वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > होंगकियाओ जिला > मूलपाठ

बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान ने की शिखर धवन और डेविड वार्नर की बराबरी, जानिए कैसे

2022-10-04 09:45:27 होंगकियाओ जिला

बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेRBI जल्‍द जारी करेगा 1 रुपए का नया नोट, शक्तिकांत दास के होंगे इस पर हस्‍ताक्षर****** भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) जल्‍द ही 1 रुपए के नए नोट को जारी करने जा रहा है। इस नए नोट के बाजार में आने के बाद भी मौजूदा नोट और सिक्‍के चलन में बने रहेंगे।नोटों की प्रिंटिंग में उच्च तकनीक का इस्तेमाल करने के बाद लागत में आई कमी आई है। इसको देखते हुए सेंट्रल बैंक दोबारा प्रिंटिंग पर विचार कर रहा है। फिलहाल देश में एक रुपए के सिक्के ढ़ाले जाते हैं। करीब 20 साल पहले आरबीआई ने एक रुपए का नोट छापना बंद कर दिया था। नए नोट अधिक सिक्योरिटी फीचर्स से लैस होंगे।एक रुपए के नए नोट पर आरबीआई की जगह हिंदी और अंग्रेजी में गवर्नमेंट ऑफ इंडिया लिखा होगा। इस नोट पर गवर्नर के सिग्‍नेचर नहीं होंगे। नोट का फ्रंट कलर फीका गुलाबी और हरे रंग का होगा।

बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेयूपी: बागपत में बंदर पर 70 साल के बुजुर्ग की हत्‍या का आरोप, FIR दर्ज करने की मांग******पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में एक अजीबो गरीब वाकया सामने आया है। यहां पर 70 साल के बुजुर्ग की पत्‍थर से पीट पीट कर हत्‍या कर दी गई। इस जघन्‍य हत्या का आरोप इलाके के बंदरों पर लगा है। अब मृतक के परिजनों की मांग है कि बंदरों के खिलाफ पुलिस एफआईआर दर्ज करे।घटना बागपत जिले के टिकरी गांव की है। जहां बंदरों के हमले में एक बुजुर्ग की मौत हो गई। मृतक के परिजनों ने घटना के संबंध में पुलिस में तहरीर दी है। हालांकि पुलिस ने इस घटना को एक हादसा करार दिया है।रमाला पुलिस क्षेत्राधिकारी राजीव प्रताप सिंह ने बताया कि पुलिस को इस दुर्घटना के बारे में सूचित किया गया था और हमने इसे केस डायरी में पंजीकृत किया, जिसके बाद पोस्टमॉर्टम किया गया। उन्होंने बताया कि जांच में पता चला है कि टिकरी गांव निवासी धर्मपाल (70) गत 17 अक्टूबर को ईंट के एक खंभे के पास लेटे हुए थे। इस दौरान वहां कुछ बंदर ईंट के खंभे पर कूदे, जिससे वह भरभरा कर नीचे गिर गया।घटना में धर्मपाल घायल हो गया, जिसकी अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। उधर, मृतक के भाई कृष्णपाल सिंह द्वारा दी गई तहरीर के अनुसार धर्मपाल सिंह हवन के लिए लकड़ी इकट्ठा करने गए थे। वहीं बंदरों ने उन पर ईंट फेंकी, जिससे सिर और छाती की चोट के कारण धर्मपाल की अस्पताल में मौत हो गई। कृष्णपाल सिंह ने कहा कि हमने बंदरों के खिलाफ एक लिखित शिकायत दी है, लेकिन पुलिस मामले को हादसा करार देते हुए कुछ भी कार्रवाई नहीं कर रही है। अब हम इस मामले में उच्च अफसरों से मुलाकात कर कार्रवाई की मांग करेंगे।बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेCoconut Cake Recipe: इस टीचर्स डे अपने हाथों से बनाएं ‘कोकोनट केक’ और अपने गुरु को कराएं स्पेशल फील, जानें इसकी रेसिपी******अगर आप भी टीचर्स डे पर अपने शिक्षकों को कुछ स्पेशल सरप्राइज़ देना चाहते हैं, तो इस बार उनके लिए ये ख़ास रेसिपी बनायें। नारियल का लड्डू और नारियल की मिठाइयां तो आपने खायी होगी लेकिन क्या आपने कभी नारियल का केक टेस्ट किया है? जी हां, आज हम आपके लिए कोकोनट केक की स्पेशल रेसिपी लेकर आए हैं। इस केक को आप टीचर्स डे के दिन अपने हाथों से बना कर उन्हें खुश कर सकते हैं। आइए आपको बताते हैं ये केक रेसिपी कैसे बनाएं।1 कप कद्दूकस किया हुआ नारियल, 3 अंडे, 1 छोटा चम्मच बेकिंग पाउडर, 1/2 कप नारियल का दूध, 1 कप मैदा, 1/2 कप कैस्टर शुगर, 1/2 कप अनसाल्टेड मक्खन सजाने के लिए, 1/2 कप कंडेंस्ड मिल्क, 1 कप नारियल का फ्लेक, 5 ब्लैकबेरी, 1/2 कप व्हीप्ड क्रीम, 1 मुट्ठी डिब्बाबंद चेरीइस स्वादिष्ट केक की शुरुआत करेंगे मक्खन और चीनी को फेटने से। इन्हें तब तक फेंटें जब तक यह फूल न हो जाए। फिर अंडों को फोड़ें और इसके घोल को झागदार होने तक फेंटें। मैदा, बेकिंग पाउडर और नारियल का दूध डालें और अच्छी तरह मिलाएँ। ध्यान से पूरा दूध थोड़ी मात्रा में डालें। आखिर में कद्दूकस किया हुआ नारियल डालें और बैटर को अच्छी तरह मिला लें। ओवन को 176 डिग्री सेल्सियस पर प्रीहीट करें। एक बेकिंग ट्रे लें और उसमें बचा हुआ मक्खन लगाकर चिकना कर लें। मिश्रण को ट्रे में डालें और लगभग 20-30 मिनट तक बेक करें। ओवन से निकालने से पहले जांच लें। एक बड़ा बाउललें और उसमें कंडेंस्ड मिल्क और फ्रेश क्रीम डालें, मिश्रण को फेंटें। केक के बेक हो जाने के बाद, केक पर क्रीमी मिश्रण की अच्छी तरह परत चढ़ा दें और उसके ऊपर नारियल के गुच्छे और कुछ चेरी और ब्लैकबेरी डालें।

बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान ने की शिखर धवन और डेविड वार्नर की बराबरी, जानिए कैसे

बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेCoronavirus Live Updates: आरोग्य सेतु सुरक्षा विवाद मामले में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा- ऐप भारतीयों की सुरक्षा के लिए जनहित में है******कोरोना वायरस से पूरी दुनिया के अधिकांश देश बेहाल हैं, और भारत भी अब इससे अछूता नहीं रह गया है। दुनिया भर में कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 2.58 लाख के पार जा चुका है। वहीं पूरी दुनिया में अबतक 37.26 लाख से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। कोरोना वायरस के कारण सबसे अधिक मौतें अमरीका में हुई हैं. यहां 12.37 लाख लोग इससे संक्रमित हैं जबकि 72 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 45 हजार से ज्यादा हो चुकी है। भारत में 17 मई तक तीसरे चरण का लॉकडाउन लागू किया गया है। से जुड़ी खबरों और ताजातरीन अपडेट्स के बारे में जानने के लिए हमारे साथ बने रहें:बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेFree Schemes: राज्यों को निर्मला सीतारमण की सलाह, वित्तीय हालात की समीक्षा के बाद दें 'मुफ्त उपहार'******Highlightsकेंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 'मुफ्त उपहार' देने वाले राज्यों से शनिवार को कहा कि वे अपनी वित्तीय स्थिति की समीक्षा करने के बाद ही लोगों को मुफ्त सुविधाएं मुहैया कराएं और उसके अनुसार ही बजटीय प्रावधान करें। सीतारमण ने कहा कि मुफ्त सुविधाओं को लेकर बहस शुरू होना अच्छा है। सीतारमण ने राज्यों से कहा, "आप कोई वादा कर सकते हैं। मान लीजिए कि जब कोई राज्य सरकार कोई वादा करती है और लोगों को कुछ सुविधाएं मुफ्त में देने की बात कहती है। यह बिजली हो सकती है, यह कुछ और भी हो सकती है। मैं यह नहीं कह रही हूं कि आपको ऐसा नहीं करना चाहिए, लेकिन अपनी वित्तीय स्थिति की समीक्षा करने के बाद ही ऐसा करें।"निशाने पर 'आप' सरकारसीतारमण ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के आर्थिक प्रकोष्ठ की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यह बात कही। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में 'मुफ्त उपहार' को लेकर कटाक्ष किया था और इसे देश के विकास के लिए रुकावट बताया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पानीपत में एक कार्यक्रम में कहा था कि 'मुफ्त उपहार' देने से भारत के आत्मनिर्भर बनने के प्रयास बाधित होते हैं और इनसे करदाताओं पर बोझ भी पड़ता है। गौरतलब है कि पंजाब और दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार की ओर से लोगों को मुफ्त बिजली समेत अन्य सुविधाएं मुहैया कराई जा रही है।पीएम मोदी पर विपक्ष ने साधा निशानापीएम मोदी के इस बयान के बाद विपक्ष ने उनपर जमकर निशाना साधा था। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तो इस बात पर जनमत संग्रह कराए जाने की मांग कर डाली थी। केजरीवाल ने किसी का नाम लिए बगैर एक वीडियो संदेश में कहा था, ''इस बात पर जनमत संग्रह होना चाहिए कि सरकार का धन पार्टी की इच्छा अनुसार किसी एक परिवार या किसी के मित्रों पर खर्च होना चाहिए या इसे देश में बेहतर स्कूल एवं अस्पताल बनाने के लिए खर्च किया जाना चाहिए।'' वहीं मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने भी 'मुफ्त उपहार' संबंधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टिप्पणी को लेकर उन पर निशाना साधते हुए कहा था कि उनकी ओर से केवल एक ही पेशकश की जा रही है और वह है 'घोटालेबाज' उद्योगपतियों की कर्जमाफी।बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसे2011 वर्ल्ड कप फाइनल को फिक्स बताने वाले श्रीलंकाई पूर्व खेल मंत्री से जयवर्धने और संगाकारा ने मांगे सबूत******श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री महिंदानंदा अलुथगामगे ने हाल ही में दावा किया था कि भारत और श्रीलंका के बीच खेला गया 2011 वर्ल्ड कप का फाइनल मुकाबला फिक्स था। अब इस पर श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर महेला जयवर्धने और कुमार संगाकार ने उन्हें लताड़ लगाते हुए सबूत मांगे है। जयवर्धने जहां कहा है कि क्या चुनाव आस-पास है?, वहीं संगाकारा ने महिंदानंदा अलुथगामगे को सलाह दी है कि वो आईसीसी और एंटी करप्शन के पास सबुत लेकर जाएं ताकी जांच हो सके।महेला जयवर्धने ने ट्विट करते हुए लिखा 'क्या चुनाव होने वाले हैं? जो सर्कस शुरू हुआ है वो पसंद आया, नाम और सबूत?'वहीं कुमार संगाकारा ने ट्विटर पर कहा 'उन्हें सबुत को आईसीसी, एंटी करप्शन और सिक्योरिटी यूनिट के पास ले जाने की जरूरत है ताकी उनके दावों पर जांच की जा सके।'बता दें, श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री ने ‘‘आज मैं आपसे कह रहा हूं कि हमने 2011 वर्ल्ड कप भारत को बेच दिया था, जब मैं खेल मंत्री था तब भी मैंने ऐसा ही कहा था।’’उन्होंने कहा, ‘‘एक देश के रूप में मैं यह ऐलान नहीं करना चाहता था। मुझे याद नहीं कि वह 2011 था या 2012। लेकिन हमें वो मैच जीतना चाहिए था। मैं जिम्मेदारी के साथ आपको कह रहा हूं कि मैंने महसूस किया कि वह मैच फिक्स था। मैं इस पर बहस कर सकता हूं, मुझे पता है कि लोग इसे लेकर चिंतित हैं।’’उन्होंने इसी के साथ कहा 'मैं अपने बयान की पूरी जिम्मेदारी लेता हूं और बहस के लिए तैयार हूं। मैं इसमें खिलाड़ियों को शामिल नहीं करूंगा लेकिन कुछ ग्रुप जरूर इस मैच को फिक्स करने में शामिल थे।'गौरतलब है कि साल 2011 वर्ल्ड कप का फाइनल मुकाबला भारत और श्रीलंका के बीच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला गया था। इस मैच में भारतीय कप्तान एमएस धोनी ने नाबाद 97 रन और गौतम गंभीर की 91 रन की पारियों के दम पर जीत हासिल कर वर्ल्ड कप अपने नाम किया था।

बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान ने की शिखर धवन और डेविड वार्नर की बराबरी, जानिए कैसे

बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेAaj Ka Panchang 24 November 2021: जानिए बुधवार का पंचांग, शुभ मुहूर्त और राहुकाल******आज मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि और बुधवार का दिन है। पंचमी तिथि आज देर रात 3 बजकर 3 मिनट तक रहेगी। आज पूरा दिन पूरी रात पार कर कल सुबह 7 बजकर 58 मिनट तक शुक्ल योग रहेगा। साथ ही आज शाम 4 बजकर 29 मिनट तक पुनर्वसु नक्षत्र रहेगा। जानिए आचार्य इंदु प्रकाश से बुधवार का पंचांग, राहुकाल और सूर्योदय-सूर्यास्त का वक्त।रात 3 बजकर 3 मिनट तकसुबह 7 बजकर 58 मिनट तकशाम 4 बजकर 29 मिनट तकसुबह 6 बजकर 50 मिनट परशाम 5 बजकर 24 मिनट परदोपहर 12:08 से दोपहर 01:27 तकदोपहर 12:25 से दोपहर 01:49 तकदोपहर 12:09 से दोपहर 01:27 तकदोपहर पहले 11:53 से दोपहर 01:13 तकदोपहर 12:07 से दोपहर 01:29 तकदोपहर पहले 11:23 से दोपहर 12:45 तकदोपहर 12:26 से दोपहर 01:48 तकदोपहर पहले 11:56 से दोपहर 01:21 तकबाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेRussia-Ukraine War: रूसी कब्जे वाले क्षेत्रों में करवाए जा रहे हैं जनमत संग्रह, आखिर इस कदम से पुतिन क्या करना चाहते हैं?******Highlights यूक्रेन में रूस के कब्जे वाले इलाकों में मास्को द्वारा प्रायोजित जनमत संग्रह के बीच, रूसी सेनाओं ने शनिवार को यूक्रेन के शहरों पर ताजा हमले किये। जापोरिझिया के गवर्नर ओलेक्सांद्र स्तारुख ने कहा कि रूस ने दनिपर रिवर शहर को निशाना बनाया और एक मिसाइल एक अपार्टमेंट इमारत पर लगी जिससे एक व्यक्ति की मौत हो गई और सात अन्य घायल हो गए। रूस की सेनाओं ने यूक्रेन के अन्य इलाकों को भी निशाना बनाया और आवासीय इमारतों पर हमले किये।ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि रूस ने उत्तरपूर्वी यूक्रेन में सिवरस्की दोनेट्स नदी पर बने पेचेनिहि बांध पर हमले किये। इससे पहले भी कृवि रिह के पास एक जलाशय पर बने बांध पर हमला किया गया था जिससे इनहुलेट्स नदी में बाढ़ आ गई थी। ब्रिटेन ने कहा, “यूक्रेन की सेनाएं दोनों नदियों के पास धारा की दिशा में आगे बढ़ रही हैं।” मंत्रालय ने कहा, “रूस के कमांडर अपनी नाकामी को लेकर चिंतित हैं और वे बांधों के स्लुइस गेट को निशाना बना सकते हैं ताकि यूक्रेन की सेना के सामने बाढ़ की चुनौती पैदा कर सकें।”इस बीच रूस के कब्जे वाले इलाकों में क्रेमलिन द्वारा प्रायोजित जनमत संग्रह जारी है जिसे यूक्रेन और उसके पश्चिमी सहयोगी देश फर्जी और अवैध करार दे रहे हैं। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि मास्को, निवासियों के फैसले का स्वागत करेगा। यह इस बात का संकेत है कि जनमत संग्रह समाप्त होते ही क्रेमलिन तत्काल उन क्षेत्रों पर कब्जा स्थापित कर देगा। आपको बता दें कि रूस ने इसे पहले यूक्रेन पर हमला 2014 में किया था। उस समय भी रूस ने जनमत संग्रह करवाया था, जिसके बाद क्रिमिया वाले क्षेत्रों को अपने कब्जा में कर लिया था। अब फिर रूस 2014 के बाद लुहान्सक, डोनेट्स्क, दक्षिणी खेरसॉन और जापोरिजिया प्रांतो में मतदान जारी है ये मतदान 27 सितंबर तक जारी रहेगा। रूस पहले ही लुहान्स्क और डोनेट्स्क स्वतंत्र राज्य घोषित कर दिया है।रूसी समाचार के मुताबिक, चुनाव को जल्द से जल्द खत्म करना है। इस चुनाव में कोई भी आधुनिक मशीनों का प्रयोग नहीं किया जाएगा। मशीन के जगह वोटिंग बैलेट पेपर से करवाया जाएगा। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, अधिकारी लोगों के घर-घर जाकर वोट लेंगे। इसके अलावा कुछ ही मतदान केंद्र बनवाया गया है। चार क्षेत्रों ते रूसी स्थापित नेताओं ने मंगलवार को अचानक मतदान शुरू करने का फैसला लिया। इस मतदान को लेकर यूक्रेन ने विरोध किया है। यूक्रेन के कुछ अधिकारियों ने बताया कि पुतिन अपने देश को ये करके दिखाना चाहते हैं कि रूस ने इस जंग में जीत हासिल कर ली है। अधिकारियों ने साफ कर दिया है कि यूक्रेन इस जनमत संग्रह की प्रक्रिया को मान्यता नहीं देता है। वही इधर यूक्रेन ने उत्तरपूर्वी खार्किव में रूसी सैनिकों पर जवाबी कार्रवाई शुरू कर दिया है।लुहांस्क के क्षेत्रीय गवर्नर सेरही हैदाई ने यूक्रेन टीवी से बातचीत करते हुए बताया कि अगर यह सबरूस घोषित क्षेत्र हैं, तो वे घोषणा कर सकते हैं कि यह रूस पर सीधा हमला है। वहां के स्थानीय जानकारों का कहना है कि ये जनमत इसलिए करवाया जा रहा है ताकि जनमत के बाद इन चारों क्षेत्रों को रूस में विलय करने का घोषणा किया जाएगा। उसके बाद रूस इन एरिया से यूक्रेनी सैनिकों को बाहर निकाल सकें। अगर इस दौरान यूक्रेनी सैनिक हमला करेंगे तो रूस इसे अपने क्षेत्र पर हमला बताएगा।

बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान ने की शिखर धवन और डेविड वार्नर की बराबरी, जानिए कैसे

बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेपहली सेल शुरू होने से पहले ही इस कंपनी ने 10 मिनट में बेच दिए 100 करोड़ के स्‍मार्टफोन******OnePlus चीन की मशहूर स्‍मार्टफोन निर्माता कंपनी वनप्‍लस के नए फ्लैगशिप डिवाइस वनप्लस 6 ने बाजार में लॉन्‍च होते ही धमाल मचा दिया है। भारत में इस फोन की आधिकारिक बिक्री आज से शुरू हुई है। इससे एक दिन पहले ही कंपनी ने अमेजन प्राइम मैंबर्स के लिए फोन की प्रिव्‍यू सेल शुरू की थी। लेकिन फोन की प्रिव्‍यू सेल में ही कंपनी ने धमाका कर दिया है। वनप्‍लस ने अपने आफिशियल ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया है। मुताबिक कंपनी ने अपनी पहली प्रिव्‍यू सेल में ही मात्र 10 मिनट में ही 100 करोड़ रुपए के फोन बेच डाले। आपको बता दें कि यह प्रिव्‍यू सेल अमेजन के प्राइम मैंबर्स के साथ ही वनप्‍लस के ऑनलाइन स्‍टोर के कम्‍युनिटी मैंबर्स के लिए आयोजित की गई थी। फोन की ओपन सेल आज से यानि 22 मई से शुरू हो गई है। जबकि कंपनी के वनप्‍लस 6 एवेंजर एडिशन की बिक्री 29 मई से शुरू होगी।यह फोन आज से अमेजन इंडिया की वेबसाइट के साथ वनप्‍लस ऑनलाइन स्‍टोर के साथ ही देश भर में मौजूद वनप्‍लस रिटेल स्‍टोर पर बिकने शुरू हो गए हैं। भारत में फोन की कीमत 34999 रुपए से शुरू होती है। यह कीमत 6जीबी रैम और 64जीबी इंटरनल स्‍टोरेज वाले वेरिएंट की है। इसकी कीमत 34,999 रुपए रखी गई है। दूसरा वेरिएंट 8जीबी रेम और 128जीबी स्‍टोरेज वाला है। इसकी कीमत 39,999 रुपए है। सबसे महंगा वेरिएंट मार्वल एडिशन के साथ पेश किया गया है।कंपनी फोन के साथ कई शानदार ऑफर भी पेश कर रही है। यहां पर आप लॉन्‍च वीक के दौरान एसबीआई क्रेडिट या डेबिट कार्ड से खरीदारी करते हैं तो आपको 2000 रुपए का कैशबैक मिलेगा। आपको एसबीआई के साथ ही दूसरे बैंकों के कार्ड के इस्‍तेमाल पर नो कॉस्‍ट ईएमआई का भी फायदा मिल रहा है। इसके अलावा आप 12 महीने का एक्सीडेंटल बीमा भी प्राप्‍त कर सकते हैं। वहीं आइडिया ग्राहकों को 2000 रूपए कैशबैक और डिवाइस इंश्योरेंस भी मिल रहा है। इसके अलावा यहां पर अमेजन किंडल, और क्लियर ट्रिप की ओर से भी ऑफर मिल रहे हैं।

बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेIndia के हर नागरिक पर इतने लाख करोड़ का है कर्ज, कई तो उतने साल भर में भी नहीं कमा पाएंगे****** तेलंगाना के उद्योग और के.टी. रामा राव ने रविवार को कहा कि पिछले आठ वर्षों के दौरान भारत का कर्ज 100 लाख करोड़ रुपये बढ़ा है। उन्होंने दावा किया कि हर भारतीय पर 1.25 लाख रुपये का कर्ज है। रविवार को उनका ट्वीट जाहिर तौर पर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के इस बयान के जवाब में था कि तेलंगाना में पैदा होने वाले हर बच्चे पर 1.25 लाख रुपये का कर्ज है।केंद्रीय मंत्री ने भाजपा की 'संसद प्रवास योजना' के तहत जहीराबाद लोकसभा क्षेत्र के अपने तीन दिवसीय दौरे के दौरान कर्ज जुटाने के लिए राज्य सरकार की आलोचना की थी। रामा राव जो तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) के कार्यकारी अध्यक्ष भी हैं। उन्होनें ट्वीट किया कि मैडम एफएम राजकोषीय विवेक पर वाक्पटुता व्यक्त करती है। 2014 तक 67 वर्षों में भारत के 14 प्रधानमंत्रियों ने 56 लाख करोड़ रुपये का कर्ज उठाया है। सिर्फ मोदी सरकार में ही कर्ज नहीं बढ़ें हैं।मंत्री ने कहा कि तेलंगाना का ऋण-जीएसडीपी अनुपात 23.5 प्रतिशत है, जो 28 भारतीय राज्यों में सबसे कम 23वें स्थान पर है। देश का ऋण-सकल घरेलू उत्पाद अनुपात का 59 प्रतिशत है।भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की अक्टूबर 2021 की रिपोर्ट का हवाला देते हुए, KTR ने कहा कि 2.5 प्रतिशत भारतीय आबादी वाला तेलंगाना भारत के सकल घरेलू उत्पाद में 5.0 प्रतिशत का योगदान देता है। उन्होंने टिप्पणी की कि देश को दोहरे प्रभाव वाले शासन की जरूरत है न कि व्यर्थ दोहरे इंजन की। उन्होंने कहा कि अगर केवल भाजपा राज्यों ने तेलंगाना के बराबर प्रदर्शन किया होता, तो भारत अब 4.6 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था होता।सीतारमण ने FRBM सीमा से अधिक ऋण जुटाने के लिए TRS सरकार पर भारी पड़ते हुए दावा किया कि राज्य में पैदा होने वाले प्रत्येक बच्चे पर 1.25 लाख रुपये का कर्ज है। उसने कहा कि भारी कर्ज के कारण, तेलंगाना का राजस्व अधिशेष बजट राजस्व घाटे के बजट में फिसल गया था। उन्होंने कहा कि राज्य बजट में स्वीकृत से ज्यादा कर्ज जुटा रहा है। उसने दावा किया कि बाहर से लिए गए कर्ज को लेकर विधानसभा को अंधेरे में रखा जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी ऋणों को बजट में शामिल नहीं किया जा रहा है।बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेअज्ञात लड़ाकू विमानों ने जमकर बरसाए बम, ईरान के सपोर्ट वाले PMF के 8 लड़ाकों की मौत******सीरिया में इराकी सीमा के पास अज्ञात विमानों ने जोरदार हवाई हमला किया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस हमले में ईरान समर्थित 8 इराकी मिलिशिया की मौत हो गई है। आपको बता दें कि ईरान की कुद्स आर्मी के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी की अमेरिकी हमले में मौत के बाद से ही मध्य पूर्व में तनाव काफी बढ़ गया है। इसी हमले में ईरान समर्थित इराकी मिलिशिया हश्द अल-शाबी या पॉप्युलर मोबिलाइजेशन फोर्सेज (PMF) के डेप्युटी कमांडर अबु महदी अल-मुहंदिस की भी मौत हो गई थी।सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने शुक्रवार को बताया कि विमानों ने की सरहद के पास बौकमाल इलाके में समर्थित मिलिशिया के ठिकानों को निशाना बनाया। ब्रिटेन के निगरानी संगठन ने बताया कि विमानों ने हथियार डिपो और मिलिशिया की गाड़ियों को भी निशाना बनाया। एक इराकी सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि जंगी विमानों ने सीमा पर सीरिया की तरफ मिसाइल लदी 2 गाड़ियों को निशाना बनाया। यही जानकारी PMF के एक अधिकारी ने भी दी।PMF के अधिकारी ने बताया कि इस बात की प्रबल संभावना है कि यह हमला इस्राइली विमानों ने किया हो। हालांकि उन्होंने इस बारे में कोई सबूत नहीं दिया है। वहीं, इस्राइल की तरफ से इस हमले को लेकर तुरंत कोई टिप्पणी नहीं आई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिका के नेतृत्व में इराक और सीरिया में लड़ाई लड़ रही गठबंधन सेना ने भी इस तरह के किसी भी हमले को अंजाम दिए जाने से साफ इनकार किया है। जानकारों का मानना है कि आने वाले दिनों में इस क्षेत्र में संघर्ष और तेज हो सकता है।

बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेGold Rate Today: सोना में आई बड़ी गिरावट, चांदी 1,607 रुपये सस्ती, जानिए दिल्ली, मुंबई, लखनऊ पटना में आज 22 कैरेट Gold के दाम******त्योहारों या शादी ब्याह के लिए सोना खरीदने जा रहे हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। विदेशी बाजार में लगातार मिल रहे कमजोर संकेतों के चलते शुक्रवार को सोने की कीमत में बड़ी गिरावट दर्ज गई है वहीं चांदी की कीत तो 1600 रुपये से अधिक टूट गई है।दिल्ली के सर्राफा बाजार की बात करें तो यहां पर शुक्रवार को सोना 389 रुपये टूटकर 51,995 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया। जबकि गुरुवार को पिछले कारोबारी सत्र में सोने का भाव 52,384 रुपये प्रति 10 ग्राम था।सोने के साथ ही चांदी के दाम में भी गिरावट दर्ज की गई है। शुक्रवार को चांदी की कीमत भी 1,607 रुपये लुढ़़ककर 56,247 रुपये प्रति किलोग्राम रह गई। पिछले कारोबारी सत्र में चांदी 57,854 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर बंद हुई थी।अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना गिरावट दर्शाता 1,753 डॉलर प्रति औंस रह गया, जबकि चांदी 19.23 डॉलर प्रति औंस पर लगभग स्थिर रही। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा, ‘‘विदेशों में डॉलर के मजबूत होने से सोने की कीमतों पर दबाव रहा।’’कमजोर हाजिर मांग के कारण कारोबारियों द्वारा अपने सौदों के आकार को घटाने से वायदा बाजार में शुक्रवार को चांदी की कीमत 641 रुपये की गिरावट के साथ 55,802 रुपये प्रति किलोग्राम रह गया। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में सितंबर महीने में डिलिवरी वाले चांदी के अनुबंध की कीमत 641 रुपये यानि 1.14 प्रतिशत की गिरावट के साथ 55,802 रुपये प्रति किलोग्राम रह गया। इसमें 17,384 लॉट के लिए कारोबार हुआ। वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में चांदी 1.37 प्रतिशत की गिरावट के साथ 19.30 डॉलर प्रति औंस रह गया।बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेAsian Games 2018: अरपिंदर और स्वप्ना ने भारत को दिलाए दो ऐतिहासिक गोल्ड, ऐसे रचा इतिहास******जकार्ता। भारत के अर्पिदर सिंह ने 18वें एशियाई खेलों के 11वें दिन पुरुषों की ट्रिपल जंप स्पर्धा में शानदार प्रदर्शन करते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया। अर्पिदर ने बुधवार को हुए फाइनल में 16.77 मीटर की सर्वश्रेष्ठ छलांग के साथ सोने का तमगा हासिल किया। वह फाइनल में अच्छी शुरुआत नहीं कर पाए और पहले प्रयास में फाउल कर बैठे। लेकिन दूसरी बार में उन्होंने 16.58 मीटर की छलांग लगाई।तीसरे प्रयास में अर्पिदर ने दमदार प्रदर्शन किया और 16.77 मीटर की दूरी तय की। इस प्रयास के बाद हालांकि दो प्रयास बचे हुए थे लेकिन बाकी प्रतिस्पर्धियों की छलांग से लग गया था कि अर्पिदर स्वर्ण अपने नाम कर लेंगे। अगले प्रयास में उन्होंने 16.08 मीटर की छलांग लगाई। चौथे एवं पांचवें प्रयास में फाउल कर बैठे लेकिन कोई भी खिलाड़ी उनकी 16.77 मीटर की छलांग से आगे नहीं निकल पाया।इसके बाद स्वप्ना बर्मन ने महिलाओं की हेप्टाथलान स्पर्धा में भारत की झोली में 11वां स्वर्ण पदक डाला। बर्मन ने कुल सात स्पर्धा के बाद 6026 अंकों के साथ स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। स्वप्ना ने 100 मीटर में हीट-2 में 981 अंकों के साथ चौथा स्थान हासिल किया था। ऊंची कूद में 1003 अंकों के साथ पहले स्थान पर कब्जा जमाया। गोला फेंक में वह 707 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रहीं। 200 मीटर रेस में उन्होंने हीट-2 में 790 अंक लिए।लंबी कूद में वह 865 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रहीं। भालाफेंक में उन्होंने 872 अंकों के साथ पहला स्थान हासिल किया। 800 मीटर रेस में वह 808 अंकों के साथ चौथे स्थान पर रहीं।

बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेगुवाहाटी विश्वविद्यालय में कोरोना के कारण परीक्षाएं हुई स्थगित, 11 मई तक सभी कॉलेज बंद******गुवाहाटी विश्वविद्यालय (जीयू) प्रशासन ने घोषणा की है कि सभी संबद्ध कॉलेजों को बंद कर दिया जाएगा और पास के क्षेत्रों और राज्य भर में कोविद -19 मामलों में वृद्धि के मद्देनजर ऑफ़लाइन मोड में कक्षाएं आज, 27 अप्रैल से निलंबित कर दी जाएंगी। जिले में कोविद -19 मामलों के बढ़ने के कारण विश्वविद्यालय से संबद्ध सभी कॉलेज और संस्थान 11 मई तक बंद कर दिए गए हैं। छात्रों के लिए कोई ऑफ़लाइन कक्षाएं आयोजित नहीं की जाएंगी, और अकादमिक गतिविधियाँ अभी ऑनलाइन जारी रहेंगी।गुवाहाटी विश्वविद्यालय द्वारा जारी आधिकारिक नोटिस में कहा गया है, "गौहाटी विश्वविद्यालय और इसके संबद्ध कॉलेजों / संस्थानों में सभी परीक्षाएं भी तत्काल प्रभाव से स्थगित कर दी गई हैं।" प्रशासन द्वारा अभी तक परीक्षा की कोई नई तारीख और समय निर्धारित नहीं किया गया है।कक्षाओं के निलंबन और परीक्षा को स्थगित करने के अलावा, वर्तमान में गौहाटी विश्वविद्यालय के छात्रावासों में रहने वाले छात्रों को भी क्षेत्र में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए परिसर खाली करने के लिए कहा गया है।छात्रों की सुरक्षा के लिए गौहाटी विश्वविद्यालय को 15 दिनों के लिए बंद कर दिया गया है और छात्रावासों को खाली कराया जा रहा है। आधिकारिक नोटिस के अनुसार, इन 15 दिनों के दौरान विश्वविद्यालय में आवश्यकशिक्षक और संकाय सदस्य घर से काम कर रहे होंगे, लेकिन उन्हें फोन और ईमेल से उपलब्ध होना होगा ताकि विश्वविद्यालय बंद रहने के दौरान आधिकारिक गतिविधियों के लिए उनसे संपर्क किया जा सके। हाल की खबरों में, कामरूप मेट्रो जिले के सभी शैक्षणिक संस्थानों को भी 15 दिनों के लिए बंद कर दिया गया है क्योंकि पिछले कुछ समय में कोविद -19 मामलों की संख्या 1000 से अधिक हो गई है। स्कूलों में ऑफ़लाइन कक्षाओं को भी कक्षा 8 तक निलंबित कर दिया गया है।कई छात्र और अभिभावक राज्य भर में कोविद -19 मामलों में स्पाइक के बीच असम एचएससी और मैट्रिक परीक्षाओं को स्थगित करने पर जोर दे रहे हैं। सरकार द्वारा अभी तक परीक्षा स्थगित करने के बारे में कोई घोषणा नहीं की गई है।बाबरआजमऔरमोहम्मदरिजवाननेकीशिखरधवनऔरडेविडवार्नरकीबराबरीजानिएकैसेसितंबर में औद्योगिक उत्पादन में 3.1% की बढ़त, अक्टूबर में महंगाई दर मामूली बढ़ी******सितंबर औद्योगिक उत्पादन में 3.1% की बढ़तनई दिल्ली। देश का औद्योगिक उत्पादन (आईआईपी) सितंबर में पिछले साल के समान महीने की तुलना में 3.1 प्रतिशत बढ़ा है। सबसे ज्यादा ग्रोथ माइनिंग सेक्टर में देखने को मिली है। वहीं अक्टूबर के महीने में महंगाई दर में बढ़त दर्ज हुई है, हालांकि ये बढ़त मामूली है। महंगाई दर पर अक्टूबर के दौरान खाद्य कीमतों में आई तेजी का इसमें असर दिखा है।अगस्त में पिछले साल के मुकाबले 11 प्रतिशत से ज्यादा ग्रोथ देखने को मिली थी, हालांकि अगस्त में आई तेजी पिछले साल लो बेस इफेक्ट की वजह से थी। सितंबर के आंकड़े संकेत दे रहे हैं कि अब लो बेस इफेक्ट का असर खत्म हो रहा है और ग्रोथ के आंकड़े सामान्य स्थितियों में पहुंच रहे हैं। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा जारी औद्योगिक उत्पादन के आंकड़ों के अनुसार, सितंबर, 2021 में विनिर्माण क्षेत्र का उत्पादन 2.7 प्रतिशत बढ़ा। सितंबर में खनन क्षेत्र के उत्पादन में 8.6 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई, जबकि बिजली क्षेत्र का उत्पादन 0.9 प्रतिशत बढ़ा। सितंबर, 2020 में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर एक प्रतिशत रही थी। चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही अप्रैल-सितंबर में आईआईपी में 23.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में औद्योगिक उत्पादन 20.8 प्रतिशत बढ़ा था। पिछले साल मार्च में कोरोना वायरस महामारी की वजह से औद्योगिक उत्पादन में 18.7 प्रतिशत की गिरावट आई थी। महामारी की वजह से लगाए गए लॉकडाउन के चलते अप्रैल, 2020 में औद्योगिक उत्पादन 57.3 प्रतिशत घटा था।वहीं सरकारी आंकड़ों में शुक्रवार को बताया गया कि खाद्य कीमतों में बढ़ोतरी के कारण खुदरा मुद्रास्फीति अक्टूबर में मामूली रूप से बढ़कर 4.48 प्रतिशत हो गई। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) पर आधारित मुद्रास्फीति सितंबर में 4.35 प्रतिशत और अक्टूबर, 2020 में 7.61 प्रतिशत थी। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार खाद्य मुद्रास्फीति अक्टूबर में बढ़कर 0.85 प्रतिशत हो गई, जो इससे पिछले महीने में 0.68 प्रतिशत थी। भारतीय रिजर्व बैंक ने सीपीआई आधारित मुद्रास्फीति को चार प्रतिशत पर रखने का लक्ष्य तय किया है, जिसमें ऊपर-नीचे दो प्रतिशत का अंतर हो सकता है। आरबीआई के अनुमानों के मुताबिक सीपीआई मुद्रास्फीति 2021-22 में 5.3 प्रतिशत के करीब रहेगी। इसके बाद वित्त वर्ष 2022-23 की अप्रैल-जून तिमाही के दौरान खुदरा मुद्रास्फीति के 5.2 प्रतिशत पर रहने का अनुमान है।

हाल का ध्यान

लिंक