वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > डियानजियांग काउंटी > मूलपाठ

Happy Birthday : 51 साल के हुए भारतीय क्रिकेट के जंबो, कुछ ऐसा रहा है उनका सुनहरा करियर

2022-10-01 00:29:26 डियानजियांग काउंटी

सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरबिजली वितरण कंपनियों पर उत्पादकों का बकाया अक्टूबर में 48% बढ़कर 81 हजार करोड़ रुपए के पार******Power Distribution companies बिजली वितरण कंपनियों पर बिजली उत्पादक कंपनियों का कुल बकाया अक्टूबर 2019 में सालाना आधार पर करीब 48 प्रतिशत बढ़कर 81,010 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। विद्युत मंत्रालय के वेब-पोर्टल प्राप्ति (पेमेंट रैटिफिकेशन एंड एनालिसिस इन पावर प्रोक्यूरमेंट फोर ब्रिंगिंग ट्रांसपेरेंसी इन इनवॉयसिंग ऑफ जेनरेटर्स) के अनुसार, अक्टूबर 2018 में वितरण कंपनियों पर उत्पादक कंपनियों का कुल 54,654 करोड़ रुपए का बकाया था। इस साल अक्टूबर में 60 दिन से अधिक पुरानी कुल बकाया राशि 67,143 करोड़ रुपए रही जो साल भर पहले 39,338 करोड़ रुपए थी। पोर्टल पर उपलब्ध आंकडपों के अनुसार, इस साल अक्टूबर में बकाया राशि में सितंबर की तुलना में कमी आयी है। सितंबर में का वितरकों पर कुल बकाया 82,548 करोड़ रुपए था। हालांकि 60 दिन की रियायत के बाद का बकाया सितंबर की तुलना में अक्टूबर में बढ़ा है। सितंबर में इस तरह का बकाया 65,155 करोड़ रुपए था। आंकड़ों के अनुसार, राजस्थान, जम्मू कश्मीर, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु के बिजली वितरण कंपनियों की कुल बकाए में अधिक हिस्सेदारी है। कुछ बड़े राज्यों की वितरक कंपनियों ने कुछ बकायों के भुगतान में 913 दिन तक का समय लिया है।भुगतान में देरी वाले राज्यों में दिल्ली की वितरक कंपनियों ने कुछ मामलों 939 दिन की देरी की। बड़े राज्यों में आंध्र प्रदेश 913 दिन के साथ सबसे ऊपर रहा। उसके बाद राजस्थान में 912 दिन, बिहार में 912 दिन, हरियाणा में 910 दिन, तमिलनाडु में 908 दिन, मध्यप्रदेश में 897 दिन और तेलंगाना में 890 दिन की देरी हुई। वितरक कंपनियों पर कुल 67,143 करोड़ रुपए के पुराने बकाए में स्वतंत्र बिजी उत्पादकों की 22.46 प्रतिशत हिस्सेदारी है।केंद्रीय सार्वजनिक उपक्रमों में अकेले का वितरक कंपनियों पर 12,271.75 करोड़ रुपए का बकाया है। इसके बाद एनएलसी इंडिया का 4,413.94 करोड़ रुपए, एनएचपीसी का 3,178.42 करोड़ रुपए, टीएचडीसी का 1,883.54 करोड़ रुपए और दामोदर वैली कॉरपोरेशन का 870.92 करोड़ रुपए का बकाया है। निजी कंपनियों में अडाणी पावर का सर्वाधिक 3,201.68 करोड़ रुपए का बकाया है। इसके अलावा बजाज समूह की कंपनी ललितपुर पावर जेनरेशन कंपनी लिमिटेड का 2,212.66 करोड़ रुपए और जीएमआर का 1,930.16 करोड़ रुपए बकाया है।

सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरबाजार में निवेशकों पर बरसी दौलत, 4 दिन में निवेशकों की पूंजी 6 लाख करोड़ रुपये बढ़ी******शेयर बाजार में निवेशकों की जमकर कमाईनई दिल्ली। शेयर बाजार में पिछले 4 दिनों से जारी बढ़त के बीच निवेशकों की जमकर कमाई हुई है। बीते सिर्फ 4 दिनों में निवेशकों की कुल पूंजीं में 6.09 लाख करोड़ रुपये की बढ़त देखने को मिली है। फिलहाल शेयर बाजार अपने रिकॉर्ड स्तरों पर बंद हुआ है। वहीं प्रमुख इंडेक्स अपने ऑल टाइम हाई के करीब ही हैं।बीते चार दिन में सेंसेक्स में 1,094.58 अंक का उछाल आया है। इन चार कारोबारी सत्रों में बीएसई की सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 6,09,840.74 करोड़ रुपये बढ़कर 2,68,30,387.79 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के खुदरा शोध प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा, ‘‘विदेशी बाजारों से मिले संकेतो के अनुरूप शेयर बाजारों की शुरुआत कमजोर रुख के साथ हुई। लेकिन कारोबार के अंतिम घंटों में कुछ लिवाली का सिलसिला चलने से बाजार अंतत: सकारात्मक रुख के साथ बंद हुए।’’ बाजार फिलहाल कोरोना संकट के बाद अर्थव्यवस्था में तेज रिकवरी को लेकर उत्साहित है। वहीं फेस्टिव सीजन में मांग के लेकर बेहतर संकेतों की वजह से भी बाजार में सकारात्मक संकेत बने हुए हैं। जिसकी वजह से निवेशक बाजार में खरीदारी कर रहे हैं।बीते एक हफ्ते के प्रदर्शन पर नजर डालें तो दिग्गज स्टॉक्स में सबसे ज्यादा रिटर्न टाटा मोटर्स ने दिया, स्टॉक इस दौरान 23 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ा है। वहीं टाइटन में 15 प्रतिशत से ज्यादा और ओएनजीसी में 10 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़त रही है। वही सबसे ज्यादा रिटर्न पर नजर डालें तो 23 स्टॉक्स में निवेशकों को सिर्फ एक हफ्ते में 50 प्रतिशत से ज्यादा का रिटर्न मिला है। हिंदुस्तान मोटर्स 71 प्रतिशत और अबॉन ऑफशोर में 63 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़त देखने को मिली है। इस दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज 4 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ा है।यह भी पढ़ें:सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरPetrol Diesel Price Today 5 March 2020: फिर घटे पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए नए रेट******Petrol Diesel prices Today Petrol diesel rate on 5th March 2020 एक दिन की स्थिरता के बाद पेट्रोल और डीजल के दाम में गुरुवार (Petrol Diesel Price 5 March 2020) को फिर बड़ी गिरावट दर्ज की गई। आम उपभोक्ताओं को बड़ी राहत देते हुए तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल के दाम में बड़ी कटौती की है। तेल विपणन कंपनियों ने आज यानि गुरुवार को पेट्रोल के दाम में दिल्ली, कोलकाता, मुंबई में 15 पैसे, जबकि चेन्नई में 16 पैसे प्रति लीटर की कटौती की है। वहीं डीजल की कीमत दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में 9 पैसे जबकि चेन्नई में 10 पैसे प्रति लीटर घट गई है। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में घटकर क्रमश: 71.29 रुपए, 73.96 रुपए, 76.98 रुपए और 74.07 रुपए प्रति लीटर हो गया है। चारों महानगरों में भी घटकर क्रमश: 63.94 रुपए, 66.27 रुपए, 66.96 रुपए और 67.47 रुपए प्रति हो गया है। अपने शहर में पेट्रोल-डीजल का रेट चेक करने के लिए यहां करें।वहीं दिल्ली के आसपास की बात करें तो नोएडा में पेट्रोल 73.37 रुपए और डीजल 64.38 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है। गाजियाबाद में पेट्रोल 73.23 रुपए और डीजल 64.24 रुपए प्रति लीटर की दर से बिक रहा है। उधर गुरुग्राम में पेट्रोल 71.54 रुपए और डीजल 63.49 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है। फरीदाबाद में पेट्रोल 71.73 रुपए और डीजल 63.68 रुपए प्रति लीटर की दर से मिल रहा है।रोज सुबह 6 बजे तय होते हैं पेट्रोल-डीजल के रेटसभी ऑयल मार्केटिंग कंपनियों IOC, BPCL और HPCL के पेट्रोल-डीजल के दाम हर दिन घटते-बढ़ते रहते हैं। पेट्रोल-डीजल का नया दाम रोज सुबह 6 बजे से लागू हो जाता है। इनकी कीमत में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन सब कुछ जोड़ने के बादल इसकी कीमत लगभग दोगुनी हो जाती है। एक क्लिक में यहां अपने शहर का रेट चेक करें।आप अपने शहर के रोजाना एसएमएस के जरिए भी चेक कर सकते है। इंडियन ऑयल (IOC) के उपभोक्ता RSP<डीलर कोड> लिखकर 9224992249 नंबर पर व एचपीसीएल (HPCL) के उपभोक्ता HPPRICE <डीलर कोड> लिखकर 9222201122 नंबर पर भेज सकते हैं। बीपीसीएल (BPCL) उपभोक्ता RSP<डीलर कोड> लिखकर 9223112222 नंबर पर भेज सकते हैं।

Happy Birthday : 51 साल के हुए भारतीय क्रिकेट के जंबो, कुछ ऐसा रहा है उनका सुनहरा करियर

सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरChiranjeevi और Salman Khan स्टारर Godfather इस दिन होगी OTT पर स्ट्रीम, रिलीज के पहले कमाए करोड़ों******Highlights इंडस्ट्री के सूत्रों की माने तो निर्देशक मोहन राजा की आने वाली एक्शन एंटरटेनर के डिजिटल राइट्स, तेलुगु मेगास्टार चिरंजीवी और बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान की विशेषता वाले 'गॉडफादर' को एक ओटीटी प्लेटफॉर्म द्वारा एक फैंसी राशि के लिए खरीदा गया है। उद्योग में अटकलें बताती हैं कि लोकप्रिय ओटीटी प्लेटफॉर्म, नेटफ्लिक्स ने फिल्म के डिजिटल अधिकार 57 करोड़ रुपये में खरीदे हैं। इस सौदे में फिल्म के तेलुगु और हिंदी दोनों ओटीटी अधिकार शामिल हैं।'गॉडफादर' से काफी उम्मीदें हैं क्योंकि फिल्म में भारतीय फिल्म उद्योग के दो बड़े सितारे हैं।मेगास्टार चिरंजीवी ने मुख्य भूमिका निभाई है, जबकि बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान 5 अक्टूबर को स्क्रीन पर हिट होने के लिए तैयार होने वाले एक्शन एक्सट्रावगांजा में एक प्रमुख भूमिका में दिखाई देंगे।चिरंजीवी ने एक ऐसा किरदार निभाया है जिसे फिल्म में गॉडफादर कहा जाता है। गॉडफादर का किरदार जनता की नजरों से 20 साल के लिए गायब हो जाता है और फिल्म में अगले छह वर्षों में अचानक बड़ी लोकप्रियता हासिल करने के लिए लौट आता है।फिल्म में चिरंजीवी के छोटे भाई की भूमिका निभा रहे सलमान खान, जब भी उनका बड़ा भाई चाहता है, वह उनकी मदद के लिए तैयार रहते हैं।फिल्म में नीरव शाह द्वारा छायांकन और थमन द्वारा संगीत दिया गया है और यह इस वर्ष के सबसे उत्सुकता से प्रतीक्षित एक्शन एंटरटेनर्स में से एक है।सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरयुद्ध अपराध के आरोपी रूसी सैनिक के खिलाफ यूक्रेन में शुरू हुआ मुकदमा******Highlightsयूक्रेन के एक नागरिक की हत्या के आरोपी रूसी सैनिक के खिलाफ शुक्रवार को कीव में मुकदमा शुरू हुआ। यह रूस यूक्रेन युद्ध के बाद से वॉर क्राइम से जुड़ा पहला मुकदमा है। यूक्रेन की राजधानी में एक छोटे से कोर्ट रूम के अंदर बड़ी संख्या में पत्रकार मौजूद थे जहां मुकदमे की शुरुआत के लिए संदिग्ध एक छोटे से कांच के रूम में दिखाई दिया। इस मामले ने रूसी बलों द्वारा बार-बार अत्याचार के आरोपों के बीच अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ध्यान आकर्षित किया। 21 साल के सार्जेंट वादिम शिशिमारिन पर उत्तरपूर्वी गांव चुपखिवका में 62 साल के शख्स के सिर में गोली मारने का आरोप है।युद्ध के कानूनों और नियमों से संबंधित यूक्रेनी आपराधिक संहिता की धारा में वर्णित दंड के तहत उसे आजीवन कारावास तक की सजा का सामना करना पड़ सकता है। यह हत्या युद्ध के शुरुआती दिनों में हुई थी जब कीव पर हमले के लिए आए रूसी टैंक अप्रत्याशित रूप से वहां से चले गए थे और टैंक चालक दल पीछे रह गया था। यूक्रेन के जवानों ने टैंक चालक दल के सदस्य शिशिमारिन को पकड़ लिया था। यूक्रेनी सुरक्षा बलों द्वारा जारी वीडियो में उसने एक नागरिक की हत्या करने की बात स्वीकार की है।शिशिमारिन ने 28 मई को की गई हत्या पर कहा, ‘मुझे गोली मारने के आदेश थे। मैंने उसे एक (गोली) मारी। वह गिर गया।’ यूक्रेन की सुरक्षा सेवा के मुताबिक शिशिमारिन का वीडियो बयान ‘दुश्मन हमलावर का अपनी तरह का पहला कबूलनामा है।’ यूक्रेन के पूर्वी हिस्से पर कब्जे के रूसी अभियान के बीच यह मुकदमा चलाया जा रहा है। रूसी हमले के युद्धक्षेत्र के अलावा भी कई जगह व्यापक प्रभाव देखने को मिले हैं। के 2.5 महीने बाद अब मॉस्को के अन्य पड़ोसियों में भी ऐसे हमलों को लेकर आशंका है।फिनलैंड के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने गुरुवार को घोषणा कि कि नॉर्डिक राष्ट्र को NATO की सदस्यता के लिये आवेदन करना चाहिए। NATO का गठन सोवियत संघ से मुकाबला करने के लिये सैन्य रक्षा समझौते के तौर पर हुआ था। फिनलैंड के राष्ट्रपति सौली नीनिस्टो ने इस सप्ताह कहा था, ‘आपकी (रूस) वजह से यह हुआ है। अपने आप को शीशे में देखो।’ इस घोषणा का मतलब है कि फिनलैंड ने NATO की सदस्यता लेने का अब पूरी तरह मन बना लिया है, लेकिन आवेदन प्रक्रिया शुरू होने से पहले कुछ कार्रवाई अभी बाकी हैं।पड़ोसी देश स्वीडन भी आने वाले दिनों में NATO में शामिल होने पर विचार कर रहा है। इससे यूरोप के सुरक्षा परिदृश्य में व्यापक बदलाव आएगा। स्वीडन 200 सालों तक किसी भी सैन्य गठजोड़ से बचता रहा है जबकि दूसरे विश्व युद्ध में सोवियत के हाथों पराजित होने के बाद फिनलैंड ने तटस्थ रुख अपना रखा था। क्रेमलिन ने चेतावनी दी कि वह प्रतिरोधात्मक ‘सैन्य-तकनीकी’ कदम उठा सकता है। यूक्रेन पर हमले के बाद दोनों देशों में जनमत नाटकीय रूप से NATO के पक्ष में आया है। हमले के बाद रूस से सटे देशों में यह आशंका है कि अगला देश कौन-सा हो सकता है।इस तरह के विस्तार से रूस बाल्टिक सागर और आर्कटिक में NATO देशों से घिर जाएगा, जो पुतिन के लिए एक झटका होगा, जिन्हें NATO के विभाजित होने और यूरोप से NATO की वापसी की उम्मीद थी, लेकिन स्थिति इसके विपरीत बन रही है। NATO के महासचिव जेन्स स्टोल्टेनबर्ग ने कहा कि गठबंधन खुली बाहों से फिनलैंड और स्वीडन का स्वागत करेगा। यूक्रेन को NATO द्वारा हथियारों की आपूर्ति और अन्य सैन्य समर्थन आक्रमण को रोकने की कीव की आश्चर्यजनक क्षमता के लिए महत्वपूर्ण रहा है।सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरPriyanka Chopra on Sushmita Sen: मिस यूनिवर्स के सपोर्ट में उतरीं मिस वर्ल्ड, प्रियंका ने सुष्मिता सेन-ललित मोदी को लेकर क्या कहा जानिए******सुष्मिता सेन इन दिनों काफी सुर्खियों बटोर रही हैं। हाल ही में बिजनेसमैन ललित मोदी ने सुष्मिता सेन और अपने रिलेशनशिप का खुलासा किया था। तब से ही सुष्मिता सेन बिजनेसमैन ललित मोदी के साथ अपने रिलेशनशिप को लेकर चर्चा में बनी हुई हैं। बिजनेसमैन ललित मोदी सुष्मिता सेन से करीब 10 साल बड़ें हैं जिस कारण उन्हें बेहद ट्रोल भी किया जा रहा है। दोनों के रिश्ते पर तरह-तरह के मीम्स भी बनने शुरू हो गए। यूजर्स कमेंट के जरिए न जाने एक्ट्रेस को क्या-क्या कह रहे हैं। एक यूजर्स ने तो सुष्मिता को गोल्ड डिगर का टैग दे डाला।बता दें रविवार को सुष्मिता सेन ने उन्हें 'गोल्ड डिगर' कहने वालों की क्लास लगाई। वहीं सुष्मिता ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर किया है। इस पोस्ट पर सुष्मिता को प्रियंका चोपड़ा का साथ मिल गया है। साथ ही कई बॉलीवुड सेलेब्स उनके सपोर्ट में आए हैं। प्रियंका ने सुष्मिता के पोस्ट पर कमेंट करके उन्हें सपोर्ट किया है। सुष्मिता के पोस्ट पर प्रियंका चोपड़ा ने लिखा- Tell em Queen। साथ ही फायर इमोजी पोस्ट की। वहीं शिल्पा शेट्टी ने कमेंट किया है मेरी स्टार सुष लव यू।सुष्मिता सेन ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक तस्वीर शेयर करते हुए एक लंबा सा नोट लिखा है। इसके कैप्शन में सुष्मिता ने लिखा है कि- ''बीतों दिनों से मेरा नाम गोल्ड डिगर दौलत की लालची कहकर सोशल मीडिया पर काफी उछाला जा रहा है। मेरी जमकर आलोचना की जा रही है। लेकिन मैं इन आलोचनाकर्ताओं की बिल्कुल भी परवाह नहीं करती हूं। मैं सोना नहीं बल्कि हीरे की परख रखने का हुनर रखती हूं। ऐसे में कुछ बुद्धिजीवियों के जरिए गोल्ड डिगर कहना उनकी निचली मानसिकता को साफ-साफ दिखाता है। इन तुच्छ लोगों के अलावा मुझे मेरे शुभचिंतकों और परिवारजनों का पूरा समर्थन है। क्योंकि मैं सूर्य की तरह हूं जो अपने अस्तित्व और विवेक लिए हमेशा चमकता रहेगा।''आईपीएल के पहले चेयरमैन ललित मोदी और मशहूर एक्ट्रेस सुष्मिता सेन एक दूसरें को डेट कर रहें हैं। ललित मोदी ने ट्वीट कर ऐलान किया था। उन्होंने लिखा था अपने परिवार के साथ मालदीव समेत दुनिया भर का टूर करने के बाद लंदन लौटा हूं। ये भी बता दूं कि 'बेटर हाफ' सुष्मिता सेन के साथ आखिरकार नई जिंदगी की शुरुआत शानदार रही है। इसके बाद से उनकी सुष्मिता सेन से शादी की खबर उड़ने लगी जिसके बाद उन्होंने बताया कि अभी सिर्फ डेट कर रहा हूं। एक दिन शादी भी हो जाएगी।

Happy Birthday : 51 साल के हुए भारतीय क्रिकेट के जंबो, कुछ ऐसा रहा है उनका सुनहरा करियर

सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरविश्व कप 2022 के लिए कतर स्टेडियम अद्भुत : जुंग वूयोंग******दक्षिण कोरिया के फुटबॉलर जुंग वूयोंग ने कहा है कि विश्व कप 2022 के लिए कतर का स्टेडियम अद्भुत है। जुंग ने विदेशों में ही अपने पेशेवर करियर की शुरूआत की थी। वह 2011 से 2018 तक जापान और चीन के क्लबों में खेले हैं। फिल्हाल वह कतर के अल साद क्लब से जुड़े हुए हैं, जहां उनका यह दूसरा सीजन है।जुंग दो साल कतर में बिता चुके हैं, 2022 में फीफा विश्व कप का अगला संस्करण खेला जाना है और वह वहां के माहौल में अच्छी तरह से ढाल चुके हैं।जुंग ने फीफा डॉट कॉम से कहा, " मैंने कभी नहीं सोचा था कि यहां अपना जीवन जीना पसंद करूंगा। हर कोई दोस्त है और इसी चीज ने मुझे यहां की नई जीवनशैली में ढलने में मदद की है। कतर में कुछ कोरियाई रेस्टोरेंट को देखकर मैं खुश था।"कतर में आठ में से दो स्टेडियमों को पहले ही खोला जा चुका है और जुंग के पास उन दोनों में खेलने का मौका मिला था।उन्होंने कहा, " स्टेडियम अद्भुत है। अभी आप उनमें खेलने की इच्छा महसूस करते हैं। अल वखरा में खलीफा इंटरनेशनल स्टेडियम और अल जनाब स्टेडियम में हमारे कई मैच थे। यह आश्चर्यजनक है। मैं कल्पना कर सकता हूं कि दो साल के समय में विश्व कप में आने वाले खिलाड़ी कैसा महसूस करेंगे। मुझे उम्मीद है कि मैं शीर्ष रूप में रहूंगा ताकि मैं राष्ट्रीय टीम में अपनी जगह बना सकूं और इस बड़े टूनामेंट में हिस्सा ले सकूं।"सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरATP Rankings: कार्लोस एल्कारेज 19 साल की उम्र में बने दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी, नडाल तीसरे स्थान पर, मेदवेदेव को नुकसान******Highlightsस्पेन के स्टार युवा खिलाड़ी कार्लोस एल्कारेज दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी बन गए हैं। 19 साल के कार्लोस ने यूएस ओपन 2022 का खिताब जीतकर रैंकिग में तीन स्थान की लंबी छलांग लगाई है। सोमवार को खिताबी मुकाबले में कैस्पर रूड को चार सेट के मुकाबले में हराकर कार्लोस ने शीर्ष स्थान पर कब्जा किया। वह 1973 में कम्प्यूटरीकृत रैंकिंग शुरू होने के बाद से एटीपी रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचने वाले सबसे कम उम्र के पुरुष खिलाड़ी बन गए हैं। वहीं उपविजेता रहे नॉर्वे को कैस्पर रूड भी दूसरे स्थान पर काबिज हो गए हैं।एल्कारेज ने रविवार को फाइनल में कैस्पर रूड पर 6-4, 2-6, 7-6 (1), 6-3 की जीत से अपने करियर का पहला बड़ा खिताब जीता और विश्व रैंकिंग के शीर्ष पर 2021 अमेरिकी ओपन चैंपियन डानिल मेदवेदेव की जगह ली। नॉर्वे के 23 वर्षीय रूड सीजन के अपने दूसरे प्रमुख फाइनल में पहुंचने के बाद सातवें नंबर से आगे बढ़कर दूसरे नंबर पर पहुंच गए। वह जून में फ्रेंच ओपन के फाइनल में भी राफेल नडाल से हारकर उपविजेता रहे थे।नडाल के पास भी अमेरिकी ओपन के बाद नंबर एक बनने का मौका था लेकिन चौथे दौर में फ्रांसेस टियाफो से हारने के बाद वह नंबर तीन पर बने हुए हैं। सेमीफाइनल में पहुंचने वाले 16 साल में पहले अमेरिकी पुरुष खिलाड़ी बने टियाफो 26 वें नंबर से करियर के सर्वश्रेष्ठ 19वीं रैंकिंग पर काबिज हो गए हैं। जबकि मेदवेदेव अपनी नंबर एक कुर्सी गंवाने के बाद अब चौथे नंबर पर खिसक गए हैं।टोक्यो ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता अलेक्जेंडर ज्वेरेव दाएं टखने में चोट के कारण अमेरिकी ओपन से बाहर होने के बाद नंबर दो से नंबर पांच पर खिसक गए हैं। नोवाक जोकोविच इस सत्र में अपने दूसरे ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट से चूक गए क्योंकि उन्होंने कोविड-19 का टीका नहीं लगाया गया है और वह एक स्थान नीचे सातवें नंबर पर खिसक गए।

Happy Birthday : 51 साल के हुए भारतीय क्रिकेट के जंबो, कुछ ऐसा रहा है उनका सुनहरा करियर

सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरप्रोपेगेंडा फैलाने के लिए ग्रामीण इलाकों में 3 लाख टीवी सेट बांटेगी चीनी सरकार****** की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी इन दिनों ग्रामीण चीन में सरकारी प्रोपेगेंडा फैलाने के लिए 3 लाख टीवी सेट बांट रही है। मीडिया में आ रही जानकारी के अनुसार चीनी सरकार ने ग्रामीण चीन में बढ़ती गरीबी के बीच अपनी साख बचाए रखने के लिए ये कदम उठाया है। पार्टी के मुखपत्र में लिखा गया है कि ये टीवी सेट गरीब परिवारों की छवि बदलने और दूसरी समस्यों का खत्म करने में हमारी मदद करेगी। साथ ही ये टीवी सेट के समाजवादी मॉडल को चीनी स्वभाव के साथ प्रचार करने में हमारी मदद करेंगे। पिछले साल बीजिंग में आयोजित हुए चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की नेशनल कांग्रेस मीटिंग में शी जिनपिंग की थ्योरी को पार्टी के सिद्धांतों में शामिल करने के बाद उन्हें पार्टी के संस्थापक माओ के बाद सबसे प्रभावशाली नेता माना जा रहा है।पीकिंग औरसिंघुआ विश्वविद्यालयों में पिछले महीने ही शी जिनपिंग के नए राजनीतिक सिद्धांतों के लिए नए डिपार्टमेंट खोले गए हैं। कई दूसरे चीनी विश्वविद्यालय भी इसी तरह के नए रिसर्च इंस्टीट्यूट खोलने पर विचार कर रहें हैं जो शी के विचारों को और प्रसारित कर पाए। लाल बैनर और पोस्टर पर लिखे शी के राजनीतिक सिद्धांत पूरे देश के हर शहर में लगा दिए गए हैं। पार्टी का मानना है कि ग्रामीण चीन के हर कोने तक टीवी सेट पहुंचाना आसान काम नहीं है। इसके लिए पार्टी हर संभव ट्रांसपोर्टेशन की मदद ले रही है। कार, ट्रैक्टर, मोटरसाइकिल यहां तक की घोड़े की मदद से भी टेलिविजन भेजे जा रहे हैं। ऐसे ही टीवी सेट पाने वाले युआन ने कहा है कि आम लोगों को टेलिविजन देने पार्टी का आम लोगों से प्यार दर्शाता है।

सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरEvening Tips: सूर्यास्त के समय इन कामों को करने से नाराज हो जाती हैं मां लक्ष्मी, भूलकर भी ना करें ये काम******Highlights: हिन्दू धर्म में ऐसा माना जाता है कि सूर्यास्त के बाद कई काम ऐसे हैं जो बिल्कुल भी नहीं करने चाहिए। सूर्योदय और सूर्यास्त को दिन और रात का संधि समय मना जाता है। इसीलिए शास्त्रों में इस समय को काफी महत्त्वपूर्ण माना गया है। शास्त्रों में बताया गया है कि सूर्यास्त के बाद कुछ कामों को करना अशुभ माना जाता है।आपने अपने पुर्वजों से हमेशा सुना होगा कि संध्या के समय सोना नहीं चाहिए और न ही झाड़ू लगानी चाहिए। ऐसा करने से मां लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं। यदि आप ऐसा करते हैं तो आपको कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है । ज्योतिष शास्त्र का मानना है कि शाम के समय माता सरस्वती, माता लक्ष्मी और मां दुर्गा का आगमन होता है। ऐसे में कई चीज़ों का ख्याल रखना जरूरी होता है।हर चीज़ का एक सही समय होता है। जिसकी सही आदत डालना इंसान के लिए बेहद जरूरी होता है। जो लोग शाम के दौरान सोते है उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से उस शख्स की उम्र कम होती है और वह कई तरह की बीमारियों का शिकार हो जाता है। सूर्यास्त और शाम के समय मां लक्ष्मी का घर में आगमन होता है। इसके साथ ही शाम के समय घर के दरवाजे खोले रखें।शास्त्र के अनुसार सूर्यास्त और शाम के दौरान घर में झाडू नहीं लगानी चाहिए। कहते हैं इस दौरान मां लक्ष्मी घरों में प्रवेश करती हैं। यदि आप इस वक्त झाडू लगाते हैं तो वह घर से चली जाती हैं और उस घर में धन की कमी होने लगती है।शास्त्र के अनुसार शाम के समय अपने घर की दहलीज पर नहीं बैठना चहिए। इसे अशुभ माना जाता है। यदि आप ऐसा करते हैं तो आपके घर में मां लक्ष्मी प्रवेश नहीं करेंगी।सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरटाइगर श्रॉफ की 'बागी 2' ने तोड़ा 'जुड़वा 2' का रिकॉर्ड, जानिए अब तक की कुल कमाई****** अभिनीत एक्शन फिल्म '' ने महज 11 दिनों में की '' का लाइफटाइम कलेक्शन का आंकड़ा पार कर लिया है। 'बागी 2' के साथ टाइगर ने अपने समकालीन वरुण को बॉक्स ऑफिस पर दूसरे सप्ताहांत में 22.50 करोड़ की कमाई के साथ पीछे छोड़ दिया है जहां फिल्म शुक्रवार को 5.70 करोड़ की कमाई करने में सफल रही तो वहीं शनिवार को 9.30 करोड़ और रविवार को 9.50 करोड़ की कमाई की यानी फिल्म ने अब तक कुल मिलाकर 135.35 करोड़ रुपये का व्यवसाय कर लिया है।अभिनेता वरुण धवन की फिल्म 'जुड़वा 2' को टाइगर श्रॉफ की एक्शन फ्रेंचाइजी 'बागी 2' ने महज 11 दिन में पीछे छोड़कर बॉक्स ऑफिस पर सफलता का स्वाद चख लिया है। दिलचस्प है कि दोनों फिल्में साजिद नाडियाडवाला के नाम हैं लेकिन 'बागी 2' के साथ टाइगर ने बाजी मार ली है। रितिक रोशन ने पहले ही टाइगर को अल्टीमेट एक्शन हीरो का खिताब दे दिया है। तो वहीं अक्षय कुमार और अनिल कपूर ने भी युवा अभिनेता की खूब सरहाना की है।अभिभूत टाइगर श्रॉफ ने इंस्टाग्राम स्टोरी के जरिए अपने माता-पिता और 'बागी 2' के सह-कलाकारों का धन्यवाद किया है जिन्होंने फिल्म की यात्रा के दौरान उन्हें समर्थन दिया है। अभिनेता ने साजिद नाडियाडवाला को भी उनके प्रेम और समर्थन के लिए धन्यवाद किया है।

सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरफीफा विश्व कप 2018: दूसरे प्री-क्वार्टर फाइनल में उरुग्वे से होगा पुर्तगाल का सामना****** का 21वां संस्करण धीरे-धीरे अपने असल रंग में आ रहा है। ग्रुप दौर खत्म हो चुका है और शनिवार से नॉकआउट दौर शुरू हो रहा है और अंतिम-16 के मैच में फिश्ट स्टेडियम में पुर्तगाल का सामना दो बार की विश्व विजेता उरुग्वे से होगा। प्री-क्वार्टर फाइनल मुकाबलों से अब किसी भी टीम को दोबारा मौका नहीं मिलने वाला है। एक हार और विश्व विजेता बनने का सफर खत्म। ऐसे में हर टीम कदम फूंक-फूंक कर रखेगी और अपनी रणनीति पर पूरी मशक्कत करेगी। पुर्तगाल और उरुग्वे भी जानती हैं कि अब सिर्फ जीत ही उन्हें विश्व कप की रेस में बनाए रख सकती है। विश्व कप में पहली बार है, जब ये दोनों टीमें आमने-सामने हो रही हैं। वैसे कुल तीन बार ये दोनों एक-दूसरे के खिलाफ खेल चुके हैं।दोनों टीमें एक-दूसरे की क्षमता को जानती हैं, इसलिए बेहद अहम मैच में विपक्षी टीम को हल्के में लेने की गलती नहीं करेंगी। पुर्तगाल के पास अभी तक विश्व कप की ट्रॉफी नहीं आई है। इस समय उसकी टीम में विश्व फुटबाल के महान खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो हैं और उन्हीं के दम पर पुर्तगाल विश्व कप जीतने का सपना देख रही है। लेकिन सिर्फ रोनाल्डो पर निर्भर रहना उसे भारी पड़ सकता है। टीम ने हालांकि मैच दर मैच अपने खेल में सुधार किया है और बाकी खिलाड़ियों ने भी टीम में अपना योगदान दिया है। गोल हालांकि रोनाल्डो ने ही ज्यादा किए हैं। उन्होंने अभी तक चार गोल किए हैं, जबकि पूरी टीम ने ग्रुप दौर में पांच गोल दागे हैं।पुर्तगाल की आक्रमण पंक्ति मजबूत हुई है और यही उरुग्वे के लिए खतरा बन सकती है। वहीं अगर उरुग्वे की बात की जाए तो टीम का दोरामदार हमेशा की तरह लुइस सुआरेज और एडिन कवानी पर होगा। इन दोनों के अलावा टीम की ताकत उसका डिफेंस रहा है। उरुग्वे ने ग्रुप दौर के तीन मैचों में एक भी गोल नहीं खाया। ये बताता है कि उसकी रक्षापंक्ति कितनी सफल रही है। हालांकि ग्रुप दौर में मिस्र को छोड़कर कोई भी ऐसी टीम नहीं थी, जिसका अटैक बेहद मजबूत हो या उसके पास विश्व का दिग्गज खिलाड़ी है। मिस्र में हालांकि मोहम्मद सलाह थे जिनको उरुग्वे ने रोके रखा था।अब उसके डिफेंस के सामने रोनाल्डो की बेहद मजबूत चुनौती है जो कहीं से भी किसी भी वक्त गोल करने का माद्दा रखते हैं। उरुग्वे के कोच ऑस्कर तबारेज ने रोनाल्डो के लिए रणनीति तैयार कर ली होगी। अब देखना ये है कि उनकी रणनीति कितनी कारगर साबित होती है और उनके खिलाड़ी उस रणनीति को मैदान पर लागू कर पाते हैं या नहीं। वहीं पुर्तगाल के डिफेंस को भी चुनौती का सामना करना होगा। सुआरेज भी विश्व फुटबॉल का बड़ा नाम हैं। उन्हें रोकना मतलब उरुग्वे को काफी तक मैच से बाहर रखना। गोलकीपर : एंथोनी लोपेज, बेटो और रुई पैट्रीसियो। ब्रूनो आल्वेस, सेड्रिक सोआरेस, जोसे फोंते, मारियो रुई, पेपे, राफेल गरेरो, रिकाडरे परेरा, रुबेन दियास। आंद्रेस सिल्वा, ब्रूनो फर्नांडेस, जाओ मारियो, जाओ मोटिन्हो, मैनुअल फर्नांडिस, विलियम कार्वाल्हो। आंद्रे सिल्वा, बनार्डो सिल्वा, जेल्सन मार्टिन्स, गोनकालो गुएडेस, रिकाडरे क्वारेसमा, क्रिस्टियानो रोनाल्डो। गोलकीपर : मार्टिन कम्पाना, फनाडरे मुस्लेरा, मार्टिन सिल्वा। मार्टिन सेसेरस, सेबेस्टियन कोएट्स, जोस मारिया गिमेंज, डिएगो गोडिन, मेक्सिमिलियानो पीयरा, गेस्टन सिल्वा, गुइलेरमो वरेला। जिर्योजियन डी एरास्कीटा, रोड्रिगो बेंटाकुर, डिएगो लेक्जेल्ट, नाहितन नांदेज, क्रिस्टियन रोड्रिगेज, कार्लोस सांचेज, लुकास टोरीयरा, मेटियास वेसीनो, जोनाथन यूरेताविस्कय। एडिंसन कवानी, मेक्सिमिलियानो गोमेज, लुइज सुआरेज, क्रिस्टियन स्टॉनी।सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरENG vs IND: इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच, तैयारी में जुटे अश्विन, इस टूर्नामेंट में खेलकर खुद को करेंगे तैयार******Highlightsभारत के अनुभवी और स्टार स्पिनर रविचंद्रन अश्विन आईपीएल खत्म होने के बाद अब नए मिशन की तैयारी में लग गए हैं। आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स की तरफ से शानदार प्रदर्शन करने वाले 35 वर्षीय स्पिनर की नजर अब जूलाई में इंग्लैंड के खिलाफ होने वाले एकमात्र टेस्ट पर है।भारतीय टेस्ट टीम के अहम सदस्य फिलहाल किसी टूर्नामेंट में नहीं खेल रहे हैं और ऐसे में उनके पास आराम का भरपूर समय है। लेकिन अश्विन ने इस मौके का फायदा उठाते हुए लाल गेंद के क्रिकेट में खुद को ढालने का फैसला किया है। इसके तहत अश्विन टीएनसीए प्रथम श्रेणी सेमीफाइनल और फाइनल में एमआरसी ए के लिये खेलते दिखेंगे।भारत के इस अनुभवी स्पिनर का कहना है कि एक जुलाई से इंग्लैंड के खिलाफ होने वाले पांचवें टेस्ट से पहले लाल गेंद के क्रिकेट में खुद को ढालने के लिये उन्होंने यह फैसला लिया है। भारतीय टीम 15 जून को इंग्लैंड रवाना होगी जहां एडबस्टन में लीसेस्टरशर के खिलाफ अभ्यास मैच खेलना है।उन्होंने कहा, "प्रथम श्रेणी मैच खेलने का मकसद टी20 से लाल गेंद के प्रारूप में ढलना है। यह सब कार्यभार प्रबंधन की बात है। उम्र और अनुभव के साथ आप चतुर होते जाते हैं।"टेस्ट क्रिकेट में 442 विकेट ले चुके अश्विन ने कहा, "मैं वही करने की कोशिश कर रहा हूं। मैं अपने खेल का मजा ले रहा हूं और इंग्लैंड में भी वही करना चाहता हूं। मुझे लगता है कि मैं बल्ले और गेंद से योगदान दे सकता हूं। मैं अपनी फिटनेस पुख्ता रखना चाहता हूं।"हाल ही में भारत के लिये सर्वोच्च विकेट लेने वाले अनिल कुंबले (619 विकेट) के बाद दूसरे गेंदबाज (442) बने अश्विन ने कहा, "मैने अपने खेल पर बहुत मेहनत की है और मैं बहुत सोचता हूं। मैं अपने खेल से खुश हूं और बहुत आगे के लक्ष्य नहीं बनाता।"

सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरअगले साल से देश में बिकेगा 100 प्रतिशत E10 पेट्रोल, 50 हजार पेट्रोल पंपों पर स्‍थापित होंगे EV चार्जर******E10 petrol blended fuel in the country availability 100 per cent by next year सरकार देश में ई10 पेट्रोल ब्‍लेंडेड ईंधन के कवरेज और उपलब्‍धता को मौजूदा 80 प्रतिशत से बढ़ाकर 100 प्रतिशत करने पर प्रमुखता से काम कर रही है। इसके अलावा सरकार तेजी से इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए देशभर में चार्जिंग नेटवर्क सुविधाएं स्थापित करने के लिए भी काम कर रही है। 61वें सियाम वार्षिक सम्‍मेलन में बोलते हुए सचिव तरुण कपूर ने कहा कि वर्तमान में देश में बिकने वाले 80 प्रतिशत से अधिक पेट्रोल में 10 प्रतिशत एथेनॉल को मिलाया जा रहा है। उन्‍होंने आगे कहा कि पेट्रोल की मांग कोविड से पहले के स्‍तर से 4-5 प्रतिशत बढ़ गई है। उन्‍होंने बताया कि डीजल की मांग थोड़ी घटी है।उन्‍होंने वाहन उद्योग से फ्लेक्‍सीबल फ्यूल व्‍हीकल्‍स के विनिर्माण की दिशा में तेजी से बढ़ने का आग्रह किया। ऐसे वाहन 100 प्रतिशत एथेनॉल और पेट्रोल पर चलने में सक्षम हैं। उन्‍होंने बताया कि भारत में ईवी इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर को समर्थन देने के लिए केंद्र सरकार ने पेट्रोल पंपों पर चार्जिंग स्‍टेशन स्‍थापित करने का लक्ष्‍य बनाया है। सरकार की योजना अगले 2-3 सालों में 75000 पेट्रोल पंपों में से 50,000 पर ईवी चार्जर स्‍थापित करने की है। भारी उद्योग मंत्री महेन्द्र नाथ पांडेय ने कहा कि कि सरकार तेजी से इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए देश भर में चार्जिंग ढांचागत सुविधाएं स्थापित करने के लिए काम कर रही है। राजमार्गों और शहरों में चार्जिंग ढांचागत सुविधाएं स्थापित करने के लिए विभिन्न मंत्रालय और सरकारी विभाग मिलकर काम कर रहे हैं।वाहन उद्योग का देश के जीडीपी में योगदान 6.4 प्रतिशत है। वहीं कुल जीएसटी संग्रह में क्षेत्र का योगदान 50 प्रतिशत है। मंत्री ने कहा कि भारत दुनिया में चौथा सबसे बड़ा वाहन बाजार है और इसीलिए 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य हासिल करने में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि उद्योग को प्रोत्साहन देने के लिए सरकार 1.5 लाख करोड़ रुपये की उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना लेकर आयी है। मंत्री ने कहा कि आत्मनिर्भर मिशन के तहत देश न केवल घरेलू मांग को पूरा करना चाहता है बल्कि विभिन्न अंतरराष्ट्रीय बाजारों को अच्छी गुणवत्ता के उत्पादों का निर्यात भी करना चाहता है।सालकेहुएभारतीयक्रिकेटकेजंबोकुछऐसारहाहैउनकासुनहराकरियरS-400 Triumph: जंग के बीच भी अपना वादा निभाएगा रूस, भारत को 2023 के अंत तक देगा ये घातक हथियार, चीन और पाकिस्तान के छूटेंगे छक्के******Highlights रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध जारी है। ऐसा कयास लगाया जा रहा था कि युद्ध के कारण एस-400 की डिलीवरी होने में समय लगेगा। हालांकिइस युद्ध के बावजूद भीभारत को एस-400 वायु रक्षा प्रणालियों की आपूर्ति जल्द ही कीजाएगी। एक रिपोर्ट की मानें तो साल 2023 के अंत तक भारत को इस सिस्टम की सप्लाई शुरू हो जाएगी। इस वायु रक्षा प्रणाली को भारतीय वायु सेना के बेड़े में सबसे शक्तिशाली हथियार बताया जा रहा है। इस प्रणाली का सौदा भारत के लिए इतना महत्वपूर्ण था कि उसने अमेरिका के खिलाफ जाकर ये सौदा किया था जबकि अमेरिका ने भारत को कई बार प्रतिबंध लगाने की चेतावनी दी थी। इस सिस्टम की पहली खेप दिसंबर 2021 में भारत आई थी। अब इस साल इसकी दूसरी खेप और फिर अगले साल के अंत तक शेष खेप भारत में आने की संभावना है। इस सिस्टम के प्रशक्षिण के लिए लोगों को रूस भेजा गया है, जिन्हें सिस्टम को कैसे संचालित किया जाए उन्हें बताया जाएगा। इस प्रशिक्षण के लिए 400 एयरमैन को मास्को गए थे।S-400 Triumph SA ग्रोलर लंबी दूरी की मिसाइल रक्षा प्रणाली है जिससे दुश्मन को बुलाया जाता है। मॉस्को में जारी आर्मी 2022 इंटरनेशनल मिलिट्री-टेक्निकल फोरम में रूस की सरकारी एजेंसी मिलिट्री-टेक्निकल कॉरपोरेशन, इसके प्रमुख दिमित्री शुगायेव ने मीडिया को इस बारे में अहम जानकारी दी. उन्होंने कहा कि एयर डिफेंस सिस्टम की डिलीवरी एजेंसी शेड्यूल के मुताबिक होगी। रूस 2023 के अंत तक वायु रक्षा प्रणाली की सभी 5 रेजिमेंट वायु सेना को सौंप देगा। रूस की आधिकारिक निर्यात एजेंसी रोसोबोरानेएक्सपोर्ट के सीईओ अलेक्जेंडर मिखेव ने यह जानकारी दी है। साल 2018 में जब रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने भारत का दौरा किया तो दोनों देशों के बीच 5.43 अरब डॉलर में डील साइन हुई थी। इस सौदे में भारत को 5 प्रणालियां मिलनी थीभारतीय वायु सेना के पास जहां एक ही रेजीमेंट है, वहीं पश्चिमी मोर्चे पर पाकिस्तान के खिलाफ इस शक्तिशाली प्रणाली को तैनात किया गया है। इसकी दूसरी रेजिमेंट पूर्वी मोर्चे पर चीन के खिलाफ तैनात की जाएगी। इस प्रणाली के उपकरण रूस से हवाई और समुद्री मार्ग से भारत आए थे। यह प्रणाली न केवल निम्न स्तर पर दुश्मन के लक्ष्य को नष्ट कर सकती है, बल्कि उच्च स्तर पर दुश्मन जीवित नहीं रह सकता है। इसके अलावा यह एक साथ कई मिसाइलों का ऐसा घेरा बनाता है, जिससे लक्ष्य से बचना बहुत मुश्किल होता है। वायु रक्षा प्रणाली 92N6E इलेक्ट्रॉनिक रडार से लैस है। इस वजह से इसे ब्लॉक करना काफी मुश्किल होता है। यह वायु रक्षा प्रणाली दुश्मन के विमानों, बैलिस्टिक मिसाइलों और पूर्व चेतावनी प्रणालियों को नष्ट कर सकती है। साथ ही इसकी रेंज 40 किमी से 400 किमी तक है।

हाल का ध्यान

लिंक