वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > चोंगज़ुओ > मूलपाठ

Diabetes: आंवला और नीम की पत्तियों से कैसे करें ब्लड शुगर कंट्रोल, जानिए तरीका

2022-10-01 00:31:30 चोंगज़ुओ

आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकाBaikunthpur Election Result: RJD ने BJP से छीनी सीट, प्रेम शंकर प्रसाद 11 हजार वोट से जीते******पटना। बैकुंठपुर सीट पर राष्ट्रीय जनता दल ने जीत हासिल की है। पिछले चुनाव में ये सीट भारतीय जनता पार्टी के पास थी। अंतिम परिणामों के मुताबिक यहां से राष्ट्रीय जनत दल के प्रेम शंकर प्रसाद ने भारतीय जनता पार्टी के मिथिलेश तिवारी को 11113 वोट से हराया है। प्रेम शंकर प्रसाद को 67807 वोट मिले और मिथिलेश तिवारी को 56694 वोट मिले। वहीं निर्दलीय उम्मीद वार मनजीत कुमार सिंह को 43354 वोट मिले। पिछली बार मिथिलेश तिवारी यहां से 14 हजार मतों से जीते थे।2015 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के साथ लोकजनशक्ति पार्टी, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा तथा राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी के बीच गठबंधन था जबकि दूसरी तरफ जनता दल यूनाइटेड, राष्ट्रीय जनता दल और कांग्रेस का गठबंधन था। लेकिन इस बार समीकरण बदल गए हैं और एक तरफ भाजपा तथा जनता दाल यूनाइटेड का गठबंधन है और दूसरी तरफ कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल का। लोक जनशक्ति पार्टी ने अकेले चुनाव लड़ा है।

आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकाकॉरपोरेट जासूसी : 6 आरोपियों को जमानत****** कॉरपोरेट जासूसी मामले में राष्ट्रीय राजधानी की एक अदालत ने मंगलवार को पूर्व पत्रकार शांतनु सैकिया सहित छह आरोपियों को जमानत दे दी। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश जी.एस.सैनी ने छह आरोपियों को जमानत देते हुए प्रत्येक को 50 हजार रुपये का निजी मुचलका तथा इतनी ही राशि की जमानत राशि देने के निर्देश दिए।जमानत पाने वाले छह आरोपियों में एक वेब पोर्टल चलाने वाले पूर्व पत्रकार शांतनु सैकिया, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के कॉरपोरेट मामलों के प्रबंधक शैलेश सक्सेना, एस्सार के उप महाप्रबंधक विनय कुमार, रिलायंस एडीएजी के उप महाप्रबंधक ऋषि आनंद, केर्न्‍स इंडिया के महाप्रबंधक के.के.नायक तथा रक्षा मंत्रालय के कर्मचारी वीरेंद्र कुमार शामिल हैं।पिछले सप्ताह अदालत ने जुबिलंट एनर्जी के अधिकारी सुभाष चंद्रा को जमानत दे दी थी।पुलिस ने औपचारिक तौर पर 13 आरोपियों को धोखाधड़ी, जालसाजी, चोरी तथा आपराधिक साजिश से संबंधित विभिन्न धाराओं के तहत आरोपित किया है।मेलबर्न के ऊर्जा परामर्शदाता प्रयास जैन को भी दिल्ली पुलिस ने आरोपित किया है। इस मामले के अन्य आरोपियों में दिल्ली निवासी दो भाई -लालता प्रसाद व राकेश कुमार, गाजियाबाद के राजकुमार चौबे, सरकारी कर्मचारी आशाराम व ईश्वर सिंह शामिल हैं।उल्लेखनीय है कि दिल्ली पुलिस ने बीते 17 फरवरी को विभिन्न मंत्रालयों से गोपनीय दस्तावेजों के लीक होने के मामले में एक प्राथमिकी दर्ज की थी।आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकाप्रतिबंधित संगठन Sikhs for Justice की 40 वेबसाइट्स ब्लॉक, गृह मंत्रालय ने दिया आदेश****** प्रतिबंधित संगठन सिख्स फॉर जस्टिस (एसएफजे) से जुड़ी 40 वेबसाइट पर अलगाववादी गतिविधियों का समर्थन करने के लिए सरकार द्वारा रोक लगा दी गई है। यह जानकारी गृह मंत्रालय ने रविवार को दी। अमेरिका स्थित सिख्स फॉर जस्टिस (एसएफजे) एक खालिस्तान समर्थक समूह है।इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) भारत में साइबर स्पेस की निगरानी करने के लिए नोडल एजेंसी है। पिछले वर्ष गृह मंत्रालय ने एसएफजे को कथित राष्ट्रविरोधी गतिविधियों के लिए प्रतिबंधित कर दिया था। एसएफजे ने अपने अलगाववादी एजेंडे के तहत सिख जनमत संग्रह पर जोर दिया था। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि यह संगठन खालिस्तान के उद्देश्य का खुले तौर पर समर्थन करता है और ऐसा करके भारत की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को चुनौती देता है।

Diabetes: आंवला और नीम की पत्तियों से कैसे करें ब्लड शुगर कंट्रोल, जानिए तरीका

आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकाT20 World Cup 2022 : कैसी होगी विश्व कप के लिए टीम इंडिया, किसे मिलेगी जगह!******Highlightsएशिया कप 2022 के बाद अब टी20 विश्व कप 2022 की तैयारी शुरू हो गई है। हालांकि सभी टीमों को अभी एक से दो सीरीज विश्व कप से पहले खेलनी हैं, लेकिन टीमें आनी शुरू हो गई हैं। भारतीय क्रिकेट फैंस भी उम्मीद लगाए हुए हैं कि टी20 विश्व कप के लिए टीम इंडिया कैसी होगी। एशिया कप में जो भारतीय खिलाड़ी नहीं खेल रहे थे, उन्हें भी विश्व कप की टीम में जगह मिल सकती है, इसकी पूरी संभावना है। इसमें सबसे प्रमुख नाम जसप्रीत बुमराह और हर्षल पटेल हैं, जो अपनी इंजरी से अब पूरी तरह से ठीक हो चुकेे हैं और टीम में फिर से शामिल होने के करीब हैं।इस बीच खबर ये आ रही है कि भारतीय सेलेक्शन कमेटी की आज मीटिंग होनी है। इसके बाद टीम का ऐलान भी आज शाम तक होने की पूरी उम्मीद है। टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार आज शाम तक किसी भी वक्त टीम इंडिया का ऐलान किया जा सकता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि टीम इंडिया के ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा टी20 विश्व कप 2022 को मिस कर सकते हैं, क्योंकि उनकी चोट अभी तक पूरी तरह से ठीक नहीं है। एशिया कप 2022 के दौरान ही वे चोटिल हो गए थे और उसके बाद उनका ऑपरेशन भी किया गया था। हालांकि जसप्रीत बुमराह और हर्षल पटेल अब पूरी तरह से ठीक हैं और वे टीम में शामिल किए जा सकते हैं। पहले इस तरह की खबरें आ रही थीं कि टी20 विश्व कप के लिए 16 सितंबर को टीम का ऐलान किया जाएगा, लेकिन अब शायद सेलेक्टर्स ने तारीख बदल दी है और जल्द टीम के ऐलान के बारे में निर्णय लिया है।टी20 विश्व कप में टीम इंडिया की कप्तानी रोहित शर्मा ही करते हुए नजर आएंगे, इसकी पूरी संभावना है। वहीं केएल राहुल, विराट कोहली, सूर्य कुमार यादव और हार्दिक पांड्या भी टीम में हो सकते हैं। विकेट कीपर के तौर पर वैसे तो ऋषभ पंत का नाम करीब करीब तय माना जा रहा है, लेकिन दिनेश कार्तिक भी अपना दावा पेश कर रहे हैं। वैसे भी इतने बड़े टूर्नामेंट में दो विकेट कीपर तो जाएंगे ही जाएंगे। ऐसे में ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक दोनों का सेलेक्शन किया जा सकता है और तीसरे विकेट कीपर के तौर पर केएल राहुल होंगे। गेंदबाजी की बात की जाए तो जसप्रीत बुमराह, हर्षल पटेल, अर्शदीप सिंह, युजवेंद्र चहल, रवि बिश्नाई और दीपक चाहर टीम में हो सकते हैं। ऑलराउंडर के तौर पर अक्षर पटेल और दीपक हुड्डा नाम सबसे आगे चल रहा है, इन दोनों को या फिर किसी एक तो टीम में जगह मिलनी करीब करीब पक्की है।आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकाWI vs BAN: वेस्टइंडीज का सूपड़ा साफ करने वाले बांग्लादेशी कप्तान ने लिया रिटायरमेंट, वर्ल्ड कप से पहले टीम को बड़ा झटका******Highlights बांग्लादेश ने वेस्टइंडीज को उसी के घर में तीन मैचों की वनडे सीरीज में 3-0 से हराकर क्लीन स्वीप किया है। इस सीरीज में बांग्लादेशी कप्तान तमीम इकबाल को प्लेयर ऑफ द सीरीज भी चुना गया। इस ऐतिहासिक जीत के कुछ ही घंटों बाद तमीम इकबाल ने अपने फेसबुक अकाउंट पर एक ऐसा पोस्ट किया जिससे आगामी टी20 वर्ल्ड कप से पहले बांग्लादेशी क्रिकेट फैंस को बड़ा झटका लगा है। दरअसल तमीम इकबाल ने टी20 इंटरनेशनल से संन्यास लेने की घोषणा की है।तमीम ने अपने फेसबुक प्रोफआइल पर बांग्ला भाषा में एक पोस्ट लिखी। इसी के अंत में उन्होंने इंग्लिश में भी एक लाइन का संदेश लिखा। बांग्लादेश के वनडे कप्तान ने लिखा कि, मुझे आज से टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायर समझा जाए। आप सभी को धन्यवाद। गौरतलब है कि तमीम पिछले साल जुलाई में घुटने की चोट से जूझ रहे थे। इसके बाद काफी समय तक वह क्रिकेट से दूर भी रहे। उन्होंने टी20 विश्व कप 2021 में भी हिस्सा नहीं लिया था।आपको बता दें कि पिछले कुछ समय से तमीम इकबाल और बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा था। हाल ही में वनडे टीम के कप्तान बनाए गए तमीम इकबाल ने बीसीबी को लेकर कहा था कि, टी20 क्रिकेट में उनके फ्यूचर को लेकर बोर्ड उनसे बात नहीं कर रहा है। तमीम ने यह भी आरोप लगाया था कि उन्हें मीडिया में अपना पक्ष रखने का भी मौका नहीं दिया जा रहा है।उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा था कि, 'उन्हें (BCB) मेरी बात सुननी चाहिए, मैंने काफी लंबे समय तक देश के लिए क्रिकेट खेला है तो मैं यह डिजर्व करता हूं। मुझे मीडिया में कुछ और सुनाई देता और बोर्ड उस पर कुछ और कहता है। कभी-कभी बोर्ड ऐसा कुछ कहता है जिसका मैं जवाब भी नहीं दे पाता।' तमीम ने बांग्लादेश के लिए 78 टी20 इंटरनेशनल मुकाबले खेले हैं। जिसमें उनके नाम 1758 रन दर्ज हैं। उन्होंने क्रिकेट के इस फॉर्मेट में एक शतक और 7 अर्धशतक भी लगाए हैं।तमीम इकबाल की कप्तानी में ही बांग्लादेश की टीम ने वेस्टइंडीज को वनडे सीरीज में 3-0 से मात दी। वनडे फॉर्मेट में बांग्लादेश की कैरेबियाई टीम के ऊपर यह लगातार 11वीं जीत है। तमीम ने इस सीरीज में 33, 50 नाबाद और 34 रनों की पारी समेत कुल 117 रन बनाए। उन्हें प्लेयर ऑफ द सीरीज भी चुना गया। इससे पहले टेस्ट सीरीज और टी20 सीरीज दोनों में वेस्टइंडीज ने बांग्लादेश को 2-0 से मात दी थी।आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकाप्रभास की 'बाहुबली 2' को चीन के बॉक्स ऑफिस पर लगा झटका, रजनीकांत-अक्षय कुमार की '2.0' भी हुई फ्लॉप******भारत की दो सबसे बड़ी ब्लॉकबस्टर फिल्में चीन में कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाईं। इसे मेनस्ट्रीम सिनेमा के चीन के बाजार में कदम जमाने के प्रयास में तगड़ा झटका माना जा रहा है। और अभिनीत एस. शंकर की फिल्म '2.0' ने हिंदी, तमिल और तेलुगू संस्करणों में शानदार घरेलू कारोबार किया था। लेकिन, 6 सितंबर को यह फिल्म चीन में रिलीज हुई जो कि पूरी तरह से फ्लॉप रही। इस फिल्म ने चीन के बाजार में अपने पहले सप्ताह में महज 22 करोड़ रुपये का कारोबार किया।'2.0' से पहले मई, 2018 में चीन में रिलीज हुई 'बाहुबली 2 : द कन्क्लूजन' भी यहां के दर्शकों को रास नहीं आई। प्रभास अभिनीत एस.एस. राजामौली की यह फिल्म रिलीज होने के बाद से केवल 52 करोड़ रुपये की कमाई कर पाई। यह फिल्म दर्शकों को थिएटर्स तक खींचने में नाकामयाब रही।व्यापार विशेषज्ञ गिरीश जौहर ने कहा, " जितनी कमाई की अपेक्षा की गई थी उसमें ये नाकाम रहीं। भारत में बेहतरीन प्रदर्शन के बावजूद ये दोनों ही फिल्में यहां असफल रही। चीनी दर्शक खुद को इनकी कहानियों से नहीं जोड़ पाए। दोनों ही फिल्मों की बॉक्स ऑफिस पर अच्छी शुरुआत हुई थी, जिससे साबित होता है कि इन्हें लेकर लोगों में उत्सुकता थी, लेकिन इसके बाद लोगों की इनमें रुची कम हो गई क्योंकि चीन में स्थानीय दर्शक इनकी कहानियों के साथ खुद को कनेक्ट नहीं कर पाए।"बता दें कि हाल ही में 'बाहुबली' एक्टर प्रभास की फिल्म 'साहो' रिलीज हुई थी, जिसे दर्शकों का मिला-जुला रिस्पॉन्स मिला। इसमें श्रद्धा कपूर ने भी अहम भूमिका निभाई है।

Diabetes: आंवला और नीम की पत्तियों से कैसे करें ब्लड शुगर कंट्रोल, जानिए तरीका

आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकावर्ल्ड कप विजेता बांग्लादेश अंडर-19 टीम का स्वदेश लौटने पर हुआ भव्य स्वागत******बांग्लादेश की टीम ने हाल ही में भारत को अंडर 19 वर्ल्ड कप के फाइनल में 3 विकेट से मात देकर खिताब अपने नाम किया था। बांग्लादेश के लिए यह क्रिकेट में पहला ग्लोबल खिताब है। इसी जीत के बाद जब टीम के खिलाड़ी स्वदेश पहुंचे तो उनका भव्य स्वागत हुआ। इस दौरान हजारों प्रशंसक सड़कों और स्टेडियम में ‘हम चैंपियन हैं’ के नारे लगा रहे थे।बांग्लादेश ने रविवार को हुए फाइनल में चार बार के चैंपियन भारत को तीन विकेट से हराकर खिताब जीता। बांग्लादेश के खिलाड़ियों को लेकर आई उड़ान स्थानीय समयानुसार शाम चार बजकर 55 मिनट पर ढाका के मुख्य हवाई अड्डे पर उतरी।इस दौरान अधिकारियों और टीम की जर्सी पहने और झंडा लहरा रहे हजारों प्रशंसकों ने टीम का स्वागत किया। देश के खेल मंत्री जाहिद अहसन और बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष नजमुल हसन भी हवाई अड्डे पर मौजूद थे।खिलाड़ियों को इसके बाद मीरपुर के शेर ए बांग्ला स्टेडियम ले जाया गया जहां लगभग 5000 दर्शक उनके स्वागत के लिए मौजूद थे। विश्व चैंपियन टीम के कप्तान अकबर अली ने इसके बाद केक काटा और आतिशबाजी के साथ कार्यक्रम खत्म हुआ।आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकाSanjay Raut On ED: 'मैं मर भी जाऊं पर आत्मसमर्पण नहीं करूंगा', जानें संजय राउत ने पात्रा चॉल घोटाले मामले में ED की कार्रवाई पर क्या कहा******Highlightsमहाराष्ट्र में शिवसेना नेता संजय राउत की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। पात्रा चॉल भूमि घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) के अधिकारी शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) के आवास पहुंचे हैं। इस बीच संजय राउत का बयान सामने आया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'महाराष्ट्र और शिवसेना लड़ते रहेंगे। झूठी कार्रवाई, झूठे सबूत, मैं शिवसेना नहीं छोड़ूंगा। मैं मर भी जाऊं तो आत्मसमर्पण नहीं करूंगा। मेरा किसी घोटाले से कोई लेना-देना नहीं है।'शाहनवाज हुसैन ने दिया ये बयानबिहार सरकार में मंत्री शाहनवाज हुसैन ने पटना में कहा है कि ED अपना काम कर रही है। संजय राउत (Sanjay Raut) हों या कोई भी, गड़बड़ करेंगे तो ED वहां पहुंचेगी और आपसे सवाल जवाब करेगी। इसमें इतना हाय तौबा क्यों मचाया जा रहा है।क्या है पूरा मामलामहाराष्ट्र में आए राजनीतिक तूफान के बाद संजय राउत (Sanjay Raut)की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। पात्रा चॉल जमीन घोटाला मामले में राउत पर ED का शिकंजा कसता ही जा रहा है। प्रवर्तन निदेशालय की एक टीम आज सुबह शिवसेना सांसद संजय राउत के घर पहुंची है। बताया जा रहा है कि संजय राउत हिरासत में लिए जा सकते हैं। जिसके बाद उन्हें पूछताछ के लिए ईडी दफ्तर ले जाया जा सकता है। आपको बता दें कि शिवसेना सांसद राउत (Sanjay Raut) 1034 करोड़ रुपए के पात्रा चाल घोटाले में जांच के दायरे में हैं और उन पर जांच में सहयोग न करने का आरोप है।महाराष्ट्र के 1000 करोड़ से ज्यादा के पात्रा चॉल जमीन घोटाला मामले में ईडी की टीम संजय राउत (Sanjay Raut)से पहले से ही पूछताछ कर रही है। उन्हें 27 जुलाई को ईडी ने तलब किया था। हालांकि, वह अधिकारियों के सामने पेश नहीं हुए थे। इसके बाद अब ईडी के अधिकारी उनके घर पहुंचे हैं।हालांकि संजय राउत (Sanjay Raut) का कहना है कि किसी भी घोटाले से मेरा कोई लेना देना नहीं है। मैं शिवसेना संस्थापक बालासाहेब ठाकरे की शपथ लेकर कहता हूं कि मेरा किसी भी घोटाले से कोई लेना-देना नहीं है। बालासाहेब ने हमें लड़ना सिखाया है। मैं शिवसेना के लिए लड़ना जारी रखूंगा।बीजेपी नेता रामकदम ने भी दिया बयानसंजय राउत (Sanjay Raut) के घर ईडी की टीम पहुंचने पर बीजेपी नेता रामकदम ने भी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि कोई नेता है, इसलिए उसकी जांच नहीं होगी, ऐसा नहीं हो सकता है। अखबार सामना चला रहे हैं लेकिन जांच का सामना नहीं कर पा रहे हैं। देश में कोई भी हो, जिसनें गलत काम किया है, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

Diabetes: आंवला और नीम की पत्तियों से कैसे करें ब्लड शुगर कंट्रोल, जानिए तरीका

आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकाऋण न चुकाने पर इस तरह वाहन नहीं ले जा पाएगी कंपनी, महिंद्रा मामले पर RBI ने दिया बड़ा आदेश******वाहन ऋण के मामले में लोन न चुकाने पर कंपनियां आपकी कार, बाइक, स्कूटर से लेकर ट्रैक्टर तक जब्त कर लिया करती हैं। लेकिन हाल ही में लोन रिकवरी एजेंटों की मनमानी का दर्दनाक किस्सा सामने आया है, जिसने आम आदमी से लेकर रिजर्व बैंक की चिंता बढ़ा दी हैं। महिंद्रा फाइनेंस की घटना सामने आने के बाद अब रिजर्व बैंक ने रिकवरी एजेंटों की सेवा लेने पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है।लोन रिकवरी की प्रक्रिया को लेकर रिजर्व बैंक ने खास निर्देश बैंकों और एनबीएफसी को दिए हैं। रिजर्व बैंक के ताजा निर्देश के अनुसार अब एनबीएफसी या कर्ज देने वाली संस्था लोन न चुकाने पर जब्त किए जाने वाले वाहनों की रिकवरी के लिए तीसरे पक्ष की मदद नहीं ले सकते हैं। रिजर्व बैंक ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसका यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू है और अगले आदेश तक जारी रहेगा।महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेस लिमिटेड ने कहा है कि वाहनों को फिर से कब्जे में लेने के लिए उसने तीसरे पक्ष के एजेंटों की सेवा लेना बंद कर दिया है। महिंद्रा फाइनेंस ने गुरूवार देर रात बताया कि वाहनों के पुनः कब्जे के मामले में तीसरे पक्ष के अनुपालन के लिए उसकी एक विस्तृत नीति है। महिंद्रा फाइनेंस के उपाध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक रमेश अय्यर ने एक बयान में कहा, ‘‘हाल में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के मद्देनजर वाहनों को वापस अपने कब्जे में लेने के काम के लिए हमने तीसरे पक्ष की सेवा लेना बंद कर दिया है। तीसरे पक्ष के एजेंटों का भविष्य में किस तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है इस पर अभी और विचार करेंगे।’’महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (एमएमएफएसएल) को तीसरे पक्ष के एजेंटों के जरिए ऋण वसूली या संपत्ति वापस कब्जे में लेने से रोक दिया गया। भारतीय आरबीआई का यह फैसला झारखंड के हजारीबाग जिले में एक गर्भवती महिला (27) की मौत के बाद आया है, जिसे पिछले हफ्ते वसूली एजेंटों ने कथित तौर पर ट्रैक्टर के पहियों के नीचे कुचलकर मौत के घाट उतार दिया था।

आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकाबिहार बोर्ड 10वीं रिजल्ट 2019: बिहार बोर्ड की 10वीं के नतीजे जारी, 80.73% छात्र हुए पास, ऐसे देखें अपना रिजल्ट******बिहार बोर्ड (BSES) की 10वीं के नतीजे(Bihar Board 10th Result 2019) जारी कर दिए गए हैं। इस बार 80.73% विद्यार्थी पास हुए हैं। रिजल्ट(Bihar Board 10th Result 2019) को बिहार बोर्ड (Bihar Board) नेअपनी ऑफिशियल वेबसाइट (bsebinteredu.in) पर जारीकिया है।इसके अलावा छात्र मोबाइल पर SMS के जरिए और कुछ अन्य वेबसाइट्स पर भी रिजल्ट देख सकते हैं।:आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकाटैक्‍स चोरों का बचना मुश्किल ही नहीं नामु‍मकिन, अगले दो साल में बंद हो जाएगा मनी लॉन्ड्रिंग का गोरखधंधा****** अब जल्‍द ही टैक्‍स चोरों का बचना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन होगा। यह बात सोमवार को देश के वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कही। जेटली ने कहा कि बैंकिंग इन्‍फॉर्मेशन की ऑटोमेटिक एक्सचेंज के लिए अंतरराष्ट्रीय प्रणाली लागू होने के बाद एक से दो साल में टैक्स-चोरी और मनी लॉन्ड्रिंग (ब्लैक को व्‍हाईट करना) बेहद मुश्किल हो जाएगा। गौरतलब है कि देश में मनी लॉन्ड्रिंग की घटनाएं तेजी से बढ़ रही हैं। मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कई बैंक शक के घेरे में हैं।जेटली ने पूरे भरोसे से कहा कि चीजें जिस दिशा में बढ़ रही हैं उसके परिणाम साल दो साल में आने दिखाई देने लगेंगे। उन्होंने कहा कि सूचनाएं तत्काल मिलने लगेंगी और उससे जहां तक कानून का उल्लंघन करने वालों का सवाल है तो उनका जीवन दुश्वार हो जाएगा। यह बातें जेटली ने जालों का जाल विषय पर एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए कही।वित्त मंत्री ने कहा कि विकसित और विकासशील देशों के समूह जी20 की पहल के बाद टैक्स चोरी और ब्लैक मनी का निवेश करना मुश्किल हो जाएगा। उन्होंने कहा कि गड़बड़ी रोकने के प्रयास में अनेकों अंतरराष्ट्रीय एजेंसियां भी जुड़ चुकी है। जेटली ने कहा, दुनिया अब एक ऐसी व्यवस्था की ओर बढ़ रही है जहां आप अपने लाभ की कमाई को उस देश की जगह किसी और क्षेत्र में नहीं दिखा सकेंगे जहां आप ने उसे वास्तव में कमाया है। लाभ को दूसरी जगह दिखाने से वास्तविक देश के कराधान का क्षरण होता है।गौरतलब है कि पिछले साल नवंबर में ऑस्‍ट्रेलिया में हुए जी-20 शिखर सम्मेलन में नेताओं ने पारदर्शिता के नए मानकों का अनुमोदन किया। इसके तहत 90 से अधिक देश और स्वतंत्र न्यायिक क्षेत्र 2017-18 से टैक्स संबंधी ऑटोमेटिक एक्सचेंज ऑफ इन्‍फॉर्मेशन सिस्टम शुरू कर देंगे और इसमें इन्‍फॉर्मेशन प्रस्तुत करने के मानक एक समान होंगे। भारत इस प्रणाली का अनुमोदन करने वाले प्रारंभिक देशों में से एक है।

आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकाHar Ghar Tiranga: "तिरंगा खरीदने के लिए कश्मीरियों को किया जा रहा मजबूर", महबूबा मुफ्ती ने लगाए आरोप******Highlights पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने जम्मू-कश्मीर प्रशासन पर आरोप लगाया है कि ‘हर घर तिरंगा’ मुहिम के तहत लोगों को राष्ट्रीय ध्वज खरीदने के लिए ‘‘मजबूर’’ किया जा रहा है। महबूबा मुफ्ती ने आरोप लगाते हुए रविवार को कहा कि देशभक्ति अपने आप आती है और इसे थोपा नहीं जा सकता। गौरतलब है कि हर घर तिरंगा मुहिम ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तहत 13 से 15 अगस्त तक देश के सभी नागरिकों को अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए प्रोत्साहित करने के मकसद से शुरू की गई है।PDP की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने अपने ट्विटर पर साझा किए गए एक कथित वीडियो में, दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले की बिजबेहरा नगरपालिका में एक वाहन के ऊपर लगे लाउडस्पीकर से एक सार्वजनिक घोषणा होती सुनाई दे रही है। इसमें क्षेत्र के दुकानदारों से मुहिम के लिए तिरंगा खरीदने के लिए 20-20 रुपये जमा करने के लिए कहा जा रहा है।मुफ्ती ने कहा, ‘‘जम्मू-कश्मीर प्रशासन जिस तरह से छात्रों, दुकानदारों और कर्मचारियों को राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए भुगतान करने को मजबूर कर रहा है, उससे ऐसा लगता है कि कश्मीर एक दुश्मन क्षेत्र है जिस पर कब्जा करने की जरूरत है। देशभक्ति स्वत: आती है और इसे थोपा नहीं जा सकता।’’ कश्मीरी में की गई घोषणा में स्थानीय लोगों से कहा गया कि अगर वे मुहिम में शामिल होने से इनकार करते हैं तो ‘‘उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है।’’कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लोगों से 13 अगस्त से 15 अगस्त के बीच अपने-अपने घरों पर राष्ट्रध्वज फहराने की अपील किए जाने के बाद शुक्रवार को उन पर निशाना साधते हुए कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने अपने मुख्यालय पर आजादी के 52 साल बाद तक तिरंगा नहीं फहराया और अब यह सब ‘पांखड’ किया जा रहा है।पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘‘जिस तिरंगे के लिए हमारे देश के कई लोग शहीद हुए, उस तिरंगे को एक संगठन ने अपनाने से मना कर दिया, 52 सालों तक नागपुर में अपने मुख्यालय पर तिरंगा नही फहराया, लगातार तिरंगे को अपमानित किया गया और आज उसी संगठन से निकले हुए लोग तिरंगे का इतिहास बता रहे हैं, 'हर घर तिरंगा' मुहिम की योजना बना रहे हैं।’’आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकाRPSC Headmaster Result 2019: आरपीएससी हेडमास्टर के नतीजे हुए जारी, यहां से करें चेक******राजस्थान लोक सेवा आयोग ने हेडमास्टर (सेकेंडरी स्कूल) परीक्षा 2019के नतीजे घोषित कर दिए हैं।परीक्षा कीमुख्य सूची, रिजर्व सूची और कट ऑफ अंक वेबसाइट परजारी कर दिए हैं। ऐसे सभी उम्मीदवार जो हेडमास्टर परीक्षा में उपस्थित हुए हैं, वे अपनी मुख्य सूची, रिजर्व सूची और कट ऑफ मार्क्स की जांच कर सकते हैं। उम्मीदवार RPSC की वेबसाइट rpsc.rajasthan.gov.in पर जाकर अपनारिजल्टदेख सकते हैं।आरपीएससी द्वारा जारी संक्षिप्त अधिसूचना के अनुसार, विभिन्न श्रेणी के उम्मीदवार आयोग द्वारा तय की गई अपनी मुख्य सूची, रिजर्व सूची और कट ऑफ की जांच कर सकते हैं। आयोग ने 06 अगस्त 2019 से 06 सितंबर 2019 तक किए गए काउंसलिंग / दस्तावेज़ वेरीफिकेशन के बाद उम्मीदवारों की मुख्य सूची, आरक्षित सूची और कट ऑफ मार्क्स जारी किए थे।आयोग ने मेरिट सूची / वरिष्ठता सूची के अनुसार कट ऑफ अंक अलग से जारी किए हैं। राजस्थान लोकसेवाआयोग(RPSC) नेपहलेहेडमास्टर के पद पर भर्ती के लिएआवेदनआमंत्रित किए थे।

आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकाजगदीप धनखड़-ममता बनर्जी फिर आमने-सामने, गवर्नर ने विधानसभा सत्र बुलाने की CM की सिफारिश लौटाई****** पश्चिम बंगाल के राज्यपाल और मुख्यमंत्री एक बार फिर आमने-सामने हो गए हैं। ममता ने 7 मार्च से विधानसभा सत्र बुलाने की सिफारिश भेजी, जिसे धनखड़ ने मंजूरी दिए बिना वापस कर दिया और कहा कि यह प्रस्ताव संवैधानिक मानदंडों को पूरा नहीं करता। राज्यपाल ने एक वीडियो ट्वीट में कहा, "संविधान राज्यपाल को कैबिनेट की सिफारिश पर सदन का सत्र बुलाने की अनुमति देता है। यह संविधान में लिखा गया है और यह प्रक्रिया रूल ऑफ बिजनेस में भी निर्धारित है।"राज्यपाल ने कहा, "सरकार ने मुझे 17 फरवरी को एक फाइल भेजी थी, जिसमें 7 मार्च को विधानसभा सत्र बुलाने की मांग की गई थी। हालांकि, उस पर केवल मुख्यमंत्री के हस्ताक्षर थे। इस स्थिति में कैबिनेट के फैसले की भूमिका आवश्यक है।" उन्होंने कहा, "मेरे पास एकमात्र विकल्प यह था कि फाइल सरकार को वापस भेज दी जाए, ताकि वे इसे संवैधानिक अनुपालन के साथ फिर से भेज सकें। जैसे ही फाइल दोबारा आएगी, मामले पर संविधान के अनुसार विचार किया जाएगा।"राज्यपाल ने अपने ट्वीट में भी लिखा, "माननीय सीएम ममता बनर्जी की 7 मार्च को विधानसभा बुलाने की सिफारिश को संवैधानिक अनुपालन के लिए वापस करना पड़ा, क्योंकि संविधान के अनुच्छेद 166 (3) के तहत नियमों के उचित अनुपालन के बाद कैबिनेट द्वारा की गई सिफारिश पर ही विचार किया जाएगा।" राज्यपाल ने अपने ट्वीट के साथ सरकार को लिखा एक पत्र संलग्न किया, जिसमें लिखा था, फाइल वापस भेजना संवैधानिक अनुपालन के लिए एकमात्र विकल्प था।इस मसले पर निराशा व्यक्त करते हुए टीएमसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुखेंदु शेखर रॉय ने कहा कि धनखड़ पहले 'फाइलों पर बैठे' थे, जिन्हें जनप्रतिनिधियों द्वारा विधिवत अनुमोदित किया गया था और विधानसभा सत्र के लिए सिफारिश वापस करना 'प्रशासनिक कार्य को रोकने' का उनका यह नया कदम है। रॉय ने कहा, "उन्होंने बल्ली नगरपालिका के निर्माण की मांग वाले विधेयक को भी रोक दिया है। सदन को बुलाने की सिफारिश संसदीय मामलों के मंत्री द्वारा उचित समर्थन के साथ मुख्यमंत्री द्वारा की गई है। उन्होंने कैसे अनुमान लगाया कि इसे कैबिनेट की मंजूरी नहीं थी?"राज्य के शिक्षा मंत्री ब्रत्य बसु ने कहा, "राज्यपाल समानांतर प्रशासन चलाने की कोशिश कर रहे हैं और वह शायद चुनाव में हार से उपजी गहरी निराशा के कारण ऐसा कर रहे हैं।"(इनपुट- एजेंसी)आंवलाऔरनीमकीपत्तियोंसेकैसेकरेंब्लडशुगरकंट्रोलजानिएतरीकारोमांटिक चेहरे से 'ढाई किलो के हाथ' तक यूं बने सनी देओल असली 'देशभक्त'******चुनावी माहौल में अधिकतर स्टार पार्टियों से मुलाकात कर रहे हैं। जिसके बाद इस बात को लेकर हवा लग जाती है कि वह इस जगह से चुनाव लड़ रहे हैं। ऐसे ही कुछ हाल के साथ हुआ। हाल में ही सनी देओल पुणे एयरपोर्ट पर वीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की थी। अब वह भारतीय जनता पार्टी को ज्वाइन कर लिया है और कयास लगाए जा रहे है कि वह अमृतसर के गुरदास से चुनाव लड़ सकते हैं। सनी देओल अपनी फिल्मों में बेहतरीन किरदार निभाकर किसी का दिल जीत चुके है। जानें सनी देओल के बारे में फिल्म से लेकर राजनीति तक के सफर के बारें में कुछ खास बातें।बॉलीवड में अपनी फिल्मों से 'गदर' मचाने वाले बॉलीवुड स्टार सनी देओल का जन्म 19 अक्टूबर 1956 को जन्म हुआ था। सनी देओल सुपरस्टार धर्मेंद्र और प्रकाश कौर के बेटे है। सनी तो अभिनय की कला विरासत में मिली है। वह अपने पिता धर्मेंद्र के साथ बचपन में ही शूटिंग में जाया करते थे। जहां से धीरे-धीरे उनका भी फिल्मों में रुझान बढ़ा और वह भी एक सक्सेसफुल अभिनेता बनने का ख्वाब देखने लगे।सनी देओल ने अपनी पढ़ाई मुंबई से पूरी की। जिसके बाद वह एक्टिंग के गुर सीखने के लिए इंग्लैंड के फेमस थियेटर ओल्ड वेब गए। जहां से आने के बाद सनी ने 'बेताब' फिल्म से डेब्यू किया। जो कि 1983 में आई रोमांटिक फिल्म थी। इसके बाद सनी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। फिर उन्होंने 'सोहनी महिवाल', 'मंजिल मंजिल' जैसी फिल्मों में काम करने का अवसर मिला, लेकिन यह फिल्में दर्शकों के दिलों में अपनी जगह नहीं बना पाईं। साल 1985 में सनी की एक बार फिर 'अर्जुन' फिल्म के साथ किस्मत चमकी और यह फिल्म सुपरहिट साबित हुई। यह फिल्म राहुल रवैल ने निर्देशित की थी। जिन्होंने सनी की पहली फिल्म बेताब को भी निर्देशित किया था। इस फिल्म के बाद लोग सनी को एंग्री मैन के नाम से पुकारने लगे थे। सनी देओल ने इसी बीच पूजा से शादी की थी। सनी देओल ने चोरी-छिपे शादी की थी। जी हां, इंटरनेट पर सनी की शादी की एक फोटो मौजूद है, जो UK की एक मैग्जीन के कवर पेज पर है। मैगजीन के कवर पर इसके पब्लिश होने का साल 1984 (जुलाई) लिखा हुआ है। कवर में सबसे नीचे लिखा हुआ है, Exclusive Sunny Weds In England।दरअसल, धर्मेंद्र नहीं चाहते थे कि डेब्यू फिल्म 'बेताब' की रिलीज से पहले सनी की शादी की बात सामने आए। क्योंकि इससे सनी को रोमांटिक इमेज पर निगेटिव असर पड़ सकता था। फिल्म की रिलीज तक उनकी गर्लफ्रेंड पूजा लंदन में ही थी। उस वक्त सनी अक्सर पूजा से मिलने चोरी-छुपे लंदन जाया करते थे। बाद में जब न्यूजपेपर्स में सनी की शादी की बात छपी, उस वक्त भी सनी ने शादी की बात से इनकार किया था।सनी देओल की कई फिल्में बॉक्स ऑफिस में कमाल दिखा चुकी है। जिसमें सनी की फिल्म 'दामिनी' का डायलॉग 'ये ढाई किलो का हाथ' आज भी फैंस के दिलों में राज़ करता है। झकझोर देने वाली 'दामिनी' की कहानी और अभिनेताओं के दमदार अभिनय की बदौलत ये फिल्म सुपरहिट रही।सनी ने इस फिल्म के अलावा बॉर्डर, जिद्धी, गदर जैसी फिल्में में अभिनय करके कई राष्ट्रीय और फिल्म फेयर अवॉर्ड जीतें।

हाल का ध्यान

लिंक