वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > हमी क्षेत्र > मूलपाठ

Dunki: राजकुमार हिरानी की अगली फिल्म में नजर आएंगे शाहरुख खान, इस दिन होगी रिलीज

2022-10-04 17:23:15 हमी क्षेत्र

राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजलॉकडाउन: एक्ट्रेस रकुल प्रीत का फिटनेस मंत्र, हफ्ते में तीन बार करती हैं 108 सूर्य नमस्कार******अभिनेत्री का कहना है कि लॉकडाउन के चलते वह आज कल हफ्ते में दो से तीन बार सूर्य नमस्कार करती हैं। इंस्टाग्राम पर साझा किए गए एक वीडियो में रकुल योगाभ्यास करती नजर आ रही हैं।इसके साथ वह कैप्शन में लिखती हैं, "इस लॉकडाउन ने मुझे हफ्ते में कम से कम 2-3 बार 108 सूर्य नमस्कार करने के लिए प्रेरित किया और इसे करने के बाद का अनुभव काफी गजब का होता है। इससे आप अंदर व बाहर दोनों तरफ से मजबूत बनते हैं, दिमाग व शरीर में संतुलन बना रहता है और इससे शरीर के विभिन्न अंगों से भी विषैले पदार्थ छनकी बाहर निकलते हैं।"रकुल ने हाल ही में साझा किया कि उनकी योग यात्रा की शुरूआत दो साल पहले हुई थी और तब से अब तक इसमें काफी मजा आता रहा है।रकुल ने इंस्टाग्राम पर अपनी कुछ पुरानी तस्वीरें भी साझा की, जिसमें वह एक जटिल योग मुद्रा का अभ्यास करती नजर आ रही हैं और इसके साथ उन्होंने कहा कि जिंदगी सामंजस्य बिठाने के बारे में है।अभिनय की बात करें, तो रकुल जल्द ही एक कॉमेडी फिल्म में अर्जुन कपूर के विपरीत नजर आएंगी। इस फिल्म के निर्देशक नवागंतुक काशवी नायर हैं और निमार्ता जॉन अब्राहम, निखिल आडवाणी और भूषण कुमार हैं।रकुल, कमल हासन की महत्वाकांक्षी परियोजना 'इंडियन 2' में भी नजर आएंगी, जिसमें काजल अग्रवाल और विद्युत जामवाल जैसे सितारें हैं।

राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजChaitra Navratri 2022: आलू-तेल के बिना रखें इस बार के नवरात्रि व्रत, वेट लॉस का प्रण भी होगा पूरा******Highlightsनवरात्रि का पावन पर्व 2 अप्रैल से शुरू होने जा रहा है। इसमें 9 दिन देवी शक्ति के 9 अवतार की पूजा की जाती है। इस दौरान माता के भक्त 9 दिन का व्रत रखते हैं। जहां कई लोग धार्मिक कारणों से उपवास रखते हैं, वहीं कई लोग ऐसे होते हैं जो अपने शरीर को डिटॉक्स करने के लिए भी ये व्रत रखते हैं। कई लोग मानते हैं कि वो 9 दिन उपवास रखकर अपना बढ़ा हुआ वजन कंट्रोल कर सकते हैं। मगर फिर व्रत के दौरान आलू और तेल से बनी अनहेल्दी चीजें खाकर अपना वजन और बढ़ा लेते हैं। या फिर वो इतने कमजोर हो जाते हैं कि कोई और काम करने की हिम्मत नहीं होती है। जबकि अगर सही तरीके से फास्टिंग की जाए तो आप ना सिर्फ अपना वजन घटाने में कामयाब होंगे, बल्कि आप एनर्जी से भरपूर भी महसूस करेंगे।उपवास रखने के सिर्फ धार्मिक नहीं बल्कि वैज्ञानिक कारण भी हैं। नवरात्रि साल में दो बार मनाई जाती है- मार्च-अप्रैल और सितंबर-अक्टूबर। ये ऐसा समय होता है जब हमारी इम्यूनिटी मौसम के बदलाव की वजह से कमजोर होती है और लोग तमाम बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। इस वजह से इस दौरान सात्विक भोजन करने से इन समस्याओं से निपटने में आसानी होती है। आजकल तो लोग उपवास का महत्व समझते हैं इसलिए इंटरमिटेंट फास्टिंग ट्रेंड में है। यदि आप इस नवरात्रि का व्रत करने की योजना बना रहे हैं, तो यहां कुछ ऐसे टिप्स दिए गए हैं जिसकी मदद से आप अपने फास्ट को हेल्दी बना सकते हैं और फिट भी हो सकते हैं।कई लोग कहने के लिए तो व्रत रख लेते हैं, मगर फ्राइड आलू, चिप्स और रेडीमेड स्नैक्स का अधिक मात्रा में सेवन करके अपने स्वास्थ्य का भी नुकसान करते हैं और वजन भी बढ़ा लेते हैं। तले हुए स्नैक्स खाने से उपवास का उद्देश्य तो खत्म हो जाता है। इसलिए इन खाद्य पदार्थों को कम मात्रा में शामिल करें और रेडीमेड तले हुए स्नैक्स को खाने से बचें।ऊर्जावान रहने के लिए दिन में ढेर सारे फल जैसे पपीता, केला या सेब खाएं। ये ना सिर्फ आपको ऊर्जा देंगे बल्कि तमाम तरह के विटामिन्स और मिनरल्स भी इसमें होते हैं जो आपकी सेहत को फायदा पहुंचाते हैं।व्रत में हाइड्रेट रखना बहुत जरूरी है। इस दौरान आप पानी, जूस, छाछ, लस्सी, सब्जियों के सूप का सेवन करें। इससे आपका शरीर भी हाइड्रेट रहेगा और हेल्दी भी रहेगा।व्रत के दौरान अगर आपको ज्यादा भूख लगे तो आप भूख से बचने के लिए मेवे का सेवन भी कर सतके हैं। इस दौरान काजू, बादाम, अंजीर, खजूर आदि का सेवन करें। हालांकि इनका सेवन सीमित मात्रा में ही करें।अपने नवरात्रि के मेनू में फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करें। अपनी भूख को शांत करने के लिए अपने मेनू में ढेर सारी हरी सब्जियां जैसे शकरकंद, कच्चा केला, लौकी और कद्दू शामिल करें। इसका कारण यह है कि फाइबर को पचने में काफी समय लगता है, जिससे आपका पेट लंबे समय तक भरा रहता है और आपकी भूख पर भी अंकुश लगता है। रेशेदार खाद्य पदार्थ आपका ब्लड शुगर भी मेंटेन रखते हैं।नवरात्रि में कुट्टू के आटे का इस्तेमाल होता है, लेकिन आप समो चावल (समक चावल) का इस्तेमाल भी चपाती या दलिया बनाने के लिए कर सकते हैं। हां इनकी पूरियां ना तलें बल्कि रोटी के तौर पर खाएं। आप इसमें सब्जियां मिलाकर कम घी के साथ पराठे भी बना सकते हैं। इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं।आप दिन भर भले ही फलाहार पर रह लें लेकिन रात को व्रत में खाए जाने वाले अनाज का सेवन करें जिसे कम घी में बनाया गया हो। इससे आपकी ऊर्जा बनी रहेगी।नवरात्रि में मीठा कम खाएं, व्रत का खाना बनाने के चक्कर में अधिक मीठा ना खाएं। चीनी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती है और ये आपका वजन बढ़ा सकती है।रात को सोने से पहले अगर आप एक गिलास दूध पीकर सोते हैं, तो नींद भी अच्छी आती है और भूख भी नहीं लगती है। दूध को संपूरक आहार कहा जाता है क्योंकि उसमें कई विटामिन्स और मिनरल्स होते हैं, साथ ही प्रोटीन और कैल्शियम भी पाया जाता है।राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजWorld Cup 2019: दक्षिण अफ्रीका के वर्ल्ड कप से बाहर होने पर कगिसो रबाडा ने IPL को लेकर दिया बड़ा बयान******लंदन। कागिसो रबाडा ने स्वीकार किया कि उनकी दक्षिण अफ्रीका टीम को विश्व कप में अपने असफल अभियान से सबक लेना होगा। फाफ डु प्लेसी की टीम दो मैच बाकी रहते ही नॉकआउट की दौड़ से बाहर हो गई। यह दूसरी बार है जब दक्षिण अफ्रीका विश्व कप के नाकआउट चरण में नहीं पहुंच सका।तेज गेंदबाज रबाडा ने कहा, ‘‘कई बार हम बदकिस्मत रहे। कई बार हमने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें सबक लेना होगा। यही वजह है कि हम यह खेल खेलते हैं। यह आसान नहीं है। आप शीर्ष पर रहना चाहते हैं लेकिन यह आसान नहीं है।’’उन्होंने कहा, ‘‘उतार और चढाव खेल का हिस्सा है।’’दक्षिण अफ्रीका को अब श्रीलंका और आस्ट्रेलिया से खेलना है। रबाडा ने कहा, ‘‘अब हमें आगे की सोचना है और सकारात्मक रहते हुए वापसी करनी है।’’आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करने वाले इस तेज गेंदबाज ने कहा, ‘‘मैने आईपीएल में इससे बेहतर खेला था। विश्व कप में मेरा प्रदर्शन औसत ही रहा। मैं इससे बेहतर कर सकता था।"

Dunki: राजकुमार हिरानी की अगली फिल्म में नजर आएंगे शाहरुख खान, इस दिन होगी रिलीज

राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजAgneepath: सहारनपुर में 5 फर्जी आर्मी एस्पिरेन्ट्स गिरफ्तार, अलग-अलग राजनैतिक दलों से जुड़े तार******Highlights उत्तर प्रदेश की सहारनपुर पुलिस ने 5 फर्जी आर्मी एस्पिरेन्ट्स को गिरफ्तार किया है। जानकारी के मुताबिक ये सभी अलग-अलग राजनैतिक दलों से जुड़े हुए हैं। पुलिस ने बताया कि पकड़े गए चारों आरोपी आर्मी एस्पिरेन्ट्स को प्रदर्शन करने के लिए उकसा रहे थे। इनमें से एक आरोपी, पराग पंवार NSUI से जुड़ा हुआ था।देश के कई राज्यों में भारतीय सेनाओं में भर्ती की नई स्कीम अग्निपथ योजना का विरोध हो रहा है। लेकिन सवाल यह उठ रहा है कि आखिर यह विरोध क्यों हो रहा है और यह विरोध करने वाले आखिर कौन हैं? उत्तर प्रदेश की सहारनपुर पुलिस ने पांच ऐसे आरोपियों को गिरफ्तार किया है जो फर्जी आर्मी एस्पिरेन्ट्स है। सहारनपुर पुलिस के मुताबिक पकड़े गए इन पांचों आरोपियों की उम्र 25 साल से ज्यादा है इसका मतलब यह कि ये भारतीय सेना में शामिल होने के लिए जो उम्र तय की गई है उससे इन पांचों आरोपियों की उम्र ज्यादा है।सहारनपुर पुलिस के मुताबिक पकड़े गए सभी पांचों आरोपी अलग-अलग राजनीतिक दलों के या तो सदस्य हैं या फिर पदाधिकारी हैं। पकड़े गए आरोपियों का नाम संदीप पराग, पवार, मोहित चौधरी, सौरभ कुमार और उदय है। यह सभी आरोपी सहारनपुर के ही रहने वाले हैं। पुलिस के मुताबिक यह सभी आरोपी सेनाओं में भर्ती की नई योजना अग्निपथ स्कीम का विरोध करने के लिए युवाओं को उकसा रहे थे। बहरहाल पुलिस ने इन सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और आगे की जांच कर रही है।उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के कोतवाली पुलिस थाने में शुक्रवार को केंद्र की अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर पुलिस ने 400 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया। इतना ही नहीं पुलिस ने अब तक कुल 133 लोगों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भी भेजा है। अग्निपथ योजना के विरोध को लेकर शुक्रवार को जिला मुख्यालय पर उपद्रव करने के आरोप में पुलिस ने शनिवार को 24 उपद्रवी तत्वों को गिरफ्तार किया, जिन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।इसके पहले अदालत ने विरोध-प्रदर्शन के सिलसिले में गिरफ्तार 109 लोगों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। पुलिस क्षेत्राधिकारी (नगर) प्रीति त्रिपाठी ने शनिवार शाम को बताया कि बलिया शहर कोतवाली पुलिस ने हिंसा के मामले में दर्ज प्राथमिकी में शनिवार को 17 उपद्रवी तत्वों को गिरफ्तार किया और इसके अलावा दो उपद्रवी तत्वों को शांति भंग करने के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजRRR Public Review and Twitter Reaction : राम चरण-जूनियर एनटीआर की फिल्म को दर्शकों से मिला ढेर सारा प्यार******Highlightsएसएस राजामौली द्वारा निर्देशित फिल्म आज यानी 25 मार्च को सिनेमाघरोंमें रिलीज हो चुकी है। यह कहना गलत नहीं होगा कि 'आरआरआर' एक ऐसी फिल्म है जिसका हर सिनेमाप्रेमी बेसब्री से इंतजार कर रहा था। 'आरआरआर' में राम चरण, जूनियर एनटीआर, आलिया भट्ट के साथ अजय देवगन भीहैं।इस बीच, राजामौली की फिल्म ‘आरआरआर’ रिलीज होने के बाद से दर्शकों का दिल जीत लिया है औरउनको यह फिल्म काफी पसंद आ रही है। उम्मीद की जा रही है कि फिल्म अच्छी कमाई कर सकती है।‘आरआरआर’ का पूरा नाम रौद्रम् रणम् रुधिरम् लिखा हुआ है। इसकी कहानी विजयेंद्र प्रसाद ने लिखी है। फिल्म ‘आरआरआर’ एक काल्पनिक कहानी है जोकिदोस्ती और क्रांति के विषयों को जोड़ती है।फिल्म महात्मा गांधी के देश की आजादी की लड़ाई में शामिल होने के आसपास की घटनाओं पर बनी है।‘आरआरआर’ के रिलीज होने केबाद ट्विटर पर मिली पहली रिएक्शन को देख ऐसा लगता है कि फिल्मके निर्देशक एस एस राजामौली एक बार फिर अपने ब्रांड नेम पर खरा उतरे हैं। फैंस ने कहा कि राजामौली की 'आरआरआर' एक अद्भुत और ब्लॉकबस्टर फिल्म है। दर्शक राम चरण के उग्र प्रदर्शन और जूनियर एनटीआर के साथ उनकी केमिस्ट्री की भी जमकर तारीफ कर रहे हैं। इसके अलावा जूनियर एनटीआर का प्रदर्शन और ऑन-स्क्रीन उनका ट्रांसफॉर्मेशन भी सबका ध्यान खींच रहा है। सोशल मीडिया पर 'आरआरआर' के कई हैशटैग भी वायरल हो रहे हैं और फैंस अपने-अपने तरीके से 'आरआरआर' दिवस मना रहे हैं।एक यूजर ने लिखा - 'इस फिल्म का वर्णन करने के लिए शब्द पर्याप्त नहीं हैं #RRR। भावनाओं से भरा हुआ। मुझे कभी भी किसी भी फिल्म को देखने का इतना अच्छा अनुभव नहीं हुआ।'एक अन्य यूजर ने लिखा -' राम चरण की God Level अभिनय'देखें यूजर्स के रिव्यू :राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजगर्दन, कमर, कंधे और घुटनों का दर्द बन सकता है स्ट्रोक का खतरा, स्वामी रामदेव से जानिए हार्ट अटैक से बचने का तरीका******Highlightsइंसान का शरीर किसी अजूबे से कम नहीं है। उपरवाले की इस कारीगरी को जितना समझो उतनी हैरानी होती है। दुनिया के बेहतरीन साइंटिस्ट्स ह्यूमन बॉडी पर या उससे जुड़ी बीमारियों पर स्टडी करते रहते है और हर रिसर्च एक नया खुलासा करती है। अब नॉटिंघम और कील यूनिवर्सिटी की ताज़ा रिसर्च को ही लीजिए इस स्टडी में ये बात सामने आई है कि गर्दन, कमर, कंधे और घुटनों के जोड़ में होने वाला दर्द हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा बढ़ा देता है।इतना ही नहीं रिपोर्ट में ये भी पाया गया है कि गाउट से हार्ट अटैक और ब्रेन हेमरेज ही नहीं कई बार लंग्स में इन्फेक्शन का भी डर रहता है। गठिया का रोग हार्ट-ब्रेन और लंग्स पर कैसे अफेक्ट करता है । ये जानने के लिए पहले ये समझिए कि आर्थराइटिस होता कैसे है। गठिया की बीमारी होने की सबसे बड़ी वजह है यूरिक एसिड का बढ़ना। क्योंकि बढ़ा हुआ यूरिक एसिड क्रिस्टल बनकर जोड़ों में जमा होने लगता है। जिससे ज्वॉइंट्स जाम हो जाते है और स्वेलिंग के साथ दर्द बढ़ने लगता है।ताज़ा रिसर्च के मुताबिक यूरिक एसिड के यही क्रिस्टल दिल और दिमाग में ब्लड सप्लाई रोक देते हैं। जिससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक की नौबत भी आ सकती है। फिर तो इस मौसम में आर्थराइटिस के मरीज़ों को ज़्यादा सावधान रहने की ज़रूरत है। क्योंकि बरसात में वात दोष बढ़ जाता है जो जोडो के दर्द को ट्रिगर करता है और उठना बैठना भी मुश्किल हो जाता है। यानि बारिश का ये सुहाना मौसम इस वक्त देश के उन 18 करोड़ से ज़्यादा लोगों के लिए आफत है जो ज्वाइंट्स पेन के शिकार हैं।सभी लोगों को अपने रुटीन में बस थोड़ा बदलाव करना है। रोज़ सुबह इंडिया टीवी लगाना है और स्वामी रामदेव के साथ 40 मिनट योग करना है। क्योंकि योग से ना सिर्फ आर्थराइटिस से मुक्ति मिलेगी और हड्डियों में मज़बूती के साथ शरीर में एनर्जी फुल रहेगी।

Dunki: राजकुमार हिरानी की अगली फिल्म में नजर आएंगे शाहरुख खान, इस दिन होगी रिलीज

राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजविराट कोहली और रोहित शर्मा ने शेन वार्न को कुछ इस अंदाज में दी श्रद्धांजलि******मोहाली| भारतीय कप्तान रोहित शर्मा और बल्लेबाज विराट कोहली ने श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट के दूसरे दिन शनिवार को ऑस्ट्रेलिया के दिवंगत लेग स्पिनर शेन वार्न को श्रद्धांजलि दी। शुक्रवार को थाईलैंड के कोह समुई द्वीप के एक विला में रहने के दौरान दिल का दौरा पड़ने से वार्न की मौत हो गई। एक और ऑस्ट्रेलियाई महान विकेटकीपर-बल्लेबाज रॉडनी मार्श के निधन के कुछ घंटों बाद वॉर्न के आकस्मिक निधन से क्रिकेट जगत में शोक की लहर दौड़ गई।श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट के दूसरे दिन खेल शुरू होने से पहले शर्मा ने कहा, "शेन वार्न के निधन की खबर सुनकर मैं पूरी तरह से टूट गया। यह हमारी क्रिकेट की दुनिया में एक बहुत बड़ी क्षति है। हम सभी क्रिकेट की दुनिया में उनके योगदान को समझते हैं। उन्होंने अपनी गेंदबाजी से क्रिकेटरों की एक नई पीढ़ी को प्रेरित किया है।"उन्होंने आगे कहा, "यह क्रिकेट जगत को एक बहुत बड़ा नुकसान है। जैसे ही हमें सुनने को मिला, यह सुनकर बेहद दुख हुआ। मैं उनके परिवार, उनके तीन बच्चों, दोस्तों और प्रियजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करना चाहता हूं।"वहीं, कोहली ने वार्न को एक भावपूर्ण श्रद्धांजलि देते हुए कहा, जिसे अब तक का सबसे महान लेग स्पिनरों में से एक माना जाता है वह हमें कल रात छोड़कर चला गया। शेन वॉर्न के निधन से क्रिकेट जगत में शोक व्याप्त है।भारत और श्रीलंका दोनों के खिलाड़ियों ने एक मिनट का मौन रखा और दूसरे दिन की शुरूआत से पहले खिलाड़ियों को मार्श और वॉर्न की याद में काली पट्टी बांधते हुए भी देखा गया।राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीज'स्ट्रीट डांसर 3D' के एक गाने के लिए नोरा फतेही ने खरीदे थे 2 लाख के असली बाल******अभिनेत्री नोरा फतेही ने फिल्म 'स्ट्रीट डांसर 3डी' के गाने 'गर्मी' से सच में माहौल में गर्मी ला दी है। लेकिन सबसे चकित करने वाली बात यह है कि फिल्म में अभिनेत्री की हेयरस्टाइल पर 2.5 लाख रुपये खर्च हुए हैं। नोरा नेबताया, "जब हम फिल्म की शूटिंग कर रहे थे, तब हमें दुबई में पोनीटेल कस्टम के बारे में पता चला।"अभिनेत्री ने आगे कहा, "मुझे और मार्सेलो (बाल और मेकअप स्टाईलिस्ट) को एक ऐसा मैन्यूफैक्चरर मिला, जिसने मेरी मांग के अनुरूप पोनीटेल बनाया। हम चाहते थे कि श्रद्धा के साथ फेस-ऑफ दृश्य के शूट के दौरान पोनीटेल लंबी और मोटी हो, जिससे अच्छा प्रभाव पड़े।"नोरा की पोनीटेल बनाने के लिए मनुष्य के 500 ग्राम वास्तविक बालों का इस्तेमाल किया गया था।नोरा फतेही ने बताया कि डांस करते समय यह बहुत ही ज्यादा भारी लग रहा था। हालांकि मुझे लगा कि गाने में अच्छी तरग से दिखाई देगे और फिल्म में एक अलग लुक नजर आएगा। इसलिए मैने अपने दिल की बात सुनकर यह लगवाया।रेमो डिसूजा द्वारा निर्देशित फिल्म 'स्ट्रीट डांसर 3' सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। इस फिल्म में नोरा के अलावा वरुण धवन, श्रद्धा कपूर, प्रभुदेवा नजर आ रहे हैं। इस फिल्म की बात करें तो क्रिटिक्स की ओर से मिली-जुली प्रतिक्रिया मिली।

Dunki: राजकुमार हिरानी की अगली फिल्म में नजर आएंगे शाहरुख खान, इस दिन होगी रिलीज

राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजनुसरत जहां की पहली हरियाली तीज की तस्वीरें आईं सामने, लाल रंग की साड़ी और सिंदूर लगाकर दिखीं खूबसूरत******बांग्ला एक्ट्रेस और टीएमसी सांसद शादी के बाद से सुर्खियों में छाई हुई हैंं। हाल में ही अपनी की तस्वीरें डालकर सोशल मीडिया में कोहराम मचा दिया है। इसी बीच नुसरत ने अपने पहली की तस्वीरे शेयर की है। जिसमें वह लाल रंग की चंदेरी साड़ी में बेहद खूबसूरत नजर आ रही हैं।नुसरत ने तस्वीरें शेयर करते हुए कैप्शन में कहा कि उनके पति ने उनका पहला सिंधारा बेहद खास बना दिया है। नुसरत ने पति निखिल का शुक्रिया अदा करते हुए लिखा, 'मेरा पहला सिंधारा इतना खास मनाने के लिए बहुत शुक्रिया।'नुसरत ने पति निखिल जैन के साथकई तस्वीरें शेयर की है। जिसमें वह काफी रोमांटिक अंदाज में नजर आ रहे हैं। नुसरत के लुक की बात करें तो उन्होंने रेड-गोल्डन रंग की चंदेरी साड़ी पहनी हुई है।इस लुक के साथ नुसरत ने खूबसूरत हार, मंगलसूत्र, लाल रंग की लिपस्टिक और बिंदी के साथ-साथ बालों में गजरा लगाए हुए नजर आ रही हैं। इस लुक में नुसरत काफी खूबसूरत नजर आ रही हैं।वहीं निखिल जैन क्रीम कलर के कुर्ता-पायजामा में नजर आ रहे हैं। जिसके साथ उन्होंने गोल्डन कलर का हार पहना हुआ है।आपको बता दें कि नुसरत ने 19 जून को बिजनेसमैन निखिल जैन के साथ तुर्की में दो रीति-रिवाजों के साथ शादी की थी। नुरसत ने हिंदू और क्रिश्चियन रीति रिवाज से शादी की। जिसके कारण वह काफी विवादों में भी रही थीं।इसके अलावा नुसरत सिंदूर और चूड़ा पहनने के कारण काफी विवादों में रह चुकी है।

राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजNursery admission 2020: आज जारी होगी नर्सरी दाखिले की पहली मेरिट लिस्ट, कल से नर्सरी EWS रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया होगी शुरू****** ​दिल्ली के स्कूलों में नर्सरी दाखिले के लिए पहली मेरिट लिस्ट आज यानी 24 जनवरी 2020 को जारी होने की उम्मीद है। शिक्षानिदेशालयकेमुताबिक, स्कूलों को वेटिंग लिस्ट भी निकालनी होगी। दूसरी लिस्ट 12 फरवरी, 2020 को जारी की जाएगी। गौरतलब है कि शैक्षणिक सत्र 2020-2021 के लिए नर्सरी, किंडरगार्टन और कक्षा 1 के लिए प्रवेश प्रक्रिया 16 मार्च, 2020 को बंद कर दी जाएगी।प्री-स्कूल, प्री-प्राइमरी और/या क्लास- I स्तर के बच्चों को दाखिला देने वाले सभी निजी गैर-मान्यता प्राप्त मान्यता प्राप्त स्कूलों में 25 प्रतिशत सीटें आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग या ईडब्ल्यूएस, वंचित समूह या डीजी श्रेणी के छात्रों और विकलांग बच्चों के लिए आरक्षित होंगी।पहली लिस्ट जारी होने के बाद, अभिभावकों को स्कूलों द्वारा निर्धारित तारीखों के साथ दस्तावेजों के साथ शुल्क जमा करना होगा। कुछ मामलों में, माता-पिता को आवेदन पत्र जमा करने के दौरान ऑनलाइन फॉर्म की हार्ड-कॉपी या स्कूल से प्राप्त पर्ची, आवश्यक दस्तावेजों की सेल्फ-अटेस्टेड कॉपी जमा करनी होगी। माता-पिता को सत्यापन के लिए मूल दस्तावेज ले जाने होंगे। विशेषज्ञों की सलाह है कि वह पहली सूची में जहां नाम आए, वहीं सीट अवश्य पक्की कर लें। किसी दूसरे स्कूल में नाम पक्का होने पर ही पहली सीट को छेड़ें।गौरतलब है कि कई स्कूल पहले से ही पहली लिस्ट जारी कर चुके हैं। कई स्कूल फोन करके पैरेंट्स को जल्द से जल्द फीस भरने का दवाब बना रहे हैं। कई स्कूलों ने ड्रॉ करवा लिया है।सभी जरूरी दस्तावेज जैसे अभिभावक के नाम का राशन कार्ड, बच्चे व अभिभावक के नाम का मूल निवासी प्रमाणपत्र, अभिभावक का वोटर कार्ड, बिजली बिल, पानी का बिल व बच्चे का जन्मप्रमाण पत्र के साथ-साथ हो सके तो पासपोर्ट जरूर साथ में रखें। जन्म प्रमाणपत्र की एक से अधिक कॉपी अपने साथ रखें। बता दें कि दाखिले के लिए आधार कार्ड अनिवार्य नहीं है। किसी भी प्रकार से फीस का भुगतान न करें, लेकिन फीस रसीद की जरूर लें। बच्चे व माता-पिता की अतिरिक्त फोटो अवश्य रखें।दिल्ली सरकार के शिक्षा विभाग ने दिल्ली के प्राइवेट स्कूल्स में ईडब्ल्यूएस/डीजी कैटेगरी के तहत होने वाली दाखिला प्रक्रिया का नोटिस जारी कर दिया है। 25 जनवरी से दिल्ली में ई़डब्ल्यूएस/डीजी कैटेगरी के तहत रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू हो रही है वहीं आवेदन की अंतिम तारीख आज यानी 24 फरवरी 2020 है। इसका पहला ड्रा 29 फरवरी को होगा। बता दें कि इस बार दिल्ली में विधानसभा चुनावों के कारण ईडब्ल्यूएस कैटिगरी के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया में देरी हुई है। ध्यान रहे कि ईडब्ल्यूएस/डीजी कैटिगरी के तहत आवेदन की प्रक्रिया केवल दिल्ली सरकार के शिक्षा विभाग की ऑफिशल वेबसाइट edudel.nic.in पर ही होगी। अभिभावकों को किसी भी स्कूल में ऑफलाइन आवेदन की जरूरत नहीं होगी। इसका ड्रा रिजल्ट भी दिल्ली सरकार की वेबसाइट पर ही जारी किया जाएगा। दिल्ली सरकार के शिक्षा विभाग द्वारा जारी किया गया ऑफिशल नोटिफिकेशन के लिए यहां करें।राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजअनिल राजभर का पलटवार, कहा- ‘एसी कमरों’ में बैठकर ट्वीट न करें मायावती, सड़क पर उतरकर देखें विकास******Highlightsउत्तर प्रदेश सरकार के श्रम एवं सेवायोजन मंत्री अनिल राजभर ने बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती के एक बयान पर शनिवार को पलटवार किया है। राजभर ने कहा कि मायावती एसी वाले कमरों में बैठकर ट्वीट न करें और सड़क पर उतरकर भारतीय जनता पार्टी सरकार द्वारा कराए जा रहे विकास कार्यों को देखें। कन्नौज दौरे पर आये राजभर से जब मायावती द्वारा बीजेपी सरकार के विकास कार्यों को ‘छलावा’ करार दिए जाने पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने जवाब में बसपा सुप्रीमो पर तंज कस दिया।बीएसपी सुप्रीमो ने शुक्रवार को ट्वीट कर आरोप लगाया था, ‘बांदा जिले में यमुना नदी पर निर्माणाधीन पुल के वर्षों से अधूरे पड़े रहने के कारण नाव हादसे में कई लोगों की मौत, हापुड़ में पेशी पर आए आरोपी की दिनदहाड़े हत्या और अब हमीरपुर में सामूहिक दुष्कर्म की दर्दनाक घटना साबित करती है कि उत्तर प्रदेश में जंगलराज है तथा विकास का ढिंढोरा छलावा मात्र है!’ मायावती ने आगे कहा था कि यूपी में आपराधिक तत्वों का बेखौफ हो जाना लचर कानून-व्यवस्था का सबूत है।ने कहा था, ‘इनका विकास भी कुछ खास जिलों तक सीमित है, जबकि प्रदेश के हर क्षेत्र में गरीबी और बेरोजगारी है। सरकार इस ओर जरूर ध्यान दे।’ बता दें कि बांदा जिले के समगरा गांव में 11 अगस्त को एक नाव पलटने से उस पर सवार 11 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं, 16 अगस्त को हापुड़ के जिला एवं सत्र न्यायालय के बाहर हरियाणा के हिस्ट्रीशीटर की तीन लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।अनिल राजभर ने दावा किया, ‘हम जनता की उम्मीदों पर खरा उतरे हैं, तभी जनता ने हमे दोबारा सरकार बनाने का मौका दिया है। हम हर जिले में मेडिकल कॉलेज बना रहे हैं क्योंकि चिकित्सकों की बेहद कमी है और जब मेडिकल कॉलेज हर जिले में बन जायेंगे तो नए डॉक्टर सेवा के लिए उपलब्ध होंगे।’

राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजPakistan News: लाहौर हाई कोर्ट ने इमरान खान को दो सीटों पर उपचुनाव लड़ने की अनुमति दी******Highlightsपाकिस्तान की एक शीर्ष अदालत ने बुधवार को पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को नेशनल असेंबली की दो सीटों पर उपचुनाव लड़ने की अनुमति दे दी और खान के नामांकन पत्र स्वीकार किए जाने को चुनौती देने वाली पीएमएल-एन के एक उम्मीदवार की याचिका और निर्वाचन आयोग की आपत्तियों को खारिज कर दिया। डॉन अखबार की खबर के अनुसार लाहौर उच्च न्यायालय ने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के अध्यक्ष को सीट संख्या 108 (फैसलाबाद) और 118 (ननकाना साहिब) में उपचुनाव लड़ने की अनुमति दे दी है। अदालत के अपीलीय चुनाव न्यायाधिकरण के न्यायमूर्ति शाहिद वाहिद ने दो अलग-अलग याचिकाओं पर आदेश जारी किए। पाकिस्तान के निर्वाचन आयोग ने 17 अगस्त को फैसलाबाद सीट पर 25 सितंबर को होने वाले उपचुनाव के लिए खान के नामांकन को खारिज कर दिया था। इसमें खान की संपत्तियों के बारे में अपर्याप्त जानकारी होने की बात कही गई। निर्वाचन आयोग ने नामांकन रद्द करने के पीछे पीठासीन अधिकारी के तर्क के हवाले से एक बयान में कहा था, ‘‘इमरान खान के नामांकन पत्र हस्ताक्षर सत्यापन के मुद्दे की वजह से खारिज नहीं किये गये थे। संपत्तियों का पूरा ब्योरा नहीं होने की वजह से कागजात खारिज किए गए।’’एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, कराची में पीपीपी मंत्रियों और नेताओं के साथ एक बैठक के दौरान दुबई में कुछ दिनों के प्रवास के बाद देश लौटे जरदारी ने पाकिस्तान की सेना और न्यायपालिका को निशाना बनाने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री खान की आलोचना की है। दो दिन पहले, अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश जेबा चौधरी को धमकी देने के लिए इस्लामाबाद के सदर मजिस्ट्रेट अली जावेद की शिकायत पर खान पर आतंकवाद का मामला दर्ज किया गया था। एक दिन बाद, इस्लामाबाद उच्च न्यायालय (आईएचसी) ने खान को 25 अगस्त तक सुरक्षात्मक जमानत दे दी। जरदारी ने कहा, 'सभी संस्थानों को अपना कानून स्थापित करने के लिए विचार करना चाहिए, कहीं ऐसा न हो कि कानून, संविधान और संस्थान सत्ता की उनकी लालसा का शिकार हो जाएं।'राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजMaruti ने 1.35 लाख वैगन-आर व बलेनो को किया रिकॉल, टोयोटा नेे भी 6500 ग्‍लैंजा को वापस मंंगाया******Maruti recalls 1,34,885 units of WagonR, Baleno to fix faulty fuel pumpsदेश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने बुधवार को कहा कि उसने 1,34,885 वैगन-आर और बलेनो मॉडल के वाहनों को रिकॉल किया है। कंपनी ने कहा है कि वह इन इकाईयों में खराब ईंधन पंप की जांच करेगी और गड़बड़ी पाए जाने पर इन्‍हें मुफ्त में बदला जाएगा। ने एक बयान में कहा कि कंपनी ने स्‍वैच्‍छा से वाहनों को वापस मंगाया है। इसके तहत 15 नवंबर, 2018 से 15 अक्‍टूबर, 2019 के बीच बनी वैगन-आर (1 लीटर) और 8 जनवरी,2019 से 4 नवंबर, 2019 के बीच बनी बलेनो (पेट्रोल) को वापस मंगाया है। इस रिकॉल के तहत दोनों मॉडल के कुल 1,34,885 वाहन शामिल किए गए हैं।कंपनी ने कहा है कि वह संभावित ईंधन पंप की जांच के लिए वैगन-आर की 56,663 इकाई और बलेनो की 78,222 इकाईयों की जांच करेगी। कंपनी ने कहा है कि खराब पार्ट को बिना किसी मूल्‍य के बदला जाएगा। इन वाहनों के मालिकों से कंपनी के अधि‍कृत डीलर द्वारा संपर्क किया जाएगा और उन्‍हें अपना वाहन वर्कशॉप में लाने के लिए समय दिया जाएगा।टोयोटा ने भी किया 6500 ग्‍लैंजा को रिकॉलटोयोटा किर्लोस्‍कर मोटर ने भी अपनी ग्‍लैंजा कार की 6500 इकाईयों को खराब ईंधन पंप के चलते रिकॉल किया है। कंपनी ने एक बयान में कहा है कि उपभोक्‍ताओं की सुरक्षा को ध्‍यान में रखते हुए कंपनी ने स्‍वैच्‍छा से 2 अप्रैल, 2019 से 6 अक्‍टूबर, 2019 के बीच निर्मित ग्‍लैंजा के सभी वेरिएंट्स को रिकॉल किया है।टोयोटा किर्लोस्‍कर मोटर की ग्‍लैंजा को मारुति सुजुकी की बलेनो प्‍लेटफॉर्म पर तैयार किया गया है। मार्च, 2018 में टोयोटा और सुजुकी ने एक-दूसरे के हाइब्रिड और अन्‍य वाहनों को भारतीय बाजार में बेचने का अनुबंध किया था।

राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजRobot Dog: ये रोबोट डॉग अपने दुश्मन को गोलियों से छलनी कर देता है, इन खूबियों से लैस है 21वीं सदी का यह आधुनिक हथियार******Highlights इन दिनों पूरी दुनिया में आधुनिक हथियारों की होड़ मची हुई है। खास तौर से ऐसे हथियारों की जो मानवरहित हों। ताकि युद्ध में इंसानी जान कम से कम जाए। आपने अब तक एक से एक आधुनिक हथियार देखे होंगे। लेकिन ये रोबोट डॉग आपकी कल्पना से भी ज्यादा खतरनाक है। सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे एक रोबोट डॉग के पीठ पर रूसी सबमशीन लगा दी गई है और वह इससे अंधाधुंध फायरिंग कर रहा है। यह वीडियो होवरबाइक कंपनी के एक रूसी संस्थापक ने शेयर की हैरूसी संस्थापक अलेक्जेंडर अटामानोव ने यह वीडियो शेयर किया है, जिसमें एक यूनिट्री युशु डॉगबॉट को देखा जा सकता है, जिसकी कीमत लगभग 2.39 लाख रुपए है। यह रोबोडॉग बर्फ से ढकी पहाड़ियों पर अपने टार्गेट को बड़ी आसानी से निशाना बना ले रहा है। जबकि ऐसी जगहों पर सैन्य ऑपरेशन करने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।इस रोबोट डॉग के पीठ पर एक रूसी सबमशीन गन लगी है, जिसे PP-19 विट्याज़ कहा जाता है। इसका डिजाइन एके-47 से मिलता जुलता है। इस रोबोट डॉग के किनारों पर गौर करेंगे तो उस पर वेल्फ्रो की पट्टियां लगी हुई हैं। वहीं उसकी बाईं तरफ एक रूसी झंडा देखा जा सकता है। इस रोबोट डॉग की सभी क्षमताओं के बारे में फिलहाल पूरी जानकारी नहीं आई है। लेकिन जिस तरह से इसे लोगों के सामने पेश किया जा रहा है, उसे देखकर लगता है कि जल्द ही इसे लॉन्च किया जा सकता है और शायद कई देशों की सेनाएं भी इस तरह के हथियार में अपनी दिलचस्पी दिखाएं। हालांकि, यह रोबोट डॉग सिर्फ हथियार के तौर पर ही नहीं काम आ सकता है, बल्कि इससे और भी काम लिए जा सकते हैं। यही दिखाने के लिए अटामानोव ने अपने सोशलमीडिया पर इस डॉग की एक और फोटो शेयर की है जिसमें यह रोबोट डॉग अपनी पीठ पर कॉफी का एक कप लिए हुए है और अटामानोव उसके साथ आराम से बैठे हुए हैं।हर चीज में कुछ खूबियां तो कुछ खामियां होती हैं। इस रोबोट डॉग में भी कई खूबियों के साथ एक खामी है। वह यह है कि हर फायर के साथ यह रोबोट डॉग अपना बैलेंस खो देता है। यानी दूसरी बार फायर करने से पहले इसे फिर से अपना बैलेंस बनाना पड़ता है। हालांकि, अभी ये प्रोजेक्ट पूरी तरह से लॉन्च नहीं हुआ है तो पूरी संभावना है कि इसमें अभी कुछ सुधार किए जाएं और इसे लॉन्चिंग के समय एक सटीक रोबोट डॉग के रूप में पेश किया जाए।जब आधुनिक हथियारों की बात आती है तो सबसे पहले अमेरिका का नाम ही दिमाग में आता है। हथियारों के मामले में अमेरिका हमेशा आगे रहने की कोशिश करता है। अब अगर रोबोट डॉग की बात करें तो अमेरिका के पास ऐसा रोबोट डॉग पहले से ही मौजूद है। अक्टूबर 2021 में अमेरिका ने अपने यूएस आर्मी ट्रेड शो में एक 6.5 मिमी क्रिडमूर स्नाइपर राइफल को रोबोट डॉग के साथ पेश किया था। अमेरिका का यह रोबोट डॉग 3,940 फीट दूर तक निशाना लगाने में सक्षम बताया जाता है।राजकुमारहिरानीकीअगलीफिल्ममेंनजरआएंगेशाहरुखखानइसदिनहोगीरिलीजMahatma Gandhi Jayanti: महात्मा गांधी के जन्मदिन पर पढ़िए उनके 8 सुविचार******हम सबके प्यारे से बापू महात्मा गांधी जी का 2 अक्टूबर को जन्म हुआ था। महात्मा गांधी ने अपने विचारों और देशभक्ति से दुनिया में ऐसी अमिट छाप छोड़ी है कि आज भी हर कोई उन्हें उनके त्याग और बलिदान के लिए याद करता है। महात्मा गांधी ने देश को अहिंसा के मार्ग पर चलने की सलाह दी। इन्होंने पूरी दुनिया को इस बात से अवगत कराया कि बिना किसी हिंसा के भी कोई भी लड़ाई लड़ी जा सकती है। महात्मा गांधी की जयंती पर आज हम आपको उनके कुछ ऐसे विचारों के बारे में बताएंगे जिसे हर किसी को अपने जीवन में उतारना चाहिए।धैर्य का छोटा हिस्सा भी एक टन उपदेश से बेहतर है।खुद वो बदलाव बनिए जो आप दुनिया में देखना चाहते हैं।

हाल का ध्यान

लिंक