वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > पूर्वी जिला > मूलपाठ

Smriti Irani ने कहा, नेहरू-गांधी परिवार ने अपना खजाना भरा, लेकिन अमेठी की चिंता नहीं की

2022-10-04 10:13:02 पूर्वी जिला

नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीPatient dies after falling: कोलकाता में अस्पताल की सातवीं मंजिल से गिरकर मरीज की मौत, मचा हड़कंप******Highlightsकोलकाता के मलिकबाज़ार में स्थित एक निजी अस्पताल में सातवीं मंजिल से गिरकर एक मरीज की मौत हो गयी। पुलिस ने बताया कि 33 वर्षीय मरीज अपने कमरे से बाहर निकला था और दो घंटे तक इमारत की सातवीं मंजिल पर दीवार के एक किनारे बैठा रहा। सुजीत अधिकारी नामक मरीज़ का इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूरोसाइंस में इलाज चल रहा था। वह अपने वार्ड से निकलकर सातवीं मंजिल पर दीवार के एक किनारे दो घंटे से अधिक समय तक बैठा रहा। दमकलकर्मियों, पुलिस और अस्पताल के अधिकारियों ने उसे नीचे उतारने की कोशिश की। पुलिस अधिकारी ने बताया कि दोपहर करीब एक बजकर 10 मिनट पर इमारत की सातवीं मंजिल से नीचे गिर गया। राज्य सरकार ने इस संबंध में अस्पताल प्राधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है।क्या तनाव में था मरीज?अस्पताल के एक अधिकारी ने बताया कि- ''मरीज़ बहुत गंभीर रूप से घायल हो गया और उसकी खोपड़ी, पसली और बायां हाथ में गंभीर चोट आई थी।'' पुलिस अधिकारी ने कहा- ''बताया गया कि आपदा प्रबंधन कर्मियों को ज़मीन पर जाल बिछाते देख मरीज़ दीवार पर खड़ा हो गया था और वहां से नीचे उतरने की कोशिश कर रहा था, लेकिन फिसलकर नीचे गिर गया।'' अस्पताल सूत्रों ने बताया कि- ''उसको अस्पताल के आईटीयू में भर्ती कराया गया, जहां शाम करीब छह बजकर 25 मिनट पर उसकी मौत हो गयी। अस्पताल प्राधिकारियों के अनुसार मरीज पूरी तरह ठीक था और अस्पताल कर्मियों से बात कर रहा था। उसने तनाव में होने का कोई संकेत नहीं दिया था।''मरीज ने परिजनों की बात भी नहीं मानीइससे पहले मरीज़ ने अस्पताल के कर्मचारियों और दमकल कर्मियों की वार्ड में लौटने की गुजारिश को नजरअंदाज कर दिया था। पुलिस अधिकारी ने बताया कि उस व्यक्ति को देखने के लिए अस्पताल के सामने भीड़ जमा हो गई थी। नीचे खड़े लोगों ने उससे वहां से पीछे हटने का आग्रह किया। भीड़ के कारण व्यस्त 'ए. जे. सी. बोस' मार्ग पर यातायात प्रभावित हुआ। अधिकारी के कहा कि परिजनों ने भी उसे समझाने की कोशिश की थी। अस्पताल के एक अधिकारी ने बताया, ''मरीज का बीमा हो रखा था और उसका ज्यादा बिल नहीं बनाया गया था जैसा कि कुछ लोगों ने आरोप लगाया है।''

नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीPetrol Diesel Price: लगातार बढ़त के बाद आज मिली राहत, जानिये आपके शहर में आज क्या हैं कीमतें******4 दिन की आग के बाद आज तेल ने दी राहतनई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार जारी तेजी के बाद आज तेल कंपनियों ने ग्राहकों को राहत दी है। आज तेल कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया गया है। इससे पहले लगातार चार दिनों से पेट्रोल की कीमतों में बढ़त देखने को मिल रही थी। वहीं डीजल में इससे भी ज्यादा वक्त से तेजी दर्ज हो रही थी। फिलहाल देश में तेल की कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर हैं। कीमतों में तेजी कच्चे तेल की कीमतों में आई बढ़त और तेल पर लगने वाले ऊंचे सरकारी शुल्कों की वजह से है। सितंबर के महीने की शुरुआत में तेल कीमतों में स्थिरता का सिलसिला महीने के अंत के करीब आते आते टूट गया। इसके बाद बढ़त का जो सिलसिला शुरू हुआ वो आज जाकर थमा है। पिछले करीब एक हफ्ते में पेट्रोल 1.2 रुपये प्रति लीटर तक महंगा हो चुका है, आज को मिलाकर इस दौरान सिर्फ 2 दिन कीमतों में स्थिरता रही। वहीं बीते 9 दिनों में 2.15 रुपये प्रति लीटर तक महंगा हो गया है। कीमतों में ये तेजी कच्चे तेल में आई बढ़त की वजह से दर्ज हुई है। ब्रेंट क्रूड फिलहाल 80 डॉलर प्रति बैरल के स्तर के करीब पहुंच चुका है। भारत की क्रूड बास्केट में सबसे बड़ा हिस्सा ब्रेंट क्रूड का ही है।इंडियन ऑयल (IOC) की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार आज में पेट्रोल 102.39 रुपये प्रति लीटर और डीजल 90.77 रुपये प्रति लीटर पर है।वहीं में आज पेट्रोल 108.43 रुपये और डीजल 98.48 रुपये प्रति लीटर में आज पेट्रोल 103.07 रुपये और डीजल 93.87 रुपये प्रति लीटर में आज पेट्रोल 100.01 रुपये और डीजल 95.31 रुपये प्रति लीटर में आज पेट्रोल 105.95 रुपये और डीजल 96.34 रुपये प्रति लीटर में आज पेट्रोल 99.23 रुपये और डीजल 90.96 रुपये प्रति लीटर में आज पेट्रोल 105.24 रुपये और डीजल 97.10 रुपये प्रति लीटरमें आज पेट्रोल 109.40 रुपये और डीजल 100.10 रुपये प्रति लीटर में आज पेट्रोल 100.12 रुपये और डीजल 91.49 रुपये प्रति लीटर में आज पेट्रोल 106.51 रुपये और डीजल 99.04 रुपये प्रति लीटरमें आज पेट्रोल 97.14 रुपये और डीजल 95.83 रुपये प्रति लीटर में आज पेट्रोल 98.61 रुपये और डीजल 91.60 रुपये प्रति लीटरऔर में आज पेट्रोल 99.90 और डीजल 90.02 रुपये प्रति लीटर के स्तर पर है। की कीमतों में बढ़त से डीजल और पेट्रोल की कीमतों पर दबाव बढ़ा है। शुक्रवार को ब्रेंट क्रूड 79 डॉलर प्रति बैरल के पार निकल गया है। साल 2021 की शुरुआत में कीमतें 51 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर थीं। क्रूड कीमतों में तेजी के साथ साथ तेल कीमतों पर शुल्क से पेट्रोल और डीजल रिकॉर्ड स्तरों पर पहुंच गये हैं। इसके साथ एक प्रमुख ब्रोकरेज हाउस ने अनुमान दिया है कि क्रूड की कीमत 90 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच सकती है, जिससे तेल कीमतों और दबाव बढ़ने का आशंका बन गयी है।नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीनीरव मोदी की 171 करोड़ की संपत्ति जब्त, मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत ED की कार्रवाई******ED provisionally attaches Nirav Modi’s assets worth Rs 171 crore प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने से कर्ज लेकर विदेश भाग चुके हीरा कारोबारी की संपत्ति जब्त की है, सोमवार को ED की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक नीरव मोदी की कुल 171 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की गई है। नीरव मोदी पर आरोप है कि उसने पंजाब नैशनल बैंक से 13400 करोड़ रुपए का कर्ज लिया है और उसे बिना चुकाए विदेश भाग गया है।प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव मोदी के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए उसकी जो संपत्ति जब्त की है उसमें नीरव मोदी की मुंबई और सूरत में 72 करोड़ रुपए की लागत वाली 4 संपत्तियां शामिल हैं, इन चारों संपत्तियों में सबसे महंगी संपत्ति मुंबई के अंधेरी में स्थित एचसीएल हाउस है जिसकी कीमत 63 करोड़ रुपए बताई जा रही है। इसके अलावा ने नीरव मोदी और उसके भाई नीशल मोदी के अलग-अलग बैंकों में मौजूद 108 खाते भी सील किए हैं जिनमें 58 करोड़ रुपए जमा हैं।नीरव मोदी ने शेयर बाजार में लिस्ट कई बड़ी कंपनियों के शेयर खरीद कर उनमें करीब 35 करोड़ रुपए का निवेश किया हुआ था, ED ने उस निवेश को भी जब्त कर लिया है। नीरव मोदी ने सन फार्मा, अंबूजा सीमेंट, पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस, पावर ग्रिड, रिलायंस इंडस्ट्रीज, ज्योति लैब, आईआरबी इंफ्रा, टोरेंट फार्मा और कुछ म्युचुअल फंड्स में पैसा लगाया हुआ था। प्रवर्तन निदेशालय ने इन सबके अलावा नीरव मोदी की 11 गाड़ियां भी जब्त की हैं जिनकी कीमत 4.01 करोड़ रुपए बताई जा रही है, इन गाड़ियों में सबसे महंगी 1.90 करोड़ रुपए की रौल्स रॉयस-घोस्ट, 78 लाख रुपए की पोर्शे और 2 मर्सिडीज बेंज गाड़ियां शामिल हैं।पंजाब नैशनल बैंक में नीरव मोदी के मामा और गीतांजली जेम्स के मालिक मेहुल चौकसी पर भी घोटाले का आरोप है, पिछले हफ्ते ED ने मेहुल चौकसी की 85 करोड़ रुपए की ज्वैलरी जब्त की थी।

Smriti Irani ने कहा, नेहरू-गांधी परिवार ने अपना खजाना भरा, लेकिन अमेठी की चिंता नहीं की

नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीबीमा ब्रोकिंग में 100 प्रतिशत FDI पर विचार कर रही है सरकार, वितरण नेटवर्क को मजबूत बनाने का है लक्ष्‍य******insurance brokingसरकार बीमा ब्रोकिंग क्षेत्र में 100 प्रतिशत (एफडीआई) की अनुमति देने पर विचार कर रही है। सूत्रों का कहना है कि सरकार के इस कदम से इस क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा। फिलहाल एफडीआई नीति के तहत बीमा क्षेत्र में 49 प्रतिशत प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश की अनुमति है। औद्योगिक नीति एवं संवर्द्धन विभाग (डीआईपीपी) की परिभाषा के अनुसार इसमें बीमा ब्रोकिंग, बीमा कंपनियां, थर्ड पार्टी एडमिनिस्‍ट्रेटर, सर्वेयर्स और नुकसान का आकलन करने वाले शामिल हैं। डीआईपीपी वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की इकाई है, जो एफडीआई से संबंधित मामलों को देखती है और देश में कारोबार सुगमता की स्थिति के लिए काम करती है।समय-समय पर सरकार से यह मांग की जाती रही है कि बीमा ब्रोकरों को अन्य वित्तीय सेवा मध्यस्थ इकाइयों के समान माना जाना चाहिए। इन इकाइयों में 100 प्रतिशत एफडीआई की अनुमति है।सूत्रों ने कहा कि बीमा ब्रोकिंग किसी अन्य वित्तीय या जिंस ब्रोकिंग सेवा की तरह है। इस मुद्दे पर हाल में एक उच्चस्तरीय मंत्री स्तरीय बैठक में विचार हुआ। सरकार सकारात्मक तरीके से इस पर विचार कर रही है।अधिकारी ने हालांकि स्पष्ट किया कि बीमा कंपनियों के लिए एफडीआई की सीमा 49 प्रतिशत ही है। वित्त मंत्री ने हाल में इस विषय पर बैठक की थी। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने भी इस बारे में डीआईपीपी से विचार मांगे हैं।उद्योग विशेषज्ञों का कहना है कि बीमा क्षेत्र कमजोर वितरण नेटवर्क से प्रभावित हो रहा है। ऐसे में वितरण नेटवर्क को मजबूत करने की जरूरत है।नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीडुकाटी ने भारतीय बाजार में उतारी अपनी सबसे सस्‍ती बाइक स्‍क्रैंबलर मैक 2.0******अपनी पावर बाइक्‍स को लेकर दुनिया भर में पहचाने जाने वाली डुकाटी ने साल खत्‍म होने से पहले अपनी एक और दमदार बाइक भारतीय बाजार में उतार दी है। डुकाटी ने भारत में अपनी सबसे सस्‍ती बाइक में से एक डुकाटी स्‍क्रैंबलर मैक लॉन्‍च कर दी है। भारत में डुकाटी स्‍क्रैंबलर मैक 2.0 की कीमत 8.52 लाख रुपए है। भारत में लॉन्‍च हुई यह बाइक दूसरे अंतरराष्‍ट्रीय बाजारों में मिलने वाली स्‍क्रैंबलर से कुछ अलग जरूर है। इसे कैलिफोर्नियन डिज़ाइनर रोलेंड सैंड्स ने इसे खासतौर पर 70 के दशक के कोस्ट स्टाइल में तैयार किया है। नई स्क्रैंबलर में कुछ स्टाइल अपडेट्स भी किए गए हैं जिससे यह बाइक कुछ खास बन जाती है। लॉन्च के मौके पर डुकाटी इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर सेर्गी केनोवास गैरिगा ने कहा कि, “डुकाटी स्क्रैंबलर मोटरसाइकल चलाने वाले की शुरुआत का सबसे बेहतरीन बिकल्प है। यह आज के दौर की बाइक है जो चालक को शानदार और आरामदायक अनुभव देती है। स्क्रैंबलर मैक 2.0 एक बहुत खास बाइक है क्योंकि हमने रोलेंड के साथ मिलकर काम करना शुरू किया है जो बाइक को बिल्कुल नए और बेहतर अंदाज़ में लाते हैं।” बता दें कि डुकाटी ने इस बाइक का नाम कंपनी की डुकाटी मैक 1 250 से लिया गया है जो 1965 में बनाई गई थी।स्‍पेसिफिकेशंस की बात करें तो डुकाटी की नई स्क्रैंबलर मैक 2.0 में कंपनी ने 803cc का ट्विन-सिलेंडर डेस्मोड्यू यूरो 4 इंजन दिया है। यह इंजन 8250 आपीएम पर 72 बीएचपी पावर और 5750 आरपीएम पर 67 न्‍यूटन मीटर टॉर्क जनरेट करता है। यह इंजन को 6-स्पीड गियरबॉक्स से लैस है। कंपनी ने दिल्ली एनसीआर, मुम्बई, बेंगलुरु, पुणे, अहमदाबाद, कोलकाता और कोच्चि की सभी डीलरशिप पर इस बाइक को बिकने के लिए उपलब्ध करा दिया है। भारत में बेची जाने वाली स्क्रैंबलर बाइक्स में अब कुल 6 वेरिएंट्स हैं जिनमें - स्क्रैंबलर आइकन, स्क्रैंबलर डेज़र्ट स्लेड, स्क्रैंबलर क्लासिक, स्क्रैंबलर फुल थ्रॉटल और स्क्रैंबलर कैफे रेसर शामिल हैं।नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीएमसीसी ने किया क्रिकेट नियमों में बदलाव, मुरली कार्तिक ने कह दी ऐसी बात******गेंदबाजी छोर पर खड़े बल्लेबाज को क्रीज छोड़कर आगे निकलने पर रन आउट करने के लिए कई बार आलोचना का शिकार हो चुके भारत के पूर्व स्पिनर मुरली कार्तिक बुधवार को खुश थे, जब खेल से जुड़े कानून बनाने वाले मेरिलबोन क्रिकेट क्लब यानी एमसीसी ने अपने नियमों के बदलाव करते हुए खेल भावना के नाम पर गेंदबाजों का ‘अपराधीकरण बंद’ किया। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 644 विकेट के साथ अपने समय के बाएं हाथ के टॉप स्पिनरों में से एक मुरली कार्तिक ने भारत के लिए आठ टेस्ट और 37 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले। जब वह खेलते थे तो उन्होंने अलग अलग फॉर्मेट में में गेंदबाजी छोर पर पांच बल्लेबाजों को क्रीज छोड़कर आगे निकलने के लिए रन आउट किया।बुधवार को एमसीसी ने नियमों में संशोधन करते हुए कहा कि गेंदबाजी छोर पर खड़े बल्लेबाज को रन आउट करने को नियम 41 (अनुचित खेल) से हटाकर नियम 38 (रन आउट) में डाल दिया गया है। नियम के शब्दों में बदलाव नहीं होगा। कार्तिक के अलावा रविचंद्रन अश्विन जैसे गेंदबाज एक दशक से भी अधिक समय से ऐसा करने की वकालत कर रहे थे। मुरली कार्तिक ने पीटीआई से कहा कि खेल भावना होती है, लेकिन मैंने हमेशा यह कहा है कि यह खेल भावना नहीं है। असल में जो लोग इसका उल्लंघन कर रहे थे वही लोग खेल भावना के पर्दे के पीछे छिप रहे थे। यह उलटा चोर कोतवाल को डांटे वाला मामला था। गेंदबाजी छोर पर बल्लेबाज के आगे निकलने पर उसे रन आउट करके अनुचित फायदा उठाने के लोगों के आरोप झेलने के बाद क्या वह महसूस कर रहे हैं कि वह सही साबित हुए, कार्तिक ने कहा कि मैं कहूंगा कि वह चीज सही साबित हुई जो मुझे सही लगती थी। निश्चित तौर पर समय आ गया था कि हम ऐसा करने के लिए गेंदबाजों को अपराधी बनाना बंद करें।क्रिकेटर से कमेंटेटर बने मुरली कार्तिक ने कहा कि वह बल्लेबाज था जो अनुचित फायदा उठा रहा था और आप गेंदबाज को दोषी ठहरा रहे थे और उसे गलत कह रहे थे। उन्होंने हंसते हुए कहा कि मेरी लड़ाई यही थी। मैं हमेशा लोगों को कहता था कि अगर स्वीकृति मिले तो मैं सभी 11 खिलाड़ियों को रन आउट कर दूंगा। अश्विन को हाल के समय में अपने नजरिए के लिए काफी समर्थन मिला लेकिन कार्तिक जब खेलते थे तो उन्हें अपनी टीम के साथियों के अलावा बेहद कम समर्थन मिला लेकिन उन्हें कभी बदलाव की जरूरत महसूस नहीं हुई। उन्होंने कहा कि मैंने पांच बार ऐसा किया। मैं कभी समर्थन की कमी महसूस नहीं की क्योंकि मेरा हमेशा मानना था कि अगर यह सही है और कोई और इस पर विश्वास नहीं कर रहा तो इसका मतलब यह नहीं कि यह सही नहीं है। यह सामान्य सी बात है।कार्तिक के लिए नियम सामान्य है, वह तीन बार खिलाड़ी को चेतावनी देंगे लेकिन इसके बाद रन आउट कर देंगे। कार्तिक को यकीन है कि जिस तरह टी20 फार्मेट में ओवर गति से जुड़ी सजा क्षेत्ररक्षण पाबंदी के रूप में दी जा रही है और इसके शानदार परिणाम मिल रहे हैं उसी तरह रन चुराने की कोशिश में गेंदबाजी छोर पर आगे निकलने वाले बल्लेबाजों की मानसिकता बदलेगी। कार्तिक और अश्विन के विपरीत कई गेंदबाजों में इतना आत्मविश्वास नहीं था कि यह जानने के बावजूद कि बल्लेबाज अनुचित फायदा उठा रहा है वे उसे रन आउट कर सकें। कार्तिक ने कहा कि मैं बेहद खुश हूं, लोगों को लगता था कि यह सही नहीं है तो इसका मतलब यह नहीं कि यह सही नहीं है। अब इसे स्वीकार किया जा रहा है। अंतत: गेंदबाजों को मजबूती मिल रही है।

Smriti Irani ने कहा, नेहरू-गांधी परिवार ने अपना खजाना भरा, लेकिन अमेठी की चिंता नहीं की

नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीHijab Controversy: सुप्रीम कोर्ट पहुंचा हिजाब विवाद, मुस्लिम छात्रा ने की हाई कोर्ट का आदेश निरस्त करने की मांग******Highlights कर्नाटक हिजाब मामला अब देश की सर्वोच्च अदालत पहुंच गया है। कर्नाटक हाई कोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में कल चुनौती दी गई। सुप्रीम कोर्ट में छात्रा निबा नाज़ ने वकील अनस तनवीर के माध्यम से याचिका दाखिल की थी। आज CJI की बेंच के सामने इस याचिका की कोर्ट में मेंशनिंग हो सकती है।कर्नाटक हाईकोर्ट का हिजाब पहनकर स्कूल-कॉलेज में एंट्री को लेकर कल एक बड़ा फैसला आया था। कोर्ट ने अपने फैसले में साफ कर दिया था कि हिजाब धर्म का अनिवार्य हिस्सा नहीं है। यानी अब छात्र और छात्राओं को स्कूल और कॉलेज प्रशासन के आदेश का पालन करना होगा और किसी शैक्षणिक संस्थान में हिजाब पहनकर एंट्री नहीं दी जाएगी।कर्नाटक हाई कोर्ट के इस फैसले से असंतुष्ट छात्राओं ने कहा था कि वे सुप्रीम कोर्ट का रुख करेंगे। मुस्लिम छात्राओं के अनुसार, 'हिजाब पहनना इस्लाम में एक अनिवार्य प्रथा है। हिजाब पर कर्नाटक हाईकोर्ट का फैसला गलत है। हम इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देंगे। हम उम्मीद करते हैं कि सुप्रीम कोर्ट में न्याय की जीत होगी।'गौरतलब है कि, ये पूरा विवाद 1 जनवरी से उस समय शुरू हुआ जब उडुपी कॉलेज की 6 छात्राओं ने कॉलेज प्रशासन के खिलाफ आवाज उठाई थी। उनका कहना था कि कॉलेज प्रशासन ने उन्हें हिजाब पहनकर कॉलेज में एंट्री देने से मना कर दिया था। जबकि वो हिजाब पहनकर कॉलेज में एंट्री लेने का प्रयास कर रही थीं। छात्राओं ने इसको लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की थी। इसके बाद ये पूरा विवाद देखते ही देखते पूरे देश में फैल गया।नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीMaharashtra News: अड़ियल रुख की वजह से BJP के साथ फंसा था CM पद साझा करने का मुद्दा, शिंदे का उद्धव पर हमला******Highlights: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने रविवार को शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि 2019 के चुनावों के बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ मुख्यमंत्री पद साझा करने का मुद्दा बातचीत के जरिए सुलझाया जा सकता था। लेकिन अड़ियल रुख के कारण यह नहीं हुआ।शिंदे ने औरंगाबाद जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि कुछ लोगों ने चुनावों के बाद ‘‘अड़ियल रुख’’ अपना लिया था, जिसका मतलब था कि वे भाजपा के साथ सरकार नहीं बनाना चाहते थे, जबकि दोनों दलों को जनादेश मिला था। मुख्यमंत्री ने ठाकरे का नाम लिए बगैर कहा, ‘‘कुछ लोगों ने कहा कि शिवसेना को पहले ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री का पद मिलना चाहिए। अगर यह शर्त मानी जाती है तभी दोनों दलों (शिवसेना और भाजपा) के बीच सरकार बनाने के लिए बातचीत आगे बढ़ सकती है।’’उन्होंने कहा कि इस अड़ियल रुख का मतलब था कि वे भाजपा के साथ सरकार बनाना ही नहीं चाहते थे, जबकि दोनों दल एक साथ विधानसभा चुनाव लड़े और जीते। शिंदे ने कहा, ‘‘चुनाव नतीजों के तुरंत बाद कुछ लोगों ने बात करना शुरू कर दिया कि विभिन्न विकल्प मौजूद हैं। शिवसेना के विधायक कांग्रेस और राकांपा के साथ गठबंधन करने के पक्ष में नहीं थे।’’ उन्होंने कहा कि भाजपा ने जनता दल(यूनाइटेड) से अधिक सीट जीतने के बावजूद नीतीश कुमार को बिहार का मुख्यमंत्री बनाने का वादा निभाया।शिंदे ने कहा कि भाजपा उनके नेतृत्व वाली मौजूदा सरकार में मुख्यमंत्री का पद ले सकती थी। उन्होंने पूछा, ‘‘मुझे भाजपा नेतृत्व ने कहा कि पार्टी के पास शिंदे धड़े से ज्यादा विधायक होने के बाजवूद, वह उन्हें मुख्यमंत्री बनाने पर राजी है। अगर हमने (भाजपा का जिक्र करते हुए) 2019 में कोई वादा किया होता तो हम इसका सम्मान करते। अब आप मुझे बताइए कि कौन सच बोल रहा है।’’

Smriti Irani ने कहा, नेहरू-गांधी परिवार ने अपना खजाना भरा, लेकिन अमेठी की चिंता नहीं की

नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीUP Crime News: अयोध्या की सरयू नदी में पति ने पत्नी को किया 'KISS', लोगों ने जमकर पीटा, VIDEO वायरल******Highlights अयोध्या में राम की पैड़ी पर में स्नान कर रहे पति और पत्नी पर कुछ लोगों ने हमला बोल दिया और पति को गाली देते हुए बेरहमी से पीटा। पुलिस ने बताया कि अयोध्या कोतवाली पुलिस थाना अंतर्गत सरयू नदी के किनारे की यह घटना मंगलवार की है, जिसका वीडियो बुधवार को वायरल हुआ। वीडियो में दिख रहा है कि एक युवा दंपति नदी में स्नान कर रहा है और चूंकि महिला तैरना नहीं जानती, इसलिए तेज बहाव के डर से पुरुष ने उसे पकड़ रखा है।उन्होंने बताया कि कुछ अज्ञात कथित बदमाशों ने पुरुष और महिला को खींचकर पानी से बाहर किया और पुरुष की बेरहमी से पिटाई शुरू कर दी। लोगों का आरोप था कि यह दंपति साथ में स्नान कर अश्लीलता फैला रहे थे।वीडियो में देखा जा सकता है, एक नव दंपति राम की पैड़ी पर कर रहा है| इसी दौरान पति-पत्नी ने किस कर लिया जिसके इसके बाद पति के पास राम की पैड़ी में नहा रहे युवकों का एक दल आता है और उन पर अश्लीलता का आरोप लगाकर पति की पिटाई शुरू कर देता है। पत्नी, अपने पति को बचाने की कोशिश करती है लेकिन युवकों की बढ़ती भीड़ देख वह डर जाती है। लोगों ने आपत्ति जताते हुए कहा कि सार्वजनिक जगहों पर ऐसी अभद्रता नहीं करनी चाहिए।पुलिस ने कहा कि उसे इस घटना के संबंध में कोई शिकायत नहीं मिली है। हालांकि, पुलिस इस मामले की जांच कर रही है और दंपति और हमला करने वाले कथित बदमाशों को तलाशने का प्रयास कर रही है।(इनपुट- IANS)

नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीXiaomi ने भारत में लॉन्‍च किया सबसे महंगा स्‍मार्टफोन, iQOO 7 5G 34,999 रुपये में हो सकता है लॉन्‍च******Xiaomi unveils its most expensive smartphone in Indiaस्मार्टफोन विनिर्माता कंपनी शाओमी ने शुक्रवार को भारत में अपना सबसे महंगा स्मार्टफोन एमआई 11 अल्ट्रा पेश किया, जिसकी कीमत 69,999 रुपये है। इससे पहले कंपनी ने जनवरी में एमआई 10 5जी की पेशकश की थी, जिसकी कीमत 49,999 रुपये और 54,999 रुपये थी। पेशकश के तीन सप्ताह के भीतर इस फोन की कुल बिक्री 400 करोड़ रुपये थी। शाओमी इंडिया के विपरण प्रमुख (एमआई) सुमित सोनल ने कहा कि एमआई 11 सीरीज के साथ हमने ऐसी तकनीक पेश की है, जो न केवल भविष्य का प्रतीक है, बल्कि उपयोगकर्ता अनुभव को बेहतर बनाती है। नवाचार की सीमाओं को आगे बढाते हुए कैमरा, आवाज, डिस्प्ले और प्रदर्शन जैसे फीचर्स को और बेहतर बनाया है। में 48 मेगापिक्सल (एमपी) अल्ट्रा वाइड कैमरा, 50 एमपी ट्रूप्रिक्सल जीएन टू कैमरा और 48 एमपी पेरिस्कोप टेलीफोटो कैमरा शामिल हैं। फोन में क्वालकॉम, स्नैपड्रैगन 888 का 5जी चिपसैट है, जिसके बारे में दावा है कि यह पिछले संस्करण की तुलना में 35 प्रतिशत अधिक प्रोसेसिंग गति देता है।चाइनीज बेहेमोथ बीबीके ग्रुप के स्मार्टफोन ब्रांड आईक्यूओओ के आगामी स्मार्टफोन आईक्यूओओ 7 5जी को कथित तौर पर भारत में 34,999 रुपये में लॉन्च किया जा रहा है। कंपनी 26 अप्रैल को भारत में अपनी आईक्यूओओ 7 सीरीज के तहत दो नए स्मार्टफोन - आईक्यूओओ 7 5जी और आईक्यूओओ 7 लीजेंड 5जी लॉन्च करने के लिए पूरी तरह तैयार है।गिज्मोचाइना ने सूत्रों का हवाला देते हुए बताया कि आईक्यूओओ 7 5जी आईक्यूओओ नियो5 का रीब्रांडेड वर्जन हो सकता है, जिसकी चीन में फरवरी में घोषणा की गई थी। एक गीकबेंच लिस्टिंग ने संभावना जताई है कि भारतीय बाजार में आईक्यूओओ 7 5जी का 12 जीबी रैम वर्जन उतारा जा सकता है। हालांकि, डिवाइस देश में कम रैम वेरिएंट में भी उपलब्ध हो सकता है। आईक्यूओओ 7 5जी में 6.62-इंच की एएमओएलईडी एफएचडी प्लस 120 हॉट्र्ज रिफ्रेश रेट, आईक्यूओओ यूआई आधारित एंड्रॉए 11 ओएस, एलपीडीडीआर4एक्स रैम, यूएफएस 3.1 स्टोरेज और 4,400 एमएएच की बैटरी के साथ 66 वॉट फास्ट चाजिर्ंग सपोर्ट के साथ आने की उम्मीद है।आईक्यूओओ 7 लीजेंड नवीनतम स्नैपड्रैगन 888 सीरीज चिपसेट द्वारा संचालित होगा, जो कि एक बेजोड़ गेमिंग अनुभव और शानदार फोटोग्राफी क्षमता प्रदान करेगा।इसमें 16 मेगापिक्सल का फ्रंट-फेसिंग कैमरा हो सकता है और इसके रियर कैमरा सेटअप में ओआईएस-असिस्टेड 48 मेगापिक्सल का मुख्य कैमरा, 13 मेगापिक्सल का अल्ट्रावाइड लेंस और 2 मेगापिक्सल का डेप्थ सेंसर हो सकता है।कंपनी ने घोषणा की है कि उसने देश में अपनी 6 सीरीज के लिए अमेजन इंडिया के साथ भागीदारी की है। दोनों फोन एक्सक्लूसिव तौर पर अमेजन डॉट इन पर उपलब्ध होंगे।नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीAngry Foods: इन फूड्स को खाने से पारा हो जाता है हाई, गर्म मिजाज के लोग बनाएं दूरी******Highlightsगुस्सा आने के पीछे कई वजहें हो सकती हैं। इनमें आर्थिक परेशानी, अपनों से धोखा, पारिवारिक विवाद, जमीनी विवाद, दफ्तर में काम का प्रेशर, टेंशन और तनाव जैसी न जाने कितने कारण हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कुछ खायी जाने वाली चीज़ें भी इंसान को गुस्सा दिलाने का काम करती हैं। आज हम आपको गुस्सा दिलाने वाले कुछ खाद्य पदार्थों के बारे में बताएंगे। ये वो खाद्य पदार्थ हैं जिनका हम रोज़ाना सेवन करते हैं।कॉफी बहुत ज़्यादा लोग पीते हैं। आपने देखा होगा वर्कआउट करने वाले लोग ब्लैक कॉफी का सेवन करते हैं। आलस या थकान होने पर व्यक्ति कॉफी का सेवन करते ही एनर्जेटिक हो जाता है। ये सब कुछ कैफीन के कारण होता है। एनर्जी हाई होने पर ये दिमाग को ट्रिगर करता है और एग्रेशन को बढ़ा सकता है। इसलिए कॉफी का अधिक सेवन करने से बचना चाहिए।मसालेदार भोजन से शरीर को गर्मी मिलती है। यदि आपके शरीर में पहले से ही गर्मी है तो आपको उसे और अधिक ईधन देने की जरूरत नहीं है। शरीर को और अधिक हीट देने पर पित्त दोष बढ़ जाएगा, जो गुस्से को बढ़ाने का काम करेगा।आपने देखा होगा जो लोग तीखा या ज़्यादा मसालेदार भोजन करते हैं, उनको गुसा ज़्यादा आता है।फूलगोभी खाने से आपकी बॉडी में एक्सा एयर बनने लगती है जिसकी वजह से गैस और सूजन का खतरा पैदा हो जाता है, और यही आपके गुस्से की वजह बन जाता है। ब्रोकोली के साथ भी यही समस्या पेश आती है।टमाटर एक ऐसी सब्जी है जिसके बिना हमारी रेसेपीज का जायका अधूरा रहता है। इसके खाने के यूं तो कई फायदे हैं, लेकिन लेकिन इसे गर्म आहार समझा जाता है। ये शरीर में गर्मी बढ़ा सकता है और इंसान को गुस्सा आ सकता है।खीरा और तरबूज खाने से भले ही हमारी बॉडी हाइड्रेट रहती हो, लेकिन ये क्रोध को बढ़ाने के लिए भी जिम्मेदार हो सकता है। अगर आप तनाव में हों तो इन फलों को न खाएं।बैंगन में एसिडिक कंटेंट ज्यादा होता जो आपके दिमाग में गुस्सा पैदा कर सकता है। अगर आपको लगे कि इस सब्जी के खाने के बाद गुस्सा आने लगता है तो इसको खाना कम कर दें।Aaj Ka Rashifal 9 August 2022: इन 5 राशियों को बिजनेस में होगा मुनाफा

नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीM&M February 2020 sales: महिंद्रा एंड महिंद्रा की बिक्री फरवरी में 42 प्रतिशत गिरी, निर्यात भी 40 फीसदी घटा******Mahindra and Mahindra sales fall 42 per cent to 32,476 units in February 2020 वाहन कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा की बिक्री फरवरी महीने में सालाना आधार पर 42 प्रतिशत गिरकर 32,476 इकाइयों पर आ गयी। कंपनी ने एक बयान में रविवार को इसकी जानकारी दी। कंपनी ने कहा कि उसने पिछले साल फरवरी महीने में 56,005 वाहनों की बिक्री की थी। कंपनी की घरेलू बिक्री इस दौरान 42 प्रतिशत गिरकर पिछले साल की 52,915 इकाइयों की तुलना में 30,637 इकाइयों पर आ गयी। इस दौरान निर्यात भी पिछले साल की 3,090 इकाइयों की तुलना में 40 प्रतिशत गिरकर 1,839 इकाइयों पर आ गयी। कंपनी ने यूटिलिटी वाहनों, कारों और वैन समेत यात्री वाहन श्रेणी में फरवरी 2020 में 10,938 वाहनों की बिक्री की। यह फरवरी 2019 में इस श्रेणी में बिके 26,109 वाहनों की तुलना में 58 प्रतिशत कम है। इस दौरान कंपनी के वाणिज्यिक वाहनों की साल भर पहले की 21,154 इकाइयों से 25 प्रतिशत गिरकर 15,856 इकाइयों पर आ गयी।मध्यम एवं भारी वाणिज्यिक वाहनों के खंड में भी बिक्री 686 इकाइयों की तुलना में कम होकर 436 इकाइयों पर आ गयी। कंपनी के प्रमुख (बिक्री एवं विपणन, वाहन खंड) विजय राम नाकरा ने कहा, 'भारत स्टेज-4 वाहनों के उत्पादन में फरवरी महीने में हमारी योजना के अनुसार कमी आयी। हालांकि चीन से कल-पुर्जों की आपूर्ति बाधित होने से भारत स्टेज-6 वाहनों का उत्पादन प्रभावित हुआ है।' इसका असर भंडार पर पड़ा है और अभी डीलरों के पास महज 10 दिन के योग्य वाहनों का भंडार रह गया है। उन्होंने कहा कि मार्च में परिस्थितियां सामान्य होने से पहले कुछ सप्ताह तक कल-पुर्जों की आपूर्ति को लेकर चुनौतियां बनी रहने का अनुमान है।नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीरेयान कैंपबेल की स्थिति अब भी गंभीर, ब्रिटेन के एक अस्पताल में चल रहा है इलाज******नीदरलैंड के कोच रेयान कैंपबेल की दिल का दौरा पड़ने के करीब एक सप्ताह बाद भी स्थिति गंभीर बनी हुई है। उनका ब्रिटेन के एक अस्पताल में उपचार चल रहा है। 'ईएसपीएनक्रिकइंफो' के अनुसार, कैंपबेल के परिवार ने शुक्रवार को बयान जारी कर उनकी स्थिति के बारे में अवगत कराया। ऑस्ट्रेलिया के इस पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज को पिछले शनिवार को दिल का दौरा पड़ा था।परिवार ने बयान में कहा, ‘‘रेयान को पिछले सप्ताह के आखिर में दिल का दौरा पड़ा। उनका ब्रिटेन के रॉयल स्टोक यूनिवर्सिटी अस्पताल में उपचार चल रहा है जहां उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है। चिकित्सक उनकी स्थिति पर 24 घंटे निगरानी रखे हुए हैं।’’बयान के अनुसार, ‘‘वह अधिकतर समय बेहोश रहते हैं और इस सप्ताह के आखिर तक ऐसी स्थिति बने रहने की संभावना है। हम अस्पताल के चिकित्सकों और कर्मचारियों के प्रति आभार व्यक्त करते हैं।’’शनिवार को दिल का दौरा पड़ने के बाद 50 वर्षीय कैंपबेल को आईसीयू में भर्ती कराया गया था। ब्रिटेन में अपने परिवार के साथ रह रहे कैंपबेल को सीने में दर्द और सांस लेने में कठिनाई महसूस हुई थी। कैंपबेल नीदरलैंड की टीम के न्यूजीलैंड दौरे के बाद यूरोप लौट गये थे। उन्हें जनवरी 2017 में नीदरलैंड का कोच नियुक्त किया गया था।एक खिलाड़ी के रूप में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया और हांगकांग दोनों का प्रतिनिधित्व किया था। उन्होंने आईसीसी टी20 विश्व कप 2016 में हांगकांग का प्रतिनिधित्व किया था। वह 44 साल 30 दिन में इस प्रारूप में पदार्पण करने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बने थे।

नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीपेट्रोल-डीजल: 68 रुपए के नीचे आया डीजल, लगातार 13 दिन से भाव में कटौती******Diesel falls below Rs 68 a litre in Delhi on Monday as oil companies cut prices for 13th day अंतरराष्ट्रीय बाजार में की कीमतों में आई कमी को देखते हुए देश की तेल कंपनियां की कीमतों में लगातार कटौती कर रही हैं। सोमवार को लगातार 13वें दिन पेट्रोल और डीजल के दाम घटे हैं। की वेबसाइट पर दिए गए भाव के मुताबिक 13 दिन में देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमतों 1.85 रुपए और डीजल की कीमतों में 1.36 रुपए प्रति लीटर की कटौती हुई है। रविवार को दिल्ली में डीजल के दाम 15 पैसे और पेट्रोल के दाम 20 पैसे कम हुए हैं।लगातार हुई कटौती के बाद अब दिल्ली में डीजल का दाम 68 रुपए प्रति लीटर के नीचे आ गया है, सोमवार को दिल्ली मे डीजल का दाम 67.95 रुपए, कोलकाता में 70.50 रुपए, मुंबई में 72.35 रुपए और चेन्नई में 71.73 रुपए प्रति लीटर हो गया है। दिल्ली से सटे NCR के बाकी शहरों में भी डीजल सस्ता हो गया है, सोमवार को फरीदाबाद में इसका दाम 69.07 रुपए, गुरुग्राम में 68.85 रुपए, नोएडा में 68.14 रुपए और गाजियाबाद में 68.01 रुपए प्रति लीटर दर्ज किया गया।पेट्रोल की बात करें तो दिल्ली में इसका दाम घटकर 76.58 रुपए, कोलकाता में 79.25 रुपए, मुंबई में 84.41 रुपए और चेन्नई में 79.78 रुपए प्रति लीटर हो गया है। दिल्ली से सटे NCR के बाकी शहरों की बात करें तो सोमवार को फरीदाबाद में दाम 77.35 रुपए, गुरुग्राम में 77.11 रुपए, नोएडा में 77.42 रुपए और गाजियाबाद में 77.30 रुपए प्रति लीटर दर्ज किया गया।पिछले करीब 2 हफ्ते से अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों निचले स्तर पर बनी हुई है जिस वजह से तेल कंपनियों को पेट्रोल और डीजल के दाम घटाने में मदद मिली है, अंतरराष्ट्रीय बाजार में अमेरिकी कच्चे तेल का भाव घटकर 65 डॉलर और ब्रेंट क्रूड का भाव 76 डॉलर प्रति बैरल के करीब है। जून के पहले हप्ते में तेल कंपनियों को रुपए में आई मजबूती से भी तेल के दाम घटाने में मदद मिली थी लेकिन शुक्रवार को रुपए में 38 पैसे की भारी गिरावट आई है, ऐसे में आगे चलकर तेल कंपनियों की तरफ से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कटौती थम सकती है।नेकहानेहरूगांधीपरिवारनेअपनाखजानाभरालेकिनअमेठीकीचिंतानहींकीरुपए ने बनाया आज गिरने का नया रिकॉर्ड, 47 पैसे कमजोर होकर 72.98 पर हुआ बंद******rupeeको मजबूत करने के सभी सरकारी प्रयास अभी तक नाकाम होते प्रतीत हो रहे हैं। मंगलवार को दूसरे दिन रुपए ने एक नया निम्‍न रिकॉर्ड बनाया है। मंगलवार को रुपया अमेरिकी डॉलर की तुलना में 47 पैसे और गिरकर 72.98 के नए निचले स्‍तर पर बंद हुआ। इससे पहले मंगलवार को शुरुआती कारोबार में रुपया 10 पैसे मजबूत होकर 72.41 रुपए प्रति डॉलर पर पहुंच गया था। बैंकों एवं निर्यातकों की डॉलर बिकवाली से अंतरबैंकिंग मुद्रा बाजार में मंगलवार को शुरुआती कारोबार में रुपया 10 पैसे मजबूत होकर 72.41 रुपए प्रति डॉलर पर पहुंचा। रुपया गिरकर 72.65 रुपए प्रति डॉलर पर खुला लेकिन बाद में सुधार के साथ 72.41 रुपए प्रति डॉलर पर पहुंच गया।डीलरों ने कहा कि बैंकों एवं निर्यातकों द्वारा डॉलर की बिकवाली के अलावा वैश्विक बाजारों में कच्चे तेल में नरमी तथा अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध के तनावों के चलते अन्य प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर के कमजोर होने से रुपए को मजबूती मिली।इससे पहले रुपया सोमवार को 67 पैसे की भारी गिरावट के साथ 72.51 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ था।विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में धारणा में सुधार लाने के लिये सरकार ने शुक्रवार को कुछ उपायों की घोषणा की थी। इनमें विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों का प्रवाह बढ़ाने और आयात कम करने के लिए पांच सूत्रीय योजना की घोषणा की गई।लेकिन सरकार के उपाय कई निवेशकों की उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे और बाजार में भारी बिकवाली का दबाव बन गया।

हाल का ध्यान

लिंक