Bigg Boss 13 Weekend ka Vaar: मधुरिमा हुईं घर से बेघर, सिद्धार्थ शुक्ला को फैन्स ने दी जन्मदिन की बधाई

2022-10-04 10:28:01 बैशा ली स्वायत्त काउंटी

मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाईसोने की कीमत में आज फिर हुआ बदलाव, 10 ग्राम गोल्ड अब इतने का मिलेगा******सोने की कीमत में आज फिर हुआ बदलाव, 10 ग्राम गोल्ड अब इतने का मिलेगानई दिल्ली: सोने की कीतम में बदलाव दर्ज हुआ है जिसके बाद 10 ग्राम गोल्ड के नए रेट जारी किए गए है। सोने की आज की नई कीमत की जानकारी हम आपको इस खबर में देने जा रहे है। एचडीएफसी सिक्योरिटीज केअनुसार, रुपये की गिरावट के समर्थन से राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को सोना 14 रुपये की मामूली बढ़त के साथ 45,080 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। पिछले कारोबार में यह कीमती धातु 45,066 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंदहुई थी।चांदी पिछले कारोबार में 58,792 रुपये प्रति किलोग्राम से 98 रुपये बढ़कर 58,890 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई। सोमवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया 34 पैसे की गिरावट के साथ73.82 पर बंद हुआ। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना मामूली गिरावट के साथ 1,753 डॉलर प्रति औंस और चांदी सपाट होकर 22.47 डॉलर प्रति औंस पर रही।वैश्विक स्तर पर बिकवाली दबाव के बीच बीएसई सेंसेक्स सोमवार को 525 अंक लुढ़क गया। एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी, टाटा स्टील और आईसीआईसीआई बैंक में भारी नुकसान से बाजार में गिरावट आयी। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 524.96 अंक यानी 0.89 प्रतिशत की भारी गिरावट के साथ 58,490.93 अंक पर बंद हुआ। इसी प्रकार, एनएसई निफ्टी 188.25 अंक यानी 1.07 प्रतिशत की गिरावट के साथ 17,396.90 अंक पर बंद हुआ।सेंसेक्स के शेयरों में करीब 10 प्रतिशत की गिरावट के साथ सर्वाधिक नुकसान में टाटा स्टील रहा। इसके अलावा, एसबीआई, इंडसइंड बैंक, एचडीएफसी, डा.रेड्डीज और महिंद्रा एंड महिंद्रा भी प्रमुख रूप से नुकसान में रहें। दूसरी तरफ लाभ में रहने वाले शेयरों में एचयूएल, बजाज फिनसर्व, आईटीसी और एचसीएल टेक शामिल हैं। जुलियस बेअर के कार्यकारी निदेशक मिलिंद मुचाला ने कहा, ‘‘ऐसा लगता है कि अंतत: भारतीय बाजार में तेजी पर कुछ अंकुश लगा है। इसका प्रमुख कारण वैश्विक बाजारों में बिकवाली दबाव है।’’उन्होंने कहा, ‘‘निवेशकों के मन में दो चीजें चल रही हैं। पहला, फेडरल रिजर्व की बैठक और चीन में जमीन जायदाद के विकास से जुड़ी एक प्रमुख कंपनी पर दबाव के कारण रियल एस्टेट बाजार में अनिश्चितता।’’ मुचाला के अनुसार, ‘‘बाजार उत्सुकता से फेडरल रिजर्व के बांड खरीद कार्यक्रम में कमी को लेकर समयसीमा और मात्रा के बारे में स्पष्ट रुख का इंतजार कर रहा है। हमारा मानना है कि इस सप्ताह होने वाली बैठक में बांड खरीद में कमी के बारे में पहले से सूचना दी जा सकती है। उसके बाद नवंबर में होने वाली बैठक में इसकी औपचारिक घोषणा की जा सकती है।’’एशिया के अन्य बाजारों में हांगकांग का हैंगसेंग 3 प्रतिशत से अधिक नीचे आ गया। चीन, जापान और दक्षिण कोरिया के शेयर बाजार अवकाश के कारण बंद थे। यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी दोपहर कारोबार में गिरावट का रुख रहा। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.92 प्रतिशत की गिरावट के साथ 73.89 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।एचडीएफसी सिक्योरिटीज, सीनियर एनालिस्ट (कमोडिटीज), तपन पटेल के अनुसार, "सोमवार को कॉमेक्स में हाजिर सोने की कीमतों में मामूली गिरावट के साथ 1,753 डॉलर प्रति औंस पर सोने की कीमत कमजोर रही।सोने की कीमतों में मजबूत डॉलर के दबाव में कारोबार हुआ।"

मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाईVirat Kohli: विराट या सचिन में से किसके रहेंगे सबसे ज्यादा शतक? पोंटिंग ने कर दी बड़ी भविष्यवाणी******Highlights टीम इंडिया के दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहली अपनी खतरनाक फॉर्म में एक बार फिर से वापसी कर चुके हैं। विराट ने हाल ही में एशिया कप में अपना 71वां शतक ठोका। ये शतक तीन साल के लंबे समय के बाद आया था। विराट अब सबसे ज्यादा शतकों के मामले में सिर्फ क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर से पीछे हैं। इसी बीच ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज क्रिकेटर रिकी पोंटिंग ने एक बड़ा बयान दिया है। पोंटिंग ने भविष्यवाणी की है कि विराट कभी सचिन के शतकों का रिकॉर्ड तोड़ भी पाएंगे या नहीं।विराट कोहली की हाल में रनों की भूख को देखते हुए ऑस्ट्रेलिया के महान क्रिकेटर रिकी पोंटिंग ने कहा कि इस भारतीय सुपरस्टार के लिए सचिन तेंदुलकर की 100 अंतरराष्ट्रीय शतकों की उपलब्धि को पार करना ‘संभव’ है। कोहली ने हाल में एशिया कप में अफगानिस्तान के खिलाफ 61 गेंद में नाबाद 122 रन बनाकर अपने 71वें अंतरराष्ट्रीय शतक के लिए चला आ रहा 1,020 दिन का इंतजार खत्म किया था।दो बार के विश्व कप विजेता कप्तान पोंटिंग ने कहा, ‘‘देखिए मैं विराट के साथ कभी भी ऐसा नहीं कह सकता कि वह ऐसा ‘कभी नहीं’ कर पाएगा क्योंकि आप जानते हैं कि एक बार वह थोड़ी लय में आ जाए तो वह रन के लिए कितना भूखा है और वह सफलता के लिये कितना प्रतिबद्ध है। मैं कभी भी उसके लिये निश्चित रूप से ‘नहीं’ कभी नहीं कहूंगा। ’’ अपने शतक के साथ ही कोहली ने पोंटिंग के 71 शतकों की बराबरी की। अब केवल तेंदुलकर ही सबसे ज्यादा शतक बनाने में कोहली से आगे हैं।सबसे ज्यादा शतकों के मामले में अब विराट कोहली सिर्फ सचिन तेंदुलकर से पीछे हैं। सचिन ने अपने करियर में 100 शतक ठोके थे। सचिन ने टेस्ट 51 शतक टेस्ट और 49 शतक वनडे क्रिकेट में मारे हैं। वहीं विराट ने अभी तक 71 सेंचुरीज मार ली हैं। विराट ने वनडे में कुल 43, टेस्ट में 27 और टी20 क्रिकेट में एक शतक ठोका है। वहीं पोंटिंग ने भी अपने करियर में 71 शतक ठोके हैं।मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाईमदर्स डे 2020 पर आयुष्मान खुराना का खास तोहफा, मांओं के लिए तैयार किया है गाना******रविवार यानी कि कल है, ऐसे में बॉलीवुड अभिनेता आयुष्मान खुराना एक गीत के साथ सभी मांओ को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए बिल्कुल तैयार हैं, जिसका शीर्षक 'मां' है। उनका कहना है कि हर एक दिन को मां का दिन कहा जाना चाहिए, क्योंकि वो निस्वार्थ भाव से अपने बच्चों, पति और परिवार की देखभाल करती हैं।आयुष्मान कहते हैं, "हालांकि हर एक दिन को मातृ दिवस कहा जाना चाहिए, लेकिन अपने बच्चों के प्रति उनके निस्वार्थ प्रेम व बलिदान को देखते हुए हम उनके लिए खास तौर पर समर्पित इस दिन का जश्न मना सकते हैं। इस मदर्स डे मैं एक खास गाना पोस्ट करूंगा, जिसका शीर्षक मां है, जो हमारी तरफ से हर मां को समर्पित है। मातृत्व की भावना ने मुझे हमेशा आश्चर्यचकित किया है और मैं हमेशा हमारी रक्षा व देखभाल करने वाली शक्ति की प्रशंसा में इस गीत को विनम्रतापूर्वक गाऊंगा।"रोचक कोहली ने इसे कम्पोज किया है और गुरप्रीत सैनी ने इसे लिखा है।आयुष्मान इनके बारे में कहते हैं, "मैं अपने प्यारे दोस्त रोचक के साथ जुड़ा हूं, जिसने इस खूबसूरत गीत को कम्पोज किया है, जो मांओ के लिए है। रोचक और मैं साथ में मिलकर इसे गाएंगे। सभी माताओं के लिए इस गाने को गाना मेरे लिए सम्माननीय है, जो निरंतर निस्वार्थ भाव से हमारी जिंदगी और दुनिया को संवारती हैं।"फिल्मों की बात करें तो आयुष्मान खुराना 'गुलाबो सिताबो' में नज़र आएंगे। इसमें अमिताभ बच्चन भी अहम भूमिका निभा रहे हैं। इसे शुजीत सिरकार डायरेक्ट कर रहे हैं।

Bigg Boss 13 Weekend ka Vaar: मधुरिमा हुईं घर से बेघर, सिद्धार्थ शुक्ला को फैन्स ने दी जन्मदिन की बधाई

मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाईShukra Gochar: 23 मई को मेष राशि में गोचर करेंगे शुक्र, इन राशियों की खुलेगी किस्मत, मां लक्ष्मी होंगी मेहरबान******सभी 9 ग्रह निश्चित समय पर एक से दूसरी राशि में अपना स्थान बदलते रहते हैं। ग्रहों के राशि परिवर्तन का अलग-अलग प्रभाव राशियों के जातकों के जीवन पर पड़ता है। ज्योतिष में शुक्र को भौतिक सुख, विलासिता पूर्ण जीवन, रोमांस, ग्लैमर आदि का कारक ग्रह माना जाता है। 23 मई को रात 08.39 बजे शुक्र मीन राशि से निकल कर मेष राशि में प्रवेश करेंगे। शुक्र को रचनात्मकता और रोमांस का ग्रह माना जाता है।यह जातक के जीवन विलासिता की स्थिति लेकर आता है। यह जातक के जीवन में प्रेम संबंधों को प्रभावित करता है। शुक्र को विवाह के लिए प्रमुख ग्रहों में से एक माना जाता है। शुक्र के मेष राशि में प्रवेश करने से राशियों पर कैसा प्रभाव पड़ेगा वो ज्योतिष चिराग बेजान दारूवाला से जानते है।मेष राशि में गोचर के दौरान शुक्र का प्रभाव आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होगा। वैवाहिक जीवन सफल होगा। प्रेम के मामलों में घनिष्ठता एक प्रमुख विशेषता होगी। जो लोग प्रेम विवाह की तलाश में हैं तो इनके लिए यह समय अनुकूल है। यदि आप सरकारी निविदाओं के लिए आवेदन करने के इच्छुक हैं तो यह गोचर अनुकूल है। साझेदारी के साथ व्यापार न करें। साथ ही ससुराल पक्ष से सहयोग का अनुभव होगा ।राशि चक्र के बारहवें भाव में शुक्र के गोचर का अशुभ प्रभाव व्यक्ति के स्वास्थ्य में समस्या पैदा कर सकता है। यात्रा करने से देश को लाभ होगा। घुमना अधिक महंगा पड़ शकता है । परिवार और दोस्तों से अच्छी खबर मिलने की बेहतर संभावना है। यदि आप अपना घर या वाहन बेचने की सोच रहे हैं तो समय अनुकूल है। कोर्ट के मामले का निपटाना ही समझदारी है।शुक्र के 11वें शुभ भाव में गोचर के दौरान शुक्र के प्रभाव से बड़ी सफलता प्राप्त होगी। बच्चे की जिम्मेदारी आप अच्छे से निभाएंगे। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी छात्र और को शुभकामनाएं देते हैं। नवविवाहितों के लिए संतानप्राप्ति का योग है। उच्च अधिकारी भी सहयोग करेंगे। बड़े भाइयों और परिवार के सदस्यों के साथ अपने संबंधों को खराब न होने दें। प्रेम संबंधी सभी मामलों में घनिष्ठता एक महत्वपूर्ण कारक होगी। यदि आप विवाह करने की सोच रहे हैं तो अवसर अनुकूल है।शुक्र का राशि के दशम भाव में गोचर व्यापार में प्रगति लाएगा और नौकरी के प्रति सम्मान में वृद्धि करेगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। पुश्तैनी जमीन या संपत्ति से जुड़े विवाद सुलझेंगे। यदि आप रुचि रखते हैं तो वाहन खरीदने का अवसर अनुकूल है। परिवार और दोस्तों से सुनने की अच्छी संभावना है। विदेशी नागरिकता या सेना में सेवा भी सफल सिद्ध होगी। शुभ कार्यों के कारण परिवार में उत्साह का माहौल रहेगा।भाग्य के नौवें स्थान से गोचर करते हुए शुक्र आपके लिए सौभाग्य लेकर आएगा। साहस और पराक्रम में वृद्धि होगी। किए गए निर्णयों और किए गए कार्यों की भी सराहना की जाएगी। धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में भाग लें। परिवार अधिक सद्भाव और आपसी सम्मान का अनुभव करेगा। यदि आप राज्य या केंद्र सरकार के विभागों में किसी भी प्रकार के सरकारी टेंडर के लिए आवेदन करने के इच्छुक हैं तो यह गोचर अनुकूल रहेगा।शुक्र के अष्टम भाव में गोचर के मिले-जुले परिणाम होंगे। पक्षों के बीच विवादों और अदालत से संबंधित अन्य मामलों को सुलझाया जाना चाहिए। पैतृक संपत्ति बेचने से बचें, नहीं तो आर्थिक नुकसान होने की संभावना है। किसी को ऋण के रूप में अधिक धन उधार न दें, क्योंकि या तो आप धन खो देंगे या यह समय पर प्राप्त नहीं होगा। इन सबके बावजूद नौकरी की प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।शुक्र का राशि के सप्तम भाव में गोचर बहुत सफलता दिलाएगा, भले ही पारिवारिक एकता बनाए रखने में कुछ चुनौतियाँ हों। विवाह की बातें सफल होंगी। सरकारी विभागों में लंबे समय से प्रतीक्षित काम अब पूरा हो जायेगा। यदि आप सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करने के इच्छुक हैं तो गोचर का परिणाम भी अनुकूल रहेगा। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले छात्रों का समय बेहतर रहेगा।राशि के छठे भाव में गोचर करते समय शुक्र को कई उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ेगा। यदि आप घर या वाहन के लिए बड़ा ऋण लेना चाहते हैं तो यह समय ठीक नहीं है। आपके शत्रु आपको शर्मिंदा करने का कोई मौका नहीं छोड़ेंगे। अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें। विदेशी नागरिकता या सेवा भी सफल होगी। परीक्षा में उच्च अंक प्राप्त करने के लिए, छात्रों को अधिक मेहनत करने की आवश्यकता होगी।राशि के पंचम विद्या भाव में गोचर शुक्र आपके लिए ढेर सारी किस्मत लेकर आएगा। शिक्षा-प्रतियोगिता में न केवल आपको अच्छी सफलता मिलेगी, बल्कि प्रेम संबंधी मामलों में भी तीव्रता आएगी। प्यार में आपकी शादी भी हो सकती है। उच्च पदस्थ अधिकारियों के साथ आपके संबंध मजबूत होंगे। सफलता रोजगार खोजने की दिशा में आपके प्रयासों पर भी निर्भर करती है। यदि आप एक नया व्यवसाय शुरू करने की सोच रहे हैं तो यह पका पक्ष लेगा।शुक्र जब चतुर्थ भाव में गोचर करेगा तो इस राशि के जातक को शुभ समाचार मिलेगा। साथ ही, मित्र और परिवार से सहयोग का योग हैं। संपत्ति से जुड़े सभी मुद्दों का समाधान होगा। घर या वाहन खरीदने का अवसर मिलेगा, चाहे आपकी आर्थिक स्थिति कुछ भी हो। चुनाव संबंधी निर्णय लेने के लिए यह समय सही है। यह आपको अपनी सफलता जारी रखने की अनुमति देगा। योजनाओं को गुप्त रखें और आगे बढ़िये।राशि चक्र का तीसरा शक्तिशाली घर शुक्र आपके लिए नम्रता और शक्ति लेकर आएगा। आप अपने साहस और पराक्रम से किसी भी कठिन परिस्थिति को पार करने में सक्षम होंगे। धर्म और अध्यात्म में रुचि बढ़ेगी। लोग जरूरतमंदों की मदद के लिए तैयार रहेंगे। विदेशी नागरिकता या सेवा भी संभव होगी। विवाह की बातें सफल होंगी। दंपत्ति के लिए संतान प्राप्ति का योग।धन पर शुक्र का प्रभाव सकारात्मक रहेगा, भले ही शुक्र यह राशि से दूसरे धन भाव में गोचर कर रहा हो। उम्मीद है कि आपने जो पैसा दिया है वह वापस मिल जाएगा। परिवार पर अधिक जिम्मेदारी होगी और अच्छे कार्यों के अवसर प्राप्त होंगे। कोई महंगा सामान खरीदेंगे। संपत्ति से जुड़े सभी मामले सुलझेंगे। स्वास्थ्य समस्याओं, विशेषकर दाहिनी आंख को प्रभावित करने वाली समस्याओं से बचना चाहिए। कार्यक्षेत्र में भी साजिश के शिकार होने से बचें। काम खत्म कर तुरंत घर लौट जाना बेहतर है।मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाईMaharashtra Political Crisis: उद्धव ने जिसे दूत बनाकर भेजा, वो भी शिंदे कैंप में हो गया शामिल, गुवाहाटी रवाना******Highlights महाराष्ट्र में शिवसेना से विधायकों का टूटना जारी है। अपनी सरकार बचाने के लिए संघर्ष कर रहे परेशान मुख्यमंत्री ने बागी विधायकों से बाचतीच के लिए दो सहयोगियों मिलिंद नार्वेकर और रविंद्र फाटक को सूरत भेजा था उनमें से एक विधायक अब शिंदे का साथ मिल गए हैं। जिस रविंद्र फाटक (Ravindra Phatak) को उद्धव ठाकरे ने दूत बनाया वो भी शिंदे कैंप में शामिल हो गए हैं। फाटक के साथ 2 और विधायक संजय राठौड़ और दादाजी भूसे भी गुवाहाटी रवाना हो रहे हैं।आपको बता दें कि रविंद्र फाटक को ही उद्धव ठाकरे ने को मनाने सूरत भेजा था और फाटक ने ही उद्धव की बात शिंदे से कराई थी। रविन्द्र फाटक ठाणे के ही रहने वाले है और एकनाथ शिंदे के पड़ोसी भी हैं। ये एकनाथ शिंदे को समझाने गए थे लेकिन एकनाथ ने इन्हें ही अब अपने पाले में मिला लिया। महाराष्ट्र की उठापटक के बीच शिवसेना के तीन और बागी विधायक गुवाहाटी रवाना हो रहे हैं।इस बीच एकनाथ शिंदे के एक फोटो फ्रेम ने उद्धव ठाकरे को सरेंडर के लिए मजबूर कर दिया है। गुवाहाटी के होटल से आए इस फोटो में 42 विधायक एक साथ बैठे हैं। शिंदे के इस शक्ति प्रदर्शन के आगे उद्धव ने आज आत्म-समर्पण कर दिया। संजय राउत जो कल तक धमकी दे रहे थे अब विधायकों को मनाने के लिए महाविकास अघाड़ी छोड़ देने का भी ऑफर दे रहे हैं। उद्धव ठाकरे की चिंता सिर्फ इतनी नहीं है कि कुर्सी चली जाएगी उन्हें डर है कि जैसे बंगला चला गया, एकनाथ शिंदे कहीं पार्टी का सिंबल तीर-कमान भी न छीन लें। अभी सिर्फ विधायक ही छोड़कर गए हैं पार्टी के सांसद भी एग्जिट मोड में हैं। अपने राजनीतिक करियर में उद्धव ठाकरे के लिए ये सबसे बड़ा संकट है।सियासी हलचल के बीच शिवसेना विधायक संजय शिरसाट की मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखी चिट्ठी चर्चा में आ गई है। संभाजीनगर (वेस्ट) यानी कि औरंगाबाद से शिवसेना विधायक संजय शिरसाट ने उद्धव को लिखी चिट्ठी में बगावत के कारणों पर प्रकाश डाला है। चिट्ठी की भाषा से लग रहा है कि शिवसेना में बगावत का सबसे बड़ा कारण उद्धव का अपने विधायकों के लिए उपलब्ध न हो पाना, और पवार के निर्देशों पर काम करना रहा है।शिरसाट ने चिट्ठी में लिखा है कि वर्षा बंगले को खाली करते समय आम लोगों की भीड़ देखकर उन्हें खुशी हुई, लेकिन पिछले ढाई सालों से इस बंगले के दरवाजे बंद थे। उन्होंने लिखा है, ‘हमें आपके (उद्धव के) आसपास रहने वाले, और सीधे जनता से न चुनकर विधान परिषद और राज्यसभा से आने वाले लोगों का आपके बंगले में जाने के लिए मान-मनौव्वल करना पड़ता था। ऐसे स्वघोषित चाणक्य के चलते राज्यसभा और विधान परिषद चुनाव में क्या हुआ यह सबको पता है। हम पार्टी के विधायक थे, लेकिन हमें विधायक होकर भी कभी बंगले में सीधे प्रवेश नहीं मिला।’शिरसाट ने लिखा, ‘छठी मंजिल पर मंत्रालय के दफ्तर में सीएम सबको मिलते थे, लेकिन हमारे लिए कभी यह प्रश्न नहीं आया क्योंकि आप कभी मंत्रालय ही नहीं गए। आम लोगों के कामों के लिए हमें घंटों बंगले के गेट के बाहर खड़ा रहना पड़ता था। फोन करने पर उठाया नहीं जाता था, अंदर एंट्री नहीं होती थी, और आखिर में हम थककर चले जाते थे। 3 से 4 लाख लोगों के बीच से चुनकर आने वाले विधायक का ऐसा अपमान क्यों किया जाता था? यह हमारा सवाल है, यही हाल हम सारे विधायकों का है।’मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाईHair Fall in Monsoon: मानसून में बालों के झड़ने की समस्या से हैं परेशान? तो ये टिप्स आएंगे बड़े काम******चिलचिलाती गर्मियों के बीच मानसून आ जाए तो फिर क्या ही कहना। मानसून की वो कभी तेज तो कभी हल्की बारिश हर किसी को पसंद होती है। लेकिन बारिश का यह मौसम अपने साथ कई हेल्थ प्रॉब्लम्स भी लेकर आता है, जिनमें से एक हेयर फॉल की प्रॉब्लम भी शामिल हैं। दरअसल, बारिश के कारण होने वाली नमी बालों को टूटने पर मजबूर कर देती है जिसकी वजह से बालों पर काफी बुरा असर पड़ता है और बालों को सही ढंग से पोषण नहीं मिल पाता है। ऐसे में तेजी से आपके बाल झड़ने लगते हैं।अगर आपके साथ भी यह समस्या है तो अब आपको चिंता करने करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू उपायों के बारे में बताएंगे जिनका इस्तेमाल करके आप मानसून के दौरान बाल टूटने की समस्या को दूर कर सकते हैं। इतना ही नहीं इनकी मदद से डैंड्रफ और सिर में खुजली जैसी समस्याएं भी दूर होंगी। तो आइए जानते हैं इन उपायों के बारे में।बालों को हेल्दी और मजबूत बनाए रखने के लिए बादाम का तेल सबसे कारगर माना जाता है। मानसून के मौसम में आप इस तेल का इस्तेमाल करते हैं। इसके लिए बादाम के तेल के साथ थोड़ा सा शहद और कुछ पत्तियां कैमोमाइल (Chamomile) की डाल लें। उसके बाद इसे बालों में अच्छी तरह से लगा लें और फिर करीब 1 घंटा बाद बाल धो लें। सप्ताह में ऐसा कम से कम 2 बार जरूर करें।आंवला में कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो बालों की जड़ों को मजबूत बनाते हैं और बालों झड़ने से रोकते हैं। इसके लिए ताजे आंवला का रस निकालकर उसे रुई के टुकड़े की मदद से अपने बालों की जड़ों में अच्छे से लगाएं। उसके बाद रस को कम से कम 30 मिनट तक रखें और फिर पानी से धो लें।आमतौर पर मानसून में बाल रूखे और बेजान हो जाते हैं। इसके लिए नारियल तेल काफी फायदेमंद होगा। इसके लिए एक कटोरी में थोड़ा सा गुनगुना नारियल में नींबू का रस डालकर अच्छे से मिक्स कर लें। उसके बाद इन्हें बालों की स्कैल्प में अच्छी तरह से लगाकर हल्के हाथों से मसाज करें और फिर करीब आधा से एक घंटा लगा रहने के बाद माइल्ड शैंपू से बालों को धो लें।

Bigg Boss 13 Weekend ka Vaar: मधुरिमा हुईं घर से बेघर, सिद्धार्थ शुक्ला को फैन्स ने दी जन्मदिन की बधाई

मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाईचंद्रयान-2: आज से चांद पर छाया रात का अंधेरा, तो क्‍या अब कभी नहीं हो पाएगा लैंडर विक्रम से संपर्क?****** शनिवार तड़के से चांद पर रात शुरू हो गई और अंधकार छाने के साथ ही ‘’ के लैंडर ‘विक्रम’ से सपंर्क की सभी संभावनाएं अब लगभग खत्म हो गई हैं। लैंडर का जीवनकाल एक चंद्र दिवस यानी कि धरती के 14 दिन के बराबर है। सात सितंबर को तड़के ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ में असफल रहने पर चांद पर गिरे लैंडर का जीवनकाल आज खत्म हो गया क्योंकि सात सितंबर से लेकर 21 सितंबर तक चांद का एक दिन पूरा होने के बाद आज तड़के पृथ्वी के इस प्राकृतिक उपग्रह को रात ने अपने आगोश में ले ली है।भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन सात सितंबर से ही लैंडर से संपर्क करने के लिए सभी प्रयास करता रहा है, लेकिन अब तक उसे कोई सफलता नहीं मिल पाई है और आज चांद पर रात शुरू होने के साथ ही ‘विक्रम’ की कार्य अवधि पूरी हो गई। ऐसा कहा गया था कि ‘विक्रम’ की हार्ड लैंडिंग के कारण जमीनी स्टेशन से इसका संपर्क टूट गया। इसरो ने आठ सितंबर को कहा था कि ‘चंद्रयान-2’ के ऑर्बिटर ने लैंडर की थर्मल तस्वीर ली है, लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद इससे अब तक संपर्क नहीं हो पाया।‘विक्रम’ के भीतर ही रोवर ‘प्रज्ञान’ बंद है जिसे चांद की सतह पर वैज्ञानिक प्रयोग को अंजाम देना था, लेकिन लैंडर के गिरने और संपर्क टूट जाने के कारण ऐसा नहीं हो पाया। कुल 978 करोड़ रुपये की लागत वाला 3,840 किलोग्राम वजनी ‘चंद्रयान-2’ गत 22 जुलाई को भारत के सबसे शक्तिशाली प्रक्षेपण यान जीएसएलवी मार्क ।।।-एम 1 के जरिए धरती से चांद के लिए रवाना हुआ था। इसमें उपग्रह की लागत 603 करोड़ रुपये और प्रक्षेपण यान की लागत 375 करोड़ रुपये थी।भारत को भले ही चांद पर लैंडर की ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ में सफलता नहीं मिल पाई, लेकिन ऑर्बिटर शान से चंद्रमा के चक्कर लगा रहा है। इसका जीवनकाल एक साल निर्धारित किया गया था, लेकिन बाद में इसरो के वैज्ञानिकों ने कहा कि इसमें इतना अतिरिक्त ईंधन है कि यह लगभग सात साल तक काम कर सकता है। यदि ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ में सफलता मिलती तो रूस, अमेरिका और चीन के बाद भारत ऐसा करने वाला दुनिया का चौथा देश बन जाता।मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाईगरुण पुराण: पत्नी के साथ ऐसा व्यवहार करने वाला व्यक्ति अगले जन्म में बनता है चकवा पक्षी******Highlightsहिंदू धर्म में अगले जन्म की परिकल्पना पर आधारित गरुण पुराण का काफी महत्व है। कहा जाता है कि पक्षीराज गरुण के पूछे गए प्रश्नों के जवाब में भगवान विष्णु ने जो उपदेश दिए, गरुण पुराण उसी पर रचा गया है। व्यक्ति के इस जन्म में किए गए कर्मों के आधार पर अगले जन्म में वो क्या बनकर पैदा होगा, गरुण पुराण इसकी विस्तृत व्याख्या करता है। घऱ में किसी की मृत्यू होने पर आमतौर पर गरुण पाठ कराया जाता है।ऐसे ही गरुण पुराण में स्त्री पुरुष के संबंधों पर भी काफी कुछ लिखा गया है। मसलन पत्नी संग बुरा व्यवहार करने वाले व्यक्ति अगले जन्म में क्या बनते हैं।गरुण पुराण कहता है कि स्वार्थवश या किसी अन्य कारण से अपनी पत्नी पर मिथ्या आरोप लगाकर उसका परित्याग करने वाला पति अगले जन्म में चक्रवाक यान चकवा बनता है। कहते हैं कि इस पक्षी की आवाज बहुत कर्कश होती है और यह दिन भर मादा पक्षी के साथ रहता है लेकिन रात होने पर ये अलग हो जाते हैं।कालिदास ने अपनी विरह रचना में चकवा चकवी का वर्णन किया है कि कैसे चकवा अपने पुराने कर्मों के चलते अपनी चकवी से दूर रहने की पीड़ा भोगता है।

Bigg Boss 13 Weekend ka Vaar: मधुरिमा हुईं घर से बेघर, सिद्धार्थ शुक्ला को फैन्स ने दी जन्मदिन की बधाई

मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाईबढ़े हुए ब्लड शुगर को जल्द कंट्रोल में ले आएगा 5 रुपए में बनने वाला का ये ड्रिंक, ऐसे करें तैयार******Highlightsआज के दौर में डायबिटीज एक आम बीमारी बन गई है जिसके मरीज बढ़ते जा रहे हैं। डायबिटीज जिसे शुगर और मधुमेह भी कहा जाता है, एक ऐसी बीमारी है जिसे सिर्फ कंट्रोल किया जा सकता है, लेकिन इसे खत्म करना संभव नहीं है। ये जीवनशैली से जुड़ी बीमारी है जिसमें इंसुलिन कम बनने से परेशानी होने लगती है और शरीर में ब्लड शुगर का लेवल बढ़ने लगता है।कई लोग डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए दवाएं खाते हैं और कुछ लोग आयुर्वेदिक तरीकों से ब्लड शुगर कंट्रोल करते हैं। देखा जाए तो डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए आप आयुर्वेदिक दवाओं और घरेलू नुस्खों को भी अपना सकते हैं। ऐसा ही एक आयुर्वेदिक नुस्खा है धनिए का पानी।धनिया यूं तो आप सब्जी में मसाले के तौर पर और सब्जी को गार्निश करने के तौर पर इस्तेमाल करते हैं। सूखा धनिया जहां पाचन अच्छा करता है वहीं हरे धनिए के पानी के इस्तेमाल से ब्लड शुगर कंट्रोल किया जा जा सकता है।आयुर्वेद कहता है कि सुबह खाली पेट हरे धनिए का पानी पीने से कई समस्याओं से छुटकारा मिलता है। खासकर ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है। दरअसल हरे धनिए में ब्‍लड शुगर को कंट्रोल करने की क्षमता होती है। हरा धनियाबॉडी से शुगर के स्‍तर को कम करने में सहायक बनता है और इसके सेवन से इन्‍सुलिन की मात्रा खुद ब खुद बढ़ने लगती है। इसी वजह से शरीर में ब्‍लड शुगर हमेशा कंट्रोल में रहती है। इसलिए ये डायबिटीज के मरीजों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है।साथ ही ध्यान रखें अगर आपका ब्लड शुगर लो है तो आपको धनिए का पानी नहीं पीना चाहिए, इससे ब्लड शुगर ज्यादा नीचे चला जाएगा और बीमारी ज्यादा बढ़ जाएगी।इसके साथ ही वजन कम करने में हरे धनिए के पानी का कोई जोड़ नहीं। रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन करने से मेटाबॉलिज्म तेज होता है और वजन तेजी से कम होता है। थायराइड के मरीजों को धनिए का पानी काफी फायदा करता है।इससे पाचन भी अच्छा होगा और आपका बढ़ा हुआ ब्लड शुगर कम हो जाएगा। लेकिन ध्यान रखना होगा कि आमतौर पर आपका ब्लड शुगर कितना रहता है, इसकी पहचान करके ही डॉक्टर की सलाह पर इसका सेवन करें।

मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाईBihar News: लालू और तेजस्वी से मिलने के बाद 'ग्रेजुएट चायवाली' को ​वापस मिला ठेला, चला था बुलडोजर******Highlights पटना की 'ग्रेजुएट चायवाली' के नाम से मशहूर प्रियंका गुप्ता को एक बार फिर अपना चाय का ठेला मिल गया है। इससे वे बहुत खुश हैं। दरअसल, नगर निगम ने अतिक्रमण हटाओ मुहिम के तहत हाल ही में बुलडोजर चलाते हुए स्टाल को जब्त किया था। इसके बाद प्रियंका बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और लालू प्रसाद यादव ने मिलने पहुंची। दोनों से मुलाकात के बाद तेजस्वी यादव की पहल पर पटना नगर निगम ने प्रियंका गुप्ता को फिर उनका ठेले का स्टाल वापस कर दिया है।बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने ये दिया था आश्वासनप्रियंका डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव से मुलाकात के बाद कहा कि उसे नगर निगम के डिप्टी कमिश्नर ने आश्वासन दिया था और हमने लाइसेंस भी लिया है।, तेजस्वी यादव ने भी कहा कि आप मेरे नाम से प्रार्थनापत्र लिखकर ​दीजिए फिर आगे देखते हैं।पूर्णिया जिले की निवासी, कॉमर्स से किया ग्रेजुएशनअब डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव की पहल पर उन्हें उनका चाय के ठेले का स्टाल वापस मिल गया है। गौरतलब है कि ग्रेजुएट चायवाली यानी प्रियंका गुप्ता बिहार राज्य के पूर्णिया जिले की रहने वाली हैं। उन्होंने वाराणसी के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ से कामर्स में ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की है। सरकारी नौकरी की प्रिपरेशन करने के बाद भी जब उन्हें जॉब नहीं मिली, तो प्रियंका ने चाय का ठेला लगा लिया।कई फिल्मी कलाकार पी चुके हैं प्रियंका के स्टाल पर चायप्रियंका ने ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने के बाद जब ठेला लगाया तो लोगों को इस बात ने काफी प्रभावित किया। यही कारण है कि प्रियंका की दुकान 'ग्रेजुएट चायवाली' पर साउथ फिल्मों के सुपरस्टार विजय देवरकोंडा और भोजपुरी फिल्मों की स्टार अक्षरा सिंह भी चाय पीने आ चुकी हैं। प्रियंका को जब शोहरत मिली, ख्याति मिली। हालांकि अतिक्रमण हटाओ अभियान के बाद पटना नगर निगम ने उन पर भी कार्रवाई कर दी।3 लाख रुपए महीना कमाती हैं 'ग्रेजुएट चायवाली'?तब प्रियंका ने बताया कि उन्होंने अधिकारियों से यह अपील की थी कि उन्हें थोड़ा वक्त दिया जाए ताकि वे धनराशि जुटाकर अपनी दुकान ले सकें, लेकिन फिर भी उनके स्टाल को हटा दिया गया। उन्होंने कहा कि 'लोग कहते हैं कि ग्रेजुएट चायवाली 3 लाख रुपए माह कमाती है, लेकिन उस हिसाब से खर्च भी काफी होता है। ​प्रियंका ने कहा कि 'मैं तीन लाख रुपए महीना नहीं कमाती, क्योंकि मार्केट डाउन चला गया है।मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाईआम के आम गुठलियों के दाम: कोलेस्ट्रॉल, हार्ट अटैक से बचा सकती है गुठली, जानें कैसे******Highlightsगर्मियां आ गई हैं और आ गया है आम का मौसम। बाजार में कच्चे-पके आम सज चुके हैं। अलग-अलग प्रकार के आम मार्केट में आ चुके हैं, और लोग जमकर आम खरीद और खा रहे हैं। आम के कई फायदे हैं ये तो हम सभी जानते हैं, लेकिन आम की गुठलियां भी बहुत काम की हैं, जानिए कैसे आप आम की गुठलियों का इस्तेमाल करके तमाम बीमारियां दूर कर सकते हैं।आम की गुठलियों से बनाए चूर्ण कोलेस्ट्रॉल, डायरिया और दिल से जुड़ी बीमारियां से लड़ने में सक्षम है। आम के गूदे में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, इसके साथ ही इसमें विटामिन ए, सी होते हैं। इसमें आयरन, स्टार्च, फैट और प्रोटीन भी होते हैं। गर्मियों में आप आम की गुठली का पाउडर पानी में मिलाकर अगर स्नान करते हैं तो आपकी इम्यूनिटी बढ़ती है साथ ही लू भी लगने से आप खुद को बचा सकते हैं।आम की गुठलियों से तेल बनाकर अगर आप बालों में लगाते हैं तो बाल झड़ना बंद हो जाता है। इसकी गुठलियों से बने पाउडर को बाल में लगाने से बाल सफेद होना कम हो जाते हैं, साथ ही बालों की चमक भी बढ़ती है, ये पेस्ट डैंड्रफ खत्म करने में भी कारगर है।आम की गुठलियों में फॉस्फोरस, पोटैशियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम और सोडियम भी होता है। इसलिए ये कई बीमारियों से लड़ने में हमारी मदद करती है।आम की गुठलियों से ब्लड प्रेशर कंट्रोल कर सकते हैं। अगर आप हर रोज एक ग्राम गुठलियों का पाउडर खाते हैं तो हृदय रोग से खुद को बचा सकते हैं। नियमित रूप से अगर आप इसका सेवन करते हैं तो आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल भी कम होता है।स्कर्वी रोगियों को आम की गुठली के पाउडर में दो भाग गुड़ में मिलाकर चूना के साथ खाने से स्कर्वी रोग ठीक हो जाता है।डायरिया में गुठली का पाउडर बेहद फायदेमंद है, इसके लिए आम की गुठली को सुखाकर इसे दरदरा पीस लें, एक ग्लास पानी में 1 ग्राम आम की गुठली का पाउडर मिला लें। थोड़ा सा शहद डालें, और पी लें। आपका डायरिया ठीक हो जाएगा।

मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाईWhatsApp 25 सितंबर के बाद Facebook को देगी आपकी सारी जानकारी, इससे पहले का डाटा रहेगा सुरक्षित****** इंस्‍टैंट मैसेजिंग एप व्‍हाट्सएप (WhatsApp) 25 सितंबर के बाद अपने यूजर्स का डाटा (मैसेज, फोटो, वीडियो और आपके दोस्तों की जानकारी) अपनी परेंट कंपनी फेसबुक को देगी। हालांकि इससे पहले का डाटा कंपनी साझा नहीं कर पाएगी क्योंकि दिल्ली हाई कोर्ट ने ऐसा करने से WhatsApp को रोक दिया है। कोर्ट ने शुक्रवार को व्‍हाट्सएप को 25 सितंबर से पहले बंद होने वाले एकाउंट की जानकारी और डाटा डिलीट करने का आदेश दिया है। गौरतलब है कि व्‍हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी 25 सितंबर से प्रभावी होगी। इसके तहत वह यूजर्स की जानकारी अपनी पैरेंट कंपनी फेसबुक के साथ साझा करेगी। और की पीठ ने अपने आदेश में कहा,व्‍हाट्सएप 25 सितंबर तक बंद हो चुके एकाउंट या मौजूदा एकाउंट से जुड़ी कोई भी जानकारी या डाटा न तो फेसबुक के साथ और न ही अपनी अन्‍य किसी ग्रुप कंपनी के साथ साझा कर सकता है। लेकिन 25 सितंबर के बाद के डाटा को व्हाट्सएप, फेसबुक के साथ साझा कर सकता है।हाईकोर्ट ने यह फैसला उस जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद दिया है, जिसमें व्हाट्सएप द्वारा फेसबुक के साथ यूजर डाटा को साझा करने की नीतियों को चुनौती दी गई थी।WHATSAPP DATA BACKUPमधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाई'आधार कानून 2016 निजता के अधिकार पर हमले से सुरक्षा में सक्षम नहीं'******को बुधवार को बताया गया कि 2009 से आधार परियोजना के तहत संग्रह किए गए बायोमेट्रिक डाटा से जो निजता के अधिकार पर हमला हुआ है, उससे 2016 के कानून से नहीं बचा जा सकता है और यह विधिसंगत नहीं हो सकता है। वरिष्ठ अधिवक्ता गोपाल सुब्रह्मण्यम ने पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ को बताया, "मेरी निजी सूचना संग्रहित करके दूसरों के साथ उसे साझा करने से जो मेरे अधिकार (निजता) पर हमला हुआ है, उसे आधार का विधिमान्य बनाने वाले दूसरे कानून से नहीं दुरुस्त किया जा सकता है।" वह आधार (वित्तीय व अन्य अनुदान, लाभ व सेवा प्रदान करने का लक्ष्य) अधिनियम 2016 के संदर्भ में बोल रहे थे।चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा समेत जस्टिस ए.के. सीकरी, जस्टिस ए.एम. खानविलकर, जस्टिस डी.वाई. चंद्रचूड़ और जस्टिस अशोक भूषण की पीठ ने आधार अधिनियम की धारा 59 का जिक्र किया और कहा कि वैधानिक व्यवस्था के पूर्व विधिमान्य बनाने की जो कवायद है, वह अवैधता को दुरस्त करने के लिए है।याचिकाकर्ता, मेजर जनरल एस.जी. वोंबेटकेरे (अवकाश प्राप्त) और कर्नल मैथ्यू थॉमस (अवकाश प्राप्त) की ओर से पेश होते हुए सुब्रह्मण्यम ने कहा कि आधार अधिनियम 2016 अवैधता को साध्य बनाने का प्रयास था, लेकिन साध्य भी साध्यता के दायरे होना चाहिए। अदालत ने कहा, "कानून का दूरदर्शी प्रयोग होता है और कोई भी दंड विधि पीछे पश्चदर्शी नहीं होती है, जैसा कि धारा 59 में बायोमेट्रिक डाटा संग्रह करने व उसका इस्तेमाल करने के लिए 2009 से सभी सरकारी अधिसूचनाओं को विधि सम्मत बनाने के बारे में उल्लेख है।"सुब्रह्मण्यम द्वारा 2009 में संग्रहित बायोमेट्रिक डाटा के अवैध ठहराने पर अदालत ने उनसे पूछा, "क्या हमें सात साल पहले संग्रह किया गया डाटा नष्ट कर देना चाहिए।" अधिवक्ता ने पीठ से कहा, "कुछ चीजें हैं, जो हम साझा नहीं करना चाहते हैं। आपकी सारी गतिविधियों के लिए एक पहचान कैसे हो सकती है।"पीठ कर्नाटक उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश के.एस. पुटुस्वामी, मैगसेसे अवार्ड विजेता शांता सिन्हा, नारीवादी शोधार्थी कल्याणी सेन मेनन व अन्य की ओर से निजता के मौलिक अधिकार की कसौटी को लेकर आधार परियोजना की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुनवाई कर रही थी। यह सुनवाई गुरुवार को भी जारी रहेगी।

मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाईCovid-19 के मरीजों के इलाज के लिए मप्र में शुरू हुआ पहला प्लाज्मा बैंक****** के जरिए कोविड-19 के मरीजों के इलाज में मदद के लिए मध्यप्रदेश के पहले प्लाज्मा बैंक की इंदौर के एक निजी अस्पताल में मंगलवार को औपचारिक शुरुआत हुई। अधिकारियों ने बताया कि यह प्लाज्मा बैंक श्री अरबिंदो इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (सैम्स) में 20 प्लाज्मा इकाइयों के साथ शुरू किया गया है। इस बैंक में ऐसे दानदाताओं का प्लाज्मा जुटाया जा रहा है जो इलाज के बाद कोविड-19 को मात दे चुके हैं।इस मौके पर सूबे के स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट किया, "मध्यप्रदेश में संक्रमण के इलाज के लिए प्लाज्मा थेरेपी की शुरूआत करने वाले सैम्स द्वारा राज्य के पहले प्लाज्मा बैंक की स्थापना की जा रही है। उम्मीद है कि प्लाज्मा थेरेपी से इलाज कराने वाले मरीजों के लिए इस बैंक की स्थापना बेहद कारगर साबित होगी।" सैम्स के छाती रोग विभाग के प्रमुख डॉ. रवि डोसी ने बताया कि कोविड-19 के मरीजों का इलाज कर रहे अन्य अस्पतालों के अनुरोध पर उन्हें भी प्लाज्मा बैंक से प्लाज्मा मुहैया कराया जाएगा।उन्होंने बताया, "इलाज के बाद कोविड-19 से उबर चुके लोग प्लाज्मा दान के लिये रोज हमसे संपर्क कर रहे हैं।" सैम्स, कोविड-19 के भर्ती मरीजों की तादाद के लिहाज से समूचे मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा अस्पताल है। डोसी ने बताया कि इस अस्पताल में अब तक महामारी के करीब 3,000 मरीजों का इलाज किया गया है जिनमें से 19 लोगों को प्लाज्मा चढ़ाया गया है। जानकारों ने बताया कि कोविड-19 से पूरी तरह उबर चुके लोगों के खून में "एंटीबॉडीज" बन जाती हैं जो भविष्य में इस बीमारी से लड़ने में उनकी मदद करती हैं।उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हुए व्यक्ति के खून से प्लाज्मा अलग किया जाता है और इसे संक्रमित मरीज के शरीर में डाला जाता है ताकि वह इस रोग को मात दे सके। इंदौर, देश में कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में से एक है। आधिकारिक जानकारी के मुताबिक जिले में अब तक इस महामारी के कुल 4,709 मरीज मिले हैं। इनमें से 229 मरीजों की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है, जबकि 3,452 लोग उपचार के बाद स्वस्थ हो चुके हैं।मधुरिमाहुईंघरसेबेघरसिद्धार्थशुक्लाकोफैन्सनेदीजन्मदिनकीबधाई'कुछ कुछ होता है' के 'सरदार जी' करने वाले हैं शादी, गर्लफ्रेंड संग फोटो पोस्ट कर लिख दी ये बात****** और काजोल की फिल्म 'कुछ कुछ होता है' में छोटे और क्यूट से 'सरदार जी' आपको याद हैं? वो अब बड़े हो गए हैं और जल्द ही शादी करने जा रहे हैं। जी हां, हम बात कर रहे हैं परजान दस्तूर की। उन्होंने सोशल मीडिया पर जानकारी दी है कि वो अगले साल अपनी गर्लफ्रेंड से शादी करेंगे।'कुछ कुछ होता है' फिल्म में परजान की क्यूटनेस पर सभी फिदा हो गए थे। उन्होंने एक डायलॉग बोला था, "तुसी जा रहे हो, तुसी न जाओ', जो आज भी फेमस है। उस दौर में भी लोगों की जुबां पर ये डायलॉग छा गया था।परजान ने सोशल मीडिया पर घोषणा की है कि वो अगले साल फरवरी में शादी करने जा रहे हैं। उनकी गर्लफ्रेंड का नाम डेलना श्रॉफ है। उन्होंने डेलना को प्रपोज करते हुए फोटो शेयर की है। इसके कैप्शन में लिखा है, "एक साल पहले उन्होंने हां कहा था, अब 4 महीने बाद शादी हो जाएगी।"वर्कफ्रंट की बात करें तो परजान ने 'हम तुम' में अपनी आवाज दी थी। 'सिकंदर' फिल्म में लीड रोल में नज़र आए। उनका खुद का प्रोडक्शन हाउस भी है, जिसके तहत कई शॉर्ट मूवीज बनाई गई हैं।

हाल का ध्यान

लिंक