वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > सिमाओ > मूलपाठ

Budget 2022: क्रिप्टोकरेंसी को लेकर क्या है सरकार का प्लान?, Cryptocurrency पर इसलिए लगाया 30% टैक्स

2022-09-30 23:25:39 सिमाओ

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्स‘शी जिनपिंग ने मुझे कहा था कि क्वाड चीन के खिलाफ है’, जो बायडेन ने कहा******Highlightsअमेरिका के राष्ट्रपति जो बायडेन ने कहा कि उनके चीनी समकक्ष शी जिनपिंग ने एक बार उनसे कहा था कि वह QUAD को चीन के खिलाफ मजबूत कर रहे हैं। चीन का सामरिक रूप से महत्वपूर्ण हिंद-प्रशांत क्षेत्र में कई देशों के साथ क्षेत्रीय विवाद है और वह क्वाड गठबंधन का उसके गठन के बाद से ही जोरदार विरोध कर रहा है।बायडेन ने सिएटल स्थित एक निजी आवास पर डेमोक्रेटिक पार्टी के वास्ते धन एकत्रित करने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, ‘मैंने को संकेत दिया था कि मैं (ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और अमेरिका) के बीच सहयोग बढ़ा रहा हूं। इस पर उन्होंने कहा कि आप केवल वह कर रहे हैं जो हमें प्रभावित करता है लेकिन मैंने कहा था, ऐसा नहीं है।’ बायडेन ने कहा कि उन्होंने यह स्पष्ट कर दिया कि ‘क्वाड इसलिए है, क्योंकि हम उन लोगों को एकसाथ रखने की कोशिश कर रहे हैं जिनके पास हिंद-प्रशांत में एकसाथ काम करने का एक अवसर है।’ ने कहा, ‘भारत समेत अन्य देशों की अपनी-अपनी समस्याएं हैं, लेकिन तानाशाह जिस बात से सबसे ज्यादा डरते हैं, वह यह धारणा है कि हम एकसाथ मिलकर काम कर सकते हैं और उनके खिलाफ काम कर सकते हैं जो वास्तव में निरंकुश हैं।’ उन्होंने कहा कि केवल चीन और रूस की बात नहीं हो रही, बल्कि निरंकुश देशों में अन्य देश भी हैं। फरवरी में, चीन ने क्वाड गठबंधन को चीन के उदय को रोकने और अमेरिकी आधिपत्य को बनाए रखने का ‘उपकरण/जरिया’ करार दिया था।चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने फरवरी में बीजिंग में कहा था, ‘चीन का मानना है कि अमेरिका, जापान, भारत और ऑस्ट्रेलिया द्वारा मिलकर बनाया गया तथाकथित क्वाड समूह अमेरिकी आधिपत्य बनाए रखने के लिए चीन को घेरने का एक उपकरण है। इसका उद्देश्य टकराव को भड़काना और अंतरराष्ट्रीय एकजुटता और सहयोग को कमजोर करना है।’ कार्यक्रम के दौरान बायडेन ने कहा कि जब वह निर्वाचित हुए तो रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सोचा कि वह आसानी से उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (NATO) को तोड़ने में सक्षम होंगे।बायडेन ने कहा, ‘यह शुरुआत से ही उनके उद्देश्य का एक हिस्सा था और मैं जानता हूं कि मैं यह आठ साल से कह रहा हूं। हालांकि विडंबना है कि उन्हें वही मिला जो वह नहीं चाहते थे। वह यूरोप पर प्रभाव जमाना चाहते थे। इसके बजाय, फिनलैंड ने कहा कि वह नाटो में शामिल होना चाहता है और स्वीडन भी नाटो में शामिल होना चाहता है। उनके कदम से इनकी इच्छा के विपरीत परिणाम सामने आ रहे हैं। मैं यह नहीं कह रहा हूं कि इससे सब कुछ आसान हो जाता है। लेकिन मुद्दा यह है कि हमारे सामने ऐसी परिस्थिति है जिसमें यूक्रेनी लोग अविश्वसनीय रूप से बहादुर हैं, वे अविश्वसनीय रूप से प्रतिबद्ध हैं, न केवल प्रशिक्षित सेना बल्कि सड़कों पर उतरे लोग भी।’बायडेन ने कहा, ‘वे पुतिन के इस सिद्धांत का झुठला रहे हैं कि चूंकि उनकी स्लाव पृष्ठभूमि है और उनमें से कई रूसी बोलते हैं, वहां उनका खुले दिल से स्वागत किया जाएगा। लेकिन ठीक इसके विपरीत हुआ है।’ नवंबर 2017 में अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, भारत और जापान ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन की बढ़ती सैन्य मौजूदगी के बीच महत्वपूर्ण समुद्री मार्गों को किसी भी प्रभाव से मुक्त रखने के लिए एक नई रणनीति विकसित करने के वास्ते लंबे समय से लंबित प्रस्ताव के तहत क्वाड को आकार दिया।

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सWomen's T20 Challenge: पुरुषों के बाद अब महिलाओं के IPL में मचेगी धूम, वेन्यू से लेकर तारीखों तक यहां जानिए सबकुछ******Highlightsभारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने मंगलवार को IPL 2022 के प्लेऑफ और फाइनल की तारीख और वेन्यू के साथ महिलाओं के टी20 चैलेंज (Women's T20 Challenge) के चौथे सीजन को होस्ट करने की भी जानकारी दी थी। बीसीसीआई ने महिलाओं का आईपीएल कहे जाने वाले इस टूर्नामेंट की तारीखों का ऐलान कर दिया था। इसकी शुरुआत 23 मई से होगी जबकि पुरुषों के फाइनल से एक दिन पहले 28 मई को महिलाओं के इस टूर्नामेंट का फाइनल खेला जाएगा।भारतीय बोर्ड ने इसको लेकर ऐलान किया है कि टूर्नामेंट की शुरुआत 23 मई से होगी, जिसमें तीन टीमें हिस्सा लेंगे। यह तीन टीमें होंगी सुपरनोवाज (Supernovas), ट्रेलब्लेजर्स (Trailblazers) और वेलोसिटी (Velocity)। यही तीनों टीमें अभी तक पिछले तीन वुमेंस टी20 चैलेंज के सीजनों में हिस्सा लेती आई हैं। हालांकि वेलोसिटी 2019 से जुड़ी थी। इस बार के टूर्नामेंट में तीन लीग और एक फाइनल मैच समेत कुल चार मैच पुणे के एमसीए स्टेडियम में आयोजित होंगे।वुमेंस टी20 चैलेंज की तारीखों और वेन्यू का ऐलान कर दिया गया है। हालांकि अभी कौन सी टीम किसके साथ कब खेलेगी इसका ऐलान होना बाकी है। इसके सभी मैच पुणे के एमसीए स्टेडियम में खेले जाएंगे। 23 मई को पहला मैच खेला जाएगा, जबकि 24 मई को दूसरा मैच आयोजित होगा। तीसरा मैच 26 को खेला जाएगा, जबकि फाइनल मैच 28 मई को खेला जाएगा। 24 तारीख को होने वाला मैच दोपहर साढ़े 3 बजे से शुरू होगा, जबकि बाकी सभी मैच शाम साढ़े 7 बजे से खेले जाएंगे।महिलाओं का आईपीएल कहे जाने वाले इस टूर्नामेंट का खिताब तीन में से दो बार (2018, 2019) हरमनप्रीत कौर की अगुआई वाली सुपरनोवाज ने अपने नाम किया है। जबकि 2020 के पिछले सीजन में स्मृति मंधाना की अगुआई वाली ट्रेलब्लेजर्स ने सुपरनोवाज को हराकर बाजी मारी थी। देखना होगा कि इस बार तीनों टीमों का स्क्वॉड किस प्रकार होता है। पिछले सत्र के हिसाब से, सुपरनोवाज की कमान हरमनप्रीत कौर, ट्रेलब्लेजर्स की स्मृति मंधाना और वेलोसिटी की मिताली राज के हाथों में थी।क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सManipur Landslide: मणिपुर में हुए भूस्खलन में असम के 11 लोगों की मौत, 10 अब भी हैं लापता******Highlightsमणिपुर के नोनी जिले में भारी भूस्खलन में जान गंवाने वाले असम के निवासियों की संख्या अब तक 11 हो गई है, जबकि राज्य के कम से कम 10 अन्य लोग अब भी लापता हैं। एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि दस लोगों के शवों का उनके मूल स्थानों पर अंतिम संस्कार किया जा चुका है, जबकि एक और शव को वापस असम ले जाना बाकी है।राज्य सरकार ने 29 जून को भूस्खलन के समय तुपुल रेलवे यार्ड निर्माण स्थल पर काम कर रहे राज्य के 26 लोगों की सूची तैयार की है। अधिकारी ने कहा, "इन 26 लोगों में से 11 के शव बरामद कर लिए गए हैं और पांच को सुरक्षित बचा लिया गया है। बाकी दस लोग अब भी लापता हैं।" भूस्खलन में अब तक कुल 47 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है, जबकि 14 और लोग अब भी घटना स्थल से लापता हैं। इस बीच, दो और शव मंगलवार को मोरीगांव लाए गए जिनका अंतिम संस्कार कर दिया गया।मोरीगांव के उपायुक्त पीआर घरफालिया ने कहा, "हमारे जिले के आठ पीड़ितों के शव अब तक यहां लाए जा चुके हैं और उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया है।" उन्होंने कहा कि सोमवार को असम के दो पीड़ितों के शव बरामद किए गए, जिनमें से एक मोरीगांव का था। घरफालिया ने कहा, "दूसरे की पहचान अभी नहीं हुई है, क्योंकि शव बुरी तरह से सड़ चुका है।"मोरीगांव के 21 लोग दुर्घटनास्थल पर थे, जिनमें से पांच को बचा लिया गया। उन्हें सोमवार को वापस असम ले जाया गया और वर्तमान में मोरीगांव के सिविल अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है।

Budget 2022: क्रिप्टोकरेंसी को लेकर क्या है सरकार का प्लान?, Cryptocurrency पर इसलिए लगाया 30% टैक्स

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सMS Dhoni 41-Feet Cutout: एमएस धोनी के 41वें जन्मदिन पर फैंस ने लगाया विशाल कट आउट, बर्थडे पर थाला को मिला खास गिफ्ट******Highlightsभारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और सबसे सफल कप्तान रहे एमएस धोनी 7 जुलाई को अपना 41वां जन्मदिन मनाएंगे। इस अवसर पर उनके फैंस ने उन्हें खास गिफ्ट दिया है। आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में धोनी का 41 फीट ऊंचा कट आउट लगाया गया है। इस कट आउट में एमएस धोनी का 2011 वर्ल्ड कप फाइनल का मैच विनिंग शॉट लगाते हुए फोटो बनाया गया है। यह तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। वहीं धोनी इन दिनों इंग्लैंड में हैं और उम्मीद है यहीं वह अपनी पत्नी और बेटी जीवा के साथ जन्मदिन मनाएंगे।आपको यह भी बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब धोनी का कट आउट लगा है। इससे पहले साल 2018 में केरल में 35 और चेन्नई में 30 फीट के कट आउट लगाए गए थे। वह इस वक्त लंदन में हैं और दो दिन पहले ही उन्होंने अपनी शादी की 12वीं सालगिरह मनाई थी। 4 जुलाई 2010 को धोनी और साक्षी शादी के बंधन में बंधे थे। एमएस धोनी क्रिकेट के मैदान पर आखिरी बार IPL 2022 में 20 मई 2022 को चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते नजर आए थे।एमएस धोनी लिमिटेड ओवर क्रिकेट में आईसीसी की सभी ट्रॉफी जीतने वाले दुनिया के इकलौते कप्तान हैं। उन्होंने 2007 में टी20 वर्ल्ड कप जीता, 2011 में वनडे क्रिकेट वर्ल्ड कप को अपने नाम किया और 2013 में आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी भारत की झोली में डाली थी। ऐसा करने वाले वह दुनिया के इकलौते और पहले कप्तान हैं। इसके अलावा आईपीएल में भी उन्होंने चेन्नई सुपर किंग्स को अपनी कप्तानी में चार बार चैंपियन बनाया है।एमएस धोनी के इंटरनेशनल करियर की बात करें तो 2004 में उन्होंने वनडे, 2005 में टेस्ट और 2006 में वनडे डेब्यू किया था। अपने करियर की शुरुआत के तीन साल के अंदर ही उन्हें भारतीय टीम की कप्तानी भी मिल गई थी। इसके बाद इसी दौरान उन्होंने टी20 फॉर्मेट में 2007 वर्ल्ड कप में जीत दिलाई। धोनी ने अपने करियर में 90 टेस्ट, 350 वनडे और 98 टी20 इंटरनेशनल मुकाबले खेले हैं। टेस्ट में धोनी के नाम 4876, वनडे में 10773 और टी20 इंटरनेशनल में 1617 रन दर्ज हैं। आईपीएल में भी धोनी ने 234 मुकाबलों में 4978 रन बनाए हैं।क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सChaitra Navratri 2019: नवरात्रि में देवी के इन 9 रूपों की होती है पूजा******नवरात्रि का आरंभ 6 अप्रैल से हो गया है। नवरात्रि में देवी मां के 9 रूपों की पूजा की जाती है। मां के इन 9 रूपों को 'नवदुर्गा' के नाम से जाना जाता है। नवरात्रि में मां के 9 रुपों शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कूष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी, सिद्धिरात्रि की पूजा की जाती है।जानतें हैं मां के 9 रुपों के बारे में... नवरात्रि के पहले दिन मां दुर्गा के पहले स्वरूप माता शैलपुत्री की उपासना की जाती है। मार्केण्डय पुराण के अनुसार पर्वतराज, यानि शैलराज हिमालय की पुत्री होने के कारण इनका नाम शैलपुत्री पड़ा। साथ ही माता का वाहन बैल होने के कारण इन्हें वृषारूढ़ा भी कहा जाता है। आपको बता दें कि मां शैलपुत्री के दो हाथों में से दाहिने हाथ में त्रिशूल और बाएं हाथ में कमल का फूल सुशोभित है। कहा जाता है कि माता शैलपुत्री की पूजा करने और उनके मंत्र का जप करने से व्यक्ति का मूलाधार चक्र जाग्रत होता है।नवरात्रि के दूसरे दिन ब्रह्मचारिणी की अराधना की जाती है। ब्रह्म का अर्थ है तपस्या और चारिणी का अर्थ है आचरण करने वाली। इस तरह ब्रह्मचारिणी का अर्थ हुआ तप का आचरण करने वाली। मां का यह रूप पूर्ण ज्योतिर्मय है।मां के तीसरे रूप का नाम चंद्रघंटा है। इनके माथे पर घंटे के आकार का अर्धचंद्र है।माता के चौथे रूप का नाम कूष्मांडा है। कहा जाता है कि इनकी मंद हंसी से ब्रह्मांड की सृष्टि हुई थी। मां के इस रूप की अराधना से आयु, यश की वृद्धि होती है।मां के पांचवे रूप का नाम स्कंदमाता है। इन्हें मोक्ष का द्वार खोलने वाली माता कहा जाता है। स्कंदमाता को सृष्टि की पहली प्रसूता स्त्री माना जाता है।माता के छठें रूप को कात्यायनी कहा जाता है। इनकी पूजा करने से रोग, भय खत्म होते हैं, साथ ही मोक्ष की प्राप्ति भी होती है। माता के सातवें रूप का नाम कालरात्रि है। यह हमेशा शुभ फल देती हैं। इन्हें शुभकारी के नाम से भी जाना जाता है।माता की आठंवे रूप का नाम महागौरी है। कहा जाता है कि कठोर तपस्या के कारण इनका रंग काला पड़ गया था। इनकी पूजा करने से पाप मिट जाते हैं। माता के अंतिम रूप का नाम सिद्धदात्री है। इनकी अराधना से धन प्राप्ति होती है।क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्स14,000 रुपये से भी कम कीमत में लॉन्च हुआ यह Windows 10 लैपटॉप!******इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स बनाने वाली कंपनी ने एक नया लैपटॉप लॉन्च किया है। नाम से लॉन्च हुए इस लैटपटॉप में Intel Celeron N3350 प्रोसेसर दिया गया है और यह Windows 10 पर रन करता है। कंपनी का दावा है कि इस की बैटरी लाइफ 6 घंटे की है। खास बात यह है कि iBall CompBook Merit G9 लैपटॉप की कीमत बेहद आकर्षक है। यह लैपटॉप मार्केट में में उपलब्ध है। 1.1 किलोग्राम वजनी इस लैपटॉप को कोबाल्ट ब्लू कलर में लॉन्च किया गया है।स्पेसिकिफेकशंस की बात करें तो Windows 10 पर रन करने वाले इस लैपटॉप में 11.6 इंच का HD डिस्प्ले दिया गया है जिसका रिजॉल्यूशन 1366x768 पिक्सल्स है। आईबॉल कॉम्पबुक मेरिट जी9 टचपैड और मल्टी-टच फंक्शनालिटी जैसे फीचर्स के साथ आता है। इस लैपटॉप में 2.4 गीगाहर्ट्ज़ इंटल सेलेरॉन एन335 प्रोसेसर है जिसके साथ 2GB DDR3 RAM मौजूद है। इंटरनल स्टोरेज की बात करें तो यह 32GB है जिसे जरूरत पड़ने पर माइक्रोएसडी कार्ड के जरिए और 128GB तक बढ़ाया जा सकता है। वहीं, ज्यादा स्टोरेज के लिए 1TB तक के एक्सटर्नल HDD/SSD के लिए सपोर्ट दिया गया है।iBall CompBook Merit G9 में 0.3 MP का वेब कैमरा, ड्यूल स्पीकर्स और 3.5mm ऑडियो जैक भी मौजूद है। लैपटॉप में 5,000mAh की लिथियम पॉलीमर बैटरी दी गई है जिसके बारे में कंपनी का दावा है कि यह 6 घंटे तक चल सकती है। कनेक्टिविटी फीचर्स की बात करें तो iBall CompBook Merit G9 में आपको ब्लूटूथ 4.0, इंटल डुअल बैंड वायरलेस-एसी 3165, HDMI ver.1.4a पोर्ट, USB 2.0 और USB 3.0 पोर्ट शामिल हैं। 1.1 किलोग्राम वजनी इस लैपटॉप का डाइमेंशन 30x20.3x2.5cm है।

Budget 2022: क्रिप्टोकरेंसी को लेकर क्या है सरकार का प्लान?, Cryptocurrency पर इसलिए लगाया 30% टैक्स

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सIndia vs South Africa, 1st Test, Day 4 Highlights: चौथे दिन का खेल खत्म, साउथ अफ्रीका (94/4) को हराने के लिए भारत को 6 विकेट की दरकार******Highlightsभारत ने पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के चौथे दिन बुधवार को अपनी दूसरी पारी में 174 रन बनाए थे और साउथ अफ्रीका के सामने 305 रन का लक्ष्य रखा था। साउथ अफ्रीका ने अपनी दूसरी पारी का आगाज किया और दिन का खेल खत्म होने तक 94/4 का स्कोर खड़ा किया। अब साउथ अफ्रीका को जीत के लिए 211 रनों की जरूरत है, वहीं भारत को जीत के लिए 6 विकेट लेने होंगे।साउथ अफ्रीका के लिए आज कप्तान डीन एल्गर ने 52 रनों की पारी खेली, वे नाबाद लौटे। वहीं, भारत के लिए आज जसप्रीत बुमराह ने 2 विकेट चटकाए। मोहम्मद सिराज और शमी के खाते में एक-एक विकेट आए।क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सNikhat Zareen CWG 2022: निकहत जरीन ने विरोधी मुक्केबाज को किया नॉकआउट, दो राउंड के बाद ही क्वॉर्टरफाइनल में पहुंचीं******Highlights भारतीय स्टार महिला मुक्केबाज निकहत जरीन ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के राउंड ऑफ 16 में जबरदस्त प्रदर्शन किया और पूरी ठसक के साथ क्वॉर्टरफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली। निकहत ने 48 - 50 किलो लाइट फ्लाई कैटेगरी में अपनी विरोधी मुक्केबाज मोजाम्बिक की हेलेना इस्माइल बगाओ को दो राउंड के बाद ही नॉकआउट कर दिया। भारतीय बॉक्सर ने शुरुआती दो राउंड में बगाओ पर इतने पंच बरसाए कि रेफरी को तीसरे राउंड से पहले ही निकहत जरीन को विजेता घोषित करना पड़ा।इस मुकाबले पर पहले राउंड के शुरुआती पलों से ही निकहत ने अपनी मजबूत पकड़ बना ली। 25 साल की भारतीय बॉक्सर को हर राउंड में इस मुकाबले के लिए मौजूद पांचों जजों से हंड्रेड परसेंट प्वॉइंट्स मिले। जरीन को पहले राउंड में हर जज से 10-10 अंक मिले जबकि मोजाम्बिक की मुक्केबाज को चार जजों ने 8-8 अंक दिए और उन्हें एक जज से 9 अंक हासिल हुए।निकहत दूसरे राउंड में शुरुआत से ही काफी आक्रामक नजर आईं। उन्होंने शुरुआती 30 सेकेंड के भीतर ही मुकाबले को पूरी तरह से एकतरफा बना दिया। जरीन की जोरदार पंचों का बगाओ के पास कोई जवाब नहीं था, वह पूरी तरह से असहाय नजर आईं। दूसरे राउंड में हर जज ने निकहत को 10-10 अंक दिए और बगाओ को सबसे 8-8 अंक मिले।इन दो राउंड्स के बाद मोजाम्बिक की मुक्केबाज पूरी तरह से बेदम दिखीं, हालत इतनी बुरी थी कि रेफरी ने खेल को आगे बढ़ाने का जोखिम लेना ठीक नहीं समझा। नतीजतन हेलेना इस्माइल बगाओ को तीसरे राउंड में नॉकडाउन घोषित कर दिया गया। इस ऐलान के साथ ही जांबाज भारतीय मुक्केबाज गेम्स के क्वॉर्टरफाइनल में पहुंच गईं।निकहत ने जिस अंदाज में अंतिम आठ में प्रवेश किया है, उसने उनकी लाइट फ्लाई कैटेगरी की बाकी मुक्केबाजों में दहशत तो पैदा कर ही दिया होगा। जरीन को अपना क्वॉर्टरफाइनल मुकाबला तीन अगस्त को खेलना है। इस बाउट में उनका अगला मुकाबला वेल्स की बॉक्सर हेलेन जोन्स से होगा।

Budget 2022: क्रिप्टोकरेंसी को लेकर क्या है सरकार का प्लान?, Cryptocurrency पर इसलिए लगाया 30% टैक्स

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सपिछले 60 दिनों में खुदरा कारोबार को 9 लाख करोड़ रुपये का नुकसान : सीएआईटी******Lockdownनई दिल्ली। कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने कहा है कि पिछले 60 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान भारत के खुदरा कारोबार को लगभग 9 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। कारोबारियों की इस संस्था ने एक बयान में यह भी कहा कि पिछले सप्ताह सोमवार को प्रतिबंधों में ढील दिए जाने के बाद से मात्र पांच प्रतिशत कारोबार ही शुरू हो सका और कारोबार से जुड़े आठ प्रतिशत श्रमिक ही काम पर वापस आए हैं।बयान में आगे कहा गया है कि व्यापार में नुकसान के कारण केंद्र और राज्य सरकारों को भी जीएसटी के रूप में लगभग 1.5 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। बयान में कहा गया है, "देश भर के कारोबारी गंभीर वित्तीय संकट का सामना कर रहे हैं और सरकार की तरफ से किसी नीतिगत समर्थन के बगैर वे अपने कारोबार के भविष्य को लेकर चिंतित हैं।"बयान में आगे कहा गया है कि लगभग पांच लाख बाहर के कारोबारी दिल्ली के थोक बाजारों में सामान खरीदने आते थे, लेकिन परिवहन का साधन बंद होने के कारण दिल्ली के थोक बाजार में कारोबार नहीं हो रहा हैं।

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सLockdown 2.0: आज से प्रवासी मजदूरों को शर्तों के साथ मिलेगी राज्य के भीतर आने-जाने की अनुमति******lockdown 2.0 : Stranded migrants can work during lockdown, but conditions applyकेंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित इलाकों में सोमवार से चुनिंदा आर्थिक गतिविधियों को आंशिक तौर पर शुरू करने को लेकर रविवार को दिशा-निर्देश जारी किए। इसके अनुसार प्रवासी मजदूर लॉकडाउन की अवधि के दौरान राज्य के भीतर एक जगह से दूसरी जगह आ-जा सकेंगे। हालांकि एक राज्य से दूसरे राज्य में आने-जाने की अनुमति नहीं होगी। गृह सचिव अजय भल्ला ने आदेश जारी करते हुए स्पष्ट कहा कि कि बंद के दौरान कामगारों को एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने की अनुमति नहीं होगी।देश में कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिए 3 मई तक लागू है। पहले 21 दिनों का शुरुआती बंद 14 अप्रैल को समाप्त हो गया, लेकिन अब बंद की अवधि बढ़ाकर तीन मई कर दी गई है। भल्ला द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि कोरोना वायरस फैलने के कारण कृषि, निर्माण और अन्य क्षेत्रों में काम करने वाले कामगार अपने संबंधित कार्य स्थल से निकल गए और फिलहाल विभिन्न राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा संचालित राहत कैंपों में रह रहे हैं। यह आदेश ऐसे समय आया है जब मुंबई, सूरत और दिल्ली जैसे शहरों में फंसे रह गये प्रवासी मजदूर बंद के बावजूद अपने गृह प्रदेश जाने की लगातार कोशिशें कर रहे हैं। आदेश के अनुसार चूंकि संक्रमण क्षेत्र के बाहर वाले क्षेत्रों में 20 अप्रैल से संशोधित दिशा-निर्देशों के तहत अतिरिक्त गतिविधियों शुरू करने की अनुमति दी गई है, ऐसे में ये कामगार औद्योगिक, विनिर्माण, निर्माण, कृषि और मनरेगा के तहत काम कर सकते हैं।राज्य या केंद्र शासित प्रदेश के भीतर उनकी आवाजाही के लिए कुछ दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा। जो प्रवासी मजदूर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के राहत शिविरों में रह रहे हैं, उनका पंजीकरण संबंधित स्थानीय प्राधिकरण को करना होगा। विभिन्न प्रकार के कार्यों के लिए उनकी उपयुक्तता का पता लगाने के लिए उनके कौशल की जानकारी भी लेनी होगी। इसमें कहा गया है कि प्रवासी मजदूरों का जो समूह राज्य के भीतर अपने कार्य स्थलों पर लौटना चाहता है, जहां वे अभी हैं, उनकी जांच की जानी चाहिए और जिनमें कोरोना वायरस संक्रमण के कोई लक्षण नहीं है, उन्हें संबंधित कार्य स्थल पर पहुंचाने की व्यवस्था की जाएगी।आदेश में साफ कहा गया है कि मजदूरों को उस राज्य या केंद्र शासित प्रदेशों से राज्य के बाहर जाने की अनुमति नहीं होगी जहां वे फिलहाल रुके हुए हैं। बस यात्रा के दौरान सामाजिक दूरी का ध्यान रखा जाएगा और स्वास्थ्य विभाग के दिशा-निर्देशों के अनुसार यात्रा के लिए इस्तेमाल होने वाली बसों की अच्छी तरीके से साफ-सफाई की जाएगी। दिशा-निर्देश के अनुसार यात्रा के दौरान स्थानीय प्रशासन को मजदूरों के लिए खाना और पानी आदि की व्यवस्था करनी होगी।क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सRussia Ukraine War News : UN और पुतिन यूक्रेन युद्ध में फंसे हुए लोगों को निकालने पर हुए सहमत******Highlights यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद पहली बार संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की आमने सामने की बैठक हुई। संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि वे मारियुपोल शहर में एक इस्पात संयंत्र से लोगों को निकालने की व्यवस्था करने पर सहमत हुए हैं। संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टीफेन दुजारिक ने कहा कि रूसी नेता और संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने मंगलवार को मानवीय सहायता और संघर्ष क्षेत्र यानी मारियुपोल से लोगों को निकालने के प्रस्तावों पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि वे सैद्धांतिक तौर पर सहमत हुए हैं और अज़ोवस्ताल स्टील परिसर से लोगों को निकालने की कवायद में संयुक्त राष्ट्र और इंटरनेशनल कमेटी ऑफ रेड क्रॉस को शामिल किया जाना चाहिए। इस इस्पात संयंत्र में यूक्रेन के रक्षकों ने कड़ा रुख अख्तियार किया हुआ है।दुजारिक ने कहा कि लोगों को निकालने पर संयुक्त राष्ट्र मानवीय कार्यालय और रूसी रक्षा मंत्रालय के साथ चर्चा की जाएगी। संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक, पुतिन और गुतारेस की बैठक करीब दो घंटे तक चली। वे सफेद रंग की एक लंबी मेज़ पर आमने-सामने बैठे थे जहां सुनहरे रंग के पर्दे डले थे जिनका बॉर्डर लाल रंग का था। मेज़ पर उनके सिवाए कोई नहीं बैठा था।इस्पात संयंत्र में फंसे लोगों को निकालने का आग्रहगुतारेस ने यूक्रेन में रूस की सैन्य कार्रवाई की आलोचना की और इसे पड़ोसी की क्षेत्र अखंडता का उल्लंघन बताया और रूस से इस्पात संयंत्र में फंसे लोगों को निकालने की अनुमति देने का आग्रह किया। इसके जवाब में पुतिन ने दावा किया कि रूसी बलों ने संयंत्र में फंसे आम नागरिकों को निकालने के लिए मानवीय गलियारे की पेशकश की थी। उन्होंने कहा कि मगर यूक्रेन के रक्षकों ने संयंत्र में आम लोगों को मानव ढाल बनाया हुआ है और उन्हें जाने नहीं दे रहे हैं। अज़ोवस्ताल स्थल रूसी हमले में पूरी तरह से तबाह हो गया है लेकिन यह मारियुपोल में यूक्रेन के प्रतिरोध का अंतिम क्षेत्र है। इसके जर्जर ढांचों के नीचे करीब दो हजार सैनिक और एक हजार नागरिक छुपे हुए हैं।बृहस्पतिवार को कीव जाएंगे गुतारेसपुतिन के साथ बैठक के बाद गुतारेस पोलैंड के ज़ेज़ॉ गए जहां वह पोलैंड के राष्ट्रपति एंड्रेज डूडा से मुलाकात करेंगे। वह यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदोमीर ज़ेलेंस्की और विदेश मंत्री दमीत्रो कुलेबा के साथ बैठक के लिए बृहस्पतिवार को कीव जाएंगे और फिर उनकी बैठक पुतिन के साथ होने की उम्मीद है। रूस ने 24 फरवरी को यूक्रेन पर चढ़ाई की थी और गुतारेस ने रूस पर संयुक्त राष्ट्र चार्टर के उल्लंघन का आरोप लगाया था जो विवादों के शांतिपूर्ण समाधान का आह्वान करता है। उन्होंने बार-बार दुश्मनी को खत्म करने की अपील की है जिसका कोई असर नहीं हुआ है।सुरक्षित और प्रभावी मानवीय गलियारे की जरूरतगुतारेस ने रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव के साथ मंगलवार को एक प्रेस वार्ता में कहा था कि नागरिकों को निकालने और सहायता पहुंचाने के लिए सुरक्षित और प्रभावी मानवीय गलियारे की तत्काल जरूरत है। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने मानवीय संपर्क समूह स्थापित करने का भी प्रस्ताव दिया था जिसमें रूस, यूक्रेन और संयुक्त राष्ट्र शामिल हो जो सुरक्षित गलियारों को खोलने के मौकों पर गौर करे। दुजारिक ने मारियुपोल से नागरिकों की व्यापक निकासी या गुतारेस के मानवीय संपर्क समूह का कोई ज़िक्र नहीं किया लेकिन इस्पात संयंत्र से लोगों को निकालना अहम कदम होगा।

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सAAP ने हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस को लगाया झटका, सीएम केजरीवाल की मौजूदगी मे शामिल हुए कई बड़े नेता******Highlightsआम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पूरे देश में लोग पुरानी और भ्रष्टाचार की राजनीति से तंग आ चुके हैं। लोगो को अब नए विकल्प की तालश है, नई पार्टी कि तलाश है जो इस देश को बेहतर भविष्य दे सके। उन्होने पार्टी में शामिल हुए सभी लोगो को आश्वस्त करते हुए कहा कि आप सभी लोग आज पार्टी में शामिल हुए हैं इसके लिए बहुत-बहुत बधाई, लेकिन अब ये आपकी भी ज़िम्मेदारी है कि हिमाचल प्रदेश में जीतने भी लोग, जो ईमानदार राजनीति का हिस्सा बनना चाहते हैं और बदलाव कि इस राजनीति से जुड़ना चाहते हैं, उनको पार्टी में शामिल करें ताकि हम एक बेहतर संगठन बनाएँ और चुनाव जीतकर एक बेहतर सरकार जनता को दें।इस मौके पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी भ्रष्टाचार मुक्त पार्टी है, ईमानदार लोगों की पार्टी है। उन्होने आगे कहा, "दिल्ली में 7 साल से हमारी सरकार है जो पूरे ईमानदारी और मेहनत से काम कर रही है। हमारे पास दिखाने के लिए हमारा काम है। पंजाब में जबसे हमारी सरकार बनी है तबसे वहाँ रोजाना बड़े फैसले लिए जा रहे हैं। इस काम की राजनीति से प्रभावित हो कर अब हिमाचल प्रदेश के लोग भी कह रहे हैं की उन्हे भी एक ईमानदार और भ्रष्टाचार मुक्त पार्टी चाहिए। हिमाचल प्रदेश के लोगो को हमसे काफी उम्मीद है और हम जनता की उम्मीदों पर खरे उतरेंगे।"आम आदमी पार्टी में शामिल हुए नेता हैं - मंडी जिला के कांग्रेस कमेटी महासचिव कुलदीप शर्मा, हमीदपुर लोकसभा से वन अधिकार एवं ग्रामीण विकास संगठन के प्रदेश अध्यक्ष विशाल दीप और धर्मपुर विधान सभा में 2 बार जीत कर आने वाले पंचायत प्रधान सुरेन्द्र बंधु भी शामिल रहे। इसके अलावा ग्रामीण कामगार व मनरेगा कार्यकर्ता संगठन के अध्यक्ष संत राम, सरकाघाट विधानसभा क्षेत्र से ज़िला परिषद मेंबर मुनीश शर्मा, काँग्रेस पार्टी के ज़िला परिषद मेंबर एवं पूर्व पंचायत प्रधान निर्मल पांडे, लाहौल स्पीति एकता मंच के चेयरमैन सुदर्शन जसपा और हिमाचल नीति अभियान के स्टेट सेक्रेटरी रह चुके संदीप मिनहंस ने पार्टी का दामन थामा हैहिमाचल प्रदेश में आप प्रभारी सत्येंद्र जैन ने कहा कि पूरे हिमाचल प्रदेश से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिल रही है और लोग बदलाव के लिए मतदान करने के लिए तैयार हैं। 6 तारीख़ को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल हिमाचल के मंडी ज़िले में चुनाव अभियान की शुरुआत करेंगे। हम हिमाचल प्रदेश के एक-एक जनता तक अपना पैगाम पहुंचाएंगे कि आम आदमी पार्टी एक नए विकल्प के तौर पर उभर रही है, इसीलिए अब काँग्रेस और भाजपा पर निर्भर रहने कि ज़रूरत नहीं है।क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सMake in India: चीनी कंपनी हायर स्‍थापित करेगी ग्रेटर नोएडा में प्‍लांट, होगा 3,000 करोड़ रुपए का निवेश******Haier। चीनी इलेक्‍ट्रॉनिक कंपनी हायर अप्लायंसेज उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा के औद्योगिक टाउनशिप में 3,069 करोड़ रुपये के निवेश से विनिर्माण इकाइयां स्थापित करेगी। दिलली मुंबई औद्योगिक गलियारा विकास निगम (डीएमआईसीडीसी) ने एक बयान में कहा कि इस परियोजना से उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी 3,950 लोगों के लिए प्रत्यक्ष रोजगार के अवसर उपलब्ध कराएगी। बयान में कहा गया है कि कंपनी को डीएमआईसी एकीकृत औद्योगिक टाउनशिप ग्रेटर नोएडा (आईआईटीजीएन) परियोजना में विनिर्माण इकाइयां लगाने के लिए 123.7 एकड़ भूमि का आवंटन किया गया है। इसके अलावा चीन की मोबाइल कंपनी फॉर्म की भारतीय अनुषंगी फॉर्म ट्रेडिंग को इसी उद्देश्य के लिए आईआईटीजीएन में 3.5 एकड़ जमीन आवंटित की गई है। कंपनी की इस क्षेत्र में नया मोबाइल फोन विनिर्माण कारखाना लगाने में 100 करोड़ रुपये निवेश करने की योजना है। इसमें 600 प्रत्यक्ष और 1,000 अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर पैदा हो सकते हैं।सत्कृति इंफोटेनमेंट को भी टाउनशिप में भूमि आवंटित की गई है। यह कंपनी प्रमुख आडियो विनिर्माता कंपनी फेंडा आडियो इंडिया की सहायक इकाई है। बयान में कहा गया है कि इन तीनों कंपनियों का कुल निवेश 3,400 करोड़ रुपये तक होगा और इनमें 12,550 रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

क्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्सइन स्टारकिड्स को लॉन्च कर चुके हैं करण जौहर, इस लॉजिक पर चुनते हैं न्यूकमर******Highlightsबॉलीवुड के सबसे चर्चित डायरेक्टर, प्रोड्यूसर और फिल्ममेकर करण जौहर ने आजतीन नए चेहरों को लॉन्च किया है। इस लिस्ट में शनाया कपूर, लक्ष्य लालवानी और गुरु फतेह पीरजादा का नाम शामिल है। ये पहली बार नहीं है जब करण जौहर ने किसी स्टारकिड को लॉन्च किया हो। इससे पहले भी कई ऐसे स्टारकिड हैं जिन्हें करण जौहर ने लॉन्च किया है। इनमें से कइयों का नाम अच्छे एक्टरों की लिस्ट में शुमार है तो जानते हैं कि आखिर किन-किन स्टारकिड की किस्मत करण जौहर ने बदली है-बॉलीवुड में कई ब्लॉकबस्टर हिट फिल्में दे चुकीं आलिया भट्ट को भी करण जौहर ने लॉन्च किया था। हाल ही में रिलीज हुई गंगूबाई काठियावाड़ी भी बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रही है। करण जौहर ने आलिया भट्ट को 2012 में अपनी फिल्म स्टूडेंट ऑफ द ईयर के जरिए लॉन्च किया था। इस फिल्म से आलिया काफी सुर्खियों में आ गई थी। इसके बाद से अभिनेत्री ने फिल्म उड़ता पंजाब, राजी, बद्रीनाथ की दुल्हनिया, आदि फिल्मों में खूब वाहवाही बटोरी।डेविड धवन के बेटे वरुण धवन ने भी की फिल्म 'स्टूडेंट ऑफ द ईयर' से ही अपना बॉलीवुड डेब्यू किया था। एक्टिंग से पहले वरुण बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर फिल्म माय नेम इज खान में करण जौहर के साथ काम कर चुके हैं।सिद्धार्थ मल्होत्रा ने स्टूडेंट ऑफ द ईयर से डेब्यू किया था। हाल ही में रिलीज हुए शेरशाह के जरिए सिद्धार्थ ने लोगों से खूब वाहवाही बटोरी है। जल्द ही सिद्धार्थ मिशन मजनू और योद्धा में नजर आएंगे।चंकी पांडे की बेटी अनन्या पांडे ने करण जौहर की फिल्म स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2 से टाइगर श्रॉफ के साथ 2019 में बॉलीवुड डेब्यू किया था। इसके बाद अनन्या पति पत्नी और वो और खाली पीली फिल्म में नजर आईं। इसमें उनकी एक्टिंग की काफी तारीफ की गई थी। जल्द ही अनन्या साउथ एक्टर विजय देवरकोंडा के साथ फिल्म में दिखेंगी।-जान्हवी कपूर ने साल 2019 में फिल्म धड़क से डेब्यू किया था। ये फिल्म 2016 में रिलीज हुई मराठी फिल्म सैराट की हिंदी रीमेक थी। डेब्यू के बाद जान्हवी गुंजन सक्सेना और रूही अफ्जा फिल्मों में नजर आई हैं।नील‍िमा अजीम और राजेश खट्टर के बेटे ईशान खट्टर को भी करण जौहर ने ही बॉलीवुड में ब्रेक द‍िया था। वह जान्‍हवी कपूर के अपोज‍िट धड़क में नजर आए थे।नेपोटिज्म' के नाम पर अक्सर करण जौहर को निशाने पर लिया जाता है। आरोप लगाए जाते हैं कि वो भाई भतीजावाद को बढ़ावा देते हैं। एक इंटरव्यू के दौरान करण ने आलिया भट्ट और वरुण धवन के बारे में भी बात की थी। उन्होंने कहा था कि आलिया और वरुण के बारे में बात करूं तो वे इसलिए चुने गए क्योंकि वे हमारी टीम को ऑडिशन देने आए लोगों में से हमें ज्यादा टैलेटेंड लगे। ऐसा नहीं है कि मैं उनके लिए कोई स्कूल चला रहा हूं। अगर इनके पास टैलेंट नहीं होगा तो इन्हें जनता स्वीकार नहीं करेगी। ये सीधी सी बात है। मैं खुद एक प्रोड्यूसर के तौर पर उन्हें अपनी फिल्म में नहीं लूंगा। मैं बेवकूफ नहीं हूं। मुझे भी अपनी कंपनी चलानी हैक्रिप्टोकरेंसीकोलेकरक्याहैसरकारकाप्लानCryptocurrencyपरइसलिएलगाया30टैक्स15 हजार रुपये का खाना खाकर रेस्तरां की वेट्रेस को दे दी लाखों रुपये की टिप******कुछ लोगों की दरियादिली कई बार मुसीबत से जूझ रहे किसी शख्स की पूरी जिंदगी को बदलकर रख देती है। ऐसा ही एक वाकया अमेरिका में हुआ, जहां होटल में खाना परोसने का काम करने वाली एक लड़की को उसके कस्टमर्स ने लाखों रुपये की टिप दे दी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना अमेरिका के पेंसिल्वेनिया प्रांत के डिलेवर काउंडी की है, जहां की रहने वाली गियाना डाइएंजेलो की सर्विस से खुश होकर खाना खाने आए कस्टमर्स ने टिप के रूप में खुशी-खुशी लाखों रुपये दे दिए। हैरानी की बात यह है कि खाने का बिल सिर्फ कुछ हजार रुपये ही था।मीडिया से बात करते हुए गियाना ने बताया कि वह ब्रूमाला में एंथनीज ऐट पैक्सन नाम के में वेट्रेस का काम करती हैं। उन्होंने कहा कि इस टिप से उन्हें चेस्टर में स्थित वाइडनर यूनिवर्सिटी की फीस भरने में काफी राहत मिलेगी, जहां से वह नर्सिंग का कोर्स कर रही हैं। गियाना ने बताया कि उनके कस्टमर्स के खाने का कुल बिल 205.94 डॉलर (15,148 रुपये) हुआ था, लेकिन उस वक्त उनकी हैरानी का ठिकाना ही नहीं रहा जब खा रहे लोगों ने 5 हजार डॉलर (लगभग 3.67 लाख रुपये) की देने की बात कही।

हाल का ध्यान

लिंक