वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > झाउशान > मूलपाठ

सर्विस टैक्‍स और एक्‍साइज ड्यूटी बकाएदारों के लिए आई माफी योजना, 1 सितंबर से 31 दिसंबर तक का मिलेगा समय

2022-09-30 23:57:17 झाउशान

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयJustice Uday Umesh Lalit Appointed 49th CJI: जस्टिस उदय उमेश ललित अगले प्रधान न्यायाधीश नियुक्त, सीजेआई एनवी रमना की जगह लेंगे******Highlightsजस्टिस उदय उमेश ललित (Justice Uday Umesh Lalit) सुप्रीम कोर्ट के अगले चीफ जस्टिस (CJI) नियुक्त किए गए। वे देश के 49वें सीजेआई होंगे। जस्टिस ललित 27 अगस्त को देश के नए मुख्य न्यायाधीश पदभार ग्रहण करेंगे। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट के तात्कालीन मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना ने जस्टिस उदय उमेश ललित के नाम की सिफारिश उनके उत्तराधिकारी के तौर पर की थी। एनवी रमना 26 अगस्त को अपने पद से रिटायर हो रहे हैं।बता दें कि ये परंपरा रही है कि तात्कालीन सीजेआई को ही अपने उत्तराधिकारी के तौर पर सुप्रीम कोर्ट के सबसे वरिष्ठ न्यायाधीश के नाम की सिफारिश करनी होती है। जस्टिस उदय उमेश ललित वरिष्ठता के क्रम में जस्टिस एनवी रमना के बाद दूसरे स्थान पर आते हैं।जस्टिस उदय उमेश ललित ऐसे दूसरे चीफ जस्टिस होंगे, जो सुप्रीम कोर्ट का जज बनने से पहले किसी हाई कोर्ट में जज नहीं थे। वे वकील से सीधे इस पद पर पहुंचे थे। उनसे पहले 1971 में देश के 13वें मुख्य न्यायाधीश एस एम सीकरी के नाम यह उपलब्धि थी।मालूम हो कि जस्टिस उदय उमेश ललित ने जनवरी 2019 में अयोध्या मामले की सुनवाई कर रही बेंच से खुद को अलग कर लिया था। इस दौरान उन्होंने ये तर्क दिया था कि वह 20 साल पहले अयोध्या विवाद से जुड़े एक आपराधिक मामले में यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के वकील रह चुके हैं। जस्टिस उदय उमेश ललित अपने सौम्य स्वभाव के लिए जाने जाने जाते हैं।

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयArthritis: युवा भी हो रहे हैं गठिया रोग के शिकार, स्वामी रामदेव से जानिए घर पर कैसे ठीक होगा दर्द******Highlightsआज का युवा तो अपनी ही बीमारियों से जंग लड़ रहा है, डिप्रेशन का शिकार हो रहा है तो, वहीं कम उम्र में ही उनके घुटने भी जवाब दे रहे हैं। देश की ज़िम्मेदारी उठाना तो दूर जोड़ों में दर्द, अकड़न से उनके लिए चलना फिरना तक मुहाल हो रहा है। ये सब आर्थराइटिस के लक्षण हैं। वैसे तो बड़ी उम्र में कार्टिलेज के घिस जाने और हड्डियों में कैल्शियम,मिनरल्स की कमी से ये बीमारी होती हैं, लेकिन युवाओं में खराब लाइफ स्टाइल,गलत खानपान बढ़ता वज़न गठिया का रोग दे रहा है।देश में 18 करोड़ से ज्यादा लोग आर्थराइटिस के शिकार हैं और हर पांच में से एक पुरुष और हर 4 में से एक महिला इस बीमारी की गिरफ्त में हैं। स्टडी कहती है कि 2025 तक तो औस्टियोआर्थराइटिस मरीज़ों की गिनती में भारत दुनिया में नंबर वन देश बन जाएगा। ये बीमारी ना सिर्फ ज्वाइंट्स खराब करती है बल्कि आंख,आंत, दिल, लंग्स, के साथ साथ स्पाइन पर भी असर डालती है।अब सवाल ये है कि इन सभी परेशानियों से कैसे बचें? क्या करें कि हड्डियां उम्र से पहले कमज़ोर ना हों? जोड़ों का दर्द ना सताए, इन सवाल का जवाब योगगुरू स्वामी रामदेव ने दिया है।भारतमेंआर्थराइटिसके18करोड़सेज़्यादामरीज़हैं।हर5मेंसे1पुरुषगठियारोगसेपरेशानहै।हर4मेंसे1महिलाकोगठियाकीशिकायतहोतीहै।गठिया रोग से आंख, आंत, दिल, लंग्स, स्पाइन को भी नुकसान होता है।चाय-कॉफ़ी ना लेंटमाटर ना खाएंशुगर कम करेंतला भुना खाने से बचेंवजन कंट्रोल रखेंसर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयOdisha News: बीजेपी नेता विष्णु चरण सेठी का निधन, ओडिशा के धामनगर विधानसभा क्षेत्र से थे विधायक******Highlightsओडिशा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता विष्णु चरण सेठी का सोमवार को यहां एक सरकारी अस्पताल में निधन हो गया। वह 61 वर्ष के थे। सेठी को 16 अगस्त को एम्स-भुवनेश्वर में भर्ती कराया गया था, जहां उनका गुर्दे से संबंधित बीमारी का इलाज चल रहा था। एम्स-भुवनेश्वर के अधीक्षक एस. एन. मोहंत ने पत्रकारों से कहा, ‘‘ उनके फेफड़ों में संक्रमण हो गया था और उन्हें मस्तिष्क आघात भी हुआ था। हालांकि, उनका निधन हृदय गति रुकने से हुआ।’’ भद्रक जिले से दो बार के विधायक सेठी अभी धामनगर विधानसभा क्षेत्र से मौजूदा विधायक थे।मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने शोक व्यक्त कियासेठी के परिवार में उनकी पत्नी हैं। राज्यपाल गणेशी लाल और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने सेठी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। ओडिशा के 2019 विधानसभा चुनाव में 23 सीट पर जीत दर्ज करने वाली भाजपा के सेठी सहित दो विधायकों का निधन हो चुका है। भाजपा के बालेश्वर से विधायक मदनमोहन दत्ता का निधन 2020 में हो गया था।वे एक राजनीतिज्ञ होने के साथ-साथ एक लेखक भी थेपिछले एक महीने से उनकी तबीयत ज्यादा खराब थी। वह करीब एक साल से किडनी की बीमारी का सामना कर रहे थे।उन्हें भुवनेश्वर एम्स में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में हुई जांच के बाद पता चला कि उनके फेफड़ों में संक्रमण होने के बाद उन्हें ब्रेन स्ट्रोक हुआ। हालत खराब होने के बाद वह महीनों से आईसीयू में थे। डॉक्टरों की तमाम कोशिश के बाद भी उन्हें नहीं बचाया जा सका। राज्य की राजनीति में उन्हें बीजद सरकार के कड़े आलोचक के रूप में जाना जाता था। वे एक राजनीतिज्ञ होने के साथ-साथ एक लेखक भी थे।

सर्विस टैक्‍स और एक्‍साइज ड्यूटी बकाएदारों के लिए आई माफी योजना, 1 सितंबर से 31 दिसंबर तक का मिलेगा समय

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयArshdeep Singh: अर्शदीप के लिए आकाश चोपड़ा ने किया ऐसा काम, ट्रोलर्स की बंद हुई जुबान******Highlights एशिया कप 2022 (Asia Cup 2022) के सुपर-4 में रविवार को पाकिस्तान ने भारत को 5 विकेट से मात दी। इस मैच के 18वें ओवर में अर्शदीप सिंह द्वारा आसिफ अली का कैच छोड़ना भारतीय टीम को महंगा पड़ गया। इसके बाद सोशल मीडिया पर काफी बवाल मचा हुआ है। पंजाब के इस गेंदबाज को काफी उल्टी-सीधी बातें भी बोली जा रही हैं। इसे लेकर भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने भारत के युवा गेंदबाज का समर्थन किया है। उन्होंने ट्विटर पर अपनी प्रोफाइल फोटो बदलकर अर्शदीप का समर्थन किया है।इसके अलावा चोपड़ा ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म कू पर भी अर्शदीप सिंह को लेकर एक पोस्ट किया है। उन्होंने लिखा कि,"कोई भी जानबूझकर कैच नहीं छोड़ता है। जिससे भी ऐसा होता है वो गलती से ही होता है। खासतौर से मैच अगर पाकिस्तान के खिलाफ हो तो उससे दुख जरूर होता है। लेकिन जो लोग भी युवा अर्शदीप सिंह के खिलाफ गलत बातें बोल रहे हैं वह खेल का निरादर (Disrespect) कर रहे हैं। इससे पता चलता है कि वह खेल के प्रति कितने नासमझ हैं।" - 5 Sep 2022इतना ही नहीं भारत के अन्य पूर्व क्रिकेटर्स ने भी अर्शदीप का समर्थन किया है। अमित मिश्रा ने लिखा कि,"क्रिकेट से जुड़े मुद्दे क्रिकेट फील्ड पर ही निपट जाने चाहिए। हर भारतीय को अर्शदीप सिंह पर गर्व है।" हरभजन सिंह बोले कि,"अर्शदीप सिंह की आलोचना करना बंद करें। कोई जानकर कैच नहीं छोड़ता।" साथ ही पंजाब के कई नेताओं ने भी भारतीय क्रिकेटर का बचाव किया। खेलमंत्री गुरमीत सिंह, भाजपा नेता मनजिंदर सिंह सिरसा और पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने उनका समर्थन किया। खेलमंत्री ने अर्शदीप की मां बलजीत कौर से फोन पर बात की और कहा कि पंजाब और पूरा देश उनके साथ है।पंजाब के खेलमंत्री गुरमीत सिंह ने कहा,‘‘खेल में हार जीत होती ही है। अर्शदीप ने इतने कम समय में नाम बनाया है और पाकिस्तान के खिलाफ भी अच्छा प्रदर्शन किया। एक कैच छोड़ने पर उसकी इस तरह से आलोचना गलत है । अर्शदीप देश का भविष्य और युवाओं की प्रेरणा है। खेलों में नफरत के लिये कोई जगह नहीं है।’’ अमरिंदर ने कहा,‘‘खेल में यह सब (कैच छूटना) होता रहता है। हमें अपने खिलाड़ियों का समर्थन करना चाहिए।’’ भाजपा नेता मनजिंदर सिरसा ने अर्शदीप को खालिस्तानी बोलने वालों को करारा जवाब देते हुए कहा,‘‘अर्शदीप सिंह होनहार खिलाड़ी है। पूरा देश उसके साथ है, क्रिकेट से पहले देश है और पाकिस्तान के इस दुष्प्रचार को खारिज करके मैं अर्शदीप सिंह के साथ हूं।’’सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयJoSAA Fourth Round Counselling 2019: जोसा ने जारी की चौथे राउंड की सीट एलॉटमेंट लिस्ट, यहां करें चेक****** ज्वाइंट सीट एलॉकेशन अथॉरिटी (JoSAA) ने जेईई मेन्स और जैईई एडंवांस्ड के राउंड चार के सीट एलोटमेंट रिजल्ट को जारी कर दिया है। जिन उम्मीदवारों ने जोसा काउंसलिंग के चौथे राउंड में आवेदन किया था वे लोग रिजल्ट को जोसा की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं। JoSAA के चौथे राउंड की सीट एलोटमेंट लिस्ट में जिन उम्मीदवारों के नाम शामिल हैं उन्हें IIT’s, NIT’s, IIEST, IIT’s और GFTI’s संस्थानों में सीट आवंटित की जाएगी।आपको बता दें कि 6 जुलाई को जोसा ने तीसरे राउंड की काउंसलिंग का परिणाम जारी किया था। तीसरे राउंड के सीट एलोटमेंट के लिए डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन प्रक्रिया 7 और 8 जुलाई को आयोजित की गई थी। 12 जुलाई को अब तक भर चुकी सीटें और खाली सीटों की जानकारी ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी की जाएगी। इसके अलावा जोसा पांचवें राउंड की सीट एलोटमेंट लिस्ट भी 12 जुलाई शाम 5 बजे जारी की जाएगी। इसके साथ ही JoSAA ने सीट वापस लेने के लिए आवेदन करने का लिंक भी एक्टिवेट कर दिया है।जिन उम्मीदवारों को पहली राउंट में सीट आवंटित हो चुकी है उन्हें डॉक्यूमेंट्स वेरफिकेशन के लिए निर्धारित किए गए सेंटर पर रिपोर्ट करना होगा। उम्मीदावर इस दौरान अपने जरूरी डॉक्यूमेंट्स की फोटो कॉपी और पासपोर्ट साइज फोटो साथ ले जाना ना भूलें।आपको बता दें कि ज्वाइंट सीट एलॉकेशन अथॉरिटी JosAA सत्र 2019-20 के लिए देश के 104 संस्थानों में एडमिशन के लिए मैनेज और रेग्युलेट करती है. इनमें 23 IITS, 31 NITs, 25 IIts और 28 GFTIs कॉलेज शामिल हैं।सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमययात्री वाहनों की बिक्री लगातार आठवें महीने जून में 18% घटी, उद्योग ने मांगी सरकार से मदद******Passenger vehicle sales fall 18 pc in June देश में यात्री में जून में भी गिरावट का सिलसिला जारी रहा। यह लगातार आठवां महीना है जब यात्री वाहनों की बिक्री में कमी दर्ज की गई। ये आंकड़े आने के बाद वाहन उद्योग ने सरकार से इस गिरावट को रोकने तथा नौकरियों को सुरक्षित रखने के लिए ठोस नीतिगत उपाय करने का आग्रह किया है। सियाम के मुताबिक जून में यात्री वाहन बिक्री 17.54 प्रतिशत घटकर 2,25,732 इकाई रही। पिछले साल जून में यह आंकड़ा 2,73,748 वाहन था। घरेलू वाहन विनिर्माताओं के संगठन सियाम ने बुधवार को जून के वाहन बिक्री आंकड़े जारी किए।इसके अनुसार समीक्षावधि में कारों की घरेलू बिक्री भी 24.97 प्रतिशत घटी है। जून में यह आंकड़ा 1,39,628 वाहन रहा, जो जून, 2018 में 1,83,885 कारों का था।इस दौरान मोटरसाइकिलों की बिक्री भी 9.57 प्रतिशत घटकर 10,84,598 इकाई रही, जो पिछले साल इसी अवधि में 11,99,332 इकाई थी।कुल दोपहिया वाहन बिक्री जून में 11.69 प्रतिशत गिरकर 16,49,477 वाहन रही, जो पिछले साल इस अवधि में 18,67,884 वाहन थी।वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री समीक्षावधि में 12.27 प्रतिशत घटकर 70,771 वाहन रही, जो पिछले साल जून में 80,670 वाहन थी।सियाम की रिपोर्ट के अनुसार सभी श्रेणियों में वाहनों की बिक्री जून में 12.34 प्रतिशत घटकर 19,97,952 वाहन रही, जो पिछले साल इसी माह में 22,79,186 वाहन थी।जून में सभी श्रेणियों के वाहनों की बिक्री घटी है।अप्रैल से जून की अवधि में यात्री वाहनों की बिक्री 18.42 प्रतिशत घटकर 7,12,620 वाहन रही, जो पिछले साल की समान अवधि में 8,73,490 वाहन थी।वहीं अप्रैल-जून में सभी श्रेणियों की बिक्री 12.35 प्रतिशत गिरकर 60,85,406 वाहन रही, जो पिछले साल इस अवधि में 69,42,742 वाहन थी।सियाम के अध्यक्ष राजन वढेरा ने कहा कि हमने उद्योग में इतने लंबे समय तक मंदी नहीं देखी है। यात्री वाहनों की बिक्री में एक साल लगातार गिरावट दर्ज की गई है। अतीत में भी नकारात्मक वृद्धि देखी गई है लेकिन वह ज्यादा-से-ज्यादा एक या दो तिमाही में देखने को मिलती थी। उन्होंने कहा कि पहली बार यात्री वाहन, वाणिज्यिक वाहन, दोपहिया और तिपहिया सभी तरह की श्रेणियों के वाहनों की बिक्री में गिरावट दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि हम उम्मीद कर रहे थे कि बजट में वाहनों पर माल एवं सेवा कर (जीएसटी) की दर को 28 प्रतिशत से घटाकर 18 प्रतिशत किया जाएगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ। कर में कमी से उद्योग को वापस वृद्धि के पथ पर ले जाने में सबसे ज्यादा मदद मिलती।

सर्विस टैक्‍स और एक्‍साइज ड्यूटी बकाएदारों के लिए आई माफी योजना, 1 सितंबर से 31 दिसंबर तक का मिलेगा समय

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयExclusive: Illegal Season 2 में नजर आईं पारुल गुलाटी, बोलीं- 'एंटरटेनमेंट का पूरा मजा थियेटर में जाकर है'******Highlights'Illegal Season 2 वेब सीरीज हाल ही में रिलीज हुई है। इस वेब सीरीज में पारुल गुलाटी अक्षय की पत्नी का रोल निभा रही हैं। सीजन 2 में पारुल बतौर बिजनेस वूमेन भी नजर आएंगी। ऐसे में कितना दिलचस्प होगा उनका इस बार का किरदार इस बारे में पारुल ने इंडिया टीवी से एक्सक्लूसिव बातचीत की।क्या आपको लगता है कि लोग ओटीटी आने के बाद थियेटरकम जाएंगे? इस सवाल का जवाब देते हुए पारुल गुलाटी ने कहा- 'मुझे नहीं लगता कि ऐसा कभी होगा। जो भी एक्टर्स हैं उन सबका बचपन से सपना था कि वो फिल्में करें। लोगों को पता है कि एंटरटेनमेंट का पूरा मजा थियेटर में जाकर है। तो लोग वहां जाना कभी नहीं छोड़ेंगे। लोग थियेटर में फिल्में भी देखेंगे और वेब पर भी देखेंगे। बस ये है कि वेब पर आप कभी भी देख सकते हैं लेकिन थियेटर का जो एक्सपीरियंस है वो कभी कम नहीं होगा।'अपने निभाए गए किरदारों के बारे में बात करते हुए पारुल गुलाटी ने कहा- 'मैं किसी भी रोल को रिपीट नहीं करना चाहती। इसलिए किसी भी सीजन में जब तक आपके किरदार में नया ना हो तब तक मुझे उसे करना अच्छा नहीं लगता। छोटी सी लाइफ है जिसमें बहुत कुछ करना चाहती हूं। लेकिन हां 'हक से' वेब सीरीज में निभाया गया मेरा पत्रकार का रोल मुझे बहुत अच्छा लगा है।'सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयTurkey Greece: दुनिया में बढ़ा एक और बड़े युद्ध का खतरा, तुर्की ने पड़ोसी मुल्क ग्रीस को दी हमले की खुली धमकी, बुरी तरह भड़के एर्दोआन******Highlights तुर्की और ग्रीस के बिगड़ते रिश्ते जल्द ही किसी जंग में तब्दील हो सकते हैं। तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने ग्रीस पर हमला करने की धमकी दी है, जिसके जवाब में ग्रीस ने कहा है कि वह अपनी संप्रभुता की रक्षा करने के लिए तैयार है। तुर्की और ग्रीस के बीच दशकों से कई मुद्दों को लेकर विवाद बना हुआ है, जिनमें एजियन सागर में क्षेत्रीय दावे और हवाई क्षेत्र पर असहमति शामिल हैं। बीती आधी सदी में इन दोनों पड़ोसियों के बीच हुई तनातनी ने नाटो के इन सहयोगियों को तीन बार युद्ध की कगार पर लाकर खड़ा कर दिया है। एर्दोआन ने कहा है कि तुर्की, ग्रीस के कथित खतरों के जवाब में अचानक किसी रात यहां आ सकता है। ऐसे में तुर्की के इस देश पर हमले की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता।एर्दोआन ने इससे पहले इसी तरह का बयान देते हुए संकेत दिया था कि तुर्की कुर्द लड़ाकों के खिलाफ सीरिया और इराक में सैन्य अभियान चला सकता है। वह कुर्द लड़ाकों को आतंकवादी कहता है और अपने अस्तित्व पर बहुत बड़ा खतरा समझता है। एर्दोआन ने ये धमकी भरी बातें सैमसन में हवाई तकनीक से जुडे़ कार्यक्रम में कही हैं। जहां तुर्की ने मानव रहित लड़ाकू जेट के प्रोटोटाइप का प्रदर्शन किया है। यहां एर्दोआन ने राजनीतिक और सैन्य तनाव के बीच ग्रीस पर भड़ास निकाली है। तुर्की ने अगस्त में ग्रीस पर क्रीतमें रूस निर्मित एस-300 मिसाइल सिस्टम का इस्तेमाल कर तुर्की के लड़ाकू विमानों को लॉक करने का आरोप भी लगाया था।उसने ये भी कहा कि ग्रीस के एफ-16 विमानों ने पूर्वी भूमध्य सागर में नाटो मिशन के दौरान तुर्की के जेट विमानों को रडार लॉक में डालकर परेशान किया है। तुर्की ने ये शिकायतें नाटो से भी की हैं। ग्रीस ने भी तुर्की के ऊपरअपने वायुक्षेत्र के उल्लंघन का आरोप लगाया है। हालांकि नाटो के दोनों सदस्य देश तुर्की और ग्रीस के बीच तनाव एक आम बात रही है। तुर्की का दावा है कि ग्रीस एजियन सागर में द्वीप पर सैन्यीकरण कर अंतरराष्ट्रीय समझौतों का उल्लंघन कर रहा है। एर्दोआन ने शनिवार को कहा, 'आपके द्वीपों पर कब्जे से हम बंधने वाले नहीं है। जब समय आएगा, हम वो करेंगे जो जरूरी है। जैसे कि हमने कहा है, हम एक रात अचानक आ जाएंगे।'एर्दोआन ने आगे कहा, 'इतिहास को देख लें, अगर आप ज्यादा आगे बढ़े, तो उसकी भारी कीमत होगी। हमारे पास ग्रीस को कहने के लिए एक ही बात है: इजमिर (तुर्की का एक शहर) को न भूलें।' एर्दोआन ने 1922 में तुर्की की सेना द्वारा इस पश्चिमी शहर में ग्रीस की सेना पर कब्जा करने की करारी हार के संदर्भ में ये बात कही है। एर्दोआन और ग्रीस के प्रधानमंत्री क्यारीकोस मित्सोटानिस के बीच मार्च में इस्तांबुल में दोपहर के भोजन के दौरान दुर्लभ बातचीत हुई थी। लेकिन ये सकारात्मक दिखने वाली तस्वीर भी जल्द ही बदल गई।वहीं मई महीने में एर्दोआन ने कहा था कि वह अब मित्सोटानिस से बात नहीं करेंगे। उन्होंने ये बात तब कही, जब ग्रीस के प्रधानमंत्री एफ-35 स्टील्थ लड़ाकू विमान लेने की कोशिश में वाशिंगटन गए थे। तुकी ने ये भी आरोप लगाया कि वह अमेरिका इसलिए गए हैं, ताकि तुर्की के एफ-16 बेड़े को अपग्रेड करने के प्रयासों के खिलाफ पैरवी कर सकें। वहीं जुलाई में एर्दोआन ने कहा था कि तुर्की की ग्रीस के साथ जंग करने में कोई दिलचस्पी नहीं है लेकिन उन्होंने ये भी कहा था कि ग्रीस को तुर्की के वायुक्षेत्र का उल्लंघन करना बंद कर देना चाहिए।

सर्विस टैक्‍स और एक्‍साइज ड्यूटी बकाएदारों के लिए आई माफी योजना, 1 सितंबर से 31 दिसंबर तक का मिलेगा समय

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयNIA on D Company: D कंपनी के खिलाफ एक्शन में NIA, दाऊद इब्राहिम समेत 5 बड़े सदस्यों पर रखा इनाम******Highlights NIA ने अंडरवर्ल्ड गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम और उसके डी कंपनी से जुड़े लोगों पर लाखों का इनाम घोषित किया है। इनके बारे में जानकरी देने वालों को भारी भरकम इनाम दिया जाएगा। भगौड़े दाऊद सहित डी कंपनी के कुल 5 बड़े सदस्यों के खिलाफ इनाम का ऐलान किया गया है।NIA ने दाउद इब्राहिम पर 25 लाख के इनाम की घोषणा की है। साथ ही उसके छोटे भाई शकील पर 20 लाख का इनाम रखा है। NIA द्वारा दाउद के अन्य लोगों पर भी इनाम घोषित किए गए हैं।दाउद इब्राहिम - 25 लाखछोटा शकील - 20 लाखअनिस इब्राहिम - 15 लाखजावेद चिकना - 15 लाखटायगर मेमन - 15 लाखNIA ने 3 फरवरी 2022 को मुंबई में एक मामला दर्ज किया था। IPC का धारा 120 B और UAPA की धारा 17, 18, 20, 38, 40 के तहत मामला दर्ज किया था। इस केस में ये पांचों आरोपी वांटेड है। NIA ने अपनी प्रेस रिलीज में लिखा है कि दाउद आकंतवाद का इंटरनेशनल नेटवर्क चलाता है, साथ ही आर्म्स एक्ट, नार्को टेरेरिसम, मनी लॉंडरिंग, अंडरवर्ल्ड सिंडिकेट भी चलाता है। दाउद आतंकवादी संगठन लश्कर ए तैयबा, जैश ए मोहम्मद और अल कायदा से जुड़ा हुआ है।NIA Headquarter phone no. 011 24368800Whats app / Telegram no. 8585931100Mumbai NIA ofc022-23550650/23550660NIA ने इसे लेकर एक वाट्सऐप नबंर भी जारी किया है। NIA ने WA no. 07588707129 पर जानकारी शेयर करने की अपील की है।गौरतलब है कि दाऊद भारत का मोस्ट वांटेड अंडरवर्ल्ड डॉन है। भारत को कई मामलों में दाऊद की तलाश है, जिसमें 1993 के मुंबई ब्लास्ट भी शामिल है। दाऊद पर पहले से ही संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने 2003 में 25 लाख डॉलर का इनाम घोषत कर रखा है। दाऊद के अलावा भारत की मोस्ट वांटेड लिस्ट में लश्कर ए तैयबा चीफ हाफिज सईद, जैश ए मोहम्मद चीफ मौलाना मसूद अजहर, हिजबुल मुजाहिदीन का फाउंडर सईद सलाहुद्दीन और उसका खास अब्दुल राऊफ असगर शामिल हैं।

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयRajasthan Politics: राजस्थान के अगले CM को लेकर बढ़ा सस्पेंस, पायलट के अलावा ये 2 नाम भी हैं रेस में******कांग्रेस के अध्यक्ष पद के चुनाव के साथ ही राजस्थान सीएम को लेकर भी चर्चाएं तेज हैं। राजस्थान नेतृत्व के मुद्दे पर कांग्रेस में जोर-शोर से चल रही लॉबिंग के बीच पार्टी के शीर्ष नेताओं ने (Sachin Pilot) को जयपुर में ही रहने और अंतिम निर्णय होने तक विधायकों से मिलने को कहा है। पायलट ने भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने के बाद शुक्रवार को जयपुर के लिए उड़ान भरी और फैसले का इंतजार कर रहे हैं।राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, जिन्होंने से मुलाकात की थी, उन्होंने शुक्रवार को कहा कि, राहुल गांधी ने पार्टी अध्यक्ष का चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है और चाहते हैं कि एक गैर-गांधी पार्टी का नेतृत्व करें। मैं जल्द ही नामांकन दाखिल करूंगा और यह समय की मांग है कि विपक्ष मजबूत हो।गहलोत अगर कांग्रेस के अध्यक्ष बनते हैं तो उन्हें राजस्थान के मुख्यमंत्री का पद छोड़ना पड़ेगा। हालांकि, कौन राज्य की कमान संभालेगा इसका फैसला गहलोत ने आलाकमान पर छोड़ दिया है। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि गहलोत पहले मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देंगे और फिर चुनाव लड़ेंगे या चुनाव के बाद इस्तीफा देंगे। पूर्व उपमुख्यमंत्री पायलट मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार हैं जबकि सी.पी. जोशी और बी.डी. कल्ला के नामों की चर्चा भी तेज है।वहीं, आपको बता दें कि गहलोत चाहते हैं कि उनके गुट का सीनियर नेता राजस्थान का मुख्यमंत्री बने। मीडिया रिपोटर्स के अनुसार गहलोत ने सीएम पद के लिए राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी का नाम आगे रखा है। सचिन पायलट के बाद सीपी जोशी राजस्थान सीएम पद के तौर पर प्रबल दावेदार माने जा रहे है। इसकी एक बड़ी वजह यह बताई जा रही है कि वो राजस्थान कांग्रेस के उन सीनियर नेताओं में शामिल है, जिन्हें सीएम बनाए जाने के बाद पार्टी में कोई बड़ा विवाद खड़ा नहीं होगा।सीएम पद छोड़ने के सवाल पर गहलोत ने कहा कि, आज तक जो भी कांग्रेस अध्यक्ष बना वह व्यक्ति मुख्यमंत्री नहीं रहा। अगर मुझे मौका मिला तो मैं कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में ही काम करूंगा। राजस्थान में सीएम पद खाली होने पर अगले चेहरे के सवाल पर गहलोत ने कहा कि सोनिया गांधी अगली प्रक्रिया के बारे में फैसला करेंगी। उन्होंने कहा, सोनिया गांधी और प्रभारी महासचिव अजय माकन मिलकर फैसला करेंगे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शुक्रवार को शिरडी के साईं बाबा मंदिर में माथा टेकने के बाद जयपुर लौटकर नामांकन की तैयारियां शुरू करेंगे।सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयअक्टूबर में केंद्र, राज्यों के बीच हुआ 32,000 करोड़ रुपए के IGST का बंटवारा, राज्‍यों को मिले 15,000 करोड़ से अधिक******IGST केंद्र और राज्यों के बीच अक्टूबर महीने में (आईजीएसटी) में पड़े 32,000 करोड़ रुपए का बंटवारा किया गया। एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि इसमें राज्यों का हिस्सा 15,000 करोड़ रुपए से अधिक का है। आईजीएसटी के बंटवारे से केंद्र और राज्यों के अक्टूबर माह के जीएसटी राजस्व में इजाफा हुआ है। माह के कुल राजस्व संग्रहण के आंकड़े एक नवंबर को जारी किए जाएंगे।यह पांचवां मौका है जब केंद्र और राज्यों के बीच आईजीएसटी कोष का बंटवारा किया गया है।इससे पहले सितंबर में आईजीएसटी के 29,000 करोड़ रुपए, अगस्त में 12,000 करोड़ रुपए, जून में 50,000 करोड़ रुपए और फरवरी में 35,000 करोड़ रुपए का बंटवारा किया गया था।अधिकारी ने कहा कि आईजीएसटी पूल में जब उल्लेखनीय राशि जमा हो जाती है तो उसका बंटवारा केंद्र और राज्यों के बीच किया जाता है ताकि यह केंद्र के पास बेकार न पड़ी रहे। अधिकारी ने कहा कि इस महीने 32,000 करोड़ रुपए का बंटवारा किया गया।जीएसटी के तहत वस्तुओं के उपभोग और सेवाओं पर जो कर लगाया जाता है उसका बंटवारा केंद्र और राज्य के बीच 50:50 में किया जाता है। इस तरह के कर को केंद्रीय जीएसटी (सीजीएसटी) और राज्य जीएसटी (एसजीएसटी) कहा जाता है। एक राज्य से दूसरे राज्यों को वस्तुओं की आवाजाही तथा आयात पर आईजीएसटी लगाया जाता है। आदर्श स्थिति यह मानी जाती है कि आईजीएसटी पूल में ‘शून्य’ राशि हो क्योंकि इस राशि का इस्तेमाल सीजीएसटी और एसजीएसटी के भुगतान में किया जाता है।

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयशेयर बाजार की कोई भी कंपनी PWC से नहीं करा सकेगी ऑडिटिंग, SEBI ने लगाया 2 साल का प्रतिबंध****** शेयर बाजार में लिस्ट कंपनियों में से कोई भी कंपनी ग्लोबल ऑडिटिंग संस्था प्राइस वॉटरहाउस कूपर्स (PWC) से अपने खातों की ऑडिटिंग नहीं करा सकेगी। सेबी ने PWC पर लिस्टेड कंपनियों के खातों की ऑडिटिंग के लिए 2 साल तक की रोक लगा दी है। सेबी ने यह फैसला 8000 करोड़ रुपए के सत्यम घोटाले में PWC का नाम आने के बाद सुनाया है। PWC पर यह प्रतिबंध अप्रैल 2018 से लागू हो जाएगा।सेबी ने PWC पर इसके अलावा 13.09 करोड़ रुपए का जुर्माना भी लगाया है और जनवरी 2009 से लेकर अबतक इस जुर्माने पर 12 प्रतिशत सालाना की दर से ब्याज देने के लिए भी कहा है। यह प्रतिबंध अप्रैल 2018 से लागू हो जाएगा लेकिन इस साल मार्च अंत तक इसका असर नहीं पड़ेगा।सेबी ने इसके अलावा PWC के दो पुराने पार्टनर्स एस गोपालकृष्णन और श्रीनिवास तल्लौरी पर भी 3 साल का प्रतिबंध लगाया है। इन दोनो का नाम सत्यम घोटाले से जोड़कर देखा जाता है। जब 2009 में सत्यम घोटाला उजागर हुआ था तो उस समय इन दोनो ने ही सत्यम के खातों की ऑडिटिंग की थी।सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयभारतीय सेना ने स्विच ड्रोन के लिए IIT के पूर्व छात्रों की कंपनी के साथ किया 1.46 अरब रुपये का करार****** ने मानवरहित ड्रोन 'स्विच' को हासिल करने के लिए ideaForge Technology नाम की कंपनी के साथ करीब 1.46 अरब रुपये का करार किया है। मुंबई की एक कंपनी ने गुरुवार को बताया कि इस यूएवी के डैने मानवरहित विमान में फिक्स रहते हैं और यह वर्टिकल टेकऑफ व लैंडिंग में सक्षम है। यह विमान ऊंचे अक्षांशों और खराब मौसम में भी दिन-रात निगरानी कर सकता है।बता दें कि इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी बॉम्‍बे () के तीन पूर्व छात्रों और देश के शीर्ष इंजीनियरिंग इंस्‍टीट्यूट द्वारा यह कंपनी बनाई गई है। आइडियाफोर्ज टेक्नोलॉजी नाम की इस कंपनी का गठन वर्ष 2007 में अंकित मेहता, राहुल सिंह और आशीष भट्ट ने बॉम्‍बे आईआईटी की इनक्‍यूबेटर SINE में किया था। आईआईटी बॉम्‍बे ने अपने ऑफिशियल फेसबुक पेज पर लिखा है, 'SINE और अंकित, राहुल और आशीष को हमारी बधाई। ये वाकई प्रशंसनीय है कि इन्‍हें पिछले साल यह एलुमनी अचीवर अवार्ड के लिए चुना गया है।'अपनी बेवसाइट पर कंपनी ने एक बयान में लिखा कि यह भारतीय सेना को ideaForge's स्विच UAV के मानव रहित एरियल व्‍हीकल उपलब्‍ध कराएगी। ऑपरेशनल जरूरत संबंधी सभी मापदंडों को पूरा करने की क्षमता के कारण ideaForge को यह करार दिया गया।कंपनी ने बताया कि स्विच विमान को भारतीय सेना को एक साल में सौंप दिया जाएगा। आइडियाफोर्ज को इस करार को अंजाम देने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। कंपनी के सीईओ अंकित मेहता ने कहा कि उनकी कंपनी ने भारतीय सेना में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने के लिए तैयार किए गए इस मानवरहित विमान में तकनीकी और सटीक प्रदर्शन के लिए अपने संपूर्ण अनुभवों का निचोड़ डाल दिया है। उन्होंने कहा कि स्विच यूएवी ने ट्रायल के दौरान एक दर्जन भारतीय कंपनियों और विदेशी कंपनियों के साथ मुकाबला किया है। यह मानवरहित विमान भारतीय सेना की उम्मीदों और आवश्यकताओं पर खरा उतरा है।

सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयGautam Adani ने बेटे Karan Adani को सौंपी देश की दूसरी सबसे बड़ी सीमेंट कंपनी की कमान******दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्स गौतम अडाणी ने अपने सीमेंट कारोबार की कमान अपने पुत्र करण अडाणी को सौंपी है। अडाणी समूह अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी लि. को खरीद कर अल्ट्राटेक के बाद देश की दूसरी सबसे बड़ी सीमेंट निर्माता कंपनी बन गई है। अडाणी समूह का कारोबार बंदरगाह और ऊर्जा से लेकर हवाईअड्डा तथा दूरसंचार तक फैला है और अब इसमें सीमेंट भी जुड़ गया है।समूह ने शुक्रवार को एक बयान में 6.5 अरब डॉलर में अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी के अधिग्रहण की घोषणा की। सौदे में होल्सिम की अंबुजा और एसीसी में हिस्सेदारी के अधिग्रहण के साथ शेयरधारकों के लिये खुली पेशकश शामिल है। अडाणी द्वारा अधिग्रहण के तुंरत बाद दोनों सीमेंट कंपनियों ने मुख्य कार्यपालक अधिकारियों (सीईओ) और मुख्य वित्त अधिकारियों (सीएफओ) समेत इन कंपनियों के निदेशक मंडल ने इस्तीफे की घोषणा की है।समूह ने अपने संस्थापक चेयरमैन गौतम अडाणी को अंबुजा सीमेंट्स का प्रमुख नामित किया है। उनके पुत्र करण सीमेंट कारोबार की जिम्मेदारी संभालेंगे। फिलहाल वह समूह के बंदरगाह कारोबार को देखेंगे। उन्हें दोनों कंपनियों में बतौर निदेशक और एसीसी लि. में चेयरमैन पद के लिये नामित किया गया है।पैंतीस साल के करण ने अमेरिका के पुड्रर्यू विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में स्नातक की डिग्री हासिल की है। वह फिलहाल अडाणी पोर्ट्स और एसईजेड लिमिटेड की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। दुनिया के तीसरे सबसे अमीर व्यक्ति 60 वर्षीय गौतम अडाणी के दो बेटे करण और जीत हैं। छोटे पुत्र जीत ने पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड एप्लॉयड साइंसेज से स्नातक की डिग्री ली है। वह समूह में वित्त मामलों के उपाध्यक्ष हैं।अडाणी समूह ने दोनों कंपनियों के निदेशक मंडल में स्वतंत्र निदेशकों को भी नामित कर दिया है। इनमें अंबुजा सीमेंट्स बोर्ड में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के पूर्व चेयरमैन रजनीश कुमार और एसीसी बोर्ड में शेल इंडिया के पूर्व प्रमुख नितिन शुक्ला शामिल हैं। समूह ने नीरज अखौरी के स्थान पर अजय कुमार को अंबुजा सीमेंट्स का सीईओ बनाया है। श्रीधर बालकृष्णन एसीसी के सीईओ होंगे।अंबुजा सीमेंट्स के नये निदेशक मंडल ने तरजीही आधार पर वॉरंट आवंटन के जरिये कंपनी को गति देने के लिये 20,000 करोड़ रुपये की पूंजी डाले जाने को मंजूरी दी है। यह अडाणी का सबसे बड़ा अधिग्रहण है। साथ ही यह देश के बुनियादी ढांचा और सामाग्री खंड में अबतक का सबसे बड़ा विलय एवं अधिग्रहण सौदा है। बयान के अनुसार, अडाणी परिवार ने अपने विशेष उद्देश्यीय इकाई एंडेवर ट्रेड एंड इन्वेस्टमेंट लि. के जरिये स्विस कंपनी होल्सिम के साथ सौदा और खुली पेशकश प्रक्रिया पूरी करने के साथ अधिग्रहण पूरा कर लिया है।इस सौदे के पूरा होने के बाद अडाणी की अंबुजा सीमेंट्स में 63.15 प्रतिशत और एसीसी में 56.69 प्रतिशत हिस्सेदारी (अंबुजा सीमेंट्स के जरिये 50.05 प्रतिशत हिस्सेदारी) होगी। अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी लि. का बाजार पूंजीकरण अभी 19 अरब डॉलर है। बयान के अनुसार, ‘‘सौदे के वित्तपोषण के तहत 4.50 अरब डॉलर का कर्ज 14 अंतरराष्ट्रीय बैंकों से लिया गया हैं। इसमें बार्कलेज बैंक और डॉयचे बैंक एजी शामिल हैं।सर्विसटैक्‍सऔरएक्‍साइजड्यूटीबकाएदारोंकेलिएआईमाफीयोजना1सितंबरसे31दिसंबरतककामिलेगासमयAaj Ka Panchang 3 August 2021: जानिए मंगलवार का पंचांग, शुभ मुहूर्त और राहुकाल******आज श्रावण कृष्ण पक्ष की उदया तिथि दशमी और मंगलवार का दिन है। दशमी तिथि आज दोपहर 12 बजकर 59 मिनट तक रहेगी। आज रात 12 बजकर 7 मिनट तक ध्रुव योग रहेगा।साथ ही आज देर रात 1 बजकर 44 मिनट तक रोहिणी नक्षत्र रहेगा। इसके अलावा आज दोपहर 12 बजकर 59 मिनट तक स्वर्ग लोक की भद्रा रहेगी। आज मंगला गौरी व्रत भी है।आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए मंगलवारका पंचांग, शुभ मुहूर्त और राहुकाल।दशमी तिथि -आज दोपहर 12 बजकर 59 मिनट तक : दोपहर बाद 03:49 से शाम 05:30 तक : दोपहर बाद 03:59 से शाम 05:36 तक : दोपहर बाद 03:52 से शाम 05:34 तक : दोपहर बाद 03:32 से शाम 05:13 तक : दोपहर बाद 03:43 से शाम 05:22 तक: दोपहर 02:59 से शाम 04:38 तक : शाम 04:02 से शाम 05:41 तक : दोपहर बाद 03:25 से शाम 05:00 तकसूर्योदय- सुबह 5 बजकर 43 मिनट परसूर्यास्त- शाम 7 बजकर 10 मिनट पर

हाल का ध्यान

लिंक