वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > डेक्सिंग जिला > मूलपाठ

"5 पूर्व WWE सुपरस्टार्स जिन्होंने AEW में सफलता प्राप्त की है"

2022-10-01 00:07:03 डेक्सिंग जिला

पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैपाकिस्तान के गृह मंत्री ने प्रधानमंत्री इमरान खान को बजट के बाद चुनाव कराने की सलाह दी******Highlightsपाकिस्तान के गृह मंत्री शेख राशिद ने शनिवार को कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री इमरान खान को बजट पेश करने के बाद चुनाव कराने की सलाह दी है। उन्होंने दावा किया कि इमरान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किये जाने के बाद उनकी लोकप्रियता बढ़ी है। समाचार पत्र ‘डॉन’ की खबर के अनुसार हालांकि राशिद ने कहा कि वित्त वर्ष 2022-23 के लिए संघीय बजट पेश करने के बाद जल्द चुनाव का विचार उनकी व्यक्तिगत ‘राय’ है और इसे सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के रुख के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। ने इस्लामाबाद में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री खान को संघीय बजट पेश करने के बाद चुनाव कराने की सलाह दी है, जो प्रत्येक वर्ष 30 जून को वित्तीय वर्ष की समाप्ति से कुछ सप्ताह पहले प्रस्तुत किया जाता है। एक सप्ताह में यह दूसरी बार है जब राशिद ने चल रहे राजनीतिक संकट को खत्म करने के लिए मध्यावधि चुनाव की वकालत की है। राशिद ने गुरुवार को कहा था कि प्रधानमंत्री खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के चलते मौजूदा राजनीतिक अनिश्चितता को खत्म करने के लिए देश में जल्द चुनाव कराए जा सकते हैं। अगला आम चुनाव 2023 में होना है।शनिवार को इस्लामाबाद में पत्रकारों से बात करते हुए राशिद ने कहा कि प्रधानमंत्री खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर 3 या 4 अप्रैल को मतदान हो सकता है। उन्होंने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव 28 मार्च को नेशनल असेंबली में पेश किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘मतदान प्रस्ताव पेश होने के 3 से 7 दिनों के बीच होता है।’ राशिद ने के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव प्रस्तुत करने के लिए विपक्ष को ‘मूर्ख’ करार दिया और कहा कि इस कदम से प्रधानमंत्री की लोकप्रियता बढ़ी है और ‘जल्द चुनाव कराने के लिए यह सही समय है।’

पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैJharkhand News: गिरीडीह के सरकारी अस्पताल में 4 दिन की नवजात बच्ची को चूहों ने कुतरा, हुई लहूलुहान******झारखंड के में सरकारी अस्पताल के कर्मियों की लापरवाही की वजह से एक चार दिन की नवजात बच्ची की जिंदगी खतरे में पड़ गई है। दरअसल सरकार द्वारा संचालित गिरीडीह जिला अस्पताल की मातृ एवं शिशु इकाई (MCH) में एक नवजात बच्ची को चूहों ने कुतर दिया। बच्ची की हालत काफी नाजुक बताई जा रही है। सोमवार की सुबह जब परिजनों को इस मामले की जानकारी मिली तो उन्होंने जमकर हंगामा किया और दोषी डॉक्टर्स और कर्मचारियों पर कार्रवाई की मांग की।आपको बता दें कि जमुआ प्रखंड के असको निवासी राजेश सिंह की पत्नी ममता देवी गर्भवती थी। प्रसव के लिए चार दिन पहले उन्हें भर्ती करवाया गया था। यहीं पर शुक्रवार को ममता ने लड़की को जन्म दिया। बच्ची को सांस लेने में दिक्कत थी ऐसे में उसे बेहतर इलाज के लिए MCH के शिशु वार्ड में रखा गया था। इस बीच सोमवार की सुबह लगभग तीन बजे शिशु वार्ड में कार्यरत नर्स ने बच्ची के परिजनों को यह खबर दी कि बच्ची को पीलिया हो गया है। जिसके बाद परिजन बच्ची का हाल जानने वार्ड में गए तो वहां पर कपड़े में लपेटकर बच्ची को सौंप दिया गया। परिजन बच्ची को लेकर चले गए तो वहां पर डॉक्टर ने बताया कि बच्ची को चूहे ने कुतर दिया है।शुक्रवार को पैदा हुई नन्ही सी जान को इलाज के लिए सोमवार को पीएमसीएच धनबाद रेफर किया गया है जहां उसका ट्रीटमेंट चल रहा है। वहीं इस मामले में झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस ने अस्पताल कर्मियो के खिलाफ सख्त एक्शन की मांग की है। वहीं इस घटना की जांच शुरू कर दी गई है, जिसके बाद एएनएम को निलंबित कर दिया गया है, दो जीएनएम और एक क्लीनर को बर्खास्त कर दिया गया है और ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की गई है।सिविल सर्जन डॉ. एसपी मिश्रा ने कहा, ''वार्ड में चूहा कैसे घुसा है और इलाजरत बच्ची की सही देखभाल क्यों नहीं की गई, यह जांच का विषय है। मामले को गंभीरता से लिया गया है। एक जांच टीम बनायी जाएगी और जो भी दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।''पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैL&T को मिला रेल ट्रैक के विद्युतीकरण का 1,050 करोड़ रुपए का ठेका, AIIB के साथ 32.9 करोड़ डॉलर का समझौता****** भारतीय रेलवे ने 781 किलोमीटर रेल ट्रैक के विद्युतीकरण के लिए लार्सन एंड टूब्रो (L&T) को 1,050 करोड़ रुपए का ठेका दिया है। यह रेलवे का मिशन विद्युतीकरण के तहत पहला इंजीनियरिंग, खरीद एवं निर्माण (ईपीसी) अनुबंध है।रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने यहां अनुबंध के आदान-प्रदान के कार्यक्रम में कहा, भारतीय रेलवे बुनियादी ढांचा सृजन, विद्युतीकरण पर काफी जोर दे रही है। पिछले चार साल के दौरान 16,815 रूट किलोमीटर की 103 रेलवे विद्युतीकरण परियोजनाएं दी गईं। इन परियोजनाओं की अनुमानित लागत 17,615 करोड़ रुपए है।भारत ने एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक (एआईआईबी) के साथ गुजरात ग्रामीण सड़क परियोजना के लिए 32.9 करोड़ डॉलर के वित्‍त पोषण के समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।वित्‍त मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि इस समझौते पर मंत्रालय में संयुक्त सचिव एमआर समीर कुमार खरे और एआईआईबी के उपाध्यक्ष एवं मुख्य निवेश अधिकारी डीजे पांडियन ने हस्ताक्षर किए। बयान के मुताबिक यह ऋण गुजरात के 33 जिलों में 1,060 गांवों में सड़क संपर्क बेहतर करने की परियोजना के लिए दिया गया है।

पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैCJI एनवी रमण ने लोकतंत्र को लेकर कही ये बड़ी बात, दुनिया भर के नागरिकों से की अपील******Highlightsभारत के चीफ जस्टिस एनवी रमण ने कहा है कि दुनिया के सभी नागरिकों के लिए यह जरूरी है कि वे स्वाधीनता, स्वतंत्रता और लोकतंत्र को बरकरार रखने और आगे बढ़ाने के लिए लगातार प्रयासरत रहें, जिसके लिए हमारे पूर्वजों ने संघर्ष किया है। न्यायमूर्ति रमण ने अमेरिका के फिलाडेल्फिया में 'इंडिपेंडेंस हॉल' की यात्रा के बाद यह बात कही।प्रधान न्यायाधीश ने कहा कि यह स्मारक मानव सभ्यता में एक निर्णायक क्षण को दर्शाता है और सभी लोकतंत्र उन मूल्यों से प्रेरित हैं, जो कि इस पवित्र स्थान से उत्पन्न हुए हैं। उन्होंने कहा, "यह मानव गरिमा और अस्तित्व की निश्चित गारंटी और वादों का प्रतिनिधित्व करता है। इस ऐतिहासिक हॉल में खड़े होकर, कोई भी उस साहस, भावना और आदर्शों से प्रेरित हो सकता है, जिसने अमेरिका के संस्थापकों को प्रेरित किया और जिनकी गूंज आज भी दुनिया भर में है।"प्रधान न्यायाधीश ने कहा, "दुनिया के सभी नागरिकों के लिए यह आवश्यक है कि वे स्वाधीनता, स्वतंत्रता और लोकतंत्र को बनाए रखने और आगे बढ़ाने के लिए अथक प्रयास जारी रखें, जिसके लिए हमारे पूर्वजों ने संघर्ष किया है। यही उनके बलिदान के लिए सर्वश्रेष्ठ श्रद्धांजलि है।"वहीं, बीते दिनों सीजेआई एनवी रमण छात्रों और युवाओं से लोकतंत्र के महत्व को समझने और अपनी सक्रिय भागीदारी से इसे कायम रखने एवं सशक्त बनाने का आह्वान किया था। न्यायमूर्ति रमण ने गुरुवार को न्यूयॉर्क स्थित कोलंबिया विश्वविद्यालय के दौरे के अवसर पर यह आह्वान किया।उन्होंने वहां अपने विशिष्ट पूर्व छात्रों (एलुमनाई) में से एक डॉ बी आर आम्बेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित की। सीजेआई ने कहा, "हमारे देश की अब तक की 75 साल की लंबी यात्रा लोकतंत्र की शक्ति का प्रमाण है। यह आवश्यक है कि लोग, विशेषकर छात्र और युवा, लोकतंत्र के महत्व को समझें। आपकी सक्रिय भागीदारी से ही लोकतंत्र कायम और मजबूत हो सकता है। केवल एक सच्ची लोकतांत्रिक व्यवस्था ही दुनिया में स्थायी शांति की बुनियाद हो सकती है।"पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैसैट का सहारा समूह की कंपनी को आदेश, सेबी के पास जमा करें 2,000 करोड़ रुपये******SAT का सहारा समूह की कंपनी को 2000 करोड़ जमा करने का आदेशHighlightsनई दिल्ली। प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) ने सहारा समूह की कंपनी सहारा इंडिया कमर्शियल कॉरपोरेशन लिमिटेड और सुब्रत रॉय सहित उसके तत्कालीन निदेशकों को चार सप्ताह के भीतर भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास 2,000 करोड़ रुपये जमा करने का आदेश दिया है। सैट ने एक आदेश में कहा कि इस रकम को बाजार नियामक के एस्क्रो खाते में रखा जाएगा। यह राशि जमा करने के बाद कंपनी और उसके पूर्व निदेशकों के खिलाफ कुर्की का आदेश वापस ले लिया जाएगा।सैट ने कहा, ‘‘हमने पहले अपीलकर्त्ता सहारा इंडिया कमर्शियल कॉरपोरेशन और दूसरे अपीलकर्त्ता सहारा इंडिया को सेबी के समक्ष भारत और विदेश में सभी संपत्तियों और उनकी पूरी सूची के अलावा सभी बैंक खातों, डीमैट खातों और म्यूचुअल फंड/शेयर/प्रतिभूतियां की जानकारी देने का आदेश दिया है।’’ कंपनी के पूर्व निदेशकों ए.एस राव और रनोज दास गुप्ता की वृद्धावस्था और चिकित्सा आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए प्राधिकरण ने उनके खिलाफ जारी कुर्की आदेशों को वापस लेने का निर्देश दिया।यह अपील दरअसल अक्टूबर, 2018 में सेबी के एक आदेश के खिलाफ दायर की गई थी। इस आदेश में सहारा इंडिया कमर्शियल कॉरपोरेशन लिमिटेड और उसके पूर्व निदेशकों को 15 प्रतिशत वार्षिक ब्याज के साथ वैकल्पिक पूर्ण परिवर्तनीय डिबेंचर जारी करके कंपनी द्वारा जुटाए गए 14,000 करोड़ रुपये वापस करने के लिए कहा गया था।पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैअंबाला एयरबेस में पहुंच रहे हैं 5 राफेल विमान, 29 जुलाई को करेंगे लैंड******चीन से जारी तनातनी के बीच भारत के लिए एक अच्छी खबर है। अत्याधुनिक राफेल विमानों की पहली खेप इसी महीने भारत पहुंचने वाली है। प्राप्त जानकारी के अनुसार फ्रांस से 5 राफेल विमान 29 जुलाई को भारत पहुंचने वाले हैं। इसमें से 2 सिंगल सीटर और 3 ट्विन सीटर विमान होंगे। ये विमान 29 जुलाई को अंबाला एयरबेस पर लैंड करेंगे। बता दें कि राफेल विमानों की डिलिवरी इसी साल की शुरुआत में भारत को मिलनी थी। लेकिन कोरोना संकट के चलते इसमें कुछ महीनों की देरी हो गई है।सेना के सूत्रों के अनुसार के स्क्वार्डन का नाम 17 स्क्वार्डन या फिर गोल्डन एरो हो सकता है। इस बीच वायुसेना की एक उच्चस्तरीय बैठक इसी सप्ताह होने जा रही है। इस बैठक में राफेल की तैनाती को लेकर चर्चा की जाएगी। इसके साथ ही चीन सीमा पर Su30 एमकेआई, मिग 29 अपग्रेडेड और मिराज 2000 के साथ राफेल की तैनाती पर भी चर्चा होगी। यहां से दिन और रात दोनों समय सभी तरह के ऑपरेशनों को अंजाम दिया जा सकता है। वहीं चीन से लगी सीमा के पास अपाचे लड़ाकू हेलिकॉप्टर तैनात किए गए हैं, जो पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में रात के वक्त भी उड़ान भर रहे हैं।एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया के नेतृत्व में 22 और 23 जुलाई को होने वाली भारतीय वायुसेना (IAF) की ये बैठक काफी अहम मानी जा रही है क्योंकि इस बैठक में पूर्वी लद्दाख में जारी हालात पर आगे की रणनीति और राफेल की तैनाती को लेकर चर्चा की जाएगी। इस कॉन्फ्रेंस में 7 कमांडर इन चीफ शामिल होंगे। इस दौरान चीन के साथ सीमा पर विवाद और पूर्वी लद्दाख में एयरफोर्स की तैनाती को लेकर चर्चा होगी। बताया जा रहा है कि बैठक में राफेल की तैनाती के लिए ऑपरेशनल स्टेशन कहां बनाया जाएगा, इस पर विशेष रूप से चर्चा की जाएगी। बताया जा रहा है कि चर्चा का एक मुख्य एजेंडा चीन के साथ लगती सीमा पर स्थिति और पूर्वी लद्दाख और उत्तरी सीमाओं के अग्रिम ठिकानों पर जवानों की तैनाती का रहेगा।

पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैसुनील गावस्कर ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में पूरे किए 50 साल, सचिन समेत खिलाड़ियों ने दी बधाई******टीम इंडिया के दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर के लिए आज का दिन ( 6 मार्च 2021 ) काफी ख़ास है। क्योंकि आज के ही दिन आज से 50 साल पहले 16 साल के सुनील गावस्कर जब उस समय की सबसे घातक वेस्टइंडीज टीम के सामने पोर्ट ऑफ़ स्पेन के मैदान में पहली बार बल्ला लेकर अंतराष्ट्रीय क्रिकेट मैदान में उतरे थे। तब किसी ने नहीं सोचा था कि विंडीज के तेज गेंदबाजों के आगे बिना हेलमेट पिच पर उतरने वाला ये लड़का ना सिर्फ दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज बनेगा बल्कि आगे आने याली कई पीढ़ियों के खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत भी होगा।जी हाँ, 71 साल के सुनील गावस्कर को आज अंतराष्ट्रीय क्रिकेट के मैदान में कदम रखे हुए 50 साल पुरे हो गये हैं। जिस ख़ास अवसर पर उन्हें सोशल मीडिया में सभी खिलाड़ी अपने - अपने अंदाज में शुभकामनाएं दे रहे हैं। गावस्कर ने 6 मार्च 1971 को डेब्यू किया था। इस तरह गावस्कर के क्रिकेट की यादों को ताजा करते हुए क्रिकेट के भगवान माने जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने ट्वीट करते हुए कहा, "मेरे आदर्श।"वहीं उसके बाद टीम इंडिया के कभी मध्यक्रम का हिस्सा रहे सुरेश रैना ने सुनील गावस्कर के लिए ट्वीट करते हुए कहा, "50 सालों का आपका सफर शानदार रहा। हम जैसे खिलाड़ियों को प्रेरित करने के लिए तहे दिल से शुक्रिया! आपने जो भी हमारे देश के लिए किया। उस पर हमे काफी गर्व है।"इतना ही नहीं टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज रूद्र प्रताप सिंह ने सुनील गावस्कर के लिए ट्वीट करते हुए कहा, "आपके साथ कमेंट्री करना वाकई मेरे लिए काफी सौभाग्य भरा रहा। सुनील भाई के बारे में बेस्ट चीज ये है कि अपने टेस्ट डेब्यू करने लेकर आज तक वो सीखते आ रहे हैं।"बता दें कि सुनील गावस्कर ने अपने अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में एक से बढ़कर एक धाकड़ तेज गेंदबाजों के छक्के छुड़ाएं। इस तरह उन्होने भारत के लिए 125 टेस्ट मैच 10122 रन, जबकि 108 वनडे मैचों में उनके नाम 3092 रन दर्ज हैं।पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैविदेशी निवेशकों को रास नहीं आ रहा भारतीय बाजार, बेचे इतने हजार करोड़ के Stock******SensexHighlights विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने फरवरी के पहले पखवाड़े में भारतीय बाजारों से 14,935 करोड़ रुपये की निकासी की है। यह लगातार चौथा महीना है जबकि एफपीआई बिकवाल रहे हैं। डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, एक से 11 फरवरी के दौरान एफपीआई ने शेयरों से 10,080 करोड़ रुपये और ऋण या बांड बाजार से 4,830 करोड़ रुपये तथा हाइब्रिड माध्यमों से 24 करोड़ रुपये की निकासी की है। इस तरह उनकी कुल निकासी 14,935 करोड़ रुपये रही है।मॉर्निंगस्टार इंडिया के एसोसिएट निदेशक (प्रबंधक शोध) हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा, अमेरिका के केंद्रीय बैंक द्वारा नरम मौद्रिक रुख को छोड़ने के संकेत के बाद एफपीआई की बिकवाली बढ़ी है। अमेरिकी केंद्रीय बैंक द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी के संकेत के बाद वैश्विक स्तर पर बांड पर प्रतिफल बढ़ा है। उन्होंने कहा कि अमेरिका में मुद्रास्फीति 40 साल के उच्चस्तर पर पहुंच गई है। ऐसे में अमेरिकी केंद्रीय बैंक आगामी महीनों में आक्रामक तरीके से ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर सकता है। इससे भारतीय शेयरों से विदेशी कोषों की निकासी और बढ़ सकती है।कोटक सिक्योरिटीज के इक्विटी शोध (खुदरा) प्रमुख श्रीकांत चौहान ने कहा कि फरवरी में आज की तारीख तक उभरते बाजारों में प्रवाह का रुख मिलाजुला रहा है। उन्होंने बताया कि इस दौरान थाइलैंड, इंडोनेशिया, दक्षिण कोरिया और फिलिपीन में निवेश का प्रवाह क्रमश: 115.5 करोड़ डॉलर, 58 करोड़ डॉलर, 47.7 करोड़ डॉलर और 13.3 करोड़ डॉलर रहा है। वहीं दूसरी ओर इस दौरान ताइवान से 41 करोड़ डॉलर की निकासी हुई है।जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार ने कहा, वैश्विक बाजारों में कमजोरी के रुख तथा अमेरिका में 10 साल के बांड पर प्रतिफल बढ़ने से आगामी दिनों में एफपीआई की बिकवाली जारी रहेगी।

पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैएयरलक्सीस को प्रतिदिन 30 से 40 उड़ानों के संचालन की उम्मीद: सीईओ******एयरलक्सीस को प्रतिदिन 30 से 40 उड़ानों के संचालन की उम्मीद: सीईओमुंबई: निजी हवाई जहाज (चार्टर) सेवा प्रदान करने वाली कंपनी एयरलक्सीस को कोविड-19 महामारी के वजह से निजी हवाई यात्रा के लिए बढ़ती मांग के बीच प्रति दिन 30 से 40 उड़ानों के संचालन की उम्मीद है। कंपनी ने मुख्य कार्यपालक अधिकारी मनदीप संधू ने यह बात कही। वर्ष 2018 में शुरू हुई बुटीक चार्टर, विमान बिक्री और परामर्श कंपनी एयरलक्सीस एविएशन दक्षिण पूर्वी एशिया, यूरोप और अमेरिका समेत घरेलू और अंतरराष्ट्रीय गंतव्यों के लिए चार्टर विमान, निजी चार्टर और एयर एम्बुलेंस सेवाएं भी प्रदान करती है।संधू ने कहा, "हम बिना स्वामित्व वाले मॉडल से मालिकाना अधिकार वाले मॉडल की तरफ बढ़ रहे है, लेकिन यह मॉडल विमान किराए पर लेने से संबंधित होगा। इसका मतलब है कि हम विमान खरीदेंगे नहीं।" उन्होंने कहा कि हमें दो साल के लिए स्थिर मांग की उम्मीद है।पिछले 18 महीनों में हमने जो वृद्धि देखी है, उसके साथ हम लगभग आठ से 10 महीनों में विमानों को शामिल करने के लिए तैयार हैं। हम इसे जल्दी करना चाहते है, लेकिन इसमें समय लगता है। उन्होंने कहा कि कंपनी लगभग पांच करोड़ रुपये जुटाने पर विचार कर रही है, क्योंकि इससे उसे अपने नियमित ग्राहकों के लिए एक या दो विमान किराये पर लेने में मदद मिलेगी।

पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैFilm Theater in kashmir: मुस्लिम कट्टरपंथियों ने फिल्म को बताया था गैर-इस्लामिक, श्रीनगर के सभी सिनेमाघरों को करवाया था बंद, पढ़ें इनसाइड स्टोरी******Highlights जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिंहा ने मंगलवार को श्रीनगर शहर में मल्टिप्लेक्स का उद्धघाटन किया। ये थिएटर शहर के शिवपोरा के बदामी बाग छावनी के पास है। इस मल्टिप्लेक्स में आमिर खान की हाल ही में रिलीज हुई लाल सिंह चड्डामूवी को दिखाई गई। इस थीएटर में लगभग 520 लोगों की बैठने की सिंटिग है।इस मल्टिप्लेक्स के मालिक कश्मीरी पंडित विकास धर ने बताया कि "हमारे लिए यह एक बड़ा सपना है, जो सच हो गया है। उन्होंने कहा कि रेगुलर शो 30 सिंतबर शुरू हो जाएंगे।"फिल्म थिएटर के साथ ही कश्मीरियों के लिए नई रोशनी दिखी है। अब कश्मीर के युवा कोई भी मूवी फर्स्ट डे फर्स्ट शो देख सकते हैं। कई अर्से बाद सपने सच हो गए हैं।भारत का पहला मल्टीप्लेक्स 1997 में देश की राजधानी दिल्ली में खुला था। ठीक 25 साल बाद ये सौगात कश्मीर के लोगों को मिला हैलेकिन ये काफी दुख की बात है कि इतने साल बाद कश्मीरियों को येसुविधामिलने जा रहा है। अब आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि क्या आंतक चपेट में रहा है कश्मीर में सिनेमाघर तक नहीं था। अगर आप ऐसा सोच रहे हैं तो रुक जाइए। आपको बता दें कि80 और 90 के दशक में आंतकियों ने सबकुछ खत्म कर दिया था। उस दौरान जो सिनेमाघर था, उसे आंतकियों ने बर्बादकर दिया।उस समय आंतकियों ने निशाने पर सबसे अधिक सिनेमाघर ही होते थे। पहले आंतकियों ने धमकी देना शुरू किया कि सभी सिनेमाघर जाने से बचे। स्थानीय लोगों ने इसे हल्के में लिया।साल 1989 में एयर मार्शल नूर खान के नेतृव में एक उग्रवादी समूह अल्लाह टाइगर्स अखबारों के जरिए खबर प्रकाशित करवाया। अखबार के माध्यम से उसने सिनेमाघरों परप्रतिबंद लगाने की घोषणा की थी। वर्तमान में संगठन नहीं है। आंतकी सिनेमा को गैर-इस्लामिक बताया करते थे। उस सगंठन ने 1979 में ईरानी क्रांती के नारे को अपनाते हुए, इस्लामिक विद्रोह की शुरूआत की।नारा दिया कि 'la sharakeya wala garabeya, islamia, isalmia' यानी इसका मतलब होगा कि। ईस्ट और वेस्ट इस्लाम इज द बेस्ट। आतंकी सिनेमाघरों पर हमला करने लगे। इसके बाद से धीरे-धीरे लोग सिनेमाघर ही जाना बंद कर दिए। 31 दिंसबर 1989 तक कश्मीर के सभी सिनेमाघर बंद कर दिए गए।साल 1999 में फारूक अब्दुला के नेतृत्व वाली सरकार ने तीन सिनेमा हॉल खोलने के लिए अनुमति दिए। उनमें रीगल, नीलम, और ब्रॉडवे था। रीगल में पहले शो के दिन ही आंतकी हमला हो गया। जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और लगभग 12 लोग घायल हो गए थे। यानी जो फारूक ने उम्मीद दिखाई थी। उनको आंतकियों ने खत्म कर दिया।सऊदी अरब में जब फिल्म हॉल से एक दशक बाद प्रतिबंध हटाया गया था, तभी जम्मू-कश्मीर मेंबीजेपी और पीडीपी सरकार में साथ थे। तत्कालीन सरकार ने कहा था कि कश्मीर में जल्द ही सिनेमाघर खोला जाएगा। उस समय भी इसका विरोध आंतकियों ने किया था। वहीकश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री रही मुफ्ती ने कहा था कि "आज श्रीनगर में रहने वाले युवा सिनेमा हॉल में आंतकवादियों की तरफ से प्रतिबंध के कारण सिनेमा हॉल में फिल्में देखने की खुशी के बारे में नहीं जानते हैं। मुझे लगता है कि जम्मू-कश्मीर के छात्र इस खुशी से वंचित हैं।"कश्मीर का पहला सिनेमा हॉल अनंत सिंह गौरी ने 1932 में लाल चौक में बनाया था। इतिहासकारों के मुताबिक, इसका नाम कश्मीर टॉकीज रखा गया था। हालांकि बाद में इसे सेंट पीटर्सबर्ग के प्रसिद्ध के नाम पर पैलेडियम कर दिया गया। वर्तमान में इस थिएटर में सीआरफीएफ की चौकी है। साल 1980 के दशक तक कश्मीर में लगभग 15 सिनेमाघर थे। जिसमें 9 अकेले श्रीनगर में था। आपको बता दें कि ब्रॉडवे, रीगल, नीलम, नाज, खय्याम और शेराज शहर के काफी मशहुरसिनेमा हॉल थे।पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैदिल्ली की तिहाड़ जेल में कैदियों के बीच झड़प, 10 से ज्यादा घायल******।दिल्ली की तिहाड़ जेल में कारागार संख्या चार में कैदियों में आपस में हुई झड़प में कई बंदी घायल हो गए। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार घटना शनिवार को दोपहर 12.30 बजे के आसपास हुई। जेल के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘रोज हम बारह बजे से तीन बजे तक कैदियों को वापस बैरक में भेजते हैं।शनिवार को एक कैदी अंदर जाने को तैयार नहीं था और उसने साथी कैदियों को उकसाना शुरू कर दिया।इससे उनके बीच झड़प शुरू हो गयी।’’अधिकारी ने कहा, ‘‘दो कैदी गंभीर रूप से घायल हो गये और उन्हें दीनदयाल अस्पताल ले जाया गया। वे उपचार के बाद तिहाड़ लौट आये।’’ अधिकारी के अनुसार इस झड़प में 10-12 अन्य कैदियों को हल्की चोटें आयीं।

पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैIND vs SA : वीवीएस लक्ष्मण बनेंगे टीम इंडिया के कोच! राहुल द्रविड़ संभालेंगे यह जिम्मेदारी******Highlightsभारतीय टीम आईपीएल 2022 (IPL 2022) के बाद 9 से 19 जून तक साउथ अफ्रीका के खिलाफ पांच मैचों की घरेलू टी20 सीरीज खेलेगी। इसी बीच भारतीय टीम को 16 जून को इंग्लैंड भी रवाना होना है जहां उसे 24 जून से लेस्टरशायर के खिलाफ वार्म अप मैच और इसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ बर्मिंघम में एक टेस्ट मैच खेलना है। इंग्लैंड में 1 जुलाई से 5 जुलाई तक टेस्ट मैच के बाद टीम यहां लिमिटेड ओवर की श्रंखला भी खेलेगी। लेकिन तारीखें ओवरलैप होने के कारण बोर्ड एक बार फिर पिछले साल की तरह दो टीमों का चयन कर सकता है।ऐसे में विराट कोहली, रोहित शर्मा, जसप्रीत बुमराह, रविचंद्रन अश्विन समेत अन्य नियमित और सीनियर खिलाड़ी इंग्लैंड का दौरा करेंगे। मौजूदा हेड कोच राहुल द्रविड़ भी सीनियर खिलाड़ियों के साथ इंग्लैंड जाएंगे। लेकिन साउथ अफ्रीका के खिलाफ पांच मैचों की घरेलू टी20 सीरीज और इसके बाद डबलिन में आयरलैंड के खिलाफ होने वाली दो मैचों की टी20 सीरीज के लिए युवा खिलाड़ियों और कई अनुभवि सीनियर खिलाड़ियों की टीम को चुना जाएगा। इस टीम की कोचिंग मौजूदा एनसीए (नेशनल क्रिकेट एकेडमी) चीफ वीवीएस लक्ष्मण कर सकते हैं।हालांकि दो टीमों के चयन की खबर दो दिन पहले ही आ गई थी। लेकिन बुधवार को सामने आई ताजा रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि बोर्ड वीवीएस लक्ष्मण को युवा टीम का कोच बना सकता है। रिपोर्ट में बीसीसीआई के एक अधिकारी के हवाले से लिखा गया कि,"बर्मिंघम टेस्ट से पहले हमें 24 जून से लेस्टरशायर के खिलाफ वार्मअप मैच भी खेलना है। राहुल द्रविड टीम के साथ 15-16 जून को रवाना होंगे। ऐसे में हम लक्ष्मण से अफ्रीका और आयलैंड के खिलाफ टीम कोच करने को कहेंगे।"इस फैसले के साथ लगातार इंटरनेशनल क्रिकेट और फिर आईपीएल खेल रहे भारत के सीनियर खिलाड़ियों को कुछ दिनों का ब्रेक दिया जाएगा। भारतीय टीम 9 से 19 जून तक दिल्ली, कटक, वाइजैग, राजकोट और बेंगलुरु में पांच टी20 मैच साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलेगी। इसके बाद कहा यह भी जा रहा है कि साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलने वाली टीम ही डबलिन जाएगी और आयरलैंड के खिलाफ 26 और 28 जून को दो मैचों की टी20 सीरीज खेलेगी। जबकि सीनियर और नियमित टीम इंग्लैंड में मौजूद रहगी।पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहै2018 में केंद्र सरकार में लगभग तीन लाख लोगों की होगी बहाली****** युवा बेरोजगारों के लिए केंद्र सरकार बड़ी सौगात लेकर आने वाली। ऐसा आकलन है कि अगले वर्ष तक केंद्र सरकार में 2.83 लाख नौकरियों का सृजन किया जाएगा। वित्‍त मंत्री अरुण जेटली द्वारा केंद्रीय बजट 2017-18 पेश करने के बाद यह आकलन किया गया है।बजट दस्‍तावेजों के मुताबिक, 2018 में केंद्र सरकार में 35.67 लाख कार्यबलों की जरूरत होगी जो 2016 के 32.84 लाख कर्मचारियों की तुलना में 2.83 लाख अधिक है।इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने 16,200 करोड़ रुपए का कालाधन पकड़ाChina C919अतिरिक्‍त कार्यबल से नागरिक-केंद्रित प्रशासन में ज्‍यादा मदद मिलेगी। केंद्र सरकार युवाओं को रोजगार देने की अपेक्षा उन्‍हें नौकरी के लायक बनाने के लिए ज्‍यादा प्रयास कर रही है। इसीलिए कौशल विकास मंत्रालय की शुरुआत की गई। बदलती परिस्थिति में इससे ज्‍यादा से ज्‍यादा युवा नौकरी और आंत्रप्रेन्‍योरशिप के लिए तैयार हो सकेंगे।21 फरवरी को लॉन्‍च होगा हुवावे का शानदार फोन Honor V9, 6GB रैम और 12MP डुअल रियर से है लैसनागरिक उड्डयन मंत्रालय में 2018 में 1,045 नौकरियां आने की संभावना है। 2006 के आंकड़ों के मुताबिक इस मंत्रालय में 1,141 कर्मचारी है। डाक विभाग में 20,442 भर्तियां होंगी और इसके कर्मचारियों की संख्‍या बढ़ा कर 4,48,840 की जाएगी। इसी प्रकार पर्यावरण मंत्रालय में 2,165, अल्‍पसंख्‍यक मंत्रालय में 91, खनन मंत्रालय में 1,351, अंतरिक्ष विभाग में 1,351, कार्मिक मंत्रालय में 2,367 और जल संसाधन मंत्रालय में 3,632 कर्मचारी नियुक्‍त किए जाने का आकलन है।

पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैभारी पड़ा सेल्फी का शौक, बाल बाल बची लड़कियों की जान******मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में पिकनिक मनाने गई युवतियों के लिए सेल्फी की चाहत ने जान को ही मुश्किल में डाल लिया। दरअसल, 6 लड़कियां छिंदवाड़ा की पेंच नदी घूमने गई थी जहां 2 बहनें सेल्फी लेने के चक्कर में नदी के बीच में चली गई। अचानक पेंच नदी में बाढ़ आ जाने से दोनों बहनें फंस गई। फिर पुलिस और गांव वालों ने काफी मशक्कत के बाद बहनों का रेस्क्यू किया और बाहर निकाला और दोनों बहनों को अस्पताल ले जाया गया।जुन्नारदेव के अनुविभागीय अधिकारी, पुलिस (एसडीओ,पी) एस के सिंह ने शुक्रवार को बताया कि ग्राम बेलखेड़ी के पास पेंच नदी के क्षेत्र में जिला मुख्यालय से दो युवकों और सात लड़कियों का दल गुरुवार को पिकनिक मनाने निकला था। वे सेल्फी ले रहे थे, तभी अचानक फॉल का पानी बढ़ गया। पांच लड़कियां और एक युवक तो बढ़ते पानी के बीच निकल आया, मगर दो लड़कियां बीच में ही फंस गईं। साथ ही एक युवक पानी के बहाव के साथ बहकर सुरक्षित निकल आया।सिंह ने आगे बताया कि लड़कियों के पानी के बीच फंसे होने की जानकारी मिलने पर राहत और बचाव दल मौके पर पहुंचा और काफी मशक्कत के बाद रस्सी के सहारे इन दोनों लड़कियों को सुरक्षित निकाला जा सका।पूर्वWWEसुपरस्टार्सजिन्होंनेAEWमेंसफलताप्राप्तकीहैUGC ने ऑफर किए 40 पीजी, 83 अंडर ग्रेजुएट ऑनलाइन प्रोग्राम******| विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने 123 विभिन्न ऑनलाइन कोर्स शुरू करने का निर्णय लिया है। यूजीसी के इस निर्णय के जरिए कुल 123 ऑनलाइन कोर्स में से पोस्ट ग्रेजुएट स्टूडेंट के लिए 40 प्रोग्राम और अंडर ग्रेजुएट छात्रों के लिए 83 प्रोग्राम तय किए गए हैं।देशभर के छात्र यूजीसी द्वारा ऑफर किए जा रहे इन पाठ्यक्रमों का लाभ उठा सकते हैं। छात्रों को 'स्वयं' ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से इन पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन करना होगा। पाठ्यक्रमों की पूरी जानकारी और पात्रता के लिए छात्र यूजीसी की वेबसाइट चेक कर सकते हैं।यूजीसी के सचिव रजनीश जैन ने इस विषय पर एक विशेष नोटिस जारी करते हुए कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर के कारण उत्पन्न हुई परिस्थतियों के मद्देनजर विश्वविद्यालय छात्रों की सुरक्षा को ध्यान में रखें। छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए विश्वविद्यालय 'स्वयं' ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का अधिकतम उपयोग करें।यूजीसी के सचिव रजनीश जैन ने कहा कि 83 यूजी और 40 पीजी एमओओसी पाठ्यक्रम जुलाई से अक्टूबर सेमेस्टर के लिए हैं। यूजी और पीजी कोर्से में दाखिले के इच्छुक छात्र यूजीसी की साइट पर जाकर आधिकारिक सूचना हासिल सकते हैं।इससे पहले यूजीसी की विशेषज्ञ समिति ने विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में 40 फीसदी पाठ्यक्रम ऑनलाइन और शेष 60 प्रतिशत पाठ्यक्रम ऑफलाइन पढ़ाने का सुझाव दिया है। यह सुझाव राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के लिए बनाई गई यूजीसी की विशेषज्ञ समिति ने दिए हैं।देशभर में कोरोना महामारी के दुष्प्रभाव को देखते हुए स्कूल से लेकर यूनिवर्सिटी तक राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत यह तैयारी की जा रही है। विश्वविद्यालयों को लेकर यूजीसी ने विशेषज्ञों की एक का समिति का गठन किया था। इसी विशेषज्ञ समिति ने विश्वविद्यालयों में विभिन्न पाठ्यक्रमों का 60 फीसदी हिस्सा कक्षाओं में ऑफलाइन और 40 फीसदी हिस्सा ऑनलाइन पढ़ाने का सुझाव दिया है।

हाल का ध्यान

लिंक