वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > अनहुई प्रांत > मूलपाठ

Online Gaming यूजर्स के लिए ये है बड़ी खबर, सरकार लाने जा रही है नया नियम

2022-10-01 00:24:31 अनहुई प्रांत

यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियमRussia-Ukraine War: यूक्रेन युद्ध की वजह से पूरी दुनिया झेल रही महंगाई की मार, 7.1 करोड़ लोग गरीबी रेखा के नीचे आए******Highlightsसंयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) ने गुरुवार को एक रिपोर्ट में कहा कि यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद खाद्य पदार्थों और ऊर्जा की कीमतों में भारी वृद्धि के कारण दुनिया भर में 7.1 करोड़ से अधिक लोग गरीबी रेखा के नीचे चले गए हैं। UNDP का अनुमान है कि युद्ध शुरू होने के बाद पहले तीन महीनों में 5.16 करोड़ से अधिक लोग गरीबी रेखा के नीचे आ गए और वे प्रति दिन 1.90 डॉलर या उससे भी कम पैसे में जीवन यापन कर रहे हैं। इसके साथ ही विश्व की कुल जनसंख्या का करीब नौ प्रतिशत हिस्सा गरीबी रेखा के नीचे हो गया। इसके अलावा करीब दो करोड़ लोग रोजाना 3.20 डॉलर से कम पैसे में जीवन यापन कर रहे हैं। कम आमदनी वाले देशों में, परिवार अपनी घरेलू आय का 42 प्रतिशत हिस्सा भोजन पर खर्च करते हैं। लेकिन पश्चिमी देशों द्वारा रूस के खिलाफ प्रतिबंध लगाए जाने से ईंधन और मुख्य खाद्य पदार्थों जैसे गेहूं, चीनी और खाना पकाने के काम आने वाले तेल की कीमतें बढ़ गईं। यूक्रेन के बंदरगाहों के अवरूद्ध हो जाने और कम आय वाले देशों को अनाज निर्यात नहीं कर पाने के कारण कीमतों में और वृद्धि हुई। इससे लाखों लोग जल्दी ही गरीबी रेखा से नीचे चले गए।महामारी से भी तेजी से रूस-यूक्रेन युद्ध की वजह से लोग गरीब हुएयूएनडीपी प्रशासक अचिम स्टीनर ने रिपोर्ट जारी होने के मौके पर कहा कि जीवन यापन के खर्च पर पड़ने वाला प्रभाव काफी गंभीर है और हाल के समय में ऐसी स्थिति नहीं देखी गई। रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण जिस गति से लोग प्रभावित हुए, वह महामारी के चरम के दौर की आर्थिक पीड़ा से भी अधिक गंभीर है। यूएनडीपी ने कहा कि फरवरी के अंत में यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद सिर्फ तीन महीनों में 7.1 करोड़ से अधिक लोगों ने गरीबी को महसूस किया जबकि कोविड महामारी के दौरान करीब 18 महीने के लॉकडाउन के दौरान 12.5 करोड़ लोगों ने इस दर्द को महसूस किया था।यूक्रेन युद्ध की वजह से पैदा हुआ खाद्य संकटसंयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने चेतावनी दी कि 24 फरवरी को शुरू हुआ यूक्रेन में युद्ध ‘‘आपूर्ति श्रृंखला को बाधित कर रहा है और अनाज, उर्वरक और ऊर्जा की कीमतों को और प्रभावित कर रहा है।’’ इसके परिणामस्वरूप 2022 की पहली छमाही में अधिक मूल्य वृद्धि हुई है। साथ ही, उन्होंने कहा, तेजी से होने वाली और भीषण जलवायु से जुड़ी घटनाएं भी आपूर्ति श्रृंखला को बाधित कर रही हैं, खासकर कम आय वाले देशों में। यूक्रेन और रूस मिलकर दुनिया के गेहूं और जौ का लगभग एक तिहाई और सूरजमुखी के तेल का आधा उत्पादन करते थे। वहीं, रूस और उसका सहयोगी बेलारूस दुनिया में पोटाश के नंबर 2 और 3 उत्पादक हैं। पोटाश उर्वरक का एक प्रमुख घटक होता है।

यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियममेजर के टीजर को 2 दिन में मिले 2.2 करोड़ से ज्यादा व्यूज****** अपकमिंग बायोग्राफिकल ड्रामा मेजर का टीजर 12 अप्रैल को हिंदी, तेलुगू और मलयालम में रिलीज होने के दो दिनों के अंदर ही इसे 2.2 करोड़ से अधिक बार देखा जा चुका है। एक प्रोड्यूसर के रूप में तेलुगु सुपरस्टार महेश बाबू की शुरूआत हुई है और उनकी यह फिल्म अदिवी शेष को 26/11 के शहीद संदीप उन्नीकृष्णन के रूप में प्रदर्शित करती है। फिल्म में शोभिता धूलिपाला भी हैं और यह 2 जुलाई को रिलीज होने वाली है।हिंदी, तेलुगु और मलयालम सिनेमा के सुपरस्टार द्वारा तीन भाषाओं में ट्रेलर जारी किया गया था। इसका हिंदी टीजर सलमान खान द्वारा लॉन्च किया गया था, जबकि मलयालम टीजर पृथ्वीराज और तेलुगु ट्रेलर महेश बाबू द्वारा लॉन्च किया गया था।मेजर को हिंदी और तेलुगू में शूट किया गया है और इसे मलयालम में डब किया जाएगा।फिल्म से जुड़े प्रोडक्शन हाउस ए प्लस एस प्रोडक्शंस के शरथ चंद्र ने कहा कि यह संख्या बहुत उत्साहजनक है, लेकिन इससे भी अधिक वह चीज उन्हें खुशी देती है जिस प्रकार से फिल्म के बारे में बातें की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि जब हम वीडियो पर प्रतिक्रिया को देखते हैं तो बहुत अच्छा लगता है।यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियमUP News : यूपी में 15 आईपीएस अधिकारियों के तबादले, जानिए कहां हुई किसकी तैनाती******Highlightsउत्तर प्रदेश शासन ने देर रात 15 आईपीएस अधिकारियों का ट्रांसफर कर दिया। प्रतिनियुक्ति से वापस आए डीआईजी अब्दुल हमीद को एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स का डीआईजी बनाया गया है। एंटी नराकोटिक्स टास्क फोर्स का गठन पहली बार हुआ है।वहीं 11 वीं वाहिनी पीएसी सीतापुर में तैनात सेनानायक अखिलेश कुमार चौरसिया को स्थापना में पुलिस अधीक्षक(एसपी) के पद पर तैनात किया गया है। वहीं बरेली में अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) के पद पर तैनात रविंद्रकुमार को पुलिस कमिश्नरेट कानपुर में डीसीपी के पद पर तैनाती दी गई है।12 प्रशिक्षु आईपीएस अधिकारियों का भी ट्रांसफरइसके अलावा योगी सरकार ने 12 प्रशिक्षु आईपीएस अधिकारियों का भी ट्रांसफर कर दिया है। इन अधिकारियों को बतौर अपर पुलिस अधीक्षक और अपर पुलिस उपायुक्त के पद पर तैनाती दी गई है। अभी तक ये अधिकारी सीओ और एसीपी के पदों पर तैनात थे।लखनऊ में तैनात अनिल कुमार यादव का ट्रांसफर नोएडा कर दिया गया है।गाजियाबाद में सहायक पुलिस अधीक्षक अभिजीत आर शंकर को अपर पुलिस उपायुक्त के पद पर लखनऊ ट्रांसफर किया गया है।मनीष कुमार शांडिल्य को अलीगढ़ से वाराणसी कमिश्नरेट, राहुल भाटी को गोरखपुर से बरेली, अभिषेक भारती को प्रयागराज से गाजीपुर, अंकिता शर्मा को नोएडा से कानपुर नगर पुलिस कमिश्नरेट, संदीप कुमार मीणा को मथुरा से मुरादाबाद, अनिरुद्ध कुमार को अभिसूचना मुख्यालय लखनऊ से फतेहपुर, संतोष कुमार मीणा को वाराणसी से प्रयागराज और लखन सिंह यादव को वाराणसी से पुलिस कमिश्नरेट कानपुर में तैनाती दी गई है।

Online Gaming यूजर्स के लिए ये है बड़ी खबर, सरकार लाने जा रही है नया नियम

यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियमAssam Flood: असम में बाढ़ से बिगड़ते जा रहे हैं हालात, अब तक हो चुकी 62 लोगों की मौत******Highlightsअसम में बाढ़ का कहर दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। साथ ही इसकी स्थिति और भी खतरनाक स्तर पर पहुंच चुकी है। शनिवार को राज्य में बाढ़ की वजह से चार बच्चों समेत 8 लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही राज्य में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 25 तक पहुंच गई है। वहीं बाढ़ और भूस्खलन से इस साल मरने वालों की कुल संख्या 62 हो चुकी है। साथ ही अभी तक 8 लोग लापता हैं।राज्य के 32 जिलों में करीब 30 लाख लोग बाढ़ से बुरी तरह से प्रभावित हैं। असम की मुख्य नदी ब्रह्मपुत्र और उसकी सहायक नदियों से 4000 से भी ज्यादा गांवों में बाढ़ का पानी घुस चुका है, जिससे लगभग 66455 हेक्टेयर से भी ज्यादा फसल पानी में डूब कर बर्बाद हो चुकी है।लोग घर छोड़ने को नहींहैंतैयारगांवों में बाढ़ आने के बाद भी लोग अपना घर छोड़ने को तैयार नहीं हो रहे हैं। बारपेटा के जिला प्रशासन के एक अधिकारी के अनुसार, "लोग अपना घर छोड़ने को राजी नहीं हो रहे हैं। प्रशासन जब उनसे घर छोड़ने को बोलता है तो वह यह कहकर अपना घर नहीं छोड़ते हैं कि उनके घरों में कीमती सामान रखा हुआ है।"हालांकि प्रशासन ने बाढ़ से बचाव के लिए कई जगह राहत शिविर स्थापित किएहैं, जिनमे लाखों लोग रह रहे हैं। अधिकारी ने बताया कि बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए खाने-पीने और अन्य जरुरी सामान की व्यवस्था कर ली गई है लेकिन अभी स्तिथि और भी बिगड़ सकती है। उन्होंने बताया कि भूटान में जलस्तर बढ़ रहा है, जिससे यहां भी हालात और ज्यादा बिगड़ सकते हैं। एक खबर के अनुसार अभी तक राज्य के 21 जिलों में 514 राहत शिविर लगाये गए हैं। जिनमें लगभग 1.56 लाख लोगों ने शरण ली है।यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियमCongress Crisis: 'हमारा CM बदला तो कांग्रेस उठाएगी नुकसान', गहलोत गुट की आलाकमान को खुली चुनौती******Highlightsराजस्थान में चल रहे सियासी उठापटक ने दिखा दिया है कि संगठनात्मक रूप से कांग्रेस कितनी कमजोर पार्टी है, क्योंकि यहां आलाकमान क्या कहता है, क्या आदेश देता है उससे किसी को फर्क नहीं पड़ता। अब तो स्थिति ये हो गई है कि पार्टी के विधायकों और मंत्रियों ने भी कांग्रेस आलाकमान को आंख दिखाना शुरू कर दिया है। दरअसल, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के वफादार विधायकों की लिस्ट में शामिल शहरी विकास मंत्री शांति धारीवाल के घर हुई बैठक का रविवार देर रात एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें धारीवाल यह कहते हुए दिखाई दे रहे हैं कि अगर अशोक गहलोत को बदला गया, तो कांग्रेस को नुकसान होगा। उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि किसी भी तरह अशोक गहलोत मुख्यमंत्री बने रहें।धारीवाल ने कहा कि आलाकमान में बैठा हुआ कोई आदमी यह बता दे कि अशोक गहलोत के पास कौन से दो पद हैं, जो उनसे इस्तीफा मांग रहे हैं। उन्होंने कहा कि अभी उनके पास केवल मुख्यमंत्री का पद है और जब दूसरा पद मिलगा तब कोई बात उठेगी। धारीवाल वीडियो में यह कहते हुए दिखाई दिये कि आज क्या बात उठ गई, आज आप इस्तीफा मांगने के लिये तैयार हो रहे हो। जिस षड्यंत्र से पंजाब खोया राजस्थान भी खोने जा रहे हैं।'' उन्होंने कहा कि अपन लोग संभल जायें तो राजस्थान बचेगा, वरना राजस्थान भी हाथ से जायेगा। धारीवाल वीडियो में यह भी कहते दिखे कि विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने पहले दिन ही मना कर दिया था कि उनका कोई लेना देना नहीं है इस पद से।मैं जहां पर हूं वहां प्रसन्न हूं। ना तो वो उम्मीदवार थे और ना उनको उम्मीदवार बनाया गया। लेकिन जानबूझकर एक मीडिया में खबर छपवाकर यह विवाद उत्पन्न किया गया। वीडियो में धारीवाल यह कहते भी दिखाई दिये कि जैसलमेर-जयपुर में कांग्रेस सरकार गिराने की भाजपा की कोशिश को विफल करने के लिए एकसाथ डेरा डालने वाले 102 विधायकों में से किसी को भी मुख्यमंत्री बनाया जाए, तो कोई आपत्ति नहीं है।यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियमAmritsar news: निहंगों ने एक नशेड़ी युवक की हत्या की, झगड़े के दौरान हाथापाई में उतर गई पगड़ी, गुस्से में तलवार से काटा******Highlightsपंजाब के अमृतसर में बीती रात एक नशेड़ी युवक से दो निहंगों का झगड़ा हो गया। युवक गोल्डन टेंपल की तरफ जाने वाले रास्ते में शराब पी कर खड़ा था इसी दौरान उधर से दो निहंग सिख गुजरे। नशेड़ी युवक ने निहंगों के सामने नशीला पदार्थ अपने मुंह में डालने लगा। निहंगों ने युवक को नशे करने से रोका लेकिन युवक का निहंगों से झगड़ा हो गया। झगड़े में हाथापाई के दौरान एक निहंग की पगड़ी उतर गई। इस बात पर गुस्साए निहंगों के साथ एक अन्य सिख युवक ने मिलकर नशेड़ी युवक पर तलवार से हमला कर दिया। जिससे बुरी तरह से घायल युवक की मौत हो गई। निहंगों के साथ युवक पर हमला करने वाले तीसरे सिख युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। निहंग सिखों की पहचान चरणजीत सिंह और तरुणदीप सिंह के तौर पर हुई है। घटना में मौके पर मौजूद लोग चुपचाप खड़े होकर तमाशा देखते रहे और निहंग सरेराह युवक को मारते रहे और बाद में उसे तलवार से काट दिया। युवक की मौके पर ही मौत हो गई लेकिन किसी ने भी उन्हें रोकने की जहमत नहीं उठाई।नशा करने से रोकने पर शुरु हुआ विवादघटना गोल्डन टेंपल के पास बाजार कइयां वाला की है। तरनतारन रोड चाटीविंड निवासी हरमनजीत सिंह (35) अपने घर गोल्डन टेंपल की तरफ से वापस जा रहा था। युवक ने शराब पी रखी थी। रास्ते में वह एक होटल के पास रूककर फिर से नशीला पदार्थ खाने लगा। तभी गो निहंग सिख उसी रास्ते से गुजरे। उन्होंने नशेड़ी युवक हरमनजीत सिंह को नशे करने से रोका। नशे में धुत युवक नहीं माना और उनसे झगड़ा करने लगा। इसी दौरान दोनों निहंगों और एक अन्य सिख युवक ने हरमनजीत से मारपीट करने लगे। इस हाथापाई में एक निहंग की पगड़ी उतर गई। जिसके बाद गुस्से में आकर निहंगों ने तेजधार हथियारों से हमला कर दिया। जब युवक भागने लगा तो किरच के साथ उसके सीने पर वार कर दिया।युवक की मौके पर मौत, घटना CCTV में कैदनिहंग सिखों ने युवक को हथियार से इस कदर काटा कि हरमनजीत की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद तीनों आरोपी वहां से भाग निकलेष जब तक पुलिस वहां पहुंची तब तक हरमनजीत की मौत हो गई थी। हरमनजीत पर हमले की पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो चुकी है। स्थानीय पुलिस का कहना कि उन्होंने सीसीटीवी फुटेज को कब्जे में ले लिया है। निहंगों की पहचान की जा रही है। जल्द ही आरोपियों को पकड़ लिया जाएगा।मामले में एक आरोपी की हुई गिरफ्तारीपुलिस आयुक्त अरुण पाल सिंह ने मीडिया को बताया कि निहंगों का कहना है कि वह व्यक्ति नशे की हालत गली में घूम रहा था और उसने इस पवित्र जगह पर तंबाकू चबाने का अपराध किया, इसलिए उन्हें गुस्सा आया। गरमागरम बहस के बाद उन्होंने उस व्यक्ति पर हथियार से हमला किया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया और बाद में उसकी मौत हो गई। आयुक्त ने कहा कि आरोपियों की पहचान कर ली गई है और उनमें से एक को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी संदिग्धों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।आयुक्त ने कहा, "यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि राहगीर मूकदर्शक बने रहे और किसी ने हस्तक्षेप नहीं किया। युवक घायल हालत में पूरी रात सड़क पर पड़ा रहा, लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की और न ही पुलिस को फोन किया।" पीड़ित परिवार ने कहा कि शाम के समय किसी का फोन आने के बाद वह घर से निकला था, मगर लौटा नहीं।

Online Gaming यूजर्स के लिए ये है बड़ी खबर, सरकार लाने जा रही है नया नियम

यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियमप्रॉपर्टी बाजार में रिकवरी के संकेत, पहली छमाही में घरों की बिक्री में बढ़त******घरों की बिक्री में बढ़त दर्जनई दिल्ली। केन्द्र और विभिन्न राज्य सरकारों के नीतिगत समर्थन तथा आवास कर्ज पर ब्याज दर में कमी का समर्थन पाकर देश के सात प्रमुख शहरों में मकानों की बिक्री वर्ष 2021 की पहली छमाई में सालाना आधार पर 75 प्रतिशत बढी है। रियल एस्टेट क्षेत्र की प्रमुख सलाहकार कंपनी की एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। सीबीआरई साउथ एशिया प्राइवेट लि.की भारत में आवासीय रियल एस्टेट क्षेत्र पर तैयार इस रिपोर्ट के अनुसार मकानों की बिक्री में वृद्धि का यह रुझान आने वाली कुछ और तिमाहियों में भी जारी रहने की उम्मीद है। रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2021 की पहली छमाही (जनवरी से जून 2021) के दौरान सात प्रमुख शहरों में आवासीय फ्लैट की कुल बिक्री में पुणे 26 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ सबसे आगे रहा है। मुंबई की इसमें 19 प्रतिशत हिस्सेदारी रही, वही हैदराबाद की 18 प्रतिशत और दिल्ली-एनसीआर का कुल बिक्री में 17 प्रतिशत तक हिस्सा रहा।सीबीआरई भारत और दक्षिण-पूर्व एशिया के चेयरमैन अंशुमान मैगज़ीन ने कहा, ‘‘आवासीय श्रेणी ने भारत में अचल संपत्ति क्षेत्र के विकास में प्रमुख भूमिका निभाई है। आवासीय श्रेणी में रिकवरी के लिए केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा की गई नीतिगत पहल इस मामले में महत्वपूर्ण और सराहनीय रही है।’’ रिपोर्ट के मुताबिक कर्नाटक, तेलंगाना, महाराष्टू और तमिलनाडु ने आवास क्षेत्र में बिक्री को प्रोत्साहन देने के लिये स्टांप शुल्क में कटौती और संपत्ति कर में छूट देने जैसे कदम उठाये। केन्द्र सरकार के स्तर पर भी कई कदम उठाये गये साथ ही आवास कर्ज पर ब्याज दर कम होने से भी आवासीय बिक्री को प्रोत्साहन मिला है। आवासीय परियोजनाओं के डेवलपर ने भी खरीदारों को आकर्षित करने के लिये कई तरह के प्रोत्साहन उपलब्ध कराये। इन तमाम उपायों से आवासीय क्षेत्र में वर्ष 2020 की चौथी तिमाही से ही बेहतर संकेतक मिलने लगे थे। इस दौरान तिमाही दर तिमाही आधार पर आवासीय बिक्री में 73 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। वृद्धि का यह क्रम 2021की पहली छमाही में भी जारी रहा और आवासीय बिक्री में साल दर साल आधार पर 75 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई।यह भी पढ़ें: यह भी पढ़ें:यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियमBihar Politics: बिहार में फिर होगा बड़ा उलटफेर? PK ने CM नीतीश के वादे का सरेआम यूं उड़ाया मजाक******Highlightsचुनावी रणनीतिकार के तौर पर ख्‍यात (PK) ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के 20 लाख लोगों को नौकरी देने के मामले पर जोरदार निशाना साधा है। प्रशांत किशोर ने कहा कि अगर ये सरकार 1-2 साल में अगर 5-10 लाख नौकरियां दे देती है, तो मैं इनके समर्थन में अपना अभियान वापस ले लूंगा। उन्होंने कहा कि उन्हें नेता मान लूंगा। अपने जन सुराज अभियान के तहत समस्तीपुर पहुंचे प्रशांत किशोर ने बुधवार को महागठबंधन सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जो नियोजित शिक्षक स्कूलों में पढ़ा रहे हैं, उन्हें तो समय पर सरकार वेतन दे नहीं पा रही और नई नौकरियां कहां से दे पाएगी।प्रशांत किशोर ने दावा करते हुए कहा कि आने वाले समय में राजनीतिक उठापटक अभी और होगी। प्रशांत किशोर ने कहा, अभी हमको आए हुए 3 महीने ही हुए और बिहार की राजनीति 180 डिग्री घूम गई। अगला विधानसभा चुनाव आते-आते अभी कई बार बिहार की राजनीति घूमेगी। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि 'फेवीकॉल' लगाकर अपनी कुर्सी पर बैठ गए हैं और बाकी की पार्टियां कभी इधर तो कभी उधर होती रहती हैं।प्रशांत किशोर ने कहा कि जनता ने इस सरकार को वोट नहीं दिया था। ये सरकार जुगाड़ पर चल रही है, इसे जनता का विश्वास प्राप्त नहीं है। उन्होंने 2005 से 2010 के बीच एनडीए सरकार के काम की प्रशंसा भी की।इससे पहले हाल ही में नीतीश कुमार के पाला बदलने पर प्रशांत किशोर ने अहम बयान दिया था। प्रशांत किशोर ने कहा था कि नीतीश कुमार ने 10 सालों में यह छठा प्रयोग किया है। उन्होंने कहा कि इससे उनकी राजनीतिक स्थिति पर भी असर होगा,उन्होंने कहा कि यह संभावनाओं की भी बात है ऐसा नहीं है कि उनका नुकसान नहीं हुआ है, 115 विधायकों वाली पार्टी अब 43 पर आ गई है।

Online Gaming यूजर्स के लिए ये है बड़ी खबर, सरकार लाने जा रही है नया नियम

यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियमDharmendra Hospitalised: बॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता धमेंद्र की तबीयत बिगड़ी, खुद वीडियो पोस्ट करके दिया अपडेट******Highlightsबॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता धमेंद्र की तबीयत बिगड़ने की खबर सामने आई है। जिसके बाद उन्हें मुंबई स्थित एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती भी कराया गया। हालांकि अब उनकी हालत में सुधार है और वह घर वापस आ गए हैं।धमेंद्र (Dharmendra)ने अपने ट्विटर अकाउंट पर अपनी हेल्थ अपडेट से जुड़ा एक वीडियो भी शेयर किया है। इसमें उन्होंने बताया कि बैक पेन होने की वजह से उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया था, लेकिन अब वह बिल्कुल सही हैं और घर वापस आ गए हैं।हेल्थ ठीक होने के बाद धमेंद्र ने अपने फैंस का शुक्रिया भी अदा किया और कहा कि किसी भी चीज को जरूरत से ज्यादा नहीं करना चाहिए। मैंने ऐसा किया, इसलिए मुझे हॉस्पिटल की सैर करनी पड़ी और 3-4 दिन मैं काफी परेशान रहा। हालांकि आप सभी की दुआ से मैं वापस आ गया हूं। अब मैं पहले से ज्यादा केयरफुल हो गया हूं।गौरतलब है कि 86 साल के हैं और स्क्रीन से लंबे समय से दूर होने के बावजूद एक बार फिर पर्दे पर वापसी कर रहे हैं। वह करण जौहर की रॉकी और रानी की प्रेम कहानी में दिखेंगे। इस फिल्म में आलिया भट्ट, रणवीर सिंह, जया बच्चन और शबाना आजमी हैं।

यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियमभारत का विदेशी मुद्रा भंडार फि‍र पहुंचा रिकॉर्ड ऊंचाई पर, 389.059 अरब डॉलर हुआ****** भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 14 जुलाई को समाप्त सप्ताह में 2.681 अरब डॉलर बढ़कर 389.059 अरब डॉलर की नई रिकॉर्ड ऊंचाई को छू गया,जो 25,077.6 अरब रुपए के बराबर है। इससे पूर्व के सप्ताह में देश का विदेशी मुद्रा भंडार 16.19 करोड़ डॉलर की मामूली गिरावट के साथ 386.377 अरब डॉलर रह गया था।भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की ओर से शुक्रवार को जारी साप्ताहिक आंकड़े के अनुसार, विदेशी पूंजी भंडार का सबसे बड़ा घटक विदेशी मुद्रा आस्तियां (एफसीए) आलोच्य सप्ताह में 2.677 अबर डॉलर बढ़कर 364.90 अरब डॉलर हो गईं, जो 23,515.2 अरब रुपए के बराबर है। बैंक के मुताबिक, विदेशी मुद्रा भंडार को डॉलर में व्यक्त किया जाता है और इस पर भंडार में मौजूद पौंड, स्‍टर्लिंग, येन जैसी अंतरराष्‍ट्रीय मुद्राओं के मूल्यों में होने वाले उतार-चढ़ाव का सीधा असर पड़ता है।आलोच्य अवधि में देश का स्वर्ण भंडार 20.34 अरब डॉलर पर अपरिवर्तित रहा, जो 1,317.3 अरब रुपए के बराबर है। इस दौरान अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में विशेष निकासी अधिकार 18 लाख डॉलर बढ़कर 1.479 अरब डॉलर हो गया, जो 95.4 अरब रुपए के बराबर है।वहीं दूसरी ओर आईएमएफ में देश का मुद्रा भंडार भी 27 लाख डॉलर बढ़कर 2.322 अरब डॉलर हो गया, जो 149.7 अरब रुपए के बराबर है।यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियमक्वॉड रियर कैमरा के साथ लॉन्‍च हुआ Realme 7 5G, जानिए कितनी है कीमत और क्‍या हैं फीचर्स******Realme 7 5G With Quad Rear Cameras Launched चीनी स्मार्टफोन निर्माण कंपनी रियलमी ने यूरोपियन मार्केट में Realme 7 5G को लॉन्च करने के साथ अपने 7 सीरीज का विस्तार किया है। जीएसएमएरीना की रिपोर्ट के मुताबिक, फोन के 6जीबी रैम और 128 जीबी स्टोरेज वेरिएंट की कीमत 27,400 रुपये रखी गई है। हालांकि 27 से 30 नवबंर के बीच ब्लैक फ्राइडे ऑफर के तहत इसे 22,500 रुपये में खरीद पाएंगे। ने ब्लैक फ्राइडे सेल के तहत अमेजन के साथ करार किया है और फोन को इसके अपने आधिकारिक वेबसाइट पर भी उपलब्ध कराया जाएगा। फोन में 6.5 इंच का फुल एचडी प्लस डिस्प्ले दिया गया है, जिसका पिक्सल रेजॉल्यूशन 1080 गुना 2400 होगा। डिस्प्ले को सुरक्षा प्रदान करने के लिए ऊपर से कॉर्निग गोरिल्ला ग्लास की एक परत भी होगी। डिस्प्ले का रिफ्रेश रेट 120 हर्टज होगा।अब अगर फोन के कैमरे की बात करें, तो यह अल्ट्रा-वाइड एंगेल लेंस के साथ 8एमपी सेकेंड्री कैमरे के साथ आएगा, जिसका फील्ड ऑफ व्यू 119 डिग्री होगा और इसके साथ ही इसमें एफ/2.4 लेंस अपर्चर साइज के साथ एक मैक्रो शूटर और एक मोनोक्रॉम सेंसर का भी सपोर्ट मिलेगा। फोन में सेल्फी के लिए सामने की ओर 16 एमपी का एक कैमरा सपोर्ट दिया गया है।रियलमी 7 5जी मीडियाटेक डायमेंसिटी 800यू एसओसी द्वारा संचालित होगा, जिसमें 6जीबी रैम और 128जीबी की सुविधा दी गई है, जिसे माइक्रोएसडी कार्ड के साथ 256जीबी तक बढ़ाया जा सकेगा।बैटरी की बात करें, तो फोन में 5,000एमएएच की बैटरी दी गई है, जिसे 30 वार्ट डार्ट चार्ज फार्स्ट चार्जिग टेक्न ोलॉजी का सपोर्ट मिलेगा। इसे 65 मिनट में जीरो से 100 फीसदी तक चार्ज किया जा सकेगा। फोन में इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर का भी सपोर्ट मिलेगा।

यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियमखुशखबरी! जनमाष्टमी पर सोने के दाम में बड़ी गिरावट, सस्ता हो गया गोल्ड******खुशखबरी! जनमाष्टमी पर सोने के दाम में बड़ी गिरावट, सस्ता हो गया गोल्डनई दिल्ली: जनमाष्टमी पर सोने के दाम में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। गिरावट के बाद 10 ग्राम गोल्ड के नए दाम भी जारी कर दिए गए है। अगर आप सोना खरीदना चाहते है तो हम आपको नए रेट की जानकारी इस खबरमें देने जा रहे है। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के अनुसार वैश्विक स्तर पर कीमती धातु की कीमतों में गिरावट और रुपये की मजबूती के बीच राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को सोना 199 रुपये की गिरावट के साथ 46,389 रुपयेप्रति 10 ग्राम रह गया। पिछले कारोबार में सोना 46,588 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था।चांदी भी 250 रुपये की गिरावट के साथ 62,063 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई, जो पिछले कारोबार में 62,313 रुपये प्रति किलोग्राम थी।घरेलू इक्विटी में सकारात्मक रुख को देखते हुए सोमवार को शुरुआती कारोबार मेंभारतीय रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 31 पैसे बढ़कर 73.38 पर पहुंच गया। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना 1,814 डॉलर प्रति औंस पर और चांदी 23.99 डॉलर प्रति औंस पर सपाट कारोबार कर रही थी।कम मांग के बीच सटोरियों ने अपने सौदों के आकार को कम किया जिससे वायदा कारोबार में सोमवार को सोना 262 रुपये की गिरावट के साथ 47,276 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में अक्टूबरडिलीवरी के लिए सोने का अनुबंध 262 रुपये या 0.55 प्रतिशत की गिरावट के साथ 47,276 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार कर रहा था, जिसमें 11,290 लॉट का कारोबार हुआ। विश्लेषकों ने सोने की कीमतों में गिरावटका श्रेय प्रतिभागियों द्वारा अपने सौदों की कटान को दिया। वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में सोना 0.09 प्रतिशत की गिरावट के साथ 1,817.80 डॉलर प्रति औंस रह गया।सोमवार को चांदी की वायदा कीमत 337 रुपये की गिरावट के साथ 63,726 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई, क्योंकि प्रतिभागियों ने कम मांग पर अपना दांव कम किया। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में चांदी का सितंबरडिलीवरी का अनुबंध 337 रुपये या 0.53 प्रतिशत की गिरावट के साथ 63,726 रुपये प्रति किलोग्राम हो गया, जिसमें 9,343 लॉट के लिए कारोबार हुआ। न्यूयॉर्क में सोना 0.19 फीसदी की गिरावट के साथ 24.07 डॉलरप्रति औंस पर कारोबार कर रहा था।यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियम8 लाख सरकारी नौकरियों की भर्ती, वह भी बिना किसी परीक्षा के? क्या है सच्चाई****** राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) ने 8 लाख से भी अधिक पदों के लिए बिना किसी परीक्षा के सीधी भर्ती निकाली है। यू-ट्यूब के एक वीडियो में ऐसा दावा किया जा रहा है। वीडियो के साथ कैप्शन में 8 लाख वैकेंसी ग्रुप बी और सी में बिना किसी परीक्षा के डायरेक्ट भर्ती और 2021 का सबसे बड़ा मौका लिखा हुआ है। अगर आप भी इस वीडियो को देखकर आवेदन करने की सोच रहे हैं तो पहले ये खबर पढ़ लीजिए।दरअसल, यू-ट्यूब के एक वीडियो में दावा किया जा रहा है कि राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी ने 8 लाख से भी अधिक पदों हेतु बिना किसी परीक्षा के सीधी निकाली है। सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो की सच्चाई को सरकार के लिए तथ्यों की जांच करने वाली प्रेस इनफॉरमेशन ब्यूरो (पीआईबी) फैक्ट चेक टीम ने इस दावे की सच्चाई का पता गया है।कोरोना काल में देशभर में नौकरियों को लेकर रोजाना कोई न कोई मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल होता रहता है। ऐसे में कहीं आप भी फेक खबरों से ठगी का शिकार न हो जाएं इसके लिए सावधानी बरतने की आवश्यकता है। भारत सरकार की प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) की फैक्ट चेक टीम ने यूट्यूब वीडियो को लेकर कहा है कि यह दावा फर्जी है और राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी ने अभी तक किसी भी सरकारी पद हेतु भर्ती विज्ञापन जारी नहीं किया है।पीआईबी की टीम हमेशा सोशल मीडिया पर वायरल दावों और अफवाहों की पड़ताल करती रहती है। अगर आपको भी कोई ऐसा मैसेज मिलता है तो फिर उसको पीआईबी के पास फैक्ट चेक के लिए अथवा व्हाट्सऐप नंबर +918799711259 या ईमेलः पर भेज सकते हैं। यह जानकारी पीआईबी की वेबसाइट पर भी उपलब्ध है।

यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियमIND vs WI 2nd ODI Weather Forecast: दूसरे वनडे में वेस्टइंडीज के साथ मौसम से भी होगी जंग, भारत की रणनीति में बदलाव जरूरी******Highlightsभारत और वेस्टइंडीज के बीच सीरीज का दूसरा वनडे मैच भी पोर्ट ऑफ स्पेन में खेला जाएगा। कप्तान शिखर धवन की अगुवाई में भारतीय टीम के युवा खिलाड़ियों ने पहले मैच में बेहतरीन प्रदर्शन किया और सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली। भारत ने इस मैच को आखिरी ओवर के रोमांच के बीच तीन रनों से जीता। पहले मैच के दौरान पोर्ट ऑफ स्पेन का मौसम साफ बना रहा जिससे मुकाबला बिना किसी बाधा के खत्म हुआ और दर्शकों को एंटरटेनमेंट का पूरा डोज भी मिला। अब बारी तीन वनडे की सीरीज के दूसरे मुकाबले की है। ये मैच रविवार को खेला जाएगा, जो भारतीय समय के अनुसार शाम 7.00 बजे शुरू होगा। क्या इस मैच में भी दोनों टीमों को मौसम की मेहरबानी इसी तरह से मिल पाएगी? आइये जानते हैं कि दूसरे वनडे के दौरान कैसा रहेगा क्वींस पार्क ओवल का मौसम।वनडे सीरीज के शुरू होने के दो दिन पहले से पोर्ट ऑफ स्पेन में रुक-रुककर बरसात हो रही थी। बारिश के कारण टीम इंडिया को वनडे सीरीज के शुरू होने से पहले अपना प्रैक्टिस सेशन फील्ड पर लगे नेट्स से हटाकर इनडोर स्टेडियम में शिफ्ट करना पड़ा था। हालांकि मौसम ने पहले मैच के दौरान दोनों टीमों और क्रिकेट के फैंस पर मेहरबानी की और मुकाबला बिना किसी दिक्कत के खत्म हुआ। लेकिन दूसरे मैच के दौरान, रविवार को पोर्ट ऑफ स्पेन में बारिश की अच्छी संभावना जताई गई है। मौसम पूर्वानुमान के मुताबिक पोर्ट ऑफ स्पेन में रविवार सुबह बारिश हो सकती है। ये बारिश एक घंटे तक चल सकती है। रविवार को बरसात की 62 फीसदी संभावना है। दोपहर में बादल और सूरज की लुका-छिपी देखने को मिल सकती है और कुछ छींटे भी पड़ सकते हैं। मैच के दिन पोर्ट ऑफ स्पेन का तापमान 35 डिग्री रहेगा। लब्बोलुबाब ये कि सीरीज के दूसरे मुकाबले में बारिश के कारण रुकावट आ सकती है।आसमान में बादल छाए रहने का सबसे ज्यादा फायदा टीम के तेज गेंदबाजों को होगा। पहले मैच में भी आसमान में बादल छाए रहने के कारण तेज गेंदबाजों को स्विंग मिली थी। ऐसे में, मोहम्मद सिराज, शार्दुल ठाकुर और प्रसिद्ध कृष्णा संभावित कंडिशन को ध्यान में रखकर कैरेबियाई बल्लेबाजों को परेशान करने की रणनीति बना सकते हैं।सीरीज के पहले वनडे की जीत के बाद भारतीय टीम ने पोर्ट ऑफ स्पेन में 2011 से अब तक आठ वनडे मुकाबले खेलें हैं जिसमें से सात में उसे जीत मिली है जबकि एक मैच बेनतीजा खत्म हुआ।यूजर्सकेलिएयेहैबड़ीखबरसरकारलानेजारहीहैनयानियमहवा की उल्टी दिशा के चलते 1998 में हुई थी पोररण परमाणु परीक्षण में 6 घंटे की देरी****** रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन ( डीआरडीओ ) के एक वरिष्ठ वैज्ञानिक ने कहा कि हवा की प्रतिकूल दिशा के कारण 11 मई 1998 को किए गए परमाणु परीक्षण में छह घंटे से ज्यादा की देरी हुई थी। परीक्षण में कुछ घंटों की देरी करने का फैसला हवा के विकिरण को रिहाइशी इलाकों या पाकिस्तान की ओर ले जाने की आशंका को ध्यान में रखते हुए लिया गया था। परीक्षण टीम का हिस्सा रहे मंजीत सिंह ने कल यहां डीआरडीओ के एक कार्यक्रम में कहा , ‘‘ वास्तविक योजना सभी तीन उपकरणों का सुबह नौ बजे परीक्षण करने की थी लेकिन हवा की प्रतिकूल दिशा के कारण पूरे कार्यक्रम में देरी हुई। ’’ उन्होंने बताया , ‘‘ और अंतरराष्ट्रीय समझौतों के प्रोटोकॉल के मुताबिक हवा की दिशा अन्य देशों या रिहाइशी इलाकों की ओर नहीं होनी चाहिए। ऐसे में हवा की दिशा बदल जाए , इसके लिए हमने करीब छह घंटे तक इंतजार किया। ’’ वैज्ञानिक ने कहा कि परीक्षण टीम नियंत्रण कक्ष में इंतजार करना नहीं चाहती थी क्योंकि उसे डर था कि विस्फोट से पैदा होने वाले झटकों के कारण वह ढह जाएगा। पोकरण परीक्षण के बाद भारत ने परमाणु शक्ति बनने की घोषणा कर दी थी।सिंह ने दिसंबर , 1984 में डीआरडीओ के टर्मिनल बैलिस्टिक रिसर्च लैबोरेट्री ( टीबीआरएल ) में कनिष्ठ वैज्ञानिक का पद संभाला था। उन्हें 1998 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने उन्हें पुरस्कार दिया था। सिंह ने 29 जुलाई , 2011 को टीबीआरएल के निदेशक का पद संभाला था।

हाल का ध्यान

लिंक