वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > यांगजिआंग > मूलपाठ

Russia Ukraine News : एयरस्पेस बंद होने से हजारों रूसी पर्यटक विदेशों में फंसे, विमान को आधे रास्ते से मास्को लौटना पड़ा

2022-10-04 11:31:30 यांगजिआंग

एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ाड्रग्स मामले में दीपिका पादुकोण की मैनेजर करिश्मा सहित जया साहा और श्रुति मोदी से 22 सितंबर को पूछताछ करेगी NCB******बॉलीवुड अभिनेता की टैलेंट मैनेजर जया साहा, सेलिब्रिटी मैनेजर श्रुति मोदी और दीपिका पादुकोण की मैनेजर करिश्मा से नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) कल यानि 22 सितंबर को पूछताछ करेगी। करिश्मा, जया की कंपनी में काम करती हैं और एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण की मैनेजर हैं।करिश्मा ने, दीपिका और रणवीर की शादी के समय रोम में तैयारियों और मीडिया कवरेज की जिम्मेदारी संभाली थी। फिलहाल वॉट्सएप चैट में दीपिका पादुकोण और नम्रता शिरोडकर का नाम सामने आया है।इससे पहले एनसीबी ने जया साहा और श्रुति मोदी से ड्रग्स से जुड़े मामले में पांच घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की। एनसीबी ने ड्रग्स से संबंधित कथित चैट के लिए साहा से पांच घंटे तक पूछताछ की गई है। एनसीबी के एक सूत्र ने कहा कि साहा से कई अन्य हस्तियों के साथ उनकी ड्रग चैट के बारे में भी पूछताछ की गई है।श्रुति मोदी से सुशांत और उनकी प्रेमिका रिया चक्रवर्ती द्वारा नशीली दवाओं के उपयोग के बारे में पूछताछ की गई है, जिन्हें पहले एजेंसी ने गिरफ्तार किया था। अधिकारी ने कहा कि श्रुति से रिया के साथ उनकी कथित चैट के बारे में भी पूछा गया, जहां वे सुशांत को ड्रग्स मुहैया कराने के बारे में चर्चा करते नजर आ रहे हैं।एनसीबी ने श्रुति से यह भी सवाल किया कि क्या वह सुशांत और रिया द्वारा ड्रग के इस्तेमाल के बारे में जानती हैं या नहीं और अगर वह इस बारे में जानती हैं तो उन्हें कब से इसकी जानकारी थी। इससे पहले श्रुति मोदी से 16 सितंबर को एनसीबी द्वारा पूछताछ की गई थी। हालांकि एसआईटी के एक सदस्य के कोविड-19 पॉजिटिव पाए जाने के बाद उनसे सवाल अधूरा रह गए थे।हालिया कदम सुशांत की मौत के मामले में 18 से अधिक लोगों की गिरफ्तारी के बाद सामने आया है। रिया, उनके भाई शोविक, सुशांत के घर के मैनेजर सैमुअल मिरांडा और कई अन्य लोगों को एनसीबी ने गिरफ्तार किया है।एनसीबी मंगलवार को मामले में सामने आए तथ्यों को जोड़ने के लिए शोविक चक्रवर्ती और दीपेश सावंत की एक दिन की हिरासत की मांग करेगी। एनसीबी ने शोविक, मिरांडा और कई अन्य लोगों के कथित ड्रग चैट के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अनुरोध पर मामला दर्ज किया है।सुशांत को 14 जून को बांद्रा स्थित अपने अपार्टमेंट में फांसी पर लटका पाया गया था। सीबीआई और ईडी के अलावा, एनसीबी मामले की जांच करने वाली तीसरी एजेंसी है।इस बीच सारा अली खान, श्रद्धा कपूर, रकुल प्रीत सिंह और सिमोन खंबाटा जैसी बॉलीवुड हस्तियों का नाम एनसीबी जांच में ड्रग्स एंगल में उभरा है। एजेंसी की ओर से उन्हें इस सप्ताह पूछताछ के लिए बुलाए जाने की संभावना है।(आईएएनएस इनपुट के साथ)

एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ाIPL 2022: पृथ्वी शॉ को रास आती है KKR, पिछली 7 पारियों में कोलकाता के खिलाफ ठोका पांचवां अर्धशतक******Highlightsदिल्ली कैपिटल्स के ओपनर पृथ्वी शॉ ने कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ आईपीएल 2022 (IPL 2022) के 19वें मुकाबले में 29 गेंदों पर 51 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली। केकेआर के खिलाफ पिछली सात पारियों में यह उनका पांचवां अर्धशतक था। वहीं आईपीएल के 15वें सीजन में यह उनका लगातार दूसरा पचासा था। पिछले मुकाबले में लखनऊ के खिलाफ भी शॉ ने 34 गेंदों पर 61 रन की पारी खेली थी।पिछली सात पारियों में उन्होंने कोलकाता के खिलाफ कुल 392 रन बनाए हैं। उनका औसत करीब 56 का है और स्ट्राइक रेट 170 से भी ऊपर का रहा है। उनके आईपीएल करियर की बात करें तो उन्होंने कुल 58 मैचों में 1516 रन बनाए हैं। उनके नाम 13 अर्धशतक दर्ज हैं। पृथ्वी ने 2018 में फ्रेंचाइजी के लिए आईपीएल डेब्यू किया था। उसके बाद से अभी तक वह सिर्फ दिल्ली कैपिटल्स का ही हिस्सा रहे हैं।डेविड वार्नर का भी केकेआर के खिलाफ शानदार रिकॉर्ड है। मौजूदा मैच से पहले वह इस फ्रेंचाइजी के खिलाफ 24 पारियों में 915 रन बना चुके हैं। उन्होंने कोलकाता के खिलाफ दो शतक और 4 अर्धशतक भी जड़े हैं। आईपीएल 2022 में यह उनका दूसरा मुकाबला है। इससे पहले पिछले सीजन सनराइजर्स हैदराबाद से विवादों के बाद वह मेगा ऑक्शन में दिल्ली द्वारा खरीदे गए थे।आईपीएल 2022 में अभी तक बल्लेबाजों का ज्यादातर जलवा देखने को मिला है। पॉवरप्ले में भी कई मौकों पर रनों की जमकर बरसात हुई है। सीएसके ने लखनऊ के खिलाफ ब्रेबोर्न में 73 रन पहले 6 ओवर में बनाए थे। इसके बाद इसी मैदान पर पंजाब किंग्स ने सीएसके के खिलाफ 72 रन पॉवरप्ले में बटोरे थे। फिर आज के मैच में दिल्ली कैपिटल्स ने इसी मैदान पर 68 रन 6 ओवर में ठोक दिए।इस सीजन में केकेआर ने अभी तक 4 में से तीन मुकाबले जीते हैं और 6 अंकों के साथ टॉप पर है। वहीं दिल्ली को तीन में से दो मैचों में हार मिली है और उसके सिर्फ दो अंक हैं। दिल्ली अंक तालिका में सातवें स्थान पर है।एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ाNew Brezza की खूबसूरत तस्वीरें देखकर तुरंत भाग पड़ेंगे मारुति डीलरशिप की ओर, देखिए, इंटीरियर और एक्सटीरियर******New BrezzaHighlights इस साल की मोस्ट अवेटेड मारुति ब्रेजा लॉन्च हो गई है। कंपनी की इस कॉम्पैक्ट एसयूवी को और धांसू बनाने के लिए कई बड़े बदलाव किए हैं, जिसमें सनरूफ शामिल हैं। हालांकि, मारुति ने अपनी इस कार के नाम से Vitara शब्द हटा दिया है। नई ब्रेजा के इंजन में कोई बदलाव नहीं किया गया है। नई ब्रेजा 1.5 लीटर डुअल जेट के-सीरीज पेट्रोल इंजन के साथ आएगी। नई मारुति ब्रेजा में नई टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है। इसके साथ ही फीचर्स को भी हाई-टेक रखा गया है। एंड्रॉयड ऑटो, एपल कारप्ले के साथ 9.0 इंच का बड़ा स्मार्टप्ले प्रो+ टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम और ऐप सपोर्ट के जरिए 40 से ज्यादा कनेक्टेड फंक्शन मिलेंगे।

Russia Ukraine News : एयरस्पेस बंद होने से हजारों रूसी पर्यटक विदेशों में फंसे, विमान को आधे रास्ते से मास्को लौटना पड़ा

एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ाएग्जिट पोल के बाद सट्टा बाजार में भी भाजपा जीत रही, मिल रही हैं इतनी सीटें******एग्जिट पोल अनुमानों के मुताबिक 2019 लोकसभा चुनाव में केंद्र में प्रधानमंत्री की नेतृत्व वाला राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) स्पष्ट बहुमत हासिल कर सकता है। वहीं एक्जिट पोल के नतीजों की तरह सट्टा बाजार में भी भाजपा की जीत बताई जा रही है, लेकिन वे एक्जिट पोल की तुलना में कुछ कम सीटें दे रहे हैं।सात चरणों में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में कई शहरों के सट्टा बाजार भाजपा को 238 से 245 सीटें दे रहे हैं। राजस्थान में सट्टेबाज भाजपा को 242-245 सीटें दे रहे हैं, जबकि दिल्ली के सट्टा बाजार में यह संख्या 238-241 है। करीब-करीब यही आंकड़ा मुंबई का भी है।वर्ष 2014 के चुनाव में भाजपा ने 282 सीटें जीती थी, जबकि अन्य सहयोगी दलों के साथ राजग की कुल 336 सीटें थीं। ज्यादातर एक्जिट पोल में भाजपा को अकेले बहुमत के करीब दिखाया गया है, वहीं सट्टा बाजार में यह आंकड़ा कुछ कम है। लेकिन राजग को वे पूर्ण बहुमत दे रहे हैं।इंडिया टीवी-सीएनएक्स के एक्जिट पोल में भाजपा को 251 सीटें मिलने का अनुमान है जो कि लोकसभा में बहुमत के लिए पर्याप्त 272 सीटों के आंकड़े से 21 कम है। यह सट्टा बाजार के आकलन के करीब है।सट्टा बाजार का मानना है कि कांग्रेस 75-82 सीटें जीत सकती है। कई एक्जिट पोल के नतीजे बताते हैं कि राजग को 312, संप्रग को 110 और अन्य को 98 सीटें मिल सकती हैं।एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ाHijab Controversy : कर्नाटक हाईकोर्ट आज सुनाएगा फैसला, बेंगलुरु में धारा 144 लागू, स्कूल-कॉलेज बंद******Highlights हिजाब मामले में सुनवाई पूरी कर चुकी कर्नाटक हाईकोर्ट आज अपना फैसला सुना सकता है। वहीं राज्य सरकार ने संवेदनशील इलाकों में स्कूल-कॉलेज बंद रखने का फैसला किया है। बेंगलुरु में 21 मार्च तक धारा 144 लागू कर दिया गया है। स्कूल और कॉलेज भी बंद रहेंगे। उडुपी के एक प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज की छात्राओं के एक समूह ने हिजाब पहनकर क्लास करने की मांग की थी। इसके बाद कुछ हिंदू स्टूडेंट भगवा गमछा पहनकर कॉलेज पहुंच गए थे। धीरे-धीरे यह मामला कर्नाटक के कई जिलों में फैल गया। जबकि राज्य सरकार ड्रेस से जुड़े नियमों पर अड़ी रही।उडुपी जिले से याचिकाकर्ता लड़कियों की ओर से पेश होने वाले वकीलों के अनुसार हिजाब मामले से जुड़े मामले को मंगलवार के लिए सूचीबद्ध किया गया है तथा अदालत पूर्वाह्न साढ़े दस बजे से फैसले का क्रियान्यवन वाला हिस्सा सुना सकती है। हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस ऋतुराज अवस्थी, जस्टिस कृष्ण एस दीक्षित एवं जस्टिस जे एम काजी की पूर्ण पीठ उडुपी की लड़कियों की याचिका पर गठित की गयी है।धार्मिक आस्था का हिस्सा बतायाइन लड़कियों ने अनुरोध किया था कि उन्हें कक्षाओं में स्कूली वर्दी के साथ-साथ हिजाब पहनने की अनुमति दी जाए क्योंकि यह उनकी धार्मिक आस्था का हिस्सा है। एक जनवरी को उडुपी के एक महाविद्यालय की छह लड़कियों ने कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया (सीएफआई) द्वारा आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में हिस्सा लिया था। इसका आयोजन कॉलेज प्रशासन द्वारा इन लड़कियों को हिजाब में कक्षाओं में जाने से रोके जाने के विरूद्ध किया गया था।बेंगलुरु में धारा 144 लागूहिजाब मामले पर कर्नाटक हाईकोर्ट के फैसले से पहले, बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त कमल पंत ने सोमवार को निषेधाज्ञा जारी करते हुए 21 मार्च तक किसी भी सार्वजनिक स्थान पर किसी भी तरह के समारोहों, प्रदर्शनों और सभाओं पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह प्रतिबंध शहर में 15 मार्च से 21 मार्च के बीच 7 दिनों के लिए लगाया गया है।चूंकि इस मुद्दे में स्कूलों और कॉलेजों में वर्दी और उनके लागू किए जाने के संबंध में नियम शामिल हैं, इसलिए निर्णय सुनाए जाने के बाद विभिन्न प्रकार की प्रतिक्रियाओं से इनकार नहीं किया जा सकता है।पुलिस आयुक्त ने अपने आदेश में कहा कि शहर में सार्वजनिक व्यवस्था बनाए रखने के लिए निषेधाज्ञा जारी करना उचित है।इनपुट-भाषाएयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ाAaj Ka Panchang 14 June 2022: जानिए मंगलवार का पंचांग, राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय******आज ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा और मंगलवार का दिन है। पूर्णिमा तिथि आज शाम 5 बजकर 22 मिनट तक रहेगी। आज सुबह 9 बजकर 40 मिनट तक साध्य योग रहेगा। उसके बाद शुभ योग लग जायेगा, जो अगले दिन सुबह 5 बजकर 28 मिनट तक रहेगा। साथ ही आज शाम 6 बजकर 32 मिनट तक ज्येष्ठा नक्षत्र रहेगा। इसके अलावा आज ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा है। आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए मंगलवार का पंचांग,राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय।

Russia Ukraine News : एयरस्पेस बंद होने से हजारों रूसी पर्यटक विदेशों में फंसे, विमान को आधे रास्ते से मास्को लौटना पड़ा

एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ाWest Bengal News: छात्र नेता के मौत मामले में चार्जशीट दाखिल, पुलिस ने नहीं लगाई हत्या की धारा******Highlights छात्र नेता अनीस खान की रहस्यमय स्थिति में हुई मौत के करीब 4.5 महीने के बाद पश्चिम बंगाल पुलिस की SIT टीम ने 5 पुलिसकर्मियों को नामजद करते हुए सोमवार को आरोप पत्र दाखिल किया। अधिकारी ने बताया कि कोलकाता के समीप उलूबेरिया की एक अदालत में आरोप पत्र दाखिल किया गया जिसमें हत्या की धारा नहीं जोड़ी गई है। उन्होंने कहा, "आरोप पत्र में आमटा थाने के प्रभारी समेत 5 पुलिसकर्मियों के नाम हैं । सभी आरोपियों को धारा 304, 341, 342, 452 और 120बी के तहत आरोपित किया गया है।"इस बीच, हत्या की धारा नहीं लगाए जाने से नाखुश छात्र नेता के पिता सलेम खान ने कहा कि वह कलकत्ता हाईकोर्ट की तरफ रुख करेंगे। सलेम खान ने आरोप लगाया कि 19 फरवरी को 4 व्यक्तियों, जिनमें एक पुलिसकर्मी था, ने उनके बेटे को उनके मकान की तीसरी मंजिल से फेंक दिया था। पश्चिम बंगाल की ममता सरकार ने इस मामले की जांच के लिए SIT बनाने का आदेश दिया था।पश्चिम बंगाल (West Bengal) में छात्र नेता अनीस के साथ हावड़ा स्थित घर पर जमकर मारपीट की गई थी और मकान की तीसरी मंजिल से नीचे फेंक दिया गया था। राजनीतिक पार्टियांइसके पीछे सियासीसाजिश का आरोप लगारहीहैं। घटना को लेकर पश्चिम बंगाल में जमकर बवाल हुआ था। कई जगह प्रदर्शन हुए थे और चक्का जाम भी किया गया था। कांग्रेस, BJP और CPM ने इस घटना के लिएTMC को जिम्मेदार ठहरायाथा। उनका आरोप था कि ये मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के इशारे परहत्याकी गई है।बता दें, 28 साल के अनीस खान छात्र राजनीति में काफी सक्रिय थे। उन्होंने हावड़ा की आलिया यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की थी। अनीस खान फिलहाल कल्याणी यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म की पढ़ाई कर रहे थे। नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ हुए आंदोलनों में उन्होंने सक्रिय भूमिका निभाई थी। आलिया यूनिवर्सिटी में पिछले दिनों चल रहे छात्रों के धरना प्रदर्शन में भी अनीस ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था।एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ाRajat Sharma’s Blog: चार धाम यात्रा पर जा रहे श्रद्धालु सतर्कता बरतें******उत्तराखंड में चार धाम यात्रा के लिए भक्तों की भारी भीड़ उमड़ रही है। पिछले 8 दिनों से केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री मंदिरों के रास्तों पर गाड़ियों की कई किलोमीटर लंबी लाइनें देखने को मिल रही हैं। इसकी वजह से श्रद्धालुओं को टेंट, बिजली, भोजन, पानी और मेडिकल सहायता जैसी बुनियादी सुविधाएं भी मुश्किल से मिल रही हैं।3 मई (अक्षय तृतीया) को भक्तों के लिए गंगोत्री और यमुनोत्री मंदिरों के कपाट खुलने के साथ ही चार धाम यात्रा की शुरुआत हो गई थी। केदारनाथ धाम के कपाट 6 मई को खोले गए। इसके बाद 8 मई को बद्रीनाथ धाम के कपाट खोले गए। गंगोत्री में रोजाना 7,000, यमुनोत्री में 4,000, केदारनाथ में 12,000 और बद्रीनाथ में 15,000 तीर्थयात्रियों के लायक इंतजाम हैं। कुल मिलाकर 4 धाम यात्रा के लिए रोजाना 38,000 तीर्थयात्रियों की इजाजत है। इन चारों तीर्थस्थलों में तीर्थयात्रियों के लिए सीमित आवास उपलब्ध होने की वजह से ऐसा किया गया है।2019 के बाद यह पहली बार है जब बिना किसी कोविड पाबंदी के यात्रा की इजाजत दी गई है, और यही वजह है कि इस साल तीर्थयात्रियों की संख्या में भारी वृद्धि दर्ज की गई है। इस साल चार धाम यात्रा के लिए एक लाख से भी ज्यादा तीर्थयात्रियों ने रजिस्ट्रेशन करवाया है। उत्तराखंड पर्यटन विभाग ने सभी तीर्थयात्रियों की सुरक्षा और उनके हितों का ध्यान रखते हुए रजिस्ट्रेशन अनिवार्य कर दिया है। लेकिन जमीनी हालात की बात की जाए तो 1.5 लाख तीर्थयात्री पहले ही पहुंच चुके हैं जिनमें से अधिकांश बिना रजिस्ट्रेशन के आए हैं।सोमवार की रात अपने प्राइम टाइम शो ‘आज की बात’ में हमने दिखाया था कि किस तरह तीर्थयात्री एक तरफ गहरी खाईं और दूसरी तरफ ऊंची चट्टानों के बीच मुश्किल पहाड़ी रास्तों पर आगे बढ़ रहे हैं। कुछ मंजर तो दिल दहला देने वाले हैं। मैं इस साल चार धाम यात्रा करने की प्लानिंग करने वाले सभी तीर्थयात्रियों को बेहद सतर्क रहने की सलाह दूंगा।पिछले 8 दिनों में यात्रा पर आए 20 तीर्थयात्रियों की मौत हो चुकी है। इनमें से ज्यादातर तीर्थयात्रियों की मौत ज्यादा ऊंचाई पर यात्रा करने से होने वाली वाली हृदय संबंधी समस्याओं के कारण हुई है। कोरोना काल से पहले चार धाम यात्रा पर आने वाले यात्रियों से फिटनेस सर्टिफिकेट मांगा जाता था, लेकिन इस बार सरकार ने यह नियम खत्म कर दिया है। सबसे ज्यादा मौतें यमुनोत्री में हुई हैं।उत्तराखंड सरकार की स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ शैलजा भट्ट ने तीर्थयात्रियों से अपील की है कि डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, सांस लेने और हृदय संबंधी समस्याओं पीड़ित तीर्थयात्री चार धाम यात्रा से परहेज करें। स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों के कारण सोमवार को 4 और तीर्थयात्रियों की मौत हो गई जिससे मरने वालों की संख्या बढ़कर 20 हो गई है। जान गंवाने वाले तीर्थयात्रियों में ज्यादातर महाराष्ट्र, कर्नाटक और उत्तर प्रदेश के थे।भीड़ इतनी ज्यादा है कि कई तीर्थयात्रियों को टेंट तक नसीब नहीं हो रहा है और उन्हें खुले में रात बितानी पड़ रही है। डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ की भारी कमी है। हजारों तीर्थयात्रियों की भारी भीड़ में बीमार और बुजुर्ग भक्तों को लादकर चल रहे खच्चरों की लाइन लगी हुई है।इनमें से कई तीर्थयात्री तो आवास और चिकित्सा सहायता की कमी के बावजूद अपनी अटूट श्रद्धा की वजह से मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। केदारनाथ धाम से 2 किलोमीटर दूर तक पूरा रास्ता तीर्थयात्रियों की वजह से जाम है। इसके पीछे भी कई किलोमीटर तक जाम की स्थिति है। तस्वीरों में नजर आ रहा है कि ज्यादा भीड़ होने की वजह से तीर्थयात्री चल भी नहीं पा रहे हैं, बल्कि रेंग रहे हैं। केदारनाथ धाम तक पहुंचने के लिए 16 किलोमीटर की पैदल यात्रा करनी पड़ती है। गौरी कुंड से केदारनाथ धाम तक पूरे रास्ते में भीड़भाड़ रहती है। श्रद्धालुओं की इस भीड़ में बुजुर्ग भी हैं और कुछ ऐसे लोग भी हैं, जो अपने बच्चों को गोदी में उठाकर जा रहे हैं।भगवान न करें लेकिन इन हालत में अगर मौसम खराब हो जाए, बारिश या लैंडस्लाइड हो जाए तो सोचिए तीर्थयात्री कितनी बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं। इस समय इस रास्ते पर रोजाना 25 से 30,000 श्रद्धालुओं की भीड़ आ रही है। राज्य सरकार के अधिकारियों के मुताबिक, केदारनाथ मंदिर में रोजाना केवल 12,000 तीर्थयात्रियों के लायक ही इंतजाम हैं, लेकिन 6 मई को मंदिर के कपाट खुलने के बाद एक ही दिन में 30,000 भक्तों ने दर्शन किए, और फिर 7 एवं 8 मई को भी यह सिलसिला जारी रहा। बाबा केदारनाथ के दर्शन के लिए हजारों तीर्थयात्री रास्तों पर 24 घंटे से भी ज्यादा समय तक इंतजार कर रहे हैं।तीर्थयात्रियों की भारी भीड़ की वजह से होटल के कमरों की मांग बढ़ गई है। होटल मालिकों ने अपने कमरों के दाम बढ़ा दिए हैं। कुछ तीर्थयात्रियों ने तो होटल में एक रात बिताने के लिए 10 से 12 हजार रुपये तक चुकाए। उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने भी माना कि तीर्थयात्रियों की भीड़ को नियंत्रित करने में पुलिस को मुश्किल हो रही है। में 3 हेलीपैड हैं, जहां से 9 कंपनियों के हेलीकॉप्टर एक दिन में 130 उड़ानें भरते हैं। हेलीकॉप्टर का किराया 7000-8500 रुपये प्रति व्यक्ति के बीच है और सारे के सारे हेलीकॉप्टर जून तक बुक हैं। मैं समझ सकता हूं कि तीर्थयात्री यात्रा के लिए मई और जून के महीनों की गर्मी की छुट्टियां इसलिए पसंद कर रहे हैं क्योंकि मॉनसून की शुरुआत के बाद खराब मौसम के कारण जुलाई से सितंबर तक इन तीर्थस्थलों तक पहुंचना खासा मुश्किल हो सकता है। इस दौरान यहां लैंडस्लाइड और सड़क के ब्लॉक होने का खतरा बना रहता है।हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं के कारों में आने से हालात और खराब हो गए हैं। के रूट पर सड़क के दोनों ओर गाड़ियां खड़ी दिख रही हैं, जिससे जाम की स्थिति पैदा हो गई है। टूरिस्ट बसें बड़ी संख्या में पहुंचने लगी हैं। बद्रीनाथ-केदारनाथ श्राइन कमेटी के CEO का कहना है कि मई के मध्य से जून के अंत तक तीर्थयात्रियों की भीड़ बढ़ने की उम्मीद है। यह एक चिंता की बात है क्योंकि क्योंकि स्वास्थ्य संबंधी कारणों से अब तक 20 तीर्थयात्रियों की मौत हो चुकी है। अधिकतर मौतें 10-12,000 फीट की ऊंचाई पर ज्यादा ऊंचाई और कम ऑक्सीजन की वजह से हुए कार्डियक अरेस्ट के कारण हुई हैं।हिन्दुओं के लिए चार धाम की यात्रा का बहुत महत्व है। हर हिन्दू जीवन में कम से कम एक बार चार धाम की यात्रा करना चाहता है। यह आस्था का मामला है और आस्था में शक्ति होती है, जो हर मुसीबत से मुकाबला करने की, जूझने की ताकत देती है। लेकिन परेशानी को भी समझना होगा।अगर किसी तीर्थस्थल पर रोजाना 12 से 15 हजार भक्तों के दर्शन करने, रुकने, ठहरने का इंतजाम है और 30,000 से ज्यादा तीर्थयात्री एक साथ पहुंच जाएं तो क्या होगा? इससे तो भक्तों को मुसीबत ही होगी, और भगवान कभी नहीं चाहते कि उनके भक्तों को तकलीफ हो। इसलिए मेरा तो कहना है कि जल्दबाजी करने की जरूरत नहीं है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा उपलब्ध है, रजिस्ट्रेशन करवाइए, अपनी बारी का इंतजार कीजिए और आराम से भगवान के दर्शन कीजिए।चार धाम की यात्रा तो सैकड़ों सालों से होती आई है, लेकिन अब भीड़ ज्यादा होने लगी है। अच्छी सड़कें बन गई हैं, रूकने ठहरने के बेहतर इंतजाम है। और सबसे बड़ी बात यह है कि बद्रीनाथ और केदारनाथ का विकास इस तरह से हुआ है कि लोग एक बार वहां घूमने के लिए भी जाना चाहते हैं।पिछले साल ही प्रधानमंत्री मोदी ने आदि शंकराचार्य के समाधिस्थल का उद्घाटन किया था, और केदारनाथ धाम के पास बनी आदि शंकराचार्य की विशाल प्रतिमा का अनावरण किया था। यह स्थान भी दिव्य है, भव्य है। अब रास्ते में बहुत सारी टनल्स बन गई हैं। 50 किलोमीटर का सफर तो टिहरी झील के किनारे-किनारे होता है। जबरदस्त नजारा है, इसलिए वहां जाने वाले लोगों की संख्या बढ़ी है। आप भी जरूर जाइए, लेकिन पहले रजिस्ट्रेशन कराइए।

Russia Ukraine News : एयरस्पेस बंद होने से हजारों रूसी पर्यटक विदेशों में फंसे, विमान को आधे रास्ते से मास्को लौटना पड़ा

एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ापीएम मोदी को जान से मारने की साजिश का खुलासा, धमकी भरे ईमेल में 20 किलो RDX...******Highlightsप्रधानमंत्री मोदी को जान से मारने की धमकी देने का अजीबो-गरीब मामला सामने आया है। खुफिया सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक, नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी को धमकी भरा ई-मेल मिला है। ईमेल करने वाले ने कहा कि वह आत्महत्या कर रहा है जिससे इस षड्यंत्र का पर्दाफाश ना हो सके। को मारने के लिए 20 स्लीपर सेल तैयार हैं। इनके पास कुल 20 किलो आरडीएक्स rdx मौजूद है। खुफिया सूत्रों के मुताबिक, पीएम मोदी को 20 किलो RDX से मारने की साजिश स्लीपर सेल के जरिए रची जा रही थी। सुरक्षा एजेंसियां जानकारी जुटा रही हैं कि पीएम मोदी को मारने की साजिश के संबंध में जो ई-मेल मिला है उसका स्रोत क्या है? एजेंसियों का कहना है कि अपने नापाक मकसद को अंजाम देने के लिए आतंकी संगठनों ने 20 स्लीपर सेल का गठन किया है।ईमेल के मुताबिक हमले की योजना तैयार हो चुकी है। मेल में कहा गया है कि मेल लिखने वाले के अनेक आतंकियों से भी संबंध है। नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी ने धमकी भरा ई-मेल खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों को भेज दिया है। जिस मेल आईडी से मेल आया है उसकी गहन जांच जारी है। ईमेल नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी की मुंबई शाखा को आया है।

एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ादिल्ली सहित यूपी और हरियाणा के 20 शहरों पर अगले 2 घंटे पड़ सकते हैं भारी, जोरदार बरसात की चेतावनी******नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में रविवार तड़के भारी बरसात हुई है और अब मौसम विभाग ने एक बार फिर सेभारी बरसात की चेतावनी जारी की है। मौसम विभागकी ताजा चेतावनी के मुताबिक अगले 2 घंटे यानि रविवार को 10 बजे के बाद दिल्ली सहित उत्तर प्रदेश और हरियाणा के कई शहरों में भारी बरसात हो सकती है। मौसम विभाग ने दिल्ली और उत्तर प्रदेश तथा हरियाणा के शहरों के लिए भारी बरसात के साथ तेज हवाएं और गर्जना की चेतावनी भी जारी की है। मौसमविभाग के मुताबिक हवा की गति 20-40 किलोमीटर प्रतिघंटा हो सकती है।मौसम विभाग ने दिल्ली के अलावा उत्तर प्रदेश के जिन शहरों के लिए चेतावनी जारी की है वेमेरठ, हापुड़, शामली, बदायूं, एटा, नोएडा,मुजफ्फरनगर और बिजनौर हैं। इन शहरों और इनसे सटे कुछ क्षेत्रों में भारी बरसात के आसार हैं।मौसम विभाग के मुताबिक हरियाणा के 12 जिलों में कुछेक जगहों पर अगले 2 घंटे के दौरान भारी से बहुत भारी बरसात हो सकती है। हरियाणा में कैथल, रोहतक, गोहाना, नरवाना, पानीपत, करनाल, झज्जर, महेंद्रगढ़, कोसली, रेवाड़ी, भिवाड़ी और नारनौल में कुछ जगहों पर बहुत भारी बरसात हो सकती है और तेज हवाओं के साथ गर्जना भी हो सकती है।मौसम विभाग नेकुल मिलाकर 20 शहरोंमें अगले 2 घंटे के दौरान भारी से बहुत भारी बरसात की चेतावनी का अनुमान जारी किया है। इन सभी जगहो पर अगले 2 घंटे के दौरान सावधान रहने की जरूरत है।एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ा15 साल बाद आदित्य नारायण ने छोड़ी होस्टिंग, इमोशनल पोस्ट लिखकर कहा अलविदा******Highlightsहाल ही में आदित्य नारायण पिता बने हैं। अब उन्होंने एक बड़ा फैसला किया है। सिंगर आदित्य नारायण ने घोषणा की है कि वो अब सिंगिंग रियलिटी शो ‘सा रे गा मा पा’ की होस्टिंग छोड़ रहे हैं। आदित्य नारायण ने अपने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट के साथ इसकी जानकारी दी। आदित्य ने ‘सारेगामापा’ की पूरी टीम को टैग किया और सभी को धन्यवाद दिया।उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर शो के स्टेज से कई तस्वीरें शेयर की हैं। आदित्य ने लिखा- ‘भारी मन के साथ मैं एक ऐसे शो की होस्टिंग से विदा लेता हूं जिसने मुझे एक अडल्ट के रूप में पहचान दी, सारेगामापा। 18 साल के टीनेजर से लेकर एक युवा तक, एक खूबसूरत पत्नी और बेटी के साथ। 15 साल, 9 सीजन, 350 एपिसोड, समय वाकई उड़ता है।‘ के इस पोस्ट ने सभी सेलिब्रिटीज को हैरान कर दिया है। कई लोग कमेंट्स करके उन्हें शो छोड़ने की वजह पूछ रहे हैं।आदित्य नारायण ने 2007 में होस्ट के तौर पर ज़ी टीवी के शो सारेगामापा के साथ अपना डेब्यू किया। इसी के साथ सारेगामापा और भारतीय टेलीविजन के साथ उनका सफर शुरू हुआ। उन्होंने सारेगामापा के साथ ही राईज़िंग स्टार और इंडियन आइडल के भी कुछ सीज़न होस्ट किए। हाल ही में आदित्य नारायण एक बेटी के पिता बने हैं। वो हमेशा से एक बेटी चाहते थे और ये बात उन्होंने खुद एक इंटरव्यू में बताई थी।

एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ाशेयर बाजार में तेज गिरावट, सेंसेक्स 426 अंक लुढ़का, निफ्टी 124 अंक टूटकर खुला******sensex वैश्विक बाजारों से कमजोरी के संकेतों के बीच विदेशी निधियों व खुदरा निवेशकों की चौतरफा बिकवाली से बुधवार को भारतीय शेयर बाजार में तेज गिरावट देखने को मिल रही है। सेंसेक्स खुलते ही 426 अंक लुढ़कर 56,890 अंक पर कारोबार कर रहा है। वहीं, निफ्टी 124 अंक टूटकर 17,078 अंक पर कारोबार कर रहा है। रिलायंस, एचसीएल, एसबीआई समेत सभी हेवीवेट शेयरों में बिकवाली देखने को मिल रही है।सेंसेक्स में शामिल सिर्फ तीन शेयर हरे निशान में कारोबार कर रहे हैं। जिन कंपनियों के शेयरों में तेजी हैं वे SUNPHARMA, NTPC और HINDUNILVR है। इसके अलावा एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी, आईटीसी, विप्रो, मारुति समेत सभी बड़ी कंपनियों के शेयरों में गिरावट देखने को मिल रही है।बुधवार को शुरुआती कारोबार में सिर्फ दो सेक्टोरियल इंडेक्स मीडिया और मेटल में तेजी देखने को मिल रही है। बाकी सभी सेक्टोरियल इंडेक्स गिरावट के साथ कारोबार कर रहे हैं। आईटी इंडेक्स में 1.04 फीसदी की गिरावट देखी जा रही है और ऑटो शेयर 0.88 फीसदी की गिरावट के साथा कारोबार कर रहे हैं। बैंकिंग शेयर लाल निशान में हैं और फाइनेंशियल सर्विसेज में भी करीब एक फीसदी की कमजोरी देखी जा रही है।शेयर बाजार में दो दिन की गिरावट के बाद मंगलवार को जोरदार तेजी दर्ज की गई थी। सेंसेक्स करीब 777 अंक उछलकर बंद हुआ। वैश्विक बाजारों में तेजी के बीच ऊर्जा, वाहन और उपभोग से जुड़े शेयरों में लिवाली से बाजार को तेजी लौटी थी।एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ाकानपुर में मदरसे के 13 छात्र कोविड-19 से संक्रमित मिले, जिले में अब तक 107 लोग पॉजिटिव****** उत्तर प्रदेश के सबसे अधिक आबादी वाले जिले कानपुर में कोरोना संकट दिनों दिन गहराता जा रहा है। यहां पर एक मदरसे के 13 छात्र कोरोना वायरस से संक्रमित मिले हैं। इन नए संक्रमितों के तार भी तबलीगी जमात के लोगों के साथ जुड़ रहे हैं। बताया जा रहा है कि ये छात्र कोरोना वायरस से संक्रमित तबलीगी जमात के लोगों के साथ कथित तौर पर संपर्क में आए थे। इसके साथ कानपुर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढकर 107 हो गये हैं।मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.अशोक शुक्ला ने शुक्रवार को संवाददाताओं को बताया कि बृहस्पतिवार को 50 नमूनों की जांच की गई जिनमें से 13 संक्रमित निकले। ये नमूने उन लोगों के हैं जो कुली बाजार क्षेत्र में रहते हैं, यह हॉटस्पॉट क्षेत्र है। यहीं के 30 लोग पहले संक्रमित पाये गये थे। शुक्ला ने बताया कि इन मरीजों को पृथक कर दिया गया था। अब उन्हें सरकारी अस्पतालों के कोविड—19 पृथक वार्डों में भर्ती कराया जा रहा है ।उन्होंने बताया कि सभी मरीजों के संपर्क के कौन कौन अन्य लोग आये, उनके बारे में पता लगाया जा रहा है । कानपुर में कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में आकर अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है जबकि सात लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं ।

एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ारिजर्व बैंक ने नियम के उल्लंघन पर चलाया चाबुक, 4 सहकारी बैंकों पर जुर्माना लगाया******RBIHighlightsमुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक ने नियामकीय अनुपालन में खामियों को लेकर चार सहकारी बैंकों पर कुल चार लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। केंद्रीय बैंक की ओर से जारी चार अलग-अलग बयानों के अनुसार, यह जुर्माना अनुपालन की खामियों के लिए लगाया गया है। इसका मकसद बैंकों द्वारा अपने ग्राहकों के साथ किए गए लेनदेन या करार की वैधता पर सवाल खड़ा करना नहीं है।रिजर्व बैंक ने महाराष्ट्र के अंदरसुल अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक पर डेढ़ लाख रुपये तथा महाराष्ट्र के अहमदपुर स्थित महेश अर्बन कोऑपरेटिव बैंक पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। महाराष्ट्र के नांदेड़ स्थि नांदेड़ मर्चेंट कोऑपरेटिव बैंक पर 50,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया है। इसके अलावा मध्य प्रदेश के शहडोल में जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है।भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने सोमवार को कहा कि बीएनपी परिबा इंडिया फाइनेंस, स्विस लीजिंग एंड फाइनेंस और अवेलेबल फाइनेंस समेत 22 गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) ने अपने पंजीकरण प्रमाणपत्र ‘सरेंडर’ कर दिए हैं। इसके साथ ही केंद्रीय बैंक ने इन एनबीएफसी पंजीकरण प्रमाणपत्र (सीओआर) रद्द कर दिया है। आरबीआई ने एक बयान में कहा कि सीओआर रद्द होने से ये 22 संस्थाएं गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (एनबीएफसी) के रूप में कारोबार नहीं कर सकेंगी।एयरस्पेसबंदहोनेसेहजारोंरूसीपर्यटकविदेशोंमेंफंसेविमानकोआधेरास्तेसेमास्कोलौटनापड़ालद्दाख में 14000 फीट की ऊंचाई पर 50 हजार जवान! जानें, स्ट्राइक कोर के 'पर्वत प्रहार' की खास बातें******सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने आज LAC पर पर्वत प्रहार (PARVAT PRAHAR) अभ्यास देखा और उन्हें ग्राउंड पर कमांडरों द्वारा ऑपरेशन तैयारियों के बारे में जानकारी दी गई। उन्होंने अधिकारियों और सैनिकों के साथ बातचीत की और उनकी दृढ़ता और पेशेवर मानकों के लिए उनकी सराहना की। ये एक्साइज़ भारतीय सेना की वन स्ट्राइक कोर ने की है जिसके कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल गजेंद्र जोशी है। स्ट्राइक कोर का मतलब है कि अगर कहीं पर भी चीन या पाकिस्तान हरकत करता है तो सबसे पहले ये अंदर घुसके उसका सफ़ाया करेंगे। इस दौरान स्ट्राइक कोर से लेकर माउंटेन स्ट्राइक कोर की लद्दाख वाली पर्वत प्रहार की तैयारी देखने को मिली। भारतीय सेना के चीफ़ ने आधुनिक हथियारों से लेकर गोगरा तक की हलचल देखी। इंडिया TV को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक़ ये 20 दिन चलने वाली पर्वत प्रहार नाम की भारतीय सेना की एक्सरसाइज है। इसका उद्देश्य है भारतीय सेना की स्ट्राइक कोर को माउंटेन स्ट्राइक कोर के तौर पर कन्वर्ट करना।भारतीय सेना ने सोचे समझे तरीक़े से रणनीतिक तौर पर राजस्थान और आस-पास के इलाकों में जो फौज के पूरे दस्ते थे उनको पहली बटालियन ब्रिगेड और फिर डिविज़न लेवल पर लद्दाख के इलाकों मे तैनात किया और फिर सो मोरी से लेकर ऊंची-ऊंची पहाड़ियों पर इनकी तैनाती की।इसमें भारतीय सेना के स्ट्राइक कोर के जवान पूरी तरह से शामिल थे और कुल मिलाकर 56 हज़ार जवानों की ये एक्सरसाइज थी। इसमें भारतीय सेना के स्ट्राइक कोर के अलावा चौधरी कोर के तीन डिवीज़न के जवान भी शामिल थे। इस अभ्यास में सो मोरी से लेकर पेंगोंग सो तक की नाले और दरियाओं के साथ-साथ जो नाली हैं उनके ऊपर जो ब्रिज बने हैं उनके ऊपर भी एक्सरसाइज की गई। इंडिया TV को इस बात की भी जानकारी मिली है कि भारतीय सेना के चीफ़ जनरल मनोज पांडे और नॉर्दन आर्मी के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल द्विवेदी को इस पूरी एक्सरसाइज के बारे में जानकारी दी गई। यहां तक कि चीन के ऑर्डर ऑफ़ बैटल को समझाते हुए बताया गया कि रणनीतिक तौर पर किस तरह से भारतीय सेना की अचूक तैयारी है।इस समय भारतीय सेना के तकरीबन 50 हज़ार के लगभग सैनिकों की तैनाती लद्दाख के लाइन ऑफ़ एक्चुअल कंट्रोल और उसके आस पास है। ये चीन की चालबाज़ी के बाद पिछले दो सालों से हुआ है। हालांकि चीन-डीसइंगेजमेंट प्रक्रिया के तहत कार्य कर रहा है, लेकिन उसके बावजूद भी उस पर विश्वास करना बेहद मुश्किल है। इसलिए सोचे समझे तरीक़े से भारतीय सेना ने अपने स्ट्राइक कोर और माउंटेन स्ट्राइक कोर के जवानों को लद्दाख़ और उसके आस पास के इलाकों में पूरी आधुनिक साजो सामान के साथ तैयारी करवाई है। चीन अगर अपने रूटों का निर्माण कर रहा है तो भारत ने भी अपने रोड और अपने हथियारों को आधुनिक बनाया है। इसीलिए इस वक्त वहां पर आधुनिक तोपों से लेकर और भी तैनाती की गई है।कुल मिलाकर 50000 सेना के अधिकारी और जवानों सहित सभी 14000 फीट से अधिक ऊंचाई पर एक्सरसाइज के लिए मौजूद थे। ये पहली बार है जब लद्दाख में इतना बड़ा सैन्य अभ्यास हुआ है। भारतीय सेना के 1 स्ट्राइक कोर का अभ्यास जो माउंटेन स्ट्राइक कोर के रूप में काम करता है।

हाल का ध्यान

लिंक