वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > जियांग्टन सिटी > मूलपाठ

Manipur phase 2 polling live : मणिपुर में दूसरे और अंतिम चरण का मतदान जारी, 92 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर

2022-10-01 00:53:23 जियांग्टन सिटी

मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरHPBOSE Board Exams 2021: हिमाचल प्रदेश बोर्ड ने जारी की 10वीं और 12वीं परीक्षाओं की डेटशीट****** हिमाचल प्रदेश बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन (HPBOSE) ने कक्षा 10 और 12 के छात्रों के लिए HPBOSE बोर्ड परीक्षा 2021 की तारीखों की घोषणा कर दी है। परीक्षा तिथि की घोषणा HPBOSE की आधिकारिक वेबसाइट hpbose.org पर की गई है। इस साल, परीक्षा केंद्र पर भीड़भाड़ से बचने के लिए, HPBOSE बोर्ड परीक्षा 2021 दो पालियों में आयोजित की जाएगी। छात्रों और कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए परीक्षा केंद्र पर कई अन्य कोविद -19 दिशानिर्देशों का भी पालन किया जाएगा।HPBOSE कक्षा 10 बोर्ड परीक्षा 2021 सुबह की पाली में सुबह 8:45 से 12:00 बजे तक और HPBOSE कक्षा 12 बोर्ड परीक्षा 2021 शाम की पाली में दोपहर 1:45 से शाम 5:00 बजे तक आयोजित की जाएगी, आधिकारिक कार्यक्रम। यद्यपि महामारी के कारण लगभग पूरा शैक्षणिक वर्ष ऑनलाइन आयोजित किया गया था, इस वर्ष कक्षा 10 और 12 बोर्ड परीक्षा दोनों ऑफ़लाइन मोड में आयोजित की जाएगी। दोनों कक्षाओं के लिए बोर्ड परीक्षा 13 अप्रैल, 2021 से शुरू होने वाली है।- 10वीं कक्षा की परीक्षा - 13 अप्रैल से 28 अप्रैल तक- 12वीं कक्षा की परीक्षा - 13 अप्रैल से 10 मई तक- 10वीं कक्षा - 26 मार्च से 8 अप्रैल तक- 12वीं कक्षा - 24 मार्च से 8 अप्रैल तकइस साल, HPBOSE ने कोविद -19 महामारी को देखते हुए कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षा के लिए कुल पाठ्यक्रम में कमी की है। इस वर्ष कक्षाएं ऑनलाइन आयोजित की गई थीं और संसाधनों की कमी के कारण बहुत सारे छात्रों को इसमें भाग लेने में समस्याओं का सामना करना पड़ा।

मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरमराठा आरक्षण कानून के तहत 23 जनवरी तक कोई नियुक्ति नहीं होगी: महाराष्ट्र सरकार****** महाराष्ट्र सरकार ने बुधवार को से कहा कि मराठा समुदाय को आरक्षण मुहैया करने वाले नए कानून के तहत 23 जनवरी तक अपने विभागों में वह कोई नियुक्ति नहीं करेगी। दरअसल, इसी तारीख को अदालत ‘मराठा कोटा’ के खिलाफ याचिकाओं पर सुनवाई करेगी।उच्च न्यायालय ने नौकरियों में भर्तियों के लिए विज्ञापन निकालने को लेकर इस महीने की शुरूआत में राज्य सरकार को फटकार लगाई थी क्योंकि इस कानून को चुनौती देने वाली याचिकाएं लंबित हैं। सरकारी वकील वी ए थोराट ने बुधवार को मुख्य न्यायाधीश एनएच पाटिल और न्यायमूर्ति एमएस कार्णिक की खंडपीठ को भरोसा दिलाया कि राज्य सरकार सुनवाई की अगली तारीख (23 जनवरी तक) तक कोई नियुक्ति नहीं करेगी।अदालत ने 10 दिसंबर को सरकार से पूछा था कि क्या वह राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट सार्वजनिक करने को इच्छुक है। गौरतलब है कि इसी आयोग की सिफारिश पर सरकार ने मराठा कोटा के लिए कानून बनाया। थोराट और राज्य सरकार के महाधिवक्ता आशुतोष कुम्भकोणी ने कहा कि सरकार इस रिपोर्ट की प्रति अदालत को सौंपने के लिए कर्तव्यबद्ध है लेकिन याचिकाएं दायर करने वाले वकीलों को यह रिपोर्ट देने और इसे सार्वजनिक करने से उसे कुछ ऐतराज है।कुम्भकोणी ने कहा, ‘‘इसका कुछ हिस्सा सिफारिशों से संबंधित नहीं है बल्कि यह मराठा समुदाय के इतिहास से जुड़ा हुआ है...हमें लगता है कि यह सामाजिक अशांति पैदा कर सकता है।’’ इस पर पीठ ने सरकार से वकीलों को यह हिस्सा हटा कर देने पर विचार करने का सुझाव दिया।अदालत ने सरकार से कहा, ‘‘रिपोर्ट की एक प्रति हमें (अदालत को) हफ्ते भर के अंदर सौंपिए। तब हम फैसला करेंगे कि रिपोर्ट का काट छांट किया हुआ यह प्रारूप आरक्षण को चुनौती देते हुए याचिकाएं दायर करने वाले वकीलों को दिया जा सकता है या नहीं।’’ पीठ ने मराठा कोटा मुद्दे पर दायर याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए यह टिप्पणी की।मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरशरीर पर है तिल की भरमार तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे, महज 7 दिन में अपने आप हो जाएंगे गायब******चेहरे के तिल कई बार चेहरे की रौनक बन जाते हैं तो कई बार ये तिल चेहरे की रौनक ही कम कर देते हैं। कई बार आपने आम हो या फिर खास कई लोगों के चेहरे पर तिल देखा होगा। कई बार ये तिल होंठ के पास होता है तो कभी गाल पर। अगर चेहरे पर एक या दो-तीन तिल हो तो ठीक है लेकिन तिल की चेहरे पर भरमार होने पर चेहरे देखने में कई बार भद्दा लगने लगता है। अगर आप चेहरे पर से इन तिल को बिना किसी साइड इफेक्ट के हटाना चाहते हैं तो ये घरेलू नुस्खे इसमें आपकी मदद कर सकते हैं। जानिए तिल को चेहरे से हटाने के घरेलू उपाय...लहसुन चेहरे से तिल को हटाना का कारगर उपाय है। इसके लिए बस आप लहसुन की दो-तीन कलियां छील लें और उन्हें पीसकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को तिल पर लगाएं और उसके ऊपर कॉटन का एक कपड़ा बांध दें। ऐसे ही रातभर के लिए बंधा रहने दें। इस तरीके को हफ्ते में तीन बार जरूर करें। धीरे-धीरे तिल पर पपड़ी बनने लगेगी और आकार कम होने लगेगा और कुछ ही दिनों में तिल पूरी तरह से चेहरे से साफ हो जाएगा।सेब का सिरका भी चेहरे पर मौजूद तिल की भरमार को दूर करने में आपकी मदद करेगा। इसके लिए बस आप सिरकेमें रुई के एक टुकड़े को डुबोएं। अब इसे तिल पर रखें। अब इस रुईको तिल पर टिकाए रखने के लिए इसे आप किसी चीज से बांध दें। करीब 5-6 घंटे ऐसे ही रहने दें। सेब के सिरके में मौजूद एसिड तिल को कुछ ही दिन में सुखा देगा। ऐसा रोजाना करने से तिल एक हफ्ते के अंदर गायब हो सकता है।अलसी का तेल भी चेहरे से तिल को हटा सकता है। इसके लिए बस आप दो बूंद अलसी का तेल और दो से तीन बूंद शहद की बूंदों को मिला लें। इसे तिल के ऊपर करीब एक 1 घंटे तक लगाए रखें। रोजाना ऐसा करने से कुछ ही दिनों में तिल चेहरे से गायब हो जाएगा।अनानास के जूस से भी चेहरे के तिल को हटाया जा सकता है। इसके लिए बस आप अनानास का एक छोटा सा टुकड़ा लें। इसे कुछ मिनट तक जहां पर तिल वहां पर हल्के हाथ से रगड़ें। तिल पर लगे जूस को कुछ मिनट तक ऐसे ही छोड़ दें। फिर पानी से धो लें। ऐसा दिन में कई बार करें। जल्दी ही तिल चेहरे से साफ हो जाएगा।तिल से निजात पाने के लिए प्याज काफी असरदार होता है। इसके लिए बस आप प्याज को घिसकर या फिर मिक्सी में पीस लें। इसे छानने के बाद इसका रस निकाल लें। इस रस को तिल पर रोजाना लगाने से कुछ ही दिन में तिल अपने आप सूखकर गायब हो जाएगा।एलोवेरा भी तिल को हटाने का रामबाण तरीका है। इसके लिए बस आप एलोवेरा को तिल वाली जगह पर लगाएं। इसके साथ ही उस जगह को तीन से चार घंटे के लिए किसी चीज से बांध दें या फिर ढक दें। इस तरह से दिन में दो बार करें। ऐसा रोजाना करने से कुछ ही दिन में तिल अपने आप गायब हो जाएगा।

Manipur phase 2 polling live : मणिपुर में दूसरे और अंतिम चरण का मतदान जारी, 92 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर

मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरIPL 2018: 8 टीमों के ये 8 खिलाड़ी तय करेंगे अपनी टीम की हार-जीत, जानिए कौन हैं ये****** का क्रेज फैंस के सिर चढ़कर बोलता है। जैसे-जैसे टूर्नामेंट की तारीख नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे फैंस की उत्सुक्ता और ज्यादा बढ़ती जा रही है। आईपीएल के रंग में रंगने के लिए हर कोई तैयार नजर आ रहा है और खिलाड़ी भी अपने फैंस का हर हाल में मनोरंजन करना चाहेंगे। ये तो सबको पता है कि आईपीएल की थीम लाइन है 'बेस्ट vs बेस्ट' और इसमें दुनिया के सारे बेस्ट खिलाड़ी अपना जलवा दिखाते नजर आएंगे। कोई भी किसी से कम नहीं है और मैदान में उतरने के बाद हर खिलाड़ी अपने दम पर मैच जिताने का माद्दा रखता है। लेकिन आज हम आपको उन खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे जो अपनी टीम की हार-जीत कय करेंगे। जिनके चलने का मतलब होगा टीम का जितना और फ्लॉप होने का मतलब होगा सिर्फ और सिर्फ हार। तो आइए जानते हैं 8 टीमों के उन 8 खिलाड़ियों के बारे में जो हार-जीत में निभाएंगे बड़ी भूमिका।इस बात में किसी को भी ऐतराज नहीं होगा कि सुरेश रैना आईपीएल के सबसे बड़े बल्लेबाज हैं। रैना का बल्ला आईपीएल में जमकर हल्ला बोलता है और आंकड़े भी कुछ इसी तरफ इशारा करते हैं। रैना आईपीएल में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। रैना के बल्ले से आईपीएल में अब तक 161 मैचों में 4,540 रन निकले हैं। रैना इस बार भी चेन्नई के सबसे बड़े मैच विनर साबित होंगे। वेस्टइंडीज टीम के सबसे धाकड़ ऑल राउंडर खिलाड़ी कायरन पोलार्ड मुंबई की हार जीत तय करेंगे। पोलार्ड हर क्षेत्र में बेहद मजबूत हैं। पोलार्ड बल्लेबाजी तो धुआंधार करते ही हैं, इसके अलावा वो गेंदबाजी भी जबरदस्त करते हैं। वहीं, पोलार्ड की फील्डिंग का तो कोई जवाब ही नहीं है। पोलार्ड ने अब तक आईपीएल में 123 मैचों में 2,343 रन और 56 विकेट लिए हैं। इस दौरान उन्होंने 70 कैच भी लपके हैं। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू को अगर इस बार खिताब जीतना है तो उनके कप्तान और सबसे बड़े खिलाड़ी विराट कोहली को हर हाल में चलना होगा। कोहली ने आईपीएल में अब तक 149 मैचों में 4,418 रन बनाए हैं। कोहली की बल्लेबाजी के साथ-साथ उनकी कप्तानी भी टीम की हार-जीत तय करेगी। ये किसी से छिपा नहीं है कि सुनील नरेन इस समय टी20 के सबसे बेहतरीन खिलाड़ी बन चुके हैं। नरेन बेहद किफायती गेंदबाजी करते हैं और जरूरत पड़ने पर टीम के लिए ओपनिंग भी करते हैं। नरेन ने 82 मैचों में महज 6.32 के एकॉनमी से 95 विकेट लिए हैं। कोलकाता की टीम को 2 बार आईपीएल का खिताब दिलाने वाले गौतम गंभीर इस बार अपनी घरेलू टीम की तरफ से खेलते नर आएंगे। दिल्ली के लिए गंभीर सबसे बड़े मैच विनर साबित हो सकते हैं। गंभीर आईपीएल में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में चौथे नंबर पर हैं। गंभीर के बल्ले से 148 मैचों में 4,132 न निकले हैं। गंभीर सुपर कप्तान भी हैं और इसका फायदा दिल्ली को मिल सकता है। ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज एंड्र्यू टाय अपनी टीम किंग्स इलेवन की हार-जीत में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। टाय ने अब तक आईपीएल के एक ही सीजन में खेला है लेकिन उसी में उन्होंने खुद को साबित कर दिया था। टाई ने पिछले आईपीएल के 6 मैचों में 6.71 के एकॉनमी से 12 विकेट लिए थे। जिसमें उनका बेस्ट 17 रन देकर 5 विकेट रहा था। साफ है इस बार भी टाय पंजाब के लिए तुरुप का इक्का साबित हो सकते हैं। भारतीय टीम के तेज गेंदबाज और अब सनराइजर्स हैदराबाद के उप कप्तान बन चुके भुवनेश्वर कुमार अपनी टीम के सबसे अहम खिलाड़ी साबित हो सकते हैं। टीम की हार जीत काफी हद तक भुवनेश्वर पर निर्भर करेगी। भुवनेश्वर शुरुआत और आखिरी के ओवरों में कैसी गेंदबाजी करते हैं ये उनकी टीम के लिए बेहद जरूरी होगा। भुवनेश्वर ने अब तक आईपीएल के 90 मैचों में 111 विकेट लिए हैं। साथ ही भुवनेश्वर कुमार लगातार दो बार पर्पल कैप भी जीत चुके हैं। राजस्थान के लिए इस बार बेन स्टोक्स का चलना बेहद जरूरी होगा। क्योंकि अगर ये खिलाड़ी पिछले सीजन की तरह अपना जलवा दिखाने में कामयाब रहता है तो फिर राजस्थान को जीतने से कोई नहीं रोक सकता। स्टोक्स ने पिछले सीजन में पुणे वारियर्स के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया था। पिछले सीजन में स्टोक्स ने बल्ले और गेंद दोनों से कमाल दिखाया था। आईपीएल-10 में स्टोक्स ने 12 मैचों में 316 रन बनाए थे और इस दौरान उन्होंने शतक भी जड़ा था। वहीं, गेंदबाजी में उन्होंने 12 विकेट लिए थे।मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरRussia Ukraine War: रूस-यूक्रेन युद्ध में सर्दी बनेगी बड़ा हथियार, कैसे जंग लड़ेंगे रूस के सैनिक, क्या होगा युद्ध का नतीजा?******Highlightsरूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध को जल्द ही 7 महीने का वक्त पूरा होना वाला है। अभी भी किसी को नहीं पता कि युद्ध का नतीजा आखिर क्या होगा। कुछ हफ्ते पहले ही ये आशंका जताई जा रहीथी कि युद्ध आगे भी इसी तरह जारी रह सकता है। बेशक ठंड आ जाए, तब भी इसके रुकने के आसार नजर नहीं आ रहे। हालांकि बीते कुछ हफ्तों से युद्ध में थोड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है। यूक्रेन ने खार्कीव के कुछ इलाकों पर वापस नियंत्रण हासिल करने में सफलता पाई है। जिसके बाद से यूक्रेन का साथ देने वाले पश्चिमी देश भी जोश से भर गए हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, रूसी सेना को खुद से ये सवाल पूछना चाहिए कि उसे अब कहां तैनात होना चाहिए, ताकि वो युद्ध में दोबारा बढ़त हासिल कर सके।रूस के पास मुश्किल विकल्प है, या तो यूक्रेन में अपनी इकाइयों को मजबूत करने के लिए सामान्य संसाधन जुटाना ताकि इकाइयों को फिर से मजबूत किया जा सके। उसे यह भी सोचना होगा कि अब घाटे का प्रबंधन कैसे करना है। हालांकि, रूस का विदेशी मुद्रा भंडार ऐतिहासिक रूप से उच्च स्तर पर है। रूस को अब यह सोचना होगा कि वह यूरोप को गैस की आपूर्ति को हथियार के रूप में कैसे इस्तेमाल कर सकता है। यूरोप की सरकारें अब मुश्किल सर्दियों के लिए खुद को तैयार कर रही हैं। वहीं रूस को भी चीन का समर्थन मिल रहा है, भले ही वह आधा-अधूरा हो लेकिन इसका फायदा उसे हो रहा है।यूक्रेन की सेना ने खार्कीव में अपनी आक्रामकता का उदाहरण दिया है। वह दक्षिण के कुछ स्थानों में भी बढ़त हासिल कर रहा है। जिसके चलते रूस को अपने ही घर में आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। जैसे-जैसे सर्दी करीब आ रही है, यूक्रेन अपनी प्राथमिकताएं निर्धारित कर रहा है। यूक्रेन का पूरा ध्यान अब सर्दियों के मौसम में युद्ध में बढ़त हासिल कर रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के दोनेत्सक और लुहांस्क क्षेत्रों को कब्जाने की कोशिशों को नाकाम करने पर है।वर्तमान में रूस का यूक्रेन की 20 फीसदी जमीन पर कब्जा है। जिसमें क्रीमिया और दक्षिण के कुछ हिस्से भी शामिल हैं। इस स्थिति में दोनेत्सक पर कब्जा कर पाना मुश्किल है। वहीं रूस के पास युद्ध में बने रहने के लिए संसाधनों की कमी पड़ना शुरू हो गई है। 7 महीने के बाद अब दुनिया भी ये चीज देख रही है। ऐसी स्थिति में जब सर्दियां शुरू हो जाएं, तो चुनौती और भी ज्यादा बढ़ जाएगी।रूसी सेना के पास अब ऐसी कोई ईकाई या फिर सैनिक नहीं बचे हैं, जो थके न हों। खेरसोन में रूसी सेना पर दबाव बढ़ता जा रहा है। यूक्रेन की सफलता के बाद निपरो नदी की तरफ सप्लाई पूरी तरह रोक दी गई थी। इसके साथ ही कमांड पोस्ट और हथियार डिपो को भी निशाना बनाया जा रहा है। इस लड़ाई में यूक्रेन के हजारों सैनिकों की भी मौत हुई है। जान गंवाने वालों में डोनबास की सबसे सर्वश्रेष्ठ सैनिकों की यूनिट भी शामिल है। एक नाटो अधिकारी के अनुसार, जिस तरह का प्रदर्शन यूक्रेनी सैनिक कर रहे हैं, इससे उनका मनोबल जरूर बढ़ा है। ठीक इसी समय रूस की रॉकेट फोर्स भी यूक्रेन में कुछ विशेष करने की स्थिति में नहीं है। 40 फीसदी देश अब भी यूक्रेन के नियंत्रण में है और रूस की हर रणनीति नाकाम होती नजर आ रही है।मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरRussia Ukraine News: फिर मंडराने लगा जंग का खतरा? NATO ने कहा, रूस ने पूरी दुनिया को गुमराह किया है******Highlights उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (NATO) के सहयोगी देशों ने रूस पर आरोप लगाया है कि उसने कुछ सैनिकों के सैन्य अड्डों पर लौटने की बात कह कर विश्व को गुमराह किया, जबकि उसने यू्क्रेन से लगी अपनी सीमा के पास करीब 7000 सैनिक और बढ़ा दिए। गठबंधन ने गुरुवार को चेतावनी दी कि रूसी सैनिकों के जमावड़े (यूक्रेन से लगी सीमा के नजदीक) ने सिर्फ उसके संकल्प को मजबूत किया है। हफ्ते की शुरूआत में तनाव घटाने वाले रूस से कुछ संकेत मिलने के बाद स्थिति फिर से विपरित दिशा में जाती प्रतीत हो रही है।NATO प्रमुख ने कूटनीतिक समाधान के लिए प्रयास जारी रखने की रूसी राष्ट्रपति कार्यालय क्रेमलिन की पेशकश का स्वागत किया है लेकिन उन्होंने और अन्य ने चेतावनी दी है कि अमेरिका नीत गठबंधन ने सैनिकों की वह वापसी अब तक नहीं देखी है जिसकी मॉस्को ने घोषणा की थी। ब्रिटेन के रक्षा मंत्री बेन वालेस ने ब्रसेल्स में पश्चिमी देशों के गठबंधन की एक बैठक से पहले कहा, ‘हमने बयानों के कुछ उलट देखा है। हमने पिछले 48 घंटे में सैनिकों की संख्या में 7,000 तक की वृद्धि देखी है।’ब्रिटेन के रक्षा मंत्री ने कहा, ‘हम काफी गंभीर हैं और खतरे का सामना करने जा रहे हैं, जो अभी पैदा किया जा रहा है।’ उनका यह बयान बुधवार को अमेरिकी प्रशासन के अधिकारी के बयान के समान है। बता दें कि ने की सीमा के पास अपने 1,50,000 सैनिकों को जमा कर रखा है, जिससे यूक्रेन पर आसन्न हमले का अंदेशा पैदा हो गया है। इस बीच, इस सप्ताह रूस ने कई बार कहा कि वह अपने कुछ सैनिकों को सैन्य अड्डों पर वापस बुला रहा है।गुरुवार को के सहयोगी देशों ने चेतावनी दी कि वे किसी भी आक्रमण का मुकाबला करने के लिए तैयार हैं। वालेस ने कहा, ‘इस सैन्य जमावड़े-रूस के जमीनी लड़ाकू बल का करीब 60 प्रतिशत का परिणाम आपको विपरित प्रभाव देगा।’ इस बीच, यूक्रेन के पूर्वी हिस्से में तनाव बढ़ गया है जहां रूस समर्थित अलगाववादी 2014 से यूक्रेनी सैनिकों से लड़ रहे हैं। गुरुवार को लुशांक क्षेत्र में यूक्रेन की गोलाबारी बढ़ गई, जिसे एक उकसावे के तौर पर देखा जा रहा है।

Manipur phase 2 polling live : मणिपुर में दूसरे और अंतिम चरण का मतदान जारी, 92 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर

मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरयूपी चुनाव: चुनाव आयोग ने कोविड नियमों के उल्लंघन को लेकर सपा को नोटिस जारी किया******Highlights कोविड-19 नियमों का उल्लंघन करते हुए अपने लखनऊ कार्यालय में ‘वर्चुअल रैली के नाम से’ एक सार्वजनिक सभा आयोजित करने को लेकर समाजवादी पार्टी (सपा) को चुनाव आयोग ने शनिवार को एक नोटिस जारी किया।उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों से पहले के शुक्रवार के कार्यक्रम का जिक्र करते हुए नोटिस में कहा गया है कि उपलब्ध सामग्री और विषय में जारी निर्देशों पर विचार करने के बाद, चुनाव आयोग ने पार्टी को इस ‘उल्लंघन’ के बारे में अपना रुख स्पष्ट करने का एक मौका देने का फैसला किया है।सपा महासचिव को भेजे गये नोटिस में कहा गया है, ‘‘आपका स्पष्टीकरण, नोटिस प्राप्त करने के 24 घंटे के अंदर आयोग के पास पहुंचना चाहिए, जिसमें नाकाम रहने पर आयोग आपको सूचित किये बगैर विषय में उपयुक्त फैसला लेगा।’’समाजवादी पार्टी कार्यालय पर शनिवार को फोर्स लगा दी गई। यहां जुटने वाली भीड़ को हटाया गया और आसपास की दुकानें भी कुछ समय के लिए बंद कराई गईं। गौरतलब है कि सपा कार्यालय पर शुक्रवार को जुटी भीड़ की वजह से गौतमपल्ली थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया गया था। ऐसे में शनिवार को इस क्षेत्र में पुलिस पूरी तरह से सक्रिय दिखी।इस बीच सपा कार्यालय के गेट पर कोविड का पालन नहीं करने के संबंध में नोटिस भी चस्पा की गई। गेट पर जुटने वाले नेताओं को एक जगह खड़े नहीं होने की अपील की गई।बता दें कि, 10 फरवरी से सात मार्च के बीच सात चरणों में होने जा रहे हैं। महामारी के मद्देनजर जनसभाओं और रैली पर वर्तमान में प्रतिबंध है। इन चुनावों का पहला चरण 10 फरवरी से शुरू होगा, जबकि मतगणना 10 मार्च को होगी। कोरोना महामारी को देखते हुए चुनाव आयोग ने यूपी समेत चुनाव वाले पांचों राज्यों में जनसभा और रैली करने पर बैन लगाया हुआ है।मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरDelhi Corona Update: दिल्ली में कोरोना के 12,527 नए मामले, 24 और मरीजों की मौत******Highlights में सोमवार को कोविड​-19 के 12,527 नए मामले सामने आए तथा इस बीमारी के कारण 24 और लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण दर 27.99 प्रतिशत रही। हालांकि, संक्रमण का पता लगाने के लिए एक दिन पहले सिर्फ 44,762 नमूनों की जांच की गई। राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को संक्रमण के 18,286 मामले आए थे तथा और महामारी से 28 और लोगों की मौत हुई थी। संक्रमण दर कल 30.64 प्रतिशत से घटकर 27.87 प्रतिशत हो गई थी।स्वास्थ्य विभाग ने एक बुलेटिन में कहा कि दिल्ली में सोमवार को कोविड-19 के 12,527 नए मामले सामने आए तथा इस बीमारी से 24 और लोगों की मौत हो गई। इसने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में आज संक्रमण दर 27.99 प्रतिशत दर्ज की गई।इससे पहले, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने आज कहा था कि दिल्ली में रविवार को संक्रमण के जितने मामले सामने आए थे, उसके मुकाबले सोमवार को कम से कम 4,000-5,000 मामले कम आने की संभावना है।दिल्ली में शनिवार को संक्रमण के 20,718 मामले सामने आए थे तथा 30 और लोगों की मौत हुई थी। वहीं, शुक्रवार को दिल्ली में महामारी के 24,383 नए मामले सामने आए थे तथा इससे 34 और लोगों की मौत हुई थी। राष्ट्रीय राजधानी में बृहस्पतिवार को संक्रमण के 28,867 मामले सामने आए थे और यह संख्या महामारी के प्रकोप के बाद से यहां सर्वाधिक थी। दिल्ली में इससे पहले, पिछले साल 20 अप्रैल को 28,395 के आंकड़े के साथ संक्रमण के सर्वाधिक मामले दर्ज किए गए थे।

Manipur phase 2 polling live : मणिपुर में दूसरे और अंतिम चरण का मतदान जारी, 92 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर

मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरIBPS Clerk Mains Result 2018: घोषित हुआ परीक्षा परिणाम, यहां पर कर सकते हैं चेक****** घोषित कर दिया गया है। उम्मीदवार अपने को IBPS की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं। IBPS Clerk Main exam 21 जनवरी, 2018 को आयोजित हुआ था, जिसमें प्रारंभिक परीक्षा को पास करने वाले उम्मीदवार बैठे थे। IBPS Clerk Main exam का रिजल्ट जानने के लिए आपको पर जाकर लॉगइन करना होगा। इसके बाद वहां दिए गए निर्देशों का पालन करके आप अपने रिजल्ट के बारे में जान सकते हैं।गौरतलब है कि IBPS प्रीलिमिनरी परीक्षा के परिणाम दिसंबर 2017 में जारी किए गए थे। इस परीक्षा के जरिए 7,000 क्लर्कों की की जानी है। 7000 वैकेंसी के लिए प्री एग्जाम 2, 3 और 9 दिसंबर 2017 को आयोजित किया गया था। मेन परीक्षा का रिजल्ट जानने के लिए आपको सबसे पहले पर लॉगइन करना होगा। इसके बाद होमपेज पर आपको ‘Results of Main Examination for CRP-Clerks-VII’ दिखेगा, जिसपर क्लिक करने के बाद एक नई विंडो खुलेगी जहां आपको लॉगइन करना होगा।इसके बाद वहां आपको अपनी डीटेल्स भरनी होंगी। आप जैसे ही अपनी डीटेल्स वहां डालेंगे, आपका रिजल्ट आपके सामने आ जाएगा। अपना रिजल्ट आप यूं चेक कर सकते हैं:सबसे पहले पर जाएं।इसके बाद 'Click here to View your Result of Main Examination for CRP Clerks-VII’ के लिंक पर क्लिक करें।लिंक खुलने के बाद अपना रजिस्ट्रेशन नंबर/रोल नंबर/जन्मतिथि और कैप्चा कोड डालें, फिर उसे सबमिट करें।आपका रिजल्ट आपके सामने होगा। इसके बाद अपने रिजल्ट का प्रिंट आउट ले लें।

मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरफिर शुरू हो रही है Online Sale, इन दिनों Snapdeal इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स और फैशन पर देगी भारी छूट******BSNL ने लॉन्च किया नया प्लान, 16 रुपए में मिलेगा 60MB डाटाउत्‍तर प्रदेश सरकार दे रही फ्री में Smartphones, जानिए रजिस्‍ट्रेशन करवाने का क्‍या है तरीकामणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरBigg Boss 14: घर से बेघर होने के बाद जैस्मीन भसीन ने राखी सावंत पर किया हमला******मशहूर टीवी एक्ट्रेस से बाहर हो गई हैं, घर से बेघर होने के बाद एक्ट्रेस ने पर इल्जामलगाए हैं। जैस्मीन को अब भी लगता है कि राखी सही नहीं थीं, जब उन्होंने दावा किया था कि जैस्मीन ने उन्हें हर्ट किया है। जैस्मीन का कहना है कि राखी ने जानबूझकर बखेड़ा खड़ा किया है और राखी संग उनकी यह लड़ाई उनके खिलाफ साबित हुई है। राखी के साथ हुए अपने इस झगड़े के बारे में बात करते हुए जैस्मीन नेको बताया, "यह मेरे लिए गलत साबित हुई और मुझे लगता है कि यही राखी का मकसद था। उन्हें यूं ही क्वीन ऑफ रिएलिटी शोज नहीं कहा जाता है। उन्हें पता होता है कि कब, किसे, किस तरह से गुस्सा दिलाना होता है और वह मेरे साथ भी ऐसा करने में कामयाब हुईं।"जैस्मीन ने आगे कहा, "मेरा इरादा राखी को चोट पहुंचाने का कभी नहीं रहा है और उन्होंने मुझे या घर में किसी और को अपने चेहरे की सेन्सिटिविटी या सर्जरी के बारे में नहीं बताया था, बल्कि इससे पहले वह डक हेड पहनकर पूरे घर में घूमी भी थीं। चूंकि उन्हें चोट पहुंचाना मेरा मकसद नहीं था, इसलिए वह या तो टेबल पर मारने के बाद चोटिल हुई होंगी या डक हेड की वजह से ऐसा हुआ होगा, लेकिन मुझे कहीं न कहीं ऐसा लगता है कि अपनी चोट को लेकर वह सच नहीं कह रही हैं।"अभिनेत्री ने आगे कहा, "एक कलाकार के तौर पर अगर मेरे चेहरे को कुछ होता है, तो मैं उसे गंभीरता से लूंगी। जब बिग बॉस ने उन्हें बाहर जाकर ट्रीटमेंट कराने का ऑप्शन दिया, तो उन्होंने मना कर दिया। मुझे उनके नाक में भी कुछ अलग महसूस नहीं हुआ, पहले जैसा ही लगा। राखी ने जो किया वह बेशक मेरे खिलाफ रहा, लेकिन मुझे इसका कोई पछतावा नहीं है, क्योंकि मैं अपने लिए खड़ी हुई थी।"

मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरसर्दियों में बढ़ने लगे हैं हार्ट के प्रॉब्लम? निजात पाने के लिए जानिए स्वामी रामदेव से कारगर आयुर्वेदिक तरीका और योगासन******Highlightsहार्ट प्रॉब्लम सर्दियों में तेजी से बढ़ने लगते हैं या यूं कहें तो गर्मी के मुकाबले सीधे दोगुने हो गए हैं। चाहे वो हार्ट प्रॉब्लम के सिम्प्टम हों या फिर हार्ट अटैक,हार्ट फेलियर की घटना। ठंड में बॉडी टेम्परेचर गिरने पर एक इमरजेंसी सिचुएशन क्रिएट होती है, नर्वस सिस्टम एक्टिव हो जाता है। जो कमजोर दिल के लिए जानलेवा साबित होता है।ठंड में शरीर को गर्म रखने के लिए हार्ट का काफी मेहनत करनी पड़ती है। दिल पर ज्यादा प्रेशर पड़ता है, जो कई बार कमजोर हार्ट सहन नहीं कर पाता है और हार्ट फेलियर की नौबत आ जाती है। यही वजह है कि सर्दियों में हार्ट अटैक के सबसे ज्यादा मामले सुबह-सुबह के होते हैं क्योंकि उस वक्त टेम्परेचर सबसे कम होता है। इतना ही नहीं गर्मियों के मुकाबले सर्दियों में हार्ट अटैक से होने वाली डेथ रेट भी बढ़ जाती है।मुश्किल ये है कि हर गलती का खामियाजा दिल को ही भुगतना पड़ता है और कोरोना ने अलग से हार्ट प्रॉब्लम के 20 परसेंट मामले बढ़ा दिए हैं। तो ऐसे में आप अपने दिल का कैसे ख्याल रखें कि दिल हमेशा साथ दे। योग गुरु स्वामी रामदेव से जानें सर्दियों में हार्ट के प्रॉब्लम से बचने का तरीका।मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरHardik Pandya की ₹ 5 करोड़ की घड़ियां? क्रिकेटर ने ट्वीट कर रखी अपनी बात******Highlightsभारतीय टीम के क्रिकेटर हार्दिक पांड्या ने मुंबई एयरपोर्ट पर सीज की गई उनकी घड़ी से जुड़े मामले में ट्वीट कर अपना पक्षा रखा है। उन्होंने उन सभी खबरों का खंडन किया है, जिनमें कहा गया है कि मुंबई एयरपोर्ट पर ₹ 5 करोड़ कीमत वाली उनकी दो घड़ियां सीज की गई हैं। हार्दिक ने बताया कि उनकी सिर्फ एक घड़ी "उचित मूल्यांकन" के लिए लिया गया है। हार्दिक पांड्या की तरफ से इसकी कीमत ₹ 1.5 करोड़ बताई गई है।आपको बता दें कि कई न्यूज रिपोर्ट्स में ये दावा किया गया था कि कस्टम डिपार्टमेंट ने रविवार को मुंबई एयरपोर्ट पर हार्दिक पांड्या की दो घड़ियों को सीज कर लिया था क्योंकि पांड्या के पास इनका बिल नहीं था। आरोपों से इनकार करते हुए, पंड्या ने ट्विटर पर एक बयान पोस्ट किया, "मैं स्वेच्छा से मुंबई हवाई अड्डे के सीमा शुल्क काउंटर पर मेरे द्वारा लाए गए सामानों की घोषणा करने और अपेक्षित सीमा शुल्क का भुगतान करने के लिए गया था। सीमा शुल्क के बारे में मेरी घोषणा के बारे में सोशल मीडिया पर गलत अटकलें चल रही हैं। मुंबई हवाई अड्डे पर और जो कुछ हुआ उसके बारे में मैं स्पष्ट करना चाहता हूं।"पांड्या ने आगे कहा, "मैंने स्वेच्छा से उन सभी वस्तुओं की घोषणा की थी जिन्हें मैंने दुबई से कानूनी रूप से खरीदा था और जो भी शुल्क चुकाने की आवश्यकता थी, वह भुगतान करने के लिए तैयार था। मैंने सीमा शुल्क विभाग द्वारा मांगे गए सभी खरीद दस्तावेज प्रस्तुत किए; हालांकि सीमा शुल्क विभाग शुल्क का उचित मूल्यांकन कर रहा है, जिसके भुगतान के लिए मैंने पहले ही पुष्टि कर दी है।"बयान में आगे कहा गया है, "घड़ी की कीमत लगभग ₹ 1.5 करोड़ है, न कि सोशल मीडिया पर चल रही अफवाहों के अनुसार ₹ 5 करोड़। मैं देश का कानून का पालन करने वाला नागरिक हूं और सभी सरकारी एजेंसियों का सम्मान करता हूं। मुझे मुंबई के सीमा शुल्क विभाग से पूरा सहयोग मिला है और मैंने उन्हें अपना पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया है और इस मामले के क्लिरेंस के लिए उन्हें जो भी वैध दस्तावेज चाहिए, उन्हें प्रदान करूंगा। मेरे खिलाफ सभी आरोप निराधार हैं।"आपको बता दें कि हार्दिक पांडया T20 वर्ल्ड कप के बाद दुबई से भारत लौटे हैं। T20 वर्ल्ड कप से भारतीय टीम शुरुआती दौरे में ही बाहर हो गई। न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार, मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर क्रिकेटर हार्दिक पांड्या के भाई क्रुणाल पांड्या को पिछले साल मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर अघोषित सोना और अन्य कीमती सामान रखने के रोका गया था।

मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरतीनों सेनाओं में Coronavirus के 98 एक्टिव केस, 40 ने दी संक्रमण को मात****** पूरी दुनिया में कहर मचाने वाला जानलेवा कोरोना वायरस भारत में तेजी से फैल रहा है। हालांकि, भारत ने कई तरह के कठोर कदम उठाए हैं, जिनसे इसके फैलने की रफ्तार को कम तो किया जा सका है लेकिन अभी इसे खत्म नहीं किया जा सका है। देश में लगातार कोरोना वायरस के मामले सामने आ रहे हैं। देश की तीनों सेनाओं में भी कोरोना वायरस के केस मिले हैं।मंगलवार दोपहर तक मिली जानकारी के मुताबिक, तीनों सेनाओं (आर्मी, एयर फोर्स, नेवी) के 98 एक्टिव कोरोना पॉजिटिव केस हैं। इनमें पूर्व सेना कर्मी और उनके आश्रित भी शामिल हैं। हालांकि, अच्छी खबर यह है कि अभी तक सेनाओं से जुड़े 40 लोग कोरोना वायरस के संक्रमण को हराकर ठीक हो गए हैं, जिन्हें अस्पताल से भी छुट्टी दे दी गई है। लेकिन, अभी कोरोना के खिलाफ जंग खत्म नहीं हुई है।भारतीय सेना के सबसे बड़े अस्पतालों में से एक दिल्ली के रिसर्च एंड रेफरल यानि आरएंडआर हॉस्पिटल भी कोरोना वायरस की चपेट में आ गया है। यहां के डॉक्टर, नर्स और मरीजों सहित कुल 25 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए ​हैं। अब इनके संपर्क में आए करीब 100 लोगों की तलाश कर जांच की जा रही है। यहां के मरीजों को दिल्ली कैंट के बेस अस्पताल भेजा गया है। वहीं, मेडिकल स्टाफ को क्वारन्टीन किया गया है।प्राप्त जानकारी के अनुसार एक भारतीय सेना के NCO की 28 वर्षीय बेटी रिसर्च एंड रेफ़रल हॉस्पिटल में आयी थी। यह लड़की कोरोना से संक्रमित थी। उसके संपर्क में आने के बाद एक डॉक्टर को कोरोना हुआ और फिर उसके संपर्क में आने के बाद कुल मिलाके 25 को पॉज़िटिव हो चुका है। इस समय सौ लोगों की टेस्टिंग जा रही है।बताया जा रहा है कि संक्रमित हुए लोगों में अस्पताल के दो मेडिकल अधिकारी, 3 नर्सिंग अधिकारी, 2 नर्सिंग असिस्टेंट शामिल हैं। इसके अलावा संबंधित वार्ड के मरीज भी कोरोना से पॉजिटिव पाए गए हैं। अस्पताल के मरीजों को दिल्ली कैंट के बेस अस्पताल भेजा गया है वहीं मेडिकल स्टाफ को क्वारन्टीन किया गया है।मणिपुरमेंदूसरेऔरअंतिमचरणकामतदानजारी92उम्मीदवारोंकीकिस्मतदांवपरHardik Pandya, IND vs IRE: हार्दिक पंड्या ने T20I क्रिकेट में रचा इतिहास, बने ऐसा करने वाले पहले भारतीय कप्तान******Highlightsभारतीय टीम आयरलैंड के खिलाफ पहले टी20 मुकाबले में पहली बार हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) की कप्तानी में मैदान पर उतरी। हार्दिक ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया और बारिश के कारण मैच को 12-12 ओवर का किया गया है। भुवी ने पहला ओवर किया और अपने खाते में बिना कोई रन दिए एक विकेट निकाला और कप्तान बालबर्नी को आउट किया। इसके बाद दूसरा ओवर फेंकने आए कप्तान हार्दिक जिन्होंने इतिहास रचा और ऐसा करने वाले पहले भारतीय कप्तान बने।हार्दिक पंड्या नई गेंद से खुद गेंदबाजी करने आए और उन्होंने दूसरा ओवर फेंका। हालांकि इस ओवर में वह महंगे साबित हुए और उन्होंने 13 रन दिए। लेकिन इस ओवर में उन्होंने आयरलैंड के सबसे अनुभवी बल्लेबाज और खतरनाक पॉल स्टर्लिंग को चार पर आउट कर दिया। ओवर की दूसरी गेंद पर उन्होंने दीपक हुड्डा के हाथों स्टर्लिंग को कैच आउट करवाया। टी20 इंटरनेशनल में बतौर कप्तान यह उनका पहला विकेट था और वह भारत के लिए टी20 इंटरनेशनल में विकेट लेने वाले भी पहले कप्तान बने। लेकिन 2 ओवर में 26 रन देकर वह काफी महंगे साबित हुए।हार्दिक पंड्या ने भारत के लिए बतौर खिलाड़ी 59 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले। यह उनका 60वां मुकाबला था और बतौर कप्तान वह पहली बार भारत के लिए टी20 इंटरनेशनल मैच खेलने उतरे। अपने पहले ओवर की दूसरी गेंद पर ही उन्होंने विकेट लिया। 60 टी20 इंटरनेशनल में उनके नाम 43 विकेट दर्ज हैं। इसके अलावा 63 वनडे में उन्होंने 57 और 11 टेस्ट में भी 17 विकेट अपने नाम किए हैं। 107 आईपीएल मैचों में भी हार्दिक 50 विकेट ले चुके हैं। उनके नाम इंटरनेशनल क्रिकेट में ओवरऑल 2488 रन भी दर्ज हैं (आयरलैंड के खिलाफ पहले टी20 में बल्लेबाजी से पहले)।

हाल का ध्यान

लिंक