इंडिगो ने आईपीओ से जुटाएं 3,008 करोड़ रुपए, एलोकेशन प्राइस 765 रुपए प्रति शेयर तय

2022-10-04 17:25:45 कियानक्सिनन बुई और मियाओ स्वायत्त प्रान्त

इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतयभारत बनाम वेस्टइंडीज सीरीज में ये खिलाड़ी चमके, फिर भी मिली निराशा******भारत और वेस्टइंडीज के बीच सीरीज खत्म हो गई है। वेस्टइंडीज का लंबा दौरा भी अब खत्म हो गया है। भारत और वेस्टइंडीज के बीच पहले वन डे सीरीज खेली गई और उसके बाद टी20 सीरीज हुई। हालांकि वेस्टइंडीज की टीम एक भी मैच नहीं जीत पाई और टीम इंडिया ने उसे चारोखाने चित्त किया है। अगर टी20 सीरीज की ही बात करें तो वेस्टइंडीज के कुछ खिलाड़ियों ने शानदार खेल का प्रदर्शन किया। यहां तक कि सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाला खिलाड़ी वेस्टइंडीज का ही था, वहीं सबसे ज्यादा रन भी वेस्टइंडीज के खिलाड़ी ने ही बनाए, लेकिन टीम के हाथ में निराशा के अलावा और कुछ नहीं आया।भारत और वेस्टइंडीज के बीच जो टी20 सीरीज खेली गई, उसमें सबसे ज्यादा रन वेसटइंडीज के निकोलस पूरन ने बनाए हैं। उन्होंने तीन मैचों में 184 रन बनाए और उनका औसत 61.33 का रहा। सीरीज के हर मैच में उन्होंने 50 रन से ज्यादा की पारी खेली। वेस्टइंडीज की टीम जो मैच लड़ाने में कामयाब रही, उसका श्रेय निकोलस पूरन को ही जाता है, लेकिन बाकी किसी भी बल्लेबाज का उन्हें सहयोग नहीं मिला। इसके बाद सबसे ज्यादा रन भारत के सूर्य कुमार यादव ने बनाए। सूर्य कुमार यादव ने सीरीज में 107 रन बनाए और उनका औसत 53.50 का रहा। इसके बाद तीसरे नंबर पर फिर वेस्टइंडीज के रोवमन पॉवेल रहे। जिन्होंने 95 रन बनाए और उनका औसत 47.50 का रहा। यानी टॉप 3 में दो तो वेस्टइंडीज के ही बल्लेबाज रहे और भारत का केवल एक।उधर अगर टी20 सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज की बात करें तो वहां भी वेस्टइंडीज ने ही बाजी मारी है। सबसे ज्यादा विकेट रोस्टन चेज ने लिए हैं, उनके नाम छह विकेट हैं। उनका औसत 10 से कुछ ज्यादा का है। वहीं दूसरे नंबर पर हर्षल पटेल रहे, हर्षल पटेल ने तीन मैचों में पांच ​विकेट अपने नाम किए ओर उनका औसत 21 का रहा। तीसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज रवि बिश्नाई रहे। उन्होंने सीरीज में तीन विकेट लिए और उनका औसत 25 से कुछ ज्यादा का रहा। इस तरह से यहां टॉप 3 में दो भारतीय और एक वेस्टइंडीज का गेंदबाज रहा। यानी वेस्टइंडीज की टीम ने खेल तो ठीक दिखाया, लेकिन आखिरी मौके पर चूक जाने के कारण टीम मैच अपने नाम नहीं कर सकी।

इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतय1992 के बाद ITC के शेयर में आई सबसे बड़ी गिरावट, निवेशकों के डूबे 19,000 करोड़ रुपए****** मंगलवार को सुबह के कारोबार के दौरान ITC के शेयर में 15 प्रतिशत की बड़ी गिरावट आई, जिससे इसके शेयरधारकों को बड़ा नुकसान उठाना पड़ा। भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) को आधे घंटे में ही 7,000 करोड़ रुपए से हाथ धोना पड़ा। 30 जून 2017 की स्थिति के मुताबिक ITC में एलआईसी की हिस्‍सेदारी 16.29 प्रतिशत थी। घरेलू बीमा कंपनियों को इस गिरावट से संयुक्‍त रूप से 10,000 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। वहीं विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों को 9,000 करोड़ रुपए का चूना लगा है। कुल मिलाकर ITC के निवेशकों को 19,000 करोड़ रुपए का झटका लगा है। 1992 के बाद आईटीसी के शेयर में यह सबसे बड़ी गिरावट बताई जा रही है।बॉम्‍बे हाईकोर्ट में इस साल अप्रैल में एलआईसी और अन्‍य चार सरकारी साधारण बीमा कंपनियों द्वारा आईटीसी में निवेश के खिलाफ एक जनहित याचिका दाखिल की गई है। इसमें कहा गया है कि भारत में तंबाकू की वजह से हर साल लाखों की जान जाती है, बावजूद इसके सरकारी कंपनियों ने सिगरेट बनाने वाली कंपनी में जनता का पैसा निवेश किया है। इसका बचाव करते हुए एलआईसी के चेयरमैन वीके शर्मा ने हाल ही में कहा था कि कंपनी में निवेश करना या न करने का फैसला धूम्रपान से संबंधित नहीं होता है।जीएसटी परिषद ने सिगरेट पर सेस बढ़ाने का फैसला किया है, जिससे सिगरेट निर्माताओं को 5,000 करोड़ रुपए का सालाना ‘विंडफॉल’ लॉस होगा। जीएसटी की इस घोषणा के बाद ही आईटीसी के शेयर में 15 प्रतिशत की गिरावट आ गई। आईटीसी का शेयर अपने निचले स्‍तर 276 रुपए पर पहुंच गया, जिससे कंपनी का मार्केट कैप 45,000 रुपए घट गया।वस्‍तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद ने सिगरेट पर उपकर बढ़ा दिया है। वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि जीएसटी दरें तय होने के बाद विसंगति की वजह से सिगरेट विनिर्माता अप्रत्याशित लाभ कमा रहे थे और इसी के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है। नए निर्णय के अनुसार जहां सिगरेट पर जीएसटी की 28 प्रतिशत की उच्चतम दर लागू रहने के साथ पांच प्रतिशत का मूल्यानुसार कर भी बना रहेगा। पर इसके अतिरिक्त इस पर लागू मात्रानुसार उपकर की दर बढ़ा दी गई है। परिषद के इस निर्णय के अनुसार अब प्रति एक हजार सिगरेट स्टिक्स पर मात्रानुसार तय उपकर 485 से 792 रुपए तक बढ़ गया है। जेटली ने कहा कि सिगरेट पर उपकर में बढ़ोतरी से सरकार को 5,000 करोड़ रुपए का अतिरिक्त राजस्व मिलेगा, अन्यथा यह विनिर्माताओं के खाते में जाता।इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतयकोरोना वायरस: ईरान से 53 और भारतीय लेकर आया 'महान एयर', अब तक 389 लाए गए******कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित देशों में से एक ईरान से 53 भारतीयों का चौथा जत्था सोमवार को भारत पहुंच गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अभी तक कुल 389 भारतीयों को ईरान से भारत लाया जा चुका है। गौरतलब है कि ईरान से रविवार को 230 से अधिक भारतीयों का तीसरा जत्था नई दिल्ली पहुंचा था जिन्हें जैसलमेर के भारतीय सेना स्वास्थ्य केंद्र में पृथक रखा गया है। विदेश मंत्री एस. जयशंकर द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, चौथे जत्थे में 52 छात्र और एक शिक्षक भारत पहुंचे। ने ट्वीट किया, ‘53 भारतीयों (52 छात्रों और एक शिक्षक) का चौथा जत्था ईरान के तेहरान और शिराज से आ गया है। इसके साथ ही कुल 389 भारतीय अभी तक ईरान से भारत आ चुके हैं। ईरान में भारतीय दल और ईरानी अधिकारियों के प्रयासों की सराहना करता हूं।’ अधिकारियों ने बताया कि ये भारतीय ‘महान एयर’ के विमान में देर रात करीब 3 बजे दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचे। इसके बाद उन्हें ‘एअर इंडिया’ के विमान में जैसलमेर स्थित भारतीय सेना स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया।’

इंडिगो ने आईपीओ से जुटाएं 3,008 करोड़ रुपए, एलोकेशन प्राइस 765 रुपए प्रति शेयर तय

इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतयUP News: युवती ने मृत को पिता का शव समझ किया अंतिम संस्कार, अब अस्पताल में मिले******उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में एक युवक ने अपने पिता का समझकर अज्ञात शव का अंतिम संस्कार कर दिया और तेरहवीं की तैयारियों के दौरान पता चला कि उसके पिता तो राजकीय मेडिकल कॉलेज में भर्ती हैं। अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) संजय कुमार ने बुधवार को बताया कि 22 अगस्त को 60 वर्षीय व्यक्ति का अज्ञात शव कोतवाली अंतर्गत अजीजगंज क्षेत्र में मिला था।उन्होंने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया और शाम को ही खीरी जनपद के पसगवां क्षेत्र के रहने वाले इंद्र कुमार ने अज्ञात शव की शिनाख्त अपने पिता रनालाल के रूप में की। अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) संजय कुमार ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम होने के बाद वह औपचारिकताएं पूर्ण करके शव अपने घर ले गए और अंतिम संस्कार कर दिया।उन्होंने बताया कि इंद्र कुमार के चचेरे भाई के पास मंगलवार शाम को अस्पताल के ही एक मरीज का फोन आया और उसने बताया कि रनालाल यहां अस्पताल में भर्ती हैं और उनका पैर टूटा हुआ है। कुमार ने बताया कि आज इंद्र कुमार ने थाना कोतवाली पहुंचकर पुलिस को लिखित में बताया कि उनके पिता एक माह से लापता थे और जो शव मिला था, उसकी दाढ़ी बढ़ी हुई थी और चेहरा भी साफ नहीं था, इसलिए पहचानने में गलती हो गई उनके पिता जीवित हैं। अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है।इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतय2019 के मार्च तक आठ लाख करोड़ रुपए के NPA पर होगी दिवाला कार्रवाई : एसोचैम****** बैंकिंग नियमन संशोधन अध्यादेश से ताकत मिलने के बाद भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) मार्च, 2019 तक करीब आठ लाख करोड़ रुपए के डूबे कर्ज (NPA) के मामले निपटान के लिए आगे बढ़ा सकता है। उद्योग मंडल एसोचैम के एक अध्ययन में कहा गया है कि इस कदम से बैंकों का NPA कम होगा और उनकी वित्‍तीय सेहत सुधारने में मदद मिलेगी। एसोचैम के अध्ययन एनपीए रिजोल्यूशन : लाइट एट द एंड आफ टनल बाय मार्च 2019 में कहा गया है कि यह मानना अधिक सुरक्षित होगा कि गैर निष्पादित परिसंपत्तियों (NPA) की समस्या वित्‍त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही तक काफी हद तक निपट जाएगी।दिल्ली में मंगलवार से लौट सकती है बारिश, जानिए अगले हफ्ते मौसम विभाग ने कहां के लिए की है बरसात की भविष्यवाणीरिपोर्ट में कहा गया है कि इसमें कई कारकों मसलन आर्थिक चक्र में बदलाव और सरकार तथा RBI द्वारा कुछ मजबूत कदमों से मदद मिलेगी। इसमें कहा गया है कि समूचे NPA को दिवाला एवं शोधन अक्षमता संहिता कार्रवाई के तहत लाया जा सकता है, लेकिन देखने वाली बात यह होगी कि कितना और कितनी तेजी से यह वास्तव में बैंकों के अकाउंट्स से हटता है। 30 जुलाई तक GST में नहीं हुए रजिस्टर्ड तो लगेगी पेनाल्टी, वित्त मंत्रालय ने जल्दी पंजीकृत होने का बताया रास्ताफिलहाल बैंकों पर NPA का काफी ज्यादा दबाव है। यह किसी से छिपा नहीं है कि NPA से विशेष रूप से सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की वित्‍तीय सेहत खराब हो रही है। उदाहरण के लिए वित्‍त वर्ष 2016-17 में 27 सरकारी बैंकों का सामूहिक परिचालन लाभ 1.5 लाख करोड़ रुपए रहा। लेकिन इसमें डूबे कर्ज के लिए प्रावधान को लेने के बाद उनका शुद्ध मुनाफा घटकर मात्र 574 करोड़ रुपए पर आ गया।इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतययोगी जी के बुल्डोजर को जनता कर रही है पसंद, अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई सही: राजा भैया****** उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के कुंडा से निर्दलीय विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया ने बाहुबली कहे जाने पर कहा, ''मैं पूरी विनम्रता से बाहूबली शब्द का खंडन करना चाहता हूं। जनता के बीच कड़ी मेहनत और चुनाव से पहले प्रत्याशी का जो व्यवहार है वहीं बना रहे, यही जीत का फॉर्मूला होता है। डर व दहशत से चुनाव नहीं जीते जाते और मेरा अनुरोध है कि बाहुबली शब्द से मुझे संबोधित न करें।'' वह इंडिया टीवी के कार्यक्रम 'चुनाव मंच' में बोल रहे थे।उन्होंने कहा, ''30 नवंबर 2018 को जब विधानसभा में हमारे 25 वर्ष पूरे हुए तो सभी समर्थकों से राय ली गई। अधिकांश शुभचिंतकों ने यह राय दी कि अपनी पार्टी बनाई जानी चाहिए। ऐसा नहीं था कि किसी राजनीतिक दल में तवज्जो नहीं मिल रही हो या उपेक्षित किया गया हो इसलिए अपना अलग दल बना लिया। हर वर्ग का सहयोग और आशीर्वाद हमेशा मिलता रहा है। कुंडा में लगभग पौने चार लाख वोटर हैं जिसमें सिर्फ 10 हजार ठाकुर हैं, जो लोग कुंडा विधानसभा को नहीं जानते वे कह सकते हैं कि जातिवाद की वजह से जीत रहे होंगे लेकिन ऐसा नहीं है।''जब उनसे पूछा गया कि क्यया अबकी बार भी वह निर्दलीय ही लड़ेंगे इस पर उन्होंने कह, हमारा गठबंधन किससे होगा इसपर कोई निर्णय नहीं हुआ है, जैसे ही निर्णय होगा तो आपको बताया जाएगा। सीएम योगी की तारीफ करत हुए राजा भैया ने कहा, ''बुल्डोजर की अगर आप बात करें तो आम जनता में यह पसंद किया जा रहा है, ज्यादातर लोग यह मानते हैं कि अपराधियों के खिलाफ यह सरकार कार्रवाई कर रही है। कोई भी सरकार हो अपराध के प्रति जीरो टॉलरेंस होना चाहिए। योगी जी का कोई बयान हमने नहीं सुना जिसमें उन्होंने कहा होगा कि हम ठोक देंगे।''किसान आंदोलन को लेकर उन्होंने कहा, ''कई दिनों से देश में किसान आंदोलन चल रहा है और वह देश के एक पर्टिकुलर हिस्से में चल रहा है खास तौर पर एक राज्य के लोग उसमें ज्यादा सक्रिय हैं। उत्तर प्रदेश में हम सभी लोग ग्रामीण पृष्ठभूमि से आते हैं और सबके बाप दादा खेती किसानी ही करते हैं। असली किसान खेतों में काम कर रहा है, उन किसानों की जो मांग है या जो भ्रम फैलाया जा रहा है, कहा जा रहा है कि एमएसपी खत्म हो जाएगी। एमएसपी कभी खत्म नहीं होगी, इस चीज को सरकार कह भी चुकी है लेकिन इसके लिए धरना चल रहा है। असली किसान खेतों में काम कर रहा है धरना नहीं दे रहा। धरने में लोग कोई खालिस्तान की मांग कर रहे हैं, कोई भारत तेरे टुकड़े होंगे कह रहा है, कोई राष्ट्रीय ध्वज का अपमान कर रहा है तो कोई लालकिले पर चढ़ रहा है।''

इंडिगो ने आईपीओ से जुटाएं 3,008 करोड़ रुपए, एलोकेशन प्राइस 765 रुपए प्रति शेयर तय

इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतयIPL 2022, 1000 Sixes : ध्वस्त हुए 15 साल के सभी रिकॉर्ड, जानिए किस टीम ने लगाए कितने छक्के******Highlightsइंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2022 में काफी कुछ अनोखा हो रहा था इसी बीच एक और ऐसा कारनामा हुआ जो इससे पहले कभी नहीं हुआ था। आईपीएल 2022 के 70वें लीग मैच में 1000 छक्के भी पूरे हो गई। लीग के पिछले 15 साल के इतिहास में इससे पहले कभी भी ऐसा नहीं हुआ था। इस सीजन में कुल 10 टीमों ने हिस्सा लिया और संजू सैमसन की अगुआई वाली राजस्थान रॉयल्स ने सर्वाधिक 116 छक्के लगाए। इस सीजन से पहले 2018 में सर्वाधिक 872 छक्के लगे थे।अगर मैचों के हिसाब से बात करें तो 2018 आईपीएल में 60 मैचों में कुल 872 छक्के लगे थे। इतने छक्कों का रिकॉर्ड मौजूदा सीजन में 62वें मैच के दौरान ही टूट गया था। वहीं 2018 और यह सीजन यानी 2022 के अलावा कभी भी 800 से अधिक छक्के नहीं लगे हैं। इस सीजन के अभी चार मुकाबले प्लेऑफ के बाकी हैं। इसका मतलब इस सीजन में यह आंकड़ा 1050 भी आसानी से पार कर सकता है।1000 छक्कों का आंकड़ा लीग स्टेज के आखिरी यानी 70वें मैच में छुआ गया। लियाम लिविंगस्टोन ने 97 मीटरा का छक्का सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ लगाकर यह जादुई आंकड़ा छुआ। आपको बता दें कि इस सीजन का सबसे लंबा 117 मीटर का छक्का भी लिविंगस्टोन ने ही गुजरात टाइटंस के खिलाफ लगाया था।इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतयReligare Fraud Case: 1260 करोड़ रुपए का गबन हुआ, ईओडब्ल्यू ने कोर्ट में खोले कई राज******Former promoters of pharmaceutical giant Ranbaxy, Shivinder Singh arrested by the Economic Offences Wing (EOW) of Delhi Police for allegedly misappropriating funds of Religare Finvest Limited (RFL) to the tune of Rs 2,397 crore in New Delhi on Friday रेलीगेयर फ्रॉड मामले की जांच कर रही आर्थिक अपराध शाखा () ने दिल्ली में एक कोर्ट को बताया कि देनदारियों को चुकता करने के लिए 1,260 करोड़ रुपए की राशि मलविंदर सिंह की कंपनी आरएचसी होल्डिंग्स प्राइवेट लिमिटेड को हस्तांतरित की गई। गुरुवार को गिरफ्तार किए गए पांचों आरोपियों की रिमांड की मांग करते हुए ईओडब्ल्यू ने कहा, 'सेबी द्वारा की गई फॉरेंसिक ऑडिट में खुलासा हुआ है कि 1,260 करोड़ रुपए आरएचसी होल्डिंग्स प्राइवेट लिमिटेड को हस्तांतरित किए गए और बाद में म्यूचुअल फंड्स की देनदारियों को चुकता करने के लिए भुगतान कर दिया गया।'मामले के पांच आरोपियों में दवा कंपनी रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर और सगे भाई शिविंदर सिंह और मलविंदर सिंह भी शामिल हैं। आईएएनएस को प्राप्त रिमांड की याचिका की एक प्रति में आगे लिखा है कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की तरफ से शिकायतकर्ता कंपनी द्वारा रिपोर्ट दाखिल की गई, जिसमें लिखा गया कि कॉर्पोरेट लोन बुक (सीएलबी) पोर्टफोलियो के तहत शीर्ष उधारीकर्ताओं के शेयरहोल्डिंग पैटर्न से लगता है कि वे एक-दूसरे से जुड़ी हुई कंपनियां हैं।बैंकों द्वारा उपलब्ध कराए गए प्राथमिक जांच के आंकड़े से खुलासा हुआ है कि उधारकर्ताओं में आपस में संबंध था, क्योंकि एक ही राशि एक उधारकर्ता से दूसरे उधारकर्ता के पास भेजी गई थी। ईओडब्ल्यू ने गुरुवार को शिविंदर सिंह, रेलीगेयर का पूर्व एमडी सुनील गोधवानी, रवि अरोड़ा और अनिल सक्सेना को गिरफ्तार किया था, वहीं मलविंदर को उसी दिन अलग से गिरफ्तार किया था।

इंडिगो ने आईपीओ से जुटाएं 3,008 करोड़ रुपए, एलोकेशन प्राइस 765 रुपए प्रति शेयर तय

इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतयGermany Import Fuel from Russia: जंग का विरोध करने वाले जर्मनी ने दो माह में रूस से खरीदा सबसे ज्यादा फ्यूल******रूस के यूक्रेन पर हमले का विरोध करने वाले देशों में जर्मनी अग्रणी देश है। हमले का कड़ा विरोध करने वाले जर्मनी ने पिछले दो माह में सबसे ज्यादा तेल और फ्यूल रूस से खरीदा है। यूक्रेन युद्ध के दो महीने में रूसी ऊर्जा का सबसे बड़ा खरीदार जर्मनी रहा। गुरुवार को एक स्वतंत्र रिसर्च एजेंसी ने यह जानकारी दी। रिसर्चरों ने हिसाब लगाया है कि इस अवधि में रूस ने करीब 63 अरब यूरो का जीवाश्म ईंधन बेचा है।24 फरवरी को रूस ने यूक्रेन पर हमला बोला था। जहाजों की आवाजाही, पाइपलाइनों में गैस के बहाव और मासिक व्यापार के पुराने आंकड़ों के आधार पर रिसर्चरों ने हिसाब लगाया है कि अकेले जर्मनी ने ही करीब 9.1 अरब यूरो का भुगतान रूस को किया है। युद्ध के पहले दो महीने में हुए इस भुगतान का ज्यादातर हिस्सा प्राकृतिक गैस की कीमत है। ये आंकड़े सेंटर फॉर रिसर्च ऑन एनर्जी एंड क्लीन एयर यानी सीआरईए के हैं।जर्मनी की कड़ी आलोचना, कई देशों ने चेतायाजर्मन इंस्टीट्यूट फॉर इकोनॉमिक रिसर्च की वरिष्ठ ऊर्जा विशेषज्ञ क्लाउडिया केमफर्ट का कहना है कि हाल ही में जो कीमतों में उछाल आया है उसे देखते हुए इन्हें सुखद कहा जा सकता है। पिछले साल जर्मनी ने तेल, कोयला और गैस के आयात पर करीब 100 अरब यूरो खर्च किए थे। इसका एक चौथाई रूस को गया था। रूस के जीवाश्म ईंधनों पर निर्भर रहने के लिए जर्मनी की बड़ी आलोचना हुई है। कई देश यह चेतावनी देते रहे हैं कि इससे यूरोप और खुद जर्मनी की सुरक्षा के लिए खतरा पैदा हो सकता है।रूसी पाइपलाइन को रोकने की कोशिश में था अमेरिकाएक साल पहले जब अमेरिका जर्मनी के लिए रूसी गैस पाइपलाइन के निर्माण को रोकने की कोशिश में था तब तत्कालीन जर्मन चांसलर ने इसका विरोध किया। हालांकि युद्ध शुरू होने से ठीक पहले उस पाइपलाइन से गैस के आयात को मंजूरी देने से मना कर दिया गया। मौजूदा चांसलर ओलाफ शॉल्त्स भी बहुत पहले से ही रूस के साथ ऊर्जा सहयोग के पक्ष में रहे हैं।इटली है दूसरा सबसे बड़ा आयातकजर्मनी के कुल आयात में रूसी नेचुरल गैस की हिस्सेदारी फिलहाल 35 फीसदी है।फिनलैंड की रिसर्च एजेंसी सीआरईए का कहना है कि युद्ध के दौर में रूसी जीवाश्म ईंधन का दूसरा सबसे बड़ा आयातक इटली रहा है जिसने 6.9 अरब यूरो की रकम अदा की है। इस सूची में तीसरा नंबर चीन का है जिसने 6.7 अरब यूरो की रकम जीवाश्म ईंधन की कीमत के रूप में चुकाई है।ईंधन बेचने से रूस को होती है मोटी कमाईदक्षिण कोरिया, जापान, भारत और अमेरिका ने भी युद्ध शुरू होने के बाद रूसी ऊर्जा खरीदी है लेकिन यूरोपीय संघ की तुलना में यह बहुत कम है। यूरोपीय संघ के सभी देश कुल मिला कर रूस को तेल, गैस और कोयले के निर्यात से होने वाली कमाई में 71 फीसदी का योगदान करते हैं। सीआरईए की रिपोर्ट में कहा गया है कि यह कमाई तकरीबन 44 अरब यूरो की है।

इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतयPAK vs ENG 2nd T20I HIGHLIGHTS: पाकिस्तान की जोरदार जीत, इंग्लैंड को 10 विकेट से दी करारी शिकस्त******: पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच 7 मैच की टी20 सीरीज का दूसरा मैच कराची के नेशनल स्टेडियम में खेला गया।इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के दूसरे टी20 मैच में पाकिस्तान की सलामी जोड़ी, बाबर आजम और मोहम्मद रिजवानने जबरदस्त बल्लेबाजी की। कप्तान बाबर और रिजवान ने अपनी शानदार शतकीय साझेदारी के दम पर इंग्लैंड को ऐसी शिकस्त दी जिसपर वह लंबे वक्त तक शर्मसार होता रहेगा। बाबर ने 110 रन बनाए और रिजवान ने 88 रन की पारी खेली। पाकिस्तान ने कराची के नेशलन स्टेडियम में अंग्रेजों को 10 विकेट से करारी शिकस्त देकर सीरीज में 1-1 की बराबरी हासिल कर ली।सीरीज के पहले मैच में इंग्लैंडने मेजबानों को6 विकेट से करारी शिकस्त दी थी।इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतयबड़ी पार्टियों से गठबंधन का अंजाम देख चुके, अब 2022 का विधानसभा चुनाव अकेले लड़ेंगे: अखिलेश****** समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष ने सोमवार को कहा कि 2022 का विधानसभा चुनाव उनकी पार्टी अकेले ही लड़ेगी। अखिलेश ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि "बड़ी पार्टियों से गठबंधन का अंजाम देख चुके हैं। अब सपा 2022 का चुनाव अकेले लड़ेगी।"अखिलेश ने छोटे दलों के साथ गठबंधन की गुंजाइश से मना नहीं किया है। बसपा से गठबंधन टूटने के बाद के आरोपों पर पूछे गए सवाल के जवाब में अखिलेश ने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया।ज्ञात हो सपा मुखिया अखिलेश यादव ने 2017 के विधानसभा चुनाव कांग्रेस के साथ गठबंधन कर के लड़ा था। इसमें दो नौजवानों को एक साथ लाने की बात पर खूब शोर मचा था। सपा सत्ता से बाहर हो गई। खास बात यह कि सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने सार्वजनिक तौर पर इन दोनों गठबंधन को सपा के लिए नुकसानदेह बताया था।चुनाव परिणाम आने के बाद सपा ने कांग्रेस से गठबंधन तोड़ दिया था। लोकसभा चुनाव से पहले अखिलेश ने दशकों पुरानी अदावत भुलाते हुए बसपा से हाथ मिलाया था। लेकिन इस बार भी अपेक्षाकृत परिणाम नहीं मिले। पार्टी महज पांच सीट ही जीत सकी, जबकि परिवार के तीन सदस्य चुनाव हार गए।

इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतयKaran Johar Support Paras Kalnavat: 'अनुपमा' छोड़ना था सही फैसला, पारस कलनावत के सपोर्ट में आए करण जौहर******Highlightsइन दिनों टीवी पर डांस की महफिल जमी है। डांस रियलिटी शो 'झलक दिखला जा 10' (Jhalak Dikhhla Jaa 10) दर्शकों को अपनी ओर लुभा रहा है। इसमें फेमस टीवी शो 'अनुपमा' (Anupmaa) में पहले समर का किरदार निभाने वाले एक्टर पारस कलनावत बतौर कंटेस्टेंट शामिल हुए हैं। इस शो में आने के लिए पारस ने 'अनुपमा' छोड़ा था, जिसके कारण उनका मेकर्स से विवाद भी हुआ। वहीं अब पारस इस 'झलक दिखला जा 10' में कुछ इस तरह से परफॉर्म कर रहे हैं कि जज की कुर्सी पर बैठे फिल्ममेकर करण जौहर (Karan Johar) भी उनके सपोर्ट में आ गए हैं।आपको बता दें कि सेलिब्रिटी डांस रियलिटी शो 'झलक दिखला जा 10' (Jhalak Dikhhla Jaa 10) पांच साल के लंबे इंतजार के बाद आया है। इस शो के जज करण जौहर, माधुरी दीक्षित और नोरा फतेही हैं, वहीं मनीष पॉल इसे होस्ट कर रहे हैं। इस हफ्ते शो में कंटेस्टेंट्स के सामने रेट्रो वाइब थीम के साथ पावर-पैक परफॉर्मेंस देने का टास्क था। इस रेट्रो वीक में पारस कलनावत ने अपने लुक और डांस लोगों का दिल जीत लिया। आपको बता दें कि 'अनुपमा' फेम पारस कलनावत ने अपनी कोरियोग्राफर श्वेता शारदा के साथ सॉन्ग 'भीगी भीगी रातों में' गाने पर धमाकेदार डांस किया।इस गाने पर किया परफॉर्म अपनी डांस परफॉर्मेंस के बाद पारस ने अपने दिल में छिपे डर पर भी बात की। उन्होंने कहा कि 'झलक दिखला जा 10' का हिस्सा बनने के लिए अपना सब कुछ पीछे छोड़ दिया है। जाहिर है यहां पारस का इशारा नंबर 1 शो 'अनुपमा' से था। उन्होंने कहा कि उनकी किस्मत अब झलक दिखला जा 10 के हाथों में है, अगर इस शो ने उन्हें बना दिया तो सही नहीं तो ये सबसे बुरा दौर भी हो सकता है।इस बात को सुनकर पारस के दिल की हालत शायद जज करण जौहर से छिप नहीं सकी। इसलिए करण ने पारस को हौसला दिया और उनके फैसले का सपोर्ट किया। उन्होंने कहा, 'मैं आपको विश्वास दिलाता हूं, ये कदम सही है और ये सफर भी आपका लंबा रहेगा।'इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतयIndian Railway: 23 अप्रैल से चलेगी तीर्थ स्थल स्पेशल ट्रेन, बुकिंग शुरू, जानिए रूट और टाइमिंग****** भारतीय रेल आगामी 23 अप्रैल से तीर्थ स्थल स्पेशल ट्रेन शुरू करेगी। गुरुवार इसकी बुकिंग की शुरूआत हो गई है। रेलवे ने इस बार एयरकंडीशन (एसी) और नॉन एसी दोनों कोच में तीर्थ स्थलों के दर्शन के लिए शानदार पैकेज को लॉन्च किया है। इस स्वदेश दर्शन ट्रेन में तीर्थ यात्री अब आगरा एवं बुंदेलखण्ड के क्षेत्रों से अयोध्या में रामलला के दर्शन के साथ काशी कॉरिडोर देख सकते है। इसके अलावा गंगा सागर से होते हुए जगन्नाथ पुरी तक की यात्रा भी कर सकते हैं। इन स्पेशल ट्रेनों की बुकिंग गुरुवार से शुरू हो गई है।गौरतलब है कि 23 अप्रैल से शुरू होने वाली यात्रा में रेलवे ने आगरा, मथुरा, टूण्डला, फिरोजाबाद, ग्वालियर, भिण्ड, मुरैना, झांसी, जालौन एवं उरई क्षेत्र के यात्रियों की बढ़ती मांग को देखते हुए यह पैकेज लॉन्च किया है। इससे पहले बीते मार्च माह में लगभग 2400 यात्रियों ने तीर्थ स्थलों के दर्शन की यात्रा की थी। यह ट्रेन 23 अप्रैल से 01 मई के बीच संचालित की जाएगी।यह ट्रेन अयोध्या में राम जन्मभूमि, हनुमानगढ़ी, सरयू आरती, काशी विश्वनाथ मंदिर, बैद्यनाथ मन्दिर, गंगासागर, काली मंदिर (कोलकाता), पुरी में जगन्नाथ मन्दिर एवं कोणार्क मन्दिर, आदि धार्मिक स्थलों के लिए संचालित की जा रही है। इस यात्रा का पैकेज आठ रात और नौ दिन का है। इस पैकेज का मूल्य प्रति व्यक्ति 3 एसी क्लास का 23,830 रुपए और नॉन एसी क्लास का मात्र 16,700 रुपए है।उल्लेखनीय है कि इस यात्रा पैकेज में ट्रेन में एसी और नॉन एसी सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी, अन्य सुविधाएं सामान्य श्रेणी की रहेंगी। इस ट्रेन में बैठने की सुविधा आगरा कैंट, ग्वालियर, वीरांगना लक्ष्मीबाई, उरई, कानपुर और लखनऊ से उपलब्ध है।इस स्पेशल पैकेज में यात्रा के दौरान नाश्ता, दोपहर एवं रात्रि का शाकाहारी भोजन, स्थानीय यात्रा नॉन एसी बसों द्वारा और नॉन एसी धर्मशालाओं में ठहरने की व्यवस्था आदि सम्मिलित हैं। रेलवे के अनुसार स्वदेश दर्शन यात्रा के दौरान हाइजिन के ही कोविड प्रोटोकॉल के विभिन्न नियमों का पालन किया जाएगा।इनपुट-आईएएनएस

इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतयपाकिस्तानी क्रिकेटर खालिद लतीफ पर सिद्ध हुए स्पॉट फिक्सिंग के आरोपी, लगा 5 साल का बैन******पाकिस्तानी बल्लेबाज ख़ालिद लतीफ पर दुबई में फरवरी में हुई पाकिस्तान सुपर लीग में के आरोप में एंटी करप्शन ट्रिब्यूनल ने 10 लाख रुपए का जुर्माना और पांच साल का प्रतिबंध लगा दिया है. ट्रिब्यूनल ने मंगलवार को जारी अपने आदेश में कहा कि लतीफ को छह आरोपों का दोषी पाया गया है. इस ट्रिब्यूनल ने इससे पहले उन्होंने ही टेस्ट ओपनर शार्जील खान पर पांच साल का प्रतिबंध लगाया था.बता दें कि शार्जील खान पर स्पॉट फिक्सिंग में शामिल होने के आरोप सही पाए गए थे. पाकिस्तानी क्रिकेट बोर्ड के कानूनी सलाहकार तफज्जुल रिजवी ने कहा, ''लतीफ पर किया गया फैसला बताता है कि लतीफ की 8-9 फरवरी को एक बुकी से मुलाकात की और वह स्पॉट फिक्सिंग के लिए तैयार हो गए. लतीफ को स्पॉट फिक्सिंग में शामिल होने के लिए दूसरे खिलाड़ियों को प्रेरित करने के भी आरोप थे. उन्होंने शार्जील को भी बुकी से से दुबई में मिलने के लिए तैयार किया था. अब लतीफ और उनके पास इस फैसले के खिलाफ अपील करने के लिए 14 दिन का समय है.''शार्जील पहले ही अपने प्रतिबंध के खिलाफ अपील कर चुके हैं. पीसीबी ने बुधवार को उनकी अपील सुनने के लिए सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज को नियुक्त किया है. रिजवी ने बताया पाकिस्तानी बल्लेबाज नासिर जमशेद और शाहजैब हसन का मामला भी ट्रिब्यूनल द्वारा जल्द ही सुलटाया जाएगा.बता दें कि 31 साल के खालिद लतीफ ने 5 वनडे और 13 टी-20 मैचों में पाकिस्‍तानी टीम का प्रतिनिधित्‍व किया. पांच वनडे मैचों में उन्‍होंने 147 रन बनाए हैं जिसमें 64 रन उनका सर्वोच्‍च स्‍कोर रहा है. 13 टी20 मैचों में उन्‍होंने 237 रन बनाए हैं जिसमें नाबाद 59 रन खालिद का सर्वाधिक स्‍कोर है. वनडे और टी20, दोनों में खालिद लतीफ ने एक-एक अर्धशतक लगाया है.इंडिगोनेआईपीओसेजुटाएं3008करोड़रुपएएलोकेशनप्राइस765रुपएप्रतिशेयरतयपिछले 24 घंटे में कोरोना से 1,733 मरीजों की मौत, 1.61 लाख नए मामले आए******Highlights देश में कोरोना के नए मामलों की संख्या में जहां कुछ कमी आ रही है वहीं मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना संक्रमण से 1,733 मरीजों की मौत हो गई है वहीं1,61,386 नए मामले सामने आए हैं। अब तक इस महामारी के कुल मामलों की संख्या 4.16 करोड़ से अधिक हो गयी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, 24 घंटो के दौरान 1,733 मरीजों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या 4,97,975 हो गयी है।वहीं एक्टिव मरीजों की संख्या में 1,21,456 मामलों की कमी आयी है और अब 16,21,603 मरीज इस बीमारी का इलाज करा रहे हैं जो संक्रमण के कुल मामलों का 4.20 प्रतिशत है जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने वाले मरीजों की दर 94.60 प्रतिशत है।स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, संक्रमण की दैनिक दर 9.26 प्रतिशत दर्ज की गयी है जबकि साप्ताहिक संक्रमण दर 14.15 प्रतिशत दर्ज की गयी है। इस बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 3,95,11,307 हो गयी है जबकि मृत्यु दर 1.20 प्रतिशत दर्ज की गयी है।संक्रमण के नए मामले आने से अब महामारी के कुल मामलों की संख्या 4,16,30,885 हो गयी है। इस बीच, देशव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत कोविड-19 रोधी टीके की 167.29 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है।इनपुट-भाषा

हाल का ध्यान

लिंक