनुमति दी है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) द्वारा गुरुवार को जारी ताजा कोविड-19 दिशानिर्देशों के अनुसार, मेलों, रैलियों और जुलूसों के साथ बड़ी सभाओं की अनुमति नहीं होगी। महामारी की दूसरी लहर के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में सभी धार्मिक स्थलों को अप्रैल से बंद कर दिया गया था।सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा समारोह पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है और लोगों को सलाह दी गई है कि वे अपने घरों में इस उत्सव को मनाएं। डीडीएमए ने इस साल रामलीला, दशहरा और दुर्गा पूजा पंडालों को भी अनुमति दी है, लेकिन मानक संचालन प्रक्रियाओं (SOP) का सख्ती से पालन करते हुए त्योहार मनाना है।आदेश के अनुसार, सभी कार्यक्रम आयोजकों को पहले से उत्सव के आयोजन के लिए संबंधित जिलाधिकारियों से अपेक्षित अनुमति लेनी होगी और सभी आयोजन स्थल की क्षमता क्षेत्र और सामाजिक दूरी के मानदंडों पर निर्भर करेगी। ये आदेश 15 अक्टूबर मध्यरात्रि तक जारी रहेंगे। दुर्गा पूजा और दशहरा दोनों उत्सव एक ही दिन होंगे।पिछले साल, जहां दुर्गा पूजा समितियों को पंडाल बनाने से रोक दिया गया था, वहीं रामलीला समितियों को लाइव स्ट्रीमिंग के लिए जाने के लिए कहा गया था। दशहरे के दौरान पुतले जलाने पर प्रतिबंध लगाया गया था। इस बीच, डीडीएमए ने यह भी कहा है कि वह नर्सरी से आठवीं कक्षा तक के स्कूलों को त्योहारी सीजन के बाद फिर से खोलने पर फैसला करेंगे।एक अधिकारी के मुताबिक एक नवंबर से चरणबद्ध तरीके से स्कूल खोले जा सकते हैं। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में गुरुवार को पिछले 24 घंटों में 47 नए कोविड मामले दर्ज किए और कोई नई मौत नहीं हुई।

हाल का ध्यान

लिंक