वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > जिंगमेन > मूलपाठ

UP News: लखनऊ में कुत्‍ते के मालिक को हिरासत में लिया गया, पड़ोसी के प्राइवेट पार्ट पर किया था हमला

2022-10-01 00:00:19 जिंगमेन

लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलाAudi ने लॉन्‍च किया Q3 का पेट्रोल वर्जन, दिल्‍ली में एक्‍स-शोरूम कीमत होगी 32.20 लाख रुपए******जर्मन लग्‍जरी कार विनिर्माता Audi ने अपनी लोकप्रिय एसयूवी Q3 का पेट्रोल वर्जन लॉन्‍च किया है। इसकी दिल्‍ली में एक्‍स-शोरूम कीमत 32.20 लाख रुपए होगी। भारत में यह ऑडी का इस साल का चौथा लॉन्‍च है, इससे पहले कंपनी ने यहां A4 डीजल, A3 कैब्रियोलेट का अपडेटेड वर्जन और नई Q3 एसयूवी (डीजल) को लॉन्‍च किया था।नई ऑडी क्‍यू3 में 1.4 टीएफएसआई फ्रंट व्‍हील ड्राइव इंजन लगाया गया है जो अधिकतम 150 हॉर्स पावर की शक्ति देता है। इसमें 6 स्‍पीड एस ट्रोनिक ट्रांसमिशन दिया गया है, जो 250 एनएम का टॉर्क पैदा करता है। 8.9 सेकेंड में इस कार की स्‍पीड 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटा पर पहुंच सकती है। कंपनी का दावा है कि इस कार का माइलेज 16.9 किलोमीटर प्रति लीटर होगा।क्यू3 में एलईडी हैडलाइट्स के साथ एलईडी डे-टाइम रनिंग लाइट, 17 इंच के अलॉय व्हील और पैनारोमिक सनरूफ दी गई है। केबिन में लैदर सीट अपहोल्स्ट्री, एलईडी इंटीरियर लाइटिंग, ड्यूल-जोन ऑटोमैटिक क्लाइमेट कंट्रोल एसी, हिल स्टार्ट, हिल डिसेंट असिस्ट, कलर्ड ड्राइवर इंफॉर्मेशन डिस्प्ले, वॉइस रिकग्निशन, क्रूज कंट्रोल और छह एयरबैग दिए गए हैं।क्यू3 रेंज में आया यह वर्जन सबसे अफोर्डेबल है, क्यू3 के दूसरे वेरिएंट 2.0 टीडीआई फ्रंट व्हील ड्राइव की कीमत 34.2 लाख रुपए और 2.0 टीडीआई क्वाट्रो की कीमत 37.2 लाख रुपए है। भारत में ऑडी की अगली नई पेशकश अपडेट ए3 सेडान होगी, जिसे 6 अप्रैल को लॉन्च किया जाएगा।

लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलासोने की कीमतों में 25 रुपए की मामूली तेजी, चांदी हुई 200 रुपए महंगी****** मजबूत विदेशी संकेत और घरेलू ज्वैलर्स की छिट-पुट खरीदारी के कारण सोने की कीमतों में लगातार दूसरे दिन तेजी दर्ज की गई। शनिवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना25 रुपए चढ़कर 28,575 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ है। वहीं चांदी 200रुपए की रिकवरी के साथ 38,600रुपए प्रति किलो पर कारोबार करती नजर आई। यह भी पढ़े:विदेशी बाजारों में तेजी और घरेलू ज्वैलर्स की ओर लौटी खरीदारी के चलते सोने की कीमतों में रिकवरी देखने को मिली है।सिंगापुर में सोना 0.24फीसदी की तेजी के साथ 1,227.70डॉलर प्रति औंस पर बंद हुआ। वहीं, चांदी 0.83फीसदी चढ़कर 16.44डॉलर प्रति औंस के स्तर पर पहुंच गई।दिल्ली में 99.9 और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने की कीमतों में 25रुपए की रिकवरी दर्ज की गई। तेजी के बाद सोने का भाव क्रमश: 28,575और 28,425रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुए। इससे पहले शुक्रवार को सोने का भाव 150 रुपए बढ़कर 28,550 रुपए प्रति 10 ग्राम था। हालांकि, गिन्नी बिना किसी बदलाव के 24,300 रुपए प्रति 8 ग्राम पर बंद हुई।चांदी तैयार की कीमत 200रुपए की उछाल के साथ 38,600रुपए प्रति किग्रा पर बंद हुई। वहीं चांदी साप्ताहिक डिलीवरी के भाव 125रुपए टूटकर 38,155रुपए प्रति किलो रह गए। चांदी के सिक्के बिना किसी बदलाव के लिवाल 69,000 रुपए और बिकवाल 70,000 रुपए प्रति सैंकड़ा पर बंद हुए।लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलाअब चीन में भी नहीं बिक रहे चाइनीज स्मार्टफोन, जानिए Huawei और Vivo छोड़ किस मोबाइल पर फ़िदा चीनी ग्राहक******Highlightsभारत ही नहीं दुनिया भर के बाजार चाइनीज प्रोडक्ट से पटे पड़े हैं। वहीं स्मार्टफोन के मामले में तो अब दुनिया में एक मात्र विकल्प ही शाओमी, हुवावे, वीवो, ओप्पो और वनप्लस जैसी कंपनियों के मोबाइल हैं। जब दुनिया में चीनी फोन का बोलबाला है, तो चीन के बाजार पर इनका कब्जा होना लाजमी है। लेकिन इतिहास में पहली बार चीन में चाइनीज स्मार्टफोन की बिक्री घट गई है और लगभग आधे चाइनीज ग्राहक Apple के iPhone खरीद रहे हैं।वैश्विक उद्योग विश्लेषण फर्म काउंटरपॉइंट रिसर्च की एक रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी तकनीकी दिग्गज ने चीनी ब्रांडों, विशेष रूप से हुवावे को पीछे छोड़ दिया है। कंपनी के iphone13 ने 400 डॉलर (लगभग 31,000 रुपये) से अधिक के मोबाइल के बाजार में 46 प्रतिशत की हिस्सेदारी हासिल कर ली है। वहीं चीनी फर्म Vivo पहली बार दूसरे स्थान पर पहुंच गई है।यदि अल्ट्रा-हाई-एंड सेगमेंट के फोन की बात की जाए, जिसमें 1,000 अमरीकी डालर (79,847 रुपये) या उससे अधिक की कीमत वाले स्मार्टफोन आते हैं, यहां आईफोन की बादशाहत साफ दिखाई देती है। इस सेगमेंट में आईफोन की बिक्री साल दर साल 147 प्रतिशत बढ़ी। वहीं इसी सेगमेंट में साउथ कोरियन कंपनी सैमसंग ने भी 133 प्रतिशत की ग्रोथ हासिल की है।एक समय चीन के बाजार पर कब्जा रखने वाले हुवावे के दिन बेहद खराब चल रहे हैं। 2019 में हुवावे पर गूगल एंड्रॉयड के इस्तेमाल के प्रतिबंध के बाद हुवावे बाजार में संघर्ष कर रही है। चीन की सबसे बड़ी मोबाइल कंपनी हुवावे के बाजार से हटने के बाद चीनी बाजार में देशी कंपनियां इसकी जगह को भरने की कोशिश में जुटी हैं। हुवावे टेक्नोलॉजीज के सह संस्थापक रेन झेंगफेई ने हाल ही में कहा है कि विश्व अर्थव्यवस्था एक लंबी मंदी की ओर अग्रसर है, ऐसे में उनकी फर्म एक अस्तित्व संकट का सामना कर रही है।हॉन्ग कॉन्ग स्थित साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने गुरुवार को बताया कि हुवावे 11 फीसदी बाजार हिस्सेदारी के साथ तीसरे स्थान पर आ गई, जो एक साल पहले 19 फीसदी थी। हुवावे, जो पहले चीन का सबसे बड़ा स्मार्टफोन विक्रेता था, उसे अमेरिका द्वारा ब्लैकलिस्ट किए जाने के बाद बाजार में इसका खेल खत्म हो गया है।चीन में प्रीमियम स्मार्टफोन की बिक्री में 2022 की दूसरी तिमाही में साल दर साल 10 फीसदी की गिरावट आई है। चीन के हैंडसेट बाजार में 2022 में कुल मिलाकर 14 फीसदी की गिरावट आई है। यह गिरावट साफ दर्शाती है कि चीनी अर्थव्यवस्था बीते एक दशक में मंदी की सबसे बुरी मार झेल रही है।

UP News: लखनऊ में कुत्‍ते के मालिक को हिरासत में लिया गया, पड़ोसी के प्राइवेट पार्ट पर किया था हमला

लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र के सियासी हंगामे के बीच बड़ी खबर, कोरोना को हराकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हुए******Highlightsमहाराष्ट्र के सियासी हंगामे के बीच महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। इंडिया टीवी संवाददाता नम्रता ने इसकी जानकारी दी है। कोरोना संक्रमित होने की वजह से उन्हें रिलायंस हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था। बता दें कि राज्यपाल कोश्यारी 22 जून को कोरोना पॉजिटिव हुए थे। महाराष्ट्र में सीएम उद्धव ठाकरे सरकार पर मंडरा रहे संकट के बादलों के बीच कोश्यारी का कोरोना पॉजिटिव होना चर्चा का विषय बन गया था।गौरतलब है कि महाराष्ट्र में राजनीति का खेल दिन-प्रतिदिन रोचक होता चला जा रहा है। हर रोज दोनों पक्ष नए दावे लेकर सामने आते हैं और शाम होने तक बिल्कुल अलग ही बात हो जाती है। दोनों पक्ष अपने विधायकों को बचाने के लिए कोशिशों में जुटे हैं। इसी बीच पार्टी को टूटने से बचाने के लिए अब सीएम उद्धव ठाकरे की पत्नी रश्मि ठाकरे भी मैदान में आ गई हैं।राउत ने बागी विधायकों पर साधा निशानाशिवसेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने रविवार सुबह एक ट्वीट कर कहा है कि कब तक छिपोगे गुवाहाटी में, आना ही पड़ेगा चौपाटी में। इसके साथ ही राउत ने महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल की फोटो भी ट्वीट की। बता दें कि शिवसेना के बागी विधायक और उनके साथ कुछ निर्दलीय विधायक असम के गुवाहाटी के एक निजी होटल में रुके हुए हैं।सीएम ठाकरे की पत्नी कर रही हैं बागी विधायकों की पत्नियों से संपर्कसीएम उद्धव ठाकरे की पत्नी रश्मि ठाकरे नाराज विधायकों को मनाने में जुटी हुई हैं। वे लगातार बागी विधायकों की पत्नियों से संपर्क कर रही हैं। बागी विधायकों की पत्नियों के माध्यम से वो अपनी बात बागी नेताओं तक पहुंचा रही हैं। खबर है कि रश्मि ठाकरे ने मातोश्री से कई बागी विधायकों की पत्नियों से संपर्क किया और उन्हें अपने विधायक पतियों को समझा-बुझाकर गुहावटी से वापस लौट आने को कहा है।लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलाJobs In Railway: 1.40 लाख लोगों को नौकरी देने की तैयारी कर रहा है रेलवे, सदन की कार्यवाही में बोले रेल मंत्री******Highlightsसरकार ने शुक्रवार को राज्यसभा में कहा कि रेलवे ने 2014 से 2022 के दौरान कुल मिलाकर करीब 3.50 लाख लोगों को रोजगार दिया है तथा अभी 1.40 लाख लोगों की भर्ती के लिए प्रक्रिया चल रही है। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने उच्च सदन में प्रश्नकाल के दौरान पूरक सवालों के जवाब में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 2014 से 2022 के बीच रेलवे ने 3,50,204 लोगों को रोजगार दिया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 लाख लोगों को रोजगार देने की जो प्रतिबद्धता जताई है, उसमें भी रेलवे की अहम भूमिका होगी और वह 1.40 लाख लोगों को नौकरियां देगा।हम बातें नहीं, काम करने में विश्वास करते हैं -रेल मंत्रीरेलवे इस साल 18 हजार नौकरियों की पेशकश कर चुका है। रेल मंत्री ने पश्चिम बंगाल के संदर्भ में कहा कि वहां विगत में कई परियोजनाओं की घोषणा की गई थी लेकिन रेलवे के तमाम प्रयासों के बावजूद उसे जमीन नहीं मिल सकी है। उन्होंने पिछली घोषणाओं पर तंज करते हुए कहा, ‘‘कुछ लोग घोषणा करते हैं, कुछ लोग काम करते हैं। हम बातें नहीं, काम करने में विश्वास करते हैं।’’ वैष्णव ने कहा कि राज्य में जमीन मिलते ही परियोजनाओं पर काम शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि रेलवे ऐसा विभाग है जिसमें ‘सबके प्रयास’ की जरूरत है और राज्यों की ओर से सहयोग काफी अहम है।कोलकाता मेट्रो का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पिछली सरकार के कार्यकाल में वहां विस्तार की गति काफी धीमी थी लेकिन अब हर पांच-छह महीने में एक नया खंड चालू हो रहा है। रेल मंत्री ने समर्पित माल ढुलाई गलियारा (DFC) का जिक्र करते हुए कहा कि अब तक इसमें 1300 किलोमीटर हिस्सा चालू हो गया है जबकि 2014 तक इसमें कोई खास प्रगति नहीं हुई थी।लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलाHijab Controversy: हिजाब पहनकर कक्षा में प्रवेश नहीं दिए जाने पर एक लड़की ने छोड़ी परीक्षा******Highlights कर्नाटक में मंगलवार को पर विवाद जारी रहा और कुछ स्थानों पर हिजाब पहने आई लड़कियों को स्कूलों में प्रवेश नहीं दिया गया। ऐसी ही एक घटना में हिजाब पहनकर कक्षा में प्रवेश नहीं दिए जाने पर एक लड़की ने परीक्षा छोड़ दी। छात्राओं के आक्रोशित अभिभावकों को स्कूल प्रशासन और पुलिस से तीखी बहस करते देखा गया। एक जगह पर एक छात्र द्वारा भगवा स्कार्फ लहराने की घटना भी सामने आई। गत सप्ताह कर्नाटक उच्च न्यायालय ने अपने अंतरिम आदेश में सभी छात्रों को भगवा शॉल, स्कार्फ, हिजाब या कोई भी अन्य धार्मिक निशान पहनकर कक्षा में आने पर रोक लगा दी थी।राज्य में सोमवार से हाई स्कूल खुल गए और स्कूलों में अधिकारियों ने, हिजाब और बुर्का पहनकर आने वाली छात्राओं को अदालत के आदेश का हवाला देकर कक्षा में प्रवेश से मना किया या उन्हें हिजाब उतारने को कहा गया। मंगलवार को शिवमोगा के एक स्कूल में बुर्का पहनकर आई एक छात्रा को हिजाब हटाने को कहा गया तो उसने परीक्षा देने से इनकार कर दिया। लड़की ने संवाददाताओं से कहा, “हम बचपन से हिजाब पहनते आए हैं और हम इसे नहीं छोड़ेंगे। मैं परीक्षा नहीं दूंगी और घर जाऊंगी।”चिक्कमगलुरु जिले के इंदवार गांव के एक सरकारी स्कूल में हिजाब पहनकर आई मुस्लिम लड़कियों को स्कूल में प्रवेश नहीं दिया गया और वापस भेज दिया गया। इसके बाद उसके माता-पिता स्कूल पहुंचे और विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने जबरन स्कूल परिसर में घुसकर नारेबाजी की और कहा कि उन्हें अदालत का आदेश लिखित रूप में चाहिए। विरोध प्रदर्शन तेज होने पर एक अन्य छात्र ने अपने स्कूल बैग से भगवा स्कार्फ निकाल लिया। छात्र ने शिक्षकों के निर्देश पर स्कार्फ वापस बैग में रख लिया। स्थिति की संवेदनशीलता को देखते हुए प्रधानाध्यापिका ने दिनभर के लिए स्कूल बंद कर दिया।चिक्कमगलुरु के अन्य संस्थान में हिजाब पहनकर स्कूल में प्रवेश नहीं दिए जाने पर तनाव पैदा हो गया। अभिभावक स्कूल में घुस गए और विद्यालय प्रशासन से पूछा कि उनके बच्चों को भीतर क्यों नहीं जाने दिया जा रहा है। वहां तैनात पुलिसकर्मियों ने भीड़ से कहा कि उच्च न्यायालय का आदेश है कि हिजाब पहनकर स्कूल में प्रवेश नहीं दिया जा सकता। पुलिस की बात अनसुनी करते हुए अभिभावकों ने दबाव डाला कि उनकी बेटियों को परीक्षा देने की अनुमति दी जाए।तुमकुरु जिले के एसवीएस स्कूल में हिजाब पहनकर आई छात्राओं को, हिजाब पहनकर आने पर वापस लौटा दिया गया जिसके बाद मुस्लिम माता पिता ने स्कूल परिसर पर हंगामा किया। इसके बाद पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंच कर, अदालत के आदेश का हवाला देते हुए उन्हें शांत किया।(इनपुट- एजेंसी)

UP News: लखनऊ में कुत्‍ते के मालिक को हिरासत में लिया गया, पड़ोसी के प्राइवेट पार्ट पर किया था हमला

लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलाIND vs AUS: मोहाली में विराट कोहली 'हिट' तो रोहित शर्मा रहे हैं 'फ्लॉप', जानें किसने बनाए हैं कितने रन******Highlightsभारत और ऑस्ट्रेलिया की टीम टी20 वर्ल्ड कप से पहले दो-दो हाथ करने के लिए तैयार है। दोनों टीमों के बीच मंगलवार (20 सितंबर) को तीन मैचों की टी20 सीरीज का पहला मुकाबला खेला जाएगा। यह मुकाबला मोहाली के मशहूर पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन (पीसीए) स्टेडियम में खेला जाएगा। इस स्टेडियम में तीन साल बाद किसी टी20I मुकाबले का आयोजन होगा। इससे पहले यहां सिर्फ पांच टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले ही आयोजित हुए हैं। आखिरी बार यहां भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच मुकाबला खेला गया था जिसे भारतीय टीम ने सात विकेट से जीता था। मोहाली का यह स्टेडियम बल्लेबाजी के लिए मददगार रहा है। ऐसे में पीसीए स्टेडियम में विराट कोहली का बल्ला खूब चलता है और वह यहां हमेशा रन बनाते रहे हैं। विराट ने यहां अब तक दो मैच खेले हैं और इस दौरान उन्होंने 149.51 की स्ट्राइक रेट से 154 रन बनाए हैं। सबसे बड़ी बात कि विराट यहां एक बार भी आउट नहीं हुए हैं और दोनों पारियों में अर्धशतक लगा चुके हैं। विराट ने यहां 14 चौके और पांच छक्के लगाए हैं। विराट इस मैदान पर टी20 में सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी है।विराट के अलावा युवराज सिंह को भी यह मैदान काफी रास आता था। पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने यहां खेले दो मैचों में 81 की औसत और 188.37 की स्ट्राइक रेट से 81 रन बनाए। सर्वाधिक रन बनाने के मामले में न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल यहां तीसरे स्थान पर हैं। उन्होंने एक मैच खेलकर उसमें 80 रन बनाए थे। पाकिस्तान के शरजील खान दो मैच में 77 रन बनाकर चौथे स्थान पर हैं। जबकि पूर्व विस्फोटक सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने एक मैच में 64 रन बनाए और वह सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में पांचवें स्थान पर हैं।मौजूदा टीम में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय खिलाड़ियों की बात करें तो विराट के बाद रोहित शर्मा दूसरे स्थान पर हैं। हालांकि कप्तान रोहित का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। रोहित ने यहां दो मैचों में महज 12 की औसत और 82.75 की स्ट्राइक रेट से 24 रन बनाए हैं। वहीं दिनेश कार्तिक और ऋषभ पंत ने एक-एक मैच खेलकर चार रन बनाए हैं। हालांकि कार्तिक 400 की स्ट्राइक रेट से रन बनाकर नाबाद रहे थे जबकि पंत 80 की स्ट्राइक रेट से रन बनाकर आउट हो गए थे।दोनों टीमों के लिहाज से देखें तो विराट 154 रन बनाकर पहले स्थानपर हैं तो वहीं स्टीव स्मिथ दो मैचों में 63 रन बनाकर दूसरे स्थान पर हैं। इसके बाद ग्लेन मैक्सवेल (61), आरोन फिंच (58) और फिर रोहित (24) रन बनाकर क्रमश: तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर हैं।लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलाName Astrology: इन नाम वाले लड़कों की पर्सनैलिटी पर फ़िदा हो जाती हैं लड़कियां, दिखने में होते हैं बेहद आकर्षक******Highlightsआपके नाम से आपकी पर्सनैलिटी जुड़ी होती है। ज्योतिष शास्त्र की माने तो किसी व्यक्ति के नाम के पहले अक्षर के आधार पर उसके भविष्य से लेकर उनके व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ जाना जा सकता है। ज्‍योतिष शास्‍त्र की राशियों की तरह नाम ज्योतिष में नाम के पहले अक्षर से व्यक्ति के बारे में जान सकते हैं। अगर लड़कों के नाम इन कुछ खास अक्षरों से शुरू हो, तो उन लड़कों की पर्सनालिटी काफी बेजोड़ होती है और लड़कियां उनकी ओर आसानी से आकर्षित हो जाती हैं। चलिए आपको बताते हैं किन अक्षरों वाले लड़कों की पर्सनैलिटी होती है सबसे ख़ास।नेम एस्‍ट्रोलॉजी के अनुसार जिन लड़कों का नाम अंग्रेजी के A अक्षर से शुरू होता है वे स्‍वभाव से बेहद रोमांटिक होते हैं। ये लड़के अपनी पार्टनर को खूब प्यार भी करते हैं और उसे सम्मान भी देते हैं। लड़कियां इन लड़कों को खूब पसंद करती हैं। ये प्यार के प्रति वफादार भी होते हैं। एक बार किसी से दिल लगा ले तो उसे धोखा नहीं देते हैं।जिन लड़कों का नाम D अक्षर से शुरू होता है वे दिल के साफ होते हैं और इनकी पर्सनैलिटी में एक खास तरह का आकर्षण होता है। ये लड़‍के अपने पार्टनर की हर बात मानते हैं और उसे खूब प्यार करते हैं। वहीं ये नेचर में बड़े ही केयरिंग भी होते हैं। लड़कियों को इनका यही अंदाज पसंद आता है।इस नाम के लड़के बड़े मिलनसार स्वभाव के होते हैं। ये जहां भी जाते हैं अपनी मीठी बातों से लोगों का दिल जीत लेते हैं। ये बड़े ही मजाकिया किस्म के होते हैं। इनका सेंस ऑफ ह्यूमर कमाल का होता है। जो भी लड़की इनसे मिलती है उसके चेहरे पर स्माइल आ जाती है। इस कारण लड़कियों को इनसे मिलना जुलना अच्छा लगता है। ये इन पर जल्दी फिदा हो जाती है। इस नाम वाले लड़के कुछ ही वक्त में लड़कियों को अपनी ओर आकर्षित कर लेते हैं।जिन लड़कों का नाम N से शुरू होता है वे बहुत ही सादगी पसंद इंसान होते हैं। अपने सरल और सहज स्वाभाव की वजह से ये हर लड़की का दिल जीत लेते हैं। ये हमेशा स्माइल करते रहते हैं। एक पॉजिटिव एनर्जी साथ लेकर चलते हैं। अपने पार्टनर के साथ हर हाल में खड़े रहने की खासियत इन्हें दूसरों से अलग करती है।जिनके नाम का पहला अक्षर P हो, उनमें गजब का सेंस ऑफ ह्यूमर होता है। इस नाम के लड़के बिना किसी खास मेहनत के लड़कियों को इंप्रेस कर लेते हैं। दरअसल इनका व्यक्तित्व इतना आकर्षक होता है कि लड़कियां खुद ही इनकी ओर खीची चली आती है। ये बड़े ही शांत और सरल स्वभाव के होते हैं। लड़कियां उनकी बातों पर ही लट्टू हो जाती हैं। ये भी अपनी पार्टनर को खुश रखने की कोई कोशिश नहीं छोड़ते हैं।

UP News: लखनऊ में कुत्‍ते के मालिक को हिरासत में लिया गया, पड़ोसी के प्राइवेट पार्ट पर किया था हमला

लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलामहाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: भाजपा-शिवसेना गठबंधन सत्ता में बरकरार, एनसीपी की सीटें बढ़ीं****** महाराष्ट्र में अगले पांच साल के लिये फिर से की सरकार बनती नजर आ रही है। विधानसभा चुनाव के नतीजे और रुझानों के स्पष्ट होने के बावजूद एक पूर्व मुख्यमंत्री ने भाजपा के मंसूबों पर पानी फेरने के इरादे से शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के गठबंधन की ‘‘रोचक संभावना’’ जतायी। अब तक मिले चुनाव परिणामों एवं रुझानों के मुताबिक 288 सदस्यीय विधानसभा चुनाव में 63 सीटें जीतने के साथ भाजपा को 105 सीटें मिलती नजर आ रही हैं। शिवसेना को 56 सीटें मिलती नजर आ रही हैं, इनमें 44 सीटों पर घोषित परिणाम में वह जीत दर्ज कर चुकी है। एनसीपी को 54 सीटें मिलती दिख रही हैं और इनमें 39 पर घोषित नतीजों में उसके प्रत्याशी जीत चुके हैं, जबकि 44 सीटें कांग्रेस के खाते में आने का अनुमान है और इनमें 28 पर घोषित परिणामों में वह जीत चुकी है।2014 में हुए चुनाव में भाजपा ने 122 सीटों पर जीत दर्ज की थी, शिवसेना ने 63, कांग्रेस ने 42 और राकांपा ने 41 सीटें जीती थीं। भाजपा और शिवसेना ने तब अलग-अलग चुनाव लड़ा था। शिवसेना राज्य में फडणवीस के नेतृत्व वाली सरकार के गठन के करीब एक महीने बाद इसका हिस्सा बनी थी। पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि चुनाव परिणामों ने एक ‘‘रोचक संभावना’’ दिखायी है, हालांकि वह यह कहने से बचते नजर आये कि महाराष्ट्र में अगली सरकार के गठन में क्या कांग्रेस और राकांपा शिवसेना से हाथ मिलायेंगे, जिसे वह (भाजपा की तुलना में) ‘कम शत्रु’ मानते हैं।2014 के चुनाव की तुलना में सीटों की संख्या में इजाफा के संदर्भ में शरद पवार के नेतृत्व वाली राकांपा सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाली पार्टी के तौर पर उभरी है जबकि भाजपा के आंकड़े में उल्लेखनीय गिरावट आयी है। हालांकि इससे मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के उत्साह में कोई कमी नहीं आयी है जिन्होंने यह घोषणा की थी कि भाजपा-शिवसेना गठबंधन राज्य में अगले कार्यकाल में भी शासन करेगी। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपने बेटे आदित्य की प्रचंड चुनावी जीत से प्रफुल्लित नजर आ रहे हैं और उन्होंने भाजपा को याद दिलाया कि उसने अपने वादों को पूरा नहीं किया है। मुख्यमंत्री का पद किस पार्टी को मिलेगा इस पर ठाकरे ने कहा, ‘‘यह समय भाजपा को उस फॉर्मूले की याद दिलाने का है जब भाजपा प्रमुख अमित शाह मेरे घर आये थे। हमलोग गठबंधन के लिये 50-50 के फॉर्मूले पर सहमत हुए थे।’’ ठाकरे ने कहा, ‘‘हमलोग (भाजपा की तुलना में) कम सीट पर चुनाव लड़ने पर सहमत हुए लेकिन मैं हर वक्त भाजपा के लिए गुंजाइश नहीं बना सकता। मुझे अपनी पार्टी को बढ़ाना है।’’मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि 2014 के विधानसभा चुनाव की तुलना में 2019 में कम सीटें जीतने के बावजूद भाजपा का "स्ट्राइक रेट" इस बार पहले से बेहतर है। भाजपा के नेतृत्व वाली महायुति (महागठबंधन) को ‘‘स्पष्ट एवं निर्णायक जनादेश’’ देने के लिये उन्होंने महाराष्ट्र की जनता का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि उनकी पार्टी और शिवसेना सत्ता में साझेदारी को लेकर वही करेगी जो उनके बीच ‘‘पहले से तय’’ है। फडणवीस ने कहा कि भाजपा 2014 में 260 सीटों पर चुनाव लड़ी थी और 122 पर जीती थी। उन्होंने कहा, ‘‘इस बार हमने 150 सीटों पर और हमारे सहयोगी दलों ने 114 सीटों पर चुनाव लड़ा। रूझानों के अनुसार हम 105 सीटों पर जीतते दिख रहे हैं। हमारा मत प्रतिशत 2014 में 47 प्रतिशत था जबकि अभी यह 70 प्रतिशत है।’’ उन्होंने कहा कि भाजपा ने 2014 में 28 प्रतिशत मत हासिल किये थे और इस बार समूची 164 सीटों पर करीब 26 प्रतिशत वोट हासिल किए।पूर्व नौकरशाह एवं सिक्किम के पूर्व राज्यपाल राकांपा प्रत्याशी श्रीनिवास पाटील ने सतारा लोकसभा सीट पर उपचुनाव में उदयनराजे भोसले को हराकर ‘‘सबसे बड़ी’’ जीत दर्ज की। यह चुनाव भी राज्य विधानसभा चुनाव के साथ 21 अक्टूबर को हुआ था। उपचुनाव से पहले भोसले राकांपा छोड़कर भाजपा में शामिल हो गये थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सातारा में एक चुनाव प्रचार रैली को संबोधित भी किया था। विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज करने वाले अहम विजेताओं में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, शिवसेना के आदित्य ठाकरे और विधान परिषद में विपक्ष के नेता धनंजय मुंडे शामिल हैं। धनंजय ने इस रोचक मुकाबले में भाजपा की मंत्री और अपनी चचेरी बहन पंकजा मुंडे को हराया। अब तक प्राप्त रूझानों में फडणवीस के नेतृत्व वाली सरकार के पांच अन्य मंत्री भी पिछड़ते दिख रहे हैं। चुनाव में जीत दर्ज करने वाले अन्य नेताओं में पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण और पृथ्वीराज चव्हाण तथा पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार शामिल हैं।चुनाव से पहले दलबदल करने वाले नेताओं की हार हुई है। इस दलबदल में शिवसेना में 11 जबकि भाजपा में आठ नेता शामिल हुए थे। रूझानों एवं नतीजों पर प्रतिक्रिया देते हुए राकांपा प्रमुख शरद पवार ने कहा कि संदेश यही है कि जनता ‘‘सत्ता के अहंकार’’ को पसंद नहीं करती। पवार ने कहा कि जनता ने हालांकि उनकी पार्टी को विपक्ष में रहने का जनादेश दिया है। उन्होंने कहा कि पार्टी महाराष्ट्र में अगली सरकार बनाने की कोशिश नहीं करेगी। पवार ने कहा, ‘‘लोगों ने 220 सीटों (288 सीटों में से) की बात नहीं स्वीकारी। राकांपा जनता के जनादेश को पूरी विनम्रता से स्वीकार करती है। चुनाव परिणाम यह दिखाते हैं कि जनता ने सत्ता के गुरूर को पसंद नहीं किया।’’शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि उनकी पार्टी और भाजपा महाराष्ट्र में अगली सरकार बनायेगी। उन्होंने दोनों दलों द्वारा पहले से तय ‘‘50:50’’ साझा फॉर्मूले पर अमल पर जोर दिया। राउत ने नयी सरकार के गठन के लिये शिवसेना के विपक्षी पार्टियों के साथ हाथ मिलाने की संभावना को खारिज किया। उन्होंने यहां पत्रकारों को बताया, ‘‘भाजपा और शिवसेना महाराष्ट्र में सरकार बनायेगी।’’ सरकार गठन के लिये शिवसेना के राकांपा और कांग्रेस के साथ हाल मिलाने की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर राउत ने कहा, ‘‘नहीं, हमने भाजपा के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ा था। हमलोग इस गठबंधन को आगे बढ़ायेंगे। पहले से तय 50-50 के फॉर्मूले में कोई बदलाव नहीं होगा।’’चुनाव अधिकारियों ने बताया कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव और सतारा लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव के लिये मतदान सोमवार को हुआ था और मतगणना बृहस्पतिवार सुबह आठ बजे शुरू हुई। अधिकारियों ने बताया कि सभी 288 विधानसभा सीटों के लिये मतगणना राज्य में 269 स्थानों पर शुरू हुई। एक्जिट पोल में राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा-शिवसेना गठबंधन को आसान जीत का पूर्वानुमान जताया गया था। एक निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतगणना ड्यूटी के लिये करीब 25,000 कर्मियों को तैनात किया गया था। उन्होंने बताया कि पुलिस ने सुचारु मतगणना प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिये समुचित व्यवस्था की थी। अधिकारी ने बताया कि सोमवार को हुए मतदान में मतप्रतिशत 61.13 प्रतिशत था जो 2014 के रिकॉर्ड 63.20 प्रतिशत की तुलना में कम था।

लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलाRussia Ukraine News: रूस ने माना 'युद्धपोत मोस्कवा' पर आग लगने से एक नौसैनिक की हुई मौत, 27 लापता******रूस के रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि बीते सप्ताह युद्धपोत मोस्कवा पर आग लगने के कारण एक नौसैनिक की मौत हो गई, जबकि 27 लापता हैं और 396 को बचा लिया गया। युद्धपोत के डूबने के एक हफ्ते बाद यह बयान आया है।बता दें, घटना के कुछ देर बाद रूसी रक्षा मंत्रालय ने दावा किया था कि पोत पर सवार सभी लोगों को बचा लिया गया है। मंत्रालय ने विरोधाभासी बयानों पर कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया। यूक्रेन ने कहा था कि उसने युद्धपोत पर मिसाइल से हमला किया था।यूक्रेन ने दावा किया था कि उसकी मिसाइलों ने इस युद्धपोत पर अपनी दो 'नेप्च्यून' मिसाइलों से हमला किया था। हालांकि रूस ने कहा था कि आग लगने के बाद जहाज डूब गया। रूस ने जानकारी दी थी कि आग लगने के चलते जहाज पर रखे गोला-बारूदों में विस्फोट हो गया था। रूस ने यह भी बताया था कि मोस्कवा के पूरे चालक दल को विस्फोट होने के बाद निकाल लिया गया था। यह मिसाइल क्रूज़र रूस की सैन्य शक्ति का अहम प्रतीक था। यूक्रेन के खिलाफ समुद्र के रास्ते हमले का नेतृत्व यही युद्धपोत कर रहा था।लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलाटीसीएस करेगी 18,000 करोड़ के शेयरों का बायबैक, नौ मार्च से होगी शुरुआत******tcsHighlights टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) की 18,000 करोड़ रुपये की शेयर पुनर्खरीद पेशकश नौ मार्च को खुलकर 23 मार्च को बंद होगी। इससे पहले कंपनी ने 12 फरवरी को अपने शेयर वापस खरीदने के कार्यक्रम की घोषणा की थी। कंपनी ने 4,500 रुपये प्रति शेयर के मूल्य पर चार करोड़ शेयरों को वापस खरीदने का फैसला किया है।बीएसई को भेजी गई सूचना के अनुसार, कंपनी ने शेयर बाजारों में बोलियों के निपटान की तिथि एक अप्रैल, 2022 तय की है। इससे पहले कंपनी द्वारा दाखिल कराए गए दस्तावेज के अनुसार, टाटा संस और टाटा इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन लि.(टीआईसीएल) उसके शेयर पुनर्खरीद कार्यक्रम में भाग लेंगी और 12,993.2 करोड़ रुपये के शेयरों की पेशकश करेंगी। टाटा संस के पास टीसीएस के 266.91 करोड़ शेयर हैं। उसका इरादा 2.88 करोड़ शेयरों की पेशकश का है। वहीं टीआईसीएल के पास 10,23,685 शेयर हैं जिनमें से वह 11,055 शेयरों की पेशकश करेगी।दोनों कंपनियां 4,500 रुपये प्रति शेयर के मूल्य पर शेयर वापस कर 12,993.2 करोड़ रुपये जुटाएंगी। इससे पहले टीसीएस की 16,000 करोड़ रुपये की पुनर्खरीद पेशकश 18 दिसंबर, 2020 को खुलकर एक जनवरी, 2021 को बंद हुई थी। टाटा संस ने उस समय 9,997.5 करोड़ रुपये के शेयरों की पेशकश की थी।

लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलाBigg Boss 15: ये 3 कंटेस्टेंट्स घरवालों के लिए लेकर आए हैं 'संकट', जानते ही उड़ गए सभी के होश******'बिग बॉस 15' का आज तीसरा दिन है। लेकिन शो की शुरुआत के दूसरे दिन ही सभी घरवालों पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा है। ऐसा इसलिए क्योंकि घर में 'बिग बॉस ओटीटी' रनरअप के 3 कंटेस्टेंट्स की एंट्री हो गई है। खास बात है कि शो में एंट्री लेते ही ये तीनों बाकी घरवालों के लिए 'संकट' लेकर आए हैं।ये तीन कंटेस्टेंट्स प्रतीक सहजपाल और निशांत भट हैं। 'बिग बॉस' ने इन तीनों की एंट्री के साथ ही बताया कि ये घर के सभी हिस्सों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इनके पास कुछ खास अधिकार भी होंगे जैसे कि इन्हीं तीनों में से बारी बारी से कोई एक कैप्टन बनेगा। इसके साथ ही ये आने वाली नॉमिनेशन की प्रक्रिया से तब तक सुरक्षित हैं जब तक ये घर के मुख्य हिस्से में हैं।दरअसल, इन तीन कंटेस्टेंट्स को छोड़कर बाकी सभी घरवालों को घर के मेन हिस्से का इस्तेमाल करने के लिए मना किया गया है। इसके साथ ही उन्हें उन सुख सुविधाओं से वंचित रखा गया है जो निशांत, शमिता और प्रतीक को मिली हैं। बिग बॉस ने इन तीनों की एंट्री के साथ कहा कि आपका जानना जरूरी है कि ये तीनों आपके लिए संकट लेके आए हैं। जब संकट आता है तो जंगल में मौजूद चांद पर ग्रहण लग जाता है। ये संकट क्या है ये आपको आने वाले वक्त में पता चल जाएगा। ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि ये तीनों '' के रनरअप 'बिग बॉस 15' में आकर क्या धमाल मचाने वाले हैं।लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलाMangalwar ke Upay: कर्ज मुक्ति और धन वृद्धि के लिए मंगलवार के दिन करें ये उपाय, बरसेगी बजरंगबली की कृपा******आज श्रावणशुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि और मंगलवार का दिन है। द्वादशी तिथि आज शाम 5 बजकर 45 मिनट तक रहेगी। आज रात 11 बजकर 36 मिनट तक विष्कुम्भ योग रहेगा। इस योग में शुरू किये गये कार्यों में व्यवधान आने की सम्भावना बनी रहती है। साथ ही इस योग में किये गये कार्यों से शुभ फलों की प्राप्ति नहीं होती है। साथ ही आज दोपहर 12 बजकर 18 मिनट तक मूल नक्षत्र रहेगा। आकाशमंडल में स्थित 27 नक्षत्रों में से मूल 19वां नक्षत्र है। मूल का अर्थ होता है- केन्द्रीय बिन्दु या जड़।इसके अनुसार एक साथ बंधी हुई कुछ पौधों की जड़ों को मूल नक्षत्र का प्रतीक चिन्ह माना जाता है । यह नक्षत्र बहुत से रहस्यों, गुप्त विद्याओं तथा अदृश्य शक्तियों के साथ जुड़ा रहता है। इस नक्षत्र की एक खासियत ये भी है कि जिस प्रकार किसी पेड़ को काट देने के बाद भी वह अपनी जड़ों के माध्यम से अपने शरीर को पुनः प्राप्त कर लेता है, उसी प्रकार मूल नक्षत्र भी अपनी खोई हुई शक्ति और आधिपत्य को पुनः प्राप्त कर लेने की क्षमता रखता है। साथ ही आपको बता दूं कि मूल नक्षत्र का पेड़ साल है, जो कि श्री विष्णु भगवान को बहुत ही प्रिय है। बौद्ध धर्म में भी साल को पवित्र पेड़ों की श्रेणी में रखा जाता है। कहते हैं रानी माया ने साल के वृक्ष के नीचे ही महात्मा गौतम बुद्ध को जन्म दिया था। अतः आज के दिन मूल नक्षत्र के दौरान साल के पेड़ की पूजा करना बड़ा ही लाभकारी होगा। खासकर कि उन लोगों के लिये, जिनका जन्म मूल नक्षत्र में हुआ है। अगर मूल नक्षत्र के जातकों की बात की जाये, तो ये लोग आमतौर पर अपने लक्ष्य के प्रति केन्द्रित होते हैं। ये कठिन से कठिन लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए तब तक प्रयास करते रहते हैं, जब तक कि अपने लक्ष्य को प्राप्त न कर लें।श्रावण मास में जितने भी मंगलवार पड़ते हैं उन सभी को मंगला गौरी व्रत करने का विधान है। यह व्रत मंगलवार को पड़ता है और इस व्रत में माता गौरी अर्थात् पार्वती जी की पूजा की जाती है, जिसके कारण इस व्रत को मंगला गौरी व्रत कहते हैं। मंगला गौरी व्रत को मोराकत व्रत के नाम से भी जाना जाता है । पुराणों के अनुसार, भगवान शिव और माता पार्वती को श्रावण मास अति प्रिय है। इसीलिए श्रावण मास के सोमवार को शिव जी और मंगलवार को माता गौरी अर्थात् पार्वती जी की पूजा को शास्त्रों में बहुत ही शुभ व मंगलकारी बताया गया है। मंगला गौरी व्रत के प्रभाव से विवाह में हो रहे विलंब समाप्त हो जाते हैं तथा जातक को मनचाहे जीवन-साथी की प्राप्ति होती हैं। दांपत्य जीवन सुखी रहता है तथा जीवन-साथी के प्राणों की रक्षा होती है, पुत्र की प्राप्ति होती है, गृहक्लेश समाप्त होता है, डाइवोर्स तथा सेपरेशन से संबन्धित ज्योतिष योग शांत होते हैं, अकाल मृत्यु योग समाप्त होता है, तीनों लोकों में ख्याति मिलती है, सुख - सौभाग्य में वृद्धि होती है । इस व्रत को विवाहिता प्रथम श्रावण में पिता के घर (पीहर) में तथा शेष चार वर्ष पति के घर (ससुराल) में करने का विधान है। शास्त्रों के अनुसार जो स्त्रियां सावन मास में मंगलवार के दिन व्रत रखकर मंगला गौरी की पूजा करती हैं, उनके पति पर आने वाला संकट टल जाता है और वह लंबे समय तक दांपत्य जीवन का आनंद प्राप्त करती हैं।इस दिन व्रती को नित्य कर्मों से निवृत्त होकर संकल्प करना चाहिए कि मैं संतान, सौभाग्य और सुख की प्राप्ति के लिए मंगला गौरी व्रत का अनुष्ठान कर रही हूं। तत्पश्चात आचमन एवं मार्जन कर चैकी पर लाल कपड़ा बिछाकर उस पर माता की प्रतिमा व चित्र के सामने उत्तराभिमुख बैठकर प्रसन्न भाव में एक आटे का दीपक बनाकर उसमें सोलह बातियां जलानी चाहिए। इसके बाद सोलह लड्डू, सोलह फल, सोलह पान, सोलह लवंग और इलायची के साथ सुहाग की सामग्री और मिठाई माता के सामने रखना चाहिए। अष्ट गंध एवं चमेली की कलम से भोजपत्र पर लिखित मंगला गौरी यंत्र स्थापित कर विधिवत विनियोग, न्यास एवं ध्यान कर पंचोपचार से उस पर श्री मंगला गौरी का पूजन कर उक्त मंत्र- 'कुंकुमागुरुलिप्तांगा सर्वाभरणभूषिताम् ।नीलकण्ठप्रियां गौरीं वन्देहं मंगलाह्वयाम्' का जप 64,000 बार करना चाहिए। उसके बाद मंगला गौरी की कथा सुनें। इसके बाद मंगला गौरी का सोलह बत्तियों वाले दीपक से आरती करें। कथा सुनने के बाद सोलह लड्डू अपनी सास को तथा अन्य सामग्री ब्राह्मण को दान कर दें। पांच साल तक मंगला गौरी पूजन करने के बाद पांचवें वर्ष के श्रावण के अंतिम मंगलवार को इस व्रत का उद्यापन करना चाहिए। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार जिन पुरुषों की कुंडली में मांगलिक योग है उन्हें इस दिन मंगलवार का व्रत रखकर भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करनी चाहिए। इससे उनकी कुण्डली में मौजूद मंगल का अशुभ प्रभाव कम होगा और दांपत्य जीवन में खुशहाली आयेगी।आज भौम प्रदोष व्रत भी है। जैसे की आप जानते है की हर माह के कृष्ण और शुक्ल दोनों पक्षों की त्रयोदशी को प्रदोष व्रत किया जाता है। दरअसल द्वादशी तिथि आज शाम 5 बजकर 45 मिनट तक रहेगी उसके बाद त्रयोदशी तिथि लग जायेगी, जो अगले दिन दोपहर 2 बजकर 15 मिनट तक रहेगी। आप सभी जानते है की प्रदोष व्रत उसी दिन किया जाता है, जिस दिन त्रयोदशी तिथि के समय प्रदोष काल पड़ रहा हो। प्रदोष काल रात्रि के प्रथम प्रहर को, यानी सूर्यास्त के तुरंत बाद के समय को कहा जाता है और कल के दिन प्रदोष काल के समय त्रयोदशी तिथि नहीं रहेगी। अतः प्रदोष व्रत आज ही के दिन किया जायेगा। जब प्रदोष व्रत मंगलवार के दिन पड़ता है तो भौम प्रदोष कहलाता है और भौम प्रदोष व्रत ऋण से मुक्ति के लिये किया जाता है। आज का दिन कर्ज से मुक्ति पाने के लिये बहुत ही श्रेष्ठ है। आज के दिन कुछ विशेष उपाय करके आप कर्ज के साथ ही मंगल से जुड़ी अन्य परेशानियों से भी कैसे छुटकारा पा सकते।डिस्क्लेमर: इस लेख में व्यक्त विचार लेखक के हैं। इंडिया टीवी इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता

लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमला15 अगस्त से पहले बड़ी साजिश का पर्दाफाश, दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल 4 लोगों को 55 पिस्टल-50 कारतूस के साथ किया गिरफ्तार******स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) से पहले दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को बड़ी कामयाबी मिली है। देश की राजधानी दिल्ली से बड़ी तादाद में हथियारों का जखीरा बरामद हुआ है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 4 हथियार तस्करों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 55 ऑटोमेटिक पिस्टल और 50 जिंदा कारतूस बरामद किए हैं। ये तमाम हथियार दिल्ली में कई गैंगस्टर को सप्लाई किये जाने थे। स्पेशल सेल ने जिन्हें गिरफ्तार किया है उनमें राजवीर सिंह और धीरज (हाथरस निवासी) विनोद भोला (फिरोजाबाद निवासी) धर्मेंद्र (दिल्ली निवासी) शामिल हैं।डीसीपी स्पेशल सेल संजीव यादव के मुताबिक, हथियार तस्करों के इस नेक्सस के बारे में एक गोपनीय जानकारी मिली थी। पता चला था कि 15 अगस्त से ठीक पहले देश की राजधानी दिल्ली में हथियारो का एक बड़ा जखीरा तस्करी कर लाया जा रहा है। इस बार स्वतंत्रता दिवस पर तमाम आतंकी अलर्ट और चुनौतियों को देखते हुए बिना वक्त गवाएं डीसीपी संजीव यादव ने एसीपी जसबीर मलिक और संजय दत्त के नेतृत्व टीम गठित की। तुरंत तमाम हथियार सप्लायर की लोकेशन ट्रेस की गई।डीसीपी संजीव यादव के मुताबिक, हाथरस से राजीव और धीरज, फिरोजाबाद से विनोद और दिल्ली से धर्मेंद्र भरतल को गिरफ्तार किया गया। इनके कब्जे से 55 आटोमेटिक पिस्टल और 50 जिंदा कारतूस बरामद हुए। पूछताछ में पता चला कि हथियारों का ये जखीरा मध्य्प्रदेश और मेवात से दिल्ली लाया गया था। कार में गेट और सीट के नीचे कैविटी बनाकर ये हथियार दिल्ली लाये गए थे। दिल्ली में ये हथियार एनसीआर के कई गिरोह को सप्लाई किये जाने थे। लेकिन, उससे पहले ही चारो तस्कर हथियारों की खेप के साथ दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ गए।दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी (PRO) चिन्मय बिस्वाल ने शुक्रवार को स्वतंत्रता दिवस की तैयारियों को लेकर बताया कि 'हर साल की तरह इस साल भी के लिए लालकिले, लालकिले के आसपास, बॉर्डर पर और पूरी दिल्ली में सुरक्षा के इंतजाम किया गए हैं। देशविरोधी, शरारती तत्वों को कोई भी मौका न मिले इसके लिए पुलिस, सुरक्षा एजेंसियों द्वारा व्यापक बंदोबस्त किया गया है। ड्रोन से निपटने के लिए आसमान में किसी भी प्रकार के बैलून इत्यादि उड़ाने पर प्रतिबंध लगाया गया है। बॉर्डर के राज्यों के साथ समन्वय के लिए भी बैठक की गई थी। दिल्ली पुलिस आसपास के राज्यों के संपर्क में है।'दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक खालिस्तान समर्थक पुलिस की वर्दी में लाल किले में घुस सकते हैं। इस समय दिल्ली पुलिस के टॉप ऑफिसर्स की मीटिंग चल रही है। मीटिंग में 15 अगस्त की सुरक्षा पर चर्चा हो रही है। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस को खुफिया एजेंसियों से अलर्ट मिला है कि दिल्ली में धार्मिक स्थलों पर भी माहौल खराब करने की कोशिश हो सकती है।15 अगस्त से पहले दिल्ली हाईअलर्ट पर है तो वहीं जम्मू कश्मीर से लेकर पंजाब तक आतंक फैलाने की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया गया है। जम्मू कश्मीर के कुलगाम में सुरक्षाबलों ने पाकिस्तानी आतंकी को ढेर करके रॉकेट लॉन्चर बरामद किया है तो अमृतसर में रिहायशी इलाके में घर के बाहर मिला ग्रेनेड मिला है जिसे समय रहते डिफ्यूज कर दिया गया।लखनऊमेंकुत्‍तेकेमालिककोहिरासतमेंलियागयापड़ोसीकेप्राइवेटपार्टपरकियाथाहमलाRakesh Jhunjhunwala के जीवन से जुड़े वो रोचक किस्से, जिसने Social Media पर तोड़े ट्रेंड के सारे रिकॉर्ड, क्या आप हैं वाकिफ़******Highlightsभारतीय शेयर बाजार के वॉरेन बफेट कहे जाने वाले राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) का 62 साल की उम्र में आज सुबह 6 बजकर 45 मिनट पर निधन हो गया है। वह मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल (Kandy Hospital) में एडमिट थे, जब उनके निधन की जानकारी सामने आई। वह 2-3 हफ्ते पहले ही हॉस्पिटल से डिस्चार्ज किए गए थे। इतना ही नहीं झुनझुनवाला के बयान और स्वभाव सोशल मीडिया पर कई बार चर्चा का विषय बना करते थे।राकेश झुनझुनवाला के बयान पर सभी की नजर रहा करती है। कहा जाता है कि उनके हर बयान में कुछ संदेश होता है। एक बार उन्होनें सीआईआई के एक कार्यक्रम में कहा था कि मार्केट, मौत, महिला और मौसम के बारे में भविष्यवाणी नहीं की जा सकती है। ये कभी भी बदल सकते हैं।शेयर मार्केट की अच्छी समझ रखने वाले राकेश झुनझुनवाला कहा करते थे कि मार्केट का कोई किंग नहीं होता जो खुद को किंग समझते थे वो जेल चले गए।राकेश झुनझुनवाला के कुछ मोटिवेशनल मंत्रा ऐसे हैं जिसे बाजार कर पर व्यक्ति मानता है। उन्होनें एक बार कहा था कि जब लोग आपकी तारीफ करें तब सावधान रहें, क्योंकि सबसे बड़ी गलतियां तब होती है जब आपका अच्छा समय चल रहा हो।बता दें, राकेश झुनझुनवाला ने इंग्लिश विंग्लिश के अलावा 2016 में 'की एंड का' और 2015 में 'शमिताभ' में भी पैसे लगाए थे। 'की एंड का' का बजट 20 करोड़ रुपए का था। इसने 103 करोड़ रुपए की कमाई की थी।पीएम मोदी से जब राकेश झुनझुनवाला मिलने गए थे तब भी उन्होनें सफेद कपड़ा ही पहना था। उनकी वो तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी, जिसमें उनकी शर्ट मुड़ी-तुड़ी दिख रही थी। इसे लेकर उन्होनें बाद में कहा था कि यह सिर्फ इकलौती सफेद शर्ट थी, जिसे पीएम से मिलने के लिए 600 रुपये खर्च कर इस्तरी करवाया था। उन्होनें कहा था कि सरकारी और समाचार एजेंसियों ने पीएम और वित्त मंत्री के साथ की बैठक को हाई प्रोफाइल बना दिया था। जबकि वह एक सामान्य बैठक थी। हालांकि पीएम मोदी ने झुनझुनवाला की जमकर तारीफ की थी।

हाल का ध्यान

लिंक