वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > निंगबो > मूलपाठ

बढ़े हुए ब्लड शुगर को जल्द कंट्रोल में ले आएगा 5 रुपए में बनने वाला का ये ड्रिंक, ऐसे करें तैयार

2022-10-04 17:39:06 निंगबो

बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारदुनियाभर में सबसे ज्यादा CCTV कैमरे दिल्ली में, अतिरिक्त 1.4 लाख कैमरों की भी हो रही व्यवस्था: केजरीवाल******Highlights दिल्ली के मुख्यमंत्री ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीसीटीवी कैमरों को लेकर कहा कि अब तक राजधानी में दो लाख 75 हजार सीसीटीवी कैमरे लग चुके हैं और इस मामले में दिल्‍ली ने लंदन, न्यूयॉर्क, सिंगापुर और पेरिस को पीछे छोड़ दिया है। इसके साथ उन्‍होंने कहा कि सीसीटीवी कैमरे से पुलिस को क्राइम सॉल्व करने में मदद मिलती है जबकि आने वाले दिनों में एक लाख 40 हजार सीसीटीवी कैमरे और लगाए जाएंगे। इसके बाद दिल्ली में सीसीटीवी कैमरों की संख्‍या 418000 हो जाएगी।उन्होंने कहा, जबसे कैमरे लगे हैं तबसे महिलाएं सुरक्षित महसूस कर रही हैं और पुलिस को अपराध के मामले हल करने में सहायता मिल रही है। हम और 1.40 लाख कैमरे और लगाने जा रहे हैं दिल्ली में, दूसरा चरण शुरू हो रहा है और इसके बाद दिल्ली में 4.15 लाख कैमरे हो जाएंगे।सीएम केजरीवाल ने कहा, दिल्ली में कैमरे लगाने में बहुत अड़चने आई थी और एक बार तो धरना भी करना पड़ा था। केंद्र सरकार ने खूब अड़चने लगाई थी लेकिन हम डटे रहे। हम भारत इलेक्ट्रॉनिक्स के कैमरे लगाने जा रहे हैं और यह बहुत मॉड्रन कैमरे हैं। इस कैमरे में 30 दिन की रिकॉर्डिंग रखी जा सकती है और इसका लाइव व्यू जिन जिन लोगों के फोन पर दिया जाएगा वे पूरी दुनिया से इस कैमरे की फीड देख सकते हैं। एक कमांड सेंटर है और उसके जरिए सबका फीड जाता है, जो कैमरे हैं वे 4 मैगा पिक्सल के हैं और नाइट विजन भी है।

बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारSonali Phogat: सोनाली फोगाट को दिया गया था 1.5 ग्राम ड्रग्स, गोवा पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा******सोशल मीडिया स्टार और बीजेपी नेता और सोनाली फोगाट की मौत को लेकर गोवा पुलिस ने एक बड़ा खुलासा किया है। गोवा पुलिस ने सोनाली फोगाट की मौत के मामले में उनके निजी सहायक सुधीर सांगवान के साथ सुखविंदर सिंह को गिरफ्तार किया है। पूछताछ के दौरान फोगाट हत्याकांड का ड्रग्स डीलर कनेक्शन सामने आया है। आरोपियों ने बताया कि 1.5 ग्राम MDMA बोतल में डालकर सोनाली को ड्रग दिया गया। एक पुलिस अधिकारी ने MDMA के बारे में खुलासा करते हुए कहा है कि हम इसकी केमिकल जांच करवाएंगे की आखिर ये ड्रग कैसा था।सूत्रों के अनुसार सुधीर ने MDMA ड्रग पेडलर से क्लब के बाहर खरीदा था। पार्टी के कुछ समय पहले ड्रग पेडलर क्लब के बाहर आए थे और उसने सुधीर को ये ड्रग्स दिया था। सूत्रों के अनुसार सांगवान ने बताया है कि दो ड्रग पेडलर एक बाइक पर आए और उसे ड्रग्स दी थी।पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज भी मिली है। जिसमें सुधीर सांगवान बोतल से सोनाली को कुछ पिलाता हुआ दिखाई दे रहा है। पुलिस ने सोनाली के दोनों सहयोगी सुधीर सांगवान और सुखविंदर सिंह पर हत्या का मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार भी कर लिया है। बता दें कि,सोनाली फोगाट 22 अगस्त को सांगवान और सिंह के साथ गोवा गई थीं और यहां एक होटल में ठहरी थीं।सोनाली फोगाट के घरवालों ने शुरू से ही उनकी हत्या के साजिश की शंका जताई थी। 23 अगस्त की सुबह सोनाली को तबीयत खराब होने के कारण अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वहां पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो चुकी थी। उस समय डॉक्टरों ने दिल का दौरा पड़ने के कारण उनकी मौत होने की आशंका जतायी थी। इसके बाद सही उनके घरवाले यह कह रहे थे की सोनाली के साथ कोई साजिश हुई है।बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारUttar Pradesh News: स्वतंत्रता दिवस पर बोले अखिलेश, कहा- कुछ लोग जाति के नाम पर झगड़ा करा कर साध रहे हैं वोट******Highlights समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को कहा कि वर्तमान में देशवासियों को इस बात की चिंता है कि कुछ लोग जाति के भेदभाव को आगे रख झगड़ा कराकर वोटों को साधने का काम कर रहे हैं। यादव ने 75वें स्वाधीनता दिवस पर लखनऊ स्थित जनेश्वर मिश्र कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में किसी का नाम लिए बगैर कहा कि आज हमारे देशवासियों को इस बात की चिंता है कि कुछ लोग जाति के भेदभाव को आगे रखकर, आपस में झगड़ा करा कर वोटों को साधने का काम कर रहे हैं।सपा प्रमुख ने कहा कि लोकतंत्र की मजबूती, भाईचारे और सद्भावना के साथ संविधान के रास्ते पर चलकर ही हमारा देश दुनिया में आगे बढ़ता नज़र आएगा। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर और डॉक्टर राम मनोहर लोहिया ने समय-समय पर कोशिश की थी कि देश से छुआछूत एवं जातिवाद दूर हो। उन्होंने कहा कि समाजवादी लोग इसी रास्ते पर चलते रहे हैं। राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश के सभी जिलों में सपा कार्यालयों में ध्वजारोहण किया गया।यादव ने कहा कि भारत को आजादी तमाम वीर सपूतों की शहादत के बाद मिली है और उनकी कुर्बानी भुलाई नहीं जा सकती। उन्होंने कहा कि आज जब हम आजादी की खुशियां मना रहे हैं, हमें आजादी की लड़ाई में लिए गए संकल्पों और स्वतंत्रता सेनानियों के सपनों को पूरा करने का व्रत लेना होगा। उन्होंने कहा, "हमें आजादी के साथ चुनौतियां भी मिली है। आज महंगाई चरम पर है, बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। अगर दुनिया के आंकड़ों को देखें तो स्वास्थ्य के क्षेत्र में बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर हमारा देश बहुत पीछे दिखाई दिया है। किसानों की आर्थिक दिक्कत बढ़ी है।"

बढ़े हुए ब्लड शुगर को जल्द कंट्रोल में ले आएगा 5 रुपए में बनने वाला का ये ड्रिंक, ऐसे करें तैयार

बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारUP Crime News: मां-बाप पढ़ाई के लिए डांटते थे तो छात्र ने बनाया जेल जाने का प्लान, जिसके लिए कर दी 13 साल के दोस्त की हत्या******Highlightsगाजियाबाद में सोमवार को हुई एक 13 साल के बच्चे के बाद इलाके में सनसनी फैल गई थी। अब इस मामले में पुलिस चौंकाने वाला खुलासा किया है। पुलिसन ने खुलासा करते हुए बताया कि मसूरी थाना क्षेत्र में हुई 13 साल के लड़के के मर्डर की जांच पूरी कर ली है। पुलिस के मुताबिक, आरोपी 10वीं का छात्र है। 16 साल का ये लड़का 10 वीं में ही दो बार फेल हो चुका है। जिसके बाद उसके मां-बाप उसे पढ़ाई करने का दवाब बनाते थे।पुलिस ने हत्याकांड के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि, छात्र ने स्कूल जाने से बचने के लिए अपने दोस्त का मर्डर किया, ताकि इसके बाद वह जेल चला जाए। जहां वह पढ़ने से बच सके। आरोपी ने बताया कि पढ़ाई के लिए मां-बाप उस पर दबाव बनाते थे और डांटते थे। पढ़ाई से बचने के लिए आरोपी ने जेल जाने का प्लान बनाया। इसके लिए उसने दोस्त का कत्ल कर दिया। आरोपी को मंगलवार को किशोर न्याय बोर्ड में पेश किया जाएगा।नीरज का शव सोमवार शाम साढ़े पांच बजे दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के नीचे मिला था। नीरज आकाशनगर फेज-2 का रहने वाला था। उसके गले पर खून दिख रहा था। पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला कि नीरज आखिरी बार उसी इलाके के रहने वाले 16 साल के किशोर के साथ देखा गया था। पुलिस ने जब किशोर को हिरासत में लिया तो उसने हत्या की बात कबूल ली।आरोपी ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि पढ़ाई में वह शुरूआत से कमजोर है। इस वजह से 10वीं में लगातार दो बार फेल हो चुका है। तीसरी बार वह 10वीं की पढ़ाई कर रहा है। मां-बाप पढ़ाई के लिए उस पर खूब दबाव बनाते हैं, लेकिन पढ़ाई में मन नहीं लगने की वजह से वह मां-बाप से दूर रहना चाहता था, ताकि उस पर इस तरह का कोई दबाव न बने। जिसके लिए उसने जेल जाने की योजना बनाई।आरोपी ने बताया कि वह 3 दिन से नीरज की हत्या करने के फिराक में है। जिसके लिए वह दो दिन पहले भी नीरज को उसी स्थान पर लेकर गया लेकिन वह उस दिन हत्या कर न सका। इसके बाद सोमावर को स्कूल से साथ वापस आने के बाद वह नीरज के घर पर गया। जहां से वह उसके साथ घूमने के बहाने गया और दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के नीचे सुनसान जगह पर ले गया। एक्सप्रेस-वे की ऊंचाई अधिक होने से नीचे की तरफ किसी की निगाह नहीं जाती। गांव के लोग भी वहां नहीं जाते।मौका पाकर आरोपी छात्र ने पहले नीरज का गला दबाया, जिससे वह बेहोश हो गया। इसके बाद आरोपी ने खेत में खाली पड़ी बियर की बोतल को तोड़कर मृतक नीरजकी गर्दन पर कई वार किए। जिससे नीरज की गर्दन से काफी खून बहने लगा। हत्या करने के बाद वह वहीं रहा और जब उसने देखा कि नीरज के शरीर में कोई हलचल नहीं हो रही है तो फिर वह वापस आ गया।बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारमेघालयः जानें महिलाओं ने किस लिए असपतालों में प्रसव से किया इनकार, बना 877 शिशुओं और 61 माताओं की मौत की वजह******Highlightsमेघालय में कोविड-19 महामारी के दौरान संक्रमण के डर से अस्पतालों में प्रसव कराने से महिलाओं के इनकार के चलते 877 नवजात शिशुओं और 61 माताओं की मौत हो गई। संक्रमण फैलने के डर से गर्भवती महिलाओं ने अस्पतालों में भर्ती होने से इनकार कर दिया था। मेघालय सरकार ने यह जानकारी राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) को दी है। मेघालय सरकार ने एनएचआरसी को सौंपी गई अपनी कार्रवाई रिपोर्ट में इसका कारण बताया है। एनएचआरसी ने हाल ही में मेघालय में अधिक संख्या में नवजात शिशुओं और प्रसूताओं की मौत दर्ज की थी।रिपोर्ट में कहा गया है कि नवजात शिशुओं की मौत के कारणों की जांच से पता चला है कि ये मौतें चिकित्सकीय सुविधा के अभाव और देखभाल की कमी के कारण हुईं क्योंकि गर्भवती महिलाओं ने कोरोना वायरस संक्रमण के डर से स्वास्थ्य केन्द्रों में भर्ती होने से खुद ही इनकार किया था और कोविड-19 जांच कराने से भी मना कर दिया था। रिपोर्ट के मुताबिक जिस समय ये मौतें हुईं, उस समय कोविड-19 और गैर-कोविड-19 मरीजों को अलग-अलग रखना अनिवार्य था।इसलिए बीमारी के प्रसार को रोकने के लिए मरीजों की कोविड-19 जांच की जा रही थी। रिपोर्ट के मुताबिक गर्भवती महिलाएं भले ही स्वास्थ्य प्रतिष्ठानों से दूर रहीं, लेकिन एएनएम और आशा कर्मचारी नियमित रूप से उनके घर में जा करके उनके स्वास्थ्य की निगरानी कर रही थीं और उनसे प्रसव के लिए अस्पताल आने का अनुरोध कर रही थीं। राज्य सरकार ने कहा कि उसने मामले का संज्ञान लेते हुए ‘बचाव अभियान’ शुरू किया था।बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारबिहार में 1.82 प्रतिशत मतदाताओं ने दबाया नोटा बटन, BSP के वोट शेयर के है बराबर****** चुनाव आयोग की वेबसाइट पर 12 बजे तक उपलब्‍ध आंकड़ों और अभी तक हुई वोटों की गिनती के मुताबिक बिहार के 1.82 प्रतिशत मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया है। नोटा का मतलब होता है कोई उम्‍मीदवार को न चुनना। इसका मतलब है कि 1.82 प्रतिशत वोटरों ने किसी को भी अपना वोट नहीं दिया। वहीं बहुजन समाज पार्टी को अबतक 1.85 प्रतिशत वोट मिले हैं। के लिये तीन चरणों में मतदान हुआ। बिहार में 7.30 करोड़ मतदाता थे, जिसमें से 57 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। चुनाव मैदान में कुल 3,733 उम्‍मीदवार मैदान में थे, जिसमें 371 महिलाएं और ट्रांसजेंडर शामिल हैं।चुनाव आयोग के मुताबिक अभी तक हुई वोटों की गिनती के मुताबिक एआईएफबी को 0.00 प्रतिशत, एआईएमआईएम को 0.78 प्रतिशत, भाजपा को 20.03 प्रतिशत, बसपा को 1.85 प्रतिशत, सीपीआई को 0.59 प्रतिशत, सीपीआईएम को 0.41 प्रतिशत, आईएनसी को 9.29 प्रतिशत, जेडी (एस) को 0.04 प्रतिशत और जेडी (यू) को 15.43 प्रतिशत वोट मिले हैं।बिहार में जेएमएम को 0.03 प्रतिशत, एलजेपी को 6.18 प्रतिशत, एनसीपी को 0.22 प्रतिशत, नोटा को 1.82 प्रतिशत, एनपीईपी को 0.00 प्रतिशत, आरजेडी को 22.91 प्रतिशत, आरएलएसपी को 1.98 प्रतिशत एसएचएस को 0.05 प्रतिशत, एआईएफबी को 0.02 प्रतिशत और अन्‍य को 18.34 प्रतिशत वोट मिले हैं।अभी तक हुई मतगणना के मुताबिक सबसे ज्‍यादा वोट प्रतिशत आरजेडी का है। आरजेडी को 22.91 प्रतिशत वोट मिले हैं, वहीं उसके सहयोगी कांग्रेस का मत प्रतिशत 9.29 प्रतिशत है। वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी का मत प्रतिशत 20.03 प्रतिशत और उसके सहयोगी जेडी (यू) का मत प्रतिशत 15.43 प्रतिशत है।2015 के मुकाबले इस बार गठबंधन में काफी फेरबदल है। कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) तो महागठबंधन का हिस्सा हैं लेकिन जनता दाल यूनाइटेड (JDU) इसका हिस्सा नहीं है। इस बार JDU और भाजपा एक साथ हैं जबकि 2015 में यह दोनों अलग-अलग थे। इतना ही नहीं, लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) अकेले चुनाव लड़ रही है। वहीं, RLSP ने BSP से साथ गठबंधन किया है।2015 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ लोकजनशक्ति पार्टी (LJP), हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (HAM) और राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी (RLSP) के बीच गठबंधन था जबकि दूसरी तरफ जनता दल यूनाइटेड (JDU), राष्ट्रीय जनता दल (RJD) और कांग्रेस का गठबंधन था। लेकिन, इस बार समीकरण बदले हुए हैं।बिहार विधानसभा चुनाव 2015 में भाजपा को 53 सीटें, LJP को 2 सीटें, RLSP को 2 सीटें और HAM को एक सीट मिली थी। जबकि, JDU को 71 सीटें, RJD को 80 सीटें और कांग्रेस को 27 सीटें मिली थीं। इसके साथ ही 2015 में महागठबंधन (JDU-RJD-कांग्रेस) ने सरकार बनाई थी। लेकिन, 2017 में JDU के महागठबंधन से बाहर होते ही सरकार गिर गई और नई सरकार NDA की बनी।

बढ़े हुए ब्लड शुगर को जल्द कंट्रोल में ले आएगा 5 रुपए में बनने वाला का ये ड्रिंक, ऐसे करें तैयार

बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारस्टार्टअप इंडिया अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन ‘प्रारंभ’: पीएम मोदी 16 जनवरी को करेंगे संबोधित******प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 16 जनवरी को शाम 5 बजे वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के माध्यम से स्टार्टअप से बातचीत करेंगे और ‘प्रारंभ: स्टार्टअप इंडिया अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन’ को संबोधित करेंगे। सम्मेलन का आयोजन 15-16 जनवरी, 2021 को वाणिज्य तथा उद्योग मंत्रालय के उद्योग तथा आतंरिक व्यापार विभाग द्वारा किया जा रहा है।दो दिवसीय सम्मेलन द्वारा अगस्त, 2018 में काठमांडू में आयोजित चौथे बिम्सटेक शिखर सम्मेलन में की गई घोषणा से आगे का कदम है। काठमांडू शिखर सम्मेलन में भारत ने बिम्सटेक स्टार्टअप सम्मेलन आयोजित करने का संकल्प व्यक्त किया था।यह सम्मेलन 16 जनवरी, 2016 को प्रधानमंत्री द्वारा लॉन्‍च की गई पहल की 5वीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित हो रहा है। 25 से अधिक देशों तथा 200 से अधिक वैश्विक वक्ताओं की भागीदारी के साथ स्टार्टअप इंडिया पहल लॉन्‍च किये जाने के बाद से भारत सरकार द्वारा आयोजित यह सबसे बड़ा स्टार्टअप सम्मेलन होगा। इसमें 24 सत्र आयोजित किये जायेंगे, जिनका फोकस वैश्विक स्तर पर सामूहिक रूप से स्टार्टअप इकोसिस्टम को विकसित करने और मजबूत बनाने के लिए पूरे विश्व के देशों के साथ द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाना है।बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारNSE ने निवेशकों को इस तरह की स्कीम को लेकर अलर्ट किया, जानें क्या है पूरा मामला******देश के प्रमुख शेयर बाजार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) ने निवेशकों को ‘रियल ट्रेडर’ और ‘ग्रो स्टॉक’ जैसी इकाइयों द्वारा पेश की जा रही सुनिश्चित रिटर्न की योजनाओं के प्रति आगाह किया है। एक्सचेंज ने बताया कि ये इकाइयां एनएसई के पास न तो सदस्य के रूप में पंजीकृत हैं और न ही किसी पंजीकृत सदस्य की ओर से अधिकृत व्यक्ति हैं। एनएसई का यह बयान तब आया जब उसने पाया कि टेलीग्राम चैनल और व्हॉट्सएप के माध्यम से परिचालन करने वाली ‘रियल ट्रेडर’ और ‘ग्रो स्टॉक’ जैसी इकाइयां रिटर्न की गारंटी का दावा करते हुए योजनाओं की पेशकश कर रही हैं।एक्सचेंज ने बयान में कहा कि निवेशकों को आगाह किया जाता है कि वे इकाइयों/व्यक्तियों द्वारा शेयर बाजार में रिटर्न की गारंटी के साथ पेश की जाने वाली योजनाओं में निवेश नहीं करें क्योंकि कानूनन इस पर प्रतिबंध है। एक्सचेंज ने पिछले महीने इसी तरह का परामर्श जारी किया था। उस समय एक्सचेंज के संज्ञान में आया था कि शेयर्स बाजार प्राइवेट लिमिटेड नाम की एक इकाई सुनिश्चित रिटर्न के साथ निवेश योजनाओं की पेशकश कर रही है।हाल ही में देश के प्रमुख शेयर बाजार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के शेयरधारकों ने प्रबंध निदेशक (एमडी) एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) के रूप में आशीष कुमार चैहान की नियुक्ति को मंजूरी दे दी थी। एनएसई की असाधारण आम सभा 11 अगस्त को आयोजित की गई थी। इसमें शेयरधारकों ने 99.99 प्रतिशत मतों से चैहान की नियुक्ति को मंजूरी दी। चैहान इससे पहले बीएसई के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ थे। उन्होंने 26 जुलाई को एनएसई के प्रमुख का पद संभाला था। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने 18 जुलाई को ही चैहान की नियुक्ति को मंजूरी दी थी। उन्होंने विक्रम लिमये का स्थान लिया है जिनका एनएसई में पांच साल का कार्यकाल 16 जुलाई को पूरा हो गया था।

बढ़े हुए ब्लड शुगर को जल्द कंट्रोल में ले आएगा 5 रुपए में बनने वाला का ये ड्रिंक, ऐसे करें तैयार

बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारराजस्थान के अलवर में नौ पुलिसकर्मियों की दाढ़ी रखने की मंजूरी निरस्त****** राजस्थान के अलवर पुलिस जिले में तैनात नौ मुस्लिम पुलिसकर्मियों को दाढ़ी रखने की मंजूरी को वापस ले लिया गया है। पुलिस अधीक्षक अनिल पारिस देशमुख ने एक आदेश जारी कर जिले में तैनात नौ मुस्लिम पुलिसकर्मियों को दाढ़ी रखने की छूट को राज्य सरकार के नियमानुसार तुरंत प्रभाव से वापस ले लिया है। अलवर पुलिस प्रशासन ने कुल मिलाकर 32 पुलिसकर्मियों को ड्यूटी के दौरान दाढ़ी रखने की अनुमति दे रखी थी।देशमुख ने बताया कि दाढ़ी रखने की इजाजत को इसलिये वापस लिया गया है ताकि पुलिसकर्मी निष्पक्षता के साथ काम कर सके और निष्पक्ष दिखें। उन्होंने बताया कि इस आदेश का मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी निष्पक्षता के साथ करें। उन्होंने कहा,‘‘पुलिसकर्मियों को ना केवल निष्पक्षता के साथ काम करना चाहिए बल्कि उनको निष्पक्ष दिखना चाहिए। यदि इस आदेश से किसी को पीड़ा है तो वह इस संबंध में अपना प्रार्थना पत्र दे सकता है उस पर उचित कार्रवाई की जायेगी।’’उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के प्रावधनों के अनुसार विभाग का मुखिया पुलिसकर्मियों को दाढ़ी रखने की इजाजत प्रदान कर सकता है। सरकार के प्रावधानों के अनुसार 32 पुलिसकर्मियों को स्वीकृति प्रदान की गई थी। नौ पुलिस कर्मियों की स्वीकृति को वापस ले लिया गया है जबकि शेष पुलिस कर्मियों को दी गई स्वीकृति जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि हालांकि इस फैसले पर पुनर्विचार किया जा सकता है और पीड़ित अपना आवेदन दे सकते हैं।

बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारमहाराष्ट्र में दीवार ढहने से एक गर्भवती महिला सहित 3 लोगों की मौत, 2 घायल****** से एक ही परिवार के तीन सदस्यों की मौत का मामला सामने आया है। महाराष्ट्र के बुलढाना में शुक्रवार रात दीवार ढहने से एक परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई। बता दे कि मृतकों में एक गर्भवती महिला और उसका छह साल का बच्चा भी शामिल हैं। पुलिस ने यह जानकारी दी। घटना में दो अन्य लोग बुरी तरह घायल हुए हैं।पुलिस ने बताया कि दुर्घटना रात दो बजे हुई, जब शहर की झुग्गी बस्ती मेहकर में शेख परिवार के पांच सदस्य अपने घर में सो रहे थे। पुलिस ने बताया कि लगातार बारिश के बीच उनके घर से सटी एक पुराने घर की दीवार ढह गई, जिसमें परिवार के सभी पांच सदस्य दब गए। घटना की जानकारी मिलते ही स्थानीय निवासी और पुलिस के जवान मौके पर पहुंचे और घायलों को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया।अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि उनमें से तीन को आते ही मृत घोषित कर दिया गया, जबकि दो सदस्य गंभीर रूप से घायल हैं। मेहकर पुलिस स्टेशन के निरीक्षक आत्माराम प्रधान ने बताया, “मृतकों की पहचान शेख आसिफ (28), उनकी पत्नी शाहिस्ता आसिफ (25), जो गर्भवती थीं, और उनके छह साल के बच्चे जुनैद के रूप में हुई है।”बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारभारत का दूध उत्पादन 6 फीसदी बढ़ा, कृषि और डेयरी क्षेत्र में 1,000 से अधिक स्टार्टअप बने : PM Modi******Highlightsनरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि देश में दूध का उत्पादन 2014 के 14.6 करोड़ टन से बढ़कर 21 करोड़ टन हो गया है, जो कि 44 फीसदी की वृद्धि है। उत्तर प्रदेश के नोएडा में इंटरनेशनल डेयरी फेडरेशन वल्र्ड डेयरी समिट 2022 का उद्घाटन करने के बाद गणमान्य व्यक्तियों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि वैश्विक स्तर पर 2 प्रतिशत उत्पादन वृद्धि की तुलना में भारत दूध उत्पादन में 6 प्रतिशत की वृद्धि देख रहा है। उन्होंने आगे कहा कि पिछले 5-6 वर्षों में कृषि और डेयरी क्षेत्र में 1,000 से अधिक स्टार्टअप बनाए गए। प्रधानमंत्री ने बताया कि भारत डेयरी पशुओं का सबसे बड़ा डेटाबेस बना रहा है और डेयरी क्षेत्र से जुड़े हर पशु को टैग किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 'पशु आधार' योजना के तहत आधुनिक तकनीक की मदद से पशुओं की बायोमेट्रिक पहचान की जा रही है।उन्होंने बताया कि सरकार एक ब्लैंच्ड डेयरी इकोसिस्टम विकसित करने पर काम कर रही है, जहां उत्पादन बढ़ाने पर ध्यान देने के साथ-साथ सेक्टरों की चुनौतियों का समाधान किया जा रहा है। उन्होंने बताया, "किसानों के लिए अतिरिक्त आय, गरीबों का सशक्तिकरण, स्वच्छता, रसायन मुक्त खेती, स्वच्छ ऊर्जा और मवेशियों की देखभाल इस पारिस्थितिकी तंत्र से जुड़ी हुई है।" प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया के अन्य विकसित देशों के विपरीत, भारत में डेयरी क्षेत्र की प्रेरक शक्ति छोटे किसान हैं। उन्होंने कहा कि एक, दो या तीन मवेशियों वाले इन छोटे किसानों के प्रयासों के आधार पर भारत सबसे बड़ा दूध उत्पादक देश है। यह क्षेत्र देश में आठ करोड़ से अधिक परिवारों को रोजगार प्रदान करता है।उन्होंने दोहराया कि भारत में डेयरी सहकारी समितियों का एक विशाल नेटवर्क है और पूरी दुनिया में ऐसा उदाहरण कहीं और नहीं मिल सकता है। प्रधानमंत्री ने आगे बताया कि ये डेयरी सहकारी समितियां देश के दो लाख से अधिक गांवों के करीब दो करोड़ किसानों से दिन में दो बार दूध एकत्र करती हैं और ग्राहकों तक पहुंचाती हैं। उन्होंने इस बात को रेखांकित किया कि पूरी प्रक्रिया में कोई बिचौलिया नहीं है और ग्राहकों से मिलने वाला 70 फीसदी से ज्यादा पैसा सीधे किसानों की जेब में जाता है। उन्होंने डेयरी क्षेत्र में भुगतान की डिजिटल प्रणाली की दक्षता को रेखांकित करते हुए कहा कि पूरी दुनिया में किसी और देश का यह अनुपात नहीं है। इससे अन्य देशों को कई सबक मिलते हैं।

बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारColor Change: आप भी कार या बाइक बदलवाने जा रहे हैं रंग! जान लीजिए नियम नहीं तो कटेगा मोटा चालान******Highlightsआजकल कार या बाइक लोगों की जरूरत ही नहीं बल्कि शौक हो गए हैं। यही कारण है वे अपनी कार में जमकर एक्सेसरीज़ लगवा लेते हैं। इसी के साथ ही आजकल लोगों में कार रैपिंग का प्रचलन भी बढ़ रहा है। लोग अक्सर अपनी पुरानी कार से बहुत जल्दी बोर हो जाते हैं। ऐसे में कुछ लोग या तो कार बदल देते हैं या फिर उसे मॉडिफाई करवा लेते हैं। इसके साथ ही कई बार लोग अपनी कार के रंग को बदल भी लेते हैं। इसके अलावा कार पर मैट फिनिश की कलर रैपिंग यह बदलाव आपको खूबसूरत दिख सकता है। लेकिन इसके चलते आपको चालान का सामना भी करना पड़ सकता है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक कलर को मॉडिफाई करना रजिस्ट्रेशन की शर्तों का भी उल्लंघन हैदरअसल अपने वाहन को अलग-अलग रंगों में रंगना कानूनी रूप से गलत नहीं है। इसके लिए आपको कुछ कानूनी प्रक्रियाओं का पालन करना होगा। वाहन की आरसी बुक में आपके वाहन के रंग का उल्लेख होता है। ऐसे में यदि आप अपनी कार का रंग बदलने वाले हैं तो आपको आरटीओ को इसकी जानकारी देनी होगी और आरसी में वाहन के रंग बदलने का विवरण देना होगा। यहां आपको अपनी आरसी बुक को कलर शेड के नमूने के साथ अपने आरटीओ में ले जाना होगा। यहां जरूरी है कि आप उसी आरटीओ पर जाएं जहां पर आपके वाहन का रजिस्ट्रेशन हुआ है।जब आप अपने वाहन का रंग बदलने जा रहे हैं तो उससे पहले आरटीओ में इसकी जानकारी दें। यदि आरटीओ में रंग के परिवर्तन की प्रक्रिया पूरी हो जाती है तो फिर आप किसी भी दुकान पर जाकर वाहन का रंग बदल सकते हैं। इसके लिए आरटीओ पर आवश्यक शुल्क का भुगतान कर सकते हैं।राज्य के क़ानून के अनुसार कुछ रंगों जैसे रक्षा के लिए ओलिव ग्रीन, टैक्सियों के लिए पीला की अनुमति नहीं है।बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारअमेरिका: तिरंगा लहराते भारतीयों ने खालिस्तानी समर्थकों को यूं दिया करारा जवाब****** में के अवसर पर आयोजित कार्यक्रमों में भारतीय मूल के लोगों और प्रवासी भारतीयों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। ऐसे ही एक कार्यक्रम में उस समय दिलचस्प स्थिति पैदा हो गई जब भारत का स्वतंत्रता दिवस मना रहे एक समूह के सामने कुछ खालिस्तान समर्थक इकट्ठा होकर नारेबाजी करने लगे। हालांकि की नारेबाजी से कोई फर्क नहीं पड़ा और स्वतंत्रता दिवस मना रहे लोगों ने उन्हें करारा जवाब दिया।न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट्स के मुताबिक, खालिस्तान समर्थक भारतीय स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम के दौरान भारत विरोधी नारेबाजी कर रहे थे। हालांकि, ये सिर्फ 10-12 लोग थे जबकि तिरंगा लहराते भारतीय समर्थक इनसे काफी बड़ी संख्या में वहां मौजूद थे। भारतीय समर्थकों के आगे खालिस्तान के समर्थकों की एक नहीं चल पा रही थी। गौरतलब है कि अमेरिका में नारेबाजी और प्रदर्शन गैरकानूनी नहीं है। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा फंड किए गए खालिस्तानी समूह इसी बात का फायदा उठाते हैं।आपको बता दें कि देश का 73वां स्वतंत्रता दिवस वॉशिंगटन में दूतावास रेजिडेंस में मनाया गया। ऐसा पहली बार था जब इस कार्यक्रम को आम लोगों के लिए भी रखा गया। इसमें भारतीय-अमेरिका समुदाय के लगभग 500 सदस्य शामिल हुए। इस खास मौके पर भारत के राजदूत हर्ष श्रृंगला ने लोगों का अभिवादन किया। इस मौके पर श्रंगला ने कहा कि जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म किया जाना ‘देश की एकता की दिशा में एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक’ कदम है।

बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारAgnipath Scheme Age Limit: अग्निपथ योजना की सरकार ने बढ़ाई उम्र सीमा, अब 21 से 23 साल की गई एज लिमिट******Highlightsकेंद्र सरकार ने अग्निपथ योजना के लिए ऊपरी आयु सीमा को 21 साल से बढ़ाकर 23 साल करने का फैसला किया है। रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि पिछले दो वर्षों में कोई भर्ती नहीं होने के कारण ये निर्णय लिया गया है।अग्निपथ योजना की शुरुआत के परिणामस्वरूप, सशस्त्र बलों में सभी नए रंगरूटों के लिए प्रवेश आयु साढ़े 17 साल से 21 साल निर्धारित की गई है। इसको ध्यान में रखते हुए कि पिछले दो वर्षों के दौरान भर्ती नहीं हो पाई है, सरकार ने निर्णय लिया है कि 2022 के लिए प्रस्तावित भर्ती चक्र के लिए एकमुश्त छूट दी जाएगी। लिहाजा, 2022 के लिए अग्निपथ योजना के लिए भर्ती प्रक्रिया के लिए ऊपरी आयु सीमा को बढ़ाकर 23 वर्ष कर दिया गया है।सेना में भर्ती के लिए नई योजना ‘अग्निपथ’ को लेकर देश के तमाम हिस्सों में बवाल देखने को मिला है। आकांक्षी युवाओं ने ट्रेनों में आग लगा दी, बसों की खिड़कियों के शीशे तोड़ दिए और बिहार में सत्तारूढ़ भाजपा के एक विधायक सहित राहगीरों पर पथराव किया। युवाओं का यह विरोध प्रदर्शन लगातार दूसरे दिन भी जारी रहा। योजना को लेकर जताई जा रही चिंताओं को दूर करने के लिए 'मिथक बनाम सच' दस्तावेज जारी करने के अलावा, सरकार की सूचना प्रसार शाखा ने सोशल मीडिया कई पोस्ट भी किये, जिनमें कहा गया कि आने वाले वर्षों में, अग्निवीरों की भर्ती सशस्त्र बलों में वर्तमान भर्ती से लगभग तिगुनी होगी और रेजिमेंट प्रणाली में किसी भी बदलाव से इनकार किया।मोदी सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ देश के कई राज्यों में आज जोरदार प्रदर्शन देखे गए, इनमें से कई प्रदर्शन हिंसक भी हो गए। अग्निपथ योजना को लेकर हरियाणा के पलवल में भी हिंसा हुई। पलवल में हुए बवाल पर तीन जिलों से पुलिस बुलानी तब जाके हालात काबू में आए। इतना ही नहीं पलवल में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर भी पथराव किया। डीसी कार्यालय में भी तोड़फोड़ की है। पलवल में हुई हिंसा को देखते हुए जिले में इंटरनेट सेवाओं को अगले 24 घण्टे के लिए बंद करना पड़ा है।बढ़ेहुएब्लडशुगरकोजल्दकंट्रोलमेंलेआएगा5रुपएमेंबननेवालाकायेड्रिंकऐसेकरेंतैयारकोटक महिंद्रा बैंक का शुद्ध लाभ 8.5 प्रतिशत गिरा, एसेट क्वालिटी पर दबाव******नई दिल्ली। निजी क्षेत्र के कोटक महिंद्रा बैंक का चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में एकल शुद्ध लाभ (Standalone Net Profit) 8.5 प्रतिशत घटकर 1,244.45 करोड़ रुपये रहा। इससे पिछले वित्त वर्ष 2019-20 की इसी अवधि में बैंक का शुद्ध लाभ 1,360.20 करोड़ रुपये था। शेयर बाजार को दी जानकारी में बैंक ने सोमवार को बताया कि अवधि में उसका शुद्ध लाभ हालांकि जनवरी-मार्च तिमाही के समान ही रहा। वित्त वर्ष 2019-20 की आखिरी तिमाही में बैंक को 1,266.60 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। समीक्षावधि में बैंक की कुल एकल आय (Standalone) 7685.40 करोड़ रुपये रही जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 7,944.61 करोड़ रुपये थी।पिछले साल की इसी अवधि के मुकाबले बैंक की नेट इंट्रेस्ट इनकम 18 फीसदी बढ़कर 3724 करोड़ रुपये रही है। नेट इंट्रेस्ट इनकम बैंक द्वारा कमाए गए ब्याज और चुकाए गए ब्याज का अंतर होता है।बैंक का फंसे कर्ज के लिए प्रावधान 30 जून को समाप्त तिमाही में बढ़कर 962.01 करोड़ रुपये हो गया। बीते वित्त वर्ष की इसी तिमाही में यह 316.76 करोड़ रुपये था। हालांकि यह इससे पिछली जनवरी-मार्च तिमाही में रहे 1,047.47 करोड़ रुपये के प्रावधान से कम है। समीक्षावधि में बैंक के NPA 2.70 प्रतिशत के स्तर पर रहे जो 2019-20 की अप्रैल-जून तिमाही में 2.19 प्रतिशत था। मूल्य के आधार पर पहली तिमाही में बैंक का सकल एनपीए 5,619.33 करोड़ रुपये रहा जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 4,613.52 करोड़ रुपये था । एकीकृत (consolidated) आधार पर कोटक महिंद्रा बैंक का शुद्ध लाभ पहली तिमाही में 4.1 प्रतिशत घटकर 1,852.59 करोड़ रुपये रहा। यह 2019-20 की समान अवधि में 1,932.21 करोड़ रुपये था। इस दौरान बैंक की एकीकृत कुल आय 12,323.15 करोड़ रुपये रही जो पिछले साल समान अवधि में 12,129.56 करोड़ रुपये थी।

हाल का ध्यान

लिंक