वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > चूंगचींग > मूलपाठ

महिला दिवस पर अमिताभ बच्चन ने शेयर की खास तस्वीर, कहा- 'प्रतिदिन नारी दिवस...'

2022-10-04 05:32:56 चूंगचींग

महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसVirgo Weekly Horoscope 12-18 September: इस हफ्ते कन्या राशि के दूर होंगे आर्थिक संकट, मिलेगी खुशखबरी******Highlightsइस सप्ताह शनि के बारहवें भाव में स्थित होने की वजह से आपके लिए जरुरी है कि जितना संभव हो, अपने कामकाज से समय निकालते हुए खुद को थोड़ा आराम दें क्योंकि आप पूर्व के दिनों में भारी मानसिक दबाव से गुज़रे हैं। इसलिए इस सप्ताह आपका नई गतिविधियों में शामिल होते हुए अपना मनोरंजन करना, आपको शारीरिक विश्राम करने में बेहद सहायक सिद्ध होगा। इसलिए ज्यादा थकाने वाले कार्यों से अभी दूरी ही बनाकर रखना आपके लिए बेहतर रहेगा।इस सप्ताह आपको भूमि, रियल-एस्टेट या सांस्कृतिक परियोजनाओं पर ध्यान केन्द्रित करने की ज़रूरत है क्योंकि ये समय इन योजनाओं में निवेश के लिए बेहद उत्तम संयोग बना रहा है। ऐसे में, इन मौक़ों को अपने हाथ से न जाने देते हुए उनका उत्तम लाभ उठाएं। इस सप्ताह आठवें भाव में राहु और चंद्रमा की युति के कारण ऐसे परिस्थितियां आपके सामने बनेगी जिसकी वजह से आपको कई पारिवारिक व घरेलू कार्य करने पड़ सकते हैं जिससे आपको थकान की अनुभूति होगी। ऐसे में जोश में आकर अपनी सारी ऊर्जा एक ही कार्य पर न लगाते हुए, हर कार्य को धीरे-धीरे सही से करें।इस दौरान जरूरत पड़ें तो, आप घर के दूसरे सदस्यों की भी मदद ले सकते हैं। अगर आप करियर में बेहतर करना चाहते हैं तो, आपको इस सप्ताह अपने काम में आधुनिकता और नयापन लाने की कोशिश करनी होगी। इसके साथ ही आपको सलाह दी जाती है कि नई तकनीक और सोशल मीडिया से अपडेटेड रहते हुए ही, किसी भी कार्य को करना आपके लिए बेहतर रहेगा। ये हफ़्ता उन छात्रों के लिए सकारात्मक रहने वाला है जो सरकारी परीक्षा की तैयारी कर रहे थे क्योंकि इस समय चंद्रमा की छठे भाव में मौजूदगी आपके लिए फलदायी सिद्ध होगी। इस दौरान कई ग्रहों का स्थान परिवर्तन विद्यार्थियों को भाग्य का साथ देगा और उन्हें अपने हर क्षेत्र में भरपूर सफलता मिलेगी।

महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसAuto Taxi Fare hike: दिल्ली में ऑटो और टैक्सी का सफर होगा महंगा, जानिए अब क्या होंगे रेट******Delhi Auto Fare HikeHighlights'​महंगाई डायन' दिल्ली एनसीआर की जनता को नए दरवाजे से दस्तक दे रही है। दिल्ली में अब जल्द ही ऑटो और टैक्सियों के किराए में जोरदार इजाफा होने जा रहा है। दिल्ली सरकार की किराया समीक्षा समिति ने ऑटो के किराए में प्रति किमी 1.5 रुपये की बढ़ोत्तरी की सिफारिश की है। वहीं टैक्सियों के बेस फेयर में 15 रुपये की बढ़ोत्तरी का प्रस्ताव है। बता दें कि यह बेस फेयर पहले 1.5 किलोमीटर के लिए हैं। इसके बाद प्रति किलोमीटर का चार्ज देना होता है।कीमतों में वृद्धि दिल्ली के करीब 97,000 ऑटो चालकों को राहत जरूर दे सकता है, लेकिन इसकी सबसे बुरी मार इसकी सवारी करने वाले निम्न और मध्यम वर्ग पर सबसे ज्यादा पड़ेगी। हालांकि लोग मान रहे हैं कि दिल्ली में ज्यादातर ऑटो वाले मीटर से तो चलते नहीं हैं, ऐसे में कागज पर दिख रही बढ़ोत्तरी वास्तव में और भी रुला सकती है।अभी तक जब आप ऑटो में बैठते थे, तो मीटर डाउन होते ही आपको पहले 1.5 किमी. के लिए 25 रुपये देने होते थे, अब यही किराया 30 रुपये हो गया है। इसके अलावा आपसे प्रति किलोमीटर 9.5 रूपये वसूले जाते थे, जो अब 11 रुपये वसूला जाएगा।ऑटो के लिए जहां बेस फेयर में 5 रुपये की बढ़ोत्तरी की गई है वहीं टैक्सी के लिए आपको 15 रुपये ज्यादा देने होंगे। टैक्सियों के लिए मीटर डाउन शुल्क अब 25 के बजाय 40 रुपये होगा। वहीं बेसफेयर के बाद नॉन-एसी टैक्सियों के लिए प्रति किलोमीटर किराया 14 रूपये के बजाय 17 रुपये होगा। एसी टैक्सियों के लिए किराय 16 रुपये के बजाय 20 रुपये देने होंगे।दिल्ली सरकार ने इस साल 20 अप्रैल को किराया संशोधन समिति का गठन किया था। पिछली बार 2019 में ऑटोरिक्शा के किराए में बदलाव किया गया था। उस समय पहले 2 किमी के लिए 15 रुपये के बजाय, मीटर डाउन करने पर डेढ़ किलोमीटर के लिए बेस किराया 25 रुपये किया गया था। बाद के प्रत्येक किलोमीटर के लिए किराया 8 रुपये प्रति किलोमीटर से बढ़ाकर 9.5 रुपये प्रति किलोमीटर कर दिया गया। अब किराया 11 रुपये प्रति किलोमीटर हो जाएगा।दिल्ली सरकार के अनुसार दिल्ली की सड़कों पर अभी 97 हजार ऑटो हैं। जो दिल्ली के अलावा एनसीआर के शहरों में भी अपनी सेवाएं देते हैं। इसके साथ ही शहर में 12000 काली पीली टैक्सी है। साथ ही इकोनॉमी टैक्सी की संख्या 50 हजार।दिल्ली में ऑटो चलाने वाले राकेश सिंह बताते हैं कि सीएनजी की कीमतों के कारण दिल्ली ऑटो चलाना काफी मुश्किल हो गया है। सीएनजी की कीमतों में बीते एक महीने में 15 रुपये की बढ़ोत्तरी हुई है। आखिरी बार ऑटो का किराया 2019 में तय हुआ था तब सीएनजी के दाम 44 रुपये थे जो अब 75 के पार पहुंच चुके हैं। मजेदार बात यह है कि पिछले महीने 20 अप्रैल को जब कमेटी बनी थी तब सीएनजी की कीमत 71.61 रुपये प्रति किलो थी। 2 जुलाई को, सीएनजी की कीमत 75.61 रुपये प्रति किलोग्राम थी।दिल्ली के सफदरजंग में रहने वाली रूबी बताती हैं कि दिल्ली में ऑटो वाले कभी भी मीटर से नहीं चलते। ऐसे में उनके साथ मोलभाव करना ही पड़ता है। सरकार जो कीमतें तय करती हैं किराया हमेशा उससे 50 प्रतिशत ज्यादा ही होता है। सरकार जब कीमतें बढ़ाती है तो इसके बाद ऑटो वाले मनमाना किराया बढ़ा देते हैं।महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसWI vs ENG : पहले टी20 में वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड को चटाई 9 विकेट से धूल, सीरीज में बनाई 1-0 की बढ़त******Highlightsपांच टी20 मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में मेजबान वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड पर 9 विकेट से धमाकेदार जीत दर्ज कर सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। इस मुकाबले में वेस्टइंडीज ने टॉस जीतकर इंग्लैंड को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया‌। पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड की टीम 19.4 ओवर में सिर्फ 103 रन बनाकर ऑल आउट हो गई।इंग्लैंड के द्वारा दिए गए इस मामूली से लक्ष्य को मेजबान कैरेबियाई टीम ने ब्रेंडन किंग की अर्धशतकीय पारी से 17.1 ओवर में 104 रन बनाकर लक्ष्य को हासिल कर लिया। ब्रेडन किंग वेस्टइंडीज के लिए 49 गेंद में 52 रन बनाकर नाबाद रहे। वहीं निकोलस पूरन ने नाबाद 27 रन बनाए। वेस्टइंडीज के लिए एकमात्र आउट होने वाले बल्लेबाज विकेटकीपर बल्लेबाज शाई होप रहे जिन्होंने 20 रनों की पारी खेली।इससे पहले इंग्लैंड की टीम की पहले बल्लेबाजी करते हुए बेहद ही निराशाजनक प्रदर्शन रहा। टीम के 7 बल्लेबाज ऐसे रहे जिन्होंने दहाई का भी आंकड़ा पार नहीं किया।इंग्लैंड के लिए सबसे अधिक क्रिस जॉर्डन ने 23 गेंद में 28 रनों की पारी खेली जिसमें तीन छक्के भी शामिल थे। वहीं आदिल राशिद ने 22 रनों का योगदान दिया। वहीं टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों में कप्तान इयोन मोर्गन ने 17 और जेम्स विंसे ने 14 रनों की पारी खेली।वेस्टइंडीज के लिए गेंदबाजी में सबसे अधिक जेसन होल्डर ने चार विकेट लिए। इसके अलावा शेल्डन कॉटरेल को दो सफलता हाथ लगी जबकि अकिल हुसैन, रोमारियो शिप हार्ड और फैबियन एलन ने को भी एक-एक विकेट मिला। इंग्लैंड के लिए गेंदबाजी में सिर्फ आदिल राशिद को एकमात्र विकेट हासिल हुआ।दोनों टीमों के बीच सीरीज का दूसरा मुकाबला रविवार, 23 जनवरी को किंग्सटन ओवल, बारबाडोस में खेला जाएगा।

महिला दिवस पर अमिताभ बच्चन ने शेयर की खास तस्वीर, कहा- 'प्रतिदिन नारी दिवस...'

महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसडॉलर के मुकाबले लगातार तीसरे दिन रुपये में मजबूती, 40 पैसे बढ़कर हुआ बंद******2 महीने के उच्चतम स्तर पर रुपयानई दिल्ली। घरेलू शेयर बाजार मे तेजी के बीच आज घरेलू करंसी में भी मजबूती देखने को मिली है। हफ्ते के पहले कारोबारी सत्र में डॉलर के मुकाबले रुपया बढ़त के साथ 2 महीने के उच्चतम स्तर पर बंद हुआ है। बीता हफ्ता रुपये के लिये बढ़त का हफ्ता रहा था, इस दौरान डॉलर के मुकाबले रुपया करीब 1 प्रतिशत मजबूत हुआ। जानकारों के मुताबिक फेडरल रिजर्व से मिले संकेतों के बाद डॉलर में कमजोरी आई है जिसका फायदा रुपये को मिला है।अमेरिकी डॉलर के कमजोर होने और घरेलू शेयर बाजार में तेजी के समर्थन से अंतर बैंक विदेशीमुद्रा विनिमय बाजार में सोमवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 40 पैसे उछलकर 73.29 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ। कारोबार की शुरुआत में रुपया 73.46 पर मजबूत खुला। कारोबार के दौरान रुपया 73.21 के दिन के उच्चतम स्तर से 73.54 रुपये प्रति डॉलर के दिन के निचले स्तर तक पहुंचा। यानि सत्र के दौरान रुपये में 33 पैसे के दायरे में कारोबार देखने को मिला है। कारोबार के अंत में रुपया पिछले कारोबारी सत्र के बंद भाव की तुलना में 40 पैसे ऊंचा रहकर 73.29 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ।सोमवार को लगातार तीसरे कारोबारी सत्र में रुपये में तेजी कायम रही। पिछले तीन कारोबारी सत्र के दौरान रुपया 95 पैसे चढ़ चुका है। बीते हफ्ते डॉलर के मुकाबले रुपये में 1 प्रतिशत की बढ़त देखने को मिली। बीते 4 महीने में डॉलर के मुकाबले रुपये का ये किसी हफ्ते मे सबसे मजबूत प्रदर्शन रहा है। एचडीएफसी सिक्युरिटीज के शोध विश्लेषक दिलीप परमार ने कहा, ‘‘भारतीय रुपये में शुक्रवार को मजबूती का जो रुख बना था वह सोमवार को भी जारी रहा। एशियाई मुद्राओं में रुपया दूसरी सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाली मुद्रा रही।’’छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 92.8 पर अपरिवर्तित रहा। आज सेंसेक्स 765 अंक की तेजी के साथ 56,889.76 अंक पर बंद हुआ। वैश्विक मानक ब्रेंट कच्चा तेल का वायदा भाव 0.22 प्रतिशत घटकर 72.54 डॉलर प्रति बैरल रह गया। शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, इस बीच, विदेशी संस्थागत निवेशक पूंजी बाजार में शुद्ध बिकवाल रहे और उन्होंने गतसप्ताहांत शुक्रवार को 778.75 करोड़ रुपये के शेयरों की बिकवाली की।महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसएयर एशिया इंडिया की 'समर सेल', सभी टैक्स सहित सिर्फ 1399 रुपए में हवाई सफर का मौका******लो-कॉस्ट एयरलाइन एयर एशियाइंडिया गर्मियों की छुट्टियों के लिए प्रमोशनल स्कीम लेकर आई है। इसके तहत आप सिर्फ 1399 रुपए की शुरुआत की पर टिकट बुक कर सकते हैं। इस टिकट में सभी कर शामिल है। आने वाली गर्मियों की छुट्टियों में बेंगलुरु, हैदराबाद, गोवा, गुवाहाटी, दिल्ली, कोच्चि और पुणे घूम सकते हैं।एयरलाइन गर्मियों की छुट्टियों को ध्यान में रखते हुए ये स्कीम लेकर आई है। स्कीम का फायदा उठाने के लिए आपको एडवांस बुकिंग करनी होगी। आप 26 मार्च 2017 तक टिकट बुक कर सकते हैं। इस दौरान बुक की गई टिकट पर आप 31 अगस्त 2017 तक यात्रा कर पाएंगे। एयर इंडिया, इंडिगो, जेट एयरवेज और स्पाइसजेट जैसी कंपनियों के साथ प्रतिस्पर्धा करने के लिए ऑफर लेकर आई है।School’s out! Time for a holiday!Fly to , , and other awesome destinations!Book NOW on — AirAsia India (@airasiain) एयर एशिया बेंगलुरु और हैदराबाद के बीच एक-तरफा यात्रा (वन-वे ट्रैवल) के लिए 1,399 रुपए में टिकट दे रहा है। इस स्कीम के तहत ऑल-इन्क्लूसिव के लिहाज से सबसे कम किराया है। गुवाहाटी-इंफाल रुट के लिए आपको 1,699 रुपए खर्च करने होंगे और बेंगलुरु, गोवा के लिए आपको 1,799 रुपए खर्च करने होंगे। हैदराबाद, दिल्ली, कोच्चि और पुणे के लिए टिकट उपलब्ध है।एयरएशिया इंडिया ने अपने बेड़े में नौंवे एयरबस ए 320 विमान को शामिल करने की घोषणा की। इसके साथ ही कंपनी ने अगले महीने से कोलकाता सहित दो नये गंतव्यों को उड़ान शुरू करने की घोषणा की है। कंपनी के बयान में कहा गया कि विस्तार के तहत वह 15 अप्रैल से रांची को दिल्ली से जोड़ने के अलावा कोलकाता व रांची के बीच दैनिक उड़ान शुरू करेगी। फिलहाल कंपनी 13 घरेलू हवाई अड्डों से उड़ान भरती है। वह बेंगलूरू और नई दिल्ली के अलावा कोलकाता को अपनी सेवाओं के तीसरे बड़े केंद्र के रूप में स्थापित करेगी।महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसनगालैंड: भाजपा ने NPF से 15 साल पुराना नाता तोड़ा, एनडीपीपी से करेगी गठबंधन******भाजपा ने आज कहा कि वह नगालैंड में अपने चुनाव पूर्व गठबंधन सहयोगी एनडीपीपी के साथ मिलकर सरकार बनाएगी। पार्टी ने नगा पीपुल्स फ्रंट () के साथ 15 वर्ष पुराने गठबंधन को आगे बढ़ाने से भी इंकार किया।एनडीपीपी के वरिष्ठ नेता से यहां मुलाकात करने के बाद भाजपा नेता और असम के वित्त मंत्री ने संवाददाताओं से कहा कि उनकी पार्टी का एनपीएफ से अब गठबंधन नहीं है जो वर्ष 2008 तक राज्य में सत्ता में रही थी।सरमा ने कहा, ‘‘हम नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (NDPP) के साथ जाएंगे।’’ उन्होंने निवर्तमान मुख्यमंत्री टी आर जेलियांग को सलाह दी कि ‘‘लोकतांत्रिक मानकों का सम्मान करते हुए इस्तीफा दे दें।’’ सरमा के बयान पर टिप्पणी करते हुए एनपीएफ ने कहा कि यह भाजपा का ‘‘एकतरफा निर्णय’’ है।60 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा को 12 सीटें मिलीं जबकि इसकी सहयोगी एनडीपीपी को 17 सीटें मिलीं। 27 सीटों के साथ एनपीएफ सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है। दो सीटों पर नेशनल पीपुल्स पार्टी (NPP) ने जीत दर्ज की है जबकि एक-एक सीट जेडीयू और निर्दलीय के खाते में गई है।एनपीएफ के प्रवक्ता अचुमबेमो किकॉन ने कहा, ‘‘राष्ट्रीय पार्टी होने के नाते अगर भाजपा एनपीएफ के साथ गठबंधन में स्थिर सरकार देने की संभावना पर विचार नहीं करती है तो यह उन पर निर्भर करता है।’’बहरहाल सरमा ने कहा, ‘‘हम अब एनपीएफ के साथ गठबंधन नहीं कर सकते क्योंकि हमने एनडीपीपी के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन कर विधानसभा चुनाव में लोगों से वोट मांगे थे।’’

महिला दिवस पर अमिताभ बच्चन ने शेयर की खास तस्वीर, कहा- 'प्रतिदिन नारी दिवस...'

महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसजम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 371 लागू करने का सवाल ही नहीं है: जितेंद्र सिंह******हैदराबाद: केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने रविवार को कहा कि केंद्र सरकार का इरादा जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 371 लागू करने का नहीं है। सिंह ने यहां कहा, ‘‘ जम्मू कश्मीरमें अनुच्छेद 371 को लागू करने का कोई सवाल ही नहीं है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ भारत सरकार में किसी भी स्तर पर इस तरह की किसी बात पर विचार नहीं किया जा रहाहै और यह दुष्प्रचार वे लोग फैला रहे हैं जिनके अवैध हितों पर अनुच्छेद 370 के निरसन से बहुत बुरा असर पड़ा है।’’ में कुछ विशेष प्रावधान है और यह व्यवस्था पूर्वोत्तर में खासकर कुछ राज्यों में लागू है। यह अनुच्छेद वहां के मूल लोगों का उनके धार्मिक एवं सामाजिकपरिपाटी, पारंपरिक कानूनों और प्रक्रियाओं, जमीन और संसाधनों के स्वामित्व और हस्तांतरण आदि के संदर्भ में सुरक्षा प्रदान करता है।केंद्रीय राज्यमंत्री ने इंडियन स्कूल ऑफ बिजनस में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्रीय कानून दो केंद्रशासित प्रदेशों- और लद्दाख मेंस्वत: ही मान्य हैं और जरूरत के हिसाब से एक के बाद एक कर अधिसूचनाएं जारी की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 अब बीत चुका है और अनुच्छेद 370और अनुच्छेद 371 में मूलभूत अंतर है।महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसCorona in China: शंघाई में लॉकडाउन के बाद कोरोना से पहली मौत, जीरो कोविड पॉलिसी पर चल रहा चीन******चीन में कोरोना का कहर जारी है। यहां बड़ी संख्या में कोरोना के मामले आने के बाद जीरो कोविड पॉलिसी अपना रहे इस देश में कई जगह सख्त लॉकडाउन लगा दिया गया। इसी बीच शंघाई शहर में लॉकडाउन के बाद कोरोना से पहली बार किसी व्यक्ति की मौत की खबर है। 28 मार्च को चीन के सबसे बड़े शहर ने ओमिक्रोन वेरिएंट से संक्रमण को कंट्रोल में करने के लिए दो चरणों में लॉकडाउन की शुरुआत की थी।चीन के आर्थिक राजधानी और सबसे अधिक आबादी वाले शहर शंघाई में कोरोना लगातार बढ़़ रहा है। देश के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने शनिवार को कहा कि चीन के कुल 24,680 नए मामलों में अकेले शंघाई में 23,500 से अधिक नए मामलों की पुष्टि हुई है। वहीं उत्तर पश्चिमी चीन के जियान शहर में स्थानीय प्रशासन ने लोगों से अनावश्यक बाहर न निकलने का आग्रह किया है। इसके साथ ही झेंगझोऊ में भी लॉकडाउन लगा दिया गया है।उधर, फ्रांस, इटली और जर्मनी में दैनिक संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। यूरोप और अमेरिका में भी ओमिक्रॉन वैरिएंट के कारण अधिकांश राज्यों में मामले तेजी से बढ़़ें हैं। दूसरी तरफ दक्षिण कोरिया में कोरोना के लगातार कम हो रहे मामलों के बीच अगले सप्ताह से मास्क को छोड़कर सभी कोरोनोवायरस प्रतिबंधों को समाप्त कर दिया जाएगा।चीन को बड़ा झटका दे सकती है जीरो कोविड नीतिविश्लेषकों का कहना है कि चीन की शून्य-कोविड नीति से जीडीपी लक्ष्य की पूर्ति संभव नहीं है। क्योंकि पाबंदियों की वजह से आपूर्ति श्रृंखलाओं में गड़बड़ी, बंदरगाहों में देरी का सामना करना पड़ता है और शंघाई लॉकडाउन में फंसा रहता है।दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था ने 2022 के लिए दशकों में अपना सबसे कम वार्षिक सकल घरेलू उत्पाद लक्ष्य निर्धारित किया। विश्लेषकों ने कहा, देश के प्रमुख शहरों में उत्पादन प्रभावित होने से 5.5 प्रतिशत बढ़़ोतरी का आंकड़ा हासिल करना कठिन होगा।

महिला दिवस पर अमिताभ बच्चन ने शेयर की खास तस्वीर, कहा- 'प्रतिदिन नारी दिवस...'

महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसRavindra Jadeja: सर्जरी सफल होने पर जडेजा ने कहा धन्यवाद, टी20 विश्व कप टीम से बाहर होना तय!******Highlights भारतीय टीम के स्टार ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा के सर्जरी को लेकर बड़ी अपडेट आई है। रविंद्र जडेजा एशिया कप 2022 के दौरान चोटिल हो गए थे। जिसके बाद वह एशिया कप से बाहर हो गए थे। दरअसल जडेजा को अपने दाहिने पैर के घुटने की इंजरी की वजह से टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा था। मगर अब रविंद्र जडेजा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से एक तस्वीर शेयर करते हुए लिखा है कि उनकी सर्जरी सफल रही है।जडेजा ने इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा कि "सर्जरी सफल रही। मेरा समर्थन करने के लिए धन्यवाद देने के लिए बहुत से लोग हैं - बीसीसीआई, मेरे साथी, सहयोगी स्टाफ, फिजियो, डॉक्टर और प्रशंसक। मैं जल्द ही अपना रीहैब शुरू करूंगा और जल्द से जल्द क्रिकेट मैदान में वापस आने की कोशिश करूंगा। आपकी शुभकामनाओं के लिए आप सभी का धन्यवाद।" जडेजा ने जो तस्वीर शेयर की है उसमें वह वॉकर के सहारे खड़े हैं। फैंस को उम्मीद है कि जडेजा जल्द जी मैदान में वापसी करेंगे।विश्व कप 2021 के बाद से रविंद्र जडेजा कई बार इंजरी की वजह से टीम से बाहर हो चुके हैं। इसी साल जून के महीने में हुए दक्षिण अफ्रीका सीरीज से भी उन्हें घुटने में चोट की वजह से बाहर होना पड़ा था। आईपीएल 2022 में भी उन्हें पसली की चोट की वजह से आधे सीजन से बाहर होना पड़ा था। एशिया कप से भी उनके बाहर होने पर भारतीय टीम को अपनी प्लेइंग XI में कई बदलाव करने पड़े हैं।इस साल टी20 विश्व कप ऑस्ट्रेलिया में 22 अक्टूबर से खेला जाएगा। विश्व कप शुरू होने में अभी लगभग डेढ़ महीने का वक्त बचा हुआ है। वहीं जडेजा को रिकवर होने में अभी लंबा समय लगेगा। ऐसे में उनका टी20 विश्व कप से बाहर होना लगभग तय माना जा रहा है। जडेजा के बाहर होने से टीम इंडिया को बड़ा झटका लगेगा। भारतीय टीम जडेजा के रिप्लेसमेंट के रूप में अक्षर पटेल को आजमा सकती है। जडेजा की गैरमौजूदगी से टीम कॉम्बिनेशन पर खासा असर पड़ेगा।

महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसगेहूं पर दोगुना हुआ आयात शुल्क, मटर पर आयात शुल्क हुआ 50 फीसदी, आप पर होगा यह असर****** केंद्र सरकार ने रबी सीजन में गेहूं और दलहन की खेती करने वाले किसानों के हितों को देखते हुए एक अहम फैसला किया है। गेहूं पर आयात शुल्क को दोगुना कर दिया गया है और कनाडा से आयात होने वाले सस्ते मटर पर आयात शुल्क को बढ़ाकर 50 फीसदी करने का फैसला किया गया है। केन्द्रीय उत्पाद एवं सीमाशुल्क बोर्ड (CBEC) ने आयात शुल्क में बढ़ोतरी को लेकर अधिसूचना जारी कर दी है।अधिसुचना में कहा कि वह (1) वह मटर पर बुनियादी सीमाशुल्क को मौजूदा शून्य से बढ़ाकर 50 प्रतिशत करने (2) गेहूं के आयात शुल्क को 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 20 प्रतिशत करने’’ की पेशकश करता है। देश में गेहूं और मटर का उत्पादन रबी सीजन में होता है और रबी फसलों की बुआई देशभर में शुरू होने जा रही है। बुआई शुरू होने से पहले ही सरकार ने किसानों को हितों को देखते हुए आयात शुल्क में बढ़ोतरी का फैसला किया है।दरअसल पिछले साल देश में गेहूं का रिकॉर्ड उत्पादन हुआ है, पिछले साल 9.84 करोड़ टन गेहूं पैदा होने की वजह से इस साल देश में गेहूं की सप्लाई पर्याप्त है और ऐसी आशंका जताई जा रही थी कि सप्लाई बढ़ने की स्थति में गेहूं की कीमतों पर दबाव आ सकता है। अगर भाव टूटा तो किसान गेहूं की खेती से कुछ परहेज कर सकते हैं। लेकिन आयात शुल्क में बढ़ोतरी की वजह से अब खुले बाजार में आयातित गेहूं की सप्लाई घटेगी जिससे घरेलू गेहूं की मांग में इजाफा देखने को मिल सकता है और भाव को भी सहारा मिलेगा।दूसरी तरफ देश में अधिकतर दालों की कीमतों में भारी गिरावट देखी जा रही है। चना, मसूर और उड़द को छोड़ ज्यादातर दलहन का भाव सरकार के तय किए हुए समर्थन मूल्य से काफी नीचे लुढ़क गया है। ऊपर से देश में दालों का आयात भी अच्छा हो रहा है। घरेलू स्तर पर भाव घटने के बावजूद विदेशों से हो रहे आयात की वजह से भविष्य में दलहन के भाव में और भी गिरावट की आशंका बढ़ गई है जिस वजह से सरकार ने अब मटर के आयात पर आयात शुल्क लगाने का फैसला किया है। देश में आयात होने वाले सभी दलहन में सबसे ज्यादा मटर का ही आयात होता है, अब मटर पर सरकार ने क्योंकि 50 फीसदी आयात शुल्क लगा दिया है ऐसे में इसके आयात में गिरावट आएगी जिससे दूसरे दलहन को सहारा मिल सकता है।सरकार के इस फैसले की वजह से हालांकि उपभोक्ताओं पर कुछ मार जरूर पड़ सकती है। फैसले सेगेहूं और दलहन की कीमतों में इजाफा हो सकता है जिस वजह से महंगाई बढ़ने की आशंका भी बढ़ गई है। आटा, सूजी, मैदा और सभी दालों की कीमतों में बढ़ोतरी होने की आशंका बढ़ी है।महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसRahul Gandhi: ‘देश में आज दो हिंदुस्तान, एक कारोबारियों का, दूसरा मजदूर और किसानों का‘, केंद्र सरकार पर बरसे राहुल गांधी******Highlightsमहंगाई, बेरोजगारी और जीएसटी के मुद्दे पर दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस की हल्ला बोल रैली आयोजित की गई है। इस रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा है कि महंगाई, बेरोजगारी का डर देश में बढ़ता जा रहा है। इस करण हिंदुस्तान में नफरत बढ़ती जा रही है। इससे लोग बंटते हैं, देश बंटता है और देश कमजोर होता है। उन्होंने कहा कि बीजेपी और आरएसएस देश को बांटते हैं और जानबूझकर देश में भय और नफरत फैलाते हैं।देश के युवाओं को भविष्य में नहीं मिल पाएगा रोजगारः राहुल गांधीराहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस एक दूसरी जीएसटी लाना चाहती थी। बीजेपी ने जो जीएसटी लाई उसमें छोटे दुकानदार, मजदूर और छोटे कारोबारियों पर चोट की। स्टेज से बोलना मुझे अच्छा नहीं लग रहा है। मगर देश में आज हालात यह है कि चाहेंगे तो भी देश के युवाओं को रोजगार नहीं मिल पाएगा। देश को रोजगार दो बड़े उद्योगपति नहीं बल्कि छोटे कारोबारी दे सकते हैं, उनकी कमर मोदीजी ने तोड़ दी है। राहुल ने कहा कि आज जो बेरोजगारी दिख रही है वह आगे जाकर और बढ़ेगी।राहुल ने 2014 से अभी तक के खाने पीने, दूध व पेट्रोल के दामों का अंतर गिनायामहंगाई पर आंकड़े गिनाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि रसोई गैस और पेट्रोल डीजल, दूध के दाम वर्ष 2014 में सस्ते थे और आज महंगे हो गए। उन्होंने कहा कि चीन के मुद्दे, बेरोजगारी के मुद्दे पर हम संसद में बात नहीं कर सकते। राहुल ने अपने संबोधन में कहा कि दो उद्योगपतियों के समर्थन के बिना नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते। नफरत से गरीबों को फायदा नहीं, बल्कि सिर्फ दो उद्योपतियों को फायदा है। राहुल ने कहा कि इस देश में किसानों ने विरोध किया तो मोदीजी को किसान कानून वापस लेना पड़े।मैं ईडी से नहीं डरता, संविधान को बचाने का काम नागरिकों को करना होगाः राहुल गांधीउन्होंने कहा कि जो भी नरेंद्र मोदी के खिलाफ काम करना चाहता है, चाहे वो विपक्ष हो या कोई और उनके खिलाफ ईडी और सीबीआई लगा दिए जाते हैं। मुझे 55 घंटे ईडी ने बिठाया। राहुल ने कहा कि मैं आपकी ईडी से नहीं डरता चाहे 55 घंटे मुझे बिठाओ या 5 साल बिठाओ। जो संविधान है इसकी रक्षा करना और इसे बचाने का काम, देश के हर नागरिक को करना पड़ेगा। यह नहीं किया, आज नहीं खड़े हुए तो फिर यह देश नहीं बचेगा।‘देश में आज दो हिंदुस्तान, एक कारोबारियों का, दूसरा मजदूर और किसानो का‘राहुल गांधी ने कहा कि आज दो हिंदुस्तान बन गए हैें। एक मजदूर, गरीबों, किसानों और बेरोजगार युवाओं का। इनके देश में कोई सपना नहीं देखा जा सकता। खून पसीना देने के बाद भी फायदा नहीं मिलेगा। और इसी हिंदुस्तान के अंदर दूसरा देश 10-15 अरबपतियों का है, उसमें जो भी आप हिंदुस्तान में आप चाहते हो, आपको मिल जाएगा।मोदीजी की विचारधारा देश को बांटने वालीः राहुल गांधीनरेंद्र मोदी की विचारधारा देश को बांटने वाली है। इसका फायदा चुनिंदा लोगों को देना है। हमारी विचारधारा सबके लिए है। देश के लोगों की मेहनत का फायदा दो हिंदुस्तानियों को नहीं, बल्कि पूरी जनता को मिलना चाहिए। राहुल गांधी ने कहा कि मनरेगा कांग्रेस पार्टी की देन है, जिससे मजदूर, किसान वर्ग को रोजगार मिला। मोदी सरकार को फिर इसे कंटीन्यू करना पड़ा।देश में नफरत फैलाने से चीन और पाकिस्तान उठाएंगे फायदाः राहुलराहुल गांधी ने कहा कि मोदीजी नफरत फैला रहे हैं इससे देश को नहीं, देश के दुश्मनों को फायदा होगा। चीन और पाकिस्तान को फायदा होगा। देश में जितनी नफरत और डर फैलेगा, उतना हिंदुस्तान कमजोर होगा। मोदीजी ने सत्ता में आकर देश को कमजोर करने का काम किया। सबसे ज्यादा बेरोजगारी आज देश में है, जो मोदीजी की देन है।

महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसबुरी खबर! अब गिफ्ट और कैशबैक वाउचर पर लगेगा 18 फीसदी GST, देखें नया नियम******बुरी खबर! अब गिफ्ट और कैशबैक वाउचर पर लगेगा 18 फीसदी GST, देखें नया नियमनई दिल्ली: उपभोक्ताओं या आपूर्तिकर्ताओं को दिए गए गिफ्ट वाउचर, कैश-बैक वाउचर को वस्तु अथवा सामान माना जाएगा और इनपर 18 प्रतिशत की दर से माल एवं सेवा कर(जीएसटी) लगेगा। अग्रिम निर्णय प्राधिकरण (एएआर) ने यह व्यवस्था दी है। बेंगलुरु की प्रीमियर सेल्स प्रमोशन प्राइवेट लि.ने एएआर की कर्नाटक पीठ के समक्ष अपील दायर कर पूछाथा कि गिफ्ट वाउचर, कैश-बैक वाउचर या कई विकल्पों के साथ ई-वाउचरों की आपूर्ति पर क्या जीएसटी दर लागू होगी।आवेदक कारोबार को आगे बढ़ाने के लिए वाउचर का कारोबार करती है। गिफ्ट वाउचर के संदर्भ में एएआर ने कहा कि आवदेक वाउचर खरीदता और उसे अपने ग्राहकों को बेचताहै, जो आगे उसे अपने ग्राहकों में वितरित करते हैं। वहीं ग्राहक आपूर्तिकर्ता से वस्तुओं और सेवाओं की खरीद के समय अपने भुगतान की प्रतिबद्धता इन वाउचरों से करते हैं। ऐसे मेंआवेदक को उनकी आपूर्ति के समय ये गिफ्ट वाउचर ‘मुद्रा’ का स्वरूप नहीं होते हैं।जहां तक कैश-बैक या विभिन्न विकल्प वाले ई-वाउचर का सवाल है, एएआर ने निष्कर्ष दिया है कि ये वाउचर आपूर्ति के समय इन्हें ‘मुद्रा’ की परिभाषा के तहत नहीं माना जा सकता,लेकिन किसी वस्तु या सेवा के लिए भुगतान करते समय ये पैसे का ‘स्वरूप’ ले लेते हैं। एएआर ने व्यवस्था देते हुए कहा कि वाउचर की आपूर्ति वस्तुओं की तरह करयोग्य है औरइनपर 18 प्रतिशत जीएसटी लगेगा।एएमआरजी एंड एसोसिएट्स के वरिष्ठ भागीदार रजत मोहन ने कहा कि एएआर ने व्यवस्था दी है कि ई-वाउचर की आपूर्ति पर वस्तुओं की तरह 18 प्रतिशत कर लगेगा। इसमें यह नहींदेखा जाएगा कि ऐसे वाउचर से क्या सामान खरीदा गया है। इसके अलावा एएआर ने जीएसटी नियमों में वर्णित आपूर्ति-संबंधित वाउचर के समय से संबंधित विशेष प्रावधानों कोखारिज कर दिया है। ‘‘इस निर्णय से सभी ई-वाउचरों पर 18 प्रतिशत कर लगेगा।’’महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसपंजाब के बाद AAP की नजर छत्तीसगढ़ पर, गोपाल राय 2 दिन दौरे पर जाएंगे****** आम आदमी पार्टी हाल ही में विधानसभा चुनाव के आए नतीजों से काफी उत्साहित है। आप का अब अगला लक्ष्य उन राज्यों पर है जहां कांग्रेस की सत्ता मौजूद है। इसी क्रम में आप पार्टी के वरिष्ठ नेता गोपाल राय दो दिन के दौरे पर छत्तीसगढ़ के लिए जाएंगे। इस दौरे में वो प्रदेश के कार्यकर्ताओं और नेताओं के साथ मुलाकात करेंगे। गोपाल राय छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में पार्टी के नए कार्यलय का भी उद्धाटन करेंगे। गोपाल राय के साथ दिल्ली से पार्टी के विधायक संजीव झा भी मौजूद रहेंगे। ‘विजय यात्रा’ से नई संभावनाओं की तलाशपंजाब में आप को मिली ऐतिहासिक जीत को लेकर रायपुर में विजय यात्रा भी निकाली जाएगी। 21 मार्च को रायपुर में आम आदमी पार्टी विजय यात्रा निकालकर आने वाले चुनाव के लिए माहौल बनाने का काम करेगी। आम आदमी पार्टी मुख्य तौर पर ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ने का काम शुरु करने जा रही है। राज्य के अंदर बड़े पैमाने पर सदस्ता अभियान की शुरुआत की जाएगी। वहीं पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ गोपाल राय बैठक भी करेंगे। छत्तीसगढ़ में आप पार्टी अपने सगठन को मजबूत करने कोशिशों में जुट गई है छत्तीसढ़ में आप की झाडू चलाने के लिए सारी रणनीति बनाई जा रही है ।पंजाब के नतीजों ने बदले समीकरणपंजाब विधानसभा चुनाव के नतीजों ने आम आदमी पार्टी के लिए सभी समीकरणों को बदल कर रख दिया है। पार्टी की खास तौर पर उन राज्यों पर नजर है जहां कांग्रेस की सरकारें मौजूद हैं। दिल्ली और पंजाब में जनता ने कांग्रेस की जड़ों को उखाड़ कर AAP को चुना है। पार्टी नेताओं का मानना है कि भारतीय राजनीति में अब वो एक अहमविकल्प के तौर पर देखी जाने लगी है।यही वजह कि आप पूरी ताकत के चुनावों में उतरने जा रही है। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में 2023 विधानसभा चुनाव होने हैं, लेकिन AAP अपनी जमीन को मजबूत करने के लिए अभी से जुट गई है।

महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसउत्तराखंड में 'जिंदगी' की तलाश: जिंदा दफन हुए 11 लोगों के शव मिले, गांव के ऊपर खड़ा हो गया 70 मीटर मलबे का पहाड़******सरखेत गांव में 19 और 20 अगस्त रात को आई आपदा के बाद मलबे के पहाड़ में दबे शवों को NDRF की टीम खोजने में जुटी हुई है। लापता लोगों की तलाश में सर्च और रेस्क्यू ऑपरेशन लगातार चलाया जा रहा है। सर्च ऑपरेशन के दौरान NDRF अब तक तीन शव बरामद चुकी है। सरखेत में 5 लोगों के लापता होने की जानकारी थी। इसमें तीन के शव बरामद हो चुके हैं जबकि अभी भी 2 लोग लापता हैं।बीते 20 अगस्त को तड़के तकरीबन 3 बजे देहरादून जिले की खैरी मानसिंह इलाके में आने वाले सरखेत गांव में आसमान से बरसी तबाही का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि जहां पर एक फलफूलता गांव था, वहां पर अब 70 मीटर मलबे का पहाड़ खड़ा हो गया है। सरखेत क्षेत्र में आई इस आपदा ने तकरीबन 25 परिवारों के घर जमींदोज कर दिए हैं। आलम यह है कि जहां अच्छे खासे मकान हुआ करते थे, वहां मलबा का ढेर जम गया है। इसी मलबे में दबे लोगों को ढूंढने के लिए लगातार सर्च अभियान चलाया जा रहा है।आपदा का एपी सेंटर सेरखेत गांव में सर्च एंड रेस्क्यू ऑपरेशन की कमान संभाल रहे एनडीआरफ इंस्पेक्टर मयंक कुमार ने बताया कि उनकी टीम आपदा के दिन से ही लगातार गांव में आए इस मलबे को बड़ी-बड़ी मशीनों से हटाने में लगी है। गांव के ऊपर तकरीबन 70 मीटर मलबा आया है। इसमें से 30 मीटर के मलबे को छानकर अलग कर दिया गया है। इसमें से अब तक 3 शव बरामद हो चुके हैं। अभी भी इस मलबे में दो शव मौजूद हैं, जिनकी लगातार तलाश की जा रही है।NDRF इंस्पेक्टर मयंक कुमार का कहना है कि इस मलबे से लापता 2 शव बरामद करने के बाद एनडीआरएफ की टीम सड़क को खोलने का अगला काम शुरू करेगी। एनडीआरएफ टीम को कमांड कर रहे मयंक कुमार ने बताया कि मार्ग को सबसे ज्यादा इसी जगह पर नुकसान हुआ। इसको खोलने के बाद आगे के गांव में भी पहुंचा जाएगा। वहां पर भी इस तरह का सर्च अभियान चलाया जाएगा।उत्तराखंड में 19 और 20 अगस्त को आई आपदा में जान गंवा चुके 11 शव अब तक बरामद हो चुके हैं, जबकि 8 लापता हैं। इसके अलावा 10 लोग घायल हैं। वहीं, देहरादून की बात करे तो दून में 5 शव बरामद हो चुके हैं। जबकि अभी भी 4 लापता हैं जिनकी तलाश में लगातार सर्च एंड रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। टिहरी में 5 के शव बरामद और 4 लापता हैं।रुद्रप्रयाग में दैवीय आपदा, भूस्खलन एवं भारी वर्षा के चलते जिले के विभिन्न क्षेत्रों में हो रही जन-धन की हानि पर रुद्रप्रयाग डीएम पैनी रखे हुए हैं। इसके अलावा जिलाधिकारी मयूर दीक्षित पूरी संजीदगी के साथ राहत एवं बचाव कार्य में जुटे हुए हैं। डीएम ने अधिकारियों की फौज के साथ विकासखंड जखोली के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण कर प्रभावित ग्रामीणों से मुलाकात की और उनकी समस्याओं को सुना। उन्होंने सभी अधिकारियों को त्वरित कार्रवाई कर आपदा क्षेत्र का सर्वे करने, प्रभावित परिवारों को सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट करने एवं मुआवजा वितरित करने के निर्देश दिए।बुधवार को जखोली तहसील के विभिन्न गांवों में आपदा से भारी नुकसान की सूचना के बाद डीएम मयूर दीक्षित ने एसडीएम जखोली समेत अन्य अधिकारियों के साथ आपदाग्रस्त क्षेत्र त्यूंखर, घरड़ा, चिरबटिया व लुठियाग का मौके पर निरीक्षण कर स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने बारिश एवं भूस्खलन से क्षतिग्रस्त हुए गांवों के रास्तों को मनरेगा के तहत मरम्मत करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही निर्देश दिए कि प्रभावित गांवों में विद्युत एवं पेयजल लाइनों को जो भी नुकसान हुआ है, उन्हें जल्द से जल्द ठीक किया जाए। उन्होंने एसडीएम जखोली को निर्देश दिए कि कृषि भूमि, आवासीय भवन एवं फसलों को हुए नुकसान का तत्काल सर्वे करवाते हुए बिना देरी के प्रभावितों को उचित मुआवजा उपलब्ध कराया जाए।पौड़ी जिले में रूक रूककर हो रही बारिश से विभिन्न मोटर मार्गों पर यातायात ठप है। इससे लोगों का जनजीवन पटरी से उतर गया है। पौड़ी में बारिश से 46 मोटर मार्गों पर यातायात ठप है। इसमें ग्रामीण क्षेत्रों के जोड़ने वाली सड़कें सर्वाधिक प्रभावित हैं। कलेक्ट्रेट सभागार में डीएम डा. विजय कुमार जोदगंडे ने जनपद में अवरूद्ध मोटर मार्गों को लेकर लोनिवि और पीएमजीएसवाई को जमकर फटकार लगाई। डीएम ने कहा कि संबंधित विभाग गंभीरता से कार्य करना सुनिश्चित करें। अन्यथा कठोर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।पौड़ी में बारिश से पीएमजीएसवाई व निर्माण खंड दुगड्डा के सर्वाधिक 11-11 मोटर मार्ग बंद हैं। प्रांतीय खंड लैंसडाउन के 10, निर्माण खंड पौड़ी के 5 व प्रांतीय खंड पौड़ी की 1, निर्माण खंड श्रीनगर की 4, निर्माण खंड पाबौ की 3 मोटर मार्ग शामिल हैं। वहीं स्व. जगमोहन सिंह नेगी स्टेट हाइवे मार्ग भी यातायात के लिए बंद हैं। लोनिवि ने जिले के इन मोटर मार्गों को खुलवाने के लिए 1 करोड़ का इस्टीमेट तैयार किया है।महिलादिवसपरअमिताभबच्चननेशेयरकीखासतस्वीरकहाप्रतिदिननारीदिवसIDFC FIRST Bank का बड़ा कदम, कोरोना से प्रभावित कर्मचारियों के परिवार को देगा 2 साल तक वेतन और ये सुविधा******IDFC FIRST Bank offers 4x annual CTC, salary continuation for 2 yrs to corona affected employees' family निजी क्षेत्र के आईडीएफसी फर्स्‍ट बैंक (IDFC FIRST Bank) ने कोरोनावायरस संक्रमण से अपनी जान गंवा चुके कर्मचारियों के परिवारों को सीटीसी के चार गुना के बराबर मुआवजा और दो साल तक वेतन देने की घोषणा की है। बैंक के इस कदम से परिवारों को आर्थिक रूप से मजबूत बनने में मदद मिलेगी। इसके अलावा बैंक ने ऐसे कर्मचारियों को ऋण भुगतान से भी छूट प्रदान की है ताकि परिवार पर कोई आर्थिक बोझ न पड़े। के मैनेजिंग डायरेक्‍टर और सीईओ वी वैद्यनाथन ने कहा कि बैंक के कर्मचारी अधिकांश युवा हैं। उनके परिवार भारी संकट में होंगे। इसलिए हमनें सभी मुद्दों को कवर करने के लिए एक कम्‍पोजिट प्रोग्राम की पेशकश की है। हम अपने मृत कर्मचारियों के परिवार को उनकी वार्षिक सीटीसी के चार गुना बराबर अनुदार राशि प्रदान करेंगे और दो साल तक वेतन देना जारी रखेंगे। उन्‍होंने कहा कि बैंक अपने मृत कर्मचारियों के परिवारों से संपर्क करेगा और बैंक के ऑफर के बारे में जानकारी देगा।यदि किसी कर्मचारी ने पर्सनल लोन, कार लोन, टू-व्‍हीलर लोन या एजुकेशन लोन लिया है तो बैंक उन्‍हें 100 प्रतिशत ऋण छूट प्रदान करेगा। हाउसिंग लोन (30 जून, 2021 से पहले) के लिए 25 लाख रुपये तक की छूट मिलेगी। मान लीजिए किसी कर्मचारी ने 30 लाख रुपये का होम लोन दिया है, तो आईडीएफसी फर्स्‍ट बैंक 25 लाख रुपये की छूट देगा और कर्मचारी के ऊपर ऋण घटकर 5 लाख रुपये रह जाएगा। परिवार इस ऋण का पुर्नभुगतान उसे अगले दो साल तक मिलने वाले वेतन में से कर सकती है।वैद्यनाथन ने कहा कि बैंक के लगभग 20 कर्मचारियों की मौत कोविड की वजह से हुई है। उन्‍होंने कहा कि हम अपने कर्मचारियों के जीवनसाथी को रोजगार भी प्रदान करेंगे यदि वह इसके लिए पात्र होंगे। यदि वे पात्र नहीं होंगे तो उन्‍हें कुशल बनाने के लिए 2 लाख रुपये दिए जाएंगे। एम्‍प्‍लॉई कोविड केयर स्‍कीम 2021 के तहत, बैंक ने दो बच्‍चों के लिए ग्रेजुएशन तक 10,000 रुपये मासिक स्‍कॉलरशिप प्रदान करेगा, अंतिम संस्‍कार के लिए 30,000 रुपये देगा, रि-लोकेशन असिस्‍टैंस के रूप में 50,000 रुपये दिए जाएंगे। इसके अलावा इस साल मृत कर्मचारियों द्वारा किए गए काम की अवधि का प्रो-राटा बोनस भुगतान भी दिया जाएगा।

हाल का ध्यान

लिंक