वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > ज़ुहुई जिला > मूलपाठ

नवंबर-दिसंबर में 1 लाख करोड़ रुपए से अधिक होगा GST कलेक्‍शन, वित्‍त मंत्रालय ने जताई उम्‍मीद

2022-09-30 16:23:41 ज़ुहुई जिला

नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदकरियर बनाने में मददगार हैं रत्न, राशि के अनुसार पहनेंगे तो होगा फायदा******सनातन धर्म में रत्न विज्ञान को खासा महत्व दिया गया है। कहा जाता है कि नवग्रह शांति केसाथ साथ रत्न भाग्य बनाने में बेहद मददगार साबित होते हैं। बात करें करियर की तो, लगभग सभी रत्न राशिनुसार करियार बनाने की दिशा में भी काफी कारगर साबित होते हैं। हालांकि इसके लिए मेहनत और कर्म के साथ साथ लगन भी होनी चाहिए। ज्योतिष राशि और करियर की दिशा के अनुसार संबंधित रत्न को पहनने की सलाह दे सकते हैं।चलिए जानते हैं कि आमतौर पर ज्योतिष शास्त्र में किस करियर को बनाने के लिए किस रत्न को पहनने की सलाह दी जाती है।अगर कोई जातक डॉक्टर बनना चाह रहा है या मेडिकल के किसी क्षेत्र में करियर बनाने जा रहा है तो सूर्य, चंद्र, शुक्र और मंगल का मजबूत होना जरूरी माना जाता है। इन क्षेत्रों में करियर बनाने के लिए इन ग्रहों के रत्न जैसे माणिक्य,मोती और हीरा धारण करने की सलाह दी जाती है। ऐसे ही सर्जन बनने की दिशा में काम कर रहे लोगों को माणिक्य रत्न या मूंगा रत्न विशेष रूप से लाभ होने की बात कही जाती है। इसके अलावा आयुर्वेद के क्षेत्र या होमियोपैथी के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए मोती रत्न पहनने की सलाह दी जाती है।सिविल इंजीनियरिंग शनि से जुड़ा क्षेत्र है, ऐसे में सिविल इंजीनियर बनने की कोशिश कर रहे जातक को शनि का रत्न नीलम पहनना ज्यादा लाभकारी हो सकता है।ज्योतिष शास्त्र में माना जाता है कि वकालत, कानूनी अधिकारी या अदालत से जुड़े काम के करियर बनाने में शनि, बृहस्पति और बुध ग्रह मदद करते हैं। ऐसे में जातक को पीला पुखराज और पन्ना धारण करने की सलाह दी जाती है।अगर जातक कंप्यूटर टेक्नोलॉजी या सॉफ्टवेर में करियर बनाना चाह रहा तो उसे गोमेद पहनना फायदेमंद हो सकता है।आज के युग में राजनीति और प्रशासनिक नौकरी को बड़ा करियर माना जाता है। राजनीति के करियर में बहुत प्रसिद्धि और सफलता मिलती है वहीं प्रशासनिक नौकरी में बल और सम्मान के साथ साथ सामाजिक प्रतिष्ठा भी जुड़ गई है। यहां अपना करियर बनाने की इच्छा रखने वालों को सूर्य ,चन्द्र और गुरु इन चारों ग्रहों को प्रसन्न करना होगा। ऐसे में पीला पुखराज पहनना ज्यादा लाभकारी होगा।यदि जातक कला और शोबिज जैसे क्षेत्र में अपना भविष्य बनाने की सोच रहा है जैसे एक्टिंग, मीडिया, सिंगिंग, एंकरिग, मॉडलिंग इत्यादि, तो उसे शुक्र चन्द्र और बुध ग्रह से सम्बंधित रत्न पहनने की सलाह दी जाती है।यदि आप ग्लैमर और शोबिज की दुनिया में चमकना चाह रहे हैं तो शुक्र ग्रह का रत्न हीरा पहनना चाहिए। यदि आर्टिस्ट बनने की चाह रखते हैं तो चन्द्र ग्रह का रत्न मोती धारण कर सकते हैं।

नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदBy Election Result: रामपुर और आजमगढ़ में मिली जीत पर सीएम योगी ने कहा- ये तय है कि 2024 में जीतेंगे यूपी की 80 में से...******Highlightsयूपी के रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में मिली जीत से बीजेपी उत्साहित है। इस जीत पर सीएम योगी ने कहा, 'ये डबल जीत डबल इंजन की सरकार की है और इस जीत ने साल 2024 के लिए एक बड़ा संदेश दे दिया है। ये जीत भाजपा के यशस्वी नेतृत्व और समर्पित कार्यकर्ताओं के अथक परिश्रम और डबल इंजन की भाजपा सरकार का परिणाम है।'सीएम योगी ने कहा, 'पहले विधानसभा चुनाव में दो तिहाई बहुमत और फिर विधान परिषद चुनाव और अब उपचुनाव में जीत इस बात पर जनता की मुहर है कि डबल इंजन की सरकार का सुशासन चल रहा है।' उन्होंने ये भी कहा कि जनता परिवारवादी और सांप्रदायिक दलों और नेताओं को स्वीकार करने वाली नहीं है। जनता भाजपा के सबका साथ सबका विकास के नारे के साथ है। सीएम ने ये भी कहा कि इन चुनाव परिणामों से ये साफ है कि भाजपा 2024 में यूपी की 80 में से 80 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करेगी।रामपुर में आजम खान को झटका, बीजेपी ने लहराया परचमयूपी की रामपुर सीट पर हुए लोकसभा उपचुनाव में सपा नेता आजम खान को बड़ा झटका लगा है और बीजेपी उम्मीदवार घनश्याम लोधी ये चुनाव जीत गए हैं। घनश्याम लोधी ने इस चुनाव में सपा उम्मीदवार आसिम राजा को 42,048 वोटों से हराया है। गौरतलब है कि रामपुर को आजम खान का गढ़ माना जाता था, ऐसे में रामपुर का सपा के हाथ से निकलना एक बड़ी राजनीतिक हार है।आजमगढ़ में भी बीजेपी की जीतआजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी ने अपना परचम लहराया है। आजमगढ़ से बीजेपी के दिनेश लाल यादव 'निरहुआ' चुनाव जीत गए हैं और सपा के धमेंद्र यादव 10 हजार वोटों से चुनाव हार गए हैं। चुनाव में जीत हासिल करने के बाद निरहुआ ने ट्वीट करते हुए कहा, 'जनता की जीत! आजमगढ़वासियों आपने कमाल कर दिया है। यह आपकी जीत है। उपचुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ ही जिस तरीके से आप सबने भाजपा को प्यार, समर्थन और आशीर्वाद दिया, यह उसकी जीत है। यह जीत आपके भरोसे और देवतुल्य कार्यकर्ताओं की मेहनत को समर्पित है।'नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदसैंडपेपर मामलें को लेकर पोंटिंग का बड़ा बयान, कहा- नेतृत्व में कमी की वजह से हुआ विवाद******सिडनी| ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग का मानना है कि स्टीव स्मिथ की कप्तानी वाली टीम में 'ना' कहने की हिम्मत नहीं थी और इसलिए वह 2018 में केपटाउन में गेंद से छेड़खानी वाले विवाद में फंस गए। पोंटिंग के मुताबिक, न्यूलैंड्स में जो हुआ उसकी जमीन एक साल पहले से तैयार हो गई थी जब उन्हें राष्ट्रीय टीम में सीनियर खिलाड़ियों के अनुभव की कमी खली थी।वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने पोंटिंग के हवाले से लिखा है, "मैं इस बात से काफी चिंतित था कि हमारी टीम से अनुभव बाहर जा रहा था। उसी समय अनुभवी खिलाड़ियों के जाने से एक खालीपन भी आ रहा था जिसके कारण वो न नहीं कह पा रहे थे।"उन्होंने कहा, "अगर मैं केपटाउन के मसले को देखता हूं तो मैं नहीं समझता कि टीम में इस तरह के खिलाड़ियों न कहने वाले ज्यादा खिलाड़ी थे। चीजें पूरी तरह से नियंत्रण से बाहर चली गई थीं।" दो बार के विश्व विजेता कप्तान ने कहा, "यह पूरी तरह बाहरी इंसान का नजरिया है। पिछले कुछ महीनों से पहले तक मेरा टीम से कोई लेना-देना नहीं था।"

नवंबर-दिसंबर में 1 लाख करोड़ रुपए से अधिक होगा GST कलेक्‍शन, वित्‍त मंत्रालय ने जताई उम्‍मीद

नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदचीनी आयात पर 100 प्रतिशत हुआ आयात शुल्क, भाव बढ़ने की आशंका भी बड़ी****** केंद्र सरकार ने पर लगने वाले आयात शुल्क को मौजूदा शुल्क के मुकाबले दोगुना कर दिया है। की सिफारिशों को मानते हुए चीनी आयात पर अब 100 प्रतिशत इंपोर्ट ड्यूटी लगेगी। अबतक चीनी पर 50 प्रतिशत इंपोर्ट ड्यूटी का प्रावधान है। हालांकि इसको लेकर अभी तक सरकार की तरफ से किसी तरह की अधिसूचना नहीं आई है लेकिन सूत्रों का मानना है कि आयात शुल्क क 50 प्रतिशत से बढ़ाकर 100 प्रतिशत करने पर फैसला हो चुका है। करीब 2 हफ्ते पहले देश में चीनी मिलों के संगठन (ISMA) ने भी चीनी पर आयात शुल्क को बढ़ाकर 100 प्रतिशत करने की मांग रखी थी, ISMA की इस मांग के बाद ही खाद्य मंत्रालय ने आयात शुल्क बढ़ाने की सिफारिश की थी। ISMA ने आशंका जताई थी कि पाकिस्तान अपने यहां से चीनी निर्यात को बढ़ावा देने के लिए सब्सिडी दे रहा है, ऐसे में पाकिस्तान से भारत को चीनी आयात हो सकती है। ISMA के मुताबिक चीनी आयात होने से देश में कीमतें घट सकती है जिससे चीनी उद्योग पर खराब असर पड़ेगा और किसानों का गन्ने का भुगतान करने में भी परेशानी हो सकती है।ISMA ने इस साल देश में 261 लाख होने का अनुमान लगाया है जो पिछले साल के मुकाबले 58 लाख टन अधिक होगा। ISMA के मुताबिक इस साल देश में करीब 250 लाख टन चीनी की खपत होने का अनुमान है, ऐसे में 10-11 लाख टन अतीरिक्त चीनी बच जाएगी जिसमें से निर्यात करना जरूरी है।ISMA की मांग और गन्ना किसानों के हितों को देखते हुए सरकार ने चीनी पर आयात शुल्क तो बढ़ा दिया है लेकिन इससे रिटेल मार्केट में चीनी की कीमतें बढ़ने की आशंका भी बढ़ गई है। हालांकि अभी रिटेल मार्केट में चीनी के दाम पहुंच में ही हैं, मंगलवार को राजधानी दिल्ली में चीनी का रिटेल दाम 37 रुपए, मुंबई में 40 रुपए और कोलकाता में भी 40 रुपए प्रति किलो दर्ज किया गया।नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदटाटा टेक्नोलॉजीज को चालू वित्त वर्ष में 50 करोड़ डॉलर के कारोबार की उम्मीद, ऑफशोर से मिलेगी ताकत******टाटा टेक्नोलॉजीज को चालू वित्त वर्ष में 50 करोड़ डॉलर के कारोबार की उम्मीद, ऑफशोर से मिलेगी ताकतHighlights। वैश्विक इंजीनियरिंग और उत्पाद विकास डिजिटल सेवा कंपनी टाटा टेक्नोलॉजीज को चालू वित्त वर्ष 2021-22 में करीब 50 करोड़ डॉलर के कारोबार की उम्मीद है। यह कंपनी का किसी एक वित्त वर्ष में सबसे अधिक कारोबार का आंकड़ा होगा। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी का कहना है कि दुनियाभर में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी की बढ़ती मांग तथा कोविड-19 के बाद उसके ग्राहकों द्वारा अपनी परियोजनाओं को दूसरे गंतव्यों (ऑफशोर) के लिए देने की वजह से उसकी आय में उल्लेखनीय बढ़ोतरी होगी।महामारी की शुरुआत में कंपनी की आमदनी में तेज गिरावट आई थी। वित्त वर्ष 2020-21 के पूरे साल में कंपनी की आय 8.01 करोड़ डॉलर रही थी, जो चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में ही 11.93 करोड़ डॉलर पर पहुंच चुकी है। टाटा टेक्नोलॉजीज के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) और प्रबंध निदेशक वारेन हैरिस ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘हम पिछली छह तिमाहियों से तिमाही-दर-तिमाही आधार पर लगातार वृद्धि देख रहे हैं। हमें यह सिलसिला जारी रहने की उम्मीद है।कोविड-19 की शुरुआत में आमदनी में भारी गिरावट थी। लेकिन अब हमारी आय वापस आ गई है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘चालू वित्त वर्ष में अपने इतिहास में हम पहली बार 50 करोड़ डॉलर की आय की की उम्मीद कर रहे हैं।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या कंपनी की आमदनी मुख्य रूप से इलेक्ट्रिक मोबिलिटी क्षमता की वजह से बढ़ेगी, उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि यह कहना उचित होगा कि इलेक्ट्रिक मोबिलिटी की वजह से हमारी आमदनी बढ़ेगी।’’इसके साथ ही कोविड महामारी ने हमारे सभी विनिर्माण ग्राहकों को सिखाया है - न केवल मोटर वाहन, औद्योगिक मशीनरी और वैमानिकी क्षेत्र वापसी कर रहे हैं, बल्कि जटिल इंजीनियरिंग, टर्नकी का विकास भी दूसरे गंतव्य (ऑफशोर) में हो सकता है। इलेक्ट्रिक वाहन क्षेत्र में कंपनी की ताकत का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि हम दुनिया की कुछ सबसे प्रगतिशील कंपनियों के साथ काम कर रहे हैं। ‘‘इनमें सिर्फ स्टार्टअप ही नहीं हैं, बल्कि परंपरागत मूल उपकरण विनिर्माता (ओईएम) भी हैं, जो भारी निवेश कर रहे हैं जिससे टेस्ला जैसी कंपनियों से प्रतिस्पर्धा की जा सके।’’नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदBeauty Tips:आंखों के dark circles को ऐसे करें दूर, अपनाएं ये घरेलू उपाय******आज कल के बिजी शेड्यूल के कारण लोग अपने ऊपर ज्यादा ध्यान नहीं दे पाते हैं। वहीं आंखों का ध्यान रखना भी बहुत जरूरी है। बहुत ज्यादा कंप्यूटर पर काम करने, नींद न पूरी होने के कारण आखों के नीचे डार्क सर्कल्स की समस्या होने लगती है, लेकिन महिलाएं इसे मेकअप का इस्तेमाल कर छिपा लेती हैं, लेकिन उम्र बढ़ने के साथ-साथ अगर इस पे ध्यान न दिया जाए तो यह समस्या बढ़ने लगती है। आज हम आपको कुछ ऐसे होम रेमेडी बताएंगे जिसका उपयोग कर आप इससे निजात पा सकते हैं।ठंडा दूध की मदद से आप डार्क सर्कल की समस्या को दूर कर सकते हैं। इसे आप सबसे पहले एक कॉटन में भिगोकर आंखों को कवर करके कम से कम 20 से 30 मिनट तक के छोड़ दें। इसे सुबह-शाम लगाएं। कुछ ही दिन में आपको फर्क दिखने लगेगा।गुलाब जल के रेगुलर इस्तेमाल से आपकी आंखों के काले घेरे ठीक हो जाएंगे। आप कॉटन को गुलाब जल से भिगोकर आंखों पर कम से कम 20 मिनट के लिए रखें। इसे डेली सुबह-शाम अप्लाई करें। आपको कुछ ही दिन में फर्क दिखने लगेगा।कच्चे दूध में शहद और नींबू का रस मिलाकर लगाएं। इसके बाद इसे 20 मिनट तक रहने दें और बाद में ठंडे पानी से धो दें। आपको कुछ ही दिन में फर्क दिखने लगेगा।कच्चे आलू के टुकड़े काटकर 10-15 मिनट के लिए आंखों के नीचे घिसें और कुछ देर सूखने दें। इसके बाद ठंडे पानी से धो दें। रोजाना ऐसा करने से थोड़े दिनों में ही डार्क सर्कल खत्म हो जाएंगे।एलोवेरा का जूस आंखों के नीचे लगाने से भी डार्क सर्कल खत्म हो जाते हैं।

नवंबर-दिसंबर में 1 लाख करोड़ रुपए से अधिक होगा GST कलेक्‍शन, वित्‍त मंत्रालय ने जताई उम्‍मीद

नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदRepublic Day 2022: राष्ट्र मना रहा है 73वां गणतंत्र दिवस, राजपथ पर दिखी आन-बान-शान की झांकी******पूरा देश आज 73 वां गणतंत्र दिवस धूमधाम के साथ मना रहा है। मुख्य समारोह राजधानी दिल्ली के राजपथ पर आयोजित हुआ। इस दौरान देश की आन-बान-शान की झांकी प्रदर्शित की गई। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद तिरंगा फहराने के बाद रस्मी परेड की सलामी ली। गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान देश की सैन्य शक्ति और सांस्कृतिक विविधताओं की खास झलक देखने को मिली। इस दौरान भारतीय वायुसेना के 75 विमानों का भव्य फ्लाई-पास्ट देखने को मिला। पहली बार भारतीय वायुसेना ने फ्लाई-पास्ट के दौरान कॉकपिट का वीडियो दिखाने के लिए दूरदर्शन के साथ समन्वय किया।राजपथ आयोजित समारोह के दौरान भारतीय वायुसेना की ताकत पूरी दुनिया ने देखी। राफेल, सुखोई, जगुआर, एमआई-17, सारंग, अपाचे और डकोटा जैसे विमान फ्लाई-पास्ट में राहत, मेघना, एकलव्य, त्रिशूल, तिरंगा, विजय और अमृत सहित विभिन्न संयोजन (फॉर्मेशन) का प्रदर्शन किया। पहली बार परेड के दौरान राजपथ पर 75 मीटर लंबाई और 15 फुट ऊंचाई के 10 स्क्रॉल प्रदर्शित किए गए। परेड में निकली वायु सेना की झांकी में देश की पहली महिला राफेल लड़ाकू विमान पायलट शिवांगी सिंह ने भी भाग लिया। वह वायु सेना की झांकी का हिस्सा बनने वाली दूसरी महिला लड़ाकू विमान पायलट हैं।राजपथ पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान देश के विभिन्न प्रांतों के सांस्कतिक वैभव को प्रदर्शित करती झांकियों का कारवां निकला, जिसका वहां मौजूद राष्टपति, प्रधानमंत्री और अन्य मंत्रियों सहित विशिष्ट अतिथिगणों व वहां उपस्थित आम जनता ने करतल ध्वनि से स्वागत किया। हरियाणा की झांकी में ओलिंपिक खिलाड़िियों की सफलता को दर्शाया गया। जम्मू कश्मीर की झांकी में कश्मीर की संस्कृति को दर्शाते हुए फोक डांस करते हुए कलाकारों का दल झांकी में शोभायमन हुआ। कर्नाटक की झांकी इससे पहले उत्तराखंड की झांकी में बद्रीनाथ मंदिर को दर्शाया गया और इसी प्रगति की ओर बढ़ते उत्तराखंड की झांकी प्रदर्शि​त की गई।इसके बाद बाइक पर स्टंट जवानों ने स्टंट दिखाया। संतुलन और बहादुरी का गजब का तालमेल बाइक स्टंट में दिखाई दिया। इससे पहले देश के विभिन्न प्रांतों की झांकियों का कारवां राजपथ शोभायमान हुआ। कई प्रांतों व विभिन्न मंत्रालयों की झांकियों के साथ ही शास्त्रीय व लोकनृत्यों की मनभावन प्रस्तुतियां दी गईं। इससे पहले घुड़सवार अंगरक्षकों के साथ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने उनका अभिवादन किया।नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदRaksha Bandhan 2022: रक्षाबंधन के मौके पर स्वामी रामदेव से जानिए नेचुरोपैथी से भाई को कैसे मिलेगी लंबी उम्र******Highlightsआज सब बहनें अपने भाई की लंबी उम्र के लिए उन्हें राखी बांधती हैं। लेकिन बहनों की दुआओं में असर हो इसके लिए ये भी जरूरी है कि भाई अपनी सेहत का ख्याल रखें, फिट रहें, तभी तो अपना ख्याल रखने के साथ अपनों की सुरक्षा भी कर पाएंगे। हालांकि न सिर्फ भाई बहनों को भी सेहतमंद रहना होगा। बहनें फौलादी होंगी तभी तो बीमारियों से बचेंगी, तभी तो कोई भी ताकत उन्हें आगे बढ़ने से रोक ना पाएगी और ये तभी होगा जब रक्षाबंधन पर भाई-बहन एक दूसरे से वादा करें कि वो अपनी सेहत का ख्याल रखेंगे, रक्षा सूत्र के साथ-साथ योग सूत्र में भी बंधेंगे और रोजाना योगाभ्यास करेंगे क्योंकि सेहत से बढ़कर कुछ नहीं है और ये बात पिछले 26-27 महीनों से यानि कोरोना काल से लेकर अब तक हम सब देखा भी है और समझा भी है कि कैसे छोटी सी भी लापरवाही जान को खतरे में डाल देती है। ऐसे में योग गुरु स्वामी रामदेव से जानिए कि कैसे भाई-बहन और पूरा परिवार सेहतमंद रहे और योग का सुरक्षाच्रक अपनाएं।

नवंबर-दिसंबर में 1 लाख करोड़ रुपए से अधिक होगा GST कलेक्‍शन, वित्‍त मंत्रालय ने जताई उम्‍मीद

नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदVastu Tips: घर की इस दिशा में लगाएं स्नेक प्लांट, बदल जाएगी आपकी फूटी किस्मत, होगी धन की बारिश****** घर में पौधों का इस्तेमाल ताज़ी हवा पाने और साज सजावट के लिए किया जाता है, आजकल इनडोर प्लांट का काफी चलन है। लोग अपने घर में इनडोर प्लांट लगाना काफी पसंद करते हैं। लेकिन, ऐसे कई पौधे हैं जो आपके घर में अपनी मौजदूगी से आपकी सेहत का ध्यान रखते हैं और आपके घर को सकारात्मक ऊर्जा से भरते हैं। इन्हीं में से एक पौधा है स्नेक प्लांट। वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में स्नेक प्लांट लगाने से परिवार के बीच आपसी प्रेम बढ़ता है।इसके सकारात्मक ऊर्जा से घर में धन की बढ़ोतरी होती है।चलिए आपको बताते हैं कि इस पौधे को घर के अंदर रखने से और क्या क्या फायदे होते हैं।वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में स्नेक प्लांट लगाने से परिवार के सदस्यों की तरक्की होने लगती है।इस पौधे को घर में लगाना अत्यंत शुभ फलदाई माना जाता है।इसके सकारात्मक प्रभाव से घर में धन और संपत्ति बढ़ने लगती है।स्नेक प्लांट लगाने से नौकरी और व्यापार में भी आपको काफी फायदा होगा।वास्तु शास्त्र के अनुसार, स्नेक प्लांट का प्रभाव घर में ऐसा होता है कि घर का माहौल बेहद खुशनुमा हो जाता है। साथ ही परिवार के सदस्यों के बीच एक दूसरे को लेकर मान सम्मान और प्यार बढ़ता है।साथ ही इस पौधे को घर में लगाने से मानसिक शांति और सुकून की प्राप्ति होती है।वास्तु शास्त्र के अनुसार, यदि आपके बच्चों का पढ़ाई में मन नहीं लगता है, तो आप उनके स्टडी टेबल पर स्नेक प्लांट रख सकते हैं, इससे उनकी एकाग्रता बढ़ेगी।इसके अलावा ऑफिस में फील गुड करना चाहते हैं, तो अपने टेबल पर स्नेक प्लांट रख सकते हैं. स्नेक प्लांट को नेचुरल एयर प्यूरीफायर माना जाता है।इससे घर में ताज़ी हवा का आगमन होता हैवास्तु शास्त्र के अनुसार, स्नेक प्लांट लगाने के लिए सबसे अच्छी दिशा दक्षिण-पूर्वी कोना को माना गया है।इस दिशा में ये प्लांट रखने से पैसे की तंगी कम होती है और घर के सदस्य नौकरी और बिजनेस में काफी तरक्की करते हैं।स्नेक प्लांट को कभी भी किसी दूसरे पौधे के साथ ना रखें। आप इसे अपने लिविंग रूम में रखें ताकि हर व्यक्ति की नज़र आपके पौधे पर पड़े।

नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदDiabetes Cure: लाइलाज नहीं है डायबिटीज, आयुर्वेद में है इसका इलाज, बस रखें इन बातों का ध्यान******डायबिटीज यानी कि मधुमेह रोग। अगर मधुमेह का शाब्दिक अर्थ देखा जाए तो ये दो शब्दों से बना है मधु + मेह अर्थात वह रोग जिसमें मूत्र (मेह) में शहद (मधु) जैसी मिठास उत्पन्न हो जाए। आयुर्वेद में आचार्यों ने एक लक्षण इसका बताया है कि, 'पिपलीकाश्च परिधावणं" अर्थात जिस मूत्र की तरफ चींटियां भागी चली आएं। पहले जब लैब टेस्ट या ग्लूकोमीटर नहीं होते थे उस समय मधुमेह का निदान ऐसे ही किया जाता था, मूत्र में चींटियों का लगना अर्थात मधुमेह रोग।जाने माने आयुर्वेदिक चिकित्सक और इंक्रेडिबल आयुर्वेदा के संस्थापक अबरार मुल्तानी ने इंडिया टीवी से बात करते हुए कहा कि अगर आपका यकृत (लीवर) ठीक से काम नहीं कर रहा है तो आपको पीलिया हो जाता है। रक्त में बिलीरुबिन का स्तर बढ़ जाता है। आप कुछ दिन दवाई खाते हैं, आपका लिवर फिर से सही तरीके से कार्य करने लगता है, आपका पीलिया ठीक हो जाता है और रक्त में बिलीरुबिन का स्तर भी सामान्य स्तर पर आ जाता है। अब ऐसा क्यों संभव नहीं है कि पेनक्रियाज़ के ठीक से काम ना करने के कारण हुई मधुमेह ठीक ना हो? जैसे लीवर को ठीक किया जा सकता है वैसे ही अग्नाशय (पेनक्रियाज़) को भी फिर से क्रियाशील किया जा सकता है। वह दवाई जो अंगों को बेबस और लाचार बनाए वह अंगों को फिर से क्रियाशील नहीं कर पाएंगी। अंगों को क्रियाशील बनाने के लिए वह दवाइयां लेनी होंगी जो कि उन्हें शक्ति प्रदान करें। इस प्रकार की दवाइयों का वैकल्पिक चिकित्सा पद्धतियों में भंडार है जैसे आयुर्वेद, यूनानी, चाइनीज़ और होम्योपैथी। लेकिन दुर्भाग्य से लोग इनकी तरफ मधुमेह का पता लगने पर कम ही आते हैं। वे उधर दौड़ पड़ते हैं जहाँ उपचार ऐसा था जो कि अंतिम विकल्प था। अंतिम विकल्प सबसे पहले चुन लेने पर सारे विकल्प स्वतः खत्म हो जाते हैं।डॉक्टर अबरार मुल्तानी का कहना है कि यदि आपको अभी पता चला है कि आपकी शुगर बढ़ गई है तो आप ज़िन्दगी भर लेने वाली दवाई के स्थान पर इसे आयुर्वेद, योग और आहार से कुछ दिनों या महीनों में ठीक कर सकते हैं। अनियमित दिनचर्या को ठीक करके भी अधिकांश लोग अपनी शुगर नियंत्रित कर लेते हैं। तनाव से लड़ना सीखना, बेवजह के डर को दूर करने से भी शुगर सामान्य हो जाती है। यह विकल्प चुन कर हम शतप्रतिशत मधुमेह रोगियों को तो इस रोग से मुक्ति नहीं दिलवा सकते लेकिन हाँ, अधिकांश रोगियों को मुक्ति दिलवाई जा सकती है, केवल 20 से 30 फीसदी रोगियों को ही जीवन भर दवाओं पर निर्भर रहने की ज़रूरत पड़ेगी।ग्लूकोज़, चीनी, जैम, गुड़, मिठाईयां, आइसक्रीम, केक, पेस्ट्रीज और चाकलेट, तला हुआ भोजन या प्रोसेस्‍ड फूड भी इसमें नुकसान देते हैं। अल्कोहल का सेवन या कोल्‍ड ड्रिंक भी डायबिटीज़ के मरीजों के लिए हानिकारक है। मधुमेह रोगियों को धूम्रपान से दूर रहने के साथ ही सूखे मेवे, बादाम, मूंगफली, आलू और शकरकंद जैसी सब्ज़ियां बहुत कम या बिल्‍कुल नहीं खाना चाहिए। फलों में केला, शरीफा, चीकू, अन्जीर और खजूर से परहेज करना चाहिए।नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदRBI अगले महीने भी प्रमुख दरों में नहीं करेगा कोई बदलाव, अगस्‍त में हो सकती है 0.25 फीसदी की कटौती****** बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच (बोफा-एमएल) की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय रिजर्व बैंक अगले महीने अपनी मौद्रिक नीति समीक्षा में अहम दरें स्थिर रख सकता है और अगस्त में 0.25 प्रतिशत की कटौती कर सकता है।इस वित्तीय सेवा कंपनी ने आरबीआई द्वारा अगस्त में दरों में कटौती के तीन कारण गिनाए हैं। पहला, वृद्धि दर मजबूत करने की जरूरत, मुद्रास्फीति का आरबीआई के (2-6 फीसदी के) निर्धारित दायरे में बने रहना और तीसरा दरों में कटौती से आरबीआई को विदेशी भंडार बढ़ाने में मदद मिलेगी।बोफा-एमएल ने शोध नोट में कहा कि ऐसी संभावना है कि अगस्त में कटौती से पहले आरबीआई यह देखेगा कि नोटबंदी से कितना फायदा हुआ तथा बारिश की शुरुआत कैसी है।उसने यह भी कहा है कि पुराने पैमानों के आधार पर जीडीपी वृद्धि दर 4.5-5 फीसदी के बीच है, जो सात फीसदी की क्षमता से काफी कम है।उसने कहा कि मुद्रास्फीति 2017 की पहली छमाही में औसत चार फीसदी रहेगी।इसमें कहा गया है कि 2017 की पहली छमाही में महंगाई औसत 4 प्रतिशत रहेगी। आगे कहा गया है कि प्रमुख दरों में कटौती से विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों को आकर्षित करने में मदद मिलेगी, जो इक्विटी में निवेश करेंगे और इससे ग्रोथ को समर्थन मिलेगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि आरबीआई मौद्रिक नीति समिति 6 जून को होने वाली बैठक में यथास्थिति कायम रखेगी और अगस्‍त में 0.25 प्रतिशत की कटौती करेगी। 6 अप्रैल को हुई मौद्रिक नीति समीक्षा में केंद्रीय बैंक ने रेपो रेट को 6.25 प्रतिशत पर स्थिर रखा था लेकिन रिजर्व रेपो रेट को 5.75 प्रतिशत से बढ़ाकर 6 प्रतिशत कर दिया था।

नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीद'आंग सान सू ची' को पांच साल की जेल, भ्रष्टाचार के मामले में अदालत ने ठहराया दोषी******Highlights सैन्य शासित म्यांमा की एक अदालत ने देश की पूर्व नेता 'आंग सान सू ची' को भ्रष्टाचार के मामले में दोषी ठहराया और उन्हें बुधवार को पांच साल की जेल की सजा सुनायी। पिछले साल फरवरी में सेना द्वारा तख्तापलट के बाद सत्ता से बाहर कर दी गयीं सू ची ने इस आरोप से इनकार कर दिया था कि उन्होंने एक शीर्ष राजनीतिक सहकर्मी से घूस के तौर पर सोना और हजारों डॉलर लिए थे।इस अपराध के तहत अधिकतम 15 साल की सजा और जुर्माने का प्रावधान है। उनके समर्थकों और स्वतंत्र विधि विशेषज्ञों ने उनकी सजा की निंदा करते हुए इसे अनुचित और 76 वर्षीय सू ची को राजनीति से हटाने के मकसद से उठाया गया कदम बताया।उन्हें अन्य मामलों में पहले ही छह साल की कैद की सजा सुनायी जा चुकी है। सजा की खबर एक विधि अधिकारी के हवाले से आयी, जिन्होंने नाम न उजागर करने की शर्त पर यह जानकारी दी। राजधानी नेपीता में सू ची के मुकदमे की सुनवाई बंद कमरे में हुई और उनके वकीलों को मीडिया से बात करने से रोक दिया गया था। इनपुट-भाषानवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदT20 World Cup: SKY और ABD के बाद दुनिया को मिला एक और 360 डिग्री बल्लेबाज, वर्ल्ड कप में मचाएगा धूम******Highlightsटी20 विश्व कप शुरू होने में अब कुछ ही दिन रह गए हैं। भारत समेत सभी टीमों ने विश्व कप के लिए अपनी टीम का एलान कर दिया है। विश्व कप से पहले सभी टीम तैयारियों में जुट गई है। इंग्लैंड की टीम इस वक्त पाकिस्तान के खिलाफ सात मैचों की टी20 सीरीज खेल रही है। यह सीरीज अभी 2-2 की बराबरी पर है। इस सीरीज में इंग्लैंड के युवा बल्लेबाज हैरी ब्रुक ने कमाल का खेल दिखाया है। उनकी बल्लेबाजी को लेकर टीम के कार्यवाहक कप्तान मोईन अली ने एक बड़ी बात कही है।मोईन अली ने कहा है कि हैरी ब्रुक एक 360 डिग्री क्रिकेटर हैं और वह आने वाले कई वर्षों तक इंग्लैंड के लिए अच्छा करते रहेंगे। ब्रुक ने पाकिस्तान के खिलाफ तीसरे टी20 मुकाबले में लगभग 232 की स्ट्राइक रेट से सिर्फ 35 गेंदों पर नाबाद 81 रनों की नाबाद पारी खेली, जिससे इंग्लैंड ने कराची में अपने तीसरे टी20 में 221/3 का विशाल स्कोर बनाया जिससे इंग्लैंड की टीम ने मेजबान टीम को 63 से हार दिया।वह चौथे टी20 में 34 रन के साथ इंग्लैंड के लिए संयुक्त सर्वोच्च स्कोरर भी रहे थे। लेकिन इंग्लैंड की टीम इस मैच को तीन रनों से हार गई और पाकिस्तान ने सात मैचों की सीरीज को 2-2 से बराबर कर दिया। मोईन अली ने मंगलवार को डेली मेल में कहा कि, "मेरी राय में हैरी ब्रुक (81) और बेन डकेट (तीसरे टी20 में 42 गेंदों में नाबाद 70) की शानदार साझेदारी की थी। टी20 क्रिकेट में मैंने इंग्लैंड के लिए सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक को देखा है।"मोईन ने कहा, "दोनों ने दाएं हाथ और बाएं हाथ के संयोजन ने एक बेहतरीन साझेदारी की और यह जोड़ी वास्तव में अच्छी तरह से पूरक थी। जिस तरह से उन्होंने पाकिस्तान पर तुरंत दबाव डाला और स्पिनर को व्यवस्थित नहीं होने दिया, वह देखने में शानदार था।" उन्होंने आगे कहा, "ब्रूकी वास्तव में एक 360 डिग्री खिलाड़ी हैं, जो उचित क्रिकेट शॉट खेलते हैं, क्योंकि उनके पास कई प्रकार के अच्छे शॉर्टस हैं।"

नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदUS Open 2022: नडाल ने जीत के साथ की शुरुआत, वीनस, राडुकानू और ओसाका पहले दौर में हारकर बाहर******Highlightsसाल के आखिरी ग्रैंडस्लैम यूएस ओपन 2022 में स्पेनिश दिग्गज राफेल नडाल ने जीत के शुरुआत की है। 22 बार के ग्रैंडस्लैम विजेता नडाल को पुरुष एकल के पहले राउंड के पहले गेम में दुनिया के 198वें रैंक के खिलाड़ी रिंकी हिजिकाता ने 6-4 से हराया। लेकिन इसके बाद नडाल ने जोरदार वापसी करते हुए लगातार तीन गेम 6-2, 6-3, 6-3 से जीतकर दूसरे दौर में पहुंच गए।महिला वर्ग में कई उलटफेर देखने को मिले। 91वीं बार ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहीं दिग्गज महिला खिलाड़ी वीनस विलियम्स लगातार दूसरी बार पहले दौर में हारकर बाहर हो गईं। जबकि महिला एकल में मौजूदा चैंपियन एम्मा राडुकानू भी पहले दौर से आगे नहीं बढ़ पाई।जून में अपना 42 वां जन्मदिन मनाने वाली वीनस को ऑर्थर ऐस स्टेडियम में अपनी छोटी बहन सेरेना की तरह दर्शकों का अपार समर्थन नहीं मिला और सात बार की ग्रैंड स्लैम चैंपियन सीधे सेटों में भी हार गई। वीनस को मंगलवार को खेले गए मैच में एलिसन वैन उयतवांक से 6-1, 7-6 (5) से हार झेलनी पड़ी। सेरना जहां संन्यास लेने की बात कर चुकी है वहीं वीनस ने अभी तक ऐसा कोई संकेत नहीं दिया है। वीनस 2020 से पहले कभी यूएस ओपन के पहले दौर में बाहर नहीं हुई थी। उन्होंने पिछले साल इस टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लिया था।इस बीच राडुकानू पहले दौर में हारने वाली केवल तीसरी यूएस ओपन चैंपियन बन गई। उन्हें एलिज़े कॉर्नेट ने 6-3, 6-3 से हराया। राडुकानू ने पिछले साल क्वालीफायर के रूप में यूएस ओपन में भाग लिया था और वह चैंपियन बनने में सफल रही थी लेकिन इस बार कॉर्नेट के सामने उनकी एक नहीं चली।महिला एकल में वान उयतवांक का सामना अब क्लारा ब्यूरेल से होगा, जिन्होंने विंबलडन चैंपियन एलेना रयबाकिना को 6-4, 6-4 से हराया। महिला वर्ग में पूर्व नंबर एक खिलाड़ी जापान की नाओमी ओसाका भी पहले दौर में उलटफेर का शिकार हुईं। उन्हें डैनिएल कोलिंस ने 6-3, 7-6 से हराया।2017 की चैंपियन स्लोएन स्टीफेंस, नंबर एक इगा स्विएटेक, नंबर छह आर्यना सबालेंका, नंबर आठ जेसिका पेगुला, नंबर नौ गार्बिने मुगुरुजा, नंबर 13 बेलिंडा बेनसिच और नंबर 22 करोलिना प्लिस्कोवा भी आगे बढ़ने में सफल रही।पुरुष वर्ग में जिन खिलाड़ियों ने अगले दौर में जगह बनाई उनमें 2014 के चैंपियन मारिन सिलिच, नंबर तीन कार्लोस अल्काराज़, नंबर सात कैमरन नोरी, नंबर आठ ह्यूबर्ट हर्काज़, नंबर नौ आंद्रे रुबलेव, नंबर 11 यानिक सिनर और नंबर 17 ग्रिगोर दिमित्रोव शामिल हैं।नवंबरदिसंबरमें1लाखकरोड़रुपएसेअधिकहोगाGSTकलेक्‍शनवित्‍तमंत्रालयनेजताईउम्‍मीदBSNL, MTNL के लिए सरकार ने बनाया 74,000 करोड़ रुपए का रिवाइवल प्‍लान, दिया जाएगा 4G स्‍पेक्‍ट्रम******Govt plans Rs 74,000 crore bailout for BSNL, MTNLपीएम मोदी के नेतृत्‍व वाली केंद्र सरकार सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनियों (बीएसएनएल) और महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (एमटीएनएल) को 74,000 करोड़ रुपए का बेलआउट पैकेज उपलब्‍ध कराने की योजना पर काम कर रही है। इस योजना में एक आकर्षक एग्जिट पैकेज , 4जी स्‍पेक्‍ट्रम के लिए प्रावधान और पूंजी खर्च शामिल है। बीएसएनएल भारत की सबसे बड़ी घाटे में चलने वाली सरकारी कंपनी है। वित्‍त वर्ष 2018-19 में इसका शुद्ध घाटा 13,804 करोड़ रुपए रहने का अनुमान है। इस मामले में एमटीएनएल तीसरे स्‍थान पर है, इसका घाटा 3,398 करोड़ रुपए रहने का अनुमान है। एमटीएनएल से ज्‍यादा अकेली सार्वजनिक एयरलाइन एयर इंडिया का घाटा है।प्रस्‍तावित बेलआउट पैकेज के तहत, 20,000 करोड़ रुपए 4जी स्‍पेक्‍ट्रम के लिए आवंटित किए जाएंगे और 40,000 करोड़ रुपए स्‍वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) एवं शीघ्र सेवानिवृत्ति लाभ के लिए दिए जाएंगे। दोनों दूरसंचार कंपनियों को पूंजी खर्च के लिए लगभग 13,000 करोड़ रुपए उपलब्‍ध कराए जाएंगे।रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार का विचार है कि सेवानिवृत्‍त आयु 60 से घटाकर 58 वर्ष करने और एक आकर्षक वीआरएस पैकेज की पेशकश से घाटे में चल रही इन कंपनियों की लागत को कम करने में मदद मिलेगी। यह कदम इन कंपनियों को नए टैरिफ प्‍लान के साथ आक्रामक तरीके से प्रतिस्‍पर्द्धा करने के लिए तैयार करेगा।हाल ही में बीएसएनएल ने कहा था कि उसने कर्मचारियों को जून माह का वेतन दे दिया है। बीएसएनएल ने कहा कि उसे दूरसंचार विभाग से 14,000 करोड़ रुपए का बकाया मिलने का इंतजार है। सरकार बीएसएनएल और एमटीएनएल की संपत्तियों जैसे टॉवर, जमीन और ऑप्‍टीकल फाइबर के मौद्रीकरण की भी संभावना देख रही है। इस संबंध में एक ड्राफ्ट कैबिनेट जारी किया गया है।

हाल का ध्यान

लिंक