वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > हुज़ोउ > मूलपाठ

Train Derailed: दादर-पुडुचेरी एक्सप्रेस के तीन डिब्बे पटरी से उतरे, दो ट्रेनें रद्द

2022-10-04 16:47:57 हुज़ोउ

दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दराजमार्ग परियोजनाओं को लगेंगे पंख, LIC 2024 तक 1.25 लाख करोड़ रुपये की देगी ऋण सुविधा******Union Minister Nitin Gadkari देश के की वित्तपोषण की जरूरतों को पूरा करने के नवोन्मेषी तरीकों के तहत बीमा क्षेत्र की दिग्गज कंपनी जीवन बीमा निगम () ने 2024 तक के लिए 1.25 लाख करोड़ रुपये की ऋण सुविधा देने का फैसला किया है। ने यह जानकारी दी। मंत्रालय 8.41 लाख करोड़ रुपये की महत्वाकांक्षी भारतमाला परियोजना का समय पर क्रियान्वयन करना चाहता है। इसके जरिये अखिल भारतीय स्तर पर राजमार्गों का ‘ग्रिड’ बिछाया जा सकेगा। मंत्रालय इस परियोजना के लिए पेंशन और बीमा कोषों सहित वित्तपोषण के विभिन्न स्रोतों तक पहुंचना चाहता है।गडकरी ने पीटीआई भाषा से कहा कि एलआईसी ने हमें एक साल में 25,000 करोड़ रुपये और पांच साल में 1.25 लाख करोड़ रुपये की ऋण सुविधा की पेशकश की है। इस पर वे सैद्धान्तिक रूप से सहमत हैं। हम राजमार्ग निर्माण में इस कोष का इस्तेमाल करेंगे।एलआईसी के चेयरमैन आर कुमार ने पिछले सप्ताह गडकरी से मुलाकात की थी। मंत्री ने कहा कि इस ऋण सुविधा का इस्तेमाल के लिए किया जाएगा जिसकी संशोधित लागत 8.41 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। भारतमाला परियोजना की शुरुआती लागत 5.35 लाख करोड़ रुपये थी। बाद में भूमि अधिग्रहण की लागत की वजह से इसमें इजाफा हो गया। पहले चरण में 34,800 किलोमीटर का उन्नयन किया जाएगा। इसमें राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना () का शेष 10,000 किलोमीटर भी शामिल है।गडकरी ने कहा कि भारतमाला परियोजना का वित्तपोषण उपकर, टोल राजस्व, बाजार से कर्ज, निजी क्षेत्र की भागीदारी, बीमा कोष, पेंशन कोष, मसाला बांड और अन्य पहल के जरिये किया जाएगा। एलआईसी से ऋण सुविधा ऐसी ही एक पहल है। शुरुआती योजना के अनुसार इसके लिए कोष 30 साल की अवधि के लिए जुटाया जाएगा और प्रत्येक दस साल में ब्याज दरों में संशोधन होगा।एक अधिकारी ने कहा कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण () तथा एलआईसी के अधिकारी मिलकर इसके तौर तरीके तय करेंगे। यह कर्ज एनएचएआई द्वारा जारी बांड के रूप में होगा। गडकरी ने कहा कि हमारे पास कोष की कमी नहीं है। उन्होंने कहा कि जैसे ही परियोजनाएं पूरी होंगी उनका मौद्रिकरण किया जाएगा और उससे हासिल कोष को पुन: राजमार्ग निर्माण में लगाया जाएगा।एनएचएआई परिचालन में आ चुके राजमार्ग खंडों की नीलामी के तीसरे चरण में निगाह टीओटी (टोल, परिचालन और स्थानांतरण) माडल पर चल रहे कुल 566 किलोमीटर के नौ मार्ग खंड नीलाम करना चाह रही है। इससे 4,995 करोड़ रुपये हासिल होने की उम्मीद है। ये खंड उत्तर प्रदेश , बिहार , झारखंड और तमिलनाडु में पड़ते हैं।

दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्द20 से 26 मार्च: इस सप्ताह चंद्र कर रहा है राशि परिवर्तन, इन राशियों को मिलेगा धन लाभ******इस सप्ताह इस राशि के जातकों के लिए नौकरी में तथा विदेश जाने के लिए खूब शुभ फलदायी रहेगा। शुरूआती समय में अप्रत्याशित मुसीबत, खर्च, अड़चन आ सकती है लेकिन उससे आप हिम्मत नहीं हारेंगे। कोर्ट कचहरी की कार्यवाही चल रही हो तो उसमें मुश्किल आ सकती है।जीवन साथी के साथ विवाद की संभावना होने से व्यवहार में संयम रखें। किसी भी काम में भाग दौड़ करने पर भी सफलता नहीं मिलेगी। सप्ताह का मध्यभाग आर्थिक और व्यवसायिक रूप से शुभ है। आप को सफलता मिलने से मन में आनंद और हर्ष का अनुभव करेंगे।वर्तमान समय में आपका कोई विवाहेतर संबंध बने ऐसी संभावना रहेगी अथवा आपसे बड़ी उम्र अथवा वृद्ध व्यक्ति के साथ संबंध बढ़ेंगे। जिसके कारण आपके वैवाहिक जीवन में भी तनाव आने की संभावना है। सप्ताह के अंतिम भाग में स्वभाव में गुस्सा, पारिवारिक कलह के कारण पछतावा होने संभावना है। हालांकि, आर्थिक और नौकरी की दृष्टि से शुभ है।दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दWorld Thyroid Day 2019: इस फेमस मॉडल को है थायराइड की बीमारी, जानिए इसके शुरुआती लक्षण****** हर साल की तरह इस साल भी 25 मई यानि आजके दिनपूरे विश्व में 'थायराइड डे'मनाया जा रहा है। यह एक ऐसी बीमारी है जिसको लेकर लोगों के बीच कुछ खासजागरुकता नहीं है। लेकिनइस बीमारी को लेकर अक्सर एक बात कही जाती है किअगर सही समय पर रोकथाम नहीं कीगईतो यह बढ़ते समय के साथगंभीर रूप ले सकती है। आम आदमी से लेकर बॉलीवुड-हॉलीवुड सेलेब्स तक इस बीमारी ने अपना शिकार बनाया। आज के दिन हम आपको बताएंगे कि कौन से सेलेब्स इस बीमारी के शिकार है साथी ही इसके शुरुआती लक्षण।इस बीमारी नेपॉप स्टार रचेल स्टीवन, सोफिया वारगरा, हिलेरी क्लिंटन, जॉर्ज एच.डब्लू बुश, गीगी हदीद, फुटबॉलर रोनाल्डो से लेकर, बॉक्सर मोहम्मद अली तक को अपना शिकार बनाया है।इस बीमारी को लेकर जागरुकता फैलाने में बॉलावुड एक्ट्रेस काजोल ने भी कई शो में भाग लिया।आराम करने के बाद भी थकावट महसूस होना थाइराइड का लक्षण हो सकता है। इसमें शरीर की एनर्जी कम होने लगती है और काम करने में आलस आता है।थाइराइड रोग में डॉक्टरी इलाज करवाना बहुत जरूरी है लेकिन इसके साथ-साथ आप घरेलू उपाय से इसमें कॉफी फायदा मिलता है। प्याज खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ सेहत के लिए भी बहुत लाभकारी है। इसमें एंटी बैक्टिरियल,एंटी फंगल के अलावा और भी बहुत से जरूरी तत्व होते हैं।

Train Derailed: दादर-पुडुचेरी एक्सप्रेस के तीन डिब्बे पटरी से उतरे, दो ट्रेनें रद्द

दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दऋषि कपूर ने की थी रणबीर कपूर और आलिया भट्ट की ग्रैंड वेडिंग की प्लानिंग, सुभाष घई ने किया खुलासा******Highlightsदिवंगत अभिनेता ऋषि कपूर के करीबी दोस्त और फिल्म निर्माता सुभाष घई ने बॉलीवुड में रणबीर कपूर और आलिया भट्ट की मोस्ट अवेटेड शादी पर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने खुलासा किया कि जो कपल अब पांच साल से रिश्ते में हैं, वे दिसंबर 2020 में शादी के बंधन में बंधने वाले थे। हालांकि, उसी साल 30 अप्रैल को ऋषि कपूर की दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु के कारण शादी को स्थगित कर दिया गया। सुभाष घई ने हाल ही में याद किया कि उन्होंने जनवरी 2020 में रणबीर और आलिया की शादी के बारे में ऋषि कपूर के साथ बातचीत की थी।बॉम्बे टाइम्स के साथ बातचीत में, सुभाष ने कहा, "मुझे जनवरी 2020 में याद है, जब मैं व्हिसलिंग वुड्स इंटरनेशनल के हमारे वार्षिक दीक्षांत समारोह में डब्ल्यूडब्ल्यूआई मेस्ट्रो अवार्ड 2020 प्राप्त करने के लिए आमंत्रित करने के लिए ऋषि कपूर से उनके घर पर मिलने गया था। हमने एक लंबी बातचीत की थी। अच्छे दोस्तों के रूप में। वह मेरे साथ साझा करके बहुत खुश थे कि वे दिसंबर 2020 में आलिया के साथ अपने बेटे रणबीर की शादी की बड़े पैमाने पर योजना बना रहे थे। लेकिन उन्होंने हम सभी को अचानक एक गहरा दुख दिया।"उन्होंने यह भी कहा कि रणबीर और आलिया उनके सपने को पूरा कर रहे हैं। उन्होंने कहा, "आज मैं बहुत खुश हूं कि रणबीर और आलिया आखिरकार अपने सपने को पूरा कर रहे हैं। मैं दोनों के सुखी वैवाहिक जीवन की कामना करता हूं, जैसा कि मैंने हमेशा ऋषि और नीतू कपूर के लिए किया था।"हाल ही में, आलिया भट्ट के चाचा रॉबिन भट्ट ने पुष्टि की कि वह 14 अप्रैल को रणबीर के साथ शादी के बंधन में बंध जाएंगी। यह मेहंदी और हल्दी समारोह के साथ चार दिवसीय कार्यक्रम होगा। शादी रणबीर के बांद्रा स्थित घर वास्तु में होगी।उनकी शादी से पहले, रणबीर के घर पर एक कार देखी गई और उसमें दूल्हा-दुल्हन के लिए सब्यसाची की पोशाकें भरी हुई थीं। आरके स्टूडियो, कृष्णा राज बंगला और चेंबूर में कपूर आवास को रोशनी से सजाया गया है।दोनों को अपनी आने वाली फिल्म 'ब्रह्मास्त्र' के सेट पर एक-दूसरे से प्यार हो गया था। दोनों ने पहली बार 2018 में सोनम कपूर के वेडिंग रिसेप्शन में कपल के रूप में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।दोनों अयान मुखर्जी की आगामी सुपरहीरो फैंटसी महाकाव्य 'ब्रह्मास्त्र' में स्क्रीन साझा करते हुए दिखाई देंगे, जिसमें अमिताभ बच्चन, मौनी रॉय और नागार्जुन अक्किनेनी भी हैं। फिल्म 9 सितंबर को पांच भाषाओं- हिंदी, तमिल, तेलुगु, मलयालम और कन्नड़ में सिनेमाघरों में उतरेगी।दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दNEET Result 2019: नीट 2019 टॉपर नलिन खंडेलवाल ने बताया 'सफलता का मंत्र', जानिए- कितनी करते थे पढ़ाई****** नीट 2019 की परीक्षा में राजस्थान के रहने वाले नलिन खंडेलवाल ने नीट 2019 की परीक्षा टॉप की है।नलिन खंडेलवाल ने मीडिया से बात कहा कि "पहला स्थान पाकर मैं बहुत-बहुत खुश हूं। मैंदिन में आठ घंटे पढ़ाई करताथा। मैं अपनेअध्यापकों का धन्यवाद करना चाहत हूं।बता दें किनलिन को 720 में से 701 नंबर मिले हैं। वहीं,ऑल इंडिया टॉपर में दूसरे नंबर पर दिल्ली के भाविक बंसल हैं। वहीं, तीसरे टॉपर अक्षत कौशिक हैं, जो यूपी के रहने वाले हैं।वहीं, अगर लड़कियों की बात करें तो लड़कियों में माधुरी रेड़्डी ने टॉप किया है। तेलंगाना की रहने वाली माधुरी रेड्डी की 7 रैंक आई है। उन्हें 720 में से 695 अंक हासिल किए हैं। कुल टॉप 100 की लिस्ट में 20 लड़कियों के नाम शामिल हैं। कुल टॉप 100 की लिस्ट में 20 लड़कियों के नाम शामिल हैं। लेकिन, टॉप छह लड़के हैं।नीट 2019 की परीक्षा कुल 14,10,754 उम्मीदवारों ने दी थी, जिनका रिजल्ट NEET की ऑफिशियल वेबसाइट ntaneet.nic.in पर जारी किया गया है।ntaneet.nic.in पर आपको पहले लॉगइन करना पड़ेगा। लॉगइन करने के लिए वेबसाइट पर आपने कुछ जरूरी जानकारियां मांगी जाएंगी। जिन्हें भरने के बाद सबमिट करने पररिजल्ट आपकी स्क्रीन पर आ जाएगा। रिजल्ट का प्रिंट आउट लेने का विकल्प भी आपके पास होगा, चाहें तो आप प्रिंट आउट भी ले सकते हैं।बता दें कि नीट रिजल्‍ट आने के बाद उम्मीदवारों की अंक के आधार पर काउंसलिंग भी होती है और फिर उसी के आधार पर अंडरग्रेजुएट मेडिकल कॉलेज में एडमिशन होता है। अब छात्रों के लिए मेडिकल काउंसलिंग कमेटी, एमसीसी के होमपेज पर NEET काउंसलिंग 2019 की सूची जल्द ही जारी कर दी जाएगी। पिछले साल की बात करें तो साल 2018 में NEET काउंसलिंग का पहला फेज 31 अगस्‍त से 3 सितंबर तक आयोजित किया गया था।दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दKisan Tractor Rally हिंसा में 80 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल, सार्वजनिक संपत्तियों को भी पहुंचाया नुकसान******किसानों ने आज गणतंत्र दिवस के मौके पर कई जगह पर पुलिसकर्मियों पर हमला किया और जमकर उत्पात मचाया। प्रदर्शनकारी हाथ में डंडे लेकर पुलिसकर्मियों को दौड़ाते हुए भी दिखे। इस हिंसा में 83 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। दिल्ली के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार ने कहा कि ट्रैक्टर रैली में पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि उपद्रवियों ने इस दौरान सार्वजनिक संपत्तियों को भी नुकसान पहुंचाया।घायल पुलिसकर्मियों और किसानों का मध्य दिल्ली में आईटीओ चौराहे के पास लोक नायक अस्पताल में इलाज चल रहा है। दिल्ली सरकार द्वारा संचालित अस्पताल की मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रितु सक्सेना ने बताया कि कुछ के पैर, हाथ और सिर पर भी चोटें आई हैं और उन्हें आपातकालीन वार्ड में भर्ती किया गया हैं। उन्होंने कहा, "हालांकि, कोई भी गंभीर स्थिति में नहीं है।"सक्सेना ने कहा कि उन्हें जल्द ही छुट्टी दे दी जाएगी, क्योंकि सभी की हालत स्थिर है। आईटीओ के पास दिल्ली पुलिस और आंदोलनकारी किसानों के बीच झड़प ने हिंसक रुप ले लिया। इस दौरान पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे और उन्हें तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया।इससे पहले एएनआइ से बातचीत करते हुए दिल्ली पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव ने कहा कि कई दौर की बैठकों के बाद ट्रैक्टर रैली के लिए समय और मार्गों को अंतिम रूप दिया गया था लेकिन उपद्रवी प्रदर्शनकारियों ने ट्रैक्टरों से बैरिकेड को तोड़ दिया और निर्धारित किए गए समय से पहले दिल्ली मे घुस गए। उपद्रवियों ने पुलिस पर हमला भी किया। इससे कई पुलिस कर्मी घायल हो गए।गौरतलब है कि सोमवार सुबह टीकरी बार्डर पर जमे किसानों ने पुलिस के लाख अनुरोध के बावजूद बैरिकेड को तय समय से सवा घंटे पहले करीब पौने नौ बजे तोड़कर आगे बढ़ने लगे। किसान दिन भर आपसी सहमति से बने रूट की धज्जियां उड़ाते हुए दिल्ली के भीतरी इलाकों में पहुंचने में कामयाब रहे। बाहरी से लेकर पश्चिमी दिल्ली तक की सड़कें पूरी तरह किसानों के कब्जे में रहीं।

Train Derailed: दादर-पुडुचेरी एक्सप्रेस के तीन डिब्बे पटरी से उतरे, दो ट्रेनें रद्द

दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दरोहतक की ग्राउंड रिपोर्टः क्या हरियाणा के 'जाटलैंड' में बीजेपी खोल पाएगी खाता?******हरियाणा के जाटलैंड के नाम से मशहूर में इस बार कांटे की टक्कर है। रोहतक सीट को कांग्रेस का गढ़ माना जाता है। इस बार रोहतक की लड़ाई जाट और गैर-जाट की है और इस लड़ाई में कांग्रेस के दीपेंद्र हुड्डा जीत के लिए चौथी बार मैदान में उतरे हैं। दीपेंद्र हुड्डा ने कांग्रेस के सबसे बड़े गढ़ को बचाने के लिए जोर लगा दिया है, यहां तक प्रियंका गांधी ने भी यहां रोड शो कर दिया है।अपनी इस परंपरागत सीट को बचाने के लिए दीपेंद्र हुड्डा एड़ी चोटी का दम लगा रहे हैं और 12 से 15 घंटे प्रचार में जुटे हैं। जाटलैंड की सबसे खास सीट रोहतक में कांग्रेस का दबदबा रहा है। भूपेंद्र सिंह हुड्डा के बाद ये सीट उनके बेटे दीपेंद्र हुड्डा के नाम रही। दीपेंद्र सबसे पहले 2009 में जीते। 2014 में मोदी लहर के बाद भी दीपेंद्र हुड्डा रोहतक की सीट जीतने में कामयाब हुए।रोहतक में इस बार लोकसभा चुनाव में प्रमुख मुद्दा नरेंद्र मोदी बनाम दीपेंद्र हुड्डा बन गया है। यहां इस बार दीपेंद्र हुड्डा का मुकाबला बीजेपी के पूर्व सांसद अरविंद शर्मा से है। जननायक जनता पार्टी-आप गठबंधन ने छात्र नेता प्रदीप देशवाल और INLD ने धर्मवीर फौजी को प्रत्याशी बनाया है।रोहतक लोकसभा क्षेत्र से हुड्डा परिवार की प्रतिष्ठा भी दांव पर है। इस लोकसभा क्षेत्र को हुड्डा का गढ़ माना जाता है जहां से हुड्डा परिवार के सदस्य 9 बार सांसद बने हैं इसलिए इस क्षेत्र को एक बार फिर जीतने के लिए हुड्डा परिवार ने पूरा जोर लगा रखा है। खुद प्रियंका गांधी दीपेंद्र हुड्डा के लिए रोहतक में रोड शो कर चुकी हैं।रोहतक में 6 लाख 70 हजार जाट हैं, इसके अलावा 3 लाख अनुसूचित जाति, 1 लाख 75 हजार अहीर, 1 लाख 20 हजार पंजाबी और 1 लाख 35 हजार ब्राह्मण वोटर हैं। जाटों की दबदबे वाली सीट पर ज्यादातर जाटों का ही कब्जा रहा है लेकिन इस बार जंग जाट बनाम गैर जाट है। बीजेपी ने गैर जाट प्रत्याशी पर दांव लगाया है जबकि कांग्रेस और जेजेपी के प्रत्याशी जाट हैं।रोहतक से बीजेपी एक बार भी लोकसभा सीट नहीं जीत सकी है। 2014 में मोदी लहर भी रोहतक के सामने फीकी पड़ गई थी। दीपेंद्र हुड्डा जनता को ये समझाने की कोशिश में हैं कि बीजेपी बांटने की राजनीति करती है। यहां 12 मई को वोटिंग होगी।दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दबसंत पंचमी पर कुंभ 2019 का आखिरी ‘शाही स्नान’, करोड़ों श्रद्धालुओं ने संगम पर लगाई पवित्र डुबकी****** संगम शहर में चल रहे आस्था के पर्व में रविवार को बसंत पंचमी के दिन तीसरे ‘शाही स्नान’ में श्रद्धालुओं का डुबकी लगाने का सिलसिला जारी है। आज कम से कम दो करोड़ से अधिक लोगों के आने की संभावना है। कुंभ मेला अधिकारी विजय किरन आनंद ने कहा कि रविवार को बसंत पंचमी के अवसर पर समाज के हर वर्ग से दो करोड़ से ज्यादा लोगों के डुबकी लगाने की संभावना है। उत्तर प्रदेश पुलिस तथा केन्द्रीय अर्ध सैनिक बल सहित सुरक्षा कर्मियों को विभिन्न क्रॉसिंग्स और शहर के अनेक हिस्सों में तैनात किया गया है।अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (एबीएपी) के अध्यक्ष नरेन्द्र गिरि ने कहा, ‘‘कुंभ मेले में तीन शाही स्नान और तीन पर्व स्नान होते हैं।’’कुंभ मेला 15 जनवरी को मकर संक्राति के दिन से शुरु हुआ था और वहीपहला शाही स्नान था दूसरा शाही स्नान चार फरवरी को मौनी अमावस्या के दिन था। इलाहाबाद की महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी ने पीटीआई-भाषा से कहा,‘‘बसंत पंचमी कुंभ का तीसरा और अंतिम शाही स्नानहै। माना जाता है कि इस दिन तीन बार डुबकी लगा कर श्रद्धालुओं को गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती का आशिर्वाद मिलता है।इस लिए श्रद्धालुओं के लिए इसका काफी महत्व है।’’उत्तर प्रदेश पुलिस ने पूरे पर्व को सुगमता से निपटाने के लिए सारी तैयारी की है। राज्य के पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह ने पीटीआई-भाषा से पहले बातचीत में कहा था कि पूरे क्षेत्र को नौ जोन और 20 सेक्टरोंमें बांटा गया है। इनकी सुरक्षा में 20,000 पुलिसकर्मियों, 6000 होमगार्ड तैनात किए गए हैं। इसके अलावा 40 पुलिस थाने, 58 चौकियां, 40 दमकल केंद्र बनाए गए हैं। केन्द्रीय बलों की 80 कंपनियां तथा पीएसी की20 कंपनियां भी तैनात हैं।

Train Derailed: दादर-पुडुचेरी एक्सप्रेस के तीन डिब्बे पटरी से उतरे, दो ट्रेनें रद्द

दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दFitch ने 2019-20 के लिए भारत के आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को घटाया, 6.6 से घटाकर किया 5.5%******Fitch cuts India's FY20 GDP growth forecast to 5.5 pc रेटिंग एजेंसी ने चालू वित्त वर्ष के लिए भारत की जीडीपी वृद्धि दर का अनुमान घटाकर 5.5 प्रतिशत कर दिया है। उसने गुरुवार को कहा कि गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों में संकट के कारण कर्ज देने में कमी से आर्थिक वृद्धि दर छह साल के न्यूनतम स्तर पर आ गई है। फिच ने इस साल जून में 2019-20 के लिए देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि दर 6.6 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया था। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि कंपनी कर की दरों में कटौती समेत सरकार के हाल के उपायों से धीरे-धीरे आर्थिक वृद्धि में तेजी आएगी। यह रिजर्व बैंक के इसी महीने जताए गए 6.1 प्रतिशत आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान से कम है। फिच ने कहा कि अगले वित्त वर्ष (2020-21) में जीडीपी वृद्धि दर 6.2 प्रतिशत तथा उसके अगले वित्त वर्ष में 6.7 प्रतिशत रहने की संभावना है।भारत की आर्थिक वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में घटकर 5 प्रतिशत पर आ गई, जबकि एक साल पहले इसी तिमाही में यह 8 प्रतिशत थी। यह 2013 के बाद किसी तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर का न्यूनतम स्तर है। फिच ने कहा कि अर्थव्यवस्था में कमजोर व्यापक है। घरेलू व्यय के साथ विदेशों से भी मांग कमजोर हो रही है।गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों में संकट के कारण कर्ज उपलब्धता में कमी से अर्थव्यवस्था पर प्रतिकूल असर पड़ा है। उल्लेखनीय है कि इस महीने की शुरूआत में मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने 2019-20 में आर्थिक वृद्धि दर अनुमान 6.2 प्रतिशत से घटाकर 5.8 प्रतिशत कर दिया था। उसका कहना था कि विभिन्न दीर्घकालीन कारणों से अर्थव्यवस्था में नरमी है।

दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दपाकिस्तान आजादी के 75 साल बाद फिर होगा गुलाम? UAE को बेच रहा अपनी सरकारी कंपनियों में हिस्सेदारी******Pakistan UAEHighlightsपाकिस्तान आजादी के 75 साल बाद एक बार फिर गुलामी की जंजीरों की ओर बढ़ रहा है। भारी कर्ज में डूबे पाकिस्तान ने अब अपनी कंपनियों को यूएई के हवाले करने का फैसला किया है। हाल ही में पाकिस्तान ने अपने पुराने दोस्त संयुक्त अरब अमीरात (UAE) से नए कर्ज का अनुरोध किया था। लेकिन उसके जवाब में यूएई ने सार्वजनिक रूप से लिस्टेड कंपनियों में एक तय कीमत पर अल्पांश शेयरों की खरीद की पेशकश की है। इसके साथ ही यूएई ने इन कंपनियों के निदेशक मंडल में एक-एक सीट देने की भी मांग रखी है।मंगलवार को एक मीडिया रिपोर्ट से यह जानकारी मिली है। रिपोर्ट के मुताबिक, 27 जून से 23 जुलाई तक परिपक्व होने वाले एक और दो अरब डॉलर के कर्ज को चीन ने आगे ले जाने की पेशकश की है। इससे पाकिस्तान को काफी राहत मिली है। ‘द एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ अखबार की रिपोर्ट में कहा गया है कि यदि यूएई के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया जाता है, तो इससे नकदी संकट से जूझ रही सरकार को काफी राहत मिल सकती है।‘द एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ ने सूत्रों के हवाले से कहा कि यूएई सरकार ने शेयर बाजारों में सूचीबद्ध सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों में 10 से 12 प्रतिशत तक शेयर खरीदने की पेशकश की है। रिपोर्ट में पाकिस्तानी वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल के हवाले से कहा गया, ‘‘एक मित्र देश की ओर से पाकिस्तानी कंपनियों के शेयरों को पुनर्खरीद के आधार पर खरीदने का प्रस्ताव है।’’नकदी संकट और अस्थिर अर्थव्यवस्था समेत कई आर्थिक चुनातियों का सामना कर रहा पाकिस्तान देश के बड़े उद्योगों पर 10 प्रतिशत की दर से ‘सुपर टैक्स’ लगाएगा। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने शुक्रवार को सीमेंट, इस्पात और वाहन जैसे उद्योगों पर दस प्रतिशत की दर से कर लगाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इस कदम से देश को लगातार बढ़ रही मुद्रास्फीति और नकदी संकट का सामना करने में मदद मिलेगी। शरीफ ने वित्त वर्ष 2022-23 के बजट पर अपनी आर्थिक टीम के साथ बैठक के बाद यह कर लगाने की घोषणा की।उन्होंने कहा कि सुपर टैक्स व्यवस्था लागू होने से देश के उच्च आय वाले व्यक्ति भी ‘गरीबी उन्मूलन कर’ के दायरे में आ जाएंगे। शहबाज ने कहा कि 15 करोड़ रुपये से अधिक की सालाना आय वाले व्यक्तियों पर एक प्रतिशत कर लगेगा। वहीं, 20 करोड़ की आय पर दो प्रतिशत, 25 करोड़ रुपये की आमदनी पर तीन प्रतिशत और 30 करोड़ की रुपये की आय पर चार प्रतिशत का कर लगाया जाएगा। प्रधानमंत्री ने देश के नाम जारी एक वीडियो संदेश में कहा, हमारा पहला उद्देश्य जनता को राहत देने के साथ लोगों पर महंगाई का बोझ कम करना और उन्हें सुविधा देना है।उन्होंने कहा, हमारा दूसरा मकसद देश को ‘दिवालिया’ होने से बचाना है। देश इमरान खान के नेतृत्व वाली पिछली सरकार की ‘अक्षमता और भ्रष्टाचार’ के कारण तबाह हो गया है।’’ उन्होंने बताया कि सीमेंट, इस्पात, चीनी, तेल और गैस, उर्वरक, एलएनजी टर्मिनल, कपड़ा, बैंकिंग, वाहन, सिगरेट, पेय और रसायन जैसे बड़े उद्योगों पर सुपर टैक्स लगाया जाएगा।खस्ताहाल आर्थिक हालात और नकदी के संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को बहुत बड़ी राहत मिल गई है। पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के साथ एक बड़े समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इस करार के बाद पाकिस्तान को आईएमएफ से मिलने वाले 6 अरब डॉलर के सहायता पैकेज का रास्ता बहाल हो गया है। इसके साथ ही अब पाकिस्तान अन्य अंतरराष्ट्रीय स्रोतों से फाइनेंस भी प्राप्त कर सकेगा।दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दसेंसेक्स की शीर्ष 10 में से 4 कंपनियों का एम-कैप 84,433 करोड़ रुपए घटा, TCS ने की सबसे ज्यादा कमाई******four of top 10 Sensex most valued Indian companies lose Rs 84,433 crore in Market Capitalization m-cap की में से चार का बीते सप्ताह 84,432.80 करोड़ रुपये घट गया। एचडीएफसी और को सबसे अधिक नुकसान हुआ। आलोच्य सप्ताह के दौरान और का भी बाजार पूंजीकरण कम हुआ। हालांकि, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (), हिंदुस्तान यूनिलीवर, इन्फोसिस, आईटीसी, कोटक महिंद्रा बैंक और आईसीआईसीआई बैंक के बाजार पूंजीकरण में बढ़त दर्ज हुई। इन छह कंपनियों का बाजार पूंजीकरण कुल मिलाकर 22,058.30 करोड़ रुपये बढ़ा, जो चार कंपनियों को हुए नुकसान की तुलना में कम है।एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण सबसे अधिक 26,900.6 करोड़ घटकर 6,22,401.90 करोड़ रुपये पर आ गया। इसके अलावा एचडीएफसी का बाजार पूंजीकरण 23,360.6 करोड़ रुपये गिरकर 3,74,131.53 करोड़ रुपये पर आ गया। रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार मूल्यांकन 22,123.4 करोड़ रुपये गिरकर 7,69,627.33 करोड़ रुपये और एसबीआई का बाजार पूंजीकरण 12,048.2 करोड़ रुपये कम होकर 3,05,667.95 करोड़ रुपये पर आ गया।वहीं दूसरी ओर टीसीएस का बाजार पूंजीकरण 11,951.35 करोड़ रुपये बढ़कर 7,91,302.89 करोड़ रुपये, आईसीआईसीआई बैंक का बाजार पूंजीकरण 3,484.66 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी के साथ 2,68,125.39 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। आईटीसी का बाजार पूंजीकरण 2,487.11 करोड़ रुपये की बढ़त के साथ 3,31,749.04 करोड़ रुपये, कोटक महिंद्रा बैंक का बाजार पूंजीकरण 2,138.61 करोड़ रुपये की वृद्धि के साथ 2,88,522.40 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।इनके अलावा हिंदुस्तान यूनिलीवर की बाजार हैसियत 1,266.41 करोड़ रुपये बढ़कर 3,74,651.29 करोड़ रुपये और इन्फोसिस की बाजार हैसियत 730.16 करोड़ रुपये के उछाल के साथ 3,38,148. 69 करोड़ रुपये पर पहुंच गई। बाजार पूंजीकरण के हिसाब से टीसीएस सबसे बड़ी कंपनी रही। इसके बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एचडीएफसी, इन्फोसिस, आईटीसी, एसबीआई, कोटक महिंद्रा बैंक और आईसीआईसीआई बैंक का स्थान रहा। बीते सप्ताह गुरुवार को टीसीएस ने बाजार पूंजीकरण के हिसाब से रिलायंस इंडस्ट्रीज को पीछे छोड़ दिया और पुन: शीर्ष स्थान पर काबिज हो गयी। समीक्षाधीन सप्ताह में सेंसेक्स में 454.22 अंक यानी 1.18 प्रतिशत की गिरावट आयी और यह 37,882.79 अंक पर बंद हुआ।

दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दCoronavirus : सरकार आपातकालीन फंड में पाकिस्तान क्रिकेटर दान करेंगे 50 लाख रुपए******कोरोना वायरस जैसी महामारी से लड़ने के लिए पाकिस्तान के केंद्रीय अनुबंधित क्रिकेटर राष्ट्रीय सरकार के आपातकालीन कोष में 5 मिलियन रुपये का योगदान देंगे। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष एहसान मनी ने बुधवार को इसकी जानकारी दी और साथ ही कहा केंद्रीय अनुबंधित खिलाड़ियों के अलावा बोर्ड में कर्मचारी भी एक दिन के वेतन में योगदान करेंगे। जो जनरल मैनेजर या उच्च पदों पर कार्यरत हैं, वे फंड को दो दिन का वेतन देंगे।मनी ने कहा "पीसीबी इन सभी फंडों को इकट्ठा करेगा और इसे सरकार के कोरोनावायरस फंड में जमा करेगा।"पाकिस्तान में घातक वायरस के 1,000 से अधिक सकारात्मक मामले दर्ज किए गए हैं और इस मुश्किल घड़ी में सरकार का साथ देने की बात पर मनी ने कहा, "यह क्रिकेट बोर्ड का इतिहास है कि हम हमेशा मुश्किल समय में सरकार के साथ खड़े रहते हैं।"पीसीबी ने शहर के एक्सपो सेंटर में स्थापित विशेष कोरोनावायरस अस्पताल में काम करने वाले पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा उपयोग किए जाने वाले राष्ट्रीय स्टेडियम में कराची में अपना उच्च प्रदर्शन केंद्र पहले ही दे दिया है।मनी ने कहा कि हालांकि वायरस के प्रकोप से क्रिकेट बाधित हुआ है, लेकिन सरकार द्वारा राष्ट्र के लिए खड़ा होना और महामारी के दौरान सभी एहतियाती कदम उठाना अधिक महत्वपूर्ण था।दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दतापसी पन्नू-ताहिर राज भसीन स्टारर 'लूप लपेटा' का ट्रेलर रिलीज, जानिए कैसा है उनका किरदार******Highlightsतापसी पन्नू और ताहिर राज भसीन की आने वाली फिल्म 'लूप लपेटा' का पहला ट्रेलर रिलीज कर दिया गया है। यह फिल्म टॉम टाइकवर की चर्चित कल्ट क्लासिक रन लोला रन का बॉलीवुड रिमेक है।ट्रेलर में तापसी के किरदार 'सावी' और उनके बॉयफ्रेंड 'सत्या' की कहानी है, जिसे ताहिर राज भसीन ने निभाया है। ट्रेलर को इंस्टाग्राम पर शेयर करते हुए अभिनेत्री ने लिखा, "50 लाख 50 मिनट क्या सावी वक्त पर सत्या को बचा पाएगी? लूप लपेटा 4 फरवरी को आ रहा है, केवल नेटफ्लिक्स पर।।"आकाश भाटिया की तरफ से डायरेक्ट की गई लूप लपेटा में सावी की भूमिका निभा रही तापसी पन्नू ने कहा, "लूप लपेटा एक ऐसी फिल्म है जो हमेशा मेरे दिल के बहुत करीब रहेगी। मुझे किरदारों और कहानी से प्यार हो गया, जिस वक्त मैंने स्क्रिप्ट पढ़ी, उस वक्त ही मैंने इसे करने का मन बना लिया। चूंकि ये फिल्म नेटफ्लिक्स पर रिलीज हो रही है इसलिए दुनियाभर को लोगों की प्रतिक्रियाओं का इंतजार है।"फिल्म के लिए अपने उत्साह को जाहिर करते हुए ताहिर राज भसीन ने कहा, "मैं एक महीने के भीतर नेटफ्लिक्स के साथ अपना दूसरा प्रोजेक्ट रिलीज करने के लिए बहुत उत्साहित हूं। सत्या और सावी इलेक्ट्रिक केमिस्ट्री आपको कॉमेडी और इमोशन्स का डोज देने को तैयार है।"आयुष माहेश्वरी के साथ सोनी पिक्चर्स फिल्म्स इंडिया और एलिप्सिस एंटरटेनमेंट की तरफ से बनाई जा रही लूप लपेटा अपनी कहानी में कॉमेडी, थ्रिलर और रोमांस के जैसे एंगल वाली फिल्म होने का दावा करती है।फिल्म का प्रीमियर 4 फरवरी 2022 को नेटफ्लिक्स पर होगा!

दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दIPL 2020 : गावस्कर ने चुनी MI की प्लेइंग XI, टीम की इन कमजोरियों पर जताई चिंता******भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने डिफेंडिंग चैंपियन मुंबई इंडियंस की प्लेइंग इलेवन का चुनाव किया है। गावस्कर ने सलामी बल्लेबाज के तौर पर सूर्यकुमार यादव और कप्तान रोहित शर्मा को चुना है।इसके बाद क्विंटन डी कॉक को नंबर 3 और नंबर 4 पर युवा विकेटकीपर बल्लेबाज इशान किशन को जगह दी है। मिडिल आर्डर की जिम्मेदारी हार्दिक पांड्या, कीरोन पोलार्ड और क्रुणाल पांड्या को सौंपी है, जिन्हें क्रमश: नंबर 4, 5 और 6 पर पर रखा है।गावस्कर ने टीम में तेज गेंदबाजों के रुप में जसप्रीत बुमराह, ट्रेंट बोल्ट और नाथन कूल्टर नाइल को शामिल किया है जबकि लेग स्पिनर राहुल चाहर एमआई लाइन-अप में जगह दी है।चार बार की IPL चैंपियन मुंबई इंडियंस इस सीजन की सबसे मजबूत टीमों में से एक है, लेकिन गावस्कर के अनुसार टीम अपने खिताब के बचाव के लिए कुछ चिंताओं से जूझ रही है। गावस्कर का मानना है कि एमआई दो विभागों में संघर्ष कर सकता है, जिनमें से एक है टीम में अनुभवी स्पिनरों की कमी।MI के पास एकमात्र विशेषज्ञ स्पिनर के रूप में चाहर हैं, जबकि ऑलराउंडर पांड्या और अनुकुल रॉय विकेट लेने में सक्षम हैं। लेकिन अबू धाबी, दुबई और शारजाह की पिचें जो पारंपरिक रूप से स्पिन गेंदबाजों के लिए मददगार है, वहां एमआई अपने स्पिनरों का किस तरह इस्तेमाल करता है, यह देखना दिलचस्प होगा।सुनील गावस्कर ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा, "हां, आप कह सकते हैं कि उनके पास अन्य टीमों की तरह अनुभवी स्पिनर नहीं हैं।" स्पिन विभाग में गहराई की कमी के अलावा गावस्कर ने मुंबई के मध्यक्रम पर भी चिंता जताई। MI के मध्यक्रम में पोलार्ड, यादव, पांड्या बंधुओं और इशान किशन जैसे बल्लेबाज हैं, लेकिन गावस्कर को लगता है कि इन खिलाड़ियों की बैटिंग पाजिशन को लेकर थोड़ी दुविधा हो सकती है।गावस्कर ने बताया, “दूसरी चीज जो कमजोरी हो सकती है वह है मध्य क्रम। उन्हें सोचना होगा कि नंबर 4 और नंबर 5 पर कौन बल्लेबाजी करेगा। अगर क्विंटन डी कॉक खेलते हैं, तो वह रोहित शर्मा या सूर्यकुमार यादव के साथ ओपनिंग करेंगे।"उन्होंने आगे कहा, "इशान किशन नंबर 4 पर आ सकते हैं, वह पारी का आगाज भी कर सकते हैं। कीरोन पोलार्ड नंबर 5 पर आ सकते हैं। हो सकता है हार्दिक पांड्या को नं 4 पर प्रमोट किया जाए। लेकिन अगर ऐसा नहीं हुआ तो नंबर 4 पर कौन खेलेगा?”रोहित शर्मा (c), सूर्यकुमार यादव, क्विंटन डी कॉक (wk), इशान किशन, हार्दिक पंड्या, कीरोन पोलार्ड, क्रुनाल पांड्या, नाथन कूल्टर-नाइल, राहुल चाहर, ट्रेंट बोल्ट/मिशेल मैक्लेनाघन, जसप्रीत बुमराह।दादरपुडुचेरीएक्सप्रेसकेतीनडिब्बेपटरीसेउतरेदोट्रेनेंरद्दChina: दुनिया के इन देशों में हैं चीन के सैन्य ठिकाने, एक कश्मीर के है काफी करीब, यहां देखिए पूरी लिस्ट******Highlightsविदेश में किसी भी देश के सैन्य ठिकाने उसकी सैन्य ताकत और पहुंच की खुद ब खुद गवाही देते हैं। यही वजह है कि क्यों दुनिया के तमाम देश अन्य देशों में अपने सैन्य ठिकाने बनाने के लिए बेताब दिखाई देते हैं। अमेरिका के विदेश में सबसे ज्यादा सैन्य ठिकाने हैं। ब्रिटेन इस मामले में दूसरे स्थान पर और फ्रांस तीसरे स्थान पर है। येदेश पहले से ही सैन्य और आर्थिक महाशक्तियां हैं। वर्तमान में चूंकी अब चीन भी खुद को महाशक्ति बनाने के लिए हाथ पैर पीट रहा है, इसलिए वह भी विदेश में सैन्य ठिकाने बनाने में होड़ कर रहा है। वह कर्ज के जाल में फंसाकर देशों को अपने अंगूठे के नीचे दबाने की भरपूर कोशिश में है।पहले चीन ढेर सारा कर्ज देकर गरीब और मध्यम आय वाले देशों को फंसा लेता है और फिर जब वो देश कर्ज चुकाने की स्थिति में नहीं होता, तो उसकी मजबूरी का फायदा उठाकर वहां अपना सैन्य ठिकाना बना लेता है। सोलोमन द्वीप पर हाल ही में ये चीज देखने को मिली है। चीन सबसे पहले किसी देश को अपना गुलाम बनाने के लिए ढेर सारा कर्ज देता है और फिर वहां अपना सैन्य ठिकाना बना लेता है। वह विदेश में अधिक से अधिक सैन्य ठिकाने बनाकर अपने दुश्मनों भारत और अमेरिका पर दबाव डालने की कोशिश करता है। तो चलिए अब जान लेते हैं कि चीन के ये सैन्य ठिकाने आखिर किन देशों में हैं।चीन ने मध्य एशियाई देश तजाकिस्तान के दक्षिणपूर्व में स्थित गोर्नो-बदाख्शां में सैन्य चौकी स्थापित की है। चीन के इस सैन्य ठिकाने के बारे में 2019 में पता चला था। इसके बाद वाशिंगटन पोस्ट ने एक खबर प्रकाशित कर बताया कि चीनी सैनातजाकिस्तान में मौजूद है। उसने तस्वीरों और साक्षात्कार के आधार पर ये दावा किया। ये ठिकाना अफगानिस्तान के वखान कॉरिडोर से महज कुछ मील की दूरी पर ही स्थित है। हालांकि चीन और तजाकिस्तान दोनों में से किसी ने आधिकारिक तौर पर इसे स्वीकार नहीं किया है। वखान कॉरिडोर अफगानिस्तान को कश्मीर से जोड़ता है। हालांकि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की वजह से भारत की अफगानिस्तान से जमीनी स्तर पर सीधी कनेक्टिविटी नहीं है। वखान कॉरिडोर की सीमा उत्तर में तजाकिस्तान, दक्षिण में पाकिस्तान और पूर्व में चीन से लगती है। पाकिस्तान और चीन दोनों ही इस कॉरिडोर पर अपना अधिकार जमाना चाहते हैं लेकिन इसके लिए तालिबान तैयार नहीं है।चीन ने कंबोडिया में ताइवान की खाड़ी पर स्थित रीम नेवल बेस को 99 साल की लीज पर लिया था। जो 2010 तक अमेरिका का सैन्य ठिकाना हुआ करता था। चीन ने कंबोडिया को कर्ज देकर लियू में इस नेवल बेस को हड़प लिया। यहां से वह अपने कट्टर दुश्मन वियतनाम पर नजर रख सकता है। मौका मिलने पर चीन वियतनाम को समुद्र में घेरभी सकता है। इसके अलावा वह दक्षिण चीन सागर में भी अपनी मौजूदगी बढ़ा सकता है। यहां से चीनी सेना मलक्का जलडमरूमध्य में दुश्मन देशों के युद्धपोतों पर नजर बनाए रख सकती है। केवल इतना ही नहीं बल्कि भारत का रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण अंडमान एवं निकोबार का सैन्य ठिकाना भी यहां से महज 1200 किलोमीटर की दूरी पर है। ऐसे में चीन युद्ध की स्थिति में अपने नेवल बेस से सीधे भारत के अंडमान एवं निकोबार पर हमला कर सकता है।चीन का अफ्रीकी देश जिबूती में भी नौसैन्य अड्डा है। इसे बनाने का काम साल 2001 में शुरू हुआ था, जो अब पूरा हो गया है। चीन ने यहां से हिंद महासागर में अपनी सैन्य गतिविधियां करना शुरू कर दिया है। यह चीन का पहला सैन्य ठिकाना भी है। हाल में जारी हुईं कुछ सैटेलाइट तस्वीरों में दिखाई दिया है कि चीन ने जिबूती में अपने युद्धपोत खड़े करना शुरू कर दिया है। हालांकि चीन ने निर्माण कार्य शुरू होने से पहले सपोर्ट बेस के तौर पर इसे लीज पर लियाथा। लेकिन इसका सैन्य किले के तौर पर निर्माण किया गया, जहां दुनिया के किसी भी देश के लिए हमला करना आसान नहीं होगा। चीन यहां से भारत पर नजरबनाए रख सकता है।चीन ने हाल ही में प्रशांत महासागर के देश सोलोमन द्वीप के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। उसने इस देश को बड़ी तादाद में पैसा दिया था, जो ये चुकाने में नाकाम रहा। इसकी वजह से चीन ने सोलोमन सरकार पर अपना नियंत्रण हासिल कर लिया। दो दिन पहले की ही बात है, जब अमेरिकी सेना के युद्धपोत को सोलोमन द्वीप के सैन्य ठिकाने पर आने से मना कर दिया गया था। इससे ये संदेह बन रहा है कि चीनी सेना सोलोमन द्वीप तक पहुंच गई है। ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और अमेरिका शुरू से ही कह रहे हैं कि चीन सोलोमन में अपना नौसेना ठिकाना बनाकर प्रशांत महासागर पर राज करना चाहता है। हालांकि चीन हमेशा ही इस तरह के दावों को नाकरता रहा है।ऐसी आशंका है कि दुनिया के कई अन्य देशों में भी चीनी सेना मौजूद है, जिसकी लोगों को कम ही जानकारी है। चीनी सेना श्रीलंका, पाकिस्तान, म्यांमार, केन्या, नाइजीरिया, कैमरून, घाना, मालदीव, चाड और मैक्सिको में मौजूद हो सकती है। हालांकि चीन के इन देशों में स्थायी सैन्य ठिकाने नहीं हैं। चीनी सेना इस देश की सेना के साथ इनके की सैन्य ठिकानों पर रहकर अपने मिशन को अंजाम देती है।

हाल का ध्यान

लिंक