राशिफल 16 अप्रैल 2021: वृष सहित इन राशियों को मिलेगा आर्थिक लाभ, जानिए अन्य का हाल

2022-10-04 16:47:36 बोर्तला मंगोलियाई स्वायत्त प्रान्त

राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालIndependence Day 2020: नियाग्रा फॉल्स पर पहली बार फहराया जाएगा भारतीय झंडा******15 अगस्त को हम 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाने वाले हैं। कोरोना वायरस की वजह से इस दिन को हर साल की तरह नहीं मना पाएंगे लेकिन यह स्वतंत्रता दिवस यादगार होने वाला है। पहली बार भारतीयझंडा नियाग्रा फॉल्स पर फहराया जाएगा। 15 अगस्त की शाम को नियाग्रा फॉल्स पर तिरंगा फहराया जाएगा। नियाग्रा दुनिया के खूबसूरत वॉटरफॉल्स में से एक है।भारतीय झंडा इस साल नियाग्रा फॉल्स के अलावा कनाडा में 553 मीटर ऊंचे सीएम टॉवर, टोरंटो सहित कई स्थानों पर फहराया जाने वाला है।टोरंटो में तिरंगे के ध्वजारोहण को लोग ऑनलाइन देख सकते हैं। कोरोना वायरस के चलते इस प्रोग्राम को ऑनलाइन रखने का फैसला किया गया है। सोशल मीडिया पर ध्वजारोहण समारोह को लाइव देखा जा सकता है।भारत के महावाणिज्यदूत अपूर्व श्रीवास्तव ने हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में कहा- यह बहुत गर्व की बात है कि स्वतंत्रता दिवस पर नियाग्रा फॉल्स, सीएन टॉवर और टोरंटो चिन्ह जैसे प्रतिष्ठित स्थानों को भारतीय तिरंगे में रोशन किया जाएगा।

राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालMP News : किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी का ऐलान, ज्ञानवापी में करेंगी शिव का जलाभिषेक******Highlightsज्ञानवापी (Gyanvapi) की आग अभी थमी भी नही है कि पशुपतिनाथ अखाड़े की किन्नर महामंडलेश्वर हिमांशी सखी ने जबलपुर में मीडिया से बात करते हुए कहा कि हर हाल में वो समस्त संत समाज के साथ 8 अगस्त को ज्ञानवापी में भोलेनाथ पर नर्मदा जल से जलाभिषेक करेंगी। वे 2 अगस्त को जबलपुर से नर्मदा जल लेकर निकलेंगी और 8 अगस्त को जलाभिषेक करेंगी।आखिरी सोमवार को ज्ञानवापी में जलाभिषेकमहामंडलेश्वर हिमांगी ने कहा-'जो बाबा भोलेनाथ हैं ज्ञानवापी के, वहां मुस्लिम समुदाय के लोगों ने आज तक वुजूखाना बना रखा था, हाथ-पैर धोने की जगह बना रखी थी,आज सभी संत मानते हैं कि आखिरी सोमवार को हमें समय दिया जाए ताकि हम वहां शिव जी की पूजा कर सकें, उनका जलाभिषेक कर सकें। हिमांगी सखी के मुताबिक वह सावन के आखिरी सोमवार 8 अगस्त को किन्नर महामंडलेश्वर अर्धनारीश्वर के रूप में अर्धनारीश्वर को जल चढ़ाने जाएंगीं।शिव की पूजा के लिए हम स्वतंत्र नहीं ?उन्होंने कहा-' जो रोकना चाहे रोक ले, जिसे जेल में डालना है डाल ले, हमें फर्क नहीं पड़ेगा। हम ज्ञानव्यापी जाएंगे और जलाभिषेक सभी संत मिलकर करेंगे और अगर नहीं करने दिया जाएगा तो उसी ज्ञानव्यापी पर एक अर्धनारीश्वर अपना जल अभिषेक स्वयं करेगी और अफसोस जताएगी कि हम इस भारत के वासी हैं कि जिस भारत में हम आज भी अपने शिव की पूजा के लिए अर्चना के लिए स्वतंत्र नहीं हैं। हमें भीख मांगना पड़ रहा है उच्च न्यायालय के पास और आखिरी सोमवार आने को है फिर भी उच्च न्यायालय ने एक भी दिन हमें समय मुहैया नहीं करवाया कि सोमवार को जाकर संत महात्मा ज्ञानवापी काशी में जाकर पूजा करें।हजारों संत नर्मदा-यमुना का जल लेकर पहुंचेंगे काशीकिन्नर महामंडलेश्वर के अनुसार हमारे साथ कई हजार से ज्यादा संत रहेंगे।हम नर्मदा जी का जल लेकर चलेंगे उसके बाद दिल्ली जाएंगे। दिल्ली से और शिष्यों को लेंगे और वृंदावन से संत समाज यमुना जल लेकर ज्ञानवापी जाएगा। यह पूछे जाने पर कि उन्होंने अचानक ज्ञानवापी जाने का फैसला क्यों लिया तो महामंडलेश्वर हिमांगी सखी ने कहा कि अचानक यह डिसीजन इसलिए लेना पड़ा क्योंकि हाईकोर्ट डिसीजन ले नहीं रहा है।राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालPonniyin Selvan: मणिरत्नम की फिल्म 'पोन्नियिन सेल्वन' से प्रकाश राज, रहमान, शोभिता धूलिपाला का फर्स्ट लुक आउट******Highlights फिल्म के ट्रेलर के लॉन्च से कुछ ही दिन पहले निर्देशक मणिरत्नम की बहुप्रतीक्षित फिल्म 'पोन्नियिन सेल्वन' की यूनिट ने रविवार को फिल्म में अभिनेता प्रकाश राज, रहमान और जयचित्रा के लुक जारी किए। प्रकाश राज ने सुंदरा चोझर की भूमिका निभाई है, रहमान ने मदुरंतकन की और जयचित्रा ने महाकाव्य फिल्म में सेम्बियन मादेवी की भूमिका निभाई है, जो प्रख्यात लेखक कल्कि के क्लासिक 'पोन्नियिन सेल्वन' पर आधारित है।ट्विटर पर लाइका प्रोडक्शंस, जो मणिरत्नम की मद्रास टॉकीज के साथ फिल्म का निर्माण कर रही है, ने कहा, "हर गुलाब में कांटे होते हैं। सम्राट, रानी मां और बेटा यह सब चाहता है! प्रकाश राज को सुंदर चोजर के रूप में, जयचित्रा सेम्बियान मादेवी के रूप में और अभिनेता रहमान को मदुरंतकम के रूप में मिलें!"फिल्म, जिसका पहला भाग 30 सितंबर को आने वाला है, एक शानदार कहानी है जो राजकुमार अरुलमोझी वर्मन के शुरूआती जीवन के इर्द-गिर्द घूमती है, जो बाद में महान राजा चोझन के रूप में जाने गए।मणिरत्नम की इस ड्रीम प्रोजेक्ट में अभिनेता विक्रम, ऐश्वर्या राय, तृषा, कार्ती, जयम रवि, जयराम, पार्थिबन, लाल, विक्रम प्रभु, जयराम, प्रभु और प्रकाश राज सहित कई बड़े सितारे हैं।यह फिल्म देश में अब तक की सबसे महंगी परियोजनाओं में से एक होगी।

राशिफल 16 अप्रैल 2021: वृष सहित इन राशियों को मिलेगा आर्थिक लाभ, जानिए अन्य का हाल

राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालCongress President Election: कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने की खबरों के बीच अशोक गहलोत से मिले शशि थरूर, आधा घंटे तक चली बैठक******Highlightsकांग्रेस में अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए हलचल तेज है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की बैठकें जारी हैं। कुछ दिनों पहले खबर आई थी कि G-23 की तरफ से शशि थरूर अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ सकते हैं। वहीं गांधी परिवार अशोक गहलोत को चुनाव में उतारने की तैयारी कर रहा है। वहीं इन ख़बरों के बीच कल रविवार को दिल्ली में इन दोनों नेताओं को गुपचुप बैठक हुई है।सूत्रों के अनुसार यह बैठक अत्यंत गुपचुप तरीके से हुई और इस बैठक में दोनों ने पार्टी के भविष्य के कदमों और अध्यक्ष के चुनाव को लेकर चर्चा की है। सूत्रों ने बताया कि थरूर रविवार दोपहर दिल्ली के जोधपुर हाउस पहुंचे और गहलोत से मुलाकात की। सूत्रों ने जानकारी दी कि गहलोत और थरूर के बीच हुई करीब आधे घंटे की मुलाकात के दौरान पार्टी के भविष्य के कदमों तथा अध्यक्ष के चुनाव के संदर्भ में चर्चा हुई।कांग्रेस की ओर से घोषित चुनाव कार्यक्रम के अनुसार, 22 सितंबर को पार्टी अध्यक्ष पद के चुनाव की अधिसूचना जारी होगी। इसके बाद 24 सितंबर से नामांकन दाखिल किए जा सकते हैं और यदि एक से अधिक उम्मीदवार हुए तो 17 अक्टूबर को मतदान होगा।सूत्रों ने बताया कि थरूर ने अभी अपना मन नहीं बनाया है लेकिन वह जल्द ही इस पर फैसला कर सकते हैं। आपको बता दें कि थरूर ने इस पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है कि वह इस मुकाबले में शामिल होंगे या नहीं। उन्होंने मलयालम दैनिक अखबार मातृभूमि में एक लेख लिखा है, जिसमें उन्होंने ‘‘स्वतंत्र एवं निष्पक्ष’’ चुनाव कराने का आह्वान किया है। इस लेख में उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्य समिति (CWC) की दर्जन भर सीटों के लिए भी पार्टी को चुनाव की घोषणा करनी चाहिए।राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालराशिफल 31 अक्टूबर: छठ पूजा और माह का आखिरी दिन इन राशियों के लिए होगा अच्छा, जानें बाकी राशियों का हाल******कार्तिक शुल्क पक्ष की चतुर्थी तिथि और गुरूवार का दिन है। आचार्य इंदु प्रकाश के अनुसार चतुर्थी तिथि देर रात 1 बजकर 2 मिनट तक रहेगी। साथ ही सूर्योदय से लेकर रात 09 बजकर 31 मिनट तक स्थिर योग रहेगा। ये योग रोग आदि से छुटकारा पाने के लिये बड़ा ही शुभ होता है । इसके साथ ही गुरुवार को सूर्य षष्ठी व्रत की शुरुआत है। आज सूर्य षष्ठी व्रत, यानि कि छठ पूजा का पहला दिन है। दीपावली के बाद बड़े त्योहारों में शामिल छठ पूजा का बड़ा ही विशेष महत्व है। छठ पूजा का यह व्रत मुख्य रूप से संतान की लंबी आयु, पारिवारिक सुख-समृद्धि, अच्छी सेहत और मनोवांछित फल की प्राप्ति के लिए किया जाता है। छठ पूजा का ये त्योहार पूरे चार दिनों तक मनाया जाता है। जानें आचार्य इंदु प्रकाश से कैसा बीतेगा आपका दिन।आज आपका दिन अनुकूल रहेगा। किसी खास काम में आपको फायदा मिल सकता है। भाई-बहन के साथ आपके संबंध बेहतर होंगे। जीवनसाथी आपकी बात से प्रभावित हो सकते हैं। बिजनेस के मामलों में दिन अच्छा हो सकता है। सामाजिक कामों में सफलता मिलने के योग बन रहे हैं। दोस्तों से आपको मदद मिल सकती है। कुछ नए कामकाज आपके सामने आयेंगे और उसके लिए जरूरी लोगों से भी मुलाकात हो सकती है। गणेश जी को लाल पुष्प चढ़ाएं, दोस्तों से संबंध बेहतर होंगे।आज आपका दिन शानदार रहेगा। कामकाज से जुड़ी कोई बड़ी चुनौती आपके सामने आयेगी। साथ ही आप इसमें सफल भी होंगे। घर का माहौल खुशनुमा बना रहेगा। आपको अचानक धन लाभ के अवसर प्राप्त होंगे। आपको किस्मत का पूरा-पूरा साथ मिलेगा। साथ ही दूसरे लोग आपके कामकाज से प्रभावित भी होंगे। आपकी तरक्की के नये रास्ते खुलेंगे। परिवार में मधुरता के साथ विश्वास भी बढ़ेगा। किसी खास व्यक्ति से आपकी मुलाकात होगी। जरूरतमंद को वस्त्र दान करें, सफलता आपके कदम चूमेगी।राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालSuresh Raina: सुरेश रैना के संन्यास के बाद CSK का आया जवाब, इरफान ने जताई ये इच्छा, फैंस भी हुए भावुक******Highlightsपूर्व भारतीय क्रिकेट सुरेश रैना ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिय़ा है। इसका मतलब है कि वह अब आईपीएल समेत भारत की किसी भी घरेलू टूर्नामेंट या लीग से खेलते नहीं दिखेंगे। इससे पहले उन्होंने 15 अगस्त 2020 को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया था और उसके बाद से आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेल रहे थे। लेकिन पिछले साल मेगा ऑक्शन से पहले सीएसके ने उन्हें रिलीज कर दिया और फिर नीलामी में भी उनमें कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। आईपीएल में 5000 से अधिक रन बनाने वाले रैना पहली बार आईपीएल की नीलामी में अनसोल्ड रहे। इसके बाद वह कई बार कमेंट्री करते भी दिखे। घरेलू क्रिकेट में उत्तर प्रदेश के लिए खेलने वाले रैना ने भारत के लिए 300 से अधिक अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले। उन्होंने मंगलवार को अपने संन्यास के फैसले की जानकारी देते हुए उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ, बीसीसीआई और चेन्नई सुपर किंग्स को भी धन्याद दिया। रैना के ट्वीट पर उनकी पुरानी आईपीएल फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपर किंग्स ने भी रिप्लाई किया।सीएसके ने रैना के ट्वीट पर कमेंट करते हुए कहा, “हम कभी नहीं भूलेंगे कि चिन्ना थाला हम में से प्रत्येक के लिए क्या मायने रखता है! धन्यवाद, मिस्टर आईपीएल!”रैना के पोस्ट पर पूर्व भारतीय ऑलराउंडर और साथ में खेल चुके इरफान पठान वने भी अपनी प्रतिक्रिया दी। पठान ने लिखा, “आगे भविष्य के लिए शुभकामनाएं भाई, उन कवर ड्राइव्स को अभी भी देखना चाहते हैं।“पूर्व क्रिकेटर और स्पिनर अमित मिश्रा ने कहा कि क्रिकेट और आईपीएल का हर प्रशंसक आपको देश और सीएसके के लिए खेली गई आपकी पारियों के लिए याद रखेगा। आप टीम के लिए एक महान संपत्ति थे। हमें "रैना, है ना" कहने वाले कई पल देने के लिए धन्यवाद।मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो रैना ने विदेशी लीग में खेलने के लिए यह कदम उठाया है। ऐसी अटकलें भी हैं कि यह ऑलराउंडर खिलाड़ी अगले साल से शुरू हो रही दक्षिण अफ्रीका की टी20 लीग में खेल सकते हैं। इस लीग में भी चेन्नई सुपर किंग्स के मालिकों ने जोहान्सबर्ग की फ्रेंचाइजी को खरीदा है। यह लीग आईपीएल की तर्ज पर ही खेली जाएगी, जिसमें सभी छह टीमें आईपीएल फ्रेंचाइजियों के मालिकों की तरफ से ही खरीदी गई है।

राशिफल 16 अप्रैल 2021: वृष सहित इन राशियों को मिलेगा आर्थिक लाभ, जानिए अन्य का हाल

राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालदो साल में आम आदमी भी कर सकेंगे सैटेलाइट फोन का इस्‍तेमाल, BSNL शुरू करेगी सर्विस****** सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी BSNL का इरादा दो साल में देश के सभी नागरिकों के लिए सैटेलाइट फोन सेवा पेश करने का है। यह सेवा देश के किसी भी कोने में काम कर सकेगी और प्राकृतिक आपदा के समय मोबाइल सेवाएं ठप होने के बावजूद भी काम करती रहेगी। BSNL के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक अनुपम श्रीवास्तव ने कहा कि हमने अंतरराष्ट्रीय समुद्री संगठन के पास आवेदन किया है। प्रक्रिया को पूरा करने में कुछ समय लगेगा। डेढ़ से दो साल में हम सभी नागरिकों को चरणबद्ध तरीके से सैटेलाइट फोन सेवा उपलब्ध कराने की स्थिति में होंगे।ITI करने वाले छात्रों को मिलेगा CBSE बोर्ड परीक्षा के बराबर दर्जा, आगे कर सकेंगे ग्रेजुएशन और इंजीनियरिंग जैसी पढ़ाईश्रीवास्तव ने कहा कि सैटेलाइट फोन देश के किसी भी हिस्से में काम कर सकेंगे। यहां तक कि विमानों और जहाजों में भी। ये धरती से 35,700 किलोमीटर ऊपर उपग्रहों के सिग्नल पर निर्भर होंगे। BSNL ने INMARSAT सेवा के जरिये सैटेलाइट फोन सेवा की शुरुआत की है। वर्तमान में यह सेवा सरकारी एजेंसियों को उपलब्ध है। बाद में नागरिकों तक इसका चरणबद्ध तरीके से विस्तार किया जाएगा।सेंसेक्स में शामिल शीर्ष 10 में से 8 कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 93,225 करोड़ रुपए बढ़ा, आईटीसी को सबसे अधिक लाभसर्वप्रथम BSNL की यह सेवा उन क्षेत्रों में उपलब्ध होगी जहां फिलहाल कोई नेटवर्क नहीं है। INMARSAT के जरिए यह सैटेलाइट फोन सेवा उपलब्ध कराई जाएगी। INMARSAT के 14 सैटेलाइट हैं।राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालIRE vs NZ: माइकल ब्रेसवेल ने हैट्रिक लेकर बटोरी सुर्खियां, ईश सोढ़ी ने न्यूजीलैंड को जिताया मैच, आयरलैंड पर बनाई अजेय बढ़त******Highlightsकिसी टी20 मैच में हैट्रिक लेने का मतलब है जीत को लगभग पक्की करना और सुर्खियों में छा जाना। आयरलैंड के खिलाफ सीरीज के दूसरे मैच में माइकल ब्रेसवेल ने यही किया। उन्होंने सिर्फ पांच गेंदें डाली, लगातार तीन विकेट चटकाकर करियर का पहला हैट्रिक अपने नाम किया और मुकाबले को कीवियों की झोली में डाल दिया।ब्रेसवेल ने अपने पहले ओवर की तीसरी गेंद पर 27 रन पर बल्लेबाजी कर रहे मार्क एडेयर को आउट किया। चौथी गेंद पर 11 रन बनाकर क्रीज में डटे बैरी मैक्कार्थी को पवेलियन भेजा और पांचवीं गेंद पर खाता खोलने का मौका दिए बगैर क्रेग यंग को चलता किया। उनकी इस कामयाबी ने 180 रन के लक्ष्य का पीछा कर रहे आयरलैंड को 91 रन पर समेट दिया। यह बेहतरीन प्रदर्शन था, लेकिन न्यूजीलैंड की जीत तय करने वाले असल खिलाड़ी थे ईश सोढ़ी।सोढ़ी ने आयरलैंड के पांचवें, छठे और सातवें नंबर के बल्लेबाज को आउट किया, जिसमें कर्टिस कैंफर और लॉर्कन टकर और जॉर्ज डॉकरेल जैसे खतरनाक बल्लेबाज शामिल थे। उन्होंने टकर और डॉकरेल को लगातार दो गेंदों पर आउट किया और न्यूजीलैंड की जीत सोढ़ी की इन दो सफलताओं से ही लगभग तय हो गई।पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड की टीम में डेन क्लीवर अकेले बल्लेबाज थे जिन्होंने आयरलैंड के खिलाफ एक बड़ी पारी खेलने में कामयाबी पाई। क्लीवर ने तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 55 गेंदों पर 77 रन बनाए और आखिर तक आउट नहीं हुए। उन्होंने कीवी टीम की बल्लेबाजी में धुरी की तरह काम किया जिनके ईर्द गिर्द तमाम दूसरे बल्लेबाज आते-जाते रहे। क्लीवर की इस पारी की बदौलत न्यूजीलैंड ने 179 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया।न्यूजीलैंड ने आयरलैंड को दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में 88 रन से करारी शिकस्त देकर तीन मैचों की सीरीज मे 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली। न्यूजीलैंड के 179 रन के जवाब में आयरलैंड की टीम 13.5 ओवर में 91 रन ही बना सकी। ये कीवियों की मेजबान टीम पर लगातार पांचवीं जीत थी। इससे पहले मलाहाइड में हुई वनडे सीरीज में मेजबान टीम का 3-0 से क्लीन स्वीप हुआ था।टी20 सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच शुक्रवार को भारतीय समय के अनुसार रात 8.00 बजे शुरू होगा।

राशिफल 16 अप्रैल 2021: वृष सहित इन राशियों को मिलेगा आर्थिक लाभ, जानिए अन्य का हाल

राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालAngry Foods: इन फूड्स को खाने से पारा हो जाता है हाई, गर्म मिजाज के लोग बनाएं दूरी******Highlightsगुस्सा आने के पीछे कई वजहें हो सकती हैं। इनमें आर्थिक परेशानी, अपनों से धोखा, पारिवारिक विवाद, जमीनी विवाद, दफ्तर में काम का प्रेशर, टेंशन और तनाव जैसी न जाने कितने कारण हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कुछ खायी जाने वाली चीज़ें भी इंसान को गुस्सा दिलाने का काम करती हैं। आज हम आपको गुस्सा दिलाने वाले कुछ खाद्य पदार्थों के बारे में बताएंगे। ये वो खाद्य पदार्थ हैं जिनका हम रोज़ाना सेवन करते हैं।कॉफी बहुत ज़्यादा लोग पीते हैं। आपने देखा होगा वर्कआउट करने वाले लोग ब्लैक कॉफी का सेवन करते हैं। आलस या थकान होने पर व्यक्ति कॉफी का सेवन करते ही एनर्जेटिक हो जाता है। ये सब कुछ कैफीन के कारण होता है। एनर्जी हाई होने पर ये दिमाग को ट्रिगर करता है और एग्रेशन को बढ़ा सकता है। इसलिए कॉफी का अधिक सेवन करने से बचना चाहिए।मसालेदार भोजन से शरीर को गर्मी मिलती है। यदि आपके शरीर में पहले से ही गर्मी है तो आपको उसे और अधिक ईधन देने की जरूरत नहीं है। शरीर को और अधिक हीट देने पर पित्त दोष बढ़ जाएगा, जो गुस्से को बढ़ाने का काम करेगा।आपने देखा होगा जो लोग तीखा या ज़्यादा मसालेदार भोजन करते हैं, उनको गुसा ज़्यादा आता है।फूलगोभी खाने से आपकी बॉडी में एक्सा एयर बनने लगती है जिसकी वजह से गैस और सूजन का खतरा पैदा हो जाता है, और यही आपके गुस्से की वजह बन जाता है। ब्रोकोली के साथ भी यही समस्या पेश आती है।टमाटर एक ऐसी सब्जी है जिसके बिना हमारी रेसेपीज का जायका अधूरा रहता है। इसके खाने के यूं तो कई फायदे हैं, लेकिन लेकिन इसे गर्म आहार समझा जाता है। ये शरीर में गर्मी बढ़ा सकता है और इंसान को गुस्सा आ सकता है।खीरा और तरबूज खाने से भले ही हमारी बॉडी हाइड्रेट रहती हो, लेकिन ये क्रोध को बढ़ाने के लिए भी जिम्मेदार हो सकता है। अगर आप तनाव में हों तो इन फलों को न खाएं।बैंगन में एसिडिक कंटेंट ज्यादा होता जो आपके दिमाग में गुस्सा पैदा कर सकता है। अगर आपको लगे कि इस सब्जी के खाने के बाद गुस्सा आने लगता है तो इसको खाना कम कर दें।Aaj Ka Rashifal 9 August 2022: इन 5 राशियों को बिजनेस में होगा मुनाफा

राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालM&M February 2020 sales: महिंद्रा एंड महिंद्रा की बिक्री फरवरी में 42 प्रतिशत गिरी, निर्यात भी 40 फीसदी घटा******Mahindra and Mahindra sales fall 42 per cent to 32,476 units in February 2020 वाहन कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा की बिक्री फरवरी महीने में सालाना आधार पर 42 प्रतिशत गिरकर 32,476 इकाइयों पर आ गयी। कंपनी ने एक बयान में रविवार को इसकी जानकारी दी। कंपनी ने कहा कि उसने पिछले साल फरवरी महीने में 56,005 वाहनों की बिक्री की थी। कंपनी की घरेलू बिक्री इस दौरान 42 प्रतिशत गिरकर पिछले साल की 52,915 इकाइयों की तुलना में 30,637 इकाइयों पर आ गयी। इस दौरान निर्यात भी पिछले साल की 3,090 इकाइयों की तुलना में 40 प्रतिशत गिरकर 1,839 इकाइयों पर आ गयी। कंपनी ने यूटिलिटी वाहनों, कारों और वैन समेत यात्री वाहन श्रेणी में फरवरी 2020 में 10,938 वाहनों की बिक्री की। यह फरवरी 2019 में इस श्रेणी में बिके 26,109 वाहनों की तुलना में 58 प्रतिशत कम है। इस दौरान कंपनी के वाणिज्यिक वाहनों की साल भर पहले की 21,154 इकाइयों से 25 प्रतिशत गिरकर 15,856 इकाइयों पर आ गयी।मध्यम एवं भारी वाणिज्यिक वाहनों के खंड में भी बिक्री 686 इकाइयों की तुलना में कम होकर 436 इकाइयों पर आ गयी। कंपनी के प्रमुख (बिक्री एवं विपणन, वाहन खंड) विजय राम नाकरा ने कहा, 'भारत स्टेज-4 वाहनों के उत्पादन में फरवरी महीने में हमारी योजना के अनुसार कमी आयी। हालांकि चीन से कल-पुर्जों की आपूर्ति बाधित होने से भारत स्टेज-6 वाहनों का उत्पादन प्रभावित हुआ है।' इसका असर भंडार पर पड़ा है और अभी डीलरों के पास महज 10 दिन के योग्य वाहनों का भंडार रह गया है। उन्होंने कहा कि मार्च में परिस्थितियां सामान्य होने से पहले कुछ सप्ताह तक कल-पुर्जों की आपूर्ति को लेकर चुनौतियां बनी रहने का अनुमान है।राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालIMF Proposals: बोलीविया के राष्ट्रपति ने आईएमएफ के प्रस्तावों को ठुकराया, मजदूर वर्ग के लिए बताया हानिकारक******Highlightsबोलीविया के राष्ट्रपति लुइस एर्स ने देश की अर्थव्यवस्था को पुनर्निर्देशित करने के उद्देश्य से अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की सिफारिशों को अस्वीकार कर दिया है और उनकी सरकार द्वारा अपनाए गए आर्थिक मॉडल की स्वतंत्रता और प्रभावकारिता की पुष्टि की है। एर्स ने शुक्रवार को एक सोशल मीडिया पोस्ट में कहा, "हमारा 'आर्थिक, सामाजिक, सामुदायिक, उत्पादक मॉडल' संप्रभु है और सामाजिक और आर्थिक असमानताओं को कम करने में अपनी सफलता का प्रदर्शन जारी है।"IMF की सिफारिशें सरकार के पक्ष में नहीं थीराष्ट्रपति ने कहा, "इसीलिए हम हैशटैग IMF के प्रस्तावों को स्वीकार नहीं करते हैं, जो लोगों, खासकर मजदूर वर्ग के लिए हानिकारक होगा।" गुरुवार को जारी एक रिपोर्ट में, IMF ने बोलीविया को अपनी राष्ट्रीय मुद्रा और अमेरिकी डॉलर के बीच विनिमय दर का पुनर्मूल्यांकन करने की सिफारिश की, जो 2011 से ही ईंधन और कुछ आर्थिक क्षेत्रों की सरकारी सब्सिडी बनी हुई है। रिपोर्ट के जवाब में, अर्थव्यवस्था और सार्वजनिक वित्त मंत्री, मार्सेलो मोंटेनेग्रो ने कहा कि सब्सिडी के संबंध में IMF की सिफारिशें विरोधाभासी थीं और सरकार की उनका पालन करने की कोई योजना नहीं थी।राष्ट्रपति ने IMF के फॉर्मूले को पुराना बताते हुए खारिज कियाराष्ट्रपति ने IMF के फॉर्मूले को पुराना बताते हुए खारिज कर दिया और कहा कि वे पिछले दशकों में नव-उदारवादी सरकारों द्वारा लागू किए गए थे, लेकिन अब वे खासकर बोलीविया में व्यवहार्य नहीं हैं। मोंटेनेग्रो ने कहा कि स्थिर विनिमय दर राष्ट्रीय मुद्रा की ताकत के कारण है, इस बात पर जोर देते हुए कि प्रत्येक देश को IMF द्वारा मुक्त अपनी आर्थिक और वित्तीय नीति को एक संप्रभु तरीके से तैयार करना और लागू करना चाहिए।

राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालMitali Express: भारत और बांग्लादेश के बीच बढ़ा रेल संपर्क, 'मिताली एक्सप्रेस' को दोनों देश के रेल मंत्रियों ने दिखाई हरी झंडी******Highlightsभारत और बांग्लादेश के बीच रेल सेवा को और आगे बढ़ाते हुए बुधवार को न्यू जलपाईगुड़ी तथा ढाका के बीच चलने वाली मिताली एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया गया। उत्तर पूर्व फ्रंटियर रेलवे (एनएफआर) के अधिकारी ने यह जानकारी दी। दोनों देशों के बीच मैत्री और बंधन एक्सप्रेस ट्रेन पहले से ही चल रही हैं। ये ट्रेन कोलकाता से ढाका और खुलना स्टेशनों के बीच संचालित हो रही हैं। एनएफआर के प्रवक्त सब्यसाची डे ने कहा, ‘‘भारतीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव और उनके बांग्लादेशी समकक्ष मोहम्मद नूरुल इस्लाम सुजान ने बुधवार को सुबह नौ बजकर 20 मिनट पर मिताली एक्सप्रेस को ऑनलाइन हरी झंडी दिखा कर रवाना किया।’’उन्होंने बताया कि यह ट्रेन सप्ताह में दो दिन चलेगी। रविवार और बुधवार को यह यहां से दिन में 11 बजकर 45 मिनट पर रवाना होगी, वहीं ढाका से यह सोमवार और बृहस्पतिवार को रात नौ बजकर 15 मिनट पर चलेगी। यह पूरी तरह से वातानुकूलित है और इसमें चार चेयर कार और चार स्लीपर कोच हैं।मिताली एक्सप्रेस से भारत और बांग्लादेश के बीच बढ़ेगी दोस्ती: वैष्णवरेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि- ''मिताली एक्सप्रेस भारत और बांग्लादेश के बीच की दोस्ती को बढ़ाने, संबंध को मजबूत करने और सुधारने में एक मील का पत्थर साबित होगा। यह ऐसा समय है जब हमें अपने रिश्तों को मजबूत करने और दो देशों के बीच के व्यापार को बढ़ाने के लिए और बड़े कदम उठाने चाहिए।''पर्यटन और व्यापार को मिलेगा बढ़ावाएनएफआर के महाप्रबंधक अंशुल गुप्ता उद्घाटन के मौके पर न्यू जलपाईगुड़ी रेलवे स्टेशन पर मौजूद थे। उन्होंने कहा कि नयी ट्रेन सेवा से बांग्लादेश और उत्तर पश्चिमी बंगाल के बीच पर्यटन और व्यापार को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। स्थानीय सांसद जयंत रॉय ने कहा कि ट्रेन सेवा से यात्रा कारोबार से जुड़े लोगों की लंबित मांग पूरी होगी।राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालगुरुग्राम में अमेरिका, कनाडा के नागरिकों को ठगने वाले फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़, 24 गिरफ्तार******Highlightsशुक्रवार और शनिवार की दरम्यानी रात में मुख्यमंत्री के उड़न दस्ते, डीएलएफ फेज-2 थाना और साइबर क्राइम पुलिस की टीम ने एक फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़ कर 10 महिलाओं और मालिक समेत 24 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक, डीएलएफ फेज-2 में एक घर के ग्राउंड फ्लोर से संचालित कॉल सेंटर तकनीकी सहायता के नाम पर अमेरिका और कनाडा के नागरिकों को ठगता था और गिफ्ट कार्ड के जरिए 500 से 1,000 डॉलर सर्विस चार्ज लेता था।कथित कॉल सेंटर के कर्मचारी पीड़ितों को कनाडा बॉर्डर सर्विस एजेंट, फाइनेंशियल क्राइम यूनिट ब्यूरो ऑफ नारकोटिक्स और कैनेडियन इंटेलिजेंस सर्विस के अधिकारी के रूप में बुलाते थे और उन पर ड्रग्स पेडलिंग और मनी लॉन्ड्रिंग के मामलों में शामिल होने का आरोप लगाते थे और उनसे पैसे वसूलते थे। आरोपी ने चार महीने के लिए फ्लोर रेंट के रूप में 1.50 लाख रुपये प्रति माह का भुगतान भी किया था। ने मौके से 2.50 लाख रुपये नकद, दो सीपीयू और इतने ही मोबाइल फोन बरामद किए हैं। रेवाड़ी जिले के कोसली निवासी कॉल सेंटर के मालिक उमेश यादव को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।पुलिस के अनुसार, फ्लाइंग स्क्वायड, डीएलएफ फेज-2 थाना और साइबर क्राइम पुलिस की एक टीम ने सीएम फ्लाइंग विंग के डीएसपी इंद्रजीत सिंह यादव और एसीपी, डीएलएफ संजीव बलहारा के नेतृत्व में एक गुप्त सूचना के बाद कॉल सेंटर पर छापा मारा। वहां उन्होंने 14 लड़कों और 10 लड़कियों को देखा जो अमेरिकी राष्ट्र के साथ अंग्रेजी भाषा (अमेरिकी उच्चारण) में संवाद कर रहे थे।यादव ने कहा, "कर्मचारी कॉल सेंटरों पर कार्यरत थे, जो बिना अनुमति के संचालित किए जा रहे थे। साथ ही, केंद्र के पास दूरसंचार विभाग (डीओटी) द्वारा जारी कोई लाइसेंस नहीं था।" पूछताछ के दौरान, आरोपी मालिक ने खुलासा किया कि वे तकनीकी सहायता प्रदान करने के लिए अमेरिका और कनाडाई नागरिकों के साथ संवाद करते थे और पॉप-अप भेजते थे और सेवा शुल्क के रूप में प्रति ग्राहक लगभग 500 डॉलर से 1,000 डॉलर चार्ज करते थे। आगे की जांच के लिए डीएलएफ फेज -2 पुलिस स्टेशन में आईटी अधिनियम सहित भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की संबंधित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालRajat Sharma’s Blog | टारगेटेड किलिंग्स : कश्मीर में क्यों हताश हैं आतंकी******कश्मीर घाटी में आतंकियों द्वारा टारगेटेड किलिंग्स को रोकने के लिए सरकार अब और सख्ती करेगी। घाटी में निर्दोष लोगों की हत्या की घटनाओं से निपटने के लिए शुक्रवार को दिल्ली में गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में बैक-टू-बैक दो बड़ी मीटिंग हुई। मीटिंग में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवल, गृह सचिव अजय भल्ला, खुफिया ब्यूरो, रॉ, सीआरपीएफ, बीएसएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस के अधिकारी शामिल हुए।बैठक में यह फैसला लिया गया कि सुरक्षा से जुड़ी रणनीति और सुरक्षा तंत्र में बदलाव किया जाएगा। टारगेटेड किलिंग्स रोकने के लिए सिक्योरिटी और ज्य़ादा मजबूत की जाएगी। जमीनी स्तर पर पुलिसिंग को और मजबूत करने और आतंकी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए श्रेष्ठ पुलिसकर्मियों की पहचान की जाएगी। इन पुलिसकर्मियों को स्पेशल ट्रेनिंग दी जाएगी और थानों में तैनात किया जाएगा।उन हथियारबंद नौजवानों पर नजर रखी जाएगी जो हाइब्रिड आतंकी के तौर पर काम कर रहे हैं। ऐसे नौजवान कश्मीरी हिंदुओं और कश्मीर में काम करनेवाले प्रवासी लोगों की टारगेट किलिंग करते हैं और पहचान से बचने के लिए आम लोगों के बीच शामिल हो जाते हैं। इनमें से कुछ नौजवानों ने 'कश्मीर फ्रीडम फाइटर्स' (केएफएफ) नामक एक नए आतंकी ग्रुप का हिस्सा होने का दावा किया है। कश्मीरी हिंदुओं और घाटी में काम करनेवाले प्रवासी लोगों के बीच खौफ पैदा करने के लिए पुलिस द्वारा पहले से पहचाने गए आतंकियों ने हाइब्रिड आतंकियों के साथ मिलकर हत्या के लिए सॉफ्ट टारगेट चुनना शुरू कर दिया है। ये सुरक्षा बलों को निशाना नहीं बनाते बल्कि निहत्थे और अकेले सिविलियन्स को निशाना बनाते हैं। टारगेटेड किलिंग्स रोकने के लिए सुरक्षा और ज्य़ादा मजबूत की जाएगी। संवेदनशील इलाक़ों में गश्त बढ़ाई जाएगी। रिजर्व पुलिस बल की मदद से थानों में पुलिसकर्मियों की संख्या बढ़ाई जाएगी। ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे आतंकवादियों का पता लगाकर उन्हें खत्म किया जाएगा।वहीं एक अन्य मीटिंग में के लिए सुरक्षा प्लानिंग पर चर्चा हुई। आतंकी इस यात्रा को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर सकते हैं। यात्रा की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त आर्मी यूनिट और केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को तैनात किया जाएगा। यात्रा की निगरानी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जाएगा। साथ ही यात्रा मार्ग में स्नाइपर्स भी तैनात रहेंगे। इस यात्रा का काफिला बख्तरबंद वाहनों के साये के बीच गुजरेगा। किसी भी हालात से निपटने के लिए आपातकालीन योजनाएं बनाई गई हैं।मीटिंग में यह बताया कि बड़े आतंकी ग्रुप अपने आकाओं के साथ सरहद के उस पार बैठे हुए हैं और घाटी के हालात में आए व्यापक बदलाव से चिंतित हैं। 31 मई तक घाटी में 9.9 लाख पर्यटक आ चुके हैं और यह सरहद पार बैठे हुए आतंकियों के पाकिस्तानी आकाओं के लिए चिंता का कारण बना हुआ है।यही मुख्य वजह है कि घाटी में कश्मीरी हिंदुओं और प्रवासी लोगों की टारगेट किलिंग के लिए 'हाइब्रिड' आतंकियों का इस्तेमाल किया जा रहा है। ये आतंकी आसानी से आबादी में घुल-मिल जाते हैं। अब आतंकियों की योजना को विफल करने के लिए केंद्र ने यह फैसला लिया कि घाटी में काम कर रहे हिन्दुओं का ट्रांसफर तो नहीं होगा। क्योंकि टारगेट किलिंग के दबाव में आकर ऐसा फैसला लेने से आतंकवादियों का मकसद पूरा हो जाएगा। इसलिए टारगेटेड किलिंग्स रोकने के लिए सुरक्षा और ज्य़ादा मजबूत की जाएगी। कश्मीरी पंडितों और प्रवासी लोग, जो अलग-अलग इलाकों में रह रहे हैं और जहां सिक्युरिटी कम है, उन्हें अस्थाई तौर पर जिला और तहसील मुख्यालयों में सुरक्षित ठिकानों पर ले जाया जाएगा। एक सीनियर अधिकारी ने कहा, '1990 में जिस तरह का जातीय संहार हुआ था, उस तरह के हालात हम फिर नहीं चाहते। हम बहु-सांस्कृतिक समाज में विश्वास करते हैं।'अच्छी खबर ये है कि घाटी में टारगेटेड किलिंग्स के खिलाफ कश्मीरी मुलमान भी आवाज उठा रहे हैं। पिछले एक महीने में आतंकियों ने 9 बेगुनाह निहत्थे लोगों की हत्या कर दी है। राजस्थान के एक ग्रामीण बैंक मैनेजर और बिहार के एक मजदूर की हत्या के एक दिन बाद शुक्रवार को आतंकियों ने शोपियां जिले के अगलर जैनापोरा इलाके में प्रवासी मजदूरों पर ग्रेनेड से हमला किया। इस हमले में दो प्रवासी मजदूर घायल हो गए।इन टारगेट किलिंग्स के ख़िलाफ़ शुक्रवार को श्रीनगर के लाल चौक पर विरोध प्रदर्शन हुआ जबकि अनंतनाग मस्जिद के इमाम ने जुमे की नमाज के बाद कहा कि बेगुनाह लोगों को मारना जिहाद नहीं है। वो इसका कड़ा विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि इस्लाम ने ऐसे जिहाद की इजाजत नहीं दी है कि किसी अल्पसंख्यक पर या किसी और पर जुल्म किया जाए या मजहब की वजह से किसी का कत्ल किया जाए। उन्होंने अपील की कि कश्मीर के मुसलमान बाहर निकलकर इन आतंकवादी हमलों का विरोध करें।कश्मीर घाटी के ग्रैंड मुफ़्ती ने भी बेगुनाह इंसानों की हत्या की मजम्मत की है। मुफ़्ती नसीर उल इस्लाम ने कहा कि कश्मीरी पंडित हों या फिर डोगरा समुदाय के लोग, ये कश्मीर और कश्मीरियत का अभिन्न हिस्सा हैं। उन्हें कश्मीर छोड़कर नहीं जाना चाहिए। उन्होंने कहा-'कश्मीरी मुसलमान अपने पंडित भाइयों के साथ हैं।' में जिस तरह से निहत्थे और बेकसूर लोगों की हत्याएं हुई हैं, वो दुखद है। ये बड़ा चैलेंज है। लेकिन इसका मतलब ये नहीं लगाया जाना चाहिए कि कश्मीर में पिछले तीन साल में हालात नहीं बदले हैं। मुझे तो लगता है कि ये टारगेटिड किलिंग्स कश्मीर में हो रहे बदलाव का सबूत हैं। आतंकवादियों द्वारा बेगुनाह लोगों का खून बहाना इस बात का सबूत है कि कश्मीर में दहशतगर्दी दम तोड़ रही है। अब आतंकवादी मारे जा रहे हैं। अब कश्मीर में आतंकवादी एके-47 लेकर फायरिंग नहीं करते, सुरक्षा बलों को निशाना नहीं बनाते, वो निहत्थे अकेले सिविलियन्स को निशाना बनाते हैं। अब कश्मीर में पत्थरबाज नजर नहीं आते, वहां टूरिस्ट दिखाई देते हैं। कश्मीर में इन्वेस्टमेंट का रिकॉर्ड बना है। डल लेक में शिकारे फिर आबाद हो रहे हैं। कश्मीर में पिछले दिनों जो टारगेट किलिंग्स हुई हैं वो कानून-व्यवस्था का मुद्दा नहीं है। ये आतंकवादियों की बदली हुई रणनीति का असर है। कश्मीरी पंडितों और प्रवासियों में डर पैदा करने की साजिश है। अगर सरकार की कोई कमी है तो वो ये कि उसने आतंकियों की इस बदली हुई रणनीति का अंदाजा नहीं लगाया था।कश्मीर में टारगेटेड किलिंग्स के ख़िलाफ़ जम्मू में लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। कश्मीरी पंडितों के संगठन, अपने परिजनों का घाटी से बाहर ट्रांसफर करने की मांग कर रहे हैं। दरअसल, यह समझना चाहिए कि आतंकवादी और उनके आका यही चाहते हैं। वे सुरक्षाबलों से खुद को बचाने के लिए सॉफ्ट टारगेट चुन रहे हैं।असल में आतंकवादी, ऐसे सॉफ्ट टारगेट चुन रहे हैं, जिनको अपने ऊपर हमले का अंदेशा न हो। जो अब तक टेरर टारगेट न रहे हों। जैसे बडगाम में गुरुवार रात आतंकियों ने ईंट भट्ठे में काम करने वाले दो मज़दूरों को गोली मार दी। यह ईंट भट्ठा आबादी से थोड़ी दूरी पर है। रात के वक़्त जब वो ख़ाना बना रहे थे, तो नक़ाबपोश आतंकवादी आए और उन्होंने दो मज़दूरों को गोली मार दी। एक मजदूर दिलखुश कुमार की मौत हो गई। वह बिहार का रहनेवाला था। वह सात दिन पहले ही ईंट भट्ठे पर काम करने के लिए बडगाम पहुंचा था। आतंकवादियों ने दोनों ईंट भट्ठा मज़दूरों को इसलिए निशाना बनाया कि वो निहत्थे थे। वे बाहर से आकर कश्मीर में रह रहे थे।इसी तरह कुलगाम में आतंकवादियों ने राजस्थान के रहनेवाले बैंक मैनेजर को बैंक के भीतर घुसकर गोली मार दी थी। उससे दो दिन पहले उन्होंने एक गांव में टीचर रजनीबाला की हत्या कर दी थी। इन टारगेटेड किलिंग्स का एक पैटर्न है। अब आतंकवादी बड़े हमले नहीं कर रहे, सिक्योरिटी फ़ोर्सेज़ को निशाना नहीं बना रहे, अब वो गांवों में, दूर-दराज़ की बस्तियों में रह रहे नौकरी पेशा कश्मीरी पंडित या प्रवासी लोगों को टारगेट कर रहे हैं। कश्मीरी हिंदुओं और प्रवासी लोगों के बीच दहशत फैलाने के लिए आतंकवादियों द्वारा इस तरह की हत्याएं की जा रही हैं। हमें आतंकवादियों के नापाक मंसूबों को कभी सफल नहीं होने देना चाहिए।राशिफल16अप्रैल2021वृषसहितइनराशियोंकोमिलेगाआर्थिकलाभजानिएअन्यकाहालमंगल और बृहस्पति के बाद अब वैज्ञानिकों का अगला लक्ष्य यूरेनस ग्रह, यहां होती है 'हीरों की बारिश', NASA लॉन्च कर सकता है मिशन******Highlightsअमेरिका, चीन, यूएई और रूस समेत दुनिया के कई देश अंतरिक्ष के क्षेत्र में एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ में लगे हुए हैं। इस समय चांद के अलावा सोलर सिस्टम के कई ग्रहों पर भी खोज तेज कर दी गई है। अभी तक मंगल, शनि और बृहस्पति ग्रह की ही चर्चा अधिक होती थी, लेकिन अब आपको ये बात जानकर हैरानी होगी कि सोलर सिस्टम के एक और ग्रह यूरेनस यानी अरुण ग्रह पर भी खोज शुरू हो सकती है। सोलर सिस्टम के मंगल और शनि ग्रह से जुड़ी खोज कर रहे शोधकर्ता अब यूरेनस ग्रह में दिलचस्पी दिखा रहे हैं। इसे लेकर अमेरिकी नेशनल अकैडमी ऑफ साइंसेज ने एक रिपोर्ट प्रकाशित की है।इसमें उसने अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा से कहा है कि यूरेनस ग्रह की खोज शुरू की जाए। इसमें कहा गया है कि अगले दशक के लिए यूरेनस ग्रह को प्रमुख कार्यक्रम घोषित किया जाए। यह अकैडमी हर 10 साल में ग्रहों की खोज से जुड़ी अमेरिका की प्राथमिकताओं को लेकर रिपोर्ट प्रकाशित करती है। सर्वे के प्रत्येक दशक पर रिपोर्ट का बहुत बड़ा प्रभाव पड़ता है, जिसका मतलब है कि नासा अब इस मिशन को अंजाम देने के लिए दबाव में है। वहीं यूरेनस में दिलचस्पी रखने वाले लोग इस रिपोर्ट के आने से खुश हैं। लीसेस्टर विश्वविद्यालय के प्लैनेटरी वैज्ञानिक प्रोफेसर लेह फ्लेचर का कहना है, यह जबरदस्त खबर है। सोलर सिस्टम में कुछ ऐसे स्थान हैं, जिनके बारे में हम यूरेनस से भी कम या ज्यादा जानते हैं। यहां तक ​​कि प्लूटो की भी जांच हो चुकी है, इसलिए यूरेनस मिशन होना चाहिए।13 मार्च, 1978 की रात को जर्मन-ब्रिटिश एस्ट्रोनॉमर विलियम हर्शल न्यू किंग गली में अपने दूरबीन से आकाश की ओर देख रहे थे। इस दौरान उन्होंने Zeta Tauri सितारे के सामने एक असामान्य मंद रोशनी देखी। वह कई दिनों तक इसकी तरफ देखते रहे और इसी से उन्हें पता चला कि वह चीज घूम रही है। शुरू में उन्हें लगा कि यह एक धूमकेतु है। लेकिन बाद में उन्हें पता चला कि यह सूर्य से दूर एक ग्रह है। उन्होंने इस तारे का नाम यूरेनस रखा।शोध के अनुसार, यूरेनस अपनेआप में एक बेहद ही खास ग्रह है। सौरमंडल के बाकी ग्रह अपनी धुरी पर सूर्य की परिक्रमा करते हैं। यूरेनस का केवल एक हिस्सा सूर्य की ओर रहता है। यह सूर्य से अधिक दूर नहीं है, फिर भी यह एक ठंडा ग्रह है। हालांकि 1986 में मानव निर्मित मशीन वोयागर-2 अंतरिक्ष यान इसके करीब से गुजरा था। उससे पता चला कि इस ग्रह का वायुमंडल हाइड्रोजन, हीलियम और मीथेन से बना है। इसके कई चंद्रमा हैं। और इसका चुंबकीय क्षेत्र भी बहुत मजबूत है। इस ग्रह पर हीरों की बारिश होती है। लेकिन ये धरती वाली बारिश की तरह नहीं है। बल्कि वैज्ञानिकों का कहना है कि यह एक वैज्ञानिक प्रक्रिया की वजह से बनते हैं।वैज्ञानिकों का मानना है कि गैस से बने इस ग्रह के अंदरूनी हिस्सों में वातावरणीय दबाव अधिक है। इसके कारण हाइड्रोजन और कार्बन के बॉन्ड टूट जाते हैं। जिसके कारण हीरे बरसने लगते हैं। यूरेनस के आकार की बात करें, तो यह पृथ्वी से 17 गुना बड़ा है। हाल ही के एक प्रयोग में वैज्ञानिकों ने यहां हीरे की बारिश होने की जानकारी दी थी।

हाल का ध्यान

लिंक