वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > किकिहार शहर > मूलपाठ

Chhattisgarh: एम्बुलेंस नहीं मिलने के कारण आदिवासी जोड़े के बच्चे की हुई मौत, NHRC का स्वास्थ्य विभाग को नोटिस

2022-09-30 22:30:41 किकिहार शहर

एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसअमेरिका को 2024 T20 विश्व कप की मेजबानी सौंप सकता है ICC******सिडनी। अमेरिका के 2024 में टी20 विश्व कप की मेजबानी की संभावनायें लगायी जा रही हैं क्योंकि आईसीसी की 2028 लास एंजिल्स ओलंपिक में क्रिकेट को शामिल कराने की मुहिम में यह टूर्नामेंट ‘लांच पैड’ के तौर पर काम कर सकता है। उम्मीद है कि आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) अमेरिका क्रिकेट और क्रिकेट वेस्टइंडीज की मिलकर मेजबानी करने की संयुक्त बोली को चुन सकता है।‘सिडनी मार्निंग हेराल्ड’ की एक रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘आईसीसी टूर्नामेंट के अगले चक्र के स्थलों पर फैसला निकट है और वैश्विक फोकस का मतलब होगा कि इन्हें हालिया समय की तुलना में व्यापक तौर पर वितरित किया जाये। ’’ अगर सब योजना के अनुसार चलता है तो बांग्लादेश में हुए 2014 टी20 विश्व कप के बाद यह पहला वैश्विक टूर्नामेंट होगा जिसकी मेजबानी न तो भारत और न ही इंग्लैंड या ऑस्ट्रेलिया करेंगे।आईसीसी लंबे समय से उभरते हुए देशों को इस बड़े टूर्नामेंट की मेजबानी के अधिकार देने के बारे में सोच रहा है। 2024 टी20 विश्व कप में 20 टीमों के होने की उम्मीद है जिसमें 2021 और 2022 चरण (16 टीमों के बीच 45 मैच) की तुलना में 55 मैच कराये जायेंगे। आईसीसी 2024 और 2031 के बीच कई वैश्विक टूर्नामेंट की मेजबानी करेगा जिसकी शुरूआत 2024 टी20 विश्व कप से होगी।ऑस्ट्रेलिया के इस दैनिक अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘इस महत्वपूर्ण कदम के अलावा अमेरिका को 2024 टूर्नामेंट का मेजबान चुनना ओलंपिक खेलों में क्रिकेट को शामिल करने के लंबे इंतजार के लिये ‘लांच पैड’ के तौर पर भी काम करेगा ताकि इस खेल को लास एंजिल्स 2028 ओलंपिक के बाद 2032 ब्रिसबेन तक जारी रखा जा सके’’

एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसHUL का Q4 में शुद्ध मुनाफा 13.84% बढ़कर हुआ 1538 करोड़ रुपए, प्रति शेयर 13 रुपए का मिलेगा लाभांश******HUL Q4 net profit up 14percent on year to Rs 1,538 एफएमसीजी कंपनी का शुद्ध मुनाफा वित्त वर्ष 2018-19 की अंतिम तिमाही में 13.84 प्रतिशत बढ़कर 1,538 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।कंपनी को वित्त वर्ष 2017-18 की इसी तिमाही में 1,351 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ था। कंपनी ने शेयर बाजार को बताया कि आलोच्य तिमाही के दौरान उसकी कुल बिक्री 9,003 करोड़ रुपए की तुलना में 8.95 प्रतिशत बढ़कर 9,809 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। इस दौरान कंपनी का कुल खर्च भी 7,181 करोड़ रुपए से 8.13 प्रतिशत बढ़कर 7,765 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।चौथी तिमाही के लिए कंपनी का एबिटडा भी सुधरकर 2,321 करोड़ रुपए रहा, जो एक साल पहले की समान तिमाही में 2,048 करोड़ रुपए था। 2019 की मार्च तिमाही में कंपनी का मार्जिन बढ़कर 23.3 प्रतिशत रहा, जो एक साल पहले की समान तिमाही में 22.5 प्रतिशत था।होम केयर सेक्‍टर में 13 प्रतिशत, पर्सनल केयर सेक्‍टर में 7.3 प्रतिशत और फूड एंड रिफ्रेशमेंट सेक्‍टर में 10.4 प्रतिशत वृद्धि हासिल हुई है। कंपनी ने प्रति शेयर 13 रुपए का अंतिम लाभांश देने की घोषणा की है।एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसकोयला संकट: शनिवार को बिजली की खपत में 7.2 करोड़ यूनिट की कमी******कोयला संकट: शनिवार को बिजली की खपत में 7.2 करोड़ यूनिट की कमीनयी दिल्ली: बिजली मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक बिजली की खपत शनिवार को लगभग दो प्रतिशत या 7.2 करोड़ यूनिट घटकर 382.8 करोड़ यूनिट हो गई, जो शुक्रवार को 390 करोड़ यूनिट थी। इसके चलते कोयले की कमी के बीच देशभर में बिजली की आपूर्ति में सुधार हुआ। आंकड़ों के मुताबिक शुक्रवार, आठ अक्टूबर को बिजली की खपत 390 करोड़ यूनिट थी, जो इस महीने अब तक (1-9 अक्टूबर) सबसे ज्यादा थी। बिजली की मांग में तेजी देश में चल रहे कोयला संकट के बीच चिंता का विषय बन गई थी।टाटा पावर की इकाई टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रिब्यूशन लिमिटेड (डीडीएल), जो उत्तर और उत्तर-पश्चिमी दिल्ली में बिजली वितरण का काम करती है, ने शनिवार को अपने उपभोक्ताओं को फोन पर संदेश भेजकर कोयले की सीमित उपलब्धता के चलते विवेकपूर्ण तरीके से बिजली का उपयोग करने का अनुरोध किया था। बिजली मंत्रालय ने कहा कि कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) द्वारा कोयले की कुल आपूर्ति 15.01 लाख टन प्रतिदिन तक पहुंच गई। इस कारण खपत और वास्तविक आपूर्ति के बीच अंतर कम हो गया।कोयला मंत्रालय और सीआईएल ने आश्वासन दिया है कि वे अगले तीन दिन में बिजली क्षेत्र में कोयले की को बढ़ाकर 16 लाख टन प्रतिदिन करने के लिए भरपूर कोशिश कर रहे हैं और उसके बाद इसे बढ़ाकर 17 लाख टन प्रतिदिन किया जाएगा। बिजली संयंत्रों में कोयले के भंडार में कमी होने के चार कारण हैं- अर्थव्यवस्था के पुनरुद्धार के कारण बिजली की मांग में अभूतपूर्व बढ़ोतरी, कोयला खदानों में भारी बारिश से कोयला उत्पादन और ढुलाई पर प्रतिकूल प्रभाव, आयातित कोयले की कीमतों में भारी बढ़ोतरी और मानसून से पहले पर्याप्त कोयला स्टॉक न करना।

Chhattisgarh: एम्बुलेंस नहीं मिलने के कारण आदिवासी जोड़े के बच्चे की हुई मौत, NHRC का स्वास्थ्य विभाग को नोटिस

एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसनागिन सीजन 3 आज से शुरू, बदले से लेकर #MeToo कैंपन की दिखेगी झलक******पिछले तीन सालों में छोटे पर्दे का सबसे लोकप्रिय डेली सोप के तीसरे सीजन की शुरूआत होने जा रही है। शनिवार 2 जून रात 8 बजे से ये शो हर शनिवार और रविवार ऑन एयर होगा। इस शो के पहले दो सीजन बेहद पसंद किए गए हैं और दोनों की टीआरपीकी दौड़ में काफी आगे रहे हैं।तीसरे सीजन में ना सिर्फ दर्शको को नई कहानी मिलेगी बल्कि एकदम नई स्टारकास्ट भी देखने को मिलेगी।नागिन तीन में दर्शको को नागिन के रोल में करिश्मा तन्ना और अनीत हसनंदानी, सुरभि ज्योति नजर आएंगी। वहीं शो को ने कहा है कि ये इस शो की कहानी ना सिर्फ नागिन के पांच लड़को के साथ बदले पर आधारित है बल्कि ये कहीं ना कहीं #MeToo कैंपेन से भी जुड़ी है। कहानी के माध्यम से ये सीख देने की कोशिश की गई है कि लड़कियों को अपने ऊपर होने वाले किसी भी अत्याचार के खिलाफ चुप नहीं रहना चाहिए। इस शो में भी नागिन ऐसे पांच लड़कों से बदला लेगी जिन्होंने उसके साथ रेप करने की कोशिश की है। इस शो में रजत टोकस, पर्ल वी भी मुख्य भूमिकाओं में नजर आएंगे। पिछले सीजन में नागिन के रोल में मौनी रॉय और अदा खान थीं।एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसManish Sisodia: 'इनका मुद्दा भ्रष्टाचार है ही नहीं...', केंद्र सरकार पर हमलावर हुए मनीष सिसोदिया, गुजरात को लेकर कही ये बात******Highlightsएक्साइज पॉलिसी में कथित भ्रष्टाचार को लेकर दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के आवास पर बीते दिन शुक्रवार को सीबीआई की टीम ने छापेमारी की। इसे लेकर मनीष सिसोदिया ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने सिलसिलेवारकई ट्वीट करते हुए केंद्र सरकार पर हमला बोला है।मनीष सिसोदिया ने कहा, "जिस एक्साइज पॉलिसी के नाम पर इन्होंने मेरे घर CBI की रेड कराई, वो एक्साइज पॉलिसी देश की सबसे शानदार एक्साइज पॉलिसी है। अगर इन्होंने एक्साइज पॉलिसी के लागू होने के ठीक 48 घंटे पहले LG से उनका निर्णय न बदलवाया होता, तो इससे हर साल दिल्ली सरकार को 10,000 करोड़ का राजस्व मिलता।"दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को टैग करते हुए एक अन्य ट्वीट में कहा, इनका मुद्दा भ्रष्टाचार है ही नहीं, इनका मुद्दा है अरविंद केजरीवाल जी को रोकना। लेकिन ये कितनी भी कोशिश कर ले, कितने भी षड्यंत्र रच लें, 2024 का चुनाव नरेंद्र मोदी जी और अरविंद केजरीवाल जी के बीच ही होगा।"उन्होंने कहा, "लेकिन इनकी परेशानी भ्रष्टाचार है ही नहीं, इनकी परेशानी है अरविंद केजरीवाल जी, जिनके बारे में आज देशभर में चर्चा हो रही है, कि 2024 में एक मौका केजरीवाल को दिया जाए। इसलिए, झूठे आरोप में केजरीवाल जी के शिक्षा मंत्री और स्वास्थ्य मंत्री को जेल में डालने का षड्यंत्र रचा जा रहा है।"सिसोदिया ने कहा, "दरअसल इनका मुद्दा भ्रष्टाचार है ही नहीं, अगर मुद्दा शराब माफिया का भ्रष्टाचार रोकना होता तो सबसे पहले CBI की रेड गुजरात में होती, जहां गुजरात सरकार की 10,000 करोड़ की एक्साइज चोरी हो रही है और ये चोरी यही लोग करा रहे हैं।"इससे पहले सीबीआई की छापेमारी के बाद सिसोदिया ने कहा था कि कई घंटों की तलाशी के बाद एजेंसी ने उनका कंप्यूटर और मोबाइल फोन जब्त कर लिया और उसने कुछ फाइल भी अपने कब्जे में ले ली। गौरतलब है कि CBI ने दिल्ली आबकारी नीति मामले में मनीष सिसोदिया के आवास और 30 अन्य स्थानों पर शुक्रवार को छापे मारे।जांच एजेंसी ने दावा किया है कि सिसोदिया के निकट सहयोगी की कंपनी को कथित रूप से एक करोड़ रुपये का भुगतान किया गया। वहीं, सिसोदिया का कहना है कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है और वह सीबीआई की जांच और उसकी छापेमारी से भयभीत नहीं हैं।एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसदेश में तेजी से बढ़ रही है इंटरनेट यूजर्स की संख्‍या, इस साल 50 करोड़ के आंकड़े को कर जाएगी पार****** इस साल जून तक 50 करोड़ को पार कर जाएगी। एक रिपोर्ट में यह उम्मीद जताई गई है। इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (IAMAI) तथा केंटार आईएमआरबी द्वारा संयुक्त रूप से तैयार इस रिपोर्ट में कहा गया है कि इंटरनेट उपयोक्ताओं की संख्या सालाना आधार पर 11.34 प्रतिशत बढ़कर दिसंबर 2017 में अनुमानित 48.1 करोड़ हो गई। भारत में इं​टरनेट-2017 रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में कुल इंटरनेट घनत्व दिसंबर 2017 के अंत में जनसंख्या का 35 प्रतिशत रहा। IAMAI के अध्यक्ष सुभो राय ने रिपोर्ट के हवाले से कहा कि दिसंबर 2016 से दिसंबर 2017 तक के साल में शहरी भारत में इंटरनेट उपयोक्ताओं की संख्या 9.66 प्रतिशत बढ़कर अनुमानित 29.5 करोड़ हो गई। वहीं ग्रामीण भारत में इसी दौरान यह संख्या 14.11 प्रतिशत बढ़कर अनुमानित 18.6 करोड़ हो गई।उन्होंने कहा कि 28.1 करोड़ दैनिक इंटरनेट उपयोगकर्ताओं में 18.29 करोड़ या 62 प्रतिशत शहरी क्षेत्र से हैं जो हर दिन इंटरनेट का उपयोग करते हैं। वहीं ग्रामीण भारत में केवल 53 प्रतिशत उपयोगकर्ता ही दैनिक आधार पर इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं।

Chhattisgarh: एम्बुलेंस नहीं मिलने के कारण आदिवासी जोड़े के बच्चे की हुई मौत, NHRC का स्वास्थ्य विभाग को नोटिस

एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसअमेरिका को 2024 T20 विश्व कप की मेजबानी सौंप सकता है ICC******सिडनी। अमेरिका के 2024 में टी20 विश्व कप की मेजबानी की संभावनायें लगायी जा रही हैं क्योंकि आईसीसी की 2028 लास एंजिल्स ओलंपिक में क्रिकेट को शामिल कराने की मुहिम में यह टूर्नामेंट ‘लांच पैड’ के तौर पर काम कर सकता है। उम्मीद है कि आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) अमेरिका क्रिकेट और क्रिकेट वेस्टइंडीज की मिलकर मेजबानी करने की संयुक्त बोली को चुन सकता है।‘सिडनी मार्निंग हेराल्ड’ की एक रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘आईसीसी टूर्नामेंट के अगले चक्र के स्थलों पर फैसला निकट है और वैश्विक फोकस का मतलब होगा कि इन्हें हालिया समय की तुलना में व्यापक तौर पर वितरित किया जाये। ’’ अगर सब योजना के अनुसार चलता है तो बांग्लादेश में हुए 2014 टी20 विश्व कप के बाद यह पहला वैश्विक टूर्नामेंट होगा जिसकी मेजबानी न तो भारत और न ही इंग्लैंड या ऑस्ट्रेलिया करेंगे।आईसीसी लंबे समय से उभरते हुए देशों को इस बड़े टूर्नामेंट की मेजबानी के अधिकार देने के बारे में सोच रहा है। 2024 टी20 विश्व कप में 20 टीमों के होने की उम्मीद है जिसमें 2021 और 2022 चरण (16 टीमों के बीच 45 मैच) की तुलना में 55 मैच कराये जायेंगे। आईसीसी 2024 और 2031 के बीच कई वैश्विक टूर्नामेंट की मेजबानी करेगा जिसकी शुरूआत 2024 टी20 विश्व कप से होगी।ऑस्ट्रेलिया के इस दैनिक अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘इस महत्वपूर्ण कदम के अलावा अमेरिका को 2024 टूर्नामेंट का मेजबान चुनना ओलंपिक खेलों में क्रिकेट को शामिल करने के लंबे इंतजार के लिये ‘लांच पैड’ के तौर पर भी काम करेगा ताकि इस खेल को लास एंजिल्स 2028 ओलंपिक के बाद 2032 ब्रिसबेन तक जारी रखा जा सके’’एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसबीजिंग: चीन में कोविड- 19 संक्रमण के दैनिक मामले हुए दोगुने******Highlightsचीन वैश्विक महामारी के शुरुआती दिनों के बाद से अब तक के सबसे बड़े प्रकोप का सामना कर रहा है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 3,507 नए मामले सामने आए, जबकि उससे एक दिन पहले 1,337 दैनिक मामले सामने आए थे। चीन में कोरोना वायरस के अत्यधिक संक्रामक 'स्टील्थ ओमीक्रोन' के मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ रहे हैं। पूर्वोत्तर चीन के जिलिन प्रांत में संक्रमण के सबसे अधिक 2,601 नए मामले सामने आए हैं।आपको बता दें चीन में एक बार फिर से कोरोना आतंक मचा सकता है। वहां तेजी से मामले बढ़ रहे हैं। चीन ने बढ़ते मामले को देखते हुए चांगचुन शहर में जहां की आबादी 90 लाख है वहां लॉकडाउन लगाने का आदेश दिया था।लोगों को घर पर रहने के लिए कहा गया है। बड़े पैमाने पर कोविड का जांच कराने के आदेश दिए गये हैं। गैर जरूरी बिजनेस को बंद कर दिया गया है। और परिवहन संबंधी सभी सुविधाओं को रोक दिया गया है। इनपुट-भाषा

Chhattisgarh: एम्बुलेंस नहीं मिलने के कारण आदिवासी जोड़े के बच्चे की हुई मौत, NHRC का स्वास्थ्य विभाग को नोटिस

एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसभारत बना दुनिया का मिल्‍क कैपिटल, देश का दूध उत्पादन 6.6% बढ़कर हुआ 17.63 करोड़ टन******Milkदुग्‍ध उत्‍पादन में भारत ने उल्‍लेखनीय प्रगति हासिल की है। देश का दूध उत्पादन पिछले वित्त वर्ष (2017-18) के दौरान 6.6 प्रतिशत बढ़कर 17.63 करोड़ टन रहने का अनुमान है। केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कृष्णा राज ने लोकसभा में लिखित जवाब में कहा , " देश में दूध उत्पादन 2016-17 के दौरान 16.54 करोड़ टन और 2017-18 के दौरान 17.63 करोड़ टन (अस्थायी रूप से) रहा। "उन्होंने बताया कि विजन 2022 दस्तावेज के मुताबिक , 2021-2022 तक दूध उत्पादन 25.45 करोड़ टन रहने का अनुमान है। भारत दुनिया का सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक देश है। मंत्री ने कहा कि इस लक्ष्य को हासिल करने के लिये विभाग कई डेयरी विकास योजनाओं को कार्यान्वित कर रहा है ताकि देशभर में आवश्यक बुनियादी ढांचे का निर्माण किया जा सके।उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं को अच्छी गुणवत्ता और पोषक दूध की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिये खाद्य नियामक एफएसएसएआई ने राज्य खाद्य प्राधिकरणों को नियमित रूप से खाद्य नमूने लेने और गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा है।

एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसIPL Stars in T20 Max: ऑस्ट्रेलिया के टी20 लीग में खेलेंगे IPL के 2 धुरंधर, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने किया ऐलान******Highlights इंडियन प्रीमियर लीग में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले भारत के दो तेज गेंदबाज, मुकेश चौधरी और चेतन सकारिया अगस्त में ऑस्ट्रेलिया में शुरू हो रही टी20 मैक्स टूर्नामेंट के पहले सीजन में खेलते नजर आएंगे। चौधरी ने आईपीएल 2022 में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए बढ़िया प्रदर्शन किया था, जबकि सकारिया दिल्ली कैपिटल्स टीम का हिस्सा थे।ये दोनों तेज गेंदबाज ‘एमआरएफ पेस फाउंडेशन’ और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के बीच एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत ब्रिस्बेन में समय बिताएंगे। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इस बारे में एक बयान जारी करते हुए कहा, ‘‘ ‘एमआरएफ पेस फाउंडेशन’ और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के बीच प्लेयर्स और कोचिंग का एक्सचेंज प्रोग्राम लगभग 20 सालों से चल रहा है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने पिछले कुछ वर्षों का जिक्र करते हुए कहा, “यह पिछले कुछ सालों में कोरोना वायरस के कारण रुका था लेकिन इन दोनों भारतीय खिलाड़ियों के साथ फिर से शुरू हो रहा है।”सकारिया ने पिछले साल श्रीलंका के खिलाफ अपना वनडे और टी20 इंटरनेशनल डेब्यू किया था। उन्होंने अपने पहले वनडे में 2 विकेट लिए थे जबकि 2 टी20 में वे एक विकेट ले चुके हैं। वहीं मुकेश चौधरी ने इस साल हुए आईपीएल के 15वें एडिशन में 13 मैचों में 16 विकेट लिए थे। आईपीएल 2022 के दौरान चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कुछ मौकों पर चौधरी की गेंदबाजी की तारीफ भी की थी।ऑस्ट्रेलिया में होने वाले इस टूर्नामेंट में 24 साल के सकारिया सनशाइन कोस्ट के लिए खेलेंगे, जबकि 26 साल के चौधरी विन्नम-मैनली की ओर से मैदान में उतरेंगे। इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के अलावा दोनों भारतीय गेंदबाज ‘बूपा नेशनल क्रिकेट सेंटर’ में ट्रेनिंग लेंगे और ‘क्वींसलैंड बुल्स’ की तैयारियों में भी शामिल होंगे। टी20 मैक्स टूर्नामेंट को 18 अगस्त से 4 सितंबर तक आयोजित किया जाएगा। इसका फाइनल एलन बॉर्डर फील्ड में खेला जायेगा।एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसAsia Cup 2018 Final Preview: 7वीं बार एशिया कप का खिताब जीतने उतरेगी टीम इंडिया******दुबई। मौजूदा विजेता भारतीय टीम शुक्रवार को अपने सातवें एशिया कप खिताब के लिए यहां दुबई अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में बांग्लादेश से भिड़ेगी। भारत ने 2016 में भी फाइनल में बांग्लादेश को हराकर अपना छठा एशिया कप खिताब जीता था। वहीं, बांग्लादेश तीसरी बार फाइनल में पहुंचा है। पहले दो मौकों पर वह जीत हासिल करने से चूक गया था लेकिन इस बार उसकी कोशिश भारतीय चुनौती को समाप्त कर पहला खिताब जीतने की होगी।भारत ने 1984, 1988, 1990-91, 1995, 2010 और 2016 में एशिया कप के खिताब अपने नाम किए हैं। बांग्लादेश पहली बार 2012 में इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचा था लेकिन पाकिस्तान से मात खा बैठा था।दोनों टीमों ने अभी तक शानदार क्रिकेट खेली है और इसी लिहाज से इस मैच को एकतरफा नहीं माना जा सकता। बांग्लादेश की टीम उलटफेर करने और भारत को मात देने का माद्दा रखती है। इस बात से भारत भी वाकिफ है।बांग्लादेश को हालांकि अभी तक अपनी सबसे बड़ी चुनौती का सामना करना है। चुनौती सिर्फ भारत से फाइनल में भिड़ने की नहीं है बल्कि अपने चोटिल खिलाड़ियों की समस्या से जूझने की है। तमीम इकबाल पहले ही टूर्नामेंट से बाहर हो चुके हैं। अब हरफनमौला खिलाड़ी शाकिब अल हसन भी चोट के कारण स्वदेश लौट गए हैं। ऐसे में टीम की बल्लेबाजी कमजोर सी लग रही है।टीम के पास हालांकि मुश्फीकुर रहीम, मोहम्मद मिथुन, लिट्टन दास और महामुदुल्लाह जैसे बल्लेबाज हैं जो टीम को मजबूत स्कोर तक पहुंचा सकते हैं। वहीं निचले क्रम में टीम को मशरेफ मर्तुजा से तेज पारी की उम्मीद होगी।भारत की बात की जाए तो उसकी बल्लेबाजी कप्तान रोहित शर्मा और शिखर धवन के जिम्मे है। यह दोनों अभी तक टूर्नामेंट में लगातार बल्ले से रन करते आए हैं। धवन के नाम अभी तक 327 रन दर्ज हैं तो वहीं रोहित के हिस्से 269 रन हैं।टीम की समस्या यह है कि अगर इन दोनों में से कोई भी बल्लेबाज विफल हो जाता है तो टीम लडखड़ा जाती है। पिछले मैच में दोनों बल्लेबाज बाहर बैठे थे। तब लोकेश राहुल और अंबाती रायडू ने अर्धशतकीय पारियां खेलीं थीं, लेकिन मध्यक्रम विफल ही रहा था।अब जबकि रोहित और धवन दोनों फाइनल में उतरेंगे तब देखना यह होगा कि टीम प्रबंधन बाहर किसे बैठाता है। पिछले मैच में टीम ने युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह को भी आराम दिया था। यह तीनों भी इस फाइनल में वापसी करेंगे।टीम की गेंदबाजी की जिम्मेदारी बुमराह और भुवनेश्वर पर ही होगी। वहीं बांग्लादेशी मध्यक्रम के सामने चहल, कुलदीप यादव और रवींद्र जडेजा की स्पिन तिगड़ी का सामना करना आसान नहीं होगा।भारतीय गेंदबाजी जितनी मजबूत है उसी तरह से बांग्लादेश की गेंदबाजी को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। मुस्ताफीजुर रहमान ने पाकिस्तान के खिलाफ चार विकेट लिए थे। वहीं कप्तान मशरफे मुर्तजा भी तेज गेंदबाजी में टीम के धारदार हथियार हैं। स्पिन में शाकिब की कमी टीम को खलेगी लेकिन मेहेदी हसन मिराज की फॉर्म भारतीय बल्लेबाजों को परेशान कर सकती है।भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन (उपकप्तान), लोकेश राहुल, अंबाती रायडू, मनीष पांडे, केदार जाधव, महेंद्र सिंह धोनी, दिनेश कार्तिक, दीपक चहर, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, सिद्धार्थ कौल और खलील अहमद।बांग्लादेश : मशरफे मुर्तजा (कप्तान), लिटन दास, मुश्फिकुर रहीम, महमुदुल्लाह, मोहम्मद मिथुन, मोसादिक हुसैन, मेहदी हसन, रूबैल हुसैन, मुस्ताफिजुर रहमान, अबु हैदर, आरिफ हक, मोमिनुल हक, नजमुल हुसैन शंटो, नजमुल इस्माल।

एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसट्रेन के देर होने पर यात्रियों को एसएमएस से मिलेगी सूचना, 1000 से अधिक ट्रेनों के लिए शुरू हुई यह सुविधा****** रेलवे ने एसएमएस अलर्ट सर्विस का 1,000 से ज्यादा ट्रेनों में विस्तार किया है, जिनमें प्रीमियम और सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेनें शामिल है। इस सेवा के तहत ट्रेन के खुलने में एक घंटे से अधिक की देर होने पर यात्रियों को एसएमएस से सूचना भेजी जाती है। के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ट्रेन खुलने में एक घंटे से अधिक देरी होने पर मैसेज भेजकर सूचित करने की सेवा का विस्तार बुधवार से 1,000 से ज्यादा प्रीमियम और सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेनों में किया गया है। उन्होंने कहा यह एसएमएस सेवा 4 नवंबर 2017 से शुरू हुई थी, जो अभी राजधानी, शताब्दी जैसी प्रीमियम ट्रेनों तक ही सीमित थी। इसके अलावा यह एसएमएस केवल उन यात्रियों को भेजा जाता था, जो मूल स्टेशन (ट्रेन के शुरू होने के स्टेशन) से अपनी यात्रा की शुरुआत करते थे। उन्होंने कहा कि अब ट्रेन के रूट के किसी भी स्टेशन से सवार होने वाले सभी यात्रियों को यह सेवा मिलेगी।इस सेवा को रेलवे सूचना प्रणाली केंद्र (क्रिस) ने विकसित किया है, जो रेलवे की सूचना प्रौद्योगिकी इकाई है। इस एसएमएस सेवा को यात्रियों के लिए एक महत्वपूर्ण सेवा माना जा रहा है। अधिकारी ने कहा कि यात्रियों को सलाह दी जाती है कि एसएमएस सुविधा को हासिल करने के लिए वे रिजर्वेशन की पर्ची पर अपना मोबाइल नंबर जरूर लिखें।एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिस4 अगस्त तक आप दिन में भी देख सकेंगे चांद, जानें क्या है कारण****** आमतौर पर रात को दिखाई देने वाले को 4 अगस्त 2018 तक हम दिन में भी देख सकेंगे। दरअसल, 27 जुलाई को लगे के बाद चंद्रमा अब अपने ढलान पर है। चंद्रमा के ढलान की इसी प्रक्रिया के तहत यह 4 अगस्त तक सुबह भी दिखाई देगा। आप चांद को सुर्योदय के बाद कुछ देर तक देख पाएंगे। इसे सुबह 9 बजे से 12 बचे के बीच देखा जा सकेगा। इस दौरान यदि आसमान साफ रहता है तो आप इसके आधे भाग को बेहतर तरीके से देख पाएंगे।आपको बता दें कि ढलते हुए चरण के दौरान चंद्रमा पृथ्वी के और करीब होता जा रहा है। पूर्ण चंद्रग्रहण के समय चांद, पृथ्वी और सूर्य एक सीधी रेखा में आ गए थे, लेकिन अब ये तीनों इस स्थिति में नहीं रहे। यही वजह है कि चंद्रमा के उदय होने और अस्त होने के समय में बदलाव आ गया है, जिसके चलते यह दिन में भी दिखाई देगा। आप ध्यान देंगे तो पाएंगे कि आजकल चंद्रमा रात में देर से निकलता है और सुबह में देर से अस्त भी होता है।यह प्रक्रिया 27 जुलाई के बाद शुरू हुई है और 4 अगस्त तक जारी रहेगी। समय की बात करें तो भारत में चांद रात में 11 बजे के आसपास निकलेगा और इसके सुबह 9 बजे से लेकर दोपहर 12 बजे तक इसके ढलने का समय होगा। आप पश्चिम दिशा में दिन चढ़ने के साथ-साथ चांद को देख सकेंगे। यदि आप भी दिन में चांद देखना चाहते हैं, तो सिर्फ यह समय याद रखिए।

एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसचीन की बदमाशी के खिलाफ भारत के साथ खड़ा हुआ अमेरिका, दिया बड़ा बयान******Highlightsअमेरिका ने कहा है कि वह चीन की आक्रामकता के खिलाफ भारत के प्रति एकजुट है। दरअसल, देश के अनेक सांसदों ने 2020 में गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में घायल हुए PLA के एक सैनिक को ओलंपिक मशाल वाहक बनाने के चीन के फैसले की निंदा की, इसके बाद अमेरिका ने यह बयान दिया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने गुरुवार को एक डेली प्रेस ब्रीफिंग में कहा, ‘जहां तक बात भारत-चीन सीमा विवाद की है, हम सीधे संवाद और विवादों के शांतिपूर्ण समाधान का समर्थन करना जारी रखेंगे।’नेड प्राइस ने कहा, ‘हमने पहले भी अपने पड़ोसियों को डराने-धमकाने के चीन के प्रयासों पर चिंता व्यक्त की है। जैसा कि हम हमेशा करते हैं, हम दोस्तों के साथ खड़े हैं। हम हिंद-प्रशांत में अपनी साझा समृद्धि, सुरक्षा तथा मूल्यों को आगे बढ़ाने के लिए भागीदारों और सहयोगियों के साथ खड़े हैं।’ इससे पहले दिन में, 2 शीर्ष अमेरिकी सांसदों मार्को रुबियो और जिम रिश ने पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के रेजिमेंटल कमांडर क्वी फाबाओ को ओलंपिक मशाल वाहक बनाने के फैसले के लिए चीन की आलोचना की थी। प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी ने भी आरोप लगाया कि चीन की सरकार और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा ओलंपिक का इस्तेमाल किया जा रहा है और चीन में मानवाधिकारों के हनन से दुनिया का ध्यान हटाने की कोशिश की जा रही है। गौरतलब है कि सेना के रेजिमेंट कमांडर क्वी फाबाओ 15 जून 2020 को पूर्वी लद्दाख में गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों के साथ सीमा पर हुई हिसंक झड़प में घायल हो गए थे और चीन ने ओलंपिक समारोह में उन्हें मशाल वाहक के रूप में चुना है। संघर्ष में के 20 जवान शहीद हुए थे। पिछले वर्ष फरवरी में ने आधिकारिक रूप से स्वीकार किया था कि उसके 5 सैन्य अधिकारी तथा जवान झड़प में शहीद हुए थे। बीजिंग में 24वें शीतकालीन ओलंपिक समारोह की शुरुआत शुक्रवार को होगी।एम्बुलेंसनहींमिलनेकेकारणआदिवासीजोड़ेकेबच्चेकीहुईमौतNHRCकास्वास्थ्यविभागकोनोटिसमूवी रिव्यू बाग़ी 3: टाइगर श्रॉफ का दमदार एक्शन लेकिन कहां है लॉजिक?******मूवी रिव्यू बाग़ी 3 ये कहानी आगरा में रहने वाले दो भाईयों की है, एक भाई माचो मैन है जिसका नाम है रॉनी () तो दूसरा भाई है विक्रम () जो थोड़ा दब्बू और डरपोक है। अब डरपोक भाई बन गया पुलिसवाला और दूसरा भाई जिसपर 32 केस चल रहे हैं वो अपने भाई की रक्षा करता है, उसके पुलिसवाले सारे काम भी वही करता है। यहां तो फिर भी ठीक था लेकिन अब विक्रम सीरिया में बंदी हो गया है और रॉनी दुनिया के नक्शे से सीरिया को मिटाने पहुंच जाता है।फिल्म की शुरुआत से ही लॉजिक गायब है जो पूरी फिल्म खत्म होने के बाद भी नहीं आता है। एक तो अकेले एक इंसान का जैश-ए- लश्कर से लड़ना हमें हजम नहीं होता है। उस पर एक सीन है जहां टाइगर श्रॉफ कैप्टन अमेरिका बनकर सारी गोलियां शील्ड से बचा लेते हैं और सारे आतंकियों की गोली एक साथ खत्म हो जाती है और ठीक उसी वक्त टाइगर शील्ड साइड फेंकते हैं और हाथापाई करने लगते हैं। कई सारी तोपें-चॉपर्स एक अकेले टाइगर को निशाना बनाती हैं लेकिन एक टाइगर तो टाइगर हैं उन्हें एक भी खरोंच नहीं आती है।इतना ही नहीं गाड़ियां बम से उड़ रही हैं लेकिन रॉनी को कुछ नहीं होता है, एक जगह तो बम उड़ता है और रॉनी इस बार बम के साथ उड़कर चॉपर पर लटक जाता है। आप सोच में पड़ जाते हैं कि चल क्या रहा है?पूरी फिल्म में दिखाया गया है कि रॉनी अपने भाई के लिए कुछ भी कर सकता है। वो कहता है- मुझ पर आती तो मैं छोड़ देता लेकिन भाई पर आई तो फोड़ देता हूं। लेकिन कहीं भी आप दोनों भाईयों के बीच के इमोशन को फील नहीं कर पाएंगे। दोनों का रिश्ता कितना मजबूत है ये सब आप पूरी फिल्म में नहीं फील कर पाएंगे।अबू जलाल जो लोगों को किडनैप करवाकर उन्हें सुसाइड बॉम्बर बना रहा है। वो ऐसा क्यों कर रहा है उसका मकसद क्या है... फिल्म में इस बारे में कोई बात नहीं की गई है। बल्कि फिल्म में तो ऐसा दिखाया गया है कि जितने भी सुसाइड बॉम्बर्स होते हैं सब मासूम होते हैं।आईपीएल का रोल निभाने वाले जयदीप अहलावत के बारे में क्या कहा जाए... पूरी फिल्म में वो मासूमों को पकड़-पकड़कर सीरिया भेजते रहे और अंत में उनके अंदर का इंसान कब और कैसे जाग जाता है समझ नहीं आता और वो अपनी जान देकर मासूमों की जान बचा लेता है।टाइगर श्रॉफ हर बार एक्शन रोल में नजर आते हैं इसमें भी वो यही कर रहे हैं। एक्शन के अलावा कुछ इमोशनल सीन उनके हिस्से आए हैं जो उन्होंने चलते ढंग से किए हैं। रितेश पर तरस आता है कि पूरी फिल्म में सिर्फ रॉनी रॉनी करने के अलावा उन्हें कुछ करने को मिला नहीं, क्लाईमैक्स में जरूर उनको थोड़ा सा काम दे दिया गया।हालांकि रितेश की कॉमिक टाइमिंग अच्छी है और कॉमेडी सीन में वो जंचे हैं। श्रद्धा कपूर फिल्म के पास भंकस गाने के अलावा कुछ खास था नहीं करने का... एक-दो सीन में उन्हें रोने का मौका मिला है लेकिन वहां भी उनका रोना देखकर आपको हंसी आ जाएगी।अंकिता लोखंडे को आपने मणिकर्णिका फिल्म में अच्छा काम करते देखा था लेकिन इस फिल्म में उनके पास कोई खास काम नहीं है। विजय वर्मा फिल्म में अच्छे पाकिस्तानी के रोल में हैं जो टाइगर की मदद करता है लेकिन उनका एक्सेंट पाकिस्तानी नहीं लगता है।अगर आप टाइगर के फैन हैं एक्शन फिल्में पसंद करते हैं तो ये फिल्म देख सकते हैं। क्योंकि लॉजिक के बिना आप एक्शन देखेंगे तो आपको फिल्म ठीक-ठाक लगेगी। इसके अलावा कुछ कॉमेडी सीन भी अच्छे हैं जो रितेश देशमुख और सतीश कौशिक के हिस्से आए हैं। इंडिया टीवी इस फिल्म को देता है 5 में से 2 स्टार।

हाल का ध्यान

लिंक