वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > कैंगझाउ > मूलपाठ

Electric Vehicle News: पेट्रोल गाड़ियों से भी सस्ते में मिलेंगे इलेक्ट्रिक वाहन, Auto कंपनियां ला रही यह नई टेक्नोलॉजी

2022-10-04 18:05:47 कैंगझाउ

पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीउर्मिला मातोंडकर ने छोड़ी कांग्रेस, पार्टी के भीतर ‘तुच्छ राजनीति’ को बताया वजह****** फिल्मों से राजनीति में आई ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने से इस्तीफा दे दिया है। करीब छह माह पहले कांग्रेस में शामिल हुई उर्मिला ने ‘पार्टी के भीतर की तुच्छ राजनीति’ को कांग्रेस छोड़ने की वजह बताया। उन्होंने कांग्रेस पार्टी के टिकट पर उत्तर मुंबई सीट से चुनाव भी लड़ा था, जिसमें उनकी हार हुई। वह इस साल मार्च में कांग्रेस में शामिल हुई थीं।मातोंडकर का इस्तीफा कांग्रेस के लिए बड़ी शर्मिंदगी की तरह है, क्योंकि पार्टी को अगले महीने महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव का सामना करना है और वह इस समय अपने नेताओं को एकजुट रखने के लिए जूझ रही है। मातोंडकर ने अपने बयान में कहा कि मुंबई कांग्रेस के मुख्य पदाधिकारी पार्टी को मजबूत बनाना चाहते नहीं हैं अथवा वे ऐसा करने में अक्षम हैं।उन्होंने कहा, ‘‘मैंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है। मेरी राजनीतिक और सामाजिक संवेदनाएं निहित स्वार्थों (वाले व्यक्तियों) को इस बात की इजाजत नहीं देती कि मुंबई कांग्रेस में किसी बड़े लक्ष्य पर काम करने के बजाय मेरा इस्तेमाल ऐसे माध्यम के रूप में किया जाए जिससे अंदरूनी गुटबाजी का सामना किया जा सके।’’मातोंडकर ने कहा कि उनके मन में पहली बार इस्तीफा देने की बात तब आई जब मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा को 16 मई के लिखे पत्र में उनके द्वारा उठाए गए मुद्दों पर 'कोई कार्रवाई' नहीं की गई। अपने पत्र में उन्होंने मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरूपम के करीबी सहयोगियों संदेश कोंदविल्कर और भूषण पाटिल के कृत्यों की आलोचना की थी।उन्होंने कहा, ‘‘उक्त पत्र में विशेषाधिकार प्राप्त और गोपनीय बातें थीं, जिसे आसानी से मीडिया में लीक कर दिया गया, जो मेरे अनुसार घोर विश्वासघात था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कहने की जरूरत नहीं है कि मेरे द्वारा लगातार विरोध के बावजूद पार्टी में किसी भी व्यक्ति ने माफी नहीं मांगी या मेरे प्रति कोई सरोकार नहीं दिखाया।’’ मातोंडकर ने दावा किया कि उत्तरी मुंबई में कांग्रेस के ‘‘घटिया प्रदर्शन’’ के लिए कुछ जिम्मेदार लोगों के नाम उन्होंने अपने पत्र में लिखे, लेकिन उनकी जवाबदेही तय करने की जगह उन्हें नए पदों के रूप पुरस्कार दिया गया।उन्होंने कहा, ‘‘यह स्वाभाविक है कि मुंबई कांग्रेस के मुख्य पदाधिकारी या तो अक्षम हैं अथवा बदलाव लाने और पार्टी की भलाई संगठन में परिवर्तन लाने के लिए संकल्पबद्ध नहीं हैं।’’ मातोंडकर के बयान में उनके अगले राजनीतिक कदम के बारे में कुछ नहीं कहा गया है। बहरहाल, उन्होंने कहा कि वह ‘‘विचारों एवं विचारधाराओं’’ के पक्ष में खड़ी हुई हैं तथा वह लोगों के लिए ‘‘ईमानदारी एवं गरिमा ’’ के साथ काम करती रहेंगी।

पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीनीरव मोदी की 637 करोड़ रुपए की संपत्ति प्रवर्तन निदेशालय ने की जब्त, न्यूयॉर्क स्थित 2 अचल संपत्तियां भी शामिल******ED attaches Nirav Modi's Property worth Rs 637 Cr (PNB)में करीब 14000 करोड़ रुपए के घोटाले के मुख्य आरोपी की संपत्ति जब्त होने का बड़ा मामला सामने आया है। ने नीरव मोदी की 637 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की है। जब्त हुई संपत्ति में विदेशी बैंकों में रखा कैश, डायमंड ज्वैलरी, दक्षिण मुंबई में स्थित एक फ्लैट और अमेरिका के न्यूयॉर्क में स्थित 2 अचल संपत्तियां शामिल हैं। मिली जानकारी के मुताबिक कुल 637 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त हुई है जिसमें 5 विदेशी बैंक खातों में रखा हुआ 278 करोड़ रुपए, न्यूयॉर्क की 2 अचल संपत्तियां जिनकी कीमत 2.99 करोड़ डॉलर यानि लगभग 216 करोड़ रुपए है और 22.69 करोड़ रुपए की डायमंड ज्वैलरी शामिल है। इसके अलावा दक्षिण मुंबई में जो फ्लैट जब्त किया गया है उसकी कीमत 19.5 करोड़ रुपए आंकी गई है।पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीपाकिस्तान की बौखलाहट चरम पर, भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया इस्लामाबाद से लाहौर रवाना, वाघा-अटारी बॉर्डर से भारत पहुंचेंगे****** जम्मू-कश्मीर पर भारत सरकार के निर्णय से बौखलाए पाकिस्तान ने भारतीय उच्चायुक्त को वापस भारत भेजने का फैसला किया है जिसके बाद अब अजय बिसारिया इस्लामाबाद से लाहौर रवाना हो चुके हैं। वह वाघा-अटारी बॉर्डर से भारत पहुंचेंगे। इसके अलावा पाकिस्तान ने भारत के साथ अपने व्यापारिकों रिश्तों को भी खत्म कर दिया है। पाकिस्तान अपने राजदूत को भी भारत नहीं भेजगा।दरअसल, जम्मू कश्मीर से हटाए जाने के बाद पाकिस्तान ने भारत से राजनयिक संबंध कम करने का ऐलान किया है। पाकिस्तान ने यह कदम प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में कल हुई राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (एनएससी) की बैठक के बाद उठाया, जिसमें भारत के साथ व्यापारिक रिश्तों को तोड़ने और "द्विपक्षीय संबंधों" की समीक्षा का भी फैसला लिया गया।पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एनएससी बैठक के बाद टीवी पर एक बयान में कहा था, "हमारे राजनयिक अब भारत में तैनात नहीं रहेंगे और यहां से उनके समकक्षों को वापस भेजा जाएगा।" भारत ने सोमवार को संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू कश्मीर को मिले विशेष राज्य के दर्जे को समाप्त करते हुए राज्य को दो संघ शासित प्रदेशों, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में विभाजित कर दिया।

Electric Vehicle News: पेट्रोल गाड़ियों से भी सस्ते में मिलेंगे इलेक्ट्रिक वाहन, Auto कंपनियां ला रही यह नई टेक्नोलॉजी

पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीPM Modi in Germany: G-7 में PM मोदी का जलवा, फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों के साथ की चाय पर चर्चा******Highlights प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी7 समूह के शिखर सम्मेलन (G7 Summit) में भाग लेने के लिए रविवार से दो दिन की यात्रा पर जर्मनी में हैं। इस दौरान पीएम मोदी ने फ्रांस के राष्ट्रपति से मुलाकात की और दोनों नेताओं ने चाय पर विभिन्न द्विपक्षीय और वैश्विक विषयों पर चर्चा की। दोनों नेताओं ने श्लोस एल्माउ में जी7 सम्मेलन से इतर चाय पर चर्चा की। इससे पहले मोदी और मैक्रों ने सामूहिक फोटो खिंचने के बाद एक दूसरे को गले लगाया और चर्चा की।जी7 के सदस्य देशों के नेताओं के सम्मेलन स्थल की ओर जाने के बाद दोनों नेता बातचीत करते रहे और साथ में सम्मेलन स्थल की ओर गए। जी7 कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, अमेरिका और ब्रिटेन का अंतर-सरकारी राजनीतिक समूह है। सम्मेलन के मेजबान देश जर्मनी ने भारत के अलावा अर्जेंटीना, इंडोनेशिया, सेनेगल और दक्षिण अफ्रीका को सम्मेलन में अतिथि देशों के तौर पर आमंत्रित किया है। मोदी जर्मन चांसलर के निमंत्रण पर दक्षिण जर्मनी के श्लोस एल्माउ में आयोजित जी7 सम्मेलन में भाग ले रहे हैं।वहीं, आपको बता दें कि मोदी की इस यात्रा के दौरान भारत के बढ़ते कद का एक शानदार नजारा भी देखने को मिला। एक वीडियो सामने आया है कि जिसमें देखा जा सकता है कि ग्रुप फोटो से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन खुद चलकर पीएम मोदी के पास आते हैं और उनका अभिवादन करते हैं। इस दौरान पीएम मोदी भी उनसे गर्मजोशी से मिलते हैं। बता दें कि जिस अमेरिकी राष्ट्रपति से मुलाकात करने के लिए दुनियाभर के मुल्कों के राष्ट्राध्यक्ष महीनों का इंतजार करते हैं, वे पीएम मोदी से हाथ मिलाने खुद दौड़े आएं।वीडियो में दिख रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी जब कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो से बात कर रहे थे, इस दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन उनसे मिलने के लिए खुद चलकर आए। उन्होंने पीएम मोदी के कंधे पर पीछे से हाथ रखकर अपनी मौजूदगी का अहसास कराया, जिसके बाद दोनों नेताओं ने हाथ मिलाकर गर्मजोशी से एक दूसरे का अभिवादन किया। मोदी-बाइडेन मुलाकात के इस वीडियो की जमकर चर्चा हो रही है। लोगों का मानना है कि यह भारत के बढ़ते वैश्विक कद का प्रतीक है।भारत ने रूस-यूक्रेन संकट, कोविड महामारी और दूसरे मसलों में जैसी कूटनीति की है, उसका अमेरिका भी कायल है। यही कारण है कि जो बाइडेन पीएम मोदी को इतना महत्व देते नजर आ रहे हैं। यूक्रेन पर रूस के हमले के दौरान जब पूरी दुनिया अलग-अलग ध्रुवों की तरफ खुलकर आ रही थी, उस दौरान भारत ने संतुलन को बनाए रखा। भारत ने अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों के बावजूद रूस से भारी मात्रा में तेल आयात किया और अमेरिका को भी इससे कोई परेशानी नहीं हुई।पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीमाइनस 9 डिग्री में शूट करके गुरु रंधावा का हुआ बुरा हाल, नाक से निकला खून, शेयर की तस्वीर******मशहूर सिंगर गुरु रंधावा अपने गानों को लेकर बहुत मशहूर हैं,साल 2012 से गुरु रंधावा ने अपने करियर की शुरुआत की और कई पंजाबी म्यूजिक वीडियो में काम करने के अलावा सिंगर ने कई बॉलीवुड फिल्मों में भी गाना गाया है। हाल ही में गुरु रंधावा ने एक गाने की शूटिंग कश्मीर में की थी, कश्मीर में शूट करना जितना मजेदार था उतना ही मुश्किल था। इसकी जानकारी खुद गुरु रंधावा ने अपने एक ट्वीट से दी है। गुरु ने एक तस्वीर शेयर की है जिसमें उनकी नाक से खून बह रहा है। तस्वीर शेयर करते हुए गुरु रंधावा ने लिखा है- माइनस 9 डिग्री में शूट करना बेहद कठिन था, लेकिन आगे बढ़ने का एक ही रास्ता है और वो है कड़ी मेहनत। हमने कश्मीर में बहुत अच्छी शूटिंग की जो जल्द ही आपके सामने होगा।हाल ही में गुरु रंधावा तब सुर्खियों में आए जब उन्होंने 15 किलो वजन घटा लिया था। इस बारे में बात करते हुए गुरु रंधावा ने कहा कि उनके लिए साल 2020 बदलाव का साल रहा। गुरु ने कहा कि उम्मीद करता हूं इस बदलाव को मैं साल 2021 में भी बरकरार रख पाऊं।गुरु रंधावा ने फिल्म हिंदी मीडियम, सिमरन, सोनू के टीटू की स्वीटी, तुम्हारी सुलू, साहो, बधाई हो, दिल जंगली और अर्जुन पटियाला जैसी फिल्मों में काम कर चुके हैं। गुरु रंधावा का असली नाम गुरशरमजोत सिंह रंधावा है जिसे बदलकर उन्होंने अपना नाम गुरु रंधावा कर लिया।पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीये 5 आदतें आपके मानसिक स्वास्थ्य को पहुंचा रहीं नुकसान, हो जाएं सावधान******कई लोग मानसिक स्वास्थ्य को नजरअंदाज कर देते हैं। लेकिन वो इस बात को भूल जाते हैं कि सेहत के लिए जितना शारीरिक स्वास्थ्य महत्वपूर्ण होता है उतनीही जरूरी मानसिक सेहत भी होती है। ऐसा इसलिए क्योंकि मानसिक स्वास्थ्य केवल आपने मूड से ही संबंधित नहीं होता बल्कि पूरे शरीर से जुड़ा होता है। कई बार मानसिक सेहत अच्छी ना होने की वजह से लोग डिप्रेशन का भी शिकार हो जाते हैं। हालांकि मानसिक स्वास्थ्य पर आपकी रोजाना की कुछ आदतें भी गंभीर असर डालती हैं। जिसका परिणाम आपके शारीरिक स्वास्थ्य को भी झेलना पड़ता है। जानिए आपकी ऐसी कौन सी आदतें हैं जो धीरे-धीरे आपकी मानसिक सेहत पर खराब असर डाल रही हैं।आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में ज्यादातर लोग किसी ना किसी कारण तनाव से घिरे रहते हैं। ये तनाव किसी भी तरह का हो सकता है। उदाहरण के तौर पर- ऑफिस के वर्क लोड का तनाव, सैलरी कम और घर के खर्चे ज्यादा होने का तनाव या फिर पारिवारिक कलह का तनाव। ये तनाव धीरे-धीरे करके आपकी मानसिक सेहत को हानि पहुंचाते हैं। यहां तक कि आपको हार्ट संबंधित समस्याएं भी हो सकती हैं। इसी वजह से अगर आपको किसी भी बात का तनाव है तो अपने रुटीन में थोड़ा बदलाव करिए। योगा और ध्यान करने से आपका मानसिक स्वास्थ्य पहले से बेहतर होगा।आजकल हर क्षेत्र में इतना ज्यादा कॉम्पटीशन है कि हर कोई एक दूसरे से आगे निकलना चाहता है। इसकी वजह से लोग अपनी आमदनी बढ़ाना चाहते हैं जिसके लिए वो खूब मेहनत भी करते हैं। कई लोग तो ऑफिस में ओवरटाइम भी करते हैं और वीकेंड पर भी अपने ऑफिस के काम में डूबे रहते हैं। अगर आप भी ये सब करते हैं तो इतना जरूर जान लें कि ऐसा करके आप कहीं ना कहीं आपके मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर डाल रहेहैं। अपने आप को वक्त देना बहुत जरूरी होता है। इसके लिए ये जरूरी है कि खुद आप काम के बीच अपने लिए कुछ वक्त निकालें और खुद को रिलैक्स करने के लिए जो भी आपको अच्छा लगता हो करें। ऐसा करने पर आपका मन शांत होगा और आपको अच्छा लगेगा।आप जो भी चीजें खाते हैं उसका असर आपके शारीरिक स्वास्थ्य के अलावा मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ता है। इसलिए आप डाइट में उन चीजों को शामिल करें जो आपकी मानसिक सेहत के लिए अच्छी हों। एक अध्ययन के मुताबिक कुछ खाद्य पदार्थ आपके मानसिक सेहत को बढ़ावा देने पर मदद करते हैं। जैसे- ओमेगा 3 फैटी एसिड, जामुन और हरी सब्जियां।आपने सही पढ़ा....जी हां, ठीक से नींद ना पूरी करना भी आपकी मानसिक सेहत पर बुरा असर डालता है। कई बार ऐसा होता है कि आप देर रात तक जगते रहते हैं। इसके बाद सोते हैं और जब सुबह नींद पूरी नहीं होती है तो जाहिर सी बात है कि आपको फ्रेश फील नहीं होगा। कई लोगों के तो सिर में दर्द भी रहता है और तनाव भी महसूस करते हैं। इसलिए हमेशा पूरी नींद लें। ऐसा ना करना भी आपके मानसिक स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर डालता है।रोजाना एक्सरसाइज ना करने से भी आपके मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। जब आपक व्यायाम करेंगे तो आपका शरीर खुश हार्मोन रिलीज करता है। जो कि आपके मूड को अच्छा रखता है और मानसिक सेहत अच्छी रहती है। इसलिए रोजाना रुटीन में व्यायाम को शामिल करें।Disclaimer: इंडिया टीवी इनके सफल होने या इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है।

Electric Vehicle News: पेट्रोल गाड़ियों से भी सस्ते में मिलेंगे इलेक्ट्रिक वाहन, Auto कंपनियां ला रही यह नई टेक्नोलॉजी

पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीIIT खड़गपुर में पहले दिन 400 से ज्यादा स्टूडेंट्स को मिला जॉब ऑफर****** (IIT) खड़गपुर में रोजगार सत्र के पहले दिन 400 से अधिक छात्रों को मिला। संस्थान ने एक प्रेस रिलीज में यह जानकारी दी है। इसमें बताया गया है कि 362 से अधिक कंपनियां पहले ही पंजीकृत हैं और छात्रों के पास 618 से अधिक क्षेत्र में नौकरी करने का मौका है। इससे छात्रों को समझदारी से अपना करियर चुनने के लिए पर्याप्त अवसर मिल रहा है।रोजगार सत्र के पहले दिन शनिवार शाम को बयान में बताया गया कि इनमें से 256 को पीपीओ (पूर्व-नियुक्ति प्रस्ताव) और करीब 150 को नवीनतम प्रस्ताव मिला है। रोजगार का पहला चरण 20 दिसंबर तक जारी रहने का अनुमान है। क्वालकॉम और माइक्रोसॉफ्ट ने सबसे अधिक 21 लोगों को नौकरी दी है।इसमें बताया गया है कि इन प्रस्ताव में 12 अंतरराष्ट्रीय प्रस्ताव भी शामिल है। इसमें से छह मरकरी जापान और चार माइक्रोसॉफ्ट से है। उम्मीद है की भर्ती प्रक्रिया के दौरान और प्रस्ताव सामने आएंगे। बयान में बताया गया है कि रोजगार सत्र के पहले कुछ दिनों में एआरपीवुड कैपिटल, एबी इनबेव, ब्लैकरॉक और बिडगेली सहित 16 से अधिक नयी कंपनियां भागीदारी कर रही है।पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीSara Tendulkar Photos: सारा तेंदुलकर ने कराया Photoshoot, व्हाइट ड्रेस में शेयर की खूबसूरत तस्वीरें******सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा तेंदुलकर अक्सर सोशल मीडिया पर छाई रहती हैं। उनके द्वारा शेयर की गई कोई भी तस्वीर आग की तरह फैलती है और वायरल हो जाती है। उन्हें सोशल मीडिया क्वीन भी कहा जा सकता है। इसी बीच मंगलवार को सारा ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर व्हाइट ड्रेस में खूबसूरत तस्वीरें शेयर कीं। उनकी इन तस्वीरों के साथ स्टोरी पर एक वीडियो भी था जिसमें बैकग्राउंड में अली जफर का गाना बज रहा था और सारा फोटोशूट करवा रही थीं।सारा तेंदुलकर का इंस्टाग्राम पर एक बड़ा फैनबेस है। वे अक्सर एक्टिव भी रहती हैं और एक से बढ़कर एक लाजवाब तस्वीरें शेयर करती रहती हैं। उन्हें यहां करीब 21 लाख यानी 2.1 मिलियन से ज्यादा लोग फॉलो करते हैं। इससे पहले सारा आईपीएल 2022 के दौरान भी मुंबई के कुछ मैचों के दौरान स्टेडियम में नजर आई थीं। एक मैच में उनकी मां अंजली तेंदुलकर भी वहां बैठी दिखी थीं।सारा तेंदुलकर ने पिछले साल नवंबर में अपना एक्टिंग डेब्यू किया था। वह एक ऐड वीडियो में एक्ट्रेस बनिता संधू और तानिया श्रॉफ के साथ नजर आई थीं। इसके बाद लगातार अटकलें थीं कि सारा जल्द ही बॉलीवुड में भी डेब्यू कर सकती हैं। खूबसूरती में निश्चित ही सारा किसी एक्ट्रेस से कम नहीं लगतीं। उनकी सोशल मीडिया पर फॉलोइंग और उनकी तस्वीरें भी जमकर वायरल होती हैं। कई एक्टर, एक्ट्रेस और बॉलीवुड की कई हस्तियां भी उनके लुक की कायल रहती हैं। हाल ही में एक बॉलीवुड वेबसाइट के हवाले से भी यह खबर सामने आई थी कि सारा फिल्मी दुनिया में एंट्री करने वाली हैं।सारा तेंदुलकर के इंस्टा बायो में उनके रहने के स्थान में मुंबई और लंदन लिखा है। वैस तो उनका होम टाउन मुंबई है लेकिन अक्सर वे लंदन में भी नजर आती हैं। सारा तेंदुलकर ने मुंबई के धीरूभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल से अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की, इसके बाद मेडिसिन की पढ़ाई करने के लिए वह लंदन चली गईं। सारा का जन्म 12 अक्टूबर 1997 को हुआ था। वह अर्जुन तेंदुलकर से बड़ी हैं और सचिन व अंजली की पहली चाइल्ड हैं।

Electric Vehicle News: पेट्रोल गाड़ियों से भी सस्ते में मिलेंगे इलेक्ट्रिक वाहन, Auto कंपनियां ला रही यह नई टेक्नोलॉजी

पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीवेतन में बढ़ोतरी से 25 लाख आंगनवाड़ी कर्मियों की शिकायतें दूर हुई: अरुण जेटली****** वित्त मंत्री ने शनिवार को कहा कि सरकार द्वारा तथा आशा कर्मियों के वेतन​ में करीब 50 प्रतिशत की वृद्धि किए जाने से 25 लाख कर्मियों की शिकायतें दूर हुई हैं।जेटली ने फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि आंगनवाड़ी कर्मियों तथा उनके सहयोगी काफी लंबे अरसे से वेतन​ में बढ़ोतरी की मांग कर रहे थे। वित्त मंत्री ने कहा कि पिछली सरकारें राजस्व के बारे में विचार कर इनकर्मियों को लाभ देने से हिचकिचाती रहीं।वित्त मंत्री ने कहा कि बजट पर पड़ने वाले दबाव को जानते हुए भी सरकार ने इन कर्मियों के वेतन​ में करीब 50 प्रतिशत की वृद्धि की है। इससे उनकी लंबे अरसे से चली आ रही शिकायतों को दूर करने में मददमिलेगी।इससे पहले इसी सप्ताह प्रधानमंत्री ने आशा और आंगनवाड़ी कर्मियों के वेतन​ में अक्तूबर से वृद्धि की घोषणा की थी। आंगनवाड़ी कर्मियों का वेतन​ 3,000 रुपये से बढ़ाकर 4,500 रुपयेमासिक किया गया है। छोटे आंगनवाड़ी कर्मियों का वेतन​ 2,250 से 3,500 रुपये मासिक और सहायकों का वेतन​ 1,500 से बढ़ाकर 2,250 रुपये मासिक किया गया है।इन कर्मियों के प्रदर्शन के आकलन के आधार पर इन्हें क्रमश: 500 और 250 रुपये का प्रोत्साहन भी दिया जाएगा। जेटली ने कहा कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ता राष्ट्रीय पोषण मिशन के मुख्य आधार हैं। देश में करीब12.9 लाख आंगनवाड़ी कर्मी तथा 11.6 लाख आंगनवाड़ी सहायक हैं। जेटली ने कहा कि यह लाभ करीब 24.9 लाख आंगनवाड़ी कर्मियों और उनके सहायकों को मिलेगा। अपने फेसबुक पोस्ट ‘केंद्र सरकार की दोसफल पहल’ में जेटली ने लिखा है कि पूर्व में सरकार की योजना को लेकर एक आम अविश्वास की भावना होती थी।जेटलीने कहा कि इसकी प्रमुख वजह यह है कि पूरा लाभ या तो लक्षित लोगों तक नहीं पहुंच पाता था या फिर तय मानदंड हासिल नहीं हो पाते थे। लेकिन आज योजनाएं कुछ भिन्नता के साथ हैं। स्वच्छ भारतअभियान संभवत: इनमें सबसे सफल पहल है। जेटली ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 के स्वतंत्रता दिवस के भाषण में स्वच्छता अभियान की घोषणा की थी। उस तक ग्रामीण स्वच्छता दायरा 39 प्रतिशतथा जो आज बढ़कर 92 प्रतिशत हो गया है।इसी तरह जब प्रधानमंत्री ने 2019 में महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती तक खुले में शौच को समाप्त करने की घोषणा की थी तो बहुत से लोगों का मानना था कि यह सिर्फ तस्वीर खिंचवाने का मौका हैं।जेटली ने कहा कि आज यह एक बड़ा अभियान बन चुका है। ग्रामीण महिलाएं इसमें प्रमुख भूमिका निभा रही हैं। उन्होंने कहा कि ग्रामीण सड़क, ग्रामीण विद्युतीकरण, ग्रामीण आवास योजना, शौचालय और रसोईगैस कनेक्शन तथा सस्ते दाम पर खाद्यान्न जैसी योजनाओं की वजह से देश के ग्रामीणों के जीवनस्तर में उल्लेखनीय सुधार आया है।इसके अलावा आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रत्येक परिवार को पांच लाखरुपये तक का अस्पताल का खर्च उपलब्या होगा। इस योजना के पूरी तरह लागू होने के बाद देश की ग्रामीण आबादी के जीवनस्तर की गुणवत्ता उल्लेखनीय रूप से सुधर सकेगी।

पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीएयरफोर्स चीफ भदौरिया ने कहा-'2022 तक वायुसेना में 36 राफेल विमान शामिल होंगे'****** वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने कहा कि वर्ष 2022 तक भारतीय वायुसेना 36 राफेल विमानों को शामिल करेगी। उन्होंने कहा कि तेजी से बदल रही सुरक्षा चुनौतियों और पड़ोस एवं अन्य क्षेत्रों में बढ़ती भू-राजनीतिक अनिश्चितताओं के मद्देनजर भारतीय वायुसेना (आईएएफ) प्रौद्योगिकियों को तेजी से शामिल करके परिवर्तन के महत्वपूर्ण दौर से गुजर रही है।भदौरिया ने यहां वायु सेना अकादमी में संयुक्त स्नातक परेड (सीजीपी) को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘वायुसेना परिवर्तन के एक महत्वपूर्ण दौर से गुजर रही है। हमारे अभियानों के हर पहलू में प्रौद्योगिकियों और लड़ाकू शक्ति का जितनी तेजी से समावेश अब हो रहा है, उतना पहले कभी नहीं हुआ।’’उन्होंने कहा, ‘‘यह मुख्य रूप से हमारे पड़ोस और अन्य क्षेत्रों में बढ़ती भू-राजनीतिक अनिश्चितताओं के अलावा हमारे सामने मौजूद अभूतपूर्व और तेजी से बदल रहीं सुरक्षा चुनौतियों के कारण है।’’ भदौरिया ने कहा कि पिछले कुछ दशकों ने हर संघर्ष में जीत हासिल करने में वायु शक्ति की महत्वपूर्ण भूमिका स्पष्ट रूप से स्थापित की है और इसी के मद्देनजनर भारतीय वायुसेना की क्षमता में जारी वृद्धि काफी महत्व रखती है। इससे पहले, वायुसेना प्रमुख ने परेड की समीक्षा की। उन्होंने कोविड-19 महामारी के खिलाफ राष्ट्रीय लड़ाई में वायुसेना की महत्वपूर्ण भूमिका का भी जिक्र किया।इनपुट-भाषापेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीRupauli Election Result: रुपौली में वोटों की गिनती जारी, जानें JDU और CPI में कौन आगे****** बिहार विधानसभा चुनावों के लिए मतगणना जारी है। राज्य की रुपौली विधानसभा सीट पर भी मतगणना चल रही है।बिहार की इस विधानसभा सीट पर तीसरे एवं अंतिम चरण के अंतर्गत 7 नवंबर को वोट डाले गए थे। रुपौली विधानसभा सीट पर एनडीए की तरफ से जनता दल युनाइटेड ने बीमा भारती को मैदान में उतारा है, जबकि भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के टिकट पर विकास चंद्र मंडल ताल ठोक रहे हैं।रुपौली विधानसभा सीट पर जनता दल यूनाइटेड प्रत्याशी बीमा भारती सबसे आगे चल रही हैं, उन्हें अबतक 18296 वोट प्राप्त हो चुके हैं, दूसरे स्थान पर लोक जनशक्ति पार्टी प्रत्याशी शंकर सिंह पहुंच गये हैं जिन्हें अबतक 6708 वोट मिल चुके हैं,तीसरे स्थान पर सीपीआई प्रत्याशी विकास चंद्र हैं जिन्हें 6380 वोट मिले हैं।2015 के में जनता दल युनाइटेड की प्रत्याशी बीमा भारती ने भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी प्रेम प्रकाश मंडल को हराया था। उन चुनावों में बीमा भारती को 50945 वोट मिले थे, जबकि प्रेम प्रकाश मंडल के खाते में 41273 वोट आए थे। तीसरे नंबर पर निर्दलीय प्रत्याशी शंकर सिंह रहे थे जिनके नाम का बटन कुल 34793 लोगों ने दबाया था, जबकि 10426 वोट पाकर सीपीआई के प्रत्याशी सावन कुमार चौथे नंबर पर रहे थे। 2015 में इस विधानसभा सीट पर कुल 21 प्रत्याशियों ने दावेदारी पेश की थी। उन चुनावों में नोटा के नाम पर 2277 वोट पड़े थे और वह 13वें स्थान पर रहा था।

पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीजम्मू कश्मीर में महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला को टक्कर देगी ये नई पार्टी, विधानसभा चुनाव में होगा कड़ा मुकाबला******जम्मू कश्मीर के विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं, वैसे-वैसे वहां राजनीतिक सरगर्मियां भी तेज हो रही हैं। विधानसभा चुनाव से पहले जम्मू कश्मीर में एक और राजनीतिक पार्टी बन गई है। इसे बनाया है श्री श्री रविशंकर के संगठन से से जुड़े संजय कुमार ने। नई पॉलिटिकल पार्टी को चुनाव आयोग की तरफ से मान्यता भी मिल गई है।संजय कुमार ने अपनी पार्टी का नाम नेशनलिस्ट पीपल्स फ्रंट रखा है, पार्टी का नारा है कि वह घाटी को ड्रग्स फ्री, करप्शन फ्री और वायलेंस फ्री बनाना चाहती है।नेशनलिस्ट पीपल्स फ्रंट ने अपनी पहली जनसभा श्रीनगर में रखी और घाटी के लोगों के साथ-साथ तमाम राजनीतिक दलों को भी अपनी ताकत का अहसास कराया। यह जनसभा श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर पार्क में हुई। जम्मू कश्मीर में चुनावी बिगुल अभी बजा नहीं कि राजनीतिक सरगर्मियां तेज़ होती दिख रही हैं। पिछले 15 दिनों के भीतर घाटी में 2 नई पॉलिटिकल पार्टियों ने आगामी विधानसभा चुनावों से पहले अपनी ताकत दिखा दी है। पहले ग़ुलाम नबी आज़ाद ने अपनी नई पार्टी का ऐलान किया। और आज यह दूसरी पार्टी लांच हुई।जम्मू में ग़ुलाम नबी आज़ाद की रैली के बाद, श्रीनगर में यह दूसरी बड़ी चुनावी रैली देखने को मिली। इस रैली में कश्मीर के विभिन्न ज़िलों से काफी संख्या में लोग शामिल हुए थे, ख़ास कर युवाओं और महिलाओं की अच्छी खासी भीड़ इस रैली में माजूद थी। रैली में शामिल लोगों में नई पार्टी को लेकर जोश और उत्साह साफ़ देखा जा रहा था, ढोल बाजे और कश्मीरी पारम्परिक संगीत के साथ पार्टी की लॉन्चिंग हुई।रैली में पहुंचे युवाओं को इस पार्टी से काफी उम्मीदें दिखीं। युवाओं का कहना था की इस पार्टी का मंशूर बिलकुल साफ़ हैं। इसलिए हम इस पार्टी के साथ जुड़ चुके हैं। इससे पहले जो पार्टियां आईं उन्होंने ना तो विकास के काम किए और ना ही युवाओं के लिए कोई ख़ास कदम उठाये। अभी लोगों को उम्मीद है की यह पार्टी ना सिर्फ ड्रग्स फ्री, करप्शन फ्री बल्कि डेवलपमेन्ट के कामों को भी आगे बढ़ायेगी।श्रीनगर में अपनी पार्टी की लॉन्चिंग के दौरान पार्टी के चेयरमैन संजय कुमार ने इंडिया टीवी से बात करते हुए कहा कि हमारा मंशूर आर्टिकल 370 जैसे मुद्दे नहीं बल्कि युवाओं के मुस्तकबिल के लिए काम करना है। हमारी पार्टी दूसरी पार्टियों से बिल्कुल अलग होगी , इस पार्टी में कोई भी पुराने राजनीतिक चहरे शामिल नहीं होंगे। यह पार्टी ड्रग्स फ्री, करप्शन फ्री और कश्मीर में वायलेंस फ्री के मंशूर से आगे बढ़ेगी। संजय कुमार ने कहा आने वाले विधानसभा चुनावों में पार्टी हिस्सा लेगी या नहीं यह सब कोर कमिटी की बैठक में तय किया जाएगा।नए गैर कश्मीरी वोटरों को शामिल करने के मुद्दे पर प्रदेश में राजनीति चरम पर पहुंच गई है। वहीं ऐसे में कर्नाटक के रहने वाले एक निवासी संजय कुमार का विधानसभा चुनावों के एलान से पहले नई पार्टी के लॉन्च होने से जम्मू कश्मीर की राजनीति में एक बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा यह तो समय ही बताएगा।पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीIPL 2022, DC vs KKR Dream 11: दिल्ली-केकेआर के बीच मुकाबले में ये खिलाड़ी मचा सकते हैं धमाल, लगाएं इन पर दांव******Highlightsइंडियन प्रीमियर लीग 2022 का 41 वां मैच दिल्ली कैपिटल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच खेला जाएगा। दोनों टीमें इस मैच के लिए मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम के मैदान पर उतरेगी। दिल्ली की टीम का टूर्नामेंट में यह 8वां मैच होगा। अब तक खेले गए 7 मैचों में से उसे सिर्फ में ही जीत मिली है जबकि चार मुकाबलों में उसे हार का सामना करना पड़ा है।वहीं केकेआर अपने 9वें मैच के लिए दिल्ली कैपिटल्स के साथ भिड़ेगी। केकेआर की टीम भी लीग बेहतरीन शुरुआत के बाद अपना लय खो चुकी है। टीम को अब तक खेले गए उसके 8 मैचों में से 5 में हार का सामना करना पड़ा जबकि वह सिर्फ मैच ही जीत पाई है। ऐसे में इस मुकाबले में दोनों टीमों की कोशिश होगी कि वह एक बार फिर से वह जीत की पटरी पर लौटकर प्ले ऑफ के लिए अपनी दावेदारी को मजबूत करें।इससे पहले आइए जानते हैं इन दोनों के बीच खेले जाने वाले आज के मुकाबले में क्या हो सकता है फैंट्सी इलेवन -दिल्ली कैपिटल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच होने वाले इस मुकाबले के लिए फैंट्सी इलेवन की टीम में विकेटकीपर के तौर पर ऋषभ पंत सबकी पहली पसंद रहेंगे। पंत अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए जानें जाते हैं। ऐसे में आज के मुकाबले में इस खिलाड़ी सबसे अधिक दांव लगने की संभावना है।वहीं दोनों टीमों के बीच खेले जाने वाले इस मैच के लिए बल्लेबाजों के तौर पर पृथ्वी शॉ और श्रेयस अय्यर पर भरोसा जताया जा सकता है। इसके अलावा डेविड वार्नर और नीतीश राणा पर भी दांव लगाना समझदारी होगा।इस मैच की फैंट्सी इलेवन में ऑलराउंडर के तौर पर टीम में आंद्रे रसेल सबसे पहली पसंद हो सकते हैं। रसेल पिछले कुछ मैचों से अपने शानदार लय में दिख रहे हैं। वहीं दिल्ली कैपिटल्स के अक्सर पटेल भी गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों विभाग में पूरी क्षमता के साथ प्रदर्शन कर रहे हैं।दिल्ली और केकेआर के बीच होने वाले आज के मैच में कुल चार गेंदबाजों को शामिल किया जा सकता है, जिसमें एक स्पिनर और तीन तेज गेंदबाज हैं। स्पिनर के रूप में कुलदीप जबकि तेज गेंदबाजों में खलील अहमद, शार्दुल ठाकुर और टिम साउदी फैंट्सी इलेवन की पहली पसंद हो सकती है।पृथ्वी शॉ, श्रेयस अय्यर, डेविड वॉर्नर, नीतीश राणा, ऋषभ पंत, आंद्रे रसेल (कप्तान), अक्सर पटेल, कुलदीप यादव उपकप्तान), खलील अहमद, शार्दुल ठाकुर और टिम साउदी।

पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीRanji Trophy 2022: झारखंड ने हासिल की रिकॉर्ड 1008 रनों की बढ़त, नागालैेंड के खिलाफ मुकाबला हुआ ड्रॉ******Highlightsझारखंड ने बुधवार को रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल में जगह सुनिश्चित की लेकिन इससे पहले नगालैंड की कमजोर टीम के खिलाफ प्री क्वार्टर फाइनल में अपनी कुल बढ़त को 1008 रन तक पहुंचाकर कुछ हद तक मुकाबले का मजाक भी बनाया। सौरभ तिवारी की अगुआई वाली झारखंड की टीम ने मैच में कुल 1297 रन बनाए। मैच में पहले बल्लेबाजी करने वाली झारखंड की टीम ने पहली पारी में 591 रन की विशाल बढ़त के आधार पर ही क्वार्टर फाइनल में जगह सुनिश्चित कर ली थी।झारखंड ने नगालैंड को पहली पारी में 289 रन पर समेटने के बावजूद फॉलोआन नहीं दिया। पांचवें और अंतिम दिन झारखंड की टीम दो विकेट पर 132 रन से आगे खेलने उतरी और दूसरे सत्र के बीच में ही मैच ड्रॉ कराने का फैसला किया। पहली पारी में दोहरा शतक जड़ने वाले कुमार कुशाग्र के 104 गेंद में नौ चौकों और तीन छक्कों की मदद से 89 रन बनाकर आउट होने ही दोनों टीमों ने मैच ड्रॉ कराने का फैसला किया।यह झारखंड की दूसरी पारी का 91वां ओवर था और टीम ने दूसरी पारी में छह विकेट पर 417 रन बनाकर कुल 1008 रन की बढ़त हासिल कर दी थी जो प्रथम श्रेणी क्रिकेट के इतिहास में सर्वश्रेष्ठ है। मैच में झारखंड के बल्लेबाजों ने तीन शतक और एक दोहरा शतक जड़ा। पहली पारी में 59 रन बनाने वाले अनुकूल राय ने 164 गेंद में 17 चौकों और सात छक्कों से 159 रन की पारी खेली।प्लेट ग्रुप में शीर्ष पर रही नगालैंड टीम ने पांच दिन में से अधिकांश समय क्षेत्ररक्षण करते हुए बिताया और इस दौरान 294 से अधिक ओवर गेंदबाजी की। झारखंड से पहले सात एलीट ग्रुप में शीर्ष पर रहने वाली टीम बंगाल, मुंबई, कर्नाटक, पंजाब, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड पहले ही क्वार्टर फाइनल में जगह बना चुके हैं। रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल आगामी आईपीएल के बाद खेले जाएंगे।पेट्रोलगाड़ियोंसेभीसस्तेमेंमिलेंगेइलेक्ट्रिकवाहनAutoकंपनियांलारहीयहनईटेक्नोलॉजीAashiqui 3: कार्तिक आर्यन की फिल्म 'आशिकी 3' की हिरोइन रहेगी जेनिफर विंगेट ? सामने आई ये सच्चाई******Highlights हाल ही में फिल्म 'आशिकी 3' का गाना सामने आया है। जानकारी के अनुसार इस फिल्म का निर्देशन अनुराग बसु कर रहे हैं। 'आशिकी 3' में कार्तिक आर्यन मुख्य भूमिका में नजर आने वाले हैं। कार्तिक आर्यन के साथ इस फिल्म में कौन अभिनेत्री लीड रोल में नजर आने वाली है, अभी तक इस बात का खुलासा नहीं हुआ है। बता दें कुछ दिनों से ये अफवाहें थीं कि इस फिल्म में जेनिफर विंगेट मुख्य भूमिका में नजर आ सकती हैं। लेकिन मेकर्स ने इस बात की सफाई दी है।बता दें टी-सीरीज के प्रवक्ता ने एक आधिकारिक बयान जारी किया है। उनके बयान के बाद हर तरह की अफवाहों की छुट्टी हो गई है। उन्होंने कहा कि ''आशिकी 3' में कार्तिक आर्यन के साथ मुख्य भूमिका में किसी भी हिरोइन को लेकर चल रही अफवाह में कोई सच्चाई नहीं है। फिल्म के लिए अभिनेत्री की तलाश अभी भी जारी है। अभी हम फिल्म के बहुत ही शुरुआती चरणों में हैं। दर्शकों की तरह हम भी फिल्म की अभिनेत्री की तलाश कर रहे हैं। हम भी इस फिल्म की महिला किरदार को अंतिम रूप देने की तैयारी में हैं। जैसे ही हमारी तलाश पूरी होती है, हम फैंस के साथ इसे साझा जरूर करेंगे'।साल 2013 में मोहित सूरी द्वारा निर्देशित फिल्म 'आशिकी 2' रिलीज हुई थी। इस फिल्म में श्रद्धा कपूर और आदित्य रॉय कपूर नजर आए थे। ये फिल्म भी बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट रही थी। अब अनुराग बसु के निर्देशन में फिल्म 'आशिकी 3' बनने जा रही है। देखनाये होगा की जेनिफर विंगेट 'आशिकी 3' में हिरोइन के रूप में नजर आती हैं की नहीं।

हाल का ध्यान

लिंक