वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > पाओटिंग > मूलपाठ

Tesla Factory में लगी आग, घटना के पीछे के कारणों को लेकर हुआ बड़ा खुलासा

2022-10-01 00:33:46 पाओटिंग

मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासा48 ट्रेनों से सफर के लिए यात्रियों को चुकाना पड़ेगा ज्यादा किराया, रेलवे ने अपग्रेड करके सुपरफास्ट किया****** रेलवे के खर्चों को पूरा करने के लिए भारतीय तेल यात्रियों की जेब से पैसे निकवाने के लिए आय दिन नए-नए तरीके निकाल रहा है। इसी कड़ी में भारतीय रेल ने 48 ट्रेनों को अपग्रेड करके सुपरफास्ट ट्रेन का दर्जा दे दिया है जिसके बाद अपग्रेड होने वाली सभी ट्रेनों में यात्रियों को यात्रा करने पर पहले के मुकाबले ज्यादा किराया चुकाना पड़ेगा।भारतीय रेल ने जिन 48 ट्रेनों को अपग्रेड करके सुपरफास्ट किया है उनकी स्पीड में 5 किलोमीटर प्रति घंटा की बढ़ोतरी का दावा किया जा रहा है। हालांकि स्पीड को बढ़ाने के अलावा ट्रेनों में किसी भी तरह की दूसरी सुविधा नहीं दी जा रही है। ऐसा करने के बाद अपग्रेड होने वाली ट्रेनों में स्लीपर क्लास का किराया 30 रुपए, थर्ड और सेकेंड एसी का किराया 45 रुपए और फर्स्ट एसी का किराया 75 रुपए बढ़ गया है।भारतीय रेल ने पहली नवंबर से ट्रेनों की जो नया टाइम टेबल जारी किया है उसके बाद यह किराया लागू हो चुका है। रेलवे इन ट्रेनों में स्पीड की बढ़ोतरी का दावा कर रहा है लेकिन इन ट्रेनों की समय पर पहुंचने की कोई गारंटी नहीं है। भारतीय रेल की सबसे तेज चलने वाली राजधानी और शताब्दी ट्रेनों के ही अभीतक समय पर पहुंचने की गारंटी नहीं मिल पायी है ऐसे में जिन ट्रेनों को अपग्रेड करके सुपरफास्ट किया गया है उनकी भी गारंटी नहीं है।जिन ट्रेनों को अपग्रेड किया गया है उनमें मुंबई-मथुरा एक्सप्रेस, पुणे-अमरावती एसी एक्सप्रेस, बैंगलोर-शिवमोगा एक्सप्रेस, पाटलीपुत्र-चंडीगढ़ एक्सप्रेस, दरभंगा-जालंधर एक्सप्रेस, रॉक फोर्ट चेन्नई-तिरुचिरापल्ली एक्सप्रेस, टाटा-विशाखापटनम एक्सप्रेस, विशाखापटनम-नांदेड़ एक्सप्रेस, दिल्ली-पठानकोट एक्सप्रेस, कानपुर-उधमपुर एक्सप्रेस, छपरा-मथुरा एक्सप्रेस और मुंबई-पटना एक्सप्रेस शामिल हैं।

मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासाGhum hai kisikey pyaar meiin के विराट ने लगाए 'ईना मीना डीका' पर ऐसे ठुमके, देखती रह गईं उनकी दोनों बीवियां******'गुम है किसी के प्यार में' के एक्टर नील भट्ट ने किशोर कुमार की वेशभूषा में अभिनय किया और 1957 में आई फिल्म 'आशा' के सदाबहार गाने 'ईना मीना डीका' में 'रविवार विद स्टार परिवार' पर प्रस्तुति दी। जैसे ही शान और कुमार शानू जैसे प्रसिद्ध गायक शो में आए, 'ये रिश्ता क्या कहलाता है' की अभिनेत्री प्रणली राठौड़ ने भी बप्पी लाहिरी का गेट-अप लिया।नील को 'गुम है किसी के प्यार में' में विराट के रूप में देखा जाता है। नीलने शो में अपने प्रदर्शन के बारे में बात की, "यह एक बिल्कुल अद्भुत अनुभव है और इस गीत को प्रस्तुत करना और शो में किशोर कुमार जी की भूमिका निभाना मेरे लिए सम्मान की बात थी।"बातचीत के दौरान उन्होंने कहा, "यह मंच हम सभी के लिए एक-दूसरे की कंपनी का आनंद लेने और कुमार शानू और शान जैसे प्रशंसनीय लोगों से मिलने के लिए इतनी खूबसूरत जगह बन गया है। अनुभव पूरा हो रहा है और मुझे उम्मीद है कि दर्शक इस तरह के शो को देखते रहेंगे।"'इमली' फेम सुंबुल तौकीर, शान को अपने साथ डांस करने के लिए स्टेज पर ले गईं। विभिन्न एक्ट और डांस प्रदर्शनों के माध्यम से एक-दूसरे के साथ प्रतिस्पर्धा करने परिवारों को एक साथ लाने के लिए, रियलिटी शो 'रविवार विद स्टार परिवार' स्टार प्लस पर प्रसारित हुआ।मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासाकब आएगा 'द फैमिली मैन' का सीजन 3? मनोज वाजपेयी ने किया है खुलासा******मनोज बाजपेयी इन दिनों काफी सुर्खियों में नजर आ रहे हैं। दरअसल, वह अपनी वेब सीरीज द फैमिली मैन 2 के आने के बाद से ही चर्चाओं का हिस्सा बने हुए हैं। वेब सीरीज में उनके अलावा सामंथा अक्किनेनी और शारिब हाशमी भी नजर आ रहे हैं। इसे कुछ दिन पहले ही अमेज़न प्राइम वीडियो पर रिलीज़ किया गया था। अब इस सीरीज को दर्शकों का शानदार रिस्पॉन्स मिला है और इसे पसंद किया जा रहा है। द फैमिली मैन के पहले सीज़न के बाद दूसरे सीजन को मिली सराहना, शायद ही दूसरी किसी वेब सीरीज़ के दूसरे सीज़न को मिली होगी।अब दर्शकों का कहना है कि द फैमिली मैन 2 के निर्माताओं ने पहले सीजन में जिस तरह की दमदार कहानी पेश की थी, वह दूसरे सीजन की कहानी से कम नहीं है। इन सबके बीच दर्शक अब इस वेब सीरीज के तीसरे सीजन का इंतजार कर रहे हैं। हर कोई जानना चाहता है कि द फैमिली मैन 3 कब तक आएगी। इस पर अब मनोज बाजपेयी ने जवाब दिया है।हाल ही में एक एंटरटेनमेंट पोर्टल से बात करते हुए मनोज बाजपेयी ने कहा, ''अभी कुछ भी फाइनल नहीं है। देश में लॉकडाउन चल रहा है और हम एक दूसरे से मिल नहीं सकते। अभी कोई ऑफिस अटेंड नहीं कर पा रहा हैं, सब अपने-अपने घर जा चुके हैं। राज और डीके भी हैं। इस समय वे एक साथ नहीं। देश को एक बार फिर अनलॉक होने दीजिए। स्थिति सामान्य होने पर हम काम शुरू करेंगे और हमें प्रोजेक्ट के लिए हरी झंडी मिल जाएगी। राज और डीके के पास सीरीज की कहानी है। इसकी पटकथा पर काम जल्द ही शुरू होगा। अगर सब कुछ ठीक रहा, हम डेढ़ साल में द फैमिली मैन का तीसरा सीजन बना लेंगे।"उन्होंने द फैमिली मैन 2 की सफलता के बारे में भी बात की। उन्होंने कहा, "हमें उम्मीद नहीं थी कि लोग इस सीरीज को इतना पसंद करेंगे।" हम बहुत खुश हैं कि लोगों ने हमारी सीरीज को इतना प्यार दिया है।

Tesla Factory में लगी आग, घटना के पीछे के कारणों को लेकर हुआ बड़ा खुलासा

मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासाISL 2020: मुंबई सिटी एफसी और केरल ब्लास्टर्स के बीच हुई कांटे की टक्कर, मुकाबला हुआ ड्रॉ******मुंबई फुटबॉल एरेना में को मेजबान मुंबई सिटी एफसी और केरला ब्लास्टर्स ने रोमांचक ड्रॉ खेला। हीरो इंडियन सुपर लीग के छठे सीजन के इस मुकाबले का पहला हाफ सूखा रहने के बाद दूसरे हाफ में दो गोल हुए और दोनों टीमें 1-1 के स्कोरलाइन के साथ अंक बांटने पर मजबूर हुईं। मैच के दोनों गोल दूसरे हाफ में सिर्फ दो मिनट के अंतराल पर हुए। केरला ने पहला गोल कर बढ़त ली लेकिन दो मिनट बाद मेजबान टीम बराबरी कर ले गई। इस बराबरी के गोल ने मुंबई को अंक तालिका में एक स्थान का फायदा पहुंचा दिया। वह सातवें से छठे पर आ गई है। ओडिशा छठे से सातवें पर फिसल गई है। केरला अपने आठवें स्थान पर ही कायम है। यह मुंबई का सात मैचों में चौथा और केरला का तीसरा ड्रॉ है।पहला हाफ गोलरहित लेकिन रोमांचक रहा। केरला ने ठोस शुरुआत की और हमले पर हमले किए। हालांकि इसके बावजूद केरला की टीम मुम्बई के गोलकीपर अमरिंदर को छका नहीं सकी। मैच का सबसे अच्छा मौका केरला के मेसी बाउली ने बनाया।जवाब में मुम्बई की टीम ने 30 मिनट के बाद लय पकड़ी और कई अच्छे हमले किए। मुम्बई के लिए सबसे करीबा मामला मोदू सोगोउ के खाते में दर्ज हुआ लेकिन किस्मत ने उनका और टीम का साथ नहीं दिया।मेसी ने मुम्बई के खिलाफ 25वें मिनट में प्रयास किया। एक शानदार बाइसिकिल किक से उन्होंने अमरिंदर को छकाने की कोशिश की लेकिन मुम्बई के गोलकीपर ने डाइव लगाते हुए एक शानदार सेव किया और अपनी टीम को पिछड़ने से बचा लिया।42वें मिनट में सोगोउ ने केरल के गोलकीपर टीपी रहनेश की जबरदस्त परीक्षा ली, जिसमें रहनेश सफल रहे। इस हाफ में तीन पीले कार्ड दिखाए गए।रेहनेश ने दूसरे हाफ में भी अपनी शानदारी गोलकीपिंग से मुंबई को गोल नहीं करने दिए। 57वें मिनट में अमिने शेरमिती ने बिपिन सिंह को गेंद देनी चाहिए, जिसे रेहनेश ने बीच में ही रोक गोल के खतरे को खत्म कर दिया।इसी तरह 62वें मिनट में भी रेहनेश ने बिपिन को ब्लॉक कर गोल की संभावनाओं को खत्म कर दिया। इसी मिनट केरला ने बदलाव कर सैमुएल को मैदान पर भेजा और सहल अब्दुल समद को बाहर बुलाया।केरला भी हालांकि पीछे नहीं रहने वाली थी। 67वें मिनट मेसी बाउली ने लेफ्ट फ्लैंक से एक शानदार मूव बना निशाना साधा जो बाहर चला गया। मेसी इसके बाद विफल नहीं हुए और उन्होंने 75वें मिनट में पोस्ट के सामने से गेंद को नेट में डाल केरला को 1-0 से आगे कर दिया।यहां जेस्सेल कारनेइरो मेसी को गेंद दी थी जिसे मेसी ने अंजाम तक पहुंचाया। मेसी जश्न से पूरी तरह बाहर आ पाते, उससे पहले ही उनका जश्न फीका पड़ गया क्योंकि शेरमिती ने 77वें मिनट में मुंबई के लिए बराबरी का गोल कर दिया।शेरमिती ने यह गोल रिबाउंड पर किया क्योंकि रेहनेश ने पहले प्रयास को रोक लिया। वहीं, खड़े शेरमिती ने मौको को भांपा और तुरंत जाकर गेंद को पैर के इशारे पोस्ट में धकेल दिया।यहां से दोनों टीमों का प्रयास विजयी गोल करने का था जिसमें सफलता दोनों ही टीमों से महरूम रही और दोनों को अंक बांटने पर मजबूर होना पड़ा।मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासाOn This Day : आज ही के दिन भारत बना था वर्ल्ड चैंपियन, खत्म हुआ था 28 साल का सूखा******भारतीय क्रिकेट के इतिहास में 2 अप्रैल 2011 की तारीख एक खास मुकाम रखती है। दरअसल, यही वह दिन है जब भारतीय क्रिकेट टीम ने 28 साल के सूखे को खत्म करते हुए दूसरी बार ICC वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया था। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली टीम इंडिया ने फाइनल में श्रीलंका को 6 विकेट से हराते हुए अपनी सरजमीं पर पहली बार वर्ल्ड कप अपने नाम किया था। इससे पहले टीम इंडिया साल 1983 में कपिल देव की कप्तानी में वर्ल्ड कप खिताब जीतने में कामयाब रही थी लेकिन भारत को दूसरा खिताब जीतने में 28 साल का लंबा वक्त लग गया। 2011 वर्ल्ड कप कई वजहों से भारतीय फैंस के लिए खास रहा। पहला ये कि भारतीय टीम ने पहली बार घरेलू सरजमीं पर वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया। दूसरी खास बात ये रही कि भारत के महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर का वर्ल्ड कप जीतने का सपना आखिरकार साकार हुआ।वर्ल्ड कप 2011 का आगाज 19 फरवरी को मेजबान भारत और बांग्लादेश के बीच मैच के साथ हुआ था। इस मैच में भारतीय टीम ने जो विजयी शुरुआत वह श्रीलंका के खिलाफ फाइनल मैच में खिताबी जीत पर आकर रुका।वर्ल्ड कप फाइनल मुकाबला मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला गया था। इस मैच में श्रीलंकाई टीम टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने मैदान पर उतरी। इस दौरान श्रीलंकाई टीम को भारतीय गेंदबाजों ने शुरुआती झटके दिए लेकिन अनुभवी बल्लेबाज महेला जयवर्धने एक छोर पर डट खड़े रहे।लगातार गिरते विकटों के बीच जयवर्धने ने 88 गेंदों में 103 रनों की शतकीय पारी खेली। अपनी इस पारी में जयवर्धने ने 13 चौके लगाए। जयवर्धने की इस शतकीय पारी की बदौलत ही श्रीलंका की टीम भारत के सामने निर्धारित 50 ओवरों में 274 रनों का स्कोर खड़ा कर पाई।श्रीलंका के 275 रनों के स्कोर के जवाब में उतरी भारतीय टीम को सचिन (18) और वीरेंद्र सहवाग (0) के रूप दो शुरुआती झटके लगे। इन दोनों के विकेट गिरने के बाद दर्शकों में मायूसी छा गई लेकिन दूसरे छोर पर गौतम गंभीर अपना खूंटा गाड़े रहे।इसके बाद गंभीर और विराट कोहली (35) ने तीसरे विकेट के लिए 83 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी कर भारतीय उम्मीदों को बढ़ा दिया। हालांकि गंभीर और कोहली के बीच यह साझेदारी ज्यादा लंबी नहीं चल सकी और पारी के 22वें ओवर में कोहली भी आउट हो गए। इसके बाद चौथे विकेट के लिए धोनी ने गंभीर के साथ मिलकर 109 रनों की साझेदारी कर मैच को पूरी तरह से भारत की झोली में डाल दिया।शुरुआती झटके के बाद विश्व कप के फाइनल मैच में गौतम गंभीर ने जिस तरह से पारी संभाला उसे कभी नहीं भुलाया जा सकता है। ऐसा कहा जा सकता है कि गंभीर की सूझबूझ की बदौलत ही भारतीय टीम को वर्ल्ड कप का खिताब जीतने में आसानी रही।गंभीर इस मैच में 97 रन बनाकर आउट हुए थे और महज 3 रन से विश्व कप में शतक बनाने से चूक गए। अपनी इस पारी में उन्होंने 122 गेंदों का सामना किया था जिसमें 9 चौके शामिल थे। हालांकि गंभीर अपने शतक से जरुर चूक गए लेकिन अपनी इस मैराथन पारी की बदौलत उन्होंने विश्व कप फाइनल में भारतीय टीम की जीत पक्की कर दी थी।विश्व कप के फाइनल मैच में कमेंटेटर की वह आवाज जिसमें धोनी के छक्के का जिक्र है शायद ही किसी भारतीय फैंस ने ना सुना हो। इस मैच में गंभीर के बाद धोनी ने सबसे अधिक नाबाद 91 रनों की पारी खेली थी।धोनी ने इस मैच में 79 गेंदों का सामना करते हुए 91 रन बनाए थे जिसमें 8 चौके और दो छक्के शामिल रहे। इसमें धोनी का दूसरा छक्का भारतीय टीम के लिए वियजी शॉट था और इसी के साथ भारत ने 10 गेंद शेष रहते ही 6 विकेट से यह मैच अपने नाम कर लिया।मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासाHCL Tech को पहली तिमाही में हुआ 2,925 करोड़ रुपए का लाभ, शिव नादर ने छोड़ा चेयरमैन का पद******HCL Tech Q1 net profit up 31.7 pc at Rs 2,925 cr; Shiv Nadar steps down as Chairmanआईटी कंपनी एचसीएल टेक्‍नोलॉजीज ने शुक्रवार को बताया कि वित्‍त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में उसका शुद्ध लाभ 31.7 प्रतिशत बढ़कर 2,925 करोड़ रुपए हो गया। कंपनी ने कहा कि शिव नादर ने चेयरमैन पद भी छोड़ने की घोषणा की है। उनकी बेटी रोशनी नादर मल्‍होत्रा अब तत्‍काल प्रभाव से कंपनी की चेयरमैन होंगी। कंपनी ने अप्रैल-जून 2019 तिमाही में 2220 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया था। समीक्षाधीन तिमाही में राजस्‍व 8.6 प्रतिशत बढ़कर 17,841 करोड़ रुपए रहा, जो एक साल पहले की समान तिमाही में 16,425 करोड़ रुपए था। वहीं मार्च 2020 तिमाही में कंपनी का राजस्‍व 18,590 करोड़ रुपए था। एचसीएल के टेक्‍नोलॉजीज के अध्‍यक्ष और सीईओ सी विजयकुमार ने कहा कि समीक्षाधीन तिमाही में प्रतिकूल परिस्थितियों ने हमारे राजस्‍व पर बुरा असर डाला है, हालांकि परिचालन मॉडल के लचीलेपन के चलते मार्जिन और नकदी आवक को बनाए रखने में मदद मिली।उन्होंने कहा कि कंपनी के पास पर्याप्त सौदे हैं और इस अवधि में उसे 11 बेहद महत्वपूर्ण सौदे मिले। कंपनी ने बताया कि निदेशक मंडल ने शिव नादर के स्थान पर उनकी बेटी और कंपनी की गैर-कार्यकारी निदेशक रोशनी नादर मल्होत्रा को बोर्ड और कंपनी का अध्यक्ष नियुक्त करने का फैसला किया है। उनकी नियुक्ति शुक्रवार से प्रभावी है। कंपनी ने बताया कि शिव नादर ने पद से हटने की इच्छा व्यक्त की थी और वह मुख्य रणनीति अधिकारी के पदनाम के साथ कंपनी के एमडी बने रहेंगे।एचसीएल टेक्नोलॉजीज ने अमेरिका द्वारा एच 1-बी वीजा के निलंबन को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया और कहा कि इस कदम से छोटी अवधि में सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) सेवाओं पर न्यूनतम प्रभाव पड़ेगा, क्योंकि वह पिछले 10 वर्षों से स्थानीय स्तर पर लोगों को काम पर रखते आ रही है। कंपनी के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी सी विजय कुमार ने कहा कि हमने 10 साल पहले अमेरिका में केंद्रों में निवेश करना शुरू किया था, हमारे पास अमेरिका में 15 स्केल्ड वितरण केंद्र हैं। हम स्थानीयकरण बढ़ाने वाले पहले लोगों में से एक थे, अमेरिका में हमारे 67 प्रतिशत कर्मचारियों के करीब स्थानीय लोग हैं।उन्होंने कहा कि यह प्रवृत्ति है, जिसे हमने वास्तव में उद्योग में आगे बढ़ाया है और अब कई अन्य कंपनियां हमारा अनुसरण कर रही हैं। उन्होंने कहा कि कंपनी के पास मांग पूरी करने के लिए अमेरिका में पर्याप्त लोग हैं। उन्होंने कहा कि हालांकि, नियम के बारे में मैं कहूंगा, दुर्भाग्यपूर्ण है, लेकिन यह देखते हुए कि हम न केवल अमेरिका में, बल्कि सभी भौगोलिक क्षेत्रों में अपनी स्थानीय उपस्थिति को बढ़ाने के लिए तैयार रहे हैं, हम नीति में वर्तमान परिवर्तन के कारण बहुत कम प्रभाव देखते हैं। कम से कम निकट अवधि में।उन्होंने कहा कि अगर इसे लंबे समय तक जारी रखा जाता है, तो कंपनी को "इस बात पर ध्यान देना होगा कि हम मांग को कैसे पूरा करते हैं"। एचसीएल टेक के दुनिया भर में जून 2020 तिमाही के अंत तक 1.5 लाख से अधिक कर्मचारी हैं। कंपनी को 63.7 प्रतिशत राजस्व अमेरिकी बाजार से प्राप्त होता है। जून तिमाही में कंपनी के कुल राजस्व में यूरोप का योगदान 28.3 प्रतिशत और शेष अन्य सभी बाजारों का योगदान आठ प्रतिशत रहा था।

Tesla Factory में लगी आग, घटना के पीछे के कारणों को लेकर हुआ बड़ा खुलासा

मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासाJharkhand 9th Result 2020: झारखंड 9वीं कक्षा का रिजल्ट आज हो सकता है जारी, ये है देखने का तरीका******झारखंड अकेडमिक काउंसिल (JAC) आज 9वीं कक्षा का रिजल्ट जारी कर सकता है। जारी होने के बाद आप रिजल्ट को झारखंड बोर्ड की ऑफिशल वेबसाइट jac.jharkhand.gov.in पर देख सकते हैं। हम आपको सुझाव देंगे कि आप बोर्ड की ऑफिशल वेबसाइट को समय-समय पर चेक करते रहें। रिजल्ट देखने के लिए आपको रोल नंबर की जरुरत पड़ेगी।झारखंड बोर्ड ने 9वीं की परीक्षाओं का जनवरी में आयोजित किया था। परीक्षा में करीब 4.2 लाख छात्र-छात्राओं ने भाग लिया था। बता दें कि पिछले साल झारखंड अकेडमिक काउंसिल (JAC) ने 11 अप्रैल को 9वीं कक्षा का रिजल्ट जारी किया था। लेकिन, इस बार रिजल्ट के जल्दी जारी किए जाने की उम्मीद है। अगर आज यह रिजल्ट जारी नहीं हुआ तो उम्मीद है कि अगले 1-2 दिनों में यह जारी हो सकता है।मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासागणतंत्र दिवस के मौके पर पेट्रोल-डीजल हुआ सस्ता, एक पखवाड़े में 2 रुपए लीटर से ज्यादा घटे दाम******Petrol Diesel rate on 26 January 2020 पेट्रोल और डीजल के दाम में रविवार को फिर बड़ी कटौती करके तेल विपणन कंपनियों ने गणतंत्र दिवस के मौके पर देश के उपभोक्ताओं को तेल की महंगाई से बड़ी राहत दिलाई है। एक पखवाड़े में पेट्रोल के दाम में दो रुपएप्रति लीटर से ज्यादा की कटौती की गई है। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में हालिया गिरावट के बाद पेट्रोल और डीजल आने वाले दिनों में और सस्ते हो सकते हैं।तेल विपणन कंपनियों ने रविवार को चौथे दिन पेट्रोल और डीजल के दाम में कटौती की है। पेट्रोल के दाम में दिल्ली में 30 पैसे, कोलकाता और मुंबई में 29 पैसे जबकि चेन्नई में 32 पैसे प्रति लीटर की कटौती की गई है। वहीं, डीजल की कीमत दिल्ली और कोलकाता में 35 पैसे जबकि मुंबई में 37 पैसे और चेन्नई में 38 पैसे प्रति लीटर कम हो गई है।इस महीने में में यह सबसे बड़ी एक दिनी कटौती है। देश की राजधानी दिल्ली में 11 जनवरी के बाद पेट्रोल 2.15 रुपये प्रति लीटर सस्ता हो गया है जबकि डीजल के दाम में उपभोक्ताओं को 2.21 रुपये प्रति लीटर की राहत मिली है।इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का दाम घटकर क्रमश: 73.86 रुपये, 76.48 रुपये, 79.47 रुपये और 76.71 रुपये प्रति लीटर हो गया है। इसी प्रकार, चारों महानगरों में डीजल की कीमत भी घटकर क्रमश: 66.96 रुपये, 69.32 रुपये, 70.19 रुपये और 70.73 रुपये प्रति लीटर हो गई है।अपने शहर में पेट्रोल-डीजल का दाम चेक करने के लिए यहां करें।इस महीने 11 जनवरी को दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में क्रमश: 76.01 रुपये, 78.59 रुपये, 81.60 रुपये और 78.98 रुपये प्रति लीटर था और डीजल का दाम क्रमश: 69.17 रुपये, 71.54 रुपये, 72.54 रुपये और 73.10 रुपये प्रति लीटर था उसके बाद से दोनों वाहन ईंधनों के दाम में गिरावट ही आई है।सभी ऑयल मार्केटिंग कंपनियों IOC, BPCL और HPCL के पेट्रोल-डीजल के दाम हर दिन घटते-बढ़ते रहते हैं। पेट्रोल-डीजल का नया दाम सुबह 6 बजे से लागू हो जाता है। इनकी कीमत में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन सब कुछ जोड़ने के बादल इसकी कीमत लगभग दोगुनी हो जाती है।आप अपने शहर के पेट्रोल-डीजल के दाम रोजाना SMS के जरिए भी चेक कर सकते है। इंडियन ऑयल (IOC) के उपभोक्ता RSP<डीलर कोड> लिखकर 9224992249 नंबर पर व एचपीसीएल (HPCL) के उपभोक्ता HPPRICE <डीलर कोड> लिखकर 9222201122 नंबर पर भेज सकते हैं। बीपीसीएल (BPCL) उपभोक्ता RSP<डीलर कोड> लिखकर 9223112222 नंबर पर भेज सकते हैं।

Tesla Factory में लगी आग, घटना के पीछे के कारणों को लेकर हुआ बड़ा खुलासा

मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासादिल्ली हवाई अड्डे पर भीड़ रोकने के लिए तकनीक का इस्तेमाल, T3 पर लगाई गई यात्री ट्रैकिंग प्रणाली******दिल्ली हवाई अड्डे के टर्मिनल तीन पर नई यात्री ट्रैकिंग प्रणाली लगायी गयी है। इससे लोगों की आवाजाही का प्रबंधन करने में मदद मिलेगी तथा प्रतीक्षा का समय कम होगा और एक-दूसरे से दूरी सुनिश्चित होगी। दिल्ली हवाई अड्डे का संचालन करने वाली डायल ने कहा कि "जोविस यात्री ट्रैकिंग प्रणाली" कतार प्रबंधन प्रणाली है।एक विज्ञप्ति में बताया कि अलग अलग स्थानों पर स्क्रीन लगाकर प्रणाली के जरिए चेक-इन, सुरक्षा जांच आदि पर लगने वाले समय की सीधी प्रतीक्षा जानकारी उपलब्ध होगी। कोविड पूर्व स्तर की तुलना में उड़ानों का परिचालन कम है। इसलिए हवाई अड्डे पर टर्मिनल दो और टर्मिनल तीन से विमान आ- जा रहे हैं।पीटीएस में छत पर एक सेंसर लगाया जाएगा जिसके जरिए यात्रियों की गणना होगी और उनको ट्रैक किया जाएगा। दिल्ली इंटरनेशल एयरपोर्ट लिमिटेड (डायल) ने बताया कि इस तरह अधिकारियों को भीड़-भाड़ वाले क्षेत्र का पता चल जाएगा।

मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासा5G auctions today: स्पेक्ट्रम नीलामी से 1 लाख करोड़ मिलने की उम्‍मीद, ये चार कंपनियां दौड़ में शामिल******Highlights 5जी स्पेक्ट्रम के लिए नीलामी प्रक्रिया मंगलवार को सुबह 10 बजे से शुरू हो गई। शाम छह बजे तक बोली लगाई जा सकती है। नीलामी प्रक्रिया का आगे भी जारी रहना आने वाली बोलियों और बोलीकर्ताओं की रणनीति पर निर्भर करेगा। स्पेक्ट्रम नीलामी के इस दौर में 5जी के लिए मौजूदा दूरसंचार सेवा प्रदाताओं रिलायंस जियो, भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया के अलावा गौतम अडाणी की कंपनी अडाणी एंटरप्राइजेज भी बोली लगाने वाली है। नीलामी में रिलायंस जियो, भारती एयरटेल दौड़ में सबसे आगे है।दूरसंचार विभाग को 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी से 70,000 करोड़ रुपये से लेकर 1,00,000 करोड़ रुपये तक का राजस्व मिलने की उम्मीद है। उद्योग जगत को उम्मीद है कि स्पेक्ट्रम की बिक्री आरक्षित मूल्य के आसपास ही होगी। देश में 5जी सेवाएं शुरू होने से अत्यधिक तीव्र गति वाली इंटरनेट सेवाएं देने का रास्ता साफ हो पाएगा। मौजूदा 4जी सेवाओं की तुलना में 5जी सेवा करीब 10 गुना तेज होगी। नीलामी के दौरान रिलायंस जियो की तरफ से ज्यादा खर्च किए जाने की उम्मीद है। एयरटेल के भी इस होड़ में आगे रहने जबकि वोडाफोन आइडिया और अडाणी एंटरप्राइजेज की तरफ से सीमित भागीदारी किए जाने की उम्मीद है। रिलायंस जियो ने नीलामी के लिए 14,000 करोड़ रुपये की राशि विभाग के पास जमा कराई है जबकि अडाणी एंटरप्राइजेज ने 100 करोड़ रुपये की राशि जमा की है।उद्योग जगत के विशेषज्ञों के अनुसार, भारत में 5जी तकनीकी कंपनियों, उद्यमों और पारिस्थितिकी तंत्र के खिलाड़ियों को निजी नेटवर्क बनाने और अगली पीढ़ी के डिजिटल परिवर्तन लाने के लिए सशक्त बनाएगा जो देश के लिए 1 ट्रिलियन डॉलर डिजिटल अर्थव्यवस्था बनने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण है। ब्रॉडबैंड इंडिया फोरम (बीआईएफ) के अनुसार, इससे उद्यमों के लिए बेहतर दक्षता, उत्पादकता और उत्पादन में वृद्धि होगी, डिजिटलीकरण में तेजी आएगी, क्षमताओं को बढ़ावा मिलेगा, स्वदेशी विनिर्माण को बढ़ावा मिलेगा और अंतत: देश के लिए अधिक आर्थिक लाभ प्राप्त होगा। बीआईएफ के अध्यक्ष टीवी रामचंद्रन ने कहा, "जैसा कि हम विनिर्माण, आपूर्ति श्रृंखला और आरएंडडी के साथ-साथ दुनिया भर में अग्रणी डिजिटल अर्थव्यवस्थाओं में से एक के रूप में भारत की स्थिति को मजबूत करने के लिए देखते हैं, समर्पित कैप्टिव निजी 5जी नेटवर्क के माध्यम से उद्यमों की उन्नति सभी महत्वपूर्ण क्षेत्रों में दक्षता हासिल करने में मदद करेगी।"मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासाICICI Bank ने QIP से जुटाए 15,000 करोड़ रुपए, निवेशकों को 358 रुपए मूल्‍य पर जारी किए 41.89 करोड़ शेयर******ICICI Bank closes QIP; garners Rs 15,000 cr from share saleदेश के दूसरे सबसे बड़े प्राइवेट बैंक आईसीआईसीआई बैंक ने शनिवार को बताया कि उसने अपने क्‍वालीफाइड इंस्‍टीट्यूशनल प्‍लेसमेंट (क्‍यूआईपी) के तहत इक्विटी शेयरों के आबंटन का काम पूरा कर लिया है और इसके जरिये उसने 15,000 करोड़ रुपए जुटाए हैं। इस राशि का इस्‍तेमाल बिजनेस ग्रोथ और नियामकीय पूंजी आवश्‍यकता को पूरा करने में किया जाएगा। बैंक ने एक बयान में बताया कि निवेशकों को 358 रुपए प्रति शेयर के भाव पर कुल 41.89 करोड़ इक्विटी शेयरों का आबंटन किया गया है। इस हफ्ते की शुरुआत में के लिए 351.36 रुपए प्रति शेयर का फ्लोर प्राइस तय किया था। यह इश्‍यू 10 अगस्‍त को खुला था और 14 अगस्‍त को बंद हुआ। शेयर बिक्री के दौरान, मॉनेटरी अथॉरिटी ऑफ सिंगापुर ने 4.6 करोड़ शेयर खरीदे, यह कुल क्‍यूआईपी का 11.06 प्रतिशत है। अन्‍य प्रमुख निवेशकों में मोर्गन स्‍टेनली इनवेस्‍टमेंट फंड ग्‍लोबल अपॉर्च्‍यूनिटी फंड और सोसिएट जनरल ओडीआई शामिल हैं,जिन्‍होंने क्रमश:7.31 प्रतिशत और 5.55 प्रतिशत शेयरों की खरीदारी की।इस बिक्री में वैश्‍विक के अलावा घरेलू निवेशकों ने भी काफी रुचि दिखाई। इनमें विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक, घरेलू म्‍यूचुअल फंड और बीमा कंपनियां शामिल हैं। पिछले हफ्ते एचडीएफसी बैंक ने भी क्‍यूआईपी के जरिये 14,000 करोड़ रुपए जुटाए हैं। एक्सिस बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक ने भी राशि जुटाई है।

मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासाLIC ने बनाया एक नया रिकॉर्ड, वित्‍त वर्ष 2016-17 में 99.92 प्रतिशत मृत्‍यु दावों का किया निपटारा****** देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) ने वित्‍त वर्ष 2016-17 में रिकॉर्ड 99.92 प्रतिशत मृत्यु दावों का निपटान कर एक नया कीर्तिमान स्‍थापित किया है। बीमा इंडस्‍ट्री के स्तर पर यह औसत 95 प्रतिशत है।उद्योग संगठन जीवन बीमा परिषद के अनुसार एलआईसी समेत कुल 24 कंपनियां जीवन बीमा क्षेत्र में सक्रिय हैं और इंडस्‍ट्री का मृत्यु दावा निपटान करीब 95 प्रतिशत है।सूत्र ने कहा, एलआईसी के मजबूत ब्रांड के पीछे मुख्‍य कारण हमारी सेवा डिलीवरी और दावा निपटान कार्यवाही है।सूत्र ने आगे कहा कि हम इस क्षेत्र पर न केवल निरंतर ध्यान देंगे बल्कि आने वाले मासिक आधार पर 99 प्रतिशत दावों का निपटान करेंगे। एलआईसी के पास आज की तारीख में करीब 11 लाख ऐसे मामले हैं और उम्मीद है कि प्रत्येक मामलों को उसके तार्किक निष्कर्ष पर पहुंचाया जाएगा।मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासावैश्विक अर्थव्यवस्था 2017 में 2.7 प्रतिशत बढे़गी: विश्वबैंक****** विश्वबैंक का अनुमान है कि 2017 में वैश्विक अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 2.7 प्रतिशत रहेगी, जो एक अच्छा संकेत है।विश्वबैंक की एक ताजा रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि विश्व व्यापार में ठहराव, निवेश में सुस्ती और नीतियों को लेकर अनिश्चितताओं के चलते यह वर्ष भी चुनौतियों भरा ही रहेगा।कई साल तक वैश्विक आर्थिक वृद्धि के निराशजनक रहने के बाद आर्थिक संभावनाओं का परिदृश्य अपेक्षाकृत सशक्त दिख रहा है, जिससे हम उत्साहित हैं।

मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासाNHAI की टोल टैक्स से आय 3 साल में बढ़कर होगी 1.4 लाख करोड़, इन्फ्रा सेक्टर में बढ़े निवेश के मौके******NHAI की टोल टैक्स से आय 3 साल में बढ़कर होगी 1.4 लाख करोड़, इन्फ्रा सेक्टर में बढ़े निवेश के मौकेHighlights केंद्रीय मंत्री नीतिन गडकरी ने मंगलवार को कहा कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) की पथकर से होने वाली आय अगले तीन साल में 40,000 करोड़ रुपये सालाना से बढ़कर 1.40 लाख करोड़ रुपये प्रति वर्ष हो जायेगी। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने यहां एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि भारत के बुनियादी ढांचा क्षेत्र में निवेशकों के लिए एक बड़ा अवसर है क्योंकि हर साल यातायात में वृद्धि हो रही है।उन्होंने कहा, "एनएचएआई की वर्तमान में सालाना पथकर आय 40,000 करोड़ रुपये है। अगले तीन साल में यह बढ़कर 1.40 लाख करोड़ रुपये प्रति वर्ष हो जायेगी। बुनियादी ढांचा क्षेत्र में निवेशकों को निवेश के लिए आमंत्रित करते हुए गडकरी ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था का आकार बढ़ रहा है। साथ ही स्वाभाविक रूप से बुनियादी ढांचा परियोजनाओं पर रिटर्न की दर में भी वृद्धि हो रही है।केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सुलह समितियों को तीन महीने के भीतर सड़क बुनियादी ढांचा से संबंधित परियोजनाओं पर फैसला करना चाहिए। निर्णय लेने की प्रक्रिया में देरी से लागत में भी बढ़ोतरी हो जाती है। दावों के तेजी से और आपसी सुलह के जरिये निपटान को लेकर एनएचएआई ने तीन सदस्यों वाली स्वतंत्र विशेषज्ञों की तीन समितियों का गठन किया है ताकि प्रक्रिया को जल्द पूरा किया जा सके। इन समितियों का नेतृत्व न्यायपालिका के सेवानिवृत्त अधिकारी, लोक प्रशासन, वित्त और निजी क्षेत्र के वरिष्ठ विशेषज्ञ कर रहे हैं।मेंलगीआगघटनाकेपीछेकेकारणोंकोलेकरहुआबड़ाखुलासाCorona Cases: 24 घंटे में 4 हजार 575 नए मामलों की पुष्टि, अब तक 5 लाख 15 हजार मरीजों की हुई मौत******देश में कोरोना के नए मामलों में गिरावट दर्ज की गई है। बीते 24 घंटे में 4 हजार 575 नए मामलों की पुष्टि हुई है। अभी भारत में 46 हजार 962 एक्टिव केस हैं। कोरोना से अब तक 5 लाख 15 हजार 355 मरीजों की मौत हो चुकी है। बुधवार को 24 घंटे में 3 हजार 993 नए मामलों की पुष्टि हुई थी। इस दौरान 108 मरीजों की मौत हुई थी। अभी देश में 49 हजार 948 एक्टिव केस थे।सोमवार को 4 हजार 362 नए मामलों की पुष्टि हुई थी और 66 मरीजों की मौत हुई थी। इसके बाद देश में एक्टिव केस की संख्या 54 हजार 118 पहुंच गई थी। रविवार को 5 हजार 476 नए मामलों की पुष्टि हुई थी। इस दौरान 158 मरीजों की मौत हुई थी और 9 हजार 754 मरीज ठीक हुए थे। इसके बाद देश में 59 हजार 442 एक्टिव मरीजों की संख्या पहुंच गई थी। बीते कुछ दिनों से देश में कोरोना के नए मरीजों की संख्या में तेजी से गिरावट दर्ज की जा रही है। हालांकि कई रिसर्च में कोरोना की चौथी लहर की भी आशंका जताई गई है।राष्ट्रव्यापी टीकाकरण मुहिम के तहत अभी तक कोरोना वायरस रोधी टीकों की करीब 178 करोड़ से खुराक दी जा चुकी हैं। कल 4 लाख 80 हजार 144 डोज़ दी गईं, जिसके बाद अबतक वैक्सीन की 178 करोड़ 90 लाख 61 हजार 887 डोज़ दी जा चुकी हैं। देश में कोविड रोधी टीकाकरण अभियान 16 जनवरी, 2021 से शुरू हुआ और पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया। वहीं, कोरोना योद्धाओं के लिए टीकाकरण अभियान दो फरवरी से शुरू हुआ था।

हाल का ध्यान

लिंक