वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > शापिंगबा जिला > मूलपाठ

कपिल सिब्बल कोई कांग्रेस संस्कृति के व्यक्ति नहीं हैं: अशोक गहलोत

2022-09-30 16:04:04 शापिंगबा जिला

कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतसोने की तस्करी के लिए कोरोना काल में नया तरीका, मास्क में छिपा रखा था लाखों का गोल्ड****** कोरोना काल में सोने की तस्करी के लिए तस्कर नए-नए तरीके आजमा रहे हैं लेकिन कस्टम विभाग की मुस्तैदी के चलते लगातार तस्कर गिरफ्तार किए जा रहे हैं। खाड़ी देशों से फ्लाइट में यात्रा के दौरान सोने की तस्करी के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। नया मामला चेन्नई के पुदुकोट्टई में सामने आया है। यहां मास्क में छिपाकर लाए जा रहे लाखों रुपए के सोने की तस्करी का मामला सामने आया है। चेन्नई कस्टम विभाग ने दुबई से पुदुकोट्टई पहुंचे संदिग्ध दिख रहे मोहम्मद अब्दुल्ला (40 साल) को रोककर पूछताछ की। जिसके बाद घबराए मोहम्मद अब्दुल्ला की जब जांच की गई तो उनका मास्क असमान्य रूप से भारी दिखा। जिसके बाद जांच की गई तो कस्टम अधिकारियों को मास्क के अंदर टेप के साथ लिपटा हुआ एक भूरे रंग का पाउच मिला।कस्टम अधिकारियों ने मोहम्मद अब्दुल्ला के मास्क से कुल 85 ग्राम के सोने का पेस्ट बरामद किया है। साथ ही सीमा शुल्क अधिनियम के तहत 2.93 लाख रुपये और समान जब्त किया गया है। सीमा शुल्क अधिनियम के तहत 11.13 लाख वसूले गए और जब्त किए गए।अधिकारियों ने मोहम्मद अब्दुल्ला के बैग से 10 iPhones 12 Pro, 8 इस्तेमाल किए गए iPhones, 9 इस्तेमाल किए गए लैपटॉप, 2 डिब्बों के Gudang Garam सिगरेट आदि बरामद किया गया। आगे की जांच की जा रही है।

कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतशिल्पा शेट्टी फिट इंडिया मूवमेंट के साथ आई, जनता को दिया 21 दिन फिटनेस का चैलेंज******बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी फिटनेस फ्रीक मानी जाती हैं। वह अपने फिटनेस को लेकर काफी सजग है। इसके वीडियों और तस्वीरें सोशल मीडिया में शेयर करती रहती हैं। कोरोना वायरस के चलते देशभर में लॉकडाउन हो गया तो शिल्पा ने इस्टाग्राम पर बताया कि आखिर उनके फैंस घर पर रहकर खुद को कैसे फिट रख सकते हैं इतना ही नहीं शिल्पा शेट्टी फिट इंडिया के लिए हमेशा कुछ खास मैसेज देती हुई नजर आ जाती हैं। लेकिन इस बार उन्होंने इंडिया को फिट करने का अलग ही रास्ता निकाल लिया है।दरअसल शिल्पा शेट्टी से फिट इंडिया के साथ हाथ मिला लिया है। जिसके साथ ही अब शिल्पा शेट्टी एप (SS App) में आप पूरे 21 दिनों तक बिना कोई शुल्क दिए वजन कम करने की डाइट प्लान और एक्सरसाइज देख सकते हैं। इसके लाभ आप 21 दिन यानी लॉकडाउन में उठा सकते है।इस टाई-अप और शिल्पा की पहल के बारे में खेल मंत्री श्री किरेन रिजिजू ने कहा, "शिल्पा शेट्टी कुंद्रा ने भारतीय और वैश्विक दर्शकों को मुफ्त में अपने फिटनेस कार्यक्रम का उपयोग करने की अनुमति देने के लिए जो निर्णय लिया है। वह सराहनीय है।'रिजिजू ने आगे कहा, ' इस समय हमें हर एक को कोशिश करनी चाहिए और अपने समर्थन को अपने आस-पास के सभी लोगों तक पहुंचाना है। शिल्पा शेट्टी कुंद्रा एक फिटनेस आइकन हैं और इस कार्यक्रम का पालन करने में सभी को बहुत फायदा होगा जब हम सभी घर पर रहकर सामाजिक दूरी बनाए रखना।'इस बारे में शिल्पा ने कहा, "इस समय में यह महत्वपूर्ण है कि हम शारीरिक और मानसिक रूप से सक्रिय रहें । मैं इसे अच्छी तरह समझती हूं। इसलिए दुनिया भर में हमारे साथियों के लिए कुछ खास करने के लिए भारत सरकार की 'फिट इंडिया मूवमेंट' पहल और शिल्पा शेट्टी ऐप (एसएस ऐप) एक साथ लेकर आए हैं। लॉकडाउन की इस अवधि के लिए जो भारत में अभी है वह वह इस ऐप का प्रीमियम का फ्री में लाभ उठा सकते हैं। ने आगे कहा, 'Health is Wealth' 21 दिनों के लॉकडाउन का बेहतर अवसर आपके पास है। जिसे आप अच्थे काम करने में लगा सकते हैं।इस ऐप में आपको फ्री में योग, हर दिन के हिसाब से एक्सरसाइज, लोअर और अपर बॉडी के एक्सरसाइज और डाइट प्लान।कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतUP News: जुमे की नमाज से पहले यूपी पुलिस अलर्ट, चप्पे-चप्पे की निगरानी******Highlightsपिछले दो शुक्रवारों कोहुईहिंसा कोदेखते हुएआज उत्तर प्रदेश की सरकारज्यादा चौकन्नी है। जुमे की नमाजके मद्देनजर प्रशासन भी सख्ती बरत रहा है। सरकार की तरफ सेपुलिसको भी स्पष्ट कर दिया गया है कि उपद्रव करने वालों से सख्ती से निपटा जाए। उन्हें किसी भी कीमत पर न बख्शा जाए। पूरे उत्तर प्रदेश में पुलिस का पहरा काफी मजबूत कर दिया है। चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी से निगरानी की जा रही है। कई जगह तो ड्रोन से भी निगरानी की जा रहीहै।पिछले शुक्रवार को प्रदेश में सबसे ज्यादा हिंसा प्रयागराज में हुई थी। जिसे देखते हुए प्रशासन वहां अतिरिक्त सावधानी बरत रहा है। इस बार पिछलीबार की तुलना में वहां होमगार्ड, पीएसी और पैरा मिलिट्री की संख्या ली गुना बढ़ाई गई है। शहर में 300 से भी ज्यादा सीसीटीवी लगाये गए हैं और 4 ड्रोन कैमरे की भी मदद ली जा रही है। इसके साथ ही पुलिस, पीएसी और पैरामिलिट्री के जवानों के द्वारा फ्लैग मार्च किया जा रहा है। साथ ही बड़ी संख्या में मजिस्ट्रेट की भी तैनाती की गई है।ख़बरों के अनुसार रात में शहर और देहात में तमाम होटलों, ढाबों, मंदिरों, मस्जिदों, गुरुद्वारों, चर्च और स्कुल समेत कई जगहों और उनके आस-पास गहन चेकिंग भी की गई, जिससे असामजिक गतिविधियों पर लगाम लगाई जा सके। साथ ही प्रयागराज पुलिस ने लोगों को मदद करने की भी अपील की है। जिसके लिए पुलिस ने दो नंबर भी जारी किये हैं। पुलिस के अनुसार 9454402863, 9454400248 नंबरों पर कॉल कर लोग शरारती तत्वों के बारे में जानकारी दे सकते हैं. उस कॉल के आधार पर पुलिस तुरंत सतर्क होते हुए आरोपियों पर कार्रवाई करेगी।वहीं पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि ईंट पत्थर, लाठी, हिंसा का प्रयोग कर क़ानून को हाथ में न लें। क़ानून व्यवस्था अपने हाथ में लेने से बचें. साफ कर दिया गया है कि सभी ऐसे प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी और उन्हें किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

कपिल सिब्बल कोई कांग्रेस संस्कृति के व्यक्ति नहीं हैं: अशोक गहलोत

कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतकाशिका कपूर ने किया खुलासा, प्रतीक सहजपाल ने की सीन डिलीट करने की कोशिश, नाम खराब करने की दी रकम******'बिग बॉस 15' फेम प्रतीक सहजपाल और अभिनेत्री काशिका कपूर अपने म्यूजिक वीडियो 'तू लौट आ' के प्रचार के दौरान अपने बयान को लेकर सुर्खियों में हैं। काशिका ने आरोप लगाया कि प्रतीक ने वीडियो से उनके ²श्यों को संपादित करने की कोशिश की।बाद में अभिनेत्री ने यह कहकर अपनी बात स्पष्ट करने की कोशिश की है कि प्रतीक सिर्फ एक पब्लिसिटी स्टंट कर रहे हैं और उनसे आगे इस पर चर्चा न करने के लिए भी कहा। उन्होंने प्रचार कार्यक्रम को छोड़ने की धमकी भी दी क्योंकि निर्माताओं ने उन्हें रोकने की कोशिश की। के प्रशंसकों और दोस्तों द्वारा की गई आलोचना को लेकर काशिका ने अपनी बात साबित करने की कोशिश की और अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा, "हमारे देश में लड़कियां को बहुत जल्दी टारगेट किया जाता है और मुझे महिला कार्ड खेलने के लिए दोषी ठहरा रहे हैं, जबकि मैंने ऐसा नहीं किया है।"उन्होंने आगे कहा, "पूरा मामला मुझ पर 'काशिका कपूर विवाद' के रूप में नामित किया गया है और मैं पूरी तरह से ठीक हूं। मुझे प्रतीक और उनके प्रशंसकों द्वारा अपमानित किया गया और अभी भी यह खत्म नहीं हुआ है। वे सोशल मीडिया पर मुझ पर टिप्पणियां कर रहे हैं वे मुझे गालियां दे रहें और उन्होंने मुझे आत्महत्या करने के लिए उकसाया, मेरे परिवार के सदस्यों को गालियां दीं और इतना ही नहीं बल्कि मुझे पता चला कि उसने मेरा नाम खराब करने के लिए अच्छी रकम दी है।"इसके अलावा, बिग बॉस के प्रतियोगी भी उनके समर्थन में आ रहे हैं क्योंकि वे सभी विवादास्पद हैं। अगर मैंने कुछ गलत कहा तो मैं सहमत हूं। मेरे लिए यह सब एक साथ करना नया था, यह मेरे जीवन में पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस थी और मैं सिर्फ 20 वर्ष की हूं। मेरे पास उन निमार्ताओं के साथ पूरी बातचीत का सबूत है, जिन्होंने दावा किया था कि प्रतीक ने उन्हें मेरे ²श्यों को हटाने के लिए कहा था।दोनों के आसपास के इस विवाद ने सबका ध्यान खींचा और प्रतीक के कई प्रशंसक, सह-कलाकार और दोस्त उनके समर्थन में सामने आए।करण कुंद्रा ने ट्विटर पर लिखते हुए कहा, "रियलसेहजपाल को किस आधार पर सोशल मीडिया पर खुलेआम अपराधी कहा गया है। जब तक अदालत द्वारा साबित नहीं किया जाता तब तक वह अपराधी नहीं माना जाता।"वीजे एंडी, उमर रियाज और निक्की तंबोली जैसी हस्तियों ने भी ट्वीट करते हुए अपना समर्थन दिया।कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतRSOS Result 2018: राजस्थान 10वीं ओपन बोर्ड का रिजल्ट घोषित, rsos.rajasthan.gov.in पर करें चेक******शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने बुधवार को शिक्षा संकुल स्थित सभागार में स्टेट ओपन स्कूल जयपुर की मार्च-मई 2018 की कक्षा 10वीं का परीक्षा परिणाम कम्प्यूटर का बटन दबाकर घोषित किया। देवनानी ने बताया कि परीक्षा में कुल 66,580 अभ्यर्थी बैठे थे। इनमें में 30,849 महिला तथा 35,731 पुरुष अभ्यर्थी थे।उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या 28024 तथा आंशिक उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या 38556 है। कुल परीक्षा परिणाम 42.09 प्रतिषत रहा। इनमें महिलाओं का 47.49 तथा पुरुषों का 37.43 प्रतिशत परीक्षा परिणाम रहा है। इस वर्ष पुरूषों की तुलना में महिला परीक्षार्थियों का परिणाम 10.06 प्रतिशत अधिक रहा है।-सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट rsos.rajasthan.gov.in पर जाएं-मांगे गए जरूरी डिटेल्स भरकर सबमिट बटन पर क्लिक करें-अपना रिजल्ट डाउनलोड करें और भविष्य के लिए उसका प्रिंट आउट भी ले लेंकपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतRailway Recruitment 2022: 12वीं पास और ग्रेजुएट्स के लिए रेलवे में निकली वैकेंसी, मिलेगी 35 हजार से ज्यादा सैलरी, जानें आवेदन की प्रक्रिया******Highlights रेलवे में सरकारी नौकरी (Sarkari Naukri 2022) का सपना देखने वाले युवाओं के लिए बड़ा मौका है। रेलवे भर्ती सेल, पश्चिम मध्य रेलवे (WCR) ने कई NTPC (नॉन-टेक्निकल पॉप्यूलर कैटेगरी) पदों पर भर्ती (Railway Jobs) के लिए आवेदन मांगे हैं। इस भर्ती के तहत स्टेशन मास्टर, कमर्शियल सह टिकट क्लर्क, स्टेशन कमर्शियल कम टिकट और सीनियर क्लर्क कम टाइपिस्ट, जूनियर क्लर्क कम टाइपिस्ट और अकाउंट्स क्लर्क कम टाइपिस्ट के पदों पर भर्ती की जाएगी। इस भर्ती के के लिए ऑनलाइन आवेदन 28 जुलाई 2022 तक किया जा सकता है। भर्ती GDCE कोटे के तहत होगी।किन पदों पर होगी भर्तीरिक्त पदों की कुल संख्या 121 है। भर्ती के तहत स्टेशन मास्टर के 8 पद, सीनियर कमर्शियल कम टिकट क्लर्क के 38 पद, सीनियर क्लर्क कम टाइपिस्ट के 9 पद, कमर्शियल कम टिकट क्लर्क के 30 पद, अकाउंट्स क्लर्क कम टाइपिस्ट के 8 पद और जूनियर क्लर्क कम टाइपिस्ट के 28 पद खाली हैं।क्या होनी चाहिए योग्यताजो लोग स्टेशन मास्टर, स्टेशन कमर्शियल कम टिकट और सीनियर क्लर्क कम टाइपिस्ट पद के लिए आवेदन (Railway Naukri Application) करना चाहते हैं, उनका ग्रेजुएट होना जरूरी है। वहीं कमर्शियल सह टिकट क्लर्क, अकाउंट्स क्लर्क कम टाइपिस्ट और जूनियर क्लर्क कम टाइपिस्ट के पदों के लिए कैंडीडेट का 12वीं पास होना जरूरी है।क्या है उम्र सीमाजनरल कैंडीडेट के लिए उम्मीदवारों की उम्र 18 से 42 साल के बीच होनी चाहिए। ओबीसी के लिए उम्र सीमा 18 से 45 साल है। SC/ST - एससी/एसटी के लिए उम्र सीमा 18 से 47 साल है।कितनी मिलेगी सैलरीस्टेशन मास्टर के लिए चयनित कैंडीडेट्स को 35,400, सीनियर कमर्शियल कम टिकट क्लर्क को 29, 200, सीनियर क्लर्क कम टाइपिस्ट को 29, 200, कमर्शियल कम टिकट क्लर्क को 21,700, अकाउंट्स क्लर्क कम टाइपिस्ट को 19, 900 और जूनियर क्लर्क कम टाइपिस्ट को 19, 900 रुपए प्रति माह सैलरी मिलेगी।आवेदन कैसे करेंस्टेप 1: ऑफिशियल वेबसाइट wcr.indianrailways.gov.in पर जाएं।स्टेप 2: GDCE Notification No 01/2022 के लिंक पर जाएं।स्टेप 3: New Registration के लिंक पर जाएं।स्टेप 4: मांगी गई जानकारी भरें और रजिस्ट्रेशन करें।स्टेप 5: फोटो और साइन अपलोड करें।स्टेप 6: एप्लीकेशन फीस जमा करें।स्टेप 7: सभी प्रक्रिया पूरी करें।

कपिल सिब्बल कोई कांग्रेस संस्कृति के व्यक्ति नहीं हैं: अशोक गहलोत

कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतहड़ताल और अवकाश के चलते 26 से 2 अक्‍टूबर के बीच बैंक रहेंगे 5 दिन बंद, आज और कल में निपटा लें जरूरी काम******Banks open only for 2 days between 26 sep to 2 oct due to strike, holidays26 और 27 सितंबर को लगभग 4 लाख बैंक कर्मचारियों केपर जाने और अव‍काश की वजह से अधिकांश बैंक 26 सितंबर से लेकर 2 अक्‍टूबर के बीच पांच दिन बंद रहेंगे। सार्वजनिक क्षेत्र के 10 बैंकों के विलय के विरोध में चार बैंक कर्मचारी संगठनों ने दो दिवसीय राष्‍ट्रीय हड़ताल का आह्वान किया है। 26 और 27 सितंबर को हड़ताल के कारण बैंकों में कामकाज बंद रहेगा। इसके बाद 28 व 29 सितंबर को क्रमश: चौथे शनिवार और रविवार की वजह से बैंकों में अवकाश रहेगा। 30 सितंबर को अर्द्धवार्षिक लेखाबंदी के कारण बैंकों में आधे दिन ही काम होगा। एक अक्‍टूबर को बैंक खुलेंगे लेकिन 2 अक्‍टूबर को गांधी जयंती के उपलक्ष्‍य में बैंकों में अवकाश रहेगा। ऑल इंडिया बैंक ऑफ‍िसर्स कन्‍फेडरेशन (एआईबीओसी) के तमिलनाडु यूनिट के सचिव आर सेकरन ने कहा कि 26 व 27 सितंबर को चार संगठनों के 4 लाख कर्मचारी हड़ताल पर रहेंगे। हम सार्वजनिक बैंकों के विलय का विरोध कर रहे हैं क्‍योंकि यह आम जनता के हितों के खिलाफ है।उन्‍होंने दावा किया कि बैंकों में हड़ताल होने की वजह से प्रति दिन 48,000 करोड़ रुपए का लेनदेन प्रभावित होगा। इतना ही नहीं बैंक हड़ताल की वजह से कई एटीएम भी खाली हो सकते हैं। चान बैंक संगठनों ऑल इंडिया बैंक ऑफ‍िसर्स कन्‍फेडरेशन, ऑल इंडिया बैंक ऑफ‍िसर्स एसोसिएशन, इंडियन नेशनल बैंक ऑफ‍िसर्स कांग्रेस और नेशनल ऑर्गेनाइजेशन ऑफ बैंक ऑफ‍िसर्स ने इस हड़ताल का आह्वान किया है। साथ ही बैंक यूनियनों ने बैंकों के एकीकरण की इस योजना के खिलाफ नवंबर के दूसरे सप्ताह से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की भी धमकी दी है।कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतयोगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में किया 7 फीट ऊंची भगवान राम की मूर्ति का अनावरण******अयोध्या एक बार फिर सुर्खियों में है और वो इसलिए क्योंकि आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने वहां आजभगवान राम की एक मूर्ति का अनावरण कर दिया है। हालांकि योगी के दौरे से पहले राम मंदिर को लेकर सियासत शुरू हो गई थी। जल्द राम मंदिर बनाने की मांग की जा रही है और आवाज़ उठाने वाले विरोधी नहीं बल्कि बीजेपी के अपने ही है। वो भी तब जब प्रधानमंत्री नरेंद्रमोदी पहले ही साफ कर चुके हैं कि राम मंदिर के निर्माण का रास्ता कोर्ट से ही निकलेगा।मोदी सरकार प्रचंड बहुमत के साथ दोबारा सत्ता में आई तो फिर से राम मंदिर का मुद्दा गरम हो गया है। तमाम सवालों के बीच आज फिर रामनगरी अयोध्या सुर्खियों में हैं क्योंकि आज यूपी के मुखिया योगी आदित्यनाथ यहां पहुंचेजहां उन्होनें साधु संतों से मुलाकात की। योगी ने उन्हें मंदिर को लेकर मोदी सरकार का एजेंडा समझायाऔर भव्य मंदिर से पहले लकड़ी से बनी भगवान राम की एक मूर्ति का अनावरण किया।यह 7 फीट ऊंची भगवान राम की ये मूर्ति टीक वुड से बनी है। मूर्ति में भगवान राम कोदंड धनुष के साथ हैं जिससे उन्होंने रावण का वध किया था। दक्षिण भारत में भगवान राम के कोदंड स्वरूप को ही पूजा जाता है। एम मूर्ति को इस प्रतिमा को बनाने के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार मिल चुका है। ये मूर्ति बेंगलुरु के कावेरी म्यूज़ियम में रखी थी, जहां से इसे 35 लाख में खरीदा गया है।अब सीएम योगी के हाथों अनावरण के बाद ये मूर्ति अयोध्या के म्यूज़ियम में स्थापित होगी। मूर्ति के अलावा योगी भगवान राम के नाम से डाक टिकट भी जारी कर सकते हैं। दिलचस्प बात ये है कि योगी के दौरे से पहले बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी के एक ट्वीट ने राम मंदिर के मुद्दे को फिर सुर्खियों में ला दिया है।उधर मोदी सरकार बनने के बाद साधु संत भी राम मंदिर के लिए हवन और यज्ञ में जुटे हैं। अयोध्या में ही साधुओं ने दैवी शक्ति प्रदान महायज्ञ किया जिससे पीएम मोदी को शक्ति मिले और वो दिव्य और भव्य राम मंदिर बनवा सकें। इस बीच शिवसेना भी राम मंदिर पर चल रही हवा को तेज करने में जुटी है। उद्धव ठाकरे 15 जून को अपने 18 सांसदों के साथ रामलला के दर्शन के लिए अयोध्या जाने वाले है।हालांकि इन सब हलचल के बीच प्रधानमंत्री पहले ही कह चुके हैं कि राम मंदिर उनकी सरकार के एजेंडे में है लेकिन इसके निर्माण का रास्ता कोर्ट से ही निकलेगा। साफ है एक बार फिर अयोध्या में राम मंदिर पर सियासत गर्मा गई है और योगी के दौरे के बाद इसके और बढ़ने की ही संभावना है। वो भी तब जब मामला पहले से ही सुप्रीम कोर्ट में है।

कपिल सिब्बल कोई कांग्रेस संस्कृति के व्यक्ति नहीं हैं: अशोक गहलोत

कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतकोविड-19 के कारण ईरान के क्लब डाल रहे हैं फुटबाल सीजन को रद्द करने का दवाब******तेहरान| ईरान के चार फुटबाल क्लबों ने ईरान फुटबाल लीग संगठन को एक पत्र लिखकर अपील करते हुए कहा है कि कोरोनोनावायरस से व्याप्त स्थिति में मौजूदा सीजन को रद्द किया जाए।समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, ट्रैक्टर, मशीन साजी, गोल गोहार और नासाजी ईरान पेशेवर लीग (आईपीएल) को जारी रखना नहीं चाहते हैं। बाकी अन्य टीमें लीग को जारी रखने का विचार कर रही हैं। लीग के मुखिया सोहेल मेहदी ने कहा है कि वह जल्द ही इस बात पर फैसला लेंगे कि लीग को जारी रखा जाए या नहीं।

कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतDenesh Ramdin Retirement: वेस्टइंडीज के इस दिग्गज हिंदू क्रिकेटर ने लिया संन्यास, दो बार जीता वर्ल्ड कप******Highlightsवेस्टइंडीज के स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश रामदीन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। वेस्टइंडीज के लिए दो वर्ल्ड कप जीतने वाले रामदीन ने 37 साल के उम्र में क्रिकेट को अलविदा कह दिया। भारतीय मूल के कैरेबियाई क्रिकेटर वेस्टइंडीज के सफलतम विकेटकीपरों में से एक रहे।रामदीन ने दिसंबर 2019 में आखिरी बार वेस्टइंडीज के लिए खेला था। उन्होंने अपने करियर में 74 टेस्ट, 139 वनडे और 71 टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले। इस विकेटकीपर ने 2005 में श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो में अपना टेस्ट डेब्यू किया था।दिनेश ने संन्यास के साथ-साथ यह भी बताया कि वह फ्रैंचाइजी क्रिकेट यानी टी20 लीग में खेलना जारी रखेंगे। उन्होंने अपनी इंस्टाग्राम पोस्ट में लिखा, "रिटायर्ड बट नॉट आउट"। इसके साथ ही उन्होंने आगे लिखा, "यह बेहद खुशी की बात है कि मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर रहा हूं। पिछले 14 साल एक सपने के सच होने जैसा रहा है। मैंने त्रिनिदाद और टोबैगो और वेस्टइंडीज के लिए क्रिकेट खेलकर अपने बचपन के सपनों को पूरा किया। मेरे करियर ने मुझे दुनिया को देखने, विभिन्न संस्कृतियों से दोस्त बनाने और अभी भी इस बात की सराहना करने का मौका दिया कि मैं कहां से आया हूं।"उन्होंने आगे लिखा, "भले ही मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर रहा हूं, लेकिन मैं पेशेवर क्रिकेट से संन्यास नहीं ले रहा हूं। मैं अभी भी दुनिया भर में फ्रेंचाइजी क्रिकेट खेलूंगा, इसलिए कृपया मेरी एजेंसी से संपर्क करने में संकोच न करें। मैं इस अवसर पर उन सभी लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने मेरे 14 साल के करियर पर प्रभाव डाला, विशेष रूप से मेरे परिवार, मेरी खूबसूरत पत्नी जेनेल और हमारे बच्चों को उन सभी बलिदानों के लिए जो आपने मेरे अंतरराष्ट्रीय करियर को लंबे समय तक बनाए रखने के लिए किए।"दिनेश रामदीन के अंतरराष्ट्रीय करियर की बात करें तो उन्होंने तीनों फॉर्मेट में मिलाकर कुल 284 मैच खेले। इस दौरान उन्होंने छह शतक और 24 अर्धशतक की मदद से 5734 रन बनाए। रामदीन ने 74 टेस्ट में 2898 रन, वनडे में 139 मैच में 2200 और 71 टी20 में 636 रन बनाए। वह विकेट के पीछे काफी प्रभावी रहे. उन्होंने अपने करियर में 468 शिकार किए। इसमें 429 कैच पकड़े तो वहीं 39 स्टंपिंग की।रामदीन 2012 और 2016 में टी20 वर्ल्ड कप जीतने वाली वेस्टइंडीज टीम का भी हिस्सा रहे थे। वह एक बार अपनी हरकत की वजह से काफी चर्चा में भी रहे थे। दरअसल उन्होंने 2012 में एजबेस्टन में इंग्लैंड के खिलाफ शतक जड़ने के बाद अपनी जेब से एक पर्ची निकालकर लहराई, जिसपर लिखा था, "हां विवी बोलो ना"। ऐसा उन्होंने कैरेबियाई दिग्गज विवियन रिचर्ड्स द्वारा अपनी आलोचना करने के जवाब में किया था।कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतAUS vs NZ 1st ODI: 44 रन पर आउट हो गई थी आधी ऑस्ट्रेलियाई टीम, फिर ग्रीन-कैरी की जोड़ी ने न्यूजीलैंड के मंसूबों पर फेरा पानी******Highlightsऑस्ट्रेलिया दौरे पर तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलने गई न्यूजीलैंड की टीम को पहले मुकाबले में 2 विकेट से हार का सामना करना पड़ा है। इस मैच में एक वक्त कीवी टीम बेहद मजबूत स्थिति में थी और उसे जीत की खुशबू भी आने लगी थी। दरअसल न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने 44 रन पर ही आधी कंगारू टीम को पवेलियन भेज दिया था। लेकिन इसके बाद वो हुआ जिसकी उन्होंने शायद उम्मीद भी नहीं की होगी। विकेटकीपर बल्लेबाज एलेक्स कैरी और ऑलराउंडर कैमरन ग्रीन ने छठे विकेट के लिए 158 रन जोड़कर न्यूजीलैंड के जीत के मंसूबों पर पानी फेर दिया।इस मैच में पहले खेलते हुए न्यूजीलैंड की टीम निर्धारित 50 ओवर में 9 विकेट पर सिर्फ 232 रन ही बना सकी। कीसी भी कीवी बल्लेबाज ने अर्धशतक नहीं जड़ा। हालांकि, डेवोन कॉन्वे 46, कप्तान केन विलियमसन 45 और टॉम लाथम 43 रनों की छोटी-छोटी महत्वपूर्ण पारियां खेलकर पवेलियन लौटे। मेजबान टीम के लिए ग्लेन मैक्सवेल ने 52 रन देकर 4 विकेट और जोश हेजलवुड ने 31 रन देकर 3 विकेट अपने नाम किए। जवाब में ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत बेहद खराब रही और 11 रन पर पहला विकेट गंवाने के बाद 44 रन पर आधी टीम पवेलियन लौट गई।एलेक्स कैरी और कैमरन ग्रीन ने यहां से ऑस्ट्रेलिया की पारी को संभाला। दोनों ने 13वें ओवर की पहली गेंद से साथ खेलना शुरू किया फिर 39वें ओवर की पहली गेंद तक 158 रन जोड़ते हुए स्कोर 200 पार पहुंचा दिया। दोनों ने 163 गेंदों पर 158 रन जोड़े और हार की ओर बढ़ रही ऑस्ट्रेलियाई टीम को जीत दिलाई। ऑस्ट्रेलिया के लिए यह न्यूजीलैंड के खिलाफ छठे विकेट की यह सर्वश्रेष्ठ साझेदारी है।कैरी ने 99 गेंदों पर 85 रनों की पारी खेली जिसमें 8 चौके और एक छक्का शामिल था। कैरी के आउट होते ही एक बार फिर मैच फंस गया और 5 रन के भीतर ही 3 विकेट गिर गए। 207 पर ऑस्ट्रेलिया के 8 खिलाड़ी आउट हो चुके थे। उस समय ग्रीन क्रैम्प्स से जूझते नजर आ रहे थे।समस्याओं के बावजूद कैमरन ग्रीन डटे रहे और इलाज के बाद उन्होंने आते ही चौका लगाया। फिर बारिश ने भी खलल डाला लेकिन 10 मिनट के डिले के बाद मैच दोबारा शुरू हो गया। ऑस्ट्रेलिया ने 45 ओवर में 8 विकेट गंवाकर की 233 रन बना लिए। कांगारुओं की इस जीत में अहम भूमिका निभाई कैमरन ग्रीन ने जो 92 गेंदों पर 89 रन बनाकर नाबाद रहे और एक छोर पर डटे रहे। इस जीत के साथ तीन मैचों की सीरीज में ऑस्ट्रेलिया 1-0 से आगे हो गई है। सीरीज का दूसरा मुकाबला भी अब इसी मैदान पर 8 सितंबर को खेला जाएगा। 11 सितंबर को सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच भी यहीं होगा।

कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतCrisis in Congress: 1 साल के अंदर कई नेताओं ने छोड़ा कांग्रेस का हाथ, जिधर देखो बगावत ही बगावत... देखें लिस्ट******Highlights चुनावी हार और दरकते जनाधार के बीच अब तक सबसे मुश्किल दौर से गुजर रही लगातार बिखरती नजर आ रही है और हाल ही में संगठन के भीतर ‘बड़े सुधारों’ की घोषणा के बाद भी नेताओं का पार्टी से पलायन का सिलसिला थम नहीं रहा है। पार्टी छोड़ने वाले नेताओं में नया नाम और हार्दिक पटेल का है। पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष जाखड़ गुरुवार को भाजपा में शामिल हो गए। हार्दिक के भी निकट भविष्य में भाजपा का दामन थामने की अटकलें हैं।उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से ठीक पहले आरपीएन सिंह ने कांग्रेस को अलविदा कहा था। उनसे पहले जितिन प्रसाद ने भाजपा का दामन थामा था और वह फिलहाल उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री हैं। पिछले कुछ वर्षों में कांग्रेस छोड़ने वाले कई प्रमुख नेताओं में कई नाम ऐसे हैं जो कभी राहुल गांधी की ‘युवा ब्रिगेड’ का हिस्सा माने जाते थे। राहुल गांधी के करीबी माने जाने वाले प्रमुख युवा नेताओं के पार्टी छोड़ने का सिलसिला मार्च, 2020 में उस समय हुआ जब ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस को अलविदा कह भाजपा का दामन थाम लिया। नतीजा यह हुआ कि मध्य प्रदेश में 15 साल के बाद बनी कांग्रेस की सरकार 15 महीनों में ही सत्ता से बाहर हो गई। सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के कुछ महीने बाद ही एक समय ऐसा आया कि सचिन पायलट कांग्रेस से जुदा होने के मुहाने पर खड़े हो गए, हालांकि आलाकमान के दखल और बातचीत के बाद उन्होंने अपने कदम पीछे खींच लिए।केंद्र में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) सरकार के समय सिंधिया, पायलट, प्रसाद, आरपीएन सिंह और मिलिंद देवड़ा वे चंद युवा नेता थे जिन्हें राहुल गांधी की ‘युवा ब्रिगेड’ की संज्ञा दी जाती थी। आज इनमें से पायलट और देवड़ा ही कांग्रेस में रह गए हैं। पिछले साल ही महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव कांग्रेस को छोड़कर तृणमूल कांग्रेस के पाले में चली गईं। इससे पहले झारखंड में अजय कुमार, हरियाणा में अशोक तंवर और त्रिपुरा में प्रद्युत देव बर्मन जैसे युवा नेताओं ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया था। अजय कुमार की अब कांग्रेस में वापसी हो चुकी है।कांग्रेस के कुछ नेताओं का मानना है कि पार्टी से अलग होने वाले नेता अपने राजनीतिक फायदे को ध्यान में रखकर ऐसे कदम उठा रहे हैं। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘वैचारिक प्रतिबद्धता की परीक्षा मुश्किल घड़ी में होती है। आज जो नेता कांग्रेस से अलग हो रहे हैं, उन्हें और उनसे पहले उनके परिवारों को भी पार्टी ने बहुत कुछ दिया। अब वो अपने फायदे के लिए पार्टी के हित को नुकसान पहुंचाकर ऐसे कदम उठा रहे हैं।’’ कांग्रेस ने संगठन के समक्ष खड़ी इस चुनौती और अन्य चुनौतियों से निपटने के लिए ‘बड़े सुधारों’ की तरफ कदम भी बढ़ाया है। पार्टी के एक नेता ने कहा, ‘‘कांग्रेस की विचारधारा के प्रति समर्पित हर नेता और कार्यकर्ता का यह कर्तव्य है कि वह पार्टी को मजबूत बनाने के लिए काम करे। सोनिया गांधी जी ने सही कहा है कि अब कर्ज उतारने का समय है। इसी भावना को ध्यान में रखकर काम करना होगा।’’कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतजैश के ठिकाने पर एयर स्ट्राइक पर बड़ा खुलासा, बालाकोट में IAF ने की चार बिल्डिंग तबाह******पाकिस्तान में जैश के ठिकाने पर एयर स्ट्राइक को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। की एयर स्ट्राइक में जैश के ठिकाने की चार बिल्डिंग तबाह हो गई है। ये सभी बिल्डिंग पाकिस्तान के बालाकोट में है। एक अंग्रेज़ी अखबार ने सरकार के टॉप सूत्रों के हवाले से बताया है कि बालाकोट में जिस जगह पर हमला किया गया वहां की तस्वीरें सरकार के पास हैं और उनमें ये साफ साफ दिख रहा है कि आतंकियों के अड्डे की चार बिल्डंग एयरफोर्स की स्ट्राइक में ध्वस्त हो गईं।सरकार के पास ये तस्वीरें सिंथेटिक अपरचर रेडार के ज़रिए आई हैं। बालाकोट में जिस जगह की बिल्डिंग को उड़ाया है वहां पर जैश का टेरर कैंप था। दिखावे के लिए तालीम उल कुरान के नाम से मदरसा खोला गया था लेकिन इसमें आतंकी ट्रेनिंग लेते थे और इस जगह को पुलवामा हमले का गुनहगार मसूद अज़हर का साला यूसुफ अज़हर भी रहता था।सूत्रों के मुताबिक एयरफोर्स के लड़ाकू जहाज़ों ने इन बिल्डिंग्स के ऊपर एस-2000 (PGM) मिसाइलों से हमला किया था। इस तरह की पांच मिसाइलें बालाकोट के कैंप में दागी गईं जिसमें चार बिल्डिंग तबाह हो गईं। स्ट्राइक के बाद इन कैंपों को पाकिस्तान आर्मी ने पूरी तरह से अपने कब्जे में लेकर सील कर दिया है।पाकिस्तान आर्मी ने यहां तक कि उन पत्रकारों को भी मदरसे में नहीं जाने दिया गया जिन्हें ये कहकर स्पॉट पर ले जाया गया था कि वहां भारतीय सेना ने कोई अटैक ही नहीं किया है। सूत्रों के मुताबिक इस हमले में कितने आतंकी मारे गये इसका अनुमान लगाना अभी मुश्किल है क्योंकि पाकिस्तान आर्मी ने दो दिन तक यहां पर किसी को आने जाने नहीं दिया।

कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतकश्मीर से धारा 370 हटाने से बौखलाया पाकिस्तान, भारत के साथ व्यापारिक संबंध किए खत्म****** के से धारा 370 हटाने के फैसले से बौखला गया है। भारत सरकार के इस फैसले के बाद से पूरे पाकिस्तान में हलचल है। इसी को लेकर पाकिस्तान सरकार नेनैशनल सिक्योरिटी कमेटीकी बैठक की। ने बैठक की अध्यक्षता की।नैशनल सिक्योरिटी कमेटी कीबैठक में बौखलाए पाकिस्तानी हुकमरानों ने तीन फैसले लिए। बैठक में भारत के साथ राजनयिक संबंधों को कम करने, भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापार पर रोक लगाने और भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा करने का फैसला किया गयाहै। वहीं, इसके अलावा पाकिस्तान ने आज हीबता दें कि इससे पहले मंगलवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म होने के बाद पुलवामा जैसे हमले की आशंका प्रकट करते हुए कहा कि इससे पाकिस्तान और भारत के बीच युद्ध छिड़ सकता है। संसद की असाधारण संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने आगाह किया, ‘‘यह ऐसा युद्ध होगा जिसे कोई नहीं जीतेगा और इसका असर पूरी दुनिया पर पड़ेगा।’’ जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान करने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को खत्म करने के भारत सरकार के फैसले के एक दिन बाद कश्मीर की स्थिति पर चर्चा के लिए बैठक बुलायी गयी थी।भारत जम्मू कश्मीर को अपना अखंड हिस्सा कहता है और इसमें पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर भी शामिल है। प्रधानमंत्री खान ने स्पष्ट किया कि परमाणु हथियार से संपन्न दोनों पड़ोसियों के बीच मौजूदा तनाव में युद्ध जैसी स्थिति पैदा हो सकती है। उन्होंने कहा कि कश्मीरी विरोध करेंगे और भारत उनके खिलाफ कार्रवाई करेगा। खान ने कहा कि इस दृष्टिकोण से ‘‘एक बार फिर पुलवामा जैसे हमले हो सकते हैं। मैं आशंका जता चुका हूं, यह होगा। एक बार फिर वे हम पर दोष मढेंगे। वे हम पर फिर हमला कर सकते हैं और हम जवाब देंगे।’’खान ने सांसदों से कहा, ‘‘फिर क्या होगा? जंग कौन जीतेगा ? कोई भी नहीं जीतेगा और सारी दुनिया के लिए इसके गंभीर नतीजे होंगे। परमाणु हमले को लेकर ब्लैकमेल करने की बात नहीं है।’’ उन्होंने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से कश्मीर में हालात का संज्ञान लेने का अनुरोध किया । खान ने कहा कि उनकी सरकार वैश्विक नेताओं से संपर्क करेगी और कश्मीर में हालात के बारे में उन्हें अवगत कराएगी। उन्होंने कहा कि हम संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद सहित हर मंच पर लड़ेंगे। इसके साथ ही खान ने कहा कि पाकिस्तान मामले को अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत में भी ले जाने की सोच रहा है।कपिलसिब्बलकोईकांग्रेससंस्कृतिकेव्यक्तिनहींहैंअशोकगहलोतविवादित बयान देने वाले उम्मीदवारों को दिल्ली ने किया खारिज****** में लोगों ने आम आदमी पार्टी (AAP) को एक बार फिर बड़ा जनादेश दिया और इसके साथ ही उन नेताओं तथा उम्मीदवारों को खारिज कर दिया जिन्होंने इस चुनाव के दौरान अथवा इससे पहले विवादित बयान दिए थे। इस कड़ी में सबसे प्रमुख नाम भाजपा नेता कपिल मिश्रा का है जिन्हें मॉडल टाउन से हार का सामना करना पड़ा है। ‘गोली मारो...’ का नारा और ‘हिंदुस्तान बनाम पाकिस्तान’ संबंधी बयान देने वाले मिश्रा को आम आदमी पार्टी के निवर्तमान विधायक अखिलेशपति त्रिपाठी ने पराजित किया।मिश्रा पहले में थे और पिछली बार करावल नगर से विधायक बने थे। संशोधित नागरिकता कानून (CAA) विरोधी प्रदर्शनकारियों के खिलाफ निकाले गए मार्च में मिश्रा ने ‘देश के गद्दारों को, गोली मारो....को’ के नारे लगाए थे। यही नहीं, मतदान से कुछ दिन पहले मिश्रा ने ट्वीट कर इस चुनाव को ‘हिंदुस्तान बनाम पाकिस्तान का मुकाबला’ करार दिया था। उनके इस बयान को लेकर विवाद खड़ा हुआ था और निर्वाचन आयोग ने उन्हें कुछ दिनों के लिए प्रचार से प्रतिबंधित कर दिया था।मॉडल टाउन में पराजित होने के बाद मिश्रा ने ट्वीट किया, ‘‘मैंने सीएए के विरोधियों के बारे में या शाहीन बाग के बारे में जो कहा, उस पर आज भी कायम हूं। डंके की चोट पर, चुनाव परिणाम आज प्रतिकूल आया है, कल अनुकूल भी आएगा। हम और मेहनत करेंगे। पर इस परिणाम से, सीएए या शाहीन बाग पर सोच बदल लेंगे, यह गलतफहमी मत पालिए।’’शाहीन बाग में सीएए विरोधी प्रदर्शन को बढ़-चढ़कर चुनावी मुद्दा बनाने वाले और मुख्यमंत्री को ‘आतंकवादी’ बताने वाले भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा के चाचा आजाद सिंह को मुंडका की जनता ने खारिज कर दिया। आम आदमी पार्टी के धर्मपाल लाकड़ा ने आजाद सिंह को पराजित किया। मुंडका विधानसभा क्षेत्र प्रवेश वर्मा के संसदीय क्षेत्र पश्चिमी दिल्ली के तहत आता है। सोशल मीडिया पर अक्सर विवादित पोस्ट एवं टिप्पणियां करने वाले तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को भी हरिनगर विधानसभा की जनता ने खारिज कर दिया। भाजपा उम्मीदवार बग्गा को राजकुमार ढिल्लों ने पराजित किया।

हाल का ध्यान

लिंक