वर्तमान पद:मुखपृष्ठ > झुझौउ > मूलपाठ

वित्त मंत्री के आश्वासन के बाद ज्वैलर्स की हड़ताल खत्म, 18 दिनों में एक लाख करोड़ से अधिक का नुकसान

2022-10-04 16:53:25 झुझौउ

वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानपब्लिक टॉयलेट में फ्लश करने से भी फैलता है कोरोना वायरस, यूं कर सकते हैं अपना बचाव******चीन के रिसर्चर्स ने हाल ही में निष्कर्ष दिया है कि सार्वजनिक शौचालयों में फ्लश करने से वायरस के वाहक कणों के फैलने की संभावना रहती है, जिनमें कोविड-19 भी शामिल है। 'फिजिक्स ऑफ फ्लुइड्स' नाम की पत्रिका में पब्लिश हुए इस रिसर्च में दावा किया गया है कि कि जब पब्लिक टॉयलेट का इस्तेमाल करने के बाद कोई फ्लश करता है तो इनसे कोविड-19 के कण वायु में महज 6 सेकेंड से भी कम समय के अंदर 2 फीट तक ऊपर उठते हैं, ऐसे में व्यक्ति के संक्रमित होने का खतरा रहता है।रिसर्चर्स के इस काम से पता चलता है कि पब्लिक टॉयलेट्स में किसी वायरस से संक्रमित होने की संभावना कहीं अधिक रहती है, खासकर एक ऐसी महामारी के वक्त। अन्य कई रिसर्च में भी इस तथ्य का खुलासा हुआ है कि मल व मूत्र दोनों से ही का प्रसार संभव है। चीन में स्थित यंग्जो यूनिवर्सिटी से रिसर्च स्कॉलर जियांगडॉन्ग लियू ने कहा, ‘इसके लिए हमने कंप्यूटेशनल तरल गतिकी की एक विधि का इस्तेमाल किया, ताकि फ्लश करने के दौरान अणुओं की गतिविधियों का एक खाका तैयार किया जा सके।’टॉयलेट का इस्तेमाल करने के बाद जब हम फ्लश करते हैं, तब गैस और लिक्विड इंटरफेस के बीच एक संपर्क तैयार होता है। इसके परिणामस्वरूप यूरिनल से एयरोसोल के कणों का काफी बड़ी मात्रा में प्रसार होता है, रिसरर्चर्स ने इन्हीं पर गौर किया और इनकी जांच की। लियू ने कहा कि इससे प्राप्त निष्कर्ष परेशान कर देने वाले हैं, क्योंकि शौचालय में फ्लश करते वक्त निकलने वाले छोटे-छोट कण अधिक दूरी तक प्रसार करने वाले होते हैं। इन अणुओं में 57 फीसदी से कण ऐसे होते हैं जिनका प्रसार शौचालय के स्थान पर दूर तक होता है।शोधकर्ताओं ने लिखा कि जब पुरुष किसी का इस्तेमाल करते हैं तो ये छोटे-छोटे कण टॉयलेट फ्लश करने की तुलना में उनकी जांघों तक पहुंचने में महज 5.5 सेकेंड का समय लेते हैं, इससे थोड़ा ऊपर तक पहुंचने में करीब 35 सेंकेड तक का वक्त लगता है। लियू ने कहा कि इन कणों की ऊपर तक जाने की गति टॉयलेट की फ्लशिंग से कहीं ज्यादा होती है। ऐसे में सुझाव इस बात का दिया गया कोविड-19 जैसे किसी महामारी के वक्त संक्रमण दर को रोकने के लिए का उपयोग करना बेहद आवश्यक है। शौचालयों का इस्तेमाल करते वक्त भी इनका इस्तेमाल करना न भूलें।

वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानShare Market Outlook: दिवाली तक शेयर बाजार में जारी रहेगी तेजी, इतने समय में 65,000 जा सकता है Sensex******Highlightsभारतीय शेयर बाजार में आगे भी तेजी जारी रहने का अनुमान है। मार्केट एक्सपर्ट का कहना है कि भारतीय बाजार में मजबूती बनी हुई है। मार्केट्स मोजो के मुख्य निवेश अधिकारी सुनील दमानिया ने कहा, हमारा मानना है कि बाजार में इस समय तेजी का रुख बना हुआ है। इसकी एक प्रमुख वजह भारतीय अर्थव्यवस्था का बेहतर प्रदर्शन है। दमानिया ने कहाए ष्ष्हमारा मानना है कि सितंबर में बाजार चाहे रिकॉर्ड ऊंचाई पर जाए या नहींए दिवाली तक बाजार धारणा मजबूत रहेगी।ष्ष् उन्होंने कहाए ष्ष्इस समय निवेशक बाजार की मौजूदा तेजी को लेकर भले ही थोड़े सतर्क होंए हमारा मानना है कि सेंसेक्स दिसंबर2022 तक 65,000 अंक तक जा सकता है।विशेषज्ञों के अनुसार, भू-राजनीतिक मसले, जिंसों के दाम, मुद्रास्फीति की प्रवृत्ति, विभिन्न केंद्रीय बैंकों की तरफ से ब्याज दर में वृद्धि की स्थिति तथा नरमी वैश्विक बाजारों को दिशा देंगे। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के खुदरा शोध प्रमुख दीपक जसानी ने कहा कि भारतीय बाजार पर वैश्विक धारणा का असर पड़ सकता है। यह देखा गया है कि सितंबर में बाजार नीचे रहता है, इसको देखते हुए निवेशक जोखिम लेने से थोड़ा बचते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि, घरेलू बाजार में गिरावट की गति और मात्रा सीमित होगी। इसका कारण हमारी अर्थव्यवस्था पूरी तरह से अमेरिकी अर्थव्यवस्था में होने वाली गतिविधियों से प्रभावित नहीं होती।’’बजाज आलियांज लाइफ इंश्योरेंस में इक्विटी प्रमुख और कार्यकारी उपाध्यक्ष रेशमा बंदा ने कहा कि देश की वृहत आर्थिक बुनियाद तुलनात्मक रूप से बेहतर स्थिति में है। उन्होंने कहा कि भारत में मुद्रास्फीति ऊंची है। हालांकि, यह रिजर्व बैंक के संतोषजनक स्तर की तुलना में मामूली अधिक है। यह अन्य विकसित देशों की तुलना में अच्छी स्थिति है, जहां मुद्रास्फीति कई दशक के उच्चस्तर पर पहुंच गयी है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, जुलाई में खुदरा मुद्रास्फीति नरम पड़कर 6.71 प्रतिशत रही। आरबीआई को इसे दो प्रतिशत घट-बढ़ के साथ चार प्रतिशत पर रखने की जिम्मेदारी मिली हुई है। विशेषज्ञों के अनुसार, इसके अलावा बाजार पर मानसून के सामान्य होने के साथ विदेशी संस्थागत निवेशकों की लिवाली का भी असर होगा।अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व के ब्याज दर को लेकर कदम, भारतीय रिजर्व बैंक के नीतिगत दर को लेकर निर्णय तथा विदेशी संस्थागत निवेशकों के पूंजी प्रवाह जैसे कुछ प्रमुख कारक निकट भविष्य में घरेलू शेयर बाजार की दिशा तय करेंगे। विश्लेषकों ने बुधवार को यह भी कहा कि निकट भविष्य में सितंबर तिमाही के कंपनियों के परिणाम भी बाजार के लिये रास्ता निर्धारित करेंगे। उनका कहना है कि बाजार में तेजी का रुख बना हुआ है। बीएसई सेंसेक्स इस साल 17 जून को 52 सप्ताह के निचले स्तर 50,921.22 अंक पर था। तब से अबतक इसमें 16.91 प्रतिशत की तेजी आ चुकी है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी इस साल 17 जून को 52 सप्ताह के निचले स्तर 15,183.40 के स्तर से 16.96 प्रतिशत मजबूत हुआ है। वैसे इस साल सेंसेक्स अबतक 2.20 प्रतिशत और निफ्टी 2.33 प्रतिशत लाभ में रहे हैं। मार्केट्स मोजो के मुख्य निवेश अधिकारी सुनील दमानिया ने कहा, ‘‘हमारा मानना है कि बाजार में इस समय तेजी का रुख बना हुआ है। इसकी एक प्रमुख वजह भारतीय अर्थव्यवस्था का बेहतर प्रदर्शन है। ’’ उन्होंने कहा कि अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया रिकॉर्ड निचले स्तर को छूने के बाद स्थिर हुआ है। डॉलर के मुकाबले रुपया फिलहाल 79.50 के आसपास बना हुआ है। सोमवार को कारोबार के दौरान यह 80.15 के अबतक के सबसे निचले स्तर को छू गया था। वहीं निफ्टी के दिसंबर, 2019 तक 19,000 अंक तक जाने का अनुमान है।’’वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानअब आपकी आवाज से दौड़ेगा स्कूटर, टीवीएस ने हाइटेक फीचर्स से लैस यह मॉडल लॉन्च किया******tvs jupitorHighlights ऑटो कंपनियां अभी तक महंगी कारों में ही वॉइस असिस्ट फीचर उपलब्ध करा रही थी लेकिन अब आपको यह फीचर स्कूटर में भी मिलेगा। वॉइसअसिस्ट फीचर में बहुत सारे कमांड बोलकर देने की सुविधा मिलती है। अब टीवीएस मोटर ने वॉइस असिस्ट फीचर से लैस TVS Jupiter ZX लेकर आई है। कंपनी के अनुसार, इस 110 सीसी स्कूटर सेगमेन्ट में उपभोक्ताओं को सर्वश्रेष्ठ टेक्नोलाॅजी फीचर्स जैसे फुली डिजिटल कंसोल, वाॅइस असिस्ट, नेविगेशन असिस्ट, एसएमएस/काॅल एलर्ट की सुविधा मिलेगी। 110 सीसी सेगमेन्ट में वाॅइस असिस्ट फीचर देने वाला पहला स्कूटर होगा।TVS SMARTXONNECT एक आधुनिक ब्लूटुथ इनेबल्ड टेक्नोलाॅजी है, जो टीवीएस कनेक्ट मोबाइल ऐप के साथ एंड्रॉयड और आईओएस दोनों पर उपलब्ध है। इंटरैक्टिव वाॅइस असिस्ट फीचर के द्वारा उपभोक्ता कनेक्टेड डिवाइस जैसे ब्लूटुथ हेडफोन, वायर्ड हेडफोन या ब्लुटुथ से युक्त हेलमेट के माध्यम से TVS SMARTXONNECT ऐप्लीकेशन को दिए गए वाॅइस कमाण्ड के जरिये स्कूटर के साथ बातचीत कर सकते हैं। स्कूटर का रिस्पाॅन्स स्पीडोमीटर में दिखाई देता है या उपभोक्ता हेडफोन के द्वारा ऑडियो फीडबैक भी ले सकेंगे।स्कूटर अब सिल्वर ओक कलर इनर पैनल्स के साथ आता है, जो इस फ्लैगशिप वेरिएन्ट को सबसे खास बनाता है। इन अडवान्स्ड फीचर्स के अलावा TVS Jupiter ZX नई ड्यूल टोन सीट तथा ज्यादा स्टाइल वाले नए डिजाइन पैटर्न के साथ भी आता है। साथ ही टीवीएस ज्युपिटर सीरीजके इस वेरिएन्ट में रियर बैकरेस्ट भी है। TVS Jupiter का 110 सीसी इंजन 7500 आरपीएम पर 5.8 केवी की अधिकतम पावर और 5,500 आरपीएम पर 8.8 एनएम का अधिकतम टॉर्कदेता है। दिल्ली में इस स्कूटर की कीमत 80,973 रुपये (एक्स-शोरूम) है।

वित्त मंत्री के आश्वासन के बाद ज्वैलर्स की हड़ताल खत्म, 18 दिनों में एक लाख करोड़ से अधिक का नुकसान

वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानक्या है वात, पित्त और कफ दोष? जानिए शरीर पर इनका असर और स्वामी रामदेव से इन्हें खत्म करने के उपाय******Highlightsइंसान हो या उपरवाले का बनाया कोई भी जीव खाना सभी की ज़रूरत है। लेकिन अगर कोई आपसे कहे कि आज के वक्त में खाना खाने के मामले में जीव-जन्तु इंसानों से कहीं ज़्यादा होशियार हैं तो हो सकता है ऐसा सुनकर लोगों को हैरानी हो और शायद बुरा भी लगे कि खानपान में पढ़े-लिखे मॉडर्न इंसानों की तुलना birds और animals से कैसे की जा सकती है। यहां मकसद किसी को टारगेट करना नही है। लेकिन आज की लाइफस्टाइल का सच तो यही है कि इंसान खाने-पीने के नियम-कायदे भूल गए हैं और इसी वजह से ज़्यादातर लोग बीमार रहने लगे हैं।यहां हम बात कर रहे हैं कि शरीर कि प्रकृति के हिसाब से डाइट कैसे चुने। क्योंकि लोगों की सेहत तीन दोषों यानी वात पित्त और कफ के घटने बढ़ने पर निर्भर करती है । लेकिन इसके लिए तो ये भी जानना ज़रूरी है कि आखिर वात्त, पित्त और कफ होते क्या हैं और शरीर में इनका काम क्या है । वात पित्त और कफ वो बायोलोजिकल एनर्जी हैं। जो हमारे बॉडी को चलाती हैं । अगर इनमें से एक भी एनर्जी इम्बैलेंस हुई तो समझिए बीमार पड़ना तय है।शरीर के जितने भी अंग हैं उन्हें स्पीड देने का काम यही वात पित्त और कफ करते हैं। हाई बीपी, शुगर, ओबेसिटी, थायराइड, सर्दी-जुकाम और एसिडिटी ये सभी रोग त्रिदोष इम्बैलेंस होने से ही होते हैं। जिन लोगों को गैस की प्रॉब्लम होती है। ड्राइनेस रहती है, कमज़ोरी ज़्यादा महसूस होती है, उनमें वात्त दोष ज़्यादा होता है। अगर सीने में जलन, एसिडिटी की दिक्कत हो तो समझिए शरीर में पित्त दोष बढ़ा हुआ है। तो कफ दोष वालों को हर वक्त थकान और शरीर में भारीपन रहता है।इन तीन दोषों को जानकर अगर उनका बैलेंस बनाए रखें तो बार बार बीमार पड़ने के साथ कई खतरनाक बीमारियों से बचा जा सकता है। तो अपने शरीर का नेचर कैसे जाने और त्रिदोष को कैसे शांत रखें जानिए स्वामी रामदेव जी सेवित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानKidney Stone: क्यों होता है किडनी में स्टोन? जानिए इसके लक्षण******आज के खान-पान के कारण बहुत से लोगों को कम उम्र में बीमारियां होने लगी है। वहीं किडनी में स्टोन भी आजकल लोगों में देखा जा रहा है। किडनी में स्टोन मिनरल एंड नमक के मेल से होते है। इनका आकार छोटा या बड़ा कैसा भी हो सकती है। कई बार ये छोटे स्टोन हमारे टॉयलेट के जरिए बाहर निकल जाते हैं, लेकिन कई बार इनका आकार बड़ा होने के कारण उन्हें ऑपरेशन के जरिए निकाल ना पड़ता है। चालिए जानते है किडनी में स्टोन होने के लक्षण क्या हैं।शरीर में पानी की कमी, पथरी का मुख्य कारण है। दरअसल, यूरिक एसिड (मूत्र का एक घटक) पतला करने के लिए पर्याप्त पानी चाहिए होता है और ऐसा न होने पर मूत्र अधिक अम्लीय बन जाता है। यह अम्लीय गुर्दे की पथरी बनने का मुख्य कारण होता है।कहा गया है जल ही जीवन है। हमारे शरीर के लिए पानी पीना बहुत जरूरी है। जो लोग कम पानी पीते है उन्हें कुछ समय बाद कुछ न कुछ बीमारी हो ही जाती है इसलिए ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए। कम पानी पीने से किडनी में स्टोन होने का खतरा बढ़ जाता है। बता दें आपको एक दिन में 6-8 गिलास पानी पीना ही चाहिए।हमे समय में सही भोजन करना चाहिए। वही जो लोग अपने डाइट में बहुत ज्यादा प्रोटीन की मात्रा, नमक और चीनी शामिल करते हैं, तो इससे किडनी स्टोन होने का खतरा बढ़ जाता है। जो लोग ज्यादा नमक खाते हैं उन्हें भी ऐसी बीमारी हो सकती है।आज कल के खान-पान से मोटापा आम बात हो गई है, लेकिन मोटापा एक ऐसी समस्या है जो कई बीमारियों को बढ़ाती है। मोटापे की वजह से बॉडी मास इंडेक्स बढ़ जाता है। इससे किडनी में स्टोन का खतरा बढ़ जाता है। वजन को कंट्रोल में रखना बहुत जरूरी है।अगर आपकी कोई सर्जरी हुई है या फिर आप पहले से किसी बीमारी से ग्रसित हैं तो स्टोन का खतरा बढ़ जाता है।किडनी स्टोन की समस्या से बचने के लिए खुद को हाइड्रेट रखना जरूरी है। खाने में नमक का इस्तेमाल कम करें. पालक, साबुत अनाज, टमाटर, बैंगन और चॉकलेट आदि के सेवन से बचें।वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानडायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण है अलसी, बस यूं करें सेवन और नैचुरली कंट्रोल होगा ब्लड शुगर लेवल******Highlightsअगर के मरीज अपने खानपान में जरा सी भी लापरवाही करते हैं तो यह उनकेसेहत के लिए खतरनाक हो सकती है। इसलिए शुगर पेशेंट को अपने डाइट का खास ध्यान रखना पड़ता है। वहीं यदि आपका शुगर लेवल बढ़ा हुआ है तो ऐसे में आप दवाइयों के अलावा एक घरेलू नुस्खा भी अपना सकते हैं।यह घरेलू नुस्खा अलसी के बीज का है, जोकि शुगर लेवल को कंट्रोल करने में कारगर है। इसमें अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है जोब्लड शुगर कम करने के साथ-साथ शुगर के पेशेंट को होने वाली थकान को भी दूर करने में मदद करता है।ऐसे में आइए जानते हैं अलसी के बीज किस तरह से ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने में असरदार है। साथ ही जानिए इसका सेवन किस तरह से करना लाभकारी होगा।डायबिटीज के रोगियों को रोजानाएक छोटा चम्मच अलसी के बीजों का सेवन करना चाहिए। इसके सेवन से शुगर लेवल नहीं बढ़ता है। इसके लिए पहले आप इन बीजों को हल्का भून लें उसके बाद इसे ठंडा करलें और फिर इन्हें अच्छी तरह चबाकर खाएं। इस बात का ध्यान रखें कि इन बीजों को दिन और रात में खाना खाने से आधा घंटा पहले ही खाएं।इसके अलावा आप इन बीजों का पाउडर बनाकर पानी के साथ ले खा सकते हैं।आप चाहें तो इसका काढ़ा बनाकर भी सेवन कर सकते हैं। इसका काढ़ा पीने से ना केवल ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने में मदद मिलेगी बल्कि वजन, बीपी, थायरॉयड और पेट से संबंधित कई बीमारियों से राहत दिलाता है।डायबिटीज मरीजों के अलावा आम लोग भी इसका सेवन सूप, स्मूदी, ड्रिंक, मिल्कशेक,सब्जी में मिक्स करके कर सकते हैं। बस इस बात ध्यान रखें कि अलसी की तासीर गर्म होती है, इसलिए इसका सेवन ज्यादा न करें।

वित्त मंत्री के आश्वासन के बाद ज्वैलर्स की हड़ताल खत्म, 18 दिनों में एक लाख करोड़ से अधिक का नुकसान

वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानMAHA TET Result 2020: महाराष्ट्र TET का प्रोविजनल रिजल्ट हुआ जारी, ऐसे करें चेक******महाराष्ट्र राज्य परीक्षा परिषद ने बुधवार को महाराष्ट्र शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए प्रोविजनल के नतीजे जारी कर दिए हैं। पेपर 1 (कक्षा I से V) और पेपर 2 (कक्षा VI से VIII) का रिजल्ट परिषद की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध है। उम्मीदवार जो इस परीक्षा में उपस्थित हुए हैं, वे आधिकारिक वेबसाइट mahatet.in पर अपने लॉगिन आईडी और पासवर्ड का उपयोग करके अपने रिजल्ट देख सकते हैं।काउंसिल ने कहा है कि अगर किसी भी छात्र को लगता है कि परिणाम की घोषणा करते समय आरक्षण श्रेणी लागू नहीं हुई है तो वह उम्मीदवार उम्मीदवार शिकायत कर सकते हैं। इसके लिए उम्मीदवारों को फॉर्म ऑनलाइन भरना होगा और आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करना होगा। अभ्यर्थियों को इसके लिए 15 अगस्त तक का समय दिया गया है। सारी शिकायत इकठ्ठा होने के बाद फिर उनकी समीक्षा की जाएगी। समीक्षा में अगर दावा सही निकलता है तो फिर उचित कदम उठाया जाएगा।वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानपरिणीति चोपड़ा इंटरनेट पर करती हैं 'काला जादू', तस्वीरें देख हो जाएगा विश्वास******बॉलीवुड एक्ट्रेस परिणीति चोपड़ा अपने स्टाइल स्टेटमेंट के लिए काफी मशहूर हैं। एक्ट्रेस सोशल मीडिया पर अपनी हालिया तस्वीरों को शेयर करती रही हैं, जिन्हें फैंस काफी पसंद करते हैं। टीवी शो 'हुनरबाज' में नजर आने वाली अभिनेत्री ने हाल ही में अपने इंस्टाग्राम पर ब्लैक ड्रेस में तस्वीरों को शेयर किया है।तस्वीर में हम परिणीत को ब्लैक ड्रेस में देख सकते हैं। एक्ट्रेस सेक्विन वाली मिनी बॉडीकॉन ड्रेस पहनी नजर आ रही हैं। उनके आउटफिट में पावर शोल्डर, फुल स्लीव्स और हेम पर लेस डिटेलिंग नजर आ रही है। परिणीति ने एक्सेसरीज के लिए स्टड इयररिंग्स और सिल्वर रिंग्स से कंपलीट किया है।परिणीति चोपड़ा को ब्लैक आउटफिट के लिए अपने प्यार का इजहार करने के लिए किसी खास मौके की जरूरत नहीं है। आखिरी बार उन्होंने ब्लैक कलर की खूबसूरत साड़ी के जरिए इंटरनेट पर काला जादू बिखेरा था। उन्होंने मसाबा गुप्ता की तरफ डिजाइन किए गए इस ड्रेस को बेहद की कॉन्फिडेंस के साथ कैरी किया है।उन्होंने प्रिंटेड गोल्ड डिज़ाइन के साथ फुल स्लीव ब्लैक ब्लाउज़ के साथ पेयर किया। डेंगलर इयररिंग्स और अपने बालों को पोनीटेल में बांधकर परिणीति ने कई लोगों का ध्यान खींचा।

वित्त मंत्री के आश्वासन के बाद ज्वैलर्स की हड़ताल खत्म, 18 दिनों में एक लाख करोड़ से अधिक का नुकसान

वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानKantara Official Trailer: KGF मेकर्स का नया धमाका, 'कांतारा' के शानदार ट्रेलर ने मचाया तहलका******Highlights'केजीएफ' और 'सालार' के निर्माताओं ने सोमवार को अपनी आगामी फिल्म 'कांतारा' का ट्रेलर जारी किया। फिल्म का ट्रेलर, जिसमें अभिनेता ऋषभ शेट्टी मुख्य भूमिका में हैं, इस तथ्य को दूर करता है कि कहानी चंदन की तस्करी के इर्द-गिर्द घूमती है। ट्रेलर यह आभास देता है कि फिल्म एक गहन और रोमांचक नाटक होगी।'कांतारा' का पाश्र्व संगीत मिथकों, किंवदंतियों और अंधविश्वास की कहानी को एक साथ लाता है। बीहड़ परिदृश्य और तटीय कर्नाटक के भीतरी इलाकों में फिल्माई गई, कहानी पवित्र रीति-रिवाजों और परंपराओं, छिपे हुए खजाने और पीढ़ीगत रहस्यों की बात करती है। इसमें स्थानीय खेल और लोककथाओं का एक तत्व भी शामिल हैं।ट्रेलर में दिखाया गया है कि कैसे लोगों के मन में डर पैदा करने के लिए पौराणिक और अलौकिक तत्व एक साथ आ सकते हैं। ट्रेलर से उम्मीद है कि फिल्म में कुछ शानदार एक्शन सीक्वेंस होंगे। 'कांतारा' 'केजीएफ' के निर्माता होम्बले फिल्म्स की एक और स्टनर साबित हो सकती है। फिल्म का ट्रेलर रॉक सॉलिड लग रहा है और बैकग्राउंड स्कोर के अपने खूबसूरत मिश्रण से दर्शकों को आकर्षित करता है जो दर्शकों को अंत तक बांधे रखता है।'कांतारा' का निर्देशन खुद ऋषभ शेट्टी ने किया है। सप्तमी गौड़ा, जो महिला प्रधान भूमिका निभाती हैं। फिल्म में किशोर, प्रमोद शेट्टी और अच्युत कुमार भी मुख्य भूमिकाओं में हैं और विजय किरागंदूर द्वारा होम्बले फिल्म्स बैनर के तहत निर्मित है। फिल्म के लिए संगीत बी अजनीश लोकनाथ का है और छायांकन अरविंद एस कश्यप द्वारा किया गया है। फिल्म 30 सितंबर को रिलीज होने वाली है।

वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानIPL 2022: विराट कोहली और विलियमसन के नाम दर्ज हुआ अनचाहा रिकॉर्ड, इस लीग के इतिहास में सिर्फ तीन बार हुआ है ऐसा******इंडियन प्रीमियर लीग 2022 के 54वें मैच में एक ऐसा संयोग हुआ जो अक्सर नहीं देखा जाता है। सनराइजर्स हैदराबाद और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच खेले जा रहे मैच की दोनों ही पारियों की पहली गेंद में पर विकेट गिरा। आईपीएल के इतिहास में ऐसा सिर्फ तीसरी बार हुआ है जब दोनों ही टीम के ओपनर बिना कोई रन बनाए पवेलियन वापस लौटे है।आईपीएल में ऐसा सबसे पहली बार साल 2012 में डेक्कन चार्जर्स और पुणे वॉरियर्स इंडियंस के बीच खेले गए मैच में हुआ था जब दोनों ही पारियों की पहली गेंद पर विकेट गिरा। इसके बाद साल 2015 में दिल्ली डेयरडेविल्स (दिल्ली कैपिटल्स) और मुंबई इंडियंस के बीच हुए मैच में दोनों ही पारियों की पहली गेंद पर विकेट गिरा था।वहीं सीजन-15 के 54वें मैच में पहले बल्लेबाजी करने उतरी आरसीबी के विराट कोहली पहली ही गेंद पर सनराइजर्स के कप्तान केन विलियमसन को कैच थमा बैठे। जगदीश सुचित ने कोहली को आउट किया। इस सीजन में यह तीसरी बार था जब कोहली बिना कोई रन बनाए आउट हुए। वहीं सनराइजर्स के खिलाफ इस सीजन में ऐसा दूसरी बार हुआ है जब कोहली गोल्डन डक पर पवेलियन लौटे।हालांकि कोहली के बाद आरसीबी के लिए कप्तान फाफ डुप्लेसी ने शानदार बल्लेबाजी की टीम के लिए 72 रन बनाए। डुप्लेसी के अलावा रजत पाटीदार (48), ग्लेन मैक्सवेल (33) और दिनेश कार्तिक (30) की दमदार खेल से टीम ने 20 ओवर में 192 रन का स्कोर खड़ा किया।उसके बाद दूसरी पारी में 193 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी सनराइजर्स की शुरुआत भी आरसीबी की तरह ही रही। सनराइजर्स के लिए अभिषेक शर्मा के साथ ओपनिंग करने उतरे कप्तान विलियमसन बिना किसी गेंद का सामना किए ही आउट हो गए। दूसरी छोड़ पर एक रन चुराने के प्रयास में विलियमसन शहबाज अहमद के सीधे थ्रो पर रन आउट हो गए।सिर्फ विलियमसन ही नहीं ओपनर अभिषेक शर्मा भी बिना कोई रन बनाए ग्लेन मैक्सवेल की गेंद पर बोल्ड हो गए। इस तरह सीजन-15 में यह पहली बार हुआ जब दोनों टीमों के बल्लेबाज पारी की पहली ही गेंद पर आउट हुए।वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानCorona Update: देशभर में 13 हज़ार से ज्यादा आए कोरोना के नए मामले, 38 लोगों की हुई मौत******Highlightsदेशभर में बीते 24 घंटों में 13,313 कोरोना के नए मामले सामने आए हैं। वहीं 38 लोगों की मौत हो गई है। एक दिन में कोविड-19 के 13,313 नए मामले सामने आने के बाद कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या देश में बढ़कर 4,33,44,958 हो गई। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 83,990 पर पहुंच गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बृहस्पतिवार सुबह आठ बजे जारी आंकड़ों के अनुसार, भारत में संक्रमण से 38 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 5,24,941 हो गई। देश में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 83,990 हो गई है, जो कुल मामलों का 0.19 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 2,303 की बढ़ोतरी हुई है। आंकड़ों के मुताबिक, मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 98. 60 प्रतिशत है। दैनिक संक्रमण दर 2.03 प्रतिशत, जबकि साप्ताहिक संक्रमण दर 2.81 प्रतिशत है।बुधवार को बीते 24 घंटों में 13,195 कोरोना के नए मामले सामने आए थे और 38 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं मंगलवार को 13 लोगों की कोरोना ने जान ले ली थी।केरल में सबसे ज्यादा केसदेशभर में सबसे ज्यादा कोरोना के मामले और मौत केरल में देखने को मिल रहा है। केरल में आज 4,224 नए मामले सामने आए और 20 लोगों की मौत हो गई। राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या कुल 66,08,717 हो गई। राज्य में एक्टिव के 24, 333 हैं वहीं ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 2,464 है और पॉजिटिविटी रेट घटकर 16.69 हो गया है।केरल के बाद महाराष्ट्र में ज्यादा मामलेकेरल के बाद महाराष्ट्र में 3,260 नए मामले दर्ज किए गए हैं। यहां इलाज करा रहे मरीजों की संख्या 24,639 और पॉजिटिविटी रेट 12.32% दर्ज किया गया। राज्य में कोरोना से 3 लोगों की जान गई है। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 3,533 है।दिल्ली में 928 नए मामलेदिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 928 मामले सामने आए। पॉजिटिविटी रेटभी घटकर 7.08% हो गया है, जो एक दिन पहले 7.22% था। पिछले 24 घंटे में 13,099 सैंपल की जांच की गई है।

वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानन्यायालय के निर्णय से देनदारी बढ़ने पर वोडाफोन-आइडिया को दूसरी तिमाही में हुआ 50,921 करोड़ रुपए का घाटा******न्यायालय के निर्णय से देनदारी बढ़ने पर वोडाफोन-आइडिया को 50,921 करोड़ रुपये का तिमाही घाटा समायोजित सकल आय (एजीआर) पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद बकाया सांविधिक देनदारियों के लिए भारी खर्च के प्रावधान के चलते वोडाफोन आइडिया ने चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 50,921 करोड़ रुपये का नुकसान दिखाया है। कंपनी ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह न्यायालय के फैसले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल करने जा रही है। कंपनी ने यह भी कहा है कि उसका कारोबार चल पाना सरकार की ओर से राहत और कानूनी मसलों के सकारात्मक समाधान पर निर्भर करेगा।कंपनी ने एक बयान में कहा एजीआर पर न्यायालय के फैसले का दूरसंचार उद्योग की वित्तीय स्थिति पर बड़े प्रभाव पड़ेंगे। सितंबर 2019 को समाप्त तिमाही में कंपनी ने कुल 50,921 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा दिखाया है। पिछले वित्त वर्ष इसी अवधि में कंपनी को 4,874 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। आलोच्य तिमाही में कंपनी की आय 42 प्रतिशत बढ़कर 11,146.4 करोड़ रुपये रही है।अनुमान है कि उच्चतम न्यायालय के निर्णय के बाद कंपनी को सरकार की बकाया देनदारियों के लिए 44,150 करोड़ रुपये चुकाने होंगे। कंपनी ने 2019-20 की दूसरी तिमाही में इसके लिए 25,680 करोड़ रुपये का भारी भरकम प्रावधान किया है।एजीआर पर न्यायालय के फैसले के बाद वोडाफोन-आइडिया, एयरटेल और अन्य दूरसंचार सेवा प्रदाताओं पर सरकार की कुल 1.4 लाख करोड़ रुपये की पुरानी सांविधिक देनदारी बनती है। इसके चलते पूरे दूरसंचार उद्योग में घबराह का माहौल है। रिलायंस जियो के बाजार में प्रवेश करने के बाद से दूरसंचार कंपनियां वित्तीय संकट का सामना कर रही हैं और उन पर अरबों डॉलर का कर्ज बकाया है।उल्लेखनीय है कि पिछले महीने न्यायालय ने एजीआर की सरकार द्वारा तय परिभाषा को सही माना था। इसके तहत कंपनियों की दूरसंचार सेवाओं के इतर कारोबार से प्राप्त आय को भी उनकी समायोजित सकल आय का हिस्सा मान लिया गया है। इसके चलते कंपनियों पर स्पेक्ट्रम उपयोग शुल्क और राजस्व में सरकार की हिस्सेदारी जैसी मदों में देनदारी अचानक बढ़ गयी है।दूरसंचार विभाग के नवीनतम आकलन के मुताबिक भारती एयरटेल पर सरकार का पुराना सांविधिक बकाया 62,187 करोड़ रुपये और वोडाफोन आइडिया पर 54,184 करोड़ रुपये बनता है। बीएसएनएल/एमटीएनएल पर भी ऐसी देनदारी का बोझ पड़ा है। एयरटेल पर ऐसे बकाए में टाटा समूह की दूरसंचार कंपनियों और टेलीनॉर इंडिया का बकाया भी शामिल है क्यों कि उसने उनके स्पेक्ट्रम का अधिग्रहण कर रखा है।वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसान116 ऐतिहासिक स्मारक घूमने का मौका, MakeMyTrip और एएसआई ने किया करार******MakeMyTrip partners ASI for online bookings for 116 historical monuments ऑनलाइन यात्रा कंपनी ने देशभर में 116 ऐतिहासिक स्मारकों की के लिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग () के साथ एक करार () किया है। मेकमाईट्रिप ने बयान में कहा कि इस करार के तहत एएसआई के संरक्षण के तहत आने वाले ऐतिहासिक स्मारकों के लिए आनलाइन बुकिंग गेटवे उपलब्ध कराया जाएगा। इन स्मारकों में ताजमहल, लालकिला, कुतुब मीनार, हुमायूं का मकबरा, खजुराहो मंदिर, चारमीनार, गोलकोंडा फोर्ट आदि शामिल हैं।इस भागीदारी का मकसद भारत के ऐतिहासिक धरोहरों के लिए पर्यटन को प्रोत्साहन देना है।मेकमाईट्रिप के संस्थापक एवं समूह मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) दीप कालरा ने कहा कि एएसआई से भागीदारी से हम काफी रोमांचित है।इन ऐतिहासिक धरोहरों की यात्रा के लिए लोग आसानी से योजना बना सकेंगे और बुकिंग कर सकेंगे।उन्होंने कहा कि इस भागीदारी के तहत लोगों को ई टिकट बुकिंग सेवा उपलब्ध कराई जाएगी और उन्हें लंबी कतारों में खड़ा नहीं होना पड़ेगा।

वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानRunway 34, Heropanti 2 Box Office Collection: KGF 2 का दबदबा जारी, रनवे 34 और हीरोपंती 2 की कमाई पर असर******Highlightsप्रशांत नील द्वारा निर्देशित फिल्म 'केजीएफ: चैप्टर 2' आए दिन बॉक्स ऑफिस पर कई रिकॉर्ड तोड़ रहा है। एक तरफ जहां यश की 'केजीएफ: चैप्टर 2' बॉक्स ऑफिस पर लगातार कमाई कर रही है, तो वहीं दूसरी तरफ अजय देवगन की फिल्म 'रनवे 34' और टाइगर श्रॉफ की फिल्म 'हीरोपंती 2' दर्शकों को प्रभावित करने में असफल रही। वहीं टाइगर श्रॉफ और तारा सुतारिया स्टारर फिल्म हीरोपंती 2 को भी नुकसान का सामना करना पड़ा है। 29 अप्रैल को रिलीज हुई दोनों फिल्में दर्शकों के लिए निराशाजनक साबित रही हैं। हालांकि ईद के मौके पर कमाई में थोड़ी से उछाल के साथ, दोनों फिल्मों में फिर से बड़ी गिरावट देखी गई।इस सप्ताह दोनों फिल्मों के लिए जादू दिखाने के लिए आखिरी मौका था क्योंकि इस हफ्ते डॉक्टर स्ट्रेंज रिलीज हो चुकी है जो केजीएफ: चैप्टर 2 के बाद लोगों की यह पसंदीदा फिल्म बन सकती है।पहले दिन, हीरोपंती 2 ने गिरावट के बाद कुल 7.50 करोड़ रुपये कमाए। 6 वें दिन, यह केवल 2.15 से 2.30 करोड़ रुपये की कमाई करने में सफल रही। इसलिए, कुल कमाई अब 21.65 करोड़ रुपये है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, साजिद नाडियाडवाला की फिल्म ने शुरुआती सप्ताह में 25 करोड़ रुपये की कमाई की है और कुल मिलाकर 30 करोड़ रुपये से कम की कमाई की है।एविएशन थ्रिलर के लिए यह थोड़ा अलग रहा है क्योंकि इसे बॉक्स ऑफिस पर काफी कम प्रतिक्रिया मिली लेकिन इसमें धीरे-धीरे सुधार हुआ। अजय देवगन द्नारा निर्देशित फिल्म अपने शुरुआती सप्ताह के अंत तक लगभग 24 करोड़ रुपये की कमाई करने की उम्मीद है। बॉक्स ऑफिस इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, 'रनवे 34' का पांच दिन का कलेक्शन 18.85 करोड़ रुपये है।सच्ची घटनाओं से प्रेरित 'रनवे 34' में बोमन ईरानी, ​आकांक्षा सिंह और अंगिरा धर भी हैं। अजय देवगन द्वारा निर्मित और निर्देशित यह फिल्म 29 अप्रैल को सिनेमाघरों में रिलिज हुई।वहीं यश की फिल्म केजीएफ चैप्टर 2 की बात करें तो इसका जादू बॉक्स ऑफिस पर छाया हुआ है। यह फिल्म भारतीय बॉक्स ऑफिस पर बाहुबली 2 के बाद दूसरी सबसे ज्यादा कमाई करने वाली हिंदी फिल्म बन गई है।वित्तमंत्रीकेआश्वासनकेबादज्वैलर्सकीहड़तालखत्म18दिनोंमेंएकलाखकरोड़सेअधिककानुकसानTiger Shroff-Disha Patani Breakup: 6 साल के रिलेशन के बाद क्यों टूटा टाइगर श्रॉफ-दिशा पाटनी का रिश्ता?******Highlights और का ब्रेकअप हो गया है! जी हां सही सुना आपने लेटेस्ट रिपोर्ट्स के मुताबिक टाइगर और दिशा की राहें जुदा हो गई हैं और दोनों ने 6 साल पुराने रिश्ते को तोड़ दिया है। दोनों ने कभी भी अपने रिलेशन को लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट नहीं किया लेकिन दोनों अक्सर साथ छुट्टियां मनाने, डिनर डेट और आउटिंग पर साथ जाते दिखते थे। कथित तौर पर,कपल ने लगभग छह साल तक डेटिंग करने के बाद अलग होने का फैसला किया है। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि उनके बीच क्या गलत हुआ, क्योंकि उनमें से किसी ने भी इसके बारे में ज्यादा कुछ नहीं बताया और न ही कोई आधिकारिक बयान जारी किया है।हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक, ''टाइगर और दिशा अब साथ नहीं हैं। दोनों के बीच क्या हुआ यह साफ नहीं है, लेकिन अभी दोनों सिंगल हैं।'' उनका रिश्ता पिछले एक साल से मुश्किल में था। टाइगर के एक दोस्त ने एचटी को बताया कि उन्हें इसके बारे में पिछले कुछ हफ्तों में पता चला। अभिनेता फिलहाल अपने काम पर फोकस कर रहे हैं और वह ब्रेकअप से प्रभावित नहीं हैं।इस बीच दिशा टाइगर के परिवार के काफी करीब हैं। वो एक्टर की बहन कृष्णा श्रॉफ की बेस्ट फ्रेंड भी हैं। टाइगर श्रॉफ-दिशा पाटनी के ब्रेकअप रिपोर्ट के बीच, दोनों ने कथित तौर पर अपनी-अपनी फिल्मों के लिए इंस्टाग्राम पर एक-दूसरे को शुभकामनाएं दी हैं।वर्क फ्रंट की बात करें तो बरेली में जन्मी एक्ट्रेस अगली बार "एक विलेन रिटर्न्स" में दिखाई देंगी, जो 2014 की हिट 'एक विलेन' की अगली कड़ी है। इस फिल्म में जॉन अब्राहम, अर्जुन कपूर और तारा सुतारिया भी लीड रोल में हैं। सिद्धार्थ मल्होत्रा की एक्शन फिल्म 'योद्धा' और प्रभास की साई-फाई फिल्म 'प्रोजेक्ट के' और 'केटीना' में भी दिशा नजर आएंगी।दूसरी ओर, टाइगर श्रॉफ ने हाल ही में एक नई फिल्म 'स्क्रू ढीला' की घोषणा की। करण जौहर द्वारा प्रस्तुत, एक्शन फिल्म का निर्देशन शशांक खेतान करेंगे। इसके बाद, उनके पास कृति सेनन के साथ 'गणपत: भाग 1' है। विकास बहल द्वारा निर्देशित, इस प्रोजेक्ट की शूटिंग चल रही है और क्रिसमस 2022 के अवसर पर रिलीज होने की उम्मीद है। इसके अलावा, उनके पास अक्षय कुमार के साथ 'बड़े मियां छोटे मियां' भी हैं, जो क्रिसमस 2023 के पर रिलीज होने वाली है। टाइगर के पास एक्शन मूवी 'रैम्बो' भी है जिसे 'वॉर' के निर्देशक सिद्धार्थ डायरेक्ट करेंगे।

हाल का ध्यान

लिंक